विदेश में पढ़ाई के लिए TOEFL Test क्यों है जरुरी?

3 minute read
2.0K views
10 shares
TOEFL Test kya hai

विदेश में पढ़ने का सपना देख रहे students को अलग अलग देशों में english के कुछ test पास करने होते हैं। इसके साथ ही उनको उन test में एक अच्छा score प्राप्त करना होता है। जिसके बाद ही उनको अपने पसंद की universities में admission मिल पाता है। ऐसा ही एक test, TOEFL है। इस ब्लॉग में आप TOEFL test क्या होता है और इसकी तैयारी कैसे कर सकते हैं, इसके बारे में जानेंगे। तो चलिए विस्तार से जानते हैं TOEFL Test kya hai।

Exam TOEFL
Full-Form Test of English as a Foreign Language
Purpose English language proficiency test
Conducting Body Educational Testing Service (ETS)
generally accepted by Universities in the USA, Canada and UK
Level of Exam International
Mode of Exam Internet-based & Paper-based
Sections Reading, Writing, Listening and Speaking
Duration Around 3 hours 30 minutes
TOEFL Fee TOEFL iBT fee: $185 (INR 13,652)TOEFL PBT fee: $180 (INR 13,283)
Score Range -Reading: 0–30
-Listening: 0–30
-Speaking: 0–30
-Writing: 0–30
TOEFL Test Centers 4500 across the world
Official Website https://www.ets.org/toefl
TOEFL Helpline 1-609-771-71001-877-863-3546
Fax 1-610-290-8972

TOEFL Test क्या है?

Test of English as a Foreign Language को ही TOEFL के नाम से जाना जाता है। यह एक test है जो students के english language skills को मापती है ताकि यह पता लगाया जा सके कि वे foreign countries की university या graduate school में पढ़ने के लिए sufficient हैं। यह उन लोगों के लिए है जिनकी first language english नहीं है, लेकिन वे एक international university में अध्ययन करना चाहते हैं। यह मापता है कि एक व्यक्ति academic work को करने के लिए listening, reading, speaking और writing skills का कितनी अच्छी तरह उपयोग करता है। TOEFL test 150 से अधिक देशों में 10,000 से अधिक colleges, universities और agencies द्वारा स्वीकार किया जाता है। TOEFL दुनिया में सबसे broadly recognized English exam है।

1962 में, American universities में अध्ययन करने के इच्छुक non-native speakers के लिए English language proficiency सुनिश्चित करने के लिए एक national council का गठन किया गया था। इस council में 30 government और private organizations ने प्रतिनिधित्व किया था। इस council ने 1963-1965 के समय के लिए TOEFL test के development और administration की सिफारिश की। TOEFL testing पहली बार 1964 में modern language association  द्वारा Ford Foundation और Danforth Foundation के grant से financed किया गया था। तब से आज तक English language proficiency का आकलन करने के लिए यह एक popular competitive exam है।

TOEFL Exams के प्रकार

TOEFL टेस्ट दो प्रकार के होते हैं जो इस प्रकार है:

  • Internet-Based Test (iBT)
  • Paper-Based Test (PBT)

Internet-Based Test (iBT)

TOEFL Internet-Based Test (TOEFL iBT) उन students के लिए online test है, जो किसी कारण से exam center जाने में असमर्थ होते हैं। इसके अलावा अपनी सुविधा में आसानी के कारण भी students iBT को चुनते हैं।

Paper-Based Test (PBT)

TOEFL Paper-Based Test (TOEFL PBT) offline exam mode में होता है इस test के लिए paper और pen का बड़े पैमाने पर उपयोग किया जाता है। TOEFL Paper-Based Test उन क्षेत्रों में आयोजित की जाती है जिनमें computer या basic internet सुविधा की कमी होती है।

TOEFL Eligibility

TOEFL test में appear होने के लिए students को कुछ जरूरी शर्तों को पूरा करना होता है। जिसके बारे में नीचे दिया गया है।

  • TOEFL test के लिए कोई निश्चित आयु सीमा निर्धारित नहीं है।
  • उम्मीदवार के पास किसी मान्यता प्राप्त board से 10+2 स्तर की योग्यता होनी चाहिए।

TOEFL Registration

TOEFL test को students साल भर में कभी भी दे सकते हैं। आप अपनी जरूरत के अनुसार test की तारीख और केंद्र चुन सकते हैं। TOEFL registration के बारे में समझाने के लिए हमने नीचे कुछ points दिए हैं ।

  • Online registration करें: यह registration का सबसे आम और आसान तरीका है। Registration के लिए ऑनलाइन सुविधाएं 24*7 खुली हैं। ध्यान रहे कि आपको TOEFL test की तारीख से कम से कम 7 दिन पहले ही registration द्वारा seat book करनी होगी।
  • Call द्वारा registration करें: Applicant फोन के माध्यम से भी registration कर सकते हैं। Indian examinees के लिए TOEFL registration number 91-124-4147700 है।
  • Mail के माध्यम से registration करें: E-mail के द्वारा भी आप registration कर सकते हैं। इसके लिए, आपको official TOEFL website से फॉर्म डाउनलोड करना होगा, इसे सही विवरण के साथ भरना होगा और अपना फॉर्म exam date से कम से कम 4 हफ्ते पहले भेजना होगा।

TOEFL Exam Pattern

Internet-Based Test computer द्वारा लिया जाता है। इसका मुख्य मकसद अंग्रेजी भाषा के कौशल में student कितना अच्छा है इसकी जांच करना है। इस test को चार पार्ट में बांटा गया है। जिसका समय 3 से 4 घंटे का होता है। जिसके बारे में नीचे विस्तार से बताया गया है।

Section Duration Number of Questions
Reading 54-72 minutes 30-40
Listening 41-57 minutes 28-39
Break 10 minutes
Speaking 17 minutes 4 tasks
Writing 50 Minutes 2 tasks

TOEFL Syllabus

TOEFL के तमाम Syllabus के बारे में नीचे विस्तार से बताया गया है।

Reading

TOEFL test में English के लंबे paragraphs दिए जाते हैं जिनके बारे में आपको अच्छी तरह से समझना काफी ज्यादा जरूरी होता है। इसके अलावा इन paragraphs में आपको difficult words के साथ wrong sentence दिए जाते है और आपको इनको ठीक करना होता है। इस test की तैयारी के लिए अक्सर कहा जाता है कि आप जितना ज्यादा English newspaper पढ़ सकते हैं उतना ही आपको लाभ मिलेगा। Reading section में पूछे जाने वाले प्रश्नों की संख्या प्रत्येक section में 12-14 से घटाकर 10 कर दी गई है।

  • Reading section में तीन भागों का एक सेट होता है, जिस पर प्रश्न आधारित होते हैं।
  • पारंपरिक बहुविकल्पीय प्रश्न चार विकल्प और एक सही उत्तर के साथ दिया जाता है।
  • बहुविकल्पीय प्रारूप में वाक्य एक साथ होते हैं जिसमें प्रश्न परीक्षार्थी को दिए गए चार विकल्पों में से सबसे अच्छा वाक्यांश चुनने के लिए कहा जाता है जो वाक्य से मिलता जुलता हो।
  • ऐसे प्रश्न जिनमें चार से अधिक विकल्प और एकाधिक सही उत्तर होते हैं, इस प्रकार का एक प्रश्न प्रत्येक परिच्छेद में आता है।

Speaking

अंग्रेजी भाषा के इस सेक्शन में, सबसे ज्यादा जोर इस बात पर किया जाता है कि English में आपकी कैसी गति है, यह पूरी परीक्षा का सबसे कठिन खंड है क्योंकि इसमें quick thinking और उसके अनुसार उत्तर देने की आवश्यकता होती है। Speaking section यह आकलन करने का प्रयास करता है कि क्या कोई व्यक्ति class level के साथ-साथ real life में English में बातचीत करने और समझने में सहज है या नहीं। परीक्षार्थी को अपने व्यक्तिगत अनुभव से बोलना, राय देना और तर्क देना आवश्यक है।

  • इसके अंतर्गत student को अपने विचारों और अनुभव के बारे में बोलने के लिए कहा जाता है। इसमें परिचयात्मक प्रश्न होते हैं जो यह आकलन करने के लिए पूछे जाते हैं कि कोई व्यक्ति अपना परिचय कैसे देता है, उनका रवैया, बोलने की शैली आदि कैसी हैं।
  • Integrated speaking का काम अन्य कार्यों से अलग होता हैं क्योंकि इसमें अंग्रेजी के दो या दो से अधिक कौशल जैसे पढ़ना और सुनना को शामिल हैं।

Listening

TOEFL listning section का मकसद इस बात का पता लगाना है कि टेस्ट देने वाले students बोली जाने वाली English को कितनी अच्छी तरह सुनते और समझते है। आमतौर पर, यह section evaluator assessment  पर जोर देता है। यह विभिन्न विषयों के बीच संबंध बनाने, निष्कर्ष निकालने, निर्णय लेने की क्षमता की जांच करता है।

  • पारंपरिक बहुविकल्पीय प्रश्न जिनमें चार विकल्प होते हैं और एक सही उत्तर होता है।
  • बहुविकल्पीय प्रश्न लेकिन चार से अधिक विकल्प और एक से अधिक सही उत्तर के साथ।
  • ऐसे प्रश्नों का क्रम देना जो परीक्षार्थियों से रिकॉर्डिंग में घटित घटनाओं के अनुसार दी गई घटनाओं को व्यवस्थित करने के लिए कहते हैं।
  • मिलान करने वाले प्रश्न जिनके लिए परीक्षार्थियों को प्रासंगिक पाठ, वस्तुओं और वाक्यांशों के साथ श्रेणियों का मिलान करने की आवश्यकता होती है।

Writing

TOEFL परीक्षा के इस भाग में सही, त्रुटि रहित और coherent passages लिखने का टेस्ट लिया जाता है। अक्सर, एक अकादमिक माहौल में, आपको किसी विषय के आधार पर संक्षेप, नोट्स तैयार करने, निबंध और पेपर लिखने की आवश्यकता होगी। यह खंड thought phrases के कौशल का आकलन करता है, bits of information के बीच संबंध बनाता है, धारणाओं की तुलना, तर्क-निर्माण और निष्कर्ष की तुलना करता है। इस खंड में दो प्रकार के कामों के बारे में नीचे दिया गया है।

  • Integrated Writing Task: 20 मिनट की रिकॉर्डिंग सुनकर परीक्षार्थी को 200–300 अंश पढ़ने होते हैं। इसके आधार पर उन्हें यह लिखना होगा कि दोनों एक दूसरे से कैसे जुड़े हैं। नोट लेने की अनुमति है। कोई सही या गलत उत्तर नहीं है। सुझाई गई शब्द सीमा 150-225 शब्द है लेकिन आप जितना चाहें उतना लिख ​​सकते हैं क्योंकि कोई दंड नहीं है।
  • Dependent Writing task: यह एक अनुभव आधारित निबंध है। एक मुद्दा या विषय प्रदान किया जाता है जिस पर परीक्षार्थी कम से कम 300 शब्दों में अपनी राय व्यक्त करता है। मूल्यांकनकर्ता व्याकरण के कौशल, एक संगठित तरीके से लेखन, साक्ष्य के साथ दावे का समर्थन करने की क्षमता, विवरण, वाक्य निर्माण, निष्कर्ष आदि का आकलन करने का प्रयास करते हैं।

Results and Scores

 TOEFL Test kya hai के साथ ही आइए TOEFL test sections की scoring के बारे में जानते हैं।

  • Reading: (0 to 30)
  • Writing:(0 to 30)
  • Speaking: (0 to 30)
  • Listening: (0 to 30)
  • Total: (0-120

 Top Universities Accepting TOEFL Scores

TOEFL टेस्ट English proficiency tests में से एक है जिसे UK, USA, Canada, Australia, New Zealand, France, Germany आदि academic institutions द्वारा मान्यता प्राप्त है। किसी भी अंग्रेजी बोलने वाले देशों में वीजा आवेदन के लिए भी आप अपने TOEFL scores का उपयोग कर सकते हैं। नीचे दी गई लिस्ट में TOEFL score accept करने वाली दुनिया की टॉप universities के बारे में दिया गया है।

3 महीने में कैसे Crack करें TOEFL?

TOEFL Test kya hai यह तो आप जान चुके हैं अब आइए जानें कि किस तरह TOEFL crack किया जाए। कोई भी व्यक्ति सिर्फ 3 महीने की तैयारी में इस टेस्ट के लिए एकदम तैयार हो सकता है। किसी भी टेस्ट को पास करने के लिए उसके exam pattern और syllabus को समझना बेहद जरूरी है। इसके बाद अपने मजबूत और कमजोर बिंदुओं पर विचार करते हुए, उसके अनुसार योजना पर काम कर TOEFL में अच्छा स्कोर किया जा सकता है।

TOEFL की तैयारी करें Leverage Live से

Leverage Live, competitive exams जैसे TOEFL, IELTS, GMAT, GRE, SAT आदि के लिए A-Class online classes provide करता है, जो students को उनके exams में अच्छे अंक प्राप्त करने के लिए मदद करता है। यह Leverage Edu द्वारा संचालित है। इन competitive exams के लिए Leverage Live आपकी सफलता का मंत्र हो सकता है। एक desired score प्राप्त करने के लिए, आपको एक proper guidance के साथ अपना best देने की ज़रूरत है। अतः हमारे Leverage Live की interactive online classes के माध्यम से, आप one-on-one individual sessions कर सकते हैं। हमारे experts का मुख्य focus आपकी knowledge को बढ़ाना और आपको आपके exams के लिए तैयार करना है। इसके लिए आपकी capabilities के according एक unique study plans तैयार किए जाते हैं जो निश्चित ही आपको अपना exam एक बेहतरीन score के साथ clear करने में मदद करेगा।

Leverage Live में TOEFL class session आपके लिए काफ़ी attractive होगा क्योंकि हम TOEFL के लिए 20-30 session provide करते हैं। आप अपने test के लिए जरूरी basic program से गुजरेंगे जो आपको basics पर पकड़ बनाने और आवश्यक concepts के लिए एक solid base बनाने में मदद करेगा। 8:1 के student teacher के साथ, हमारी Leverage Live classes पूरी तरह से students पर केंद्रित हैं। एक के बाद एक conversation, HD videos, presentation आदि के माध्यम से आप TOEFL के बारे में अच्छी तरह से समझ पाएंगे। अतः TOEFL की अच्छी तैयारी के लिए बिना वक्त गवाएं आज ही Leverage Live पर register कीजिए। 

 FAQs

TOEFL test क्या है?

TOEFL test एक English language proficiency test है जो Educational Testing Service (ETS) द्वारा आयोजित की जाती है। TOEFL के 2 versions हैं, TOEFL iBT (इंटरनेट-आधारित टेस्ट) और TOEFL PBT (पेपर-आधारित टेस्ट)। यह 150 से अधिक देशों में 11,000 से अधिक विश्वविद्यालयों और शैक्षणिक संस्थानों में व्यापक रूप से स्वीकृत language proficiency assessment है।

TOEFL लेने में कितना खर्च होता है?

इस परीक्षा के लिए परीक्षा शुल्क परीक्षण स्थान के आधार पर भिन्न होता है। भारत में, iBT और TBT दोनों के लिए TOEFL शुल्क $190 (लगभग 14,086 INR) है।

TOEFL पर एक अच्छा स्कोर क्या है?

टीओईएफएल स्कोर 90-100 की सीमा में पूरी तरह से अच्छा माना जाता है जबकि 100-110 के बीच के स्कोर को बहुत अच्छा माना जाता है।

हम आशा करते हैं कि आपको TOEFL test के बारे में सारी जानकारी मिल गई होंगी, और आपने leverage Live जैसी एक उमदा online classes के बारे में जान लिया है। अगर आपका सपना विदेश में पढ़ने का है, तो आप आज ही 180057200 पर कॉल करें और हमारे Leverage Edu के experts के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन बुक कीजिए। हम आपको एक बेहतर guidance के साथ, विदेश में पढ़ने के आपके सपने को पूरा करने में आपकी मदद करेंगे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

2 comments
10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert