जीव विज्ञान (Biology) क्या है : What is Biology

Rating:
3.9
(9)
जीव विज्ञान क्या है

जीव विज्ञान जीवित चीजों और उनकी महत्वपूर्ण प्रक्रियाओं का अध्ययन है। यह क्षेत्र जीवन के सभी फिजियो केमिकल पहलुओं से जुड़ा है। इस ब्लॉग में जीव विज्ञान से जुड़ी शाखाओं के बारे में भी आगे आप पढ़ेंगे। कहते है कि क्रॉस-डिसिप्लिनरी रिसर्च की ओर आधुनिक ट्रेंड और विभिन्न क्षेत्रों से वैज्ञानिक ज्ञान और जांच के इंटीग्रेशन ने अन्य वैज्ञानिक विषयों के साथ जीव विज्ञान के क्षेत्र का चरितार्थ ओवरलैप किया है। अन्य क्षेत्रों के आधुनिक सिद्धांत- केमिस्ट्री, मेडिसिन, और फिजिक्स, उदाहरण के लिए- जैव केमिस्ट्री, बायो मेडिकल और बायोफिजिक्स जैसे क्षेत्रों में जीव विज्ञान के साथ इंटीग्रेटेड हैं। आइए जाने जीव विज्ञान क्या है (Biology Kya Hai) तथा उससे संबंधित संपूर्ण महत्वपूर्ण जानकारियां इसके साथ-साथ जीव विज्ञान से जुड़ी फील्ड एंड करियर को भी जानेंगे तो आइए सबसे पहले देखते हैं What is Biology (Biology Kya Hai)-

जीव विज्ञान Quiz

जीव विज्ञान (Biology) की परिभाषा Definition of Biology

जीव विज्ञान शब्द एक ग्रीक शब्द- बायोस  {अर्थ:जीवन}  और लोगो  {अर्थ:अध्ययन}  से लिया गया है और इसे जीवन और जीवों के विज्ञान के रूप में परिभाषित किया गया है। एक जीव एक जीवित इकाई है जिसमें एक सेल होता है, उदाहरण के लिए बैक्टीरिया, या उदाहरण के लिए जानवरों, पौधों और फंगी के कई सेल्स। जिन वस्तुओं की उत्पत्ति किसी विशेष अकृत्रिम जातीय प्रक्रिया के फलस्वरूप होती है, ‘जीव’ कहलाती हैं। इनका एक परिमित जीवनचक्र होता है। हम सभी जीव हैं। जीवों में कुछ मौलिक प्रक्रियाऐं होती हैं:

(1) पोषण : इसके अन्तर्गत सभी जीव विशेष पदार्थों के अधिग्रहण से अपने लिए यांत्रिक ऊर्जा प्राप्त करते हैं।
(2) श्वसन : इसमें प्राणी महत्वपूर्ण गैसों का परिवहन करता है।
(3) संवेदनशीलता : जीवोँ में वाह्य अनुक्रियाओं के प्रति संवेदनशीलता पायी जाती है।
(4) प्रजनन : यह जीवों में पाया जाने वाला अनोखा एवं अति महत्वपूर्ण प्रक्रिया है। प्रजनन से जीव अपने ही तरह की संतान उत्पन्न कर सकता है तथा जैविक अस्तित्व को पुष्टता प्रदान करता है।

सफल लोगों की 30 अनमोल आदतें

जीव विज्ञान (Biology) के इतिहास में महत्वपूर्ण वर्ष 

  • 1665 रॉबर्ट हुक – कॉर्क ऊतक में कोशिकाओं का * 1665 रॉबर्ट हुक – कॉर्क ऊतक में कोशिकाओं का वर्णन
  • 1683 एंटोनी वान ल्यूवेनहॉक – सूक्ष्मदर्शी की सहायता से जीवाणु (बैक्टीरिया), एक कोशिकीय जीव, रक्त कोशिकाओं और शुक्राणु को पता चला।
  • 1758 कार्ल वॉन लिनिअस – अपने ‘सिस्टेमा नेचुरे’ नामक ग्रन्थ में जंतु-जगत एवं पादप-जगत का वर्गीकरण किया जो आज भी वैध है।
  • 1839 थियोडोर श्वान और मैथियस जैकब स्लेडेन – कोशिका सिद्धांत के संस्थापक।
  • 1858 चार्ल्स डार्विन (1842, अप्रकाशित) और अल्फ्रेड रसेल वालेस – ने स्वतंत्र रूप से विकासवाद के सिद्धांत की स्थापना की।
  • 1866 ग्रेगर मेंडल – पादपों में संकरण के प्रयोगों के बारे में पहला प्रकाशन, आनुवंशिकी की स्थापना हुई।
  • 1925 लोटका-वोल्त्रा समीकरण के साथ गणितीय जीव विज्ञान का युग शुरू
  • 1935 में वेंडेल मेरेडिथ स्टेनली द्वारा विषाणु की खोज
  • 1944 ओसवाल्ड एवरी ने दिखाया कि प्रोटीन नहीं बल्कि डीएनए आनुवंशिक सूचना का वाहक।
  • 1944 ओसवाल्ड एवरी ने दिखाया कि प्रोटीन नहीं बल्कि डीएनए आनुवंशिक सूचना का वाहक है।
  • 1950 बारबरा मैक्लिंटॉक ने आनुवंशिक सामग्री में गतिशील तत्वों की खोज को प्रकाशित किया किन्तु वह लंबे समय तक अमान्य रहा। वर्तमान समय में उनका यही खोज आनुवंशिक इंजीनियरिंग प्रक्रियाओं का आधार है।
  • 1952 एलन लॉयड हॉजकिन और एंड्रयू फील्डिंग हक्सले ने इलेक्ट्रोफिजियोलॉजी के आधारभूत समीकरण स्थापित किए।
  • 1953 जेम्स डी वॉटसन और फ्रांसिस क्रिक ने डीएनए के दोहरे हेलिक्स ढांचे को प्रकाशित किया। रोजालिंड फ्रैंकलिन और मॉरिस विल्किंस ने भी संरचना को स्पष्ट करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।
  • 1973 जॉन मेनार्ड स्मिथ और जॉर्ज आर प्राइस ने विकासवादी स्थिर राजनीति की अवधारणा प्रस्तुत की जो खेल सिद्धांत और अर्थनीति सहित अनेक क्षेत्रों में उपयोगी है।
  • 1982 स्टेनली प्रूसिनर ने प्रिओन्स की परिकल्पना दी जो आनुवंशिक तत्व से रहित संक्रामक एजेंट।
  • 1982 स्टेनली प्रूसिनर ने प्रिओन्स की परिकल्पना दी जो आनुवंशिक तत्व से रहित संक्रामक एजेंट हैं।
  • 1983 कैरी मुलिस ने पोलीमरेज़ चेन रिएक्शन (पीसीआर) का आविष्कार किया। इसके परिणामस्वरूप डीएनए अणुओं को प्रयोगशाला में लाखों गुना किया जा सकता है।
  • 1983 कैरी मुलिस ने पोलीमरेज़ चेन रिएक्शन (पीसीआर) का आविष्कार किया। इसके परिणामस्वरूप डीएनए अणुओं को प्रयोगशाला में लाखों गुना किया जा सकता है।
  • 1990–2003 मानव जीनोम परियोजना द्वारा मानव जीनोम का अनुक्रमण।
  • 1990–2003 मानव जीनोम परियोजना द्वारा मानव जीनोम का अनुक्रमण। 

जीव विज्ञान (Biology) की शाखाएं

यदि हम Biology जीव विज्ञान में आगे करियर बनाना चाहते हैं और जीव विज्ञान से जुड़े सभी तथ्यों को जानना चाहते हैं तो हमें इनसे जुड़ी शाखाओं के बारे में जानना आवश्यक है जिसकी सूची नीचे दी गई है- Branches of Biology Kya Hai-

Biology Kya Hai
Branches of Biology Kya Hai
शाखाएं परिचय
एनाटॉमी जीवित चीजों की संरचना और उनके भागों का अध्ययन
Astrobiology जीवित ब्रह्मांड का अध्ययन
जैव प्रौद्योगिकी  जीव विज्ञान से संबंधित प्रौद्योगिकी के अध्ययन के
वनस्पति विज्ञान पौधों का वैज्ञानिक अध्ययन
जैव रसायन भीतर रासायनिक प्रक्रियाओं के अध्ययन या रहने वाले जीवों से संबंधित
बायोफिज़िक्स जीवित प्राणियों में शारीरिक प्रक्रियाओं और घटना के अध्ययन के
बायोनिक्स यांत्रिक प्रणाली के अध्ययन है कि जीवित चीजों या की तरह काम एक जीवित जीव के भाग के रूप में
जैव सूचना विज्ञान कंप्यूटर विज्ञान के माध्यम से जैविक जानकारी की व्याख्या का अध्ययन
सेल Biology सेल संरचना और कार्यों का अध्ययन
रासायनिक जीवविज्ञान जैविक समस्याओं को हल करने के लिए रसायन विज्ञान के उपयोग का अध्ययन
कम्प्यूटेशनल Biology जैविक प्रणालियों को समझने के लिए एल्गोरिदम विकसित करने के लिए जैविक जानकारी का अध्ययन
संरक्षण जीव विज्ञान  पर्यावरण संरक्षण और पृथ्वी पर जैव विविधता का अध्ययन
क्रोनोबायोलॉजी जैविक घटनाओं के साथ-साथ आंतरिक जैविक लय और घड़ियों पर समय के प्रभावों का अध्ययन
विकासात्मक जीव विज्ञान  पौधों और जानवरों की वृद्धि और विकास प्रक्रियाओं का अध्ययन
विकासवादी जीव विज्ञान समय के साथ विकासवादी प्रक्रियाओं और विविधीकरण और जीवन के अनुकूलन का अध्ययन
पारिस्थितिकी जीव और कैसे वे अपने आसपास के वातावरण के साथ बातचीत करते हैं
पर्यावरण जीव विज्ञान विकास, निवास और जीवों के अनुकूलन का अध्ययन
जेनेटिक्स जीन, आनुवंशिक परिवर्तन और आनुवंशिकता के अध्ययन जीवित प्राणियों में
भूजीवविज्ञान कैसे, शारीरिक रासायनिक और जैविक प्रक्रियाओं प्राकृतिक निवास में एक दूसरे को प्रभावित के अध्ययन
वृद्धावस्था उम्र बढ़ने अपनी शारीरिक, मानसिक, सामाजिक, मनोवैज्ञानिक और सांस्कृतिक प्रभाव, आदि के अध्ययन
मानव जीवविज्ञान मानव प्रजाति, उनके विकास, आनुवंशिकी, आनुवंशिकता, शरीर रचना विज्ञान और अन्य पहलुओं के अध्ययन के
ह्यूमन जेनेटिक्स मानव जीनोम के अध्ययन और एक अन्य एक पीढ़ी से जीनों के संचरण
इम्यूनोलॉजी सभी जीवों में प्रतिरक्षा प्रणाली का अध्ययन
लिचेनोलॉजी लाइकेन का अध्ययन
समुद्री जीव विज्ञान समुद्री जीवों और समुद्री जीवन के अध्ययन के
माइकोलॉजी कवक के अध्ययन
माइक्रोबायोलॉजी सूक्ष्मजीवों का अध्ययन, यानी मिनट जीवन रूपों:
आण्विक जीवविज्ञान रासायनिक संरचना और अणुओं की जैविक प्रक्रियाओं के अध्ययन
तंत्रिका जीव विज्ञान तंत्रिका प्रणाली और सेल कार्यों का अध्ययन
पोषण विज्ञान भोजन, अपने पोषक तत्वों का अध्ययन और स्वास्थ्य और रोगों पर उनके प्रभाव
पैथोलॉजी बीमारी या चोट के अध्ययन
फिजियोलॉजी मानव शरीर के कार्यों का अध्ययन
पुराजैविकी पृथ्वी विज्ञान जीवाश्म विज्ञान पर लागू जीवन विज्ञान जीव विज्ञान के अध्ययन के
Phycology शैवाल का अध्ययन
Parasitology परजीवी, उनके मेजबानों और अपने संबंधों के अध्ययन
प्लांट फिजियोलॉजी अध्ययन संयंत्र समारोह और व्यवहार के, उनके भीतर संरचनाओं के नियम और कार्यों में
फोटोबायोलॉजी जीवित प्राणियों पर प्रकाश की लाभदायक है या बुरा प्रभाव का अध्ययन
रेडियोबायोलॉजी मानव शरीर के साथ विकिरण विकिरण और इसके अंतःक्रियाओं का अध्ययन
स्ट्रक्चरल बायोलॉजी जैविक अणुओं की संरचना का अध्ययन
मिट्टी जीव विज्ञान मिट्टी में रहने वाले जीवों के अध्ययन
सिस्टम Biology जैविक प्रणालियों का अध्ययन
टैक्सोनॉमी जीवित जीवों का नामकरण, वर्गीकरण, व्यवस्था करना, वर्णन करना
वायरोलॉजी वायरस के साथ-साथ वायरस रोगों का अध्ययन
जूलॉजी पौधे के राज्य का अध्ययन

जीव विज्ञान (Biology) में करियर

चाहे जानवरों से जुड़ा हो चाहे इंसानों से चाहे पौधों से जुड़ा हो और चाहे दवाइयों से सभी के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए और कैरियर बनाने के लिए एक ही विषय है जिसका नाम है जीव विज्ञान। जीव विज्ञान में कई सारी फील्ड है जिसमें हम सफलता हासिल कर सकते हैं यदि हम डॉक्टर नहीं बन पाते हैं तो भी हताश होने की आवश्यकता नहीं है जीव विज्ञान की पढ़ाई करने के बाद कई  छोटी फील्ड ऐसी है जिस में भी जॉब की जा सकती है। जीव विज्ञान में करियर बनाना चाहते हैं तो आपके पास बहुत सारे विषय और ब्रांचेस हैं जिसका चुनाव करके आप आगे बढ़ सकते हैं आइए जाने जीव विज्ञान में करियर कहां-कहां बना सकते हैं।

  • बायोकेमिस्ट और बायोफिजिसिस्ट
  • जैव सूचना विज्ञान के वैज्ञानिक
  • भूवैज्ञानिकों
  • संरक्षण वैज्ञानिक और वनवासी
  • पर्यावरण विशेषज्ञ और वैज्ञानिक
  • सूक्ष्म जीव विज्ञानियों
  • बायोमेडिकल इंजीनियर
  • जैविक विज्ञान शिक्षक
  • आनुवंशिक परामर्शदाता
  • पशु चिकित्सकों
  • प्राणी विज्ञान और वन्यजीव जीवविज्ञानी
  • जैविक तकनीशियन
  • रासायनिक तकनीशियन
  • फोरेंसिक विज्ञान तकनीशियन
  • चिकित्सा प्रयोगशाला प्रौद्योगिकीविदों

समय का महत्व (Samay ka Mahatva) का परिचय

जीव विज्ञान (Biology) के लिए लोकप्रिय विश्वविद्यालय

नीचे जीवन विज्ञान और जीव विज्ञान के अध्ययन के लिए पाठ्यक्रमों की पेशकश करने वाले विश्वविद्यालयों और कॉलेजों की सूची दी गई है:

  • मैसाचुसेट्स की तकनीकी संस्था
  • स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय
  • विदेश महाविद्यालय
  • येल विश्वविद्यालय
  • यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया, बर्केले
  • जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय
  • अल्बर्टा विश्वविद्यालय
  • क्वींसलैंड विश्वविद्यालय
  • ला ट्रोब विश्वविद्यालय
  • न्यूकैसल विश्वविद्यालय
  • ब्रिटिश कोलंबिया विश्वविद्यालय
  • मैसी विश्वविद्यालय

जीव विज्ञान के फेमस वैज्ञानिक और उनके आविष्कार

  • अरस्तू (Aristotle 384–322 BC) ‘प्राणी विज्ञान के जनक’ (Father of Biology) ने जीव विज्ञान (Biology), वर्गीकरण विज्ञान (Taxonomy) तथा भ्रूण विज्ञान (Embryology) की नींव डाली।
  • एंटोन वॉन ल्यूवेनहुक (Anton Von Leeuwenhoek 1676) ने सूक्ष्म जीवों जैसे-जीवाणु, प्रोटोजोआ के केन्द्रक (Nucleus) की खोज की तथा प्रथम सूक्ष्मदर्शी बनाया।
  • कार्ल लिनियस (Carlous Linnaes 1735) ने जीवों के नामकरण की द्विनाम पद्धति (Binomial nomenclature) का प्रतिपादन किया।
  • एडवर्ड जेनर (Edward Janner 1796) ने चेचक के टीके की खोज की तथा प्रतिरोधक क्षमता (Immunity) का सिद्धांत दिया।
  • विलियम हार्वे (William Harvey 1628) ने मनुष्य के रुधिर संचरण की खोज की।
  • चार्ल्स डार्विन (Charles Darwin 1858) प्राकृतिक वरणवाद द्वारा जाति की उत्पत्ति के डार्विनवाद सिद्धांत के प्रतिपादक तथा पैन्जीवाद (Pangenesis) के जनक।
  • अर्नेस्ट हीकल (Ernst Haeckel 1864) प्रजाति आवर्तन नियम के जनक तथा प्राणि जगत को प्रोटोजोआ एवं मेटाजोआ (Protozoa and Metazoa) में विभाजित किया। इकोलोजी (Ecology) शब्द के जनक तथा वर्ग प्रोटिस्टा (Protista) की खोज की।
  • फ्लेमिंग वाल्टर (Flemming Walter 1832) ने माइटोसिस (Mitosis) तथा क्रोमेटिन (Chromatin) शब्दों की खोज की।
  • डी. यूजीन (Dubois Eugene 1892) ने जावा कपि मानव (Java man) की खोज की।
  • ग्रेगर जॉन मेंडल (1865 Gregor Johann Mendel) आनुवंशिकी (Genetics) के जनक तथा आनुवंशिकता के नियमों का प्रतिपादन।

Paragraph Writing in Hindi [ अनुच्छेद क्या है? ]

यदि आपको Biology Kya Hai (जीव विज्ञान क्या है) ब्लॉग पसंद आया हो और What is Biology (Biology Kya Hai) यदि जीव विज्ञान क्या है इससे संबंधित और भी जानकारी आप प्राप्त करना चाहते हैं तो कमेंट सेक्शन में लिखकर बता सकते हैं। ऐसे कई ऐसे ब्लॉग्स मौजूद है। करियर तथा अध्ययन से संबंधित किसी भी परेशानी साथ ही साथ यदि आप अपने ड्रीम यूनिवर्सिटी का चुनाव करना चाहते हैं एडमिशन लेना चाहते हैं तो आज ही Leverage Edu के एक्सपर्ट से संपर्क कर सकते हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.

+91
Talk to an expert for FREE

You May Also Like