बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में कैसे बनाएं करियर?

1 minute read
1.3K views
बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन

आप एक छोटे बिजनेस या फिर एक बड़े कॉर्पोरेशन के लिए काम करना चाहते हैं, बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में डिग्री ऐसे कई जॉब प्रोफाइल को पूरा करने के लिए जरूरी है। कामकाज के मामले में बिजनेस अधिक विस्तृत हो गए हैं और रिक्रूटर्स ऐसे उम्मीदवारों की तलाश करते हैं जो किसी बिजनेस को कुशलता से मैनेज करने के लिए ट्रेंड हों। बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में विभिन्न डिग्री को प्राप्त करने के बाद किसी भी बिजनेस को सरलता से सफलता की ओर ले जाया जा सकता है। जिस व्यक्ति के पास यह डिग्रियां होती हैं उन्हें नौकरी प्राप्त करने में आसानी होती है। आइए बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन क्या है इसके बारे में विस्तार से जानते हैं।

This Blog Includes:
  1. बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन क्या है?
  2. बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन को क्यों चुनें?
  3. बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन के लिए ज़रूरी स्किल्स
  4. बिजनेस एडमिनिस्ट्रेटर के कार्य
  5. बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन के कोर्सेज 
    1. बैचलर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन
    2. मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन
  6. बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन विषय
  7. बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन कोर्स फीस स्ट्रक्चर
  8. बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन के लिए विदेशी यूनिवर्सिटी
  9. बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन के लिए भारतीय यूनिवर्सिटी
  10. बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन और बिज़नेस मैनेजमेंट में अंतर
  11. बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन के लिए योग्यता
  12. बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन के लिए आवेदन प्रक्रिया
  13. आवश्यक दस्तावेज़
  14. प्रवेश परीक्षाएं 
  15. करियर और स्कोप
  16. बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन के टॉप रिक्रूटर्स
  17. सैलरी
  18. FAQs

बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन क्या है?

बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन बिजनेस मैनेजमेंट के विभिन्न क्षेत्रों से संबंधित है। मार्केटिंग, शिक्षा, फाइनेंस, सेल्स और सरकारी नौकरी पाने के लिए उम्मीदवार इस कोर्स को करते हैं। बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन अपने विभाग या संगठन के लक्ष्यों, नीतियों और प्रक्रियाओं को पूरा करता है। प्रोडक्ट बनाने और सेवाएं प्रदान करने का भी उनके द्वारा ध्यान रखा जाता है। बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन कोर्स में छात्रों को बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन के सिद्धांत सिखाए जाते हैं। बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में शीर्ष नौकरी की स्थिति होने की संभावना होती है, जैसे CEO, CFO या जनरल मैनेजर। यह डिग्री बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन और मैनेजेरियल फंक्शन को प्रभावी ढंग से चलाने के लिए जरूरी स्किल्स सिखाती है।

बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन को क्यों चुनें?

बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन को क्यों चुनें इसके कारण नीचे दिए गए हैं:

  • अगर आप अपने जीवन में सफलता की ऊंचाईयां छूना चाहते हैं तो आपको बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन का कोर्स करना चाहिए। 
  • बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन ऐसा फील्ड है जिसमें किसी बिजनेस को चलाने के लिए ऑपरेशंस, मैनेजमेंट और उससे संबंधित क्षेत्र के हर पहलू के बारे में बताया जाता है।
  • किसी कंपनी में अच्छी जॉब प्राप्त करने के लिए या अपना स्टार्टअप करने के लिए बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन का कोर्स एक अच्छा विकल्प है।
  • इस कोर्स के बाद आपके लिए कॉर्पोरेट जगत में जॉब के रास्‍ते खुल जाते हैं।
  • बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन के अंतर्गत ही बीबीए और एमबीए जैसे आकर्षक प्रोफेशनल कोर्सेज किये जाते हैं और इन कोर्सेज के जरिये विभिन्न तरह के जॉब के ऑप्शन मिलते हैं।
  • बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन कोर्स का उद्देश्य फाइनेंस, मार्केटिंग, ह्यूमन रिसोर्स और लॉजिस्टिक डिपार्टमेंट को चलाने के लिए जरूरी स्किल्स और समझ विकसित करना है। 

आप Leverage Finance की मदद से विदेश में पढ़ाई करने के लिए अपने कोर्स और विश्वविद्यालय के अनुसार फाइनेंशियल हेल्प भी पा सकते हैं। Leverage Finance के साथ आप हमारे लोन स्पेशलिस्ट से बात कर बेस्ट इंट्रस्ट रेट पर लोन प्राप्त कर सकेंगे। 

बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन के लिए ज़रूरी स्किल्स

बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन के क्षेत्र में कुछ ज़रूरी स्किल्स होनी चाहिए। ये स्किल्स व्यक्ति को बिजनेस में होने वाली गतिविधियों पर पकड़ बनाने में मदद करता है।

  • फाइनेंस मैनेजमेंट: छात्रों को अपने फाइनेंस को मैनेज करने में सक्षम होना चाहिए। फाइनेंस को मैनेज करने से उन्हें बिना नुकसान के व्यवसाय चलाने और अपने निवेश की रक्षा करने में मदद मिलेगी। फाइनेंस मैनेजमेंट स्किल के साथ पैसे का आना जाना और बिक्री की भविष्यवाणी की जा सकती है।
  • कम्युनिकेशन और नेगोसिएशन: बिजनेस एडमिनिस्ट्रेटर को कीमतें निर्धारित करते समय संवाद करना और बातचीत करना होता है। उन्हें कई चीजों के लिए निवेशकों, ग्राहकों और कर्मचारियों से संवाद भी करना पड़ता है। बिज़नेस संबंध बनाने के लिए लिखित और मौखिक नेगोशिएशन स्किल्स अच्छा होना चाहिए। बातचीत करने की कला से अधिकांश कार्य आसान हो जाता है जो आप करना चाहते हैं।
  • लीडरशिप: लीडरशिप स्किल की बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में एक प्रमुख भूमिका है। एक टीम का नेतृत्व करने और अपने सहयोगियों को प्रेरित करने के लिए, सफलता प्राप्त करने के लिए, नेतृत्व आवश्यक है। अपने अधीन लोगों को प्रशिक्षित करना एक लीडर की जिम्मेदारी है।
  • प्रोजेक्ट मैनेजमेंट और प्लानिंग: कई नीतियों को ध्यान में रखते हुए परियोजनाओं पर काम करना होता है। समय और कई अन्य संसाधनों का प्रभावी ढंग से प्रबंधन करना होगा। नई रणनीतियों की योजना बनाना और विकसित करना व्यक्ति को उसके लक्ष्य की ओर ले जाएगा।

बिजनेस एडमिनिस्ट्रेटर के कार्य

एक बिजनेस एडमिनिस्ट्रेटर एक संगठन के दैनिक कार्यों की अध्यक्षता करता है जो दूसरों को सामान या सेवाएं प्रदान करने के लिए बनाया गया है। एक बिजनेस एडमिनिस्ट्रेटर, किसी बिजनेस के मैनेजमेंट के कार्यों की देख रेख करने के लिए जिम्मेदार होता है। एक बिजनेस एडमिनिस्ट्रेटर एक छोटे व्यवसाय, गैर-लाभकारी संगठन, सरकारी एजेंसी या एक शैक्षणिक संस्थान सहित विभिन्न सेटिंग्स में काम कर सकता है। एक बिजनेस एडमिनिस्ट्रेटर के प्रबंधकीय कार्यों में व्यवसाय के संचालन की योजना बनाना, नियंत्रण करना, व्यवस्थित करना, स्टाफ करना और निर्देशन करना शामिल होगा। यह सुनिश्चित करना कि व्यवसाय अपने वित्तीय लक्ष्यों तक पहुँचता है, बिजनेस एडमिनिस्ट्रेटर का एक प्रमुख कार्य है।

बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन के कोर्सेज 

बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में पेश किए जाने वाले कोर्स की जानकारी नीचे दी गई है:

बैचलर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन

अंडरग्रेजुएशन की डिग्री 3 साल की होती है जो छह सेमेस्टर में बांटी जाती है। बीबीए में विशेषज्ञता का चयन करने और बीबीए के बाद नौकरियों का चयन करने के लिए बहुत सारे विकल्प हैं। संदर्भ के लिए बीबीए के अंतर्गत में कुछ विषय दिए गए हैं-

  • प्रिंसिपल ऑफ मैनेजमेंट 
  • बिजनेस इकोनामी 
  • बिजनेस लॉ 
  • बिजनेस एनालिटिक्स
  • बिजनेस डाटा प्रोसेसिंग 
  • एंटरप्रेन्योरशिप 
  • कंप्यूटर एप्लीकेशन 
  • सिक्योरिटी एनालिसिस
  • लीडरशिप एंड एथिक्स
  • डिप्लोमा इन बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन
  • बीकॉम इन बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन

मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन

बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में पोस्टग्रेजुएशन दो साल के लिए ऑर्गेनाइजेशनल बिहेवियर, मार्केटिंग और मैनेजमेंट प्रिंसिपल से संबंधित विषयों से जुड़ा हुआ है। एमबीए के कुछ विषयों के बारे में नीचे बताया गया है-

  • कॉन्पिटेटिव मेथड 
  • फाइनेंशियल अकाउंटिंग 
  • इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी मैनेजमेंट 
  • ऑपरेशन मैनेजमेंट
  • इलेक्ट्रिक कोर्स 
  • स्ट्रैटेजिक मैनेजमेंट

आप AI Course Finder की मदद से अपनी प्रोफाइल के अनुसार सही यूनिवर्सिटी और अपनी पसंद का कोर्स चुन सकते हैं।

बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन विषय

बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में पढ़ाये जाने वाले विषयों की सूची नीचे दी गई है:

  • प्रिंसिपल्स ऑफ़ मैनेजमेंट 
  • बिज़नेस मैथमेटिक्स एंड स्टैटिस्टिक्स
  • इंट्रोडक्शन टू ऑपरेशन्स रिसर्च 
  • बिज़नेस इकोनॉमिक्स 
  • फाइनेंसियल एंड मैनेजमेंट एकाउंटिंग 
  • प्रोडक्शन एंड मैटेरियल्स मैनेजमेंट 
  • पर्सनेल मैनेजमेंट एंड इंडस्ट्रियल रिलेशन्स 
  • मार्केटिंग मैनेजमेंट 
  • बिज़नेस डाटा प्रोसेसिंग 
  • बिज़नेस लॉ 

बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन कोर्स फीस स्ट्रक्चर

बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन कोर्स का फीस स्ट्रक्चर कुछ इस प्रकार है :-

कोर्सेज यूनिवर्सिटीज सालाना शुल्क( कोर्स शुल्क/INR )
अंडरग्रेजुएशन -प्राइवेट कॉलेज
-सरकारी कॉलेज
7.14 हजार- 21.65 लाख
2.43 हजार- 1.29 लाख
पोस्टग्रेजुएशन -प्राइवेट कॉलेज
-सरकारी कॉलेज
9.24 हजार- 13 लाख
8.80 हजार- 13 लाख
डॉक्टरेट  -प्राइवेट कॉलेज
-सरकारी कॉलेज
30 हजार- 8.70 लाख
10 हजार- 2.02 लाख
डिप्लोमा -प्राइवेट कॉलेज
-सरकारी कॉलेज
35 हजार- 3.15 लाख
14.33 हजार- 20 हजार 

बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन के लिए विदेशी यूनिवर्सिटी

बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन के लिए फॉरेन यूनिवर्सिटीज के नाम इस प्रकार हैं:

आप UniConnect के जरिए विश्व के पहले और सबसे बड़े ऑनलाइन विश्वविद्यालय मेले का हिस्सा बनने का मौका पा सकते हैं, जहाँ आप अपनी पसंद के विश्वविद्यालय के प्रतिनिधि से सीधा संपर्क कर सकेंगे।

बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन के लिए भारतीय यूनिवर्सिटी

बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन के लिए भारतीय यूनिवर्सिटीज के नाम इस प्रकार हैं:

  • एमिटी ग्लोबल बिजनेस स्कूल
  • वोक्ससेन स्कूल ऑफ बिजनेस
  • गुरु गोबिंद सिंह इन्द्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी  
  • क्राइस्ट यूनिवर्सिटी
  • भारती विद्यापीठ डीम्ड यूनिवर्सिटी
  • प्रेस्टीज इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट एंड रिसर्च
  • मणिपाल अकैडमी आफ हायर एजुकेशन
  • आइए.बी.एम.आर बिजनेस स्कूल
  • इंस्टिट्यूट ऑफ़ बिज़नस मैनेजमेंट जी.एल.ए यूनिवर्सिटी

बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन और बिज़नेस मैनेजमेंट में अंतर

बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन बिज़नेस स्ट्रेटेजी और संचालन पर केंद्रित है, जबकि बिज़नेस मैनेजमेंट, बिज़नेस के मानवीय और संगठनात्मक तत्वों के आसपास केंद्रित है। बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन अक्सर बिज़नेस मैनेजमेंट की तुलना में अधिक तकनीकी और विशिष्ट होता है, जो सामान्य मैनेजमेंट और संचार कौशल को प्राथमिकता देता है। दोनों डिग्री व्यवसाय में मुख्य योग्यता क्षेत्रों को कवर करती हैं जिनमें शामिल हैं:

  • फाइनेंस
  • मार्केटिंग
  • एथिक्स ऑफ़ बिज़नेस

बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन के लिए योग्यता

बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन के लिए योग्यता नीचे दी गई है-

बैचलर्स के लिए

  • उम्मीदवारों को कक्षा 12वीं में कम से कम 50% से 60% अंक प्राप्त करना चाहिए। पास पर्सेंटाइल हर कॉलेजों में अलग होती है।
  • सामान्य उम्मीदवारों के लिए आयु सीमा 22 वर्ष और आरक्षित वर्ग के लिए 24 वर्ष है।
  • उम्मीदवारों को शॉर्टलिस्ट करने के लिए विश्वविद्यालय अपनी प्रवेश परीक्षा आयोजित करते हैं।
  • परिणाम घोषित होने के बाद, आयोजकों द्वारा एक कट ऑफ सूची और रैंक तैयार की जाती है। परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले काउंसलिंग प्रक्रिया के लिए उपस्थित होते हैं, जिसमें रैंक के आधार पर उम्मीदवारों को कॉलेज आवंटित किए जाते हैं।
  • विदेश में पढ़ने के लिए इंग्लिश लैंग्वेज टेस्ट जैसे IELTS,TOEFL, PTE के अंक अनिवार्य हैं।
  • GRE, SAT, ACT अंक भी ज़रूरी हैं।

मास्टर्स के लिए

  • उम्मीदवारों के पास किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी विषय में बैचलर्स डिग्री या समकक्ष होना चाहिए। स्नातक की डिग्री के लिए न्यूनतम 50% अंक आवश्यक हैं।
  • आवेदकों को कुछ प्रवेश परीक्षाएं पास करनी होती है, जैसे CAT, MAT, CAMT . प्रवेश परीक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर छात्रों को कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में प्रवेश दिया जाता है।
  • छात्र किसी भी कॉलेज में सीधे प्रवेश ले सकते हैं।
  • विदेश में पढ़ने के लिए इंग्लिश लैंग्वेज टेस्ट जैसे IELTS,TOEFL, PTE के अंक अनिवार्य हैं।
  • GRE/GMAT अंक भी ज़रूरी हैं।

बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन के लिए आवेदन प्रक्रिया

बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन कोर्स के लिए आवेदन प्रक्रिया नीचे दी गई है-

  • बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन कोर्स के लिए आवेदन करने से पहले विद्यार्थी को याद जान लेना चाहिए कि वह इस उसको करने के योग्य है या नहीं।
  • अपने एलिजिबिलिटी को चेक करने के बाद विद्यार्थी इस कोर्स के लिए आवेदन कर सकते हैं
  • आवेदन करने के लिए विद्यार्थी के पास प्रवेश परीक्षा के अच्छे अंक होने चाहिए जिसके आधार पर वह अपने लिए कॉलेज का चुनाव करें।
  • कॉलेज का चुनाव करने के बाद उस कौलेज के आवेदन पत्र में दिए गए सारे महत्वपूर्ण तथ्य को भर पर जमा करें।
  • कुछ विश्वविद्यालय प्रवेश के अंक पर ही आवेदन स्वीकार कर लेते हैं परंतु कुछ विश्वविद्यालयों में अलग से साक्षात्कार होता है जिसके बाद विद्यार्थी का चयन किया जाता है।

यूके के लिए आवेदन प्रक्रिया

  • यूके में बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन की पढ़ाई करने वाले छात्र को UCAS के जरिए आवेदन करना होता है। जिसके लिए उन्हें पहले खुद को रजिस्टर कराना होता है। इसके लिए आप हमारे Leverage Edu विशेषज्ञों की मदद लें सकते है।
  • खुद को रजिस्टर कराने के बाद उन्हें यूजर नेम और पासवर्ड मिलता है।
  • इसके बाद आवेदक को अपने पसंद के प्रोग्राम का चुनाव करना होता है।
  • प्रोग्राम के चुनाव के बाद आवेदक आवेदन फॉर में दिए गए हर महत्वपूर्ण जानकारी को भर सकते हैं।
  • पूरा फॉर्म भरने के बाद उसे जमा करना होता है। आवेदक UCAS ट्रैक्टर के जरिए अपने आवेदन के प्रोसेस को ट्रैक कर सकता है।
  • अगर आवेदक सेलेक्ट हो जाए तो उसे इससे संबंधित मेल प्राप्त होता है। 
  • कुछ यूनिवर्सिटीज पीजी और डिप्लोमा कोर्स के लिए सीधे आवेदन स्वीकार करते है।

आवश्यक दस्तावेज़

विदेश में आवेदन करते समय आवेदकों को आवेदन और आवेदन शुल्क के भुगतान के साथ इलेक्ट्रॉनिक रूप से नीचे मौजूद दस्तावेज़ जमा करने होंगे:

  • ग्रेड और स्कोर के साथ सभी अकादमिक रिकॉर्ड।
  • माध्यमिक शिक्षा के पूरा होने का आधिकारिक रूप से प्रमाणित सर्टिफिकेट।
  • इंग्लिश लैंग्वेज प्रोफिशिएंसी का प्रमाण।
  • जन्म प्रमाण पत्र, नागरिकता दस्तावेज या पासपोर्ट सहित आधिकारिक आईडी, जो कॉलेज में प्रवेश स्वीकृत होने की स्थिति में जमा करना अनिवार्य होगा।
  • फाइनेंशीयल एफिडेविट यह सुझाव देता है कि आप विदेश में अपनी पढ़ाई का खर्च उठा सकते हैं।
  • अनुभव वाले आवेदकों को अपना बायोडाटा और रोजगार का अपना वर्तमान विवरण प्रस्तुत करना चाहिए।
  • स्टेटमेंट ऑफ़ परपज़ (SOP)
  • इंग्लिश एस्से
  • लेटर ऑफ़ रिकमेन्डेशन (LOR)
  • सीवी/रिज्यूमे

हम आपकी आकर्षक SOP और LOR बनाने में भी मदद करते हैं, ताकि आपकी एप्लीकेशन बिना किसी परेशानी के जल्दी सेलेक्ट कर ली जाये।

प्रवेश परीक्षाएं 

प्रवेश परीक्षाओं की एक सूची नीचे मेंशन की गई है :-

  • SET – Symbiosis Entrance Test स्नातक डिग्री कार्यक्रमों में प्रवेश देने के लिए आयोजित एक प्रवेश परीक्षा है। SET में उपस्थित होने के लिए न्यूनतम योग्यता 12वीं में 50% अंक (SC/ST छात्रों के लिए 45%) है। परीक्षा 150 मिनट की होती है और ऑनलाइन आयोजित की जाती है। जो उम्मीदवार क्लियर करते हैं उन्हें बीबीए जैसे बैचलर्स बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन की डिग्री में प्रवेश मिलता है।
  • CAT – Common Admission Test विभिन्न मास्टर्स डिग्री में प्रवेश के लिए एक राष्ट्रीय स्तर की प्रवेश परीक्षा है। CAT साल में केवल एक बार आयोजित की जाती है।
  • SNAP – Symbiosis National Aptitude Test छात्रों के लिए मास्टर्स डिग्री में प्रवेश पाने के लिए आयोजित किया जाता है। ये सामान्य अंग्रेजी, पढ़ने की समझ, मौखिक तर्क और क्वांटिटेटिव एटीट्यूड पर प्रश्नों के साथ 2 घंटे की परीक्षा है। 
  • XAT – Xavier Aptitude Test ऑनलाइन होता है, जिसमें 100 प्रश्न होते हैं। अन्य परीक्षाओं की तुलना में, XAT अधिक कठिन है, लेकिन इसे अतिरिक्त समय और प्रयास से पास किया जा सकता है।
  • MAT – Management Aptitude Test पूरे भारत में MBA प्रवेश के लिए आयोजित किया जाता है। MAT स्कोर लगभग 600 भारतीय MBA कॉलेजों द्वारा स्वीकार किया जाता है।

करियर और स्कोप

बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन एनालिटिकल और कम्प्यूटेशनल दिमाग वाले छात्रों के लिए उपयुक्त है। उन्हें वित्तीय, आर्थिक और मानव संसाधन अवधारणाओं को समझने के लिए पर्याप्त बुद्धिमान होना चाहिए। बिजनेस मैनेजमेंट में जो लोग करियर शुरू करना चाहते हैं, वे बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन को आगे बढ़ा सकते हैं। बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन को भविष्य की डिग्री के रूप में माना जाता है। यह एक लोकप्रिय प्रोफेशनल डिग्री है जो 12वीं के ठीक बाद की जा सकती है। सार्वजनिक और निजी क्षेत्र के बैंक व्यवसाय प्रशासन ग्रेजुएट्स को नियुक्त करते हैं। वित्तीय विश्लेषक और प्रबंधन प्रशिक्षकों जैसे कई और प्रोफाइल उपलब्ध हैं।  बिजनेस मैनेजमेंट ग्रेजुएट्स के लिये कुछ लोकप्रिय जॉब प्रोफाइल्स नीचे दी गई हैं:

  • मैनेजिंग डायरेक्टर
  • वाईस प्रेजिडेंट
  • एग्जीक्यूटिव ऑफिसर (सीईओ)
  • सीनियर मार्केटिंग मैनेजर
  • कंट्री मैनेजर
  • डिप्टी जनरल मैनेजर
  • ह्युमन रिसोर्स मैनेजर
  • मार्केटिंग मैनेजर
  • बिजनेस मैनेजर
  • बिजनेस कंसल्टेंट
  • बिजनेस एनालिस्ट
  • जनरल मैनेजर
  • मैनेजमेंट अकाउंटेंट
  • एकाउंट्स हेड
  • ऑफिस कोऑर्डिनेटर

बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन के टॉप रिक्रूटर्स

टॉप रिक्रूटर्स के नाम इस प्रकार हैं:

  • Amazon
  • Tata Consultancy Services Ltd
  • Infosys Limited
  • Flipkart
  • Sapient Corporation
  • snapdeal.com
  • Apple
  • PayPal inc
  • Wipro Technologies Ltd
  • Cognizant
  • Reliance Communications

सैलरी

यूके में बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन करने के बाद सालाना एवरेज सैलरी GBP 29,413 (INR 29.41 लाख) होती है, वहीं अमेरिका में USD 45,839 (INR 34.37 लाख) होती है। बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन करने के बाद नीचे मिलने वाली जॉब प्रोफाइल्स और सैलरी नीचे दी गई है-

जॉब  सैलेरी (INR/सालाना)
बिजनेस एडमिनिस्ट्रेटर  7 -10 लाख
अकाउंटेंट 6-8 लाख
अकाउंटिंग हेड  7-9 लाख
मैनेजमेंट कंसलटेंट 6-8 लाख
कंसलटेंट  1-3 लाख
बिजनेस एनालिस्ट 3-5 लाख
फाइनेंस मैनेजर 3-5 लाख

FAQs

बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन और बिजनेस मैनेजमेंट में क्या अंतर है?

बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में एक डिग्री व्यवसाय के आधिकारिक पहलुओं पर ध्यान केंद्रित करती है, जबकि बिजनेस मैनेजमेंट में व्यापक क्षेत्र होते हैं और इसमें प्रबंधन कार्य भी शामिल होते हैं। बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन एक अच्छी तरह से स्थापित करियर हासिल करने में मदद करता है।

बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में करियर कैसे शुरू करें?

बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन की डिग्री पूरी होने के बाद, करियर स्थापित करने के लिए छात्र इंटर्नशिप में काम कर सकते हैं। परफॉर्मेंस में अच्छे प्रदर्शन के साथ एक सफल इंटर्नशिप उत्कृष्ट प्रवेश स्तर के करियर को प्राप्त करने में मदद कर सकती है।

क्या बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन लेखांकन से बेहतर है?

अकाउंटिंग डिग्रियां अकाउंटेंट जॉब्स के साथ अधिक निकटता से काम करती हैं। बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन डिग्री प्रोग्राम छात्रों को अंतिम प्रबंधन भूमिकाओं के लिए तैयार कर सकते हैं, लेकिन नेतृत्व के अवसर हासिल करने के लिए उन्हें बहुत अधिक अनुभव या स्नातकोत्तर अध्ययन की आवश्यकता होती है।

आशा करते हैं कि आपको बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन से जुड़ी जानकारी मिल गई होगी। यदि आप विदेश से बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन कोर्स करना चाहते हैं तो हमारे Leverage Edu एक्सपर्ट्स से 1800 572 000 पर कॉल कर आज ही 30 मिनट का फ्री सेशन बुक कीजिए।

प्रातिक्रिया दे

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today. Masters Programs
Talk to an expert