BA के बाद क्या करें?

2 minute read
12.0K views
BA ke baad kya kare

क्या आपने भी बीए की पढ़ाई की है और आप समझ नहीं पा रहे हैं कि इसके आगे क्या करें? आगे कौन-सी पढाई करें जिससे आपको बेहतरीन भविष्य मिले सके, तो आज के हमारे इस ब्लॉग में हम जानेंगे की बीए करने के बाद क्या कर सकते हैं, किस फील्ड में अपनी करियर बना सकते हैं। आईये देखते हैं कि बीए के बाद आप क्या-क्या कर सकते हैं।

This Blog Includes:
  1. B.A. कोर्स क्या है?
  2. B.A. क्यों करें?
  3. B.A. के बाद कौन कौन से कोर्स कर सकते है?
  4. B.A. करने के बाद करियर ऑप्शन क्या-क्या होते हैं?
  5. B.A. करने के बाद प्रोफेशनल कोर्सेज
  6. B.A. करने के फायदे 
  7. B.A. के बाद सरकारी नौकरी
  8. B.A. के बाद MCA कर सकते हैं
  9. B.A. करने के बाद डिप्लोमा कोर्सेज
    1. डिप्लोमा इन कंप्यूटर साइंस
    2. बिजनेस मैनेजमेंट में डिप्लोमा
    3. होटल प्रबंधन
    4. एनीमेशन और मल्टीमीडिया
    5. इंटीरियर डिजाइनिंग
    6. डिप्लोमा इन फायर एंड सेफ्टी टेक्नोलॉजी
  10. B.A. करने के बाद कौन सी जॉब मिलेगी
  11. B.A. करने के बाद नौकरी के विकल्प
  12. टॉप विदेशी विश्वविद्यालय
  13. टॉप भारतीय विश्वविद्यालय 
  14. योग्यता
  15. आवेदन प्रक्रिया 
  16. आवश्यक दस्तावेज 
  17. जॉब प्रोफाइल्स व सैलरी
  18. FAQ

B.A. कोर्स क्या है?

B.A. का मतलब बैचलर ऑफ आर्ट्स है जो एक अंडरग्रेजुएट कोर्स है जो कला की शाखाओं की खोज करता है। प्रमुख विशेषज्ञताओं में इतिहास, संगीत, राजनीति विज्ञान, भाषाएं, पुरातत्व, मनोविज्ञान, समाजशास्त्र आदि शामिल हैं। कोर्स को पूर्णकालिक, या ऑनलाइन मोड के माध्यम से आगे बढ़ाया जा सकता है जो 3 साल की अवधि तक चलता है।

B.A. क्यों करें?

B.A. की डिग्री हासिल करने के कई मूल्यवान कारण और लाभ हैं, जिनमें से कुछ प्रमुख लाभ इस प्रकार हैं-

  • B.A. प्रोग्राम से ग्रेजुएट्स के पास करियर के कई सारे अवसर हैं। बीए कोर्सेज छात्रों के रचनात्मक सोच, समस्या समाधान और संचार कौशल में सुधार करते हैं।
  • B.A. कोर्स में छात्र इतिहास, भाषा, साहित्य, दर्शन, अन्य मानविकी क्षेत्रों, संचार, नृविज्ञान, भूगोल, सामाजिक विज्ञान और भाषा विज्ञान सहित कई विषयों से अध्ययन के अपने क्षेत्र चुन सकते है। उन क्षेत्रों में कई विशेषज्ञताएं हैं जो अधिक विशिष्ट करियर बनाने में मदद करती है।
  • अध्ययन के क्षेत्र की गहरी समझ के साथ-साथ विभिन्न प्रकार के विकसित कौशल-सेटों के कारण, बीए करने से करियर की संभावनाओं में काफी सुधार हो सकता है। 
  • नियोक्ता अच्छी तरह से संवाद करने, कार्यस्थल में चुनौतियों का सामना करने, लचीले बने रहने और कई प्रश्नों के बारे में गंभीर रूप से सोचने की क्षमता के लिए बीए ग्रेजुएट्स की तलाश करते हैं।

B.A. के बाद कौन कौन से कोर्स कर सकते है?

