सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स

Rating:
0
(0)

वर्तमान समय में technology, सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के क्षेत्र की importance लगातार बढ़ रही है। इतना ही नहीं इन क्षेत्रों में नौकरी की संभावनाओं में तेजी से वृद्धि हो रही है, जैसे software developer, software engineer, web developer, programmer analyst, front end developer/engineer।  Technology के विकसित होने से mobile, laptops, computer आदि भी अधिक advance हो गए हैं। किसी भी phone/device में software नहीं होगा तो वह चीज़ काम करने लायक नहीं रहेगी। आइए जानते हैं software engineering course in Hindi, सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स से संबंधित जानकारी।

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग क्यों करें? 

वर्तमान समय में दुनिया के सभी लोगों द्वारा internet का उपयोग किया जाता है। दुनिया में जितनी speed से internet का उपयोग बढ़ रहा है, उसी speed से अलग-अलग software की भी मांग बढ़ रही है। इस फील्ड में कई सुनहरे अवसर हैं जिससे students अपने भविष्य को उज्ज्वल बना सकते हैं। इस क्षेत्र में software develop करने से लेकर cyber security तक के विकल्प उपलब्ध हैं। आने वाला कल और भी technology driven होगा और इस कल को बनाने में सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग का एक अहम योगदान होगा।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए जरूरी Skills

Software engineering course in Hindi के क्षेत्र में सफल होने के लिए महत्वपूर्ण skills जरूरी है। उनके कुछ उदाहरण यहां दिए गए हैं:

  • Coding: Coding वह प्रक्रिया है जिसके माध्यम से information technology के professionals software और प्रोग्राम बनाते हैं। एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर को अपने करियर में सफल होने के लिए coding की जानकारी होनी चाहिए।
  • Communication Skills: Computer engineer अक्सर software और debug program विकसित करने के लिए टीमों में काम करते हैं। एक computer engineer को नए कर्मचारियों या अन्य इंजीनियरों को प्रशिक्षित करने की भी आवश्यकता हो सकती है, जिसके लिए communication skills का होना जरूरी है।
  • Problem Solving  Skills: अपने काम में सॉफ्टवेयर इंजीनियर को बहुत सारी problems का सामना करना पड़ता है। प्रोग्राम debug करना या गड़बड़ियों को खोज कर जल्द से जल्द ठीक करना उनकी जिम्मेदारी होती है। इसके लिए उन्हें  solutions प्रस्तावित करने के लिए सक्षम होना जरूरी है।
  • Research Skills: Coding और information technology के बारे में अधिक सीखना research से शुरू होता है। जब computer engineers को कुछ problems का सामना करना पड़ता है, जैसे कि कौन से method  का use किया जाए , कौन से method सबसे अच्छा काम कर सकते हैं, तब उन्हें research की अवश्यकता होती है। अतः सॉफ्टवेयर इंजीनियर को जानकारी खोजने और explain करने के लिए stellar research skills की आवश्यकता होती है।
  • Resilience: सॉफ्टवेयर इंजीनियर के लिए flexibility महत्वपूर्ण है क्योंकि यह उन्हें failures के बाद भी bounce back करने की अनुमति देता है।
  • Security: सॉफ्टवेयर इंजीनियर के लिए cyber ​​security को समझना महत्वपूर्ण है, क्योंकि वे अक्सर उन कंपनियों और व्यक्तियों के लिए प्रोग्राम और software coding करते हैं, जो अपनी जानकारी को निजी रखना चाहते हैं। अतः computer engineers के पास cyber security की समझ होना जरूरी है।

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स के लिए Eligibility

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स करने के लिए कुछ basic requirements इस प्रकार हैं:

  • Bachelor’s या certification program में प्रवेश लेने के लिए candidate को 10+2 PCB/M स्ट्रीम से पास करनी होती हैं। 
  • Bachelor’s program में प्रवेश लेने के student को 12th में 60% या उससे अधिक अंक प्राप्त करने आवश्यक हैं। Master’s program करने के लिए candidate के पास संबंधित क्षेत्र में bachelors 55%-60% से की डिग्री होनी चाहिए। 
  • विदेश में पढ़ाई करने के लिए IELTS , TOEFL, PTE या Duolingo English test अनिवार्य हैं। 
  • Indian Universities में प्रवेश लेने के लिए JEE Mains, MHT CET देने आवश्यक हैं। 
  • विदेश में पढ़ाई के लिए students को GATE  की परीक्षा देनी होगी। 

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के लिए Bachelor Courses

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स करने के लिए यहां कुछ bachelor’s programs की list दी गई हैं जिन्हें students चुन सकते हैं ।

  • Bachelor of Software Engineering (BSE)
  • Bachelor in Software Development
  • Bachelor in Software and Data Engineering
  • Software Development and Entrepreneurship (Professional Higher Education)
  • BSc in Computer Science and Engineering
  • B.Tech. Software Engineering

Diploma /Certification Courses 

नीचे कुछ software developer के लिए कुछ diploma courses की list दी गई हैं जो कुछ इस प्रकार हैं:

  • Certificate course in digital signal processing
  • Post graduate diploma in wireless and mobile computing 
  • Short course on developing industrial internet of things
  • Certificate in responsive website basics – code with html, CSS, and JavaScript
  • Certificate in java programming – solving problems with software
  • Java, Python, C, C++, SQL, HTML and other language embedded course 
  • Software Testing
  • Data Visualization Course
  • Mobile app development Course
  • DBA-MySQL

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के लिए Masters Courses

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स करने के लिए यहां कुछ masters programs की list दी गई हैं, जिन्हें students bachelors के बाद कर सकते हैं ।

World Ranked Universities 

विदेश सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स की पढ़ाई करने के लिए यहां नीचे world ranked universities की list दी गई हैं :

Top Indian Universities 

आइए जानते हैं NIRF 2021 की रिपोर्ट के अनुसार Indian top universities के बारे में जहां students सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स करने के लिए प्रवेश ले सकते हैं। 

  • Indian Institute of Technology Madras
  • Indian Institute of Science
  • Indian Institute of Technology Bombay
  • Indian Institute of Technology Delhi
  • Jawaharlal Nehru University
  • Banaras Hindu University
  • Calcutta University
  • Manipal Academy of Higher Education 
  • University of Delhi 
  • Birla Institute of Technology & Science
  • Homi Bhabha National Institute 
  • Kerala University
  • Mahatma Gandhi University
  • Gujarat University
  • Amrita Vishwa Vidyapeetham

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स करने के बाद Career Opportunities

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स करने के बाद students के पास कई job opportunities उपलब्ध हैं। जैसे – 

  • Software Developer
  • Data Analyst
  • Game Developer
  • Database Administrator
  • Software Testing Engineer
  • Cyber Security Specialist
  • Government jobs 
  • Web Developer 
  • Mobile App. Developer
  • Data Scientist
  • Machine Learning Engineer
  • Full Stack Developer 
  • Multimedia Programmer
  • Network Security Engineer
  • Big Data Engineer
  • Cloud Engineer
  • Computer and Information Research Scientist
  • Business Development Manager
  • Cyber Security Consultant
  • Computer Network Architect
  • Vice President – Technical
  • Chief Technology Officer (CTO)
  • Chief Information Officer (CIO)

टॉप Recruiters 

यहां students के लिए सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स  करने के बाद graduates को recruit करने वाली कंपनियों की लिस्ट दी गई हैं:

  • Google
  • Flipkart
  • Accenture
  • Amazon 
  • Mind tree 
  • Mahindra tech 
  • Cognizant
  • HCL
  • Capgemini
  • Ericsson
  • Tata Consultancy Services
  • Wipro
  • Infotech
  • IBM

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स करने के बाद Salary 

Pay scale  और Glassdoor के अनुसार एक software engineer 6 लाख रुपये से लेकर 12 लाख रुपये सालाना कमा सकता है। वहीं विदेश में UK, USA, Canada, Germany जैसे देशों में 8 लाख से 30 लाख रुपये तक कमा सकते हैं। Experience बढ़ने के साथ-साथ सैलरी में भी growth होगी। 

हमें उम्मीद है, कि आपको Software engineering course in Hindi का यह ब्लॉग पसंद आया होगा। यदि आप computer industry से जुड़े कोई भी कोर्स विदेश में करना चाहते हैं तो आज ही Leverage Edu एक्सपर्ट्स को 1800 572 000 पर कॉल करके 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करें।  

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert

You May Also Like