इंटीरियर डिज़ाइनर कैसे बने ?

Rating:
1.5
(2)
Online Interior Design Courses

आज के समय में घर की परिभाषा ईट , सीमेंट और लकड़ी से बने ढांचे से काफी बदल गई। अब सिर्फ निर्माण पूरा करा कर आप मकान को घर नहीं बोल सकते हैं। आज के समय में लोग घर को अनोखा बनाने व उसे खूबियों से सजा ने के लिए पेशेवर इंटीरियर डिज़ाइनर को काम पर लगाते है। समय के साथ लोगों के बीच यह ट्रेंड काफी तेजी से बढ़ रहा है। अगर आप अपने घर में कुछ बदलाव कराने या फिर से सजा ने पर विचार कर रहे हैं, तो नए डिज़ाइन या रचनात्मक विचार के लिए  खुद माथा पच्ची करने की जरूरत नहीं है। आप आसानी से एक इंटीरियर डिज़ाइनर को काम दे सकते हैं। लेकिन अगर आप इस पेशे में घुस कर खुद की रचनात्मक क्षमता को जाँचने पर विचार कर रहे हैं, तो आपका इस क्षेत्र के बारे में रिसर्च करना बेहद जरूरी है। यह लेख एक इंटीरियर डिज़ाइनर कैसे बने (Interior Designer Kaise Bane) इस विषय पर आपको पूरी जानकारी प्रदान करता हैI

इंटीरियर डिजाइनर किसे कहते है?

इंटीरियर डिजाइनर डेकोरेशन से जुड़ी सेवाएँ प्रदान करते हैं जैसे मकान, इमारत, भवन आदि को एक खुबसूरत लुक देना, इंटीरियर डिज़ाइनर का प्रमुख काम होता है। इसके अलावा Interior designers की डिमांड अब केवल बड़े शहरो तक सिमित नही रह गया है बल्कि छोटे शहरो, गावं आदि में भी इंटीरियर डिज़ाइनर का डिमांड बहुत अधिक हो गया है। आजकल हर छोटे-बड़े फंक्शन में इंटीरियर डिज़ाइनर से डेकोरेशन कराया जा रहा है।

इंटीरियर डिजाइनर के लिए योग्यता

इंटीरियर डिजाइनर में एडमिशन लेने के लिए 12वीं पास होना आवश्यक होता है, इस कोर्स में यह महत्त्व नही रखता है कि आप किस स्ट्रीम से अपना 12th पास किया है। इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स को किसी भी स्ट्रीम से 12वी पास किए हुए स्टूडेंट आसानी से कर सकते हैं। 12वी में कम से कम 40%-50% मार्क्स होने चाहिए तब स्टूडेंट्स इस कोर्स के लिए योग्य होते हैं।इसके अलावा स्टूडेंट्स ग्रेजुएशन के बाद भी इंटीरियर डिजाइनर के लिए आवेदन कर सकते हैं, इस कोर्स में डिप्लोमा और डिग्री दोनों तरह के कोर्स का विकल्प होता है, कैंडिडेट्स अपने इंटरेस्ट के अनुशार अपना कोर्स केटेगरी चुन सकता है। डिप्लोमा कोर्सेज एक वर्ष के तथा डिग्री डिज़ाइन कोर्स 3 वर्ष के होते है।

क्या करता है एक इंटीरियर डिज़ाइनर?

इंटीरियर डिज़ाइनर के प्राथमिक काम में योजना बनाना, नई डिज़ाइन की रूपरेखा तैयार करना और रिहायशी मकानों, व्यावसायिक व अन्य इमारतों की सजावट करना शामिल हैं। इंटीरियर डिज़ाइनर को कॉन्ट्रैक्टर, आर्किटेक्ट व इंजीनियर समेत अनेक अन्य पेशे के लोगों के साथ मिलकर काम करना होता है, ताकि वह यह सुनिश्चित कर सके कि डिज़ाइन बनाने का कार्य अच्छे तरीके से हो रहा है। इंटीरियर डिज़ाइनर अपने ग्राहकों को स्पेसिंग, ले आउट, फर्नीचर व कलर कॉम्बिनेशन समेत विभिन्न तरह के डिज़ाइन से जुड़ी सलाह देते हैं। इसके साथ ही डिज़ाइन को और बेहतर करने के संबंध में ग्राहक से निरंतर बातचीत करना व विचारों का आदान प्रदान करना भी इंटीरियर डिज़ाइनर के काम का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है।  

इंटीरियर डिज़ाइनर क्षेत्र के लिए जरूरी कौशल

इंटीयर डिज़ाइनर में तकनीकी बारिकियों का प्रबंधन करने के साथ-साथ अपने साथ काम करने वाली टीम से तालमेल बनाए रखने का कौशल होना अत्यंत आवश्यक है। टीम के साथ बेहतर तालमेल बनाकर काम करने से परिणाम हमेशा बेहतर होता है। एक इंटीरियर डिज़ाइनर में विजुअल समझ के साथ एक विश्लेषणात्मक सोच का होना बेहद जरूरी है। इसके साथ ही इंटीरियर डिज़ाइनर को एक निर्धारित बजट में काम करना आना चाहिए व ग्राहक से बातचीत करने में निपुणता हासिल होनी चाहिए। कलर , टेक्सचर व मटेरियल की सटीक जानकारी के साथ इंटीरियर डिज़ाइनर काम को बेहतर परिणाम दे सकते हैं।

2021 में कैसे करें आईएएस की तैयारी? सीखें खुद IAS टॉपर्स से

जिम्मेदारियां

इंटीरियर डिज़ाइनर किसी कंपनी से जुड़ कर या स्वतंत्र रूप से काम सकते हैं। कई बार ग्राहक की जरूरत के अनुसार किसी स्वतंत्र डिज़ाइनर को किसी कंपनी या किसी कंपनी को एक स्वतंत्र डिज़ाइनर के साथ भी काम करना पड़ सकता है। आज के समय में कई डिज़ाइनर लंबे समय तक चलने वाली डिज़ाइन को पसंद करते हैं, जो आधुनिक व इको -फ्रेंडली भी है। डिज़ाइनर को किसी भी डिज़ाइन को अंजाम तक पहुंचाने के लिए कॉन्ट्रैक्टर व मालिक दोनों के साथ तालमेल बनाना पड़ता है। इंटीरियर डिज़ाइनर को बिल्डिंग कोड, यूनिवर्सल एक्सेसबिलटी स्टैंडर्ड  Universal Accessibility Standard व इन्पेक्शन रेगुलेशन के बारे में जानकारी होनी चाहिए। क्षेत्र से संबंधित कौशल के साथ-साथ डिज़ाइनर को CAD (कंप्यूटर-एडेड डिज़ाइन), फ़ोटोशॉप व रैविट जैसे सॉफ्टवेयर की जानकारी भी होनी चाहिए। इंटीरियर डिज़ाइनर मकान व रेस्त्रां, कैफ़े, ऑफ़िस या हॉस्पिटल जैसी व्यावसायिक जगह को डिज़ाइन करते हैं।

Interior Designing Subject

  • Art & Basic Design
  • Services Professional Management – Estimating and Budgeting
  • Furniture design
  • History of Interior Design
  • Construction and Materials
  • Display, Computer Aided Designing
  • Lettering
  • Properties of Material and Paint Technology
  • Furnishing and Fitting

Tips for Interior Designer Kaise Bane

  • Interior Designing course करें
  • 12th Science से करें
  • कोर्स के बाद एंटीरियर डिज़ाइन कंपनी में इंटर्नशिप करें
  • Interior Designer के असिस्टेंट के रूप में काम करें
  • टॉप इंटीरियर डिज़ाइनर को फॉलो करें और उनकी डिजाइन से कुछ नया सीखे 
  • हमेशा क्रिएटिव करने का सोचें
  • अपनी स्किल्स को लगातार डेवलप करते रहे 
  • मिलनसार बने रहे 
  • किये गए प्रोजेक्ट का ब्लू प्रिंट अपने पास रखे

इंटीरियर डिज़ाइनिंग कोर्सेज

इंटीरियर डिज़ाइनर कैसे बने ? इस पहेली की अगली कड़ी है इंटीरियर डिज़ाइनिंग कोर्सेज। इसलिए हमने आपके लिए कुछ ऐसे कोर्सेज की सूची तैयार की है, जो इस क्षेत्र में भारी महत्व रखते हैं :

अंडर ग्रैजुएट प्रोग्राम

  • बैचलर ऑफ फ़ाइन आर्ट्स इन इंटीरियर डिज़ाइन
  • बैचलर ऑफ अप्लाइड साइंस (इंटीरियर आर्किटेक्चर)
  • बैचलर ऑफ इन्वायरमेंटल डिज़ाइन स्टडीज
  • बैचलर ऑफ इंटीरियर डिज़ाइन (ऑनर्स)
  • बीए (ऑनर्स) इंटीरियर एंड स्पेशल डिज़ाइन
  • बी एससी (ऑनर्स) इंटीरियर आर्किटेक्चर एंड प्रॉपर्टी डवलपमेंट
  • बैचलर ऑफ डिज़ाइन इन इंटीरियर आर्किटेक्चर (ऑनर्स)
  • बैचलर ऑफ डिज़ाइन-इंटीरियर डिज़ाइन एंड इन्वायरमेंट्स
  • बैचलर ऑफ साइंस इन होम फर्निशिंग मर्चन्डाइज़िंग
  • बैचलर ऑफ बिल्ट इन्वायरमेंट (इंटीरियर आर्किटेक्चर)
  • बी एससी (ऑनर्स) आर्किटेक्चरल टेक्नोलॉजी एंड डिज़ाइन
  • ऑनर्स बैचलर ऑफ क्राफ्ट एंड डिज़ाइन (फर्नीचर)

Check Out : Fashion Designer Kaise Bane

पोस्ट ग्रैजुएट प्रोग्राम

  • इंटीरियर डिज़ाइन एमए
  • इन्वायरमेंटल डिज़ाइन ऑफ बिल्डिंग (एम एससी)
  • मास्टर ऑफ डिज़ाइन इन इंटीरियर स्टडीज- अडैप्टिव रीयूज
  • एमए इंटीरियर एंड स्पेशल डिज़ाइन
  • क्लाइमेट रिसिलिएन्स एंड इन्वायरमेंटल सस्टेनिबिलिटी इन आर्किटेक्चर (CRESTA) एमएससी
  • मास्टर ऑफ आर्ट्स इन फैमिली एंड कंज्यूमर साइंस – इंटीरियर डिज़ाइन
  • एम एससी इंफ्रास्ट्रक्चर डिज़ाइन एंड मैनेजमेंट
  • कॉमर्सियल इंटीरियर मैनेजमेंट एंड प्रैक्टिस एम एससी
  • मास्टर ऑफ आर्ट्स इन अप्लाइड डिज़ाइन- फर्नीचर एंड वुडवर्किंग

डॉक्टरेट प्रोग्राम्स

  • डॉक्टर ऑफ फिलोस्फी इन इंटीरियर आर्किटेक्चर
  • डॉक्टर ऑफ फिलोस्फी इन इंटीरियर एंड इन्वायरमेंटल डिज़ाइन
  • डॉक्टर ऑफ फिलोसफी इन बिल्ट इन्वायरमेंट

Interior Designing Books

टॉप 5 बुक्स नीचे दी गयी है जो इंटीरियर डिज़ाइनर की तैयारी में आपकी मदद करेंगी । आप इन लिंक पर क्लिक करके अमेज़न से खरीद भी सकते है। 

इंटीरियर डिज़ाइनर शीर्ष विश्वविद्यालय

अपने लिए एक अच्छा कोर्स चुनने के बाद अब आपको एक अच्छा विश्वविद्यालय खोजने की जरूरत है, जहां की सुविधाओं का लाभ उठाकर आप ज्ञान के साथ-साथ अपनी क्षमताओं को और बेहतर कर सकें। हमने आपके लिए दुनिया के शीर्ष विश्वविद्यालयों की सूची तैयार की है, जिसकी जानकारी नीचे दी गई है:

  • न्यूयॉर्क इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी
  • RMIT युनिवर्सिटी
  • स्विनवर्न यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी
  • यूनिवर्सिटी ऑफ कैनबेरा
  • कर्टिन यूनिवर्सिटी
  • यूनिवर्सिटी ऑफ द आर्ट्स, लंदन
  • ग्रिफिथ यूनिवर्सिटी
  • द यूनिवर्सिटी ऑफ द वेस्ट ऑफ इंग्लैंड
  • डलहाउजी यूनिवर्सिटी
  • शेरिडन कॉलेज इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड एडवांस लर्निंग
  • लफबोरफ यूनिवर्सिटी
  • यूनिवर्सिटी ऑफ लिवरपूल
  • सैन डिआगो स्टेट यूनिवर्सिटी
  • स्टीवेन्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी

क्रिकेटर कैसे बने?

भारत में शीर्ष कॉलेज

भारत में इंटीरियर डिज़ाइनिंग का कोर्स ऑफर करने वाले प्रसिद्ध संस्थानों की सूची :

  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिज़ाइन (NID), अहमदाबाद
  • पर्ल एकेडमी
  • इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी (IIFT), चंडीगढ़
  •  चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी, चंडीगढ़
  • आर्च कॉलेज ऑफ डिज़ाइन एंड बिज़नेस, जयपुर
  • JD इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी, मुंबई
  • हैम्सटेक इंस्टीट्यूट ऑफ क्रिएटिव एजुकेशन, हैदराबाद
  • लव ली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी, जालंधर
  • MIT इंस्टीट्यूट ऑफ डिज़ाइन, पुणे
  • इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन डिज़ाइन (INIFD), मुंबई

भारत में इंटीरियर डिज़ाइनर प्रवेश परीक्षा

इंटीरियर डिज़ाइनिंग क्षेत्र को कैरियर के रूप में चुनने के लिए विद्यार्थियों को निम्नलिखित प्रवेश परीक्षाएं देनी होंगी :

AIEED

आर्च कॉलेज ऑफ डिज़ाइन एंड बिज़नेस द्वारा ऑल इंडिया एंट्रेंस एग्ज़ाम फॉर डिज़ाइन (AIEED) का आयोजन कराया जाता है। इस परीक्षा में क्रिएटिव एप्टीट्यूड टेस्ट (CAT) व जेनलर एप्टीट्यूड टेस्ट (GAT) शामिल हैं। विद्यार्थी अपनी AIEEE की रैंक या NATA के स्कोर के आधार पर आवेदन कर सकते हैं। इसके अलावा विद्यार्थियों को अपनी पढ़ाई के पहले साल में PTE परीक्षा पास करनी होती है, ताकि उन्हें UK यूनिवर्सिटी भेजा जा सके।

SEED

सिम्बाइओसिस इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी द्वारा इंटीरियर डिज़ाइनिंग कोर्स में दाख़िला देने के लिए  सिम्बाइओसिस एंट्रेंस एग्ज़ाम फॉर डिज़ाइन (SEED) का आयोजन कराया जाता है। हालांकि, कोविड-19 की वजह से इस वर्ष SEED का आयोजन नहीं कराया जाएगा।

NID प्रवेश परीक्षा

NID डिज़ाइन एप्टीट्यूड टेस्ट का आयोजन नेशनल इंस्टीट्यूट डिज़ाइन (NID) के कॉलेजेस में इंटीरियर डिज़ाइनिंग के UG व PG प्रोग्राम में दाख़िला देने के लिए कराया जाता है। इस परीक्षा में अच्छे अंक लाने पर विद्यार्थी NID के 7 डिज़ाइन कॉलेजेस में से किसी एक में (प्राप्त अंक के अनुसार) दाख़िला ले सकता है।

इंटीरियर डिज़ाइनिंग क्षेत्र में शीर्ष नौकरी

इस क्षेत्र में बेहतर अवसर पाने के लिए हर विद्यार्थी को अपना पोर्टफोलियो तैयार करना पड़ेगा। पोर्टफोलियो एक विद्यार्थी द्वारा अपनी पढ़ाई के दौरान किए गए कार्यों का संग्रह होता है। विद्यार्थी को फोटो, चित्र व डिज़ाइन लगाकर अपने पोर्टफोलियो को बेहद आकर्षक बनाना चाहिए। भारत में इंटीरियर डिज़ाइनिंग के क्षेत्र में शीर्ष नौकरी प्रदाताओं का जिक्र नीचे किया गया है :

  1. ला सोरोगीका
  2. आमिर एंड हमीदा
  3. डिजाइन क्यूब
  4. राजा ऐडेरी
  5. मॉर्फ डिज़ाइन
  6. सेविओ एंड रूपा इंटीरियर कॉन्सेप्ट्स
  7. मैप्स ऑफ इंडिया
  8. द कारिघर्स
  9. द ग्रिड
  10. ZZ आर्किटेक्ट

इस क्षेत्र में बैचलर डिग्री पूरी करने के बाद नौकरी शुरू करने वाले विद्यार्थियों को 93,000 INR से 6,00,000 INR प्रति वर्ष का शुरुआती पैकेज मिलता है। अनुभव के साथ एक इंटीरियर डिज़ाइनर 10-15 लाख प्रति वर्ष तक की कमाई कर सकता है।

Check Out : कैसे बनें रिस्क मैनेजर?

Source: TheBrandBoy-small Business Blog

करियर के अवसर

इस क्षेत्र में अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद आप इंटीरियर डिज़ाइनिंग के क्षेत्र में अपने लिए कैरियर के अवसर तलाश ना चाहेंगे। हमने ऐसे पदों की सूची तैयार की है जिन पर आपको पढ़ाई के बाद नौकरी मिल सकती है :

  •  एक्स बिशन डिज़ाइनर
  • ला इटिंग डिज़ाइनर 
  • किचन डिज़ाइनर
  • आर्किटेक्ट
  • आर्किटेक्चरल टेक्नोलॉजिस्ट
  • प्रोडक्ट डिजाइनर
  • टेक्सटाइल डिजाइनर
  • प्रोडक्शन डिजाइनर

इंटीरियर डिजाइनर कोर्स फीस

इंटीरियर डिजाईन कोर्स में बहुत सारे वर्टीकल होते हैं और इंस्टिट्यूट कोर्स वर्टीकल के तौर पर फीस की मांग करती है, अलग –अलग कॉलेज से इंटीरियर डिजाइनर से जुड़े कोर्स कराये जाते है। कुछ आर्गेनाइजेशन Distance learning के भी सुविधा प्रदान करती है। जैसे फाइन आर्ट्स, स्पेशल डिजाइनिंग, इंटीरियर आर्किटेक्चर, आदि। वही अगर फीस की बात करें तो डिप्लोमा/सर्टिफिकेशन लेवल के कोर्स के लिए एक साल की फीस 20,000 से 2,00,000 रुपया तक हो सकती है।

Job Profiles

  • लैंडस्केप आर्किटेक्ट
  • फ्लोरल डिज़ाइनर
  • इंडस्ट्रियल डिज़ाइनर
  • इंटीरियर डिजाईन फर्म
  • आर्किटेक्चर एंड डिजाईन फर्म
  • इंफ्रास्ट्रक्टर एंड प्रॉपर्टी देवेलोपेर्स
  • फर्नीचर मैन्युफैक्चरिंग एंड डिजाइनिंग फिर्म्स
  • इंटीरियर डिजाईन शॉप्सवेडिंग डेकोरेटर
  • असिस्टेंट डिज़ाइनर
  • क्राफ्ट एंड फाइन आर्टिस्ट्स

List of Top Interior Designer

  1. Manit Rastogi
  2. Tanya Gyani
  3. Gauri Khan
  4. Ambrish Arora
  5. Twinkle Khanna
  6. Monica Khanna
  7. Sussanne Khan
  8. Aamir Sharma
  9. Anjum Jung
  10. Shabnam Gupta

Top Companies

  1. The Karighars
  2. Savio and Rupa Interior Concepts
  3. H&H Studio
  4. TOA Architects
  5. Studio M Interior Design
  6. Morph Design Co. by Prestige Constructions
  7. Design Qube
  8. Carafina
  9. De Panache
  10. Flipspaces
  11. Uniply

Interior Designer Kaise Bane : FAQs

इंटीरियर डिजाइनर बनने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए?

इंटीरियर डिजाइनिंग में करियर बनाने के लिए, उम्मीदवारों को इंटीरियर डिजाइन कोर्स जैसे बीएफए, बीडीएस, इंटीरियर एनवायरनमेंटल डिजाइन में बीए, इंटीरियर में बीवीए, इंटीरियर डिजाइन में सुश्री आदि की आवश्यकता होती है।

इंटीरियर डिजाइनिंग के लिए कौन सा कोर्स सबसे अच्छा है?

किसी के प्रवेश स्तर के आधार पर, उम्मीदवार इंटीरियर डिजाइनिंग के तहत पाठ्यक्रमों की एक विस्तृत श्रृंखला का विकल्प चुन सकते हैं। इंटीरियर आर्किटेक्चर में सबसे अच्छा कोर्स बीडीएस है।

मैं इंटीरियर डिजाइन के लिए कैसे अध्ययन करूं?

उम्मीदवार भारत में, दुनिया भर के विभिन्न संस्थानों में नामांकन कर सकते हैं या ऑनलाइन सीखने के माध्यम से अपने घरों में आराम से अध्ययन कर सकते हैं।

इंटीरियर डिजाइन कोर्स कितने साल का होता है?

इंटीरियर डिजाइन में स्नातक संस्थान के आधार पर 3-4 साल के लिए होता है।

हम आशा करते हैं कि इस लेख से आपको इंटीरियर डिज़ाइनर कैसे बने ? इसकी विस्तृत जानकारी मिली हो। अगर आप हमारा यह लेख पढ़कर विदेश में इंटीरियर डिज़ाइनिंग कोर्स करना चाहते हैं और आपको कॉलेज या कोर्स को लेकर संदेह है, तो Leverage Edu पर हमारे विशेषज्ञों से संपर्क करें। वह आपके सपनों के आधार पर आपको सही कॉलेज व सही कोर्स चुनने में मदद करेंगे। हमारे साथ अपना 30 मिनट का फ्री ई-सेशन आज ही बुक करें और हम आपको वह सहायता प्रदान करेंगे, जिसकी आपके कैरियर को जरूरत है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.

+91
Talk to an expert for FREE

You May Also Like