कैसे करें MA Hindi

1 minute read
3.9K views
MA Hindi

हिंदी भारत की सबसे लोकप्रिय बोली जाने वाली भाषाओं में से एक है और अपनी आबादी के लिहाज से दुनिया में चौथी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है। MA इतना ब्रॉड कोर्स होने के कारण आपको इस डिग्री की मौजूदगी देश के कई सारे कॉलेज और यूनिवर्सिटीज़ में मिलेगी जहाँ से आप इस डिग्री को अपनी सहूलियत और पसंद अनुसार कर सकतें हैं। ज़्यादातर मास्टर डिग्रीयों की तरह ये डिग्री भी दो साल तक चलने वाली डिग्री है। MA Hindi के कोर्स से संबंधित, जॉब तथा करियर से संबंधित और भी कई महत्वपूर्ण जानकारी इस ब्लॉग में दी गई है।

कोर्स का नाम हिंदी में पोस्ट ग्रेजुएशन (M.A. हिंदी)
योग्यता किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से ग्रेजुएशन में न्यूनतम 40%
समयांतराल 2 वर्ष
फीस INR 8,000-INR 25,000
शीर्ष कॉलेज -मिरांडा हाउस, नई दिल्ली
-लेडी श्री राम कॉलेज फॉर विमेन, नई दिल्ली
-हिंदू कॉलेज, नई दिल्ली
नौकरियां -व्याख्याता / सहायक प्रोफेसर
-शोधकर्ता
-हिंदी अनुवादक
-पत्रकार
MA Hindi के बाद पाठ्यक्रम B.Ed, PhD, MBA, M.phil (हिंदी)

MA क्या है ?

MA का पूरा नाम मास्टर्स ऑफ़ आर्ट्स होता है। ये एक पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री है। इसके अंदर मानविकी, भूगोल, नृविज्ञान समाजिक विज्ञान, संचार, और भाषा विज्ञान, इत्यादि सब्जेक्ट पढ़ाये जाते है। आम तौर पर BA यानी बैचलर ऑफ़ आर्ट्स करने वाले विद्यार्थी उच्च शिक्षा और डिग्री के लिए MA को चुनते हैं। विषयों की अगर बात करें तो BA और MA दोनों ही आर्ट फील्ड से जुड़ी डिग्री होने के कारण इनके सब्जेक्ट्स में ज़्यादा अंतर देखने को नहीं मिलता जिससे ग्यारहवीं में ही आर्ट्स से पढ़ने वाले छात्र को दिक्कत नहीं आती। हालांकि आपके चुने गए कोर्स का आपके सिलेबस में आने वाले सब्जेक्ट्स पर अंतर पड़ता है। इस कोर्स में आपको थ्योरी के अलावा प्रैक्टिकल और रिसर्च से जुड़े कार्यों का समावेश भी मिल सकता है। 

MA Hindi क्या है ?

MA का पूरा नाम मास्टर ऑफ आर्ट्स है। यह एक पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स होता है जो 2 वर्ष का होता है। यह कोर्स BA के बाद किया जाता है। MA Hindi मूल रूप से MA में मिलने वाली सभी स्पेशलाइज़ेशन में से एक है जिसमें बाकी विषयों से समावेश के साथ हिंदी को अधिक प्राथमिकता दी जाती है। यह कोर्स हिंदी भाषा के प्रेमियों, जिनका लक्ष्य मूल रूप से हिंदी भाषा है उनके लिए है। MA Hindi करने के बाद कई अच्छी जॉब है जो आपको मिल सकती हैं। MA हिंदी में कई विषय पढ़ाए जाते हैं जिनमें भूगोल, नृविज्ञान समाजिक विज्ञान, संचार, और भाषा विज्ञान आदि शामिल हैं। क्योंकि इसमें थ्योरी सब्जेक्ट ज्यादा होते हैं।

कैसे करें MA Hindi- स्टेप बाय स्टेप गाइड

MA Hindi करने के लिए आपको कुछ स्टेप्स को ध्यान में रखने की आवश्यकता हो सकती है जिसके पश्चयात आपका MA Hindi का सफर आसान हो जायेगा। आइए स्टेप्स पे डालते हैं एक नज़र :-

  • किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से बैचलर डिग्री के बाद अपनी मास्टर्स के लिए तैयारी करें।
  • हिंदी पर फोकस्ड यह डिग्री आपकी हिंदी भाषा पर अच्छी पकड़ के आधार पर ही आपको सफलता दिला सकती है।
  • ब्लॉग में दिए गए आवेदन प्रक्रिया को फॉलो करें और MA Hindi कराने वाले सभी कॉलेज के बारे में अच्छे से रिसर्च कर लें।
  • अपने आवेदन पत्र की हर चीज़ को ध्यान से फिल करें और एंट्रेंस एग्ज़ाम में अधिक से अधिक अंक लाने का प्रयास करें।
  • अपने कॉलेज में पढ़ाये जाने वाले विषय और फीस को परखें और उसी अनुसार निर्णय लें

सिलेबस

MA Hindi करने के लिए प्राथमिक आवश्यकता भाषा में उच्च स्तर की प्रवीणता है। MA Hindi में कई विषय शामिल हैं। सिलेबस विभिन्न कॉलेज में थोड़ा अलग हो सकता है लेकिन कुछ मुख्य विषय हैं जो हिंदी में सभी कोर्सिज़ के लिए सामान्य हैं। 

प्राचीन, मध्यकालीन और आधुनिक इतिहास (Ancient, Medieval and Modern History) भारतीय साहित्य में समकालीन प्रवचन (Contemporary
Discourses in Indian Literature)
मीडिया अध्ययन और पत्रकारिता (Media Studies and Journalism)
भारतीय भाषा और साहित्य का
इतिहास (History of Indian Language and Literature)
उपन्यास, लघु कथाएँ, नाटक और कविता (Novels, Short Stories, Drama and Poetry) तुलनात्मक अध्ययन (Comparative Studies)
अनुवाद का सिद्धांत और अभ्यास (Translation Theory and Practice) लेखकों का वैकल्पिक अध्ययन (Optional Studies of Writers) परियोजना कार्य / शोध प्रबंध (Project Work/Dissertation)

MA कोर्स के विषय

MA कोर्स में आने वाले विषयों की लिस्ट नीचे दी गई है :-

  • हिस्ट्री
  • जियोग्राफी
  • पॉलिटिकल साइंस
  • हिंदी
  • इंग्लिश
  • सोशल वर्क
  • इंटीरियर डिज़ाईन
  • कल्चर एंड मीडिया
  • पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन
  • जेंडर स्टडीज़
  • आदि (यूनिवर्सिटी और कॉलेज अनुसार)

MA Hindi के लिए टॉप कॉलेज

MA Hindi करने के इच्छुक छात्रों को अक्सर कॉलेज चयन करने में परेशानी होती है। यदि आप भी पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स के लिए टॉप कॉलेज चुनना चाहते हैं, इसके लिए NIRF इंडिया रैंकिंग के साथ टॉप कॉलेज की सूची नीचे दी गई है-

NIRF इंडिया रैंकिंग कॉलेज कॉलेज सालाना फीस
(INR)
1 मिरांडा हाउस, नई दिल्ली 14,530
2 लेडी श्री राम कॉलेज फॉर विमेन, नई दिल्ली 17,976
3 हिंदू कॉलेज, नई दिल्ली 16,590
4 स्टीफन कॉलेज 10,299
9 हंसराज कॉलेज, नई दिल्ली 13,309
13 आत्म राम सनातन धर्म कॉलेज 11,771
14 श्री वेंकटेश्वर कॉलेज 24,067
43 इंद्रप्रस्थ कॉलेज फॉर विमेन 21,000
रामजस कॉलेज, नई दिल्ली 14,284

MA Hindi के लिए योग्यता

MA Hindi में यदि आप डिग्री लेना चाहते हैं तो योग्यता जानना आवश्यक है। MA Hindi के लिए कुछ योग्यताएं नीचे दी गई है-

  • उम्मीदवार जिन्होंने किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से ग्रेजुएशन में न्यूनतम 40% के साथ हिंदी में BA (hons) पूरा किया हो।
  • किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से दो अनिवार्य हिंदी के पेपर के साथ किसी भी कोर्स में ग्रेजुएट डिग्री वाले उम्मीदवार पात्र हैं।
  • MA Hindi के लिए उच्च डिग्री और हिंदी भाषा दक्षता वाले उम्मीदवार पात्र हैं।

ये भी पढ़ें: राजनीति विज्ञान की वो किताबें जिनको एक बार ज़रूर पढ़ना चाहिए

आवेदन प्रक्रिया

MA Hindi में एडमिशन के लिए निम्नलिखित स्टेप्स को फॉलो करना आवश्यक है। यह एप्लीकेशन प्रोसेस आपको आपके मन चाहे कॉलेज में एडमिशन दिलाने के लिए महत्वपूर्ण है-

  • कौनसे कॉलेजेस आपका चुना कोर्स MA Hindi उपलब्ध करातें है पता लगाएं। 
  • ध्यान से कोर्स और कॉलेज के लिए दी गई योग्यता को पढ़ें। 
  • MA Hindi के लिए देने वाले एंट्रेंस एग्ज़ाम्स का पता लगाएं और आपके कॉलेज द्वारा स्वीकार किया जाने योग्य एग्ज़ाम चुनें। 
  • MA Hindi प्रोग्राम के लिए एनरोल कर रहे कैंडिडेट का एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करना आवश्यक है क्योंकि मास्टर डिग्री देने वाली ज़्यादातर यूनिवर्सिटीज और इंस्टिट्यूट्स एंट्रेंस टेस्ट के स्कोर के हिसाब से ही एडमिशन लेते है। 
  • कई यूनिवर्सिटीस आपके एंट्रेंस एग्ज़ाम रिज़ल्ट अनुसार डायरेक्ट एडमिशन भी देतीं हैं जबकि कुछ उसके  बाद भी एडिशनल चीज़ों के मुताबिक़ सेलेक्शन करतीं हैं जिसमें ज़्यादातर ग्रुप डिस्कशन और पर्सनल इंटरव्यू शामिल होतें हैं। 
  • रिजल्ट आने के बाद,काउंसिलिंग के लिए रजिस्टर करें और प्रोसेस फॉलो करें। 
  • अपने चुनें गए कॉलेज और कोर्स को काउंसिलिंग में सेलेक्ट करें। 
  • रजिस्टर करें और दस्तावेज़ जमा कराएं। 

आवश्यक दस्तावेज़ 

MA Hindi के लिए आवेदन प्रक्रिया जानने के साथ साथ उससे जुड़े कोर्स में अप्लाई करने के लिए छात्र को नीचे दिए गए दस्तावेज़ों की आवश्यकता होगी-

  • 10वीं और 12वीं उत्तीर्ण की मार्कशीट। 
  • ग्रेजुएशन उत्तीर्ण की मार्कशीट। 
  • कॉलेज छोड़ने का सर्टिफिकेट। 
  • भारतीय नागरिकता का प्रमाण जिसमें जन्म पत्री या पासपोर्ट हो सकता है। 
  • किसी मान्यता प्राप्त डॉक्टर द्वारा दिया गया ‘फिज़िकल फिटनेस सर्टिफिकेट’
  • कैंडिडेट की 5 पासपोर्ट साइज़ फोटो। 

राष्ट्रीय प्रवेश परीक्षा

कई भारतीय विश्वविद्यालय हैं, जो हिंदी और अन्य कोर्सिज़ में प्रवेश के लिए राष्ट्रीय प्रवेश परीक्षा संचालित करते हैं। पोस्टग्रेजुएट कोर्स में प्रवेश या तो डायरेक्ट एडमिशन या एंट्रेंस एग्ज़ाम के माध्यम से होते हैं। योग्यता-आधारित प्रवेश आपके द्वारा प्राप्त किए गए कॉलेज और प्राप्त अंकों पर निर्भर करता है। आइए देखें सबसे लोकप्रिय प्रवेश परीक्षा जो आपको हिंदी में मास्टर्स के लिए सर्वश्रेष्ठ कॉलेज दिलाती हैं:

MA Hindi के बाद स्कोप

MA Hindi कोर्स करने के बाद करियर स्कोप की सूची नीचे दी गई है-

  • लेक्चरर / असिस्टेंट प्रोफेसर
  • रिसर्चर
  • हिंदी ट्रांसलेटर
  • जर्नलिस्ट
  • एडिटर
  • लैंग्वेज स्पेशलिस्ट
  • स्टोरी राइटर
  • ऑथर
  • लिरिसिस्ट
  • कंटेंट राइटर
  • न्यूज़रीडर / न्यूज़पेपर
  • गवर्नमेंट अफसर
  • टीचर
  • इंटरप्रेटर
  • स्पीच राइटर
  • वॉइस असिस्टेंट

MA Hindi के बाद किस फील्ड में मिलेंगी जॉब्स

MA Hindi के बाद निम्नलिखित क्षेत्रों में नौकरी पा सकते हैं :-

  • टीचर एंड लेक्चरर
  • न्यूज़ एंड मीडिया
  • एजुकेशनल इंस्टिट्यूट
  • इंडस्ट्रियल हाउसेस
  • टूरिज़्म इंडस्ट्री
  • बिज़नेस हाउसेस
  • सोशल वर्कर
  • बिज़नेस कंसलटेंट
  • लॉबिस्ट / ऑर्गनाइज़र
  • ह्यूमन रिसोर्स मैनेजर
  • लेबर मैनेजमेंट रिलेशन्स स्पेशलिस्ट

MA Hindi Books

MA Hindi को बेहतर तरीके से जानने हेतु आप निम्नलिखित किताबों की सहायता ले सकते हैं :-

  • आधुनिक हिंदी काव्य और कावु -रामचंद्र तिवारी
  • गद साहित्य -राधा मोहन गडनायक
  • काव्य शास्त्र ईश्वर साहित्य लोचन -डॉ। गंगा सहाय प्रेमि
  • हिंदी साहित्य का इतिहस -रामचंद्र शुक्ल
  • IGNOU MA Hindi – चक्रधार पब्लिकेशन

FAQs

Ma में हिंदी में कितने पेपर होते हैं?

किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से दो अनिवार्य हिंदी के पेपर के साथ किसी भी कोर्स में ग्रेजुएट डिग्री वाले उम्मीदवार पात्र हैं।

Ma कौन सी डिग्री होती है?

एमए यानि मास्टर ऑफ़ आर्ट्स पोस्ट ग्रेजुएशन लेवल का एक कोर्स है जिसे ग्रेजुएशन करने के बाद किया जाता है। इसकी अवधि दो साल की होती है। किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से बैचलर की डिग्री रखने वाले स्टूडेंट्स एमए कोर्स में एडमिशन ले सकते है।

Ma में कितने सेमेस्टर होते हैं?

M.A 2 वर्ष की अवधि का एक कोर्स है, जो आप बीए के बाद करते हैं, जिससे आपको मास्टर्स की डिग्री मिलती है। एमए कोर्स में आप आरसी स्ट्रीम के अलग-अलग विषयों में से किसी में भी स्पेशलाइजेशन की पढ़ाई कर सकते हैं।

हिंदी साहित्य में कौन कौन से सब्जेक्ट होते हैं?

हिन्दी में तीन प्रकार का साहित्य मिलता है-गद्य,पद्य और चम्पू। जो गद्य और पद्य दोनों में हो उसे चम्पू कहते है। खड़ी बोली की पहली रचना कौन सी है इस विषय में विवाद है लेकिन ज़्यादातर साहित्यकार लाला श्रीनिवासदास द्वारा लिखे गये उपन्यास परीक्षा गुरु को हिन्दी की पहली प्रामाणिक गद्य रचना मानते हैं।

फर्स्ट ईयर में कितने सब्जेक्ट होते हैं?

BA में 1st ईयर में कम से कम 5 सब्जेक्ट्स पढ़ते है।

आशा है, MA Hindi की जानकारी आपको मिल गई होगी। यदि आप विदेश में मास्टर्स के लिए अप्लाई करना चाहते हैं, तो आज ही Leverage Edu एक्सपर्ट्स को 1800 572 000 पर कॉल कर 30 मिनट का फ्री सैशन बुक करें।

प्रातिक्रिया दे

Required fields are marked *

*

*

5 comments
15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today. Masters Programs
Talk to an expert