क्या आपने अपनी B.A. की पढ़ाई पूरी कर ली है और आपको समझ नहीं आ रहा है कि अब आप कौन सा कोर्स चुनें, तो हम आपको इस ब्लॉग में बतायेंगे की आप B.A. करने के बाद कौन कौन से से कोर्स कर सकते हैं-

  1. बी.एड ( B.Ed ) 
  2. एम.ए ( MA ) 
  3. एम.बी.ए ( MBA ) 
  4. एम.एड ( M.Ed ) 
  5. एल.एल.बी. ( L.L.B ) 
  6. एम.एस.सी. ( M.Sc ) 
  7. डिप्लोमा
  8. होटल मैनेजमेंट कोर्स ( Hotel Management ) 
  9. फैशन डिजाइनर ( Fashion Designer ) 
  10. बेसिक ट्रेनिंग सर्टिफिकेट ( B.T.C ) 
  11. बेसिक स्कूल ट्रेनिंग कोर्स ( B.S.T.C ) 

B.A. करने के बाद करियर ऑप्शन क्या-क्या होते हैं?

B.A. करने के बाद आपके सामने कई सारे करियर ऑप्शन उपलब्ध हो जाते हैं जिसमें आप अपना करियर बनाने के बारे में सोच सकते है। B.A. करने के बाद आप निम्नलिखित कोर्सों में अपना करियर बना सकते हैं-

  1. B.Ed. (बैचलर ऑफ़ एजुकेशन)- अगर आपकी रुचि टीचिंग में है और आप इसी में अपना करियर बनाना चाहते हैं और आपको बच्चों को पढ़ाना पसंद है तो आप इस कोर्स को कर सकते हैं। इसे करने के लिए आपके पास बैचलर डिग्री होना जरूरी है तथा यह 2 साल का कोर्स होता है। 
  2. M.A (मास्टर ऑफ आर्ट)- एमए, BA के बाद किया जाने वाला सबसे पसंदीदा कोर्स में से एक है। यह एक पोस्ट ग्रैजुएट डिग्री लेवल प्रोग्राम हैं जो B.A. के बाद किया जाता है। MA किसी एक सब्जेक्ट में अपना प्रोफेशन बनाने के लिए किया जाता है इंडिया में लगभग सभी यूनिवर्सिटीज में यह कोर्स कराया जाता है। 
  3. MBA (मास्टर ऑफ बिजनेस)– यह BA के बाद सबसे ज्यादा पसंद किये जाने वाला कोर्स हैं जिसमें छात्रों को बिजनेस से जुड़ी समस्याओं को हल करना और बिजनेस करने के तरीके सिखाए जाते है। यह कोर्स 2 साल का होता है। इस कोर्स को करने के बाद आप किसी भी प्राइवेट या पब्लिक सेक्टर में नौकरी कर सकते हैं इसमें काफी अच्छी सैलरी दी जाती है। 
  4. M.Ed. (मास्टर ऑफ एजुकेशन)– यह एक पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री कोर्स है। इसकी समय अवधि 2 वर्ष (4 सेमेस्टर) की होती है। 
  5. L.L.B (बैचलर ऑफ़ लॉ)- B.A. करने के बाद एल एल बी की पढ़ाई कर सकते हैं। LLB कर आप वकील बन सकते है। अगर आपकी रुचि वकील बनने में है तो आप इस कोर्स के साथ अपनी आगे की पढाई कर सकते है। 
  6. M.Sc. (मास्टर ऑफ साइंस)- यह एक ग्रेजुेएशन कोर्स होता है जो बीए के बाद किया जाता है। यह 2 साल का ग्रेजुेएशन प्रोग्राम होता है, इसमें आपको रिसर्च के बारे में सिखाया जाता है, एमएससी करने से पहले आपको B.Sc. करनी होती है।

B.A. करने के बाद प्रोफेशनल कोर्सेज

 B.A. के बाद व्यावसायिक कोर्सेज की पूरी सूची यहां दी गई है:

B.A. करने के फायदे 

  1. B.A. का सबसे बड़ा फायदा यह है कि आप किसी भी सरकारी या प्राइवेट नौकरी की तैयारी कर सकते हैं। 
  2. B.A. करने के साथ ही आप ग्रेजुएट हो जाते है और आप किसी भी स्कूल या कॉलेज में पढ़ाने के लिए अप्लाई कर सकते हैं। 
  3. B.A. करने के बाद आपके सामने रोजगार के कई अवसर खुल जाते हैं। 
  4. B.A. करने के बाद आप टीचर, कलेक्टर, पुलिस, बैंकिंग सेक्टर, सामाजिक कार्यकर्ता, नेता आदि बन सकते है। 
  5. B.A. करने के बाद आप सिविल सेवा जैसे- IPS, IAS , कलेक्टर आदि के लिए भी अप्लाई कर सकते है। 

B.A. के बाद सरकारी नौकरी

B.A. करने के बाद लोगो की पहली पसंद सरकारी नौकरी होती हैं व B.A. होने के बाद 90% लोग सरकारी नौकरी के लिए आवेदन करते हैं और इसमें अपना कैरियर बनाना चाहते हैं। आप B.A. करने के बाद बहुत से सरकारी पद के लिए आवेदन कर सकते हैं जैसे IAS, RAS, BANKING, RAILWAY, POLICE, ARMY etc सभी मे नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं।

B.A. के बाद MCA कर सकते हैं

MCA यानि Master of Computer Application यह एक ऐसा कोर्स हैं जो ग्रेजुएशन के बाद किया जा सकता हैं इस कोर्स की अवधि 3 वर्ष होती हैं एवं कुल 6 सेमेस्टर होते हैं। इस कोर्स के दौरान आपको कंप्यूटर इंजीनियरिंग से जुड़ी हर जानकारी पढ़ने को मिलती हैं जो सामान्यतः BE में छात्र पढ़ते हैं। एक MCA की डिग्री BE कंप्यूटर साइंस या आईटी, के समतुल्य होती हैं।

B.A. करने के बाद डिप्लोमा कोर्सेज

डिप्लोमा कोर्सेज कई प्रकार के होते हैं, नीचे इनके बारे में विस्तार से बताया गया हैं-

डिप्लोमा इन कंप्यूटर साइंस

डिप्लोमा इन कंप्यूटर साइंस के लिए लिस्ट नीचे दी गई है-

  • कंप्यूटर साइंस में कई लोकप्रिय डिप्लोमा कोर्स उपलब्ध है। आजकल ज्यादातर छात्र इस कोर्स को करने के इच्छुक हैं।
  • कंप्यूटर साइंस इन डिप्लोमा में कई सारी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज जैसे-जावा एचटीएमएल, vb.net, सी, सी++, पीएचपी डेटाबेस, ऑपरेटिंग सिस्टम, डाटा माइनिंग, डाटा वेयरहाउस, डेट एप्लीकेशन, नेटवर्किंग आदि के बारे में विस्तार से पढ़ाया जाता है।
  • डिप्लोमा इन कंप्यूटर साइंस के बाद भी कई सारे डिग्री कोर्स है जो किए जा सकते हैं ।
  • डिप्लोमा कोर्स करके भी कई सारी जॉब्स मिल सकती हैं लेकिन वह आपकी प्रैक्टिकल नॉलेज पर निर्भर करती हैं।
  • कंप्यूटर साइंस डिप्लोमा में एडमिशन लेने के लिए आपको 10वीं तथा 12वीं कक्षा में 50% से अधिक अंकों से मान्यता प्राप्त बोर्ड से उत्तीर्ण होना आवश्यक है।
  • यदि आप केवल दसवीं के बाद ही डिप्लोमा कोर्स करना चाहते हैं तो आप इस कोर्स को कर सकते हैं। यह कोर्स 3 साल का होता है।

बेस्ट विश्वविद्यालय जो ये कोर्स उपलब्ध कराते हैं निम्नलिखित हैं।

  • BTEC हायर नैशनल डिप्लोमा इन कंप्यूटिंग एंड सिस्टम्स डेवलपमेंट, सेंट्रल कॉलेज ऑफ़ लंदन
  • डिप्लोमा इन कंप्यूटर सिस्टम्स टेक्निशन -नेटवर्किंग, सेंटेनियल कॉलेज
  • हायर डिप्लोमा इन एप्लाइड कंप्यूटिंग टेक्नोलॉजी , यूनिवर्सिटी कॉलेज कोर्क, आयरलैंड
  • सर्टिफिकेट ऑफ़ एडमिशन , कंप्यूटर इन्फॉर्मेशन सिस्टम -प्रोग्रामिंग, पेसिडिना कॉलेज

बिजनेस मैनेजमेंट में डिप्लोमा

बिजनेस मैनेजमेंट में डिप्लोमा के लिए लिस्ट नीचे दी गई है-

  • आजकल बिजनेस मैनेजमेंट में करियर बनाना एक अच्छा विकल्प माना जाने लगा है।
  • बिजनेस मैनेजमेंट में प्लानिंग, ऑर्गेनाइजिंग, एग्जीक्यूशन, डायरेक्शन आदि सिखाया जाता है।
  • इसे करके आप किसी अच्छी कंपनी में जॉब कर सकते हैं या खुद का बिजनेस भी चला सकते हैं।
  • बिजनेस मैनेजमेंट में डिप्लोमा 12th में मान्यता प्राप्त बोर्ड से उत्तीर्ण होकर किया जा सकता है।
  • बिजनेस मैनेजमेंट में डिप्लोमा में कई विषय पढ़ाए जाते हैं जैसे- मैनेजमेंट थिअरी एंड प्रैक्टिस, बिजनेस इकोनॉमिक्स, बिजनेस कम्युनिकेशन, मार्केटिंग मैनेजमेंट, मार्केटिंग स्किल्स आदि भी सिखाई जाती है।

बेस्ट विश्वविद्यालय जो ये कोर्स उपलब्ध कराते हैं, उनके नाम निम्नलिखित हैं।

होटल प्रबंधन

होटल प्रबंधन के लिए लिस्ट नीचे दी गई है-

  • आजकल बढ़ती जनसंख्या के साथ-साथ हम लोग तरह-तरह के खाने को खाने के इच्छुक हो गए हैं।
  • हर घर में स्वाद को प्राथमिकता देने वाले लोग उपलब्ध है जिसके चलते स्वादिष्ट भोजन हर पार्टी की शान माना जाता है।
  • यदि हम अपने चारों ओर देखे तो होटल एक ऐसी जगह है जहां लोग आना पसंद करते हैं। इसी को देख कर कई लोग होटल मैनेजमेंट में डिप्लोमा करने को प्राथमिकता देते हैं।
  • होटल मैनेजमेंट में हाउसकीपिंग से लेकर होटल का प्रबंधन करने तक सब कुछ सिखाया जाता है। होटल प्रबंधन में डिप्लोमा करते वक़्त कई विषय सिखाएं जाते हैं जिनमें से कुछ है जैसे- फ्रंट ऑफिस मैनेजमेंट, फ्रंट ऑफिस ऑपरेशन, बेसिक फूड प्रोडक्शन, एनवायरमेंटल स्टडीज आदि शामिल है।
  • होटल मैनेजमेंट में डिप्लोमा कोर्स 3 साल का होता है।

बेस्ट विश्वविद्यालय जो ये कोर्स उपलब्ध कराते हैं, उनके नाम निम्नलिखित हैं।

एनीमेशन और मल्टीमीडिया

एनीमेशन और मल्टीमीडिया के लिए लिस्ट इस प्रकार है-

  • आजकल कई मूवीज़, वीडियो, विज्ञापनों आदि में एनिमेशन और मल्टीमीडिया देखने को मिलता है।
  • एनिमेशन के ज़रिए आप उस चीज़ को भी दर्शा सकते हैं जो असलियत में हमारे सामने नहीं लेकिन उसे कंप्यूटर और अलग अलग सॉफ्टवेयर की मदद से दर्शाने का प्रयास किया जाता है।
  • कई सारी फिल्मों में एनिमेशन का प्रयोग किया जाता है। मुख्य तौर पे उनमें जहां स्टंट्स हों या अदाकार ऐसा कुछ करता दिखाई देरहा हो जो असलियत में करना मुमकिन नहीं। उदाहरण के तौर पर अगर आप हॉलीवुड की मूवीज़ पर ध्यान दें तो स्पाइडर मैन , सुपर मैन जैसी फिल्मों में इसका ज़्यादा इस्तमाल आपको देखने को मिलेगा।
  • एनिमेशन और मल्टीमीडिया मूवीस वीडियोस आदि में जान डाल देते हैं और धीरे-धीरे इसका क्रेज बढ़ता जा रहा है इसलिए अधिकतर छात्र इसकी और आकर्षित हो रहे हैं।
  • 12वीं कक्षा में उत्तीर्ण होने के बाद यह कोर्स किया जा सकता है।

बेस्ट विश्वविद्यालय जो ये कोर्स उपलब्ध कराते हैं, उनके नाम निम्नलिखित हैं।

इंटीरियर डिजाइनिंग

इंटीरियर डिजाइनिंग के लिए लिस्ट इस प्रकार है:

  • भव्य इमारतों का विकास जैसे तेज़ी से बढ़ रहा है उसी के अनुरूप इंटीरियर डिजाइनिंग की मांग भी बढ़ती जा रही है।
  • आज के समय में इंटीरियर डिजाइनिंग एक प्रचलित डिप्लोमा पाठ्यक्रमों में से एक है।
  • कई सिलेब्रिटीज इसमें रूचि ले रहे हैं और काम कर रहे हैं। यहां तक की बॉलीवुड और हॉलीवुड दोनों में ही कई अभिनेत्रियां अपने अभिनय के साथ साथ इंटीरियर डिजाइनिंग भी कर रहीं हैं।
  • इंटीरियर डिजाइनर का काम होता है इमारतों को सजाना तथा उपयोगी चीजों को अद्भुत आकृति और अद्भुत तरीके से डेकोरेट करना।
  • टीवी शोज़ में आजकल भव्य मंच बनते हैं जिनमें इंटीरियर डिजाइनर की आवश्यकता होती है। जिसके कारणवर्श आज इसकी मांग बढ़ती जा रही है।
  • यह कोर्स 1 से 2 साल का होता है। इसमें आपकी क्रिएटिविटी, समस्या को सुलझाना, कुछ अलग सोचना, कलात्मक क्षमता आदि की ज़रूरत होती है।
  • इंटीरियर डिजाइनिंग मे डिप्लोमा में कई विषय पढ़ाए जाते हैं जैसे-डिजाइनर स्किल्स, आर्ट एंड क्राफ्ट, कंस्ट्रक्शन एंड डिजाइन, कंप्यूटर ऐडेड ग्राफिक डिजाइन, कलर थ्योरी एंड टेक्निक्स आदि। यदि आप भी इस प्रकार के कार्य में रूचि लेते हैं तो आपके लिए बेहतर विकल्प है।

बेस्ट विश्वविद्यालय जो ये कोर्स उपलब्ध कराते हैं, उनके नाम निम्नलिखित हैं।

डिप्लोमा इन फायर एंड सेफ्टी टेक्नोलॉजी

डिप्लोमा इन फायर एंड सेफ्टी टेक्नोलॉजी के लिए नीचे लिस्ट दी गई है-

  • यह डिप्लोमा विदेशों में काम करने के लिए शानदार अवसर प्रदान करता है, खासकर गल्फ देशों में साथ ही साथ इसमें पे-ऑफ काफी विशाल है।
  • दुनिया भर के संगठनों में सुरक्षा अधिकारियों की बढ़ती मांग ने इस डिप्लोमा पाठ्यक्रम की मांग को बढ़ा दिया है।
  • यह जोखिम प्रबंधन की अवधारणा और सुरक्षा अधिकारियों द्वारा प्रतिकूल परिस्थितियों में उपयोग किए गए उपायों को सिखाता है।
  • यह कार्यक्रम सुरक्षा अधिकारियों के इच्छुक उम्मीदवारों के लिए एक बेहतरीन बूस्टर है क्योंकि यह तैयारियों की टिप्स और ट्रिक्स का एक अच्छा ऑप्शन प्रदान करता है। 
  • यह आग से हुई दुर्घटनाओं से होने वाली प्रतिकूलताओं से निपटने के इच्छुक लोगों के लिए सबसे अच्छा है।
  • यह विदेश में और बड़े निगमों में काम करने के अवसरों के साथ आपके बायोडाटा में एक बड़ी प्रशंसा भी जोड़ देगा।
  • नेतृत्व के गुणों और भाषा पर एक अच्छी कमांड के लिए ये डिप्लोमा अच्छा साबित होगा।

B.A. करने के बाद कौन सी जॉब मिलेगी

B.A. करने के बाद आपको कई सारी नौकरियों के अवसर मिलते हैं जिसमें आप अपना फ्यूचर बना सकते हैं-

  1. आप के लिए कई सारी प्राइवेट व सरकारी नौकरियां भी उपलब्ध होती है। आप सभी प्रकार की जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं। 
  2. B.A. करने के बाद आप टीचर बन सकते हैं। 
  3. अगर आपने B.A. के बाद एलएलबी की है तो आप आसानी से वकील बन सकते हैं। 
  4. B.A. करने के बाद छात्रों के लिए कंप्यूटर ऑपरेटर, स्टेनोग्राफर,ऑफिस मैनेजमेंट आदि नौकरियां उपलब्ध हैं। 
  5. B.A. करने के बाद आप पुलिस कांस्टेबल, SSC, बैंकिंग, रेलवे, UPSC में जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं। 

B.A. करने के बाद नौकरी के विकल्प

  • एग्जीक्यूटिव असिस्टेंट ऑपरेशन मैनेजर
  • ह्यूमन रिसोर्स मैनेजर
  • ग्राफिक डिजाइनर
  • कंटेंट राइटर
  • ऑपरेशन टीम लीडर
  • मार्केटिंग मैनेजर
  • बिजनेस डेवलपमेंट मैनेजर

टॉप विदेशी विश्वविद्यालय

B.A. के बाद कोर्स के लिए टॉप विदेशी विश्वविद्यालय की लिस्ट नीचे दी गई है–

विदेश में रहने का खर्च अपने रहन-सहन के अनुसार जानने के लिए आप Cost of Living Calculator का उपयोग कर सकते हैं।

टॉप भारतीय विश्वविद्यालय 

B.A. के बाद कोर्स के लिए टॉप भारतीय विश्वविद्यालय की लिस्ट नीचे दी गई है–

  • बनारस हिंदू विश्वविद्यालय
  • इलाहाबाद विश्वविद्यालय
  • दिल्ली विश्वविद्यालय
  • गुरु गोबिंद सिंह इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय
  • अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय
  • अन्ना विश्वविद्यालय
  • लखनऊ विश्वविद्यालय
  • मुंबई विश्वविद्यालय
  • पुणे विश्वविद्यालय
  • लोयोला कॉलेज चेन्नई
  • मिरांडा हाउस (दिल्ली)
  • मद्रास क्रिश्चियन कॉलेज
  • हिंदू कॉलेज (दिल्ली विश्वविद्यालय)
  • श्री वेंकटेश्वर कॉलेज (दिल्ली विश्वविद्यालय)

आप UniConnect के जरिए विश्व के पहले और सबसे बड़े ऑनलाइन विश्वविद्यालय मेले का हिस्सा बनने का मौका पा सकते हैं, जहाँ आप अपनी पसंद के विश्वविद्यालय के प्रतिनिधि से सीधा संपर्क कर सकेंगे।

योग्यता

B.A. के बाद कोर्स के लिए कुछ सामान्य योग्यताओं के बारे में नीचे बताया गया है–

  • उम्मीदवार को किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10+2 आर्ट्स स्ट्रीम से बेसिक स्कूली शिक्षा पूरी करनी होगी। 
  • आवेदक का इंटरमीडिट मे परिणाम 50% से अधिक होना अनिवार्य हैं।
  • B.A. के बाद कोर्स करने के लिए आपके पास बैचलर ऑफ़ आर्ट्स की डिग्री होनी चाहिए।
  • भारत में B.A. के बाद कोर्स करने के लिए कुछ कॉलेज अपनी प्रवेश परीक्षाएं आयोजित करते हैं। जिसके आधार पर छात्रों का चयन किया जाता है। विदेश के कुछ यूनिवर्सिटी के लिए ACTSAT आदि के स्कोर जरूरी होते हैं।
  • विदेश में ऊपर दी गई रिक्वायरमेंट्स के साथ IELTS या TOEFL टेस्ट स्कोर ज़रूरी होते हैं।
  • साथ ही विदेशी यूनिवर्सिटीों में आवेदन के लिए SOPLOR और CV/Resume तथा Portfolio की भी ज़रूरत होती है।
  • विदेश की कुछ यूनिवर्सिटीज द्वारा मास्टर डिग्री के लिए 2 से 3 साल का कार्य अनुभव माँगा जाता है।

आवेदन प्रक्रिया 

विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है–

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप AI Course Finder की सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • एक्सपर्ट्स से कॉन्टैक्ट के पश्चात वे कॉमन डैशबोर्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से कई विश्वविद्यालयों की आपकी आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेजों जैसे SOP, निबंध (essay), सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टेस्ट स्कोर जैसे IELTS, TOEFL, SAT, ACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTS, TOEFL, PTE, GMAT, GRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप Leverage Live कक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीजा और छात्रवृत्ति / छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे । 
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लेटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है। 

भारत के विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया, इस प्रकार है–

  1. सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  2. यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूजर नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  3. फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  4. अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  5. इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  6. यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

आवश्यक दस्तावेज 

कुछ जरूरी दस्तावेजों की लिस्ट नीचे दी गई हैं–

जॉब प्रोफाइल्स व सैलरी

B.A. कोर्स करने के बाद आपके पास रोजगार के बेहतरीन अवसर हैं। आप देश-विदेश में करियर बना सकते हैं। Payscaleके अनुसार उनका औसत वार्षिक वेतन नीचे दिया गया हैं:

रोजगार के अवसर वार्षिक वेतन (INR)
प्रोफेसर 3-5 लाख
प्राथमिक स्कूल शिक्षक 5-6 लाख
रिसर्च एनालिस्ट 5-7 लाख
डेटा एनालिस्ट 3-4 लाख
हाई स्कूल टीचर 2-4 लाख
संचालन निदेशक 8-10 लाख
प्रोजेक्ट मैनेजर 10-15 लाख

FAQ

B.A. के बाद कौन कौन से कोर्स कर सकते है?

B.A. करने के बाद आप निम्न कोर्स कर सकते हैं-
बी.एड(B.Ed) 
एम.ए(MA) 
एम.बी.ए(MBA) 
एम.एड(M.Ed) 
एल.एल.बी.(L.L.B) 
एम.एस.सी.(M.Sc) 
डिप्लोमा
होटल मैनेजमेंट कोर्स(Hotel Management) 
फैशन डिजाइनर(Fashion Designer) 
बेसिक ट्रेनिंग सर्टिफिकेट(B.T.C) 
बेसिक स्कूल ट्रेनिंग कोर्स(B.S.T.C) 

B.A. करने के बाद नौकरी के कौनसे विकल्प उपलब्ध है?

B.A. करने के बाद नौकरी के विकल्प
एग्जीक्यूटिव असिस्टेंट ऑपरेशन मैनेजर
ह्यूमन रिसोर्स मैनेजर
ग्राफिक डिजाइनर
कंटेंट राइटर
ऑपरेशन टीम लीडर
मार्केटिंग मैनेजर
बिजनेस डेवलपमेंट मैनेजर

बीए के बाद B.Ed. कैसे करें?

अगर आप B. Ed कोर्स में एडमिशन लेना चाहते हैं तो यह जरूरी है कि आप ने स्नातक डिग्री 50% अंकों के साथ पास की हो, लेकिन यह जरूरी नहीं है कि आप ने ग्रेजुएशन की डिग्री किन विषयों में पास की है यदि आपने बीएससी B.A. या फिर बीकॉम पास की है तो भी आप B. Ed में प्रवेश ले सकते हैं।

बीए कितने साल का कोर्स है?

बीए का पूरा नाम बैचलर ऑफ आर्ट्स होता है यह पूरे 3 साल का कोर्स होता है।

उम्मीद है कि आपको BA ke Baad Kya Kare का यह ब्लॉग पसंद आया होगा। अगर आप विदेश में जाकर पढ़ाई करना करने का अपना सपना पूरा करना चाहते हैं तो हमारे Leverage Edu एक्सपर्ट के साथ अपना फ्री सेशन 1800 572 000 दिए गए नंबर पर बुक कर सकते हैं।

Loading comments...
15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert