जानिए एमएससी के बाद कौनसा कोर्स करना है बेहतर

2 minute read
1.2K views
Leverage-Edu-Default-Blog

मास्टर ऑफ़ साइंस की डिग्री पहली बार 1858 में यूनिवर्सिटी ऑफ़ मिशिगन में शुरू की गई थी। एमएससी आमतौर पर ऐसे प्रोग्राम के लिए होती है जो साइंटिफिक और मैथमेटिकल सब्जेक्ट्स पर अधिक फोकस्ड होते हैं। जब बात आती है MSc ke baad kya kare, तो छात्रों के पास कई विकल्प हैं, जिनके बारे में हमने इस ब्लॉग में विस्तार से बताया है। 

This Blog Includes:
  1. एमएससी के बाद क्या करें- कोर्स और करियर के अवसर
  2. एमबीए  
    1. योग्यता
    2. शीर्ष विदेश विश्वविद्यालय
    3. शीर्ष भारतीय विश्वविद्यालय
  3. पीएचडी
    1. योग्यता
    2. शीर्ष विदेश विश्वविद्यालय
    3. शीर्ष भारतीय विश्वविद्यालय
  4. पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन मैनेजमेंट (PGDM)
    1. योग्यता
    2. शीर्ष विदेश विश्वविद्यालय
    3. शीर्ष भारतीय विश्वविद्यालय
  5. मर्चेंट नेवी
  6. सिविल सर्विस एग्जाम
  7. डिजिटल मार्केटिंग  
    1. योग्यता
    2. शीर्ष विदेश विश्वविद्यालय
    3. शीर्ष भारतीय विश्वविद्यालय
  8. एमफिल 
    1. योग्यता
    2. शीर्ष विदेश विश्वविद्यालय
    3. शीर्ष भारतीय विश्वविद्यालय
    4. बी.एड.
  9. एमएससी के बाद सर्टिफिकेट कोर्स
  10. आवेदन प्रक्रिया 
  11. आवश्यक दस्तावेज़  
  12. एमएससी के बाद क्या करें–प्रतियोगी परीक्षा
  13. एमएससी के बाद नौकरी के विकल्प और सैलरी
  14. FAQ 

एमएससी के बाद क्या करें- कोर्स और करियर के अवसर

आपको बता दें की आप एमएससी के बाद कई प्रकार के प्रोफेशनल कोर्सेज कर सकते है जैसे- 

  • MBA
  • PhD
  • Digital marketing 
  • Post Graduate Diploma in Management(PGDM)
  • Merchant Navy
  • Civil services exam
  • digital marketing
  • M.Phil
  • B.Ed.

एमबीए  

एमएससी के बाद एमबीए करना बेस्ट है। MBA, Master of Business Administration 2 वर्ष का मास्टर कोर्स है, जिसे 6-6 महीने के 4 सेमेस्टर में बांटा गया है । इस कोर्स में बिज़नेस स्किल, बिज़नेस मैनेजमेंट, मार्केटिंग स्किल आदि के बारे में  पढ़ाया जाता है। एमबीए के पहले साल में छात्रों को मैनेजमेंट के विषय पढ़ाये जाते हैं और दूसरे साल में आपके द्वारा चुने गए स्पेशलाइज्ड विषय पढ़ाये जाते हैं। एमबीए में आर्ट्स, साइंस, कॉमर्स किसी भी स्ट्रीम के छात्र एडमिशन ले सकते हैं। 

योग्यता

आवश्यक योग्यता नीचे बताई गई है:

  • कैंडिडेट ने BBA या संबंधित कोर्स में ग्रेजुएशन कम्पलीट किया हो।
  • इंडिया की कुछ यूनिवर्सिटीज एंट्रेंस एग्जाम आयोजित करती हैं, जिसे क्लियर करके ही कैंडिडेट एमबीए के लिए योग्य होते हैं।
  • विदेश की कुछ यूनिवर्सिटीज GMAT/GRE स्कोर की मांग करती हैं।
  • विदेश में एमबीए के लिए IELTS या TOEFL स्कोर की भी आवश्यकता होती है।
  • विदेश की कुछ यूनिवर्सिटीज 2 से 3 साल का कार्य अनुभव भी मांगती हैं।

शीर्ष विदेश विश्वविद्यालय

दुनिया के टॉप विश्वविद्यालय नीचे दिए गए हैं:

शीर्ष भारतीय विश्वविद्यालय

भारत के टॉप विश्वविद्यालय नीचे दिए गए हैं:

  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ फॉरेन ट्रेड, नई दिल्ली
  • आईआईएम लखनऊ
  • आईआईएम अहमदाबाद
  • एमडीआई गुड़गांव
  • एमिटी इंटरनेशनल बिजनेस स्कूल, नोएडा
  • दिल्ली विश्वविद्यालय, दिल्ली
  • अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय, अलीगढ़
  • केजे सोमैया इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज एंड रिसर्च, मुंबई
  • सिम्बायोसिस इंस्टीट्यूट ऑफ इंटरनेशनल बिजनेस, पुणे
  • बनारस हिंदू विश्वविद्यालय, वाराणसी

पीएचडी

PhD की फुल फॉर्म है Doctor of Philosophy। पीएचडी एक उच्च शैक्षणिक डिग्री हैं। पीएचडी 3 से 5 साल का कोर्स है, जिसके बाद आपके नाम के आगे Dr. लग जाता है क्योंकि यह डॉक्टरल डिग्री है। अगर आपको किसी कॉलेज या यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर या लेक्चरर बनना है, तो ऐसे में आपके पास पीएचडी की डिग्री होनी चाहिए। पीएचडी करते समय आपको अपने विषय में रिसर्च करनी होती है। 

योग्यता

आवश्यक योग्यता नीचे बताई गई है:

  • भारत में पीएचडी करने के लिए आपके पास न्यूनतम 55% के साथ 3 वर्ष की ग्रेजुएशन की डिग्री और 2 वर्ष की मास्टर डिग्री होनी आवश्यक है। 
  • भारत में पीएचडी करने के लिए UGC-NET/GATE एंट्रेंस एग्जाम क्लियर होना चाहिए। कुछ एंट्रेंस एग्जाम स्टेट द्वारा और यूनिवर्सिटी द्वारा भी कराये जाते हैं। 
  • यदि आप अब्रॉड में पीएचडी करना चाहते हैं तो आपके पास 3 वर्ष की ग्रेजुएशन की डिग्री और 2 वर्ष की मास्टर डिग्री होनी आवश्यक है। 
  • अंग्रेजी भाषा ज्ञान का प्रमाण ।
  • अंतर्राष्ट्रीय छात्रों को भी आवेदन के एक भाग के रूप में एक रिसर्च प्रपोजल, रिसर्च इंट्रेस्ट्स और मेथोडोलॉजी की आवश्यकता होती है।  
  • मास्टर डिग्री में न्यूनतम 65 % स्कोर होने चाहिए।  
  • जिस विषय में पीएचडी करना चाहते है उस विषय का ज्ञान होना चाहिए। 
  • एक अच्छा IELTS/ TOEFL स्कोर अंग्रेजी भाषा  के ज्ञान के प्रमाण के रुप में होना आवश्यक है। 

शीर्ष विदेश विश्वविद्यालय

दुनिया के टॉप विश्वविद्यालय नीचे दिए गए हैं:

शीर्ष भारतीय विश्वविद्यालय

भारत के टॉप विश्वविद्यालय नीचे दिए गए हैं:

  • फैकल्टी ऑफ़ मैनेजमेंट स्टडीज, दिल्ली विश्वविद्यालय
  • बनारस हिंदू विश्वविद्यालय
  • IIM (आईआईएम)
  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी)
  • नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट, कलकत्ता
  • दिल्ली विश्वविद्यालय
  • जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय 
  • एम्स दिल्ली – अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान नई
  • एलपीयू जालंधर – लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी
  • इग्नू दिल्ली – इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय

पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन मैनेजमेंट (PGDM)

Post Graduate Diploma in Management(PGDM) एक मैनेजमेंट कोर्स है। PGDM कोर्स काफ़ी हद तक एमबीए के समान ही है, जिसका उद्देश्य केस स्टडीज और सेमिनार के माध्यम से छात्रों को इंडस्ट्री के लिए तैयार करना है। PGDM कोर्स में नीचे दिए गए विषय पढ़ाये जाते हैं :

योग्यता

आवश्यक योग्यता इस प्रकार है:

  • कैंडिडेट ने किसी भी स्ट्रीम में ग्रेजुएशन कम्पलीट किया हो।
  • भारत में Common Aptitude Test (CAT)/Management Aptitude Test (MAT)/Common Management Aptitude Test (CMAT)/Symbiosis National Aptitude Test (SNAP) जैसे एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करके ही कैंडिडेट PGDM के लिए योग्य होते हैं।
  • विदेश की कुछ यूनिवर्सिटीज GMAT/GRE स्कोर की मांग करती हैं।
  • विदेश में PGDM के लिए IELTS या TOEFL स्कोर की भी आवश्यकता होती है।

शीर्ष विदेश विश्वविद्यालय

दुनिया के टॉप विश्वविद्यालय नीचे दिए गए हैं:

शीर्ष भारतीय विश्वविद्यालय

भारत के टॉप विश्वविद्यालय नीचे दिए गए हैं:

  • भारतीय प्रबंधन संस्थान
  • एसपी जैन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड रिसर्च
  • नरसी मोंजी इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज
  • अंतर्राष्ट्रीय प्रबंधन संस्थान
  • ग्रेट लेक्स इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट
  • पीएसजी कॉलेज ऑफ टेक्नोलॉजी
  • दून बिजनेस स्कूल
  • एनडीआईएम दिल्ली
  • आईएफएमआई बिजनेस स्कूल
  • आईपीई हैदराबाद

मर्चेंट नेवी

एमएससी के बाद मर्चेंट नेवी बेहतर करियर विकल्प है। डिफेंस नेवी देश की मेरीटाइम मिलिट्री विंग है। नवल शिप वे जहाज होते हैं जिनका उपयोग अंतर्राष्ट्रीय संकट के समय देश की जल सीमा की सुरक्षा के लिए किया जाता है। नीचे दिए गए कोर्स के द्वारा आप डिफेन्स नेवी / आर्म्ड फाॅर्स जॉइन कर सकते हैं :

  • Technical graduate course (TGC)
  • Short service commission (SSC)

सिविल सर्विस एग्जाम

सिविल सर्विस एग्जाम भारत की एक प्रतियोगी परीक्षा है, जिसके परिणाम के आधार पर भारत सरकार द्वारा सेंटर और राज्य प्रशासन के लिए सिविल सर्विसेज ऑफिसर जैसे- IAS, IPS,IFS चुने जाते हैं। UPSC द्वारा प्रत्येक वर्ष सिविल सर्विसेज एग्जाम का आयोजन किया जाता है। सिविल सर्विसेज एग्जाम में तीन चरण होते हैं-

  • Preliminary Examination – Preliminary एग्जाम प्रत्येक वर्ष जून महीने में होता है और रिजल्ट अगस्त में आता है । 
  • Mains Examination – mains एग्जाम प्रत्येक वर्ष अक्टूबर महीने में होता है और रिजल्ट जनवरी में आता है।
  • Interview – इंटरव्यू प्रत्येक वर्ष मार्च महीने में होता है और रिजल्ट मई में आता है।

डिजिटल मार्केटिंग  

इंटरनेट या ऑनलाइन माध्यम जैसे कंप्यूटर, मोबाइल, सोशल साइट्स से की जाने वाली मार्केटिंग को डिजिटल मार्केटिंग कहा जाता है। डिजिटल मार्केटिंग का सबसे बड़ा लाभ यह है कि इससे किसी भी प्रोडक्ट को जल्दी और ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुँचाना आसान हो गया है क्योंकि आज इंटरनेट की पहुँच देश के हर कोने में है। Instagram, YouTube, Facebook, WhatsApp, SEO आदि सभी डिजिटल मार्केटिंग के साधन है और  ई-कॉमर्स मार्केटिंग, सोशल मीडिया मार्केटिंग, सोशल मीडिया ऑप्टिमाइजेशन, ईमेल डायरेक्ट मार्केटिंग, डिस्प्ले विज्ञापन, ई-बुक्स और ऑप्टिकल डिस्क यह सब डिजिटल मार्केटिंग के प्रकार है।

योग्यता

आवश्यक योग्यता नीचे बताई गई है:

  • यदि आप डिप्लोमा या बैचलर कोर्स करना चाहते है तो आपको 10+2 न्यूनतम 50% के साथ पास करना होगा।
  • यदि आप डिजिटल मार्केटिंग में मास्टर कोर्स करना चाहते हैं तो बैचलर्स डिग्री का होना आवश्यक है। 
  • इसके अलावा इंग्लिश प्रोफिसिएंसी टेस्ट जैसे-IELTS/TOEFL आदि कोर्स पहले से करके तैयार रखने हैं।
  • स्टेटमेंट ऑफ़ पर्पस और लेटर ऑफ़ रेकमेंडेशन (LOR) आपके पास होने चाहिए।

शीर्ष विदेश विश्वविद्यालय

दुनिया के टॉप विश्वविद्यालय नीचे दिए गए हैं:

शीर्ष भारतीय विश्वविद्यालय

भारत के टॉप विश्वविद्यालय नीचे दिए गए हैं:

  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ फॉरेन ट्रेड, नई दिल्ली
  • आईआईएम लखनऊ
  • आईआईएम अहमदाबाद
  • एमडीआई गुड़गांव
  • एमिटी इंटरनेशनल बिजनेस स्कूल, नोएडा
  • दिल्ली विश्वविद्यालय, दिल्ली
  • अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय, अलीगढ़
  • केजे सोमैया इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज एंड रिसर्च, मुंबई
  • सिम्बायोसिस इंस्टीट्यूट ऑफ इंटरनेशनल बिजनेस, पुणे
  • बनारस हिंदू विश्वविद्यालय, वाराणसी

एमफिल 

एमफिल (Master of Philosophy) एक रिसर्च प्रोग्राम है, जिसको आप पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री के बाद कर सकते है। M.Phil. कोर्स में एडमिशन लेने के लिए छात्रों को एंट्रेंस एग्जाम जैसे कि NAT/SAT/GAT/UGC-JRF/GATE/VITMEE/CUCET क्लियर करने होंगे, जिसमें पास होने के बाद इंटरव्यू क्लियर करना होता है। इंटरव्यू क्लियर होने के बाद छात्र M.Phil. के कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं। M.Phil. 2 साल का कोर्स है जिसे 4 सेमेस्टर में बांटा गया है-

  • सेमेस्टर 1 – 4 कोर्स + सेमिनार
  • सेमेस्टर 2 – 3 कोर्स + शोध प्रबंध का पहला चरण
  • सेमेस्टर 3 – 1 कोर्स + आर एंड डी प्रोजेक्ट
  • सेमेस्टर 4 – शोध प्रबंध का दूसरा और तीसरा चरण

योग्यता

आवश्यक योग्यता नीचे बताई गई है:

  • भारत में M.Phil करने के लिए आपके पास न्यूनतम 55% के साथ 3 वर्ष की ग्रेजुएशन की डिग्री और 2 वर्ष की मास्टर डिग्री होनी आवश्यक है। 
  • भारत में M.phil करने के लिए NAT/SAT/GAT/UGC-JRF/GATE/VITMEE/CUCET जैसे एंट्रेंस एग्जाम क्लियर होने चाहिए। कुछ एंट्रेंस एग्जाम स्टेट द्वारा और यूनिवर्सिटी द्वारा भी कराये जाते हैं। 
  • यदि आप विदेश में M.phil करना चाहते हैं तो आपके पास 3 वर्ष की ग्रेजुएशन की डिग्री और 2 वर्ष की मास्टर डिग्री होनी जरूरी है। 
  • एक अच्छा IELTS/ TOEFL स्कोर इंग्लिश प्रोफिसिएंसी के रुप में होना आवश्यक है। 

शीर्ष विदेश विश्वविद्यालय

दुनिया के टॉप विश्वविद्यालय नीचे दिए गए हैं:

शीर्ष भारतीय विश्वविद्यालय

भारत के टॉप विश्वविद्यालय नीचे दिए गए हैं:

  • फैकल्टी ऑफ़ मैनेजमेंट स्टडीज, दिल्ली विश्वविद्यालय
  • बनारस हिंदू विश्वविद्यालय
  • IIM (आईआईएम)
  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी)
  • नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट, कलकत्ता
  • दिल्ली विश्वविद्यालय
  • जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय 
  • एम्स दिल्ली – अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान नई
  • एलपीयू जालंधर – लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी
  • इग्नू दिल्ली – इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय

बी.एड.

बी.एड. का फुल फॉर्म है Bachelor of Education। यह एक पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स है, इसलिए इसमें आप ग्रेजुएशन के बाद ही एडमिशन ले सकते हैं। इसमें छात्रों को टीचर बनने के लिए तैयार किया  जाता है। यदि आपका सपना टीचर बन कर देश का भविष्य तैयार करना है, तो आप बी.एड. कोर्स के लिए आवेदन कर सकते हैं।

आप UniConnect के जरिए विश्व के पहले और सबसे बड़े ऑनलाइन विश्वविद्यालय मेले का हिस्सा बनने का मौका पा सकते हैं, जहाँ आप अपनी पसंद के विश्वविद्यालय के प्रतिनिधि से सीधा संपर्क कर सकेंगे।

एमएससी के बाद सर्टिफिकेट कोर्स

MSc ke baad kya kare यह प्रश्न आपको परेशान कर रहा है, तो एमएससी के बाद कई प्रकार के सर्टिफिकेट कोर्स भी कर सकते हैं जो इस प्रकार है- 

आवेदन प्रक्रिया 

MSc ke baad kya kare में विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है–

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप AI Course Finder की सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • एक्सपर्ट्स से कॉन्टैक्ट के पश्चात वे कॉमन डैशबोर्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से कई विश्वविद्यालयों की आपकी आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेज़ों जैसे SOP, निबंध, सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टैस्ट स्कोर जैसे IELTS, TOEFL, SAT, ACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTS, TOEFL, PTE, GMAT, GRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप Leverage Live कक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज़ जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीज़ा और छात्रवृत्ति/छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे । 
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लैटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है। 

भारत के विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया, इस प्रकार है–

  • सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  • यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूज़र नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  • फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  • अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  • इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  • यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

आवश्यक दस्तावेज़  

MSc ke baad kya kare के लिए कुछ ज़रूरी दस्तावेज़ों की लिस्ट नीचे दी गई हैं–

एमएससी के बाद क्या करें–प्रतियोगी परीक्षा

सरकारी नौकरी चाहने वाले उम्मीदवार एमएससी के बाद प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर सकते हैं।

भारत की कुछ प्रमुख प्रतियोगी परीक्षाएं इस प्रकार है:

  1. Railway
  2. UPSC civil services
  3. SSC
  4. Bank PO and Clerk
  5. NDA

एमएससी के बाद नौकरी के विकल्प और सैलरी

M.Sc के बाद आप कई क्षेत्रों में नौकरी कर सकते हैं। हमने नीचे कुछ लोकप्रिय जॉब प्रोफाइल और उनकी सैलरी दी है। (यह डाटा pay scale.com से लिया गया है)

नौकरी प्रोफ़ाइल वेतन वार्षिक (INR)
क्षेत्र अधिकारी 25 लाख
बायोमेडिकल केमिस्ट 3 लाख
प्रयोगशाला तकनीशियन 4 लाख
मैनेजर 14 लाख
शिक्षक 5 लाख
रिसर्च अस्सिटेंट 4 लाख
रिसर्चर 3 लाख
असिस्टेंट प्रोफेसर 6 लाख
स्टैटिस्टिशियन 6 लाख

FAQ 

एमएससी के बाद हाई सैलरी कोर्स कौनसे हैं?

एमएससी के बाद हाई सैलरी कोर्स इस प्रकार है- MBA, PhD, Digital marketing

एमएससी के बाद लोकप्रिय कोर्स कौनसे हैं?

एमएससी के बाद लोकप्रिय कोर्स
1. MBA,
2. PhD
3. Digital marketing 
4. Post Graduate Diploma in Management(PGDM)
5. Merchant Navy
6. Civil services exam
7. M.Phil
8. B.Ed.

क्या एमएससी के बाद बी.एड. करना सही है?

यदि आप टीचर बनना चाहते हैं तो आपके लिए बी.एड. करना एक दम सही है।  

हमें उम्मीद है कि MSc ke baad kya kare का जवाब आपको मिल चुका होगा। यदि आप एमएससी के आगे की पढ़ाई विदेश में करना चाहते हैं तो एक उचित मार्गदर्शन के लिए आज ही 1800 572 000 पर कॉल करें और हमारे Leverage Edu एक्सपर्ट्स के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करें।

प्रातिक्रिया दे

Required fields are marked *

*

*

1 comment
15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today. Masters Programs
Talk to an expert