10वीं के बाद क्या करें?

2 minute read
4.6K views
10 shares
10th ke baad kya kare

आपने अभी तक अपनी स्कूल की पढ़ाई मौज-मस्ती और हंसी मजाक में पूरी कर ली और कब दसवीं में आ गए आपको पता भी नहीं लगा, लेकिन अब आपको अपने बेहतर भविष्य की चाहत है, पर आपको समझ नहीं आ रहा कि आप किस सब्जेक्ट में आगे की पढ़ाई करें। कौन सा सब्जेक्ट ले जिससे आपका फ्यूचर अच्छा हो सके? तो हमारा यह ब्लॉग आपकी मदद करेगा कि आप 10th ke baad kya kare तो आइए शुरू करते हैं।

दसवीं पास करने के बाद क्या करें?

पढ़ाई हम सभी के लिए कितनी जरूरी है यह तो हम सब जानते हैं कोई पढ़ाई अपने अच्छे भविष्य के लिए करता है,कोई अच्छी नौकरी के लिए तो कोई अपनी नॉलेज को बढ़ाने के लिए। लेकिन दसवीं पास करने के बाद सभी विद्यार्थी थोड़े कंफ्यूज हो जाते हैं कि वह आगे किस सब्जेक्ट में पढ़ाई करें?लेकिन यह चुनाव उन विद्यार्थियों के लिए इतना भी मुश्किल नहीं होता जो अपनी पसंद और नापसंद के बारे में अच्छे से जानते है,पर वे विद्यार्थी जो अपनी पसंद और नापसंद पता होते हुए भी सब्जेक्ट नहीं चुन पा रहे हैं वे हमारे इस ब्लॉग को आखिर तक पढ़े। 

दसवीं के बाद कौन सी सब्जेक्ट को चुनें?

दसवीं के बाद एक सही सब्जेक्ट का चुनाव करना हमारे लिए बहुत जरूरी होता है क्योंकि इसी पर हमारे आगे का भविष्य निर्भर करता है और यही सब्जेक्ट हमें 11वीं और 12वीं कक्षा मे पढ़ना  होता है। 10 ke baad kya kare आपके सामने कई सारे विकल्प उपस्थित होते है।10वीं के बाद मुख्यतः 3 विकल्प होते है जिनमे से हमें किसी एक को चुनना होता है, ये हैं-

  • कला वर्ग
  • विज्ञान वर्ग
  • वाणीज्य वर्ग 

आर्ट्स

10वीं करने के बाद चुना जाने वाला सबसे लोकप्रिय विषय है। इसे वे विद्यार्थी चुन सकते है जिनके 10वीं बोर्ड में 50℅ या इससे कम अंक आते हैं। इसमें आपको कई प्रकार के विषय पढाये जाते हैं जिनमे से कुछ निम्न है-

  • भूगोल
  • राजनीतिक विज्ञान
  • अर्थशास्त्र
  • संस्कृत
  • समाजशास्त्र
  • मनोविज्ञान
  • इतिहास
  • अंग्रेजी
  • दर्शनशास्त्र
  • ड्राइंग

10वीं के बाद आर्ट्स चुनने के फायदे

  • 10th के बाद आर्ट्स लेने के कई फायदे होते हैं, जैसे कॉमर्स और साइंस के मुकाबले आर्ट्स लेने वाले छात्रों पर दबाव कम रहता है।
  • आर्ट्स स्ट्रीम चुनने से छात्रों को ट्यूशन या कोई क्लासेज लेने की ज़रूरत भी नहीं पड़ती है।
  • सबसे बड़ा फायदा यह है कि आर्ट्स के छात्र सिविल सर्विसेज जैसे IAS, IPS आदि के परीक्षा की तैयारी कर सकते हैं। ऐसा इसलिए कि आर्ट्स में से विषय सिविल सर्विसेज में से पूछे जाते हैं।
  • कॉमर्स और साइंस के मुकाबले आर्ट्स में विषय या कोर्स करने पर फीस भी कम रहती है।

साइंस

इसे वे विद्यार्थी चुन सकते है जो पढ़ाई मे काफी ज्यादा तेज है।यह विषय थोड़ा मुश्किल होता है। साइंस को पढ़ने के लिए आपको 10वीं में 50℅ से ज्यादा अंक लाने होते है। साइंस वर्ग के 2 भाग होते हैं-

10वीं के बाद साइंस चुनने के फायदे

  • साइंस स्ट्रीम इंजीनियरिंग, मेडिकल, IT जैसे कई बेहतरीन करियर विकल्प प्रदान करता है। इसके अलावा छात्र रिसर्च में भी विकल्प तलाश सकते हैं।
  • साइंस लेने का सबसे बड़ा फायदे यह है कि इससे छात्रों के पास बड़ी मात्रा में आगे के लिए विकल्प खुल जाते हैं। छात्र साइंस से कॉमर्स या आर्ट्स में कोर्सेज को चुन सकते हैं लेकिन कॉमर्स और आर्ट्स स्ट्रीम छात्र साइंस वाले कोर्सेज नहीं चुन सकते हैं।
  • साइंस का क्षेत्र काफी एडवांस है और इसमें आगे भी रिसर्च होती रहेगी, तो करियर की असीम संभावनाएं हैं।

कॉमर्स

कॉमर्स आर्ट्स के बाद लिया जाने वाला दूसरा सबसे प्रसिद्ध विषय है। इसे वे विद्यार्थी चुन सकते हैं जिनके 10वीं में 40℅ या इससे ज्यादा अंक आए हैं और अगर आपकी रुचि बैंकिंग सेक्टर में है तो आप इसे चुन सकते है। इसमे आपको निम्नलिखित सब्जेक्ट पढ़ाए जाते हैं-

  • एकाउंटेंसी
  • बिजनेस स्टडीज
  • इंग्लिश
  • इकोनॉमिक्स
  • मैथेमेटिक्स

10वीं के बाद कॉमर्स चुनने के फायदे

  • 10वीं के बाद कॉमर्स की पढ़ाई करने वाले उम्मीदवारों के पास कई ग्रेजुएशन विकल्प होते हैं और CA, CS, MBA, HR आदि जैसे कई करियर विकल्प होते हैं।
  • वाणिज्य का अध्ययन करने का दूसरा बड़ा लाभ निवेश (इन्वेस्टमेंट) ज्ञान है। एक उम्मीदवार को पता चल जाएगा कि उसे इसे मल्टीपल में कहां निवेश करना चाहिए। ज्यादातर लोग म्यूचुअल फंड, FD और शेयर बाजार का रुख करते हैं।
  • यदि किसी उम्मीदवार की संख्या और संख्यात्मक डेटा का विश्लेषण करने में गहरी रुचि है, तो कॉमर्स सबसे अच्छा विकल्प उपलब्ध है।
  • इसमें बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन से लेकर फाइनेंस जैसे क्षेत्र में करियर के असीम विकल्प हैं।

Check it: कैसे करें MA Hindi

वोकेशनल कोर्सेज क्या हैं?

वोकेशनल कोर्सेज में करियर कॉलेज, वोकेशनल स्कूल्स, ट्रेड स्कूल्स और कम्युनिटी कॉलेज में पढ़ाया जाता है। वोकेशनल क्लासेज ज्यादातर जॉब फोकस्ड कोर्सेज प्रदान करती हैं, स्पेसिफिक रोल या करियर के लिए। वहीं ऐसे बहुत से मामले में वोकेशनल कोर्सेज में वो पोटेंशिअल होती हैं जो की बाद में आपको स्किल्स, सर्टिफिकेट्स या एसोसिएट डिग्रियां प्राप्त करने के काबिल बना सकती है।

वोकेशनल स्ट्रीम के कोर्सेज

10th ke baad kya kare जानने के साथ-साथ यह जानना भी ज़रूरी है कि वोकेशनल स्ट्रीम के कोर्सेज कौनसे होते हैं-

10वीं के बाद डिप्लोमा कोर्सेज

10th ke baad kya kare सवाल को और अच्छे से समझने के लिए नीचे स्ट्रीम के अनुसार डिप्लोमा कोर्सेज दिए गए हैं:

10वीं आर्ट्स के बाद डिप्लोमा कोर्सेज

  • Diploma in Fine Arts 
  • Diploma in Commercial Art
  • Diploma in Graphic Designing
  • Certificate Course in Spoken English 
  • Certificate Course in Functional English
  • Diploma in Social Media Management
  • Diploma in Hotel Management
  • Certificate in Hindi 

10वीं कॉमर्स के बाद डिप्लोमा कोर्सेज

  • Certificate in Animation
  • Certificate Course in Tally
  • Diploma in Banking
  • Diploma in Risk and Insurance
  • Diploma in Computer Application
  • Advanced Diploma in Financial Accounting
  • Diploma in e-Accounting Taxation

10वीं साइंस के बाद डिप्लोमा कोर्सेज

  • Diploma in Information Technology
  • Craftsmanship Course in Food Production
  • Certificate in Diesel Mechanics 
  • Diploma in Dental Mechanics
  • Diploma in Dental Hygienist
  • Diploma in Electrical Engineering 
  • Diploma in Computer Science and Engineering

10वीं के बाद सर्टिफिकेट कोर्सेज

  • Certificate Programme in MS Office
  • Certificate Course in Programming Language
  • Certificate in Web Designing
  • Certificate in SEO 
  • Certificate in Graphic Designing
  • Certificate in Digital Marketing
  • Certificate in Mobile Phone Repairing
  • Certificate in Office Assistant Cum Computer Operator Course
  • Certificate in Wireman Course
  • Certificate in Motor Vehicle Mechanic Course
  • Certificate in Electrician Course

10वीं के बाद करियर के विकल्प

अगर आप दसवीं पास करने के बाद स्कूल नहीं जाना चाहते हैं, तो आप निम्नलिखित कोर्सेज में अप्लाई कर सकते हैं-

  • ITI- दसवीं के  के बाद आप जल्दी जॉब करना चाहते हैं तो आप ITI कर सकते हैं आईटीआई में आप कई विषय होते हैं जिसमें इलेक्ट्रीशियन, वेल्डर, फिटर,मोटर मैकेनिक,कंप्यूटर आदि प्रमुख हैं। यह 2 वर्ष का होता है
  • कंप्यूटर हार्डवेयर और नेटवर्किंग- वर्तमान समय  कंप्यूटर का है। इसमें आपको कंप्यूटर रिपेयरिंग, हार्डवरिंग,नेटवर्किंग के बारे में सिखाया जाता है। अगर आप अच्छी नौकरी चाहते हैं तो आप इससे क्षेत्र में अप्लाई कर सकते हैं। 
  • इंजीनियरिंग डिप्लोमा-इसे पॉलिटेक्निक डिप्लोमा भी कहते हैं।यह 3 वर्ष का होता है।इसे करने के बाद आप सीधे जॉब लग सकते हैं। इसमेंं कंप्यूटर साइंस, केमिकल, मैकेनिकल, प्लास्टिक, इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्रॉनिक्स आदि विषय आते है। 
  • नॉन इंजीनियरिंग डिप्लोमा अगर आपकी रुचि टेक्निकल मे नही है तो आप नॉन टेक्निकल डिप्लोमा कर सकते है यह भी 3 वर्ष का होता है। इसमे आपको फैशन डिजिगनिंग,कमर्शियल आर्ट, टेक्सटाइल्स आदि पढाये जाते हैं। यह लड़कियों के लिए एक बेहतर ऑप्शन हैं। 
  • होटल मैनेजमेंट- आप दसवीं के बाद सीधे होटल मैनेजमेंट डिप्लोमा कर सकते है जो आपके भविष्य  के लिए एक अच्छा निर्णय हो सकता है।
  • मीडिया- अगर आपकी रुचि पढ़ाई में नहीं है तो आप दसवीं के बाद सीधे मीडिया डिप्लोमा कोर्स ज्वाइन कर सकते हैं। 

Check out: जानिए BA Sanskrit के बारे में विस्तार से

दसवीं के बाद मेडिकल कोर्स कैसे करें?

अगर आप 10वीं के बाद मेडिकल फील्ड में जाना चाहते हैं तो आपको दसवीं के बाद से ही इसकी तैयारी शुरू कर देनी चाहिये।मेडिकल में जाने के लिए आपको 11वीं में साइंस स्ट्रीम लेकर बायोलॉजी पढ़नी होती हैं।बायोलॉजी,मेडिकल का मुख्य विषय है। 12वीं पास करने के बाद आप मेडिकल के विभिन्न एंट्रेंस एग्जाम जैसे- NEET, MBBS, JIPMER आदि के लिए आवेदन कर सकते हैं। अगर आप आर्ट्स स्ट्रीम के स्टूडेंट है तो भी आप मेडिकल में प्रवेश ले सकते हैं उसके लिए आपको कुछ कोर्स करने होते हैं।

10वीं के बाद जॉब्स

10वीं पास करने के बाद कई ऐसे छात्र होते है जो नौकरी करना चाहते है और कोई नौकरी करना चाहते है। अगर आप भी उनमे से एक है जो 10वीं के बाद सीधा जॉब करना चाहते है तो यह भी मुमकिन है इससे आप अपना खर्च भी निकाल सकते हो और अपने परिवार की भी आर्थिक मदद कर सकते हो। आप चाहे तो 10वीं के बाद भारतीय सेना, रेलवे, BSF जैसे सरकारी नौकरी कर सकते हो और अच्छा पैसा कमा सकते हो। सरकार द्वारा इन पदों की भर्ती के लिए हर साल एग्जाम होते है अखबार और इंटरनेट पर इसकी सूचना मिल जाएगी।

10वीं के बाद कॉमर्स के विकल्प

10वीं के बाद छात्रों को कॉमर्स में बहुत ज्यादा नहीं लेकिन बेहतरीन करियर विकल्प जरूर मिलते हैं। इस स्ट्रीम में आप अपना खुद का बिजनेस शुरू कर सकते हैं और किसी भी कंपनी के लिए मैनेजर का काम कर सकते हैं। इसके अलावा बैंकिंग सेक्टर जॉब भी इस स्ट्रीम के बाद आसानी से मिल सकती हैं। फाइनेंशियल एडवाइजर जैसी कई अन्य नौकरी भी आपको मिल सकती है, सरकारी नौकरी भी मिल सकती हैं।

साइंस स्ट्रीम में करियर विकल्प क्या हैं?

साइंस स्ट्रीम में करियर विकल्प नीचे दिए गए हैं-

मेडिकल साइंस इंजीनियरिंग दूसरे कोर्स
एनाटोमी एयरोस्पेस इंजीनियरिंग Pharmaceuticals
बायोकेमिस्ट्री केमिकल इंजीनियरिंग Software Design
बायोइन्फरमेटिक्स सिविल इंजीनियरिंग Forensic Science
बायोमैकेनिक्स कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग Ceramics Industry
बायो स्टेटिस्टिक्स इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग Plastics Industry
बायोफिजिक्स इंजीनियरिंग मैनेजमेंट Paper Industry
साइटोलॉजी इंडस्ट्रियल इंजीनियरिंग Teaching
डेंटल साइंस इंटीग्रेटेड इंजीनियरिंग Agrochemistry
एम्ब्र्योलॉजी मैटेरियल्स इंजीनियरिंग Astronomy
एपिडेमियोलोजी मैकेनिकल इंजीनियरिंग Food Technology
जेनेटिक्स मिलिट्री इंजीनियरिंग Meteorology
इम्म्युनोलॉजी न्यूक्लियर इंजीनियरिंग Photonics
माइक्रोबायोलॉजी  इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग Seismology
पैथोलॉजी इलेक्ट्रॉनिक्स & कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग Paleontology
फोटोबायोलॉजी जियोटेक्निकल इंजीनियरिंग Geochemistry

आर्ट्स स्ट्रीम के करियर विकल्प क्या हैं?

