IFS Officer कैसे बनें?

Rating:
2.5
(2)
IFS Officer कैसे बने

सिविल सर्विसेस के क्षेत्र में आपने IAS (Indian Administrative Service) और IPS (Indian Police Service) के बारे में तो सुना ही होगा लेकिन क्या आप IFS के बारे में जानते हैं? IFS officer एक प्रतिष्ठित A ग्रेड पद है। जिस प्रकार IAS, IPS देश में रह कर काम करते हैं, उसी प्रकार IFS officer देश के बाहर नियुक्त होकर देश का प्रतिनिधित्व करते हैं। तो चलिए जान लेते हैं कि IFS officer कैसे बने और एक IFS officer बनने के लिए किन-किन skills की आवश्यकता पड़ती है। 

IFS Officer कौन होता है?

IFS officer भारतीय सिविल सर्विसेस् के एक अधिकारी पद की नौकरी है, जिसे देश का प्रतिनिधत्व अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर करना होता है। आइये इसे और आसानी से समझ लें – जिस प्रकार एक IAS Officer देश में रहकर किसी क्षेत्र या उससे जुड़े मामलों में रूचि लेता है, उसी तरह एक IFS Officer अंतर्राष्ट्रीय संस्थानों और अन्य कई देशों के साथ काम करते हैं। IFS Officer का फुल फॉर्म है Indian Foreign Service है। 

Check Out : यूपीएससी की तैयारी कैसे करें

IFS Officer कैसे बने?

IFS Officer बनने के लिए आपके पास किसी भी मान्यता प्राप्त कॉलेज से graduation की डिग्री होनी चाहिए। IFS Officer की परीक्षा UPSC(Union Public Service Commission) द्वारा आयोजित की जाती है। आप अपने graduation के आखिरी साल में पढ़ाई करते वक़्त इसकी परीक्षा दे सकते हैं। IFS Officer के लिए अप्लाई करने से पहले आपको अपने विषय का पूर्ण ज्ञान होना चाहिए। यह परीक्षा हर साल UPSC द्वारा आयोजित कराई जाती है जो फरवरी या मार्च में होती है। अगर आप इस परीक्षा में सफल हो जाते हैं तो आपको ट्रेनिंग पर भेज दिया जाता है। ट्रेनिंग के बाद एक IFS Officer को विदेश मंत्रालय और भारतीय दूतावास में काम करने का मौका मिलता है। 

IFS Officer बनने के लिए योग्यता

IFS Officer का पद सँभालने के लिए तथा इस विभाग में नौकरी करने के लिए निम्न योग्यताओं की आवश्यकता है –

  • Indian Foreign Service में नौकरी करने के लिए भारतीय नागरिक होना आवश्यक है। 
  • IFS Officer बनने के लिए किसी भी कॉलेज या मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से graduation की डिग्री होनी चाहिए।  

Check Out : UPSC Mains Syllabus Hindi

IFS Officer बनने के लिए Age limit

IFS Officer की परीक्षा में अप्लाई करने लिए आपकी उम्र कम से कम 21 वर्ष हो और अधिक से अधिक 32 वर्ष होनी चाहिए। अगर आपने आरक्षित वर्ग से अप्लाई किया है तो सरकार की तरफ से आपको कुछ आयु की छूट दी जाती है। 

IFS Officer Exam Syllabus

IFS Officer की तैयारी के समय आपको कुछ विषयों का विशेष ध्यान रखना पड़ेगा। Preliminary Exam और Mains Exam के लिए निम्न विषयों का अध्ययन करें – 

  • सामान्य ज्ञान (General Knowledge)
  • सामान्य अंग्रेजी (General English)
  • सामान्य अध्ययन (General Studies)
  • योग्यता परीक्षा (Aptitude Test)

दोनों चरण में सफल होने के बाद आपके गुण और निर्णय लेने की क्षमता को परखा जाता है।

UPSC एग्जाम्स के लिए NCERT बुक्स जो आपके पास जरूर होनी चाहिए

IFS Officer बनने के लिए Tips

IFS Officer कैसे बने इसके लिए जानिए कुछ बेहतरीन टिप्स जो नीचे दी गयी है-

  • पहला पेपर (Preliminary exam) 200 अंक का होता है और दूसरा पेपर 600 अंक का होता है जिसमें आपको अच्छे अंक प्राप्त करने होने होते हैं। इसके आधार पर ही आप आगे की प्रक्रिया में जाते हैं।
  • अंग्रेजी और सामान्य ज्ञान की अच्छी पकड़ होनी चाहिए। 
  • आपका बेहतर आत्मविश्वास interview process में आपकी मदद करेगा।

Check Out : Ancient History For UPSC

IFS Officer चयन प्रक्रिया

Indian Foreign Service Officer के लिए आपको परीक्षा के तीनों चरण पास करने होंगे जिसके आधार पर आपको ट्रेनिंग दी जाएगी और पद दिया जाएगा। 

Preliminary Exam (प्रारंभिक परीक्षा)

इस परीक्षा में आपसे objective प्रश्न पूछे जाते हैं जिसे पास करने के लिए अच्छे अंक प्राप्त करने होते हैं। यह परीक्षा pass करने के बाद आपको एक फॉर्म भरना होता है जिसमें आपके रूचि के अनुसार पोस्ट और सर्विसेस् allot रहती हैं। अतः ये allotment आपके रैंक के आधार पर किया जाता है। 

Mains Exam (मुख्य परीक्षा)

मुख्य परीक्षा में आपसे 9 प्रश्न पूछे जाते हैं, जो अलग-अलग विषय से होते हैं। इस परीक्षा को pass करने के बाद आपको interview के लिए चुना जाता है। 

Interview 

Interview process में आपके रूचि के अनुसार प्रश्न पूछे जाते हैं, जिसके आधार पर सर्विस और पोस्ट दी जाती है। 

Check Out : IAS Kaise Bane?

IFS Officer का काम

एक IFS officer का काम होता है दूसरे देशों में खुद के देश का प्रतिनिधित्व करना। एक IFS officer देश की सरकार और विदेशों की सरकार के बीच अच्छे रिश्ते मजबूत करता है जिससे व्यापारिक और सांस्कृतिक सम्बन्ध बना रहे। यह एक IPS दर्ज़े का ही काम होता है जिसका सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है विदेशी मामलों को सुलझाना। जब भी प्रधानमंत्री या कोई मंत्री विदेश दौरे पर जाता है तो सारी नीतियां समझाना एक IFS officer का काम है।

Check Out : UPSC Syllabus in Hindi – कैसे करें सिविल सर्विस की तैयारी

सुविधाएँ

एक IFS officer बनने के बाद आपको कई सुविधाएँ मिलती हैं। जैसे –

  • सरकारी आवास
  • गाड़ी की सुविधा
  • सुरक्षा गार्ड और insurance सुविधा
  • विदेशों में शिक्षा का अवसर 
  • रिटायरमेंट व् अन्य लाभ  

FAQ

IFS Officer क्या काम करते हैं ?

एक IFS Officer दूसरे देशों में अपने देश का प्रतिनिधित्व (represent) करते हैं। इनके मुख्य काम है विदेशी सरकार से अपने सरकार के बीच रिश्ते मजबूत करना। 

IFS का कोर्स कितने साल का होता है?

इस सिविल सेवा की तैयारी के लिए कम से कम 2 से 3 साल का समय लगता है। आप इसकी तैयारी अपने graduation के दिनों से ही कर सकते हैं। 

IFS रैंक क्या होता है ?

Interview process में सफल होने के बाद आपका रिजल्ट आता है जिसमें आपको एक रैंक दी जाती है। अगर आपके अंक सबसे ज्यादा हैं तो आपको IAS और IFS की preference मिलती है जिसमें किसी एक का चयन आपको करना है। 

उम्मीद है, IFS Officer कैसे बने इसके लिए proper guidance मिल गई होगी। यदि आप विदेश में पढ़ना चाहते हैं तो आज ही Leverage Edu experts को 1800 572 000 पर कॉल करके 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करें और बेहतर guidance पाएं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.

+91
Talk to an expert for FREE

You May Also Like

GK in Hindi
Read More

230+ GK in Hindi

कई प्रतियोगी परीक्षाओं में तथा विभिन्न कक्षाओं के विज्ञान के पाठ्यक्रम में General Knowledge Questions in Hindi पूछे…