जानिए Commerce लेना आपके करियर के लिए कितना सही है?

Rating:
4.4
(30)
Commerce Subject in Hindi

आपने Commerce का नाम है कई बार सुना होगा, क्या आप अपनी आगे की पढ़ाई Commerce subject में करना चाहते हैं?पर क्या आप जानते हैं कि Commerce subjects in hindi इसमें कौन-कौन से सब्जेक्ट पढ़ाए जाते हैं?अगर नहीं जानते तो आज हम आपको हमारे इस ब्लॉग में बताएंगे कि Commerce subjects in hindi है। 

क्या होता है Commerce? 

Commerce का अर्थ होता है-‘व्यापार या व्यवसाय’। कॉमर्स एक stream है जिसे दसवीं पास करने के बाद चुना जाता है। आप में से कई सारे बच्चों की रुचि व्यवसाय में होती है यह उन सभी बच्चों के लिए एकदम सही career opportunities साबित हो सकती है। इसमें आपको व्यवसाय के बारे में पढ़ाया जाता है जो विद्यार्थी अपना भविष्य banking sector में देखते हैं या वे विद्यार्थी जिनकी maths में पकड़ बहुत अच्छी है उन सभी के लिए यह एक बेहतरीन सब्जेक्ट है।

Commerce में आपको क्या पढ़ना होता है?

कॉमर्स लेने के बाद आपको 11वीं और 12वीं में बिजनेस से जुड़े सब्जेक्ट पढ़ने होते हैं जिसमें मुख्यतः business studies, economics, accountancy, economics और English शामिल हैं।

इन विषयों के अलावा, कुछ वैकल्पिक विषय, informatics practice, maths और physical education शामिल होते हैं। इसके बाद आप 12th पास कर अपने कॉलेज की पढ़ाई के लिए आवेदन कर सकते हैं जिसमें आपको कई तरह के कोर्सेज करने को मिलते हैं। कुछ मुख्य कोर्सेज निम्नलिखित है जिनके बारे में आपको इस ब्लॉग Commerce subject in Hindi में बताया जा रहा हैं-

  1. CA-CA एक कोर्स है जिसमें आप charted accountant बनने के लिए पढाई करते हैं| इस कोर्स को करने के लिए आपका 12th पास होना और कॉलेज से कुल 50℅ अंको से पास होना जरूरी है|
  2. B.Com in accounting- बीकॉम(बैचलर ऑफ कॉमर्स) 12th के बाद कॉलेज में लिया जाने वाला सबसे अधिक प्रसिद्ध कोर्सेज में से एक है,यह कोर्स 3 साल का होता है|
  3. BBA and LLB (bachelor of business administration और bachelor of law)- अगर आपने 50% अंकों के साथ 12वीं पास की है तो आप यह कोर्स कर सकते हैं| यह एक स्नातक प्रशासनिक कानून पेशेवर एकीकृत पाठ्यक्रम है जिसमें छात्रों को बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन और लॉ का अध्ययन करवाया जाता हैं|
  4. BCA (bachelor of computer application)- अगर आपकी कंप्यूटर में रुचि है तो यह कोर्स आपके लिए उपयुक्त है| यह कोर्स कंप्यूटर साइंस में बीटेक/बीई  के बराबर माना जाता है इस कोर्स को करने के लिए आपका 12वीं में 45% अंक होने जरुरी हैं|
  5. Bachelor of management studies)-BMS बिजनेस मैनेजमेंट में करियर चलने के लिए एक बैचलर डिग्री है|BMS और BBA एमबीए में   मास्टर के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है|इस कोर्स को किसी भी स्ट्रीम के स्टूडेंट कर सकते हैं लेकिन कॉमर्स स्टूडेंट के लिए ये एक आसान कोर्स है|
  6. CS- कंपनी सचिव,सीए के बाद छात्रों के बीच सबसे प्रसिद्ध व  पसंदीदा कोर्सेज में से एक है। इस कोर्स को करने के बाद आपके सामने नौकरी की कई संभावनाएं होती है। 

Check Out : 10th Commerce ke Baad Career

Commerce Subjects in Hindi कॉमर्स में क्या-क्या सब्जेक्ट होते हैं?

नीचे आपको Commerce subjects in Hindi में commerce subjects के बारे में बताया जा रहा है, जो कि इस प्रकार है। वहीँ इन सभी सब्जेक्ट में से accountancy, business studies, economics विषय होते हैं| जानते हैं विस्तार से।

  • एकाउंटेंसी (accountancy)
  • बिजनेस स्टडीज (business studies)
  • अर्थशास्त्र (economics)
  • अंग्रेज़ी (English)
  • गणित (mathematics)
  • इंफॉर्मेटिक्स प्रैक्टिस (informatics practices)
  • एंटरप्रेन्योरशिप (entrepreneurship)
  • फिजिकल एजुकेशन (physical education)

Check Out : Commerce Students के लिए 15 Highest Salary Jobs

Commerce Subjects Class 11

कक्षा 11 के कॉमर्स विषय में दिए जाने वाले मुख्य विषय और ऑप्शनल सब्जेक्ट्स नीचे दिए गए जो आपको विषय चुनने में सहायता प्रदान करेंगें। 

मुख्य विषय

नीचे आपको main subjects के बारे में बताया जा रहा हैम जो कि इस प्रकार है। Commerce subjects in hindi में जानिए इनके बारे में।

  • लेखाकर्म (accountancy)
  • अर्थशास्त्र (economics)
  • बिजनेस स्टडीज (business studies
  • अंग्रेज़ी (English)

Optional विषय

नीचे आपको optional subjects के बारे में बताया जा रहा है, जो कि इस प्रकार है। Commerce subjects in Hindi में जानिए इनके बारे में।

  • गणित (maths)
  • सूचना विज्ञान अभ्यास (informatics practice)
  • कंप्यूटर विज्ञान (computer science)
  • गृह विज्ञान (home science)
  • शारीरिक शिक्षा (physical education)
  • मनोविज्ञान (psychology)
  • ललित कला (fine arts)
  • भाषा अध्ययन (Hindi, French, German)

Optional: ICSE class 11

  • बिजनेस स्टडीज (business studies)
  • कंप्यूटर की पढ़ाई (computer studies)
  • विधिक अध्ययन (legal Studies)
  • नागरिकशास्र (civics)
  • गणित (maths)

Optional subjects under West Bengal Board class 11

  • उद्यमिता (entrepreneurship) 
  • सूचना विज्ञान अभ्यास (informatics practices) 
  • बंगाल (Bengal)
  • वित्तीय बाजारों की नींव (foundations of financial markets)
  • म्युचुअल फंड (FMM विशेषज्ञता)

Optionals subjects under UP Board class 11

  • अर्थशास्त्र और वाणिज्यिक भूगोल (economics and commercial geography)
  • बैंकिंग (banking)
  • औद्योगिक (Industrial)संगठन 
  • गणित और प्रारंभिक सांख्यिकी (mathematics and elementary statistics)
  • बीमा पॉलिसी (insurance policy)
  • खेल और शारीरिक शिक्षा (sports and physical education)
  • लेखा और लेखा परीक्षा (accounts and audit)
  • मार्केटिंग और सेल्समैनशिप (marketing and salesmanship)

Optional subjects under Bihar Board class 11

  • सूचना विज्ञान (Informatics) 
  • उद्यमिता (entrepreneurship) 
  • विधिक अध्ययन (legal studies) 
  • व्यावहारिक गणित (applied mathematics)

Class 11 Commerce Books

निम्नलिखित आपको Commerce subjects in Hindi में class 11 commerce books के बारे में बताया जा रहा है, जहाँ से आप इन्हें खरीद भी सकते हैं।

कॉमर्स सब्जेक्ट 12th

नीचे आपको commerce subjects के बारे में बताया जा रहा है, जो कि इस प्रकार है। Commerce subjects in Hindi में जानिए इनके बारे में।

कक्षा 12 में वाणिज्य विषयों की सूची प्रकार
लेखाकर्म (Accountancy)  अनिवार्य
बिजनेस स्टडीज (business studies) अनिवार्य
अंग्रेज़ी (English) अनिवार्य
अर्थशास्त्र (economics) अनिवार्य
गणित (maths) ऐच्छिक
सूचना विज्ञान अभ्यास (informatics practice) ऐच्छिक
मनोविज्ञान (psychology) ऐच्छिक
शारीरिक शिक्षा (physical education) ऐच्छिक

B Com Subjects list

नीचे आपको BCom subjects list के बारे में बताया जा रहा है, जो कि इस प्रकार है। Commerce subjects in Hindi में जानिए इनके बारे में।

Semester I

  • English and Business Communication
  • Business Economics-I
  • Commercial Laws
  • Interdisciplinary Psychology for Managers
  • Principles of Financial Accounting
  • Principles and Practices of Management

Semester II

  • English and Business Communication
  • Interdisciplinary e-Commerce
  • Business Economics – II
  • Corporate Accounting
  • Business Laws

Semester III

  • Interdisciplinary Issues in Indian Commerce
  • Cost Accounting
  • Company Law
  • Business Mathematics and Statistics
  • Banking and Insurance
  • Indirect Tax Laws

Semester IV

  • Interdisciplinary Security Analysis and Portfolio Management
  • Interdisciplinary Security Analysis and Portfolio Management
  • Interdisciplinary Security Analysis and Portfolio Management
  • Cost Management
  • Marketing Management
  • Quantitative Techniques and Methods

Semester V

  • Income Tax Law
  • Management Accounting
  • Indian Economy
  • Production and Operation Management
  • Entrepreneurship and Small Business
  • Financial Markets and Services

Semester VI

  • Direct Tax Laws
  • Financial Management
  • Issues in Financial Reporting
  • Social and Business Ethics
  • Operational Research
  • Sectoral Aspects of Indian Economy

Commerce के बाद Jobs

नीचे आपको commerce के बाद jobs के बारे में बताया जा रहा है, जो कि इस प्रकार है। Commerce subjects in Hindi में जानिए इनके बारे में।

  1. Chartered Accountant (CA)
  2. Marketing Manager
  3. Investment Banker
  4. Human Resource Manager
  5. Chartered Financial Analyst (CFA)
  6. Certified Public Accountant (CPA)
  7. Actuary
  8. Cost Accountant
  9. Business Accountant and Taxation
  10. Retail Manager
  11. Company Secretary
  12. Personal Financial Advisor
  13. Research Analyst
  14. Entrepreneur
  15. Chief Executive Officer (CEO)

 Commerce Subjects in Hindi करियर इन कॉमर्स

 क्या आपने भी यह सुना है कि कॉमर्स में कुछ लिमिटेड कॅरिअर विकल्प होते है लेकिन यह सच नहीं है,कॉमर्स में कई सारी जॉब आपशन के साथ अच्छा सैलरी पैकेज होता है।कॉमर्स लेने के बाद आप chartered accountancy, company secretary, business management, cost accountancy आदि पदों पर कार्यरत हो सकते है|

  1. BCom (accounting & finance)- यह 3 साल का डिग्री प्रोग्राम है जिसमें एकाउंट्स और फाइनेंस में करियर बनाने के कई अवसर मिलते है,इसमें बैंकिंग, अकाउंट, फाइनेंस,टैक्सेशन के 35 से ज्यादा विषय पढाये जाते हैं। इसे करने के बाद आप चाहे तो किसी कंपनी में बतौर ट्रेनी अकाउंटेंट भी काम कर सकते हैं। 
  2. BCom (financial market)- यह 3 वर्ष का डिग्री प्रोग्राम जिसमें आपको फाइनेंस,इंवेस्टमेंट,स्टॉक मार्केट, कैपिटल,mutual फंड्स के बारे में जानकारी दी जाती है, इस डिग्री प्रोग्राम को करने के बाद आप ट्रेनी एसोसिएट,  फाइनेंस ऑफिसर,फाइनेंस कंट्रोलर,फाइनेंस प्लानर, मनी मार्केट डीलर,इन्शुरन्स रिस्क मैनेजमेंट जॉब्स कर सकते है।
  3. BCom (banking & insurance)- यह एक प्रोफेशनल और ऐकेडेमिक 3 वर्ष का डिग्री प्रोग्राम होता है, इस कोर्स को करने के बाद कई सारे जॉब ऑफर बाजार में मौजूद होते हैं इस डिग्री प्रोग्राम में बैंकिंग और इंश्योरेंस के साथ-साथ अकाउंटिंग,इंश्योरेंस रिस्क कवर जैसे विषयों की जानकारी दी जाती है इस डिग्री को करने के बाद आप एमबीए,एम.कॉम जैसी हायर एजुकेशन कोर्सेज कर सकते हैं जिनका पैकेज लाखों में होता है। 
  4. Cost and work accountant- यह सीए से मिलता-जुलता कोर्स है जिसे द Institute of Cost and Works Accountants of India द्वारा कराया जाता है। इस कोर्स को करने के बाद छात्रों को कॉस्ट अकाउंटेंट और इससे जुड़े कई पदों पर काम करने का मौका मिलता है।  अगर आप सरकारी नौकरी करना चाहते हैं तो आपको Institute of Cost and Works Accountants of India में आवेदन करना होगा,जिसकी प्रवेश परीक्षा हर साल जून और दिसंबर में होती है।

FAQs

कॉमर्स में कितने विषय होते हैं?

कॉमर्स में  8 सब्जेक्ट होते हैं । 

कॉमर्स में कौन से कौन से सब्जेक्ट होते हैं?

एकाउंटेंसी (Accountancy)
बिजनेस स्टडीज (Business Studies)
अर्थशास्त्र (इकोनॉमिक्स)
अंग्रेज़ी (English)
गणित (Mathematics)
इंफॉर्मेटिक्स प्रैक्टिस (Informatics Practices)
एंटरप्रेन्योरशिप (Entrepreneurship)
फिजिकल एजुकेशन (Physical Education)

कॉमर्स को हिंदी में क्या बोलते हैं?

वाणिज्य

कॉमर्स पढ़ने से क्या बनते हैं?

चार्टर्ड एकाउंटेंसी (सीए) 
कंपनी सचिव (सीएस) 
बीकॉम इन अकाउंटिंग एंड कॉमर्स
बीबीए एलएलबी (BBA LLB) 
बीसीए (आईटी एंड सॉफ्टवेयर) 
बीबीए / बीएमएस

बैंकिंग के लिए 12 वीं कॉमर्स के बाद क्या करना है?

ग्रेजुएशन के बाद आप banking में post graduate मे डिप्लोमा कर सकते है और इसके अलावा आप MBA फाइनेंस एंड बैंकिंग या top MBA कॉलेज से बैंकिंग में MBA कर सकते हैं। इसके अलावा प्रोफेशनल कोर्स भी होते है जो आप कर सकते हो जो है- CA, CM, CS, LLB इसे करने के बाद भी आप बैंकिंग लाइन में जा सकते हैं। 

आज के हमारे इस ब्लॉग में हमने देखा कि कॉमर्स सब्जेक्ट इन हिंदी क्या होती है? कॉमर्स करने के बाद का ऑप्शन क्या है? उम्मीद है आपको हमारा यह ब्लॉग Commerce Subjects in Hindi पसंद आया होगा इसी तरह की और जानकारी के लिए हमारी साइट Leverage Edu पर बने रहे। 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.

+91
Talk to an expert for FREE

You May Also Like

Highest Salary Jobs for Commerce Students
Read More

Commerce Students के लिए 15 Highest Salary Jobs

शानदार सैलरी पैकेज किसी भी स्टूडेंट का सपना होता है। किसी भी स्टूडेंट  के लिए जॉब सेटिस्फेक्शन के…
CA IPCC
Read More

CA IPCC

चार्टेड अकाउंटेंट (सीए) कैसे बने? इस प्रश्न का जवाब देना थोड़ा मुश्किल हो जाता है, क्योंकि अपने नाम…
10th Commerce ke Baad Career
Read More

10th Commerce ke Baad Career

10th Commerce ke Baad Career को एक नई राह देना कौन नहीं चाहेगा। कॉमर्स लेने वाला हर छात्र…