10th ke baad kya kare जानने के बाद यह जानना ज़रूरी है कि 10वीं के बाद करियर विकल्प क्या हैं-

पुरातत्व पुस्तकालय प्रबंधन राजनीति विज्ञान जनसंख्या विज्ञान
एंथ्रोपोलॉजी साइकोलॉजी सोशियोलॉजी सामाजिक कार्य
सिविल सर्विसेज टीचिंग हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री इंटीरियर डिजाइनिंग
कार्टोग्राफी लिंग्विस्टिक्स फाइन आर्ट्स
इकोनॉमिस्ट मास कम्युनिकेशन / मीडिया परफार्मिंग आर्ट्स
जियोग्राफर फिलोसोफी फैशन डिजाइनिंग
हेरिटेज मैनेजमेंट रिसर्च ट्रैवल और टूरिज्म इंडस्ट्री
हिस्टोरियन राइटिंग लॉ

10वीं के बाद कनाडा में पढ़ाई क्यों करें?

10th ke baad kya kare जानने के साथ-साथ यह जानना भी ज़रूरी है कि कनाडा में पढ़ाई क्यों करें, इसके कारण नीचे दिए गए हैं-

  • शिक्षा और रोजगार दर के मामले में कनाडा का एक लंबा इतिहास और प्रतिष्ठा है जब अमेरिका और ब्रिटेन के कुछ प्रमुख स्कूलों और विश्वविद्यालयों के खिलाफ खड़ा किया गया।
  • देश हर साल 1 लाख से अधिक अंतरराष्ट्रीय छात्रों के साथ विविध और महानगरीय वातावरण से घिरा हुआ है। टोरंटो में 7% से अधिक भारतीय अप्रवासियों के साथ, कोई भी आसानी से अपना सकता है और दोस्त बना सकता है।
  • कनाडा को सामाजिक प्रगति और विकास के साथ दुनिया का सबसे सुरक्षित देश माना जाता है। इसमें कम अपराध दर और जीवन की उच्च गुणवत्ता है।
  • कनाडा में विश्वविद्यालय नवाचार (इनोवेशन) और आगे की सोच को बढ़ाने के लिए अनुसंधान पर ध्यान केंद्रित करते हैं जो HIV/AIDS की बीमारी की रोकथाम, कैंसर का पता लगाने, पर्यावरणीय स्थिरता और बहुत कुछ जैसे नए सिद्धांतों और खोजों की ओर ले जाता है।
  • शिक्षक और प्रोफेसर अविश्वसनीय रूप से खुले और मैत्रीपूर्ण हैं जो छात्रों को स्वतंत्र विचारों बनने की अनुमति देते हैं। शिक्षण दृष्टिकोण कार्यशालाओं, असाइनमेंट, परियोजनाओं और समूह कार्य के साथ संयुक्त पारंपरिक शिक्षण का गठन करता है।

10वीं के बाद कनाडा में कोर्सेज

10वीं के बाद कनाडा में पढ़ाई करने के लिए नीचे कोर्सेज की लिस्ट दी गई है-

  • Engineering and Technology
  • Business
  • Medicine
  • Environmental Science
  • Social Sciences
  • Arts

आप AI Course Finder की मदद से अपने पसंद के कोर्स और उससे जुड़ी यूनिवर्सिटी का चयन कर सकते हैं।

FAQs

प्रश्न 1: दसवीं के बाद कौन सा कोर्स करें?

उत्तर: दसवीं के बाद : जानिए 10वीं के बाद कौन-कौन से डिप्लोमा कोर्स कर सकते है

डिप्लोमा इन फाइन आर्ट्स
डिप्लोमा इन इंजीनियरिंग
डिप्लोमा इन स्टेनोग्राफी
डिप्लोमा इन आर्किटेक्चर
डिप्लोमा इन बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन

प्रश्न 2: दसवीं के बाद कौन सी सब्जेक्ट लेनी चाहिए?

उत्तर: ये विज्ञान में हाथ आजमाने की हसरत रखने वालों के लिए बेस्ट सब्जेक्ट है। बायोलॉजी ग्रुप में फिजिक्स, केमेस्ट्री, बायोलॉजी, हिन्दी और अंग्रेजी सब्जेक्ट्स होते हैं। बायोलॉजी, डॉक्टर (एलोपैथी, होम्योपैथी या आयुर्वेद) और हेल्थ सर्विसेज में आपके लिए करियर के दरवाजे खोलती है।

प्रश्न 3: डिप्लोमा के लिए कितने परसेंटेज चाहिए?

उत्तर: फर्स्ट डिवीज़न. ➥दोस्तों जो स्टूडेंट डिप्लोमा इन फार्मेसी के अंतर्गत स्टडी करते हैं उन सभी स्टूडेंट का अगर फाइनल ईयर के रिजल्ट में 60% है अर्थात 3 साल के परसेंटेज को मिलाकर आपका जो परसेंटेज बनी वह आपका 60% होना चाहिए तो आपको फर्स्ट डिवीजन के अंतर्गत रखा जाएगा।

प्रश्न 4: क्या दसवीं के बाद आईटीआई कर सकते हैं?

उत्तर: दसवीं पास करने वाले छात्रों के बीच आईटीआई कोर्स काफी लोकप्रिय हैं। आईटीआई में कई ट्रेड होते हैं जिन्हे छात्र अपनी पसंद के मुताबिक चुन सकते हैं इसमें से कुछ लोकप्रिय कोर्स हम नीचे दे रहे हैं। दसवीं पास करने वाले छात्र इंजीनियरिंग में डिप्लोमा कर सकते हैं इसके लिए छात्रों के पास दसवीं में गणित और विज्ञान विषय होना चाहिए।

प्रश्न 5: डिप्लोमा में कौन सा कोर्स होता है?

उत्तर: डिप्लोमा एक छोटी अवधि का कोर्स होता है जो किसी व्यक्ति को किसी विशेष क्षेत्र में प्रशिक्षित करता है और सर्टिफिकेट प्रदान करता है। आसान भाषा में कहा जाए तो डिप्लोमा वो कोर्स होता है जिसमें किसी व्यक्ति को किसी विषय या क्षेत्र में कम समय में पढ़ाया जाता है।

प्रश्न 6: दसवीं के बाद कौन सी पढ़ाई करनी चाहिए?

उत्तर: अगर आपने दसवीं पास कर ली है और अब आप अपनी आगे की पढ़ाई के लिए सही विकल्प तलाश रहे हैं तो हमारा ब्लॉक अंत तक पढ़े। दसवीं के बाद पढ़ाई करने के लिए कई सारे विकल्पों होते हैं जिनमें से कुछ से निम्न हैं- ITI, फैशन डिजाइनिंग, होटल मैनेजमेंट, इंजीनियरिंग डिप्लोमा, नॉन इंजीनियरिंग डिप्लोमा आदि कोर्सेज मे आप 10वीं पास करने के बाद अप्लाई कर सकते हैं।

आशा है कि इस ब्लॉग से आपको 10th ke baad kya kare के बारे में सम्पूर्ण जानकारी मिली होगी। यदि आप विदेश में पढ़ाई करना चाहते हैं तो आज ही हमारे Leverage Edu एक्सपर्ट्स को 1800572000 पर कॉल करें और 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करें।

Loading comments...
15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert