पॉलिटेक्निक कोर्स

Rating:
4.4
(25)
पॉलिटेक्निक कोर्स

पॉलिटेक्निक कोर्स  की माँग बहुत तेजी से स्टूड़ेट्स के बीच बड़ी है। इसका मुख्य कारण करियर ओरिएंटेड के साथ कम समय में स्टूड़ेट्स अपने पसंंद के विषय में इसको कर पाते है। इन कार्यक्रमों का मुख्य उद्देश्य छात्रों को उस विशेष क्षेत्र में प्रैक्टिकल स्किल्स सेट्स से लैस करना होता है, जिसकी जरूरत नौकरी में होती है। इसके अलावा, इन कार्यक्रमों का अनिवार्य फोकस थ्योरेटिकल पढ़ाई से शुरू करते हुए उस ज्ञान का इस्तेमाल प्रैक्टिकल एप्लीकेशन में करने का होता है, ताकि इंडस्ट्री की मांग के अनुसार ग्रेजुएट्स तैयार किये जा सके। इस ब्लॉग के जरिए हम दुनिया भर में मौजूद विभिन्न पॉलिटेक्निक कोर्स  के बारे में और विशेष स्पेशलाइस्ड नॉलेज के बारे में जानेंगे जो छात्रों को अपनी पसंद के विषय में अपार एक्सपोज़र पाने में सहायता करने के लिए इन कोर्सेज में दिए जाते हैं। 

पॉलिटेक्निक क्या है

पॉलिटेक्निक एक टेक्निकल कोर्स है जो डिप्लोमा कोर्स होता है यह एक काफी पॉपुलर कोर्स है जिसे 10th या 12th पास करने के बाद में कर सकते हैं। पॉलिटेक्निक का मतलब ही होता है इंजीनियरिंग मे डिप्लोमा (Diploma in Engineering) होता है। इस कोर्स के अंतर्गत कई ब्रांच की पढ़ाई कराई जाती है। यह जूनियर लेवल इंजीनियर को तैयार करने का एक तरीका है। बी टेक करने वाले लोग डिग्री हासिल करते हैं वही पॉलिटेक्निक से डिप्लोमा की पढ़ाई करने वाले छात्रों को डिप्लोमा का सर्टिफिकेट दिया जाता है। जिसके बाद उन्हें जूनियर इंजीनियर के पद पर नियुक्त करके नौकरी दी जाती है।

12 वीं के बाद पॉलिटेक्निक कोर्स कैसे करे

पॉलिटेक्निक का कोर्स 12 वीं पास करने के बाद भी कर सकते हैं लेकिन सबसे लाभदायक होगा कि पॉलिटेक्निक कोर्स कक्षा 10वीं के बाद ही किया जाए क्योंकि पॉलिटेक्निक प्रवेश परीक्षा में कक्षा 10वीं स्तर का प्रश्न पुछा जाता है। पॉलिटेक्निक पाठ्यक्रम परीक्षा के लिए कक्षा 10वीं के बाद पॉलिटेक्निक प्रवेश परीक्षा के फॉर्म भर सकते हैं। हर राज्य में पॉलिटेक्निक प्रवेश परीक्षा फॉर्म हर साल निकाला जाता है। यदि पॉलिटेक्निक कोर्स की परीक्षा अच्छे अंकों के साथ पास होती है, तो छात्र सरकारी कॉलेजों या बहुत बेहतर कॉलेजों में प्रवेश ले सकते हैं। इसलिए अच्छे अंकों के साथ इसे पास करना आवश्यक हो जाता है।

पॉलिटेक्निक डिप्लोमा के लाभ

पॉलिटेक्निक में डिप्लोमा करने के वैसे तो स्टूड़ेट्स को कई फायदे होते है जो आगे चलकर उनके करियर में उनको काफी मदद भी करते हैंं। ऐसे ही कुछ लाभ नीचे दिए गए हैं।

  • इसे करने के बाद आपको एक टेक्निकल सर्टिफिकेट हासिल होता है।
  • पॉलिटेक्निक के आधार पर आपको तुरंत job भी मिल जाता है।
  • इसके बाद आप जूनियर इंजीनियर बन जाते हैं और जूनियर इंजीनियर के पद के लिए अप्लाई कर सकते हैं इसके अलावा, लोको पायलट टेक्निकल असिस्टेंट, और बहुत सारे सरकारी पदों के लिए भी आवेदन कर सकते हैं।
  • यह इंटरमीडिएट के बराबर की मान्यता प्राप्त होता है।
  • अगर आप डिप्लोमा की पढ़ाई अच्छे ढंग से करते हैं आपकी समझदारी इंटरमीडिएट किए हुए छात्र से ज्यादा होता है और इसके अलावा ज्ञान भी ज्यादा होता है।
  • साधारण रूप से इंटरमीडिएट करने वाले छात्र जिस सरकारी जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं उसी जॉब के लिए डिप्लोमा छात्र अप्लाई कर सकते हैं।
  • बीटेक करने के लिए जाते हैं तब से सीधे सेकंड ईयर में एडमिशन मिल जाता है।
  • इंजीनियरिंग के क्षेत्र में कामयाब होने के लिए एक सही रास्ता है।
  • जब आप डिप्लोमा करके इंजीनियरिंग करने के लिए जाते हैं तो आपको काफी आसान होता है।

पॉलिटेक्निक Courses List

दुनियाभर के विश्वविद्यालयों और संस्थानों में पढ़ाये जाने वाले कुछ पॉलिटेक्निक कोर्स  की सूची निम्नलिखित हैं। इस सूची में हमने उन विभिन्न कोर्सेज को शामिल किया है, जो शॉर्ट टर्म एजुकेशनल प्रोग्राम करने वालों के बीच लोकप्रिय है।

डिप्लोमा इन Computer Programming

ये 2 वर्षीय डिप्लोमा प्रोग्राम कुछ कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेजेज पर फोकस करता है जो कम्प्यूटेशनल डिवाइस में ऑपरेटिंग सिस्टम और कुछ एप्लीकेशन के सुचारू रूप से चलने में मदद करता है। ये कोर्स java, C#, .NET, Oracle और SQL जैसे प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का ज्ञान और मोबाइल तथा कंप्यूटर उपकरणों में हाल में हुई तकनीकी प्रगति पर विशेष जोड़ देते हुए छात्रों को सिखाता है। 

मार्केटिंग मैनेजमेंट में Graduate Certificate

ये 1 वर्षीय स्नातक प्रमाणपत्र प्रोग्राम है जिसे उन छात्रों के लिए बनाया गया है, जो मार्केटिंग की दुनिया में गहराई तक उतरना चाहते हैं। इसका उदेश्य छात्रों को डिजिटल मार्केटिंग में विशेषज्ञता हासिल करवाना है, जो आजकल हर बिज़नस की प्रमुख ज़रुरत बन गई है। प्रोग्राम में एसईओ (SEO), मार्केटिंग एनालिसिस और सोशल मीडिया मार्केटिंग के टूल्स और टेकनीक की सूक्ष्म दृष्टि देता है।

डिप्लोमा इन Petroleum Engineering

ये एक 2 वर्षीय अंडरग्रेजुएट डिप्लोमा प्रोग्राम है जिसे पेट्रोलियम इंडस्ट्री में करियर बनाने की चाह रखने वालों के लिए बनाया गया है। इस कोर्स को करने के बाद आप विभिन्न ड्रिपिंग टेकनीक, तेल और गैस के प्रभावी उत्पादन और पर्यावरण संरक्षण और सुरक्षा के बारे में जानेंगे। ये पेट्रोलियम इंजीनियरिंग में स्पेशलाइज्ड कोर्स में से एक है, इसमें छात्रों को इस क्षेत्र के वास्तविक पहलुओं को समझने में मदद करने के लिए इंटर्नशिप और अपरेंटिसशिप जैसे इंडस्ट्री ट्रेनिंग प्रोग्राम भी शामिल हैं।

डिप्लोमा इन Business Administration

जो उभरते हुए उद्यमिता के क्षेत्र को पढ़ना चाहते हैं, ये उनके लिए बनी टॉप पॉलिटेक्निक कोर्सेज में शामिल है, ये 2 वर्षीय डिप्लोमा प्रोग्राम छात्रों को बिज़नस के डायनामिक्स के बारे में गहरी समझ देता है। आप बिज़नस की दुनिया के बारे में एक उद्यमी के नजरिये से जानेंगे और ये प्रोग्राम आपको अपने स्टार्टअप को सफल बनाने में जो अपेक्षित स्किल की जरूरत होती है, उससे लैस करेगा।

डिप्लोमा इन Estate Management

अगर आप मैनेजमेंट में स्पेशलाइज्ड पॉलिटेक्निक कोर्स  ढूँढ रहे हैं तो आपको एस्टेट मैनेजमेंट में 3 वर्षीय डिप्लोमा प्रोग्राम को जरूर आजमाना चाहिए।कोर्स में रियल स्टेट इंडस्ट्री के लीगल, फाइनेंसियल, मैनेजरियल और टेक्निकल नॉलेज को एक साथ बताया गया है। अगर आपका सुझाव रियल स्टेट की तरफ होता है तो इस कोर्स को पूरा करने के बाद आप रियल स्टेट मैनेजमेंट के स्नातक की डिग्री के द्वितीय वर्ष में प्रवेश पाने के योग्य हो जाएंगे। 

डिप्लोमा इन Animation Art and Design

वो जो एनीमेशन और ग्राफ़िक्स की दुनिया के दीवाने हैं, उनके लिए विजुअल आर्ट्स के स्पेशलाइस्ड क्षेत्र में अनेकों पॉलिटेक्निक कोर्स  मौजूद हैं। एनिमेशन आर्ट एंड डिज़ाइन में डिप्लोमा एक ऐसा प्रोग्राम है जो 7 तिमाहियों तक चलता है। छात्रों को ग्राफ़िक डिजाईन, डिजिटल आर्ट्स और इमेजिंग, 2D और 3D एनीमेशन और वेक्टर एनीमेशन सिखाने के लिए इस कोर्स को डिजाईन किया गया है। ये कोर्स व्यक्तियों को गेमिंग, फिल्म्स, ग्राफ़िक डिजाईन और विज्ञापन जैसे करियर क्षेत्रों में काम करने के लिए तैयार करता है। 

डिप्लोमा इन Hospitality Management

ये एक 18 महीने का कोर्स है जो हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री में मैनेजरियल करियर बनाने के लिए जरूरी स्किल्स छात्रों को सिखाता है। छात्रों को, होटल मैनेजमेंट के सामान्य पहलुओं से लेकर बजट के खर्चों से निपटने के लिए जरूरी ज्ञान और ग्राहकों को कैसे संभाला जाता है, इन सबकी सूक्ष्म जानकारी देना, इस कोर्स में हॉस्पिटैलिटी मैनेजमेंट की बहुमुखी विशेषताओं को शामिल किया गया है। 

डिप्लोमा of Accounting

सर्वाधिक माँग वाले पॉलिटेक्निक कोर्सेज में से एक, डिप्लोमा इन अकाउंटिंग 6 महीने का कोर्स है, जिसमें बुक कीपिंग और रिकॉर्ड कीपिंग के बारे में पढ़ाया जाता है। ये प्रोग्राम वित्तीय खातों (financial accounts) के विश्लेषण, निगरानी और रिपोर्टिंग में सूक्ष्म दृष्टि देता है, इस डिप्लोमा को सफलतापूर्वक पूरा कर लेने पर आप फर्म्स और संगठनों में एक असिस्टेंट अकाउंटेंट के प्रोफाइल के लिए आवेदन कर सकते है। 

Diploma of Early Childhood Education and Care

ये 18 महीने का डिप्लोमा एलेमेंट्री और प्राथमिक स्कूलों में शैक्षणिक प्रोग्राम की योजना बनाने और संचालन से जुड़े स्किल्स से छात्रों को लैस करता है। इस पाठ्यचर्या (curriculum) का पाठ्यक्रम (course) समान्यतः प्रारंभिक वर्षों के सीखने के फ्रेमवर्क को फॉलो करता है, जो नये शिक्षकों को प्रभावी प्रारंभिक शिक्षण का ज्ञान प्रदान करने और सीखने की प्रक्रिया को मजेदार अनुभव बनाने के लिए इस एडवांस्ड प्रैक्टिकल मेथड्स को डिज़ाइन किया गया है।

विदेश में पॉलिटेक्निक की टॉप यूनिवर्सिटीज

दुनिया में पॉलिटेक्निक की टॉप यूनिवर्सिटीज जहाँ से आप अपने पसंद का डिप्लोमा कर सकते हैं। नीचे डिप्लोमा कोर्स के साथ कॉलेज की लिस्ट गई है।

  • Diploma in Mechanical Engineering Technician
    Humber College, Toronto, Canada
  • Graduate Certificate Information Architecture and Design
    McGill University, Montreal, Canada
  • Graduate Diploma in Communications
    Memorial University of Newfoundland, St. John’s, Canada
  • Graduate Certificate in Blockchain and Smart Contract Engineering
    Northeastern University, Boston, USA
  • Sensor Signal and Information Processing (Graduate Certificate)
    Arizona State University, Tempe, USA

भारत में पॉलिटेक्निक की यूनिवर्सिटीज

भारत में वैसे तो कई सारे कॉलेज और इंस्टीयूड पॉलिटेक्निक में डिप्लोमा करवाते हैं। लेकिन नीचे दी गई लिस्ट में पॉलिटेक्निक के बेस्ट कॉलेज दिए गए है।

  • Government Polytechnic, Mumbai
  • S H Jondhale Polytechnic, Thane
  • V.P.M.’s Polytechnic, Thane
  • Vivekanand Education Society’s Polytechnic, Mumbai
  • Adesh Polytechnic College,Muktsar
  • Anjuman Polytechnic, Nagpur
  • Agnel Polytechnic,Navi Mumbai
  • Chhotu Ram Polytechnic,Rohtak
  • Adhiparasakthi Polytechnic College,Kanchipuram
  • MEI Polytechnic, Bangluru

पॉलिटेक्निक करने के बाद सैलरी

पॉलिटेक्निक करने के बाद भारत में प्रोफेशनल्स की शुरुआती सैलरी लगभग Rs. 10,000 से Rs. 20,000 के बीच होती है। अगर आप कोर्स के दौरान बेहतरीन परफॉर्म करते हैं, तो कैंपस इंटरव्यू में ही आपको नौकरी के कई अच्छे ऑफर मिल सकते हैं। इसके अलावा आपके एक्सपीरियस के बाद भी आपकी सैलरी भी उसी तरह से बढ़ते रहती है।

उम्मीद करते हैं कि हमारे ब्लॉग पॉलिटेक्निक कोर्स  के बारे में आपको इससे जुड़ी तमाम जानकारी मिली होगी। अगर आप विदेश में जाकर कोर्स करना चाहते हैं तो आज ही हमारे Leverage Edu के एक्सपर्ट्स के साथ अपनी फ्री सेशन बुक कीजिए।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

1 comment

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.

+91
Talk to an expert for FREE

You May Also Like

Computer Course in Hindi
Read More

Computer Course in Hindi

आज का युग कम्प्यूटर का युग है और हम यदि यह कहे कि कम्प्यूटर के बिना हमारी जिंदगी…