IAS कैसे बनें?

1 minute read
1.8K views
10 shares

Indian Administrative Service (IAS) भारतीय सिविल सेवा की एक शाखा है। यह भारत सरकार की मुख्य सेवाओं में से एक है। अनिवार्य प्रवेश परीक्षा पास करने के बाद ही , एक IAS अफसर बना जा सकता है और सरकार में भर्ती हुआ जा सकता है। IAS सरकारी क्षेत्र में अपना करियर बनाने के इच्छुक कई कैंडिडेट्स में से एक प्रतिष्ठित और लोकप्रिय करियर विकल्प है। आइए विस्तार से जानते हैं कि IAS kaise bane।

आईएएस अफसर कौन होता है?

मुख्य तौर पर सिविल सेवा परीक्षा में टॉप रैंक हासिल करने वाले उम्मीदवारों को IAS बनाया जाया है। एक IAS अफसर संसद में बनने वाले कानून को अपने इलाकों में लागू करवाते है। साथ ही नई नीतियां या कानून बनाने में भी अहम भूमिका निभाते है। IAS अफसर कैबिनेट सेक्रेटरी, अंडर सेक्रेटरी आदि भी बन सकते हैं।

IAS अधिकारी के वेतन की बात करें तो ये विभिन संरचनाओं के आधार पर होता है। जैसे कि जूनियर स्केल , सीनियर स्केल, सुपर टाइम स्केल। वेतनमानों में अलग अलग वेतन बैंड होते है। साथ ही उन्हें DA, TA भी मिलता है। इसमें कैबिनेट सेक्रेटरी, अपेक्स, सुपर टाइम स्केल के आधार पर सैलरी बढ़ती जाती है।

IAS बनने के लिए स्किल्स

आईएएस बनने के लिए किन-किन स्किल्स की आवश्यकता होती है, उनके नाम इस प्रकार हैं:

  • देशभक्त व्यक्ति
  • अनोखी सोच
  • नेतृत्व की गुणवत्ता
  • जिज्ञासा
  • धैर्य
  • विश्लेषणात्मक क्षमता
  • समय प्रबंधन
  • संचार कौशल
  • निर्णय लेना
  • कल्पना के परे सोचो

IAS अधिकारी के प्रकार 

नीचे आईएएस अफसर की जॉब प्रोफाइल्स इस प्रकार हैं।

  • सब डिविजनल अफसर : सब-डिवीजन में चल रही विभिन्न विकास गतिविधियों के सब डिविजनल ऑफिसर इन चार्ज होते हैं। सब डिविजनल अफसर का काम विभिन्न विभागों के काम के साथ कोऑर्डिनेशन करना है।
  • डिविजनल कमिश्नर : डिविजनल कमिश्नर जनरल एडमिनिस्ट्रेशन से जुड़ी सभी गतिविधियों का कोऑर्डिनेटर होता है जिसमें डिवीजन लेवल पर लॉ एंड आर्डर, रिवेन्यू एडमिनिस्ट्रेशन और डेवलपमेंट एडमिनिस्ट्रेशन शामिल होता है। डिविजनल कमिश्नर अपने डिवीजन में रिवेन्यू एडमिनिस्ट्रेशन का हेड होता है और जिला कलेक्टर के आदेशों के खिलाफ निवेदन सुनता है। वह अपने डिवीजन में पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन के सभी विंग्स के कार्यों का कोऑर्डिनेशन और सुपरविजन करता है।
  • डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट / डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर : डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट डिस्ट्रिक्ट के एडमिनिस्ट्रेशन को सही ढंग से चलाने के लिए जिम्मेदार हैं। वह जिले के भीतर काम करने वाली आधिकारिक एजेंसियों से आवश्यक कोआर्डिनेशन बनाने के लिए चीफ एजेंट है। एक कलेक्टर के रूप में, वह डिस्ट्रिक्ट से रिवेन्यू कलेक्शन के लिए ज़िम्मेदार है।
  • चीफ सेक्रेटरी : चीफ सेक्रेटरी इंटर -डिपार्टमेंटल कोआर्डिनेशन सुनिश्चित करता है। वह कोआर्डिनेशन कमीटीज़ के अध्यक्ष हैं जो इंटर डिपार्टमेंटल डिस्प्यूटन को हल करने के लिए स्थापित किए जाते हैं और सेक्रेटरीज़ को इंटर डिपार्टमेंटल डिफीकल्टीज़ पर सलाह भी देते हैं।
  • कैबिनेट सेक्रेटरी : कैबिनेट सेक्रेटरी केंद्र सरकार के चीफ कोऑर्डिनेटर के रूप में कार्य करता है। वह राजनितिक व्यवस्था और देश की नागरिक सेवाओं के बीच एक कड़ी के रूप में कार्य करता है। एक कैबिनेट सेक्रेटरी की जिम्मेदारी में विभिन्न मिनिस्ट्रीज और डिपार्टमेंट्स की गतिविधियों की निगरानी और कोऑर्डिनेशन करना शामिल है।

आईएएस अफसर कैसे बनें स्टेप बाए स्टेप गाइड

आईएएस अफसर बनने का स्टेप बाय स्टेप गाइड निम्नलिखित है।

  • पहले आपको 12वीं कक्षा किसी भी स्ट्रीम से पास करनी होगी।
  • किसी भी कोर्स से अपनी ग्रेजुएशन पूरी करें।
  • UPSC में IAS के एग्ज़ाम के लिए अप्लाई करें।
  • प्रिलिमिनरी एग्ज़ाम को क्लियर करें।
  • प्रिलिमिनरी क्लियर होने के बाद , मेनज़ एग्जाम भी क्लियर करें।
  • प्रिलिमिनरी और मेनज़ एग्ज़ाम क्लियर करने के बाद इंटरव्यू क्लियर करें।
  • आखिर में LBSNAA में IAS की ट्रेनिंग करें।

12वीं के बाद आईएएस की तैयारी कैसे करें?

सिविल सर्विस एग्ज़ाम के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो आपके पास कम से कम बैचलर डिग्री होनी चाहिए। इस एग्ज़ाम के लिए न्यूनतम परसेंटेज की कोई शर्त नहीं है। यानी अगर आप ग्रेजुएशन कर चुके हैं तो आप परीक्षा दे सकते हैं। वैसे इसके लिए ग्रेजुएशन कर रहे फाइनल ईयर के स्टूडेंट्स भी आवेदन कर सकते हैं।

IAS बनने के लिए कोर्सेज

IAS kaise bane जानने के साथ-साथ कोर्सेज जानने भी आवश्यक हैं, जो इस प्रकार हैं:

IAS अधिकारी बनने के लिए योग्यता

IAS kaise bane में लिए योग्यता इस प्रकार है:

  • कैंडिडेट्स के पास किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी स्ट्रीम में बैचलर डिग्री होनी चाहिए।
  • कैंडिडेट्स जो लास्ट एटेम्पट दे रहे हैं और परिणाम की प्रतीक्षा कर रहे हैं, वे प्रीलिम्स एग्ज़ाम के लिए भी आवेदन कर सकते हैं।
  • सिविल सेवा मुख्य परीक्षा के लिए उपस्थित होने के लिए बैचलर डिग्री पास करने का प्रूफ देना चाहिए।
  • मेनस एग्ज़ाम के लिए आवेदन के साथ डिग्री अटैच करनी होगी।
  • जनरल और EWS के पास 6 अटेम्प्ट्स होते हैं, OBC के पास 9, SC/ST के पास (आयु सीमा तक)
  • IAS परीक्षा में बैठने के लिए न्यूनतम आयु सीमा 21 वर्ष है, वहीं अधिकतम आयु सीमा 32 वर्ष है।

IAS एंट्रेंस एग्ज़ाम डेट्स 2022

प्रिलिमिनरी एग्ज़ाम 2022 की अपडेट कुछ इस प्रकार है।

नोटिफिकेशन की तारीख 02/02/2022
परीक्षा प्रारम्भ होने की तिथि 05/06/2022
परीक्षा की अवधि एक दिन
ऍप्लिकेशन जमा करने की आखरी तारीख 22/02/2022-6.00 pm

IAS बनने के लिए परीक्षा पैटर्न

IAS एक लोकप्रिय और प्रतिष्ठित करियर विकल्प है। IAS अफसर बनने के तीन चरणों को पास करना बेहद ज़रूरी है। उसके बाद ही IAS अफसर बना जा सकता है। IAS kaise bane के चरण इस प्रकार हैं।

प्रारंभिक शिक्षा

परीक्षा का नाम प्रश्नों की संख्या विषय शामिल (संक्षिप्त ) मार्क्स अलॉटेड टाइम अलॉटेड परीक्षा की प्रकृति
एग्ज़ाम 1: जनरल स्टडीज़ (ऑब्जेक्टिव टाइप) 100 हिस्ट्री , पॉलिटी , जियोग्राफी, साइंस , इकॉनमी , करंट अफेयर्स सब्जेक्ट्स से प्रश्न पूछे जाते हैं। 200 2 घंटे कट ऑफ़ के लिए स्कोर पर विचार किया जाएगा
एग्ज़ाम-2: जनरल स्टडीज़-II (CSAT) (ऑब्जेक्टिव टाइप) 80 मैथ्स , लॉजिकल रीज़निंग , रीडिंग कॉम्प्रिहेंशन टॉपिक्स से प्रश्न पूछे जाते हैं। 200 2 घंटे योग्यता प्रकृति उम्मीदवार को CSAT पास करने के लिए 33% प्रतिशत स्कोर करना आवश्यक है।

सिविल सेवा (मुख्य) परीक्षा

परीक्षा विषय अवधि कुल मार्क्स परीक्षा की प्रकृति परीक्षा का प्रकार
परीक्षा A अनिवार्य भारतीय भाषा 3 घंटे 300 योग्यता डिस्क्रिप्टिव
परीक्षा B इंग्लिश 3 घंटे 300 योग्यता डिस्क्रिप्टिव
परीक्षा I निबंध 3 घंटे 250 योग्यता डिस्क्रिप्टिव
परीक्षा II सामान्य अध्ययन 3 घंटे 250 योग्यता डिस्क्रिप्टिव
परीक्षा III सामान्य अध्ययन II 3 घंटे 250 योग्यता डिस्क्रिप्टिव
परीक्षा IV सामान्य अध्ययन III 3 घंटे 250 योग्यता डिस्क्रिप्टिव

इंटरव्यू

इंटरव्यू 275 मार्क्स का होता है। मेंस परीक्षा क्लियर करने के बाद कैंडिडेट्स को पर्सनल इंटरव्यू राउंड के लिए बुलाया जाता है। यह इंटरव्यू लगभग 45 मिनट का होता है। कैंडिडेट का इंटरव्यू एक पैनल के सामने होता है। इंटरव्यू के बाद मेरिट लिस्ट तैयार की जाती है। मेरिट लिस्ट बनाते समय क्वालीफाइंग पेपर के नंबर नहीं जोड़े जाते हैं।

ये भी पढ़ें : UPSC Syllabus in Hindi

IAS तैयारी के लिए टिप्स

IAS kaise bane में यहां कुछ फायदे के टिप्स दिए गए हैं जो आपकी IAS की तैयारी में आपकी मदद करेंगी-

  • कड़ी मेहनत और दृढ़ संकल्प
  • सिलेबस को समझें
  • एक टाइम टेबल बनायें
  • बुनियादी सिद्धांत पर ध्यान दें
  • नोट्स बनायें
  • अखबार पढ़ें
  • मौक टेस्ट्स और पिछले सालों के प्रश्न पत्र को हल करें

UPSC सिविल सर्विस टॉपर्स 2021

रैंक नाम
1 शुभम कुमार
2 जाग्रति अवस्थी
3 अंकिता जैन
4 यश जलूका
5 ममता यादव
6 मीरा क.
7 प्रवीन कुमार
8 जीवनी कार्तिक नगजीभाई
9 अपला मिश्रा
10 सत्यम गाँधी

ये भी पढ़ें : इंजीनियरिंग एंट्रेंस एग्जाम

किताबें और स्टडी मटीरियल

आईएएस अफसर बनने के लिए, उम्मीदवारों को पहले यह जानना चाहिए कि IAS की तैयारी कैसे शुरू करें। IAS की तैयारी आरंभ करने के लिए, कुछ बेस्ट किताबें और स्टडी मटीरियल हैं, जिनसे एंट्रेंस एग्जाम पास करने में मदद मिल सकती है। IAS kaise bane में यह रही किताबों की लिस्ट।

किताबों के नाम और लेखक खरीदने का लिंक
इंडियन पॉलिटी लक्ष्मीकांत द्वारा यहाँ से खरीदें
इंडिया : फिज़िकल एनवायरमेंट (NCERT) यहाँ से खरीदें
इंडिया पीपल एंड इकॉनमी (NCERT) यहाँ से खरीदें
नोट्स शंकर IAS द्वारा यहाँ से खरीदें
‘एंशेंट इंडिया’ RS शर्मा (Old NCERT) द्वारा यहाँ से खरीदें
‘फेसेट्स ऑफ़ इंडियन कल्चर ’ स्पेक्ट्रम द्वारा यहाँ से खरीदें
फंडामेंटल्स ऑफ़ ह्यूमन जियोग्राफी (NCERT) यहाँ से खरीदें
मैप्स ऑक्सफ़ोर्ड स्कूल एटलस यहाँ से खरीदें

IAS बनने के बाद जॉब प्रोफाइल्स और सैलरी

IAS kaise bane जानने के बाद नीचे जॉब प्रोफाइल्स और सैलरी दी गई हैं-

स्पेशलाइजेशन औसत सालाना सैलरी (INR)
SDM और SDO 60,000-1.50 लाख
सब कलेक्टर 60,000-1.50 लाख
DM 60,000-1.50 लाख
सेक्रेटरी (मंत्री) 1-2 लाख
चीफ सेक्रेटरी (राज्य) 2-2.5 लाख
केंद्रीय सचिव (सरकार के मंत्रालय) 2-2.5 लाख
भारत के कैबिनेट सचिव 2-2.5 लाख

FAQs

आईएएस बनने के लिए कौन सा सब्जेक्ट लेना चाहिए?

कैंडिडेट्स बारहवीं में कोई भी स्ट्रीम चुन सकते हैं।

12वीं के बाद आईएएस की तैयारी कैसे करें?

कैंडिडेट्स को किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी स्ट्रीम में बैचलर डिग्री होनी चाहिए।
उम्मीदवार जो अंतिम परीक्षा के लिए उपस्थित हुए हैं और परिणाम की प्रतीक्षा कर रहे हैं, वे प्रीलिम्स एग्ज़ाम्स के लिए भी आवेदन कर सकते हैं। हालांकि, किसी को सिविल सर्विस मेन एग्ज़ाम के लिए उपस्थित होने के लिए बैचलर डिग्री पास करने का प्रमाण देना चाहिए। मेन एग्ज़ाम के लिए आवेदन के साथ डिग्री अटैच करनी होगी। सरकार या इसके समकक्ष मान्यता प्राप्त व्यावसायिक और तकनीकी योग्यता रखने वाले उम्मीदवार भी IAS परीक्षा के लिए आवेदन करने के पात्र हैं।

आईएएस में कितने पोस्ट होते है?

1. सब डिविजनल अफसर
2. डिविजनल कमिश्नर
3. डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट /डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर
4. चीफ सेक्रेटरी
5. कैबिनेट सेक्रेटरी

आईएएस अफसर का कार्य क्या होता है?

एक आईएएस अफसर की नौकरी में नीतियों को तैयार करना और विभिन्न मुद्दों पर मंत्रियों को सलाह देना, लॉ और आर्डर बनाए रखना, स्टेट गवर्मेंट और केंद्र सरकार की पॉलिसीज के इम्प्लीमेंटेशन की निगरानी करना, रिवेन्यू और रिवेन्यू अफेयर्स में अदालतों के रूप में कार्य करना, पब्लिक फंड्स के खर्चे का सुपरविजन करना शामिल है। फाइनेंशियल ओनरशिप के क्राइटेरिया के अनुसार और संबंधित विभाग के लिए मिनिस्टर के काउन्सलिंग से पॉलिसी के असेस्मेंट और इम्प्लीमेंटेशन सहित सरकार के दैनिक मामले को संभालना होता है।

भारत के पहले आईएएस अफसर कौन थे?

सत्येंद्रनाथ टैगोर इस परीक्षा को पास करने वाले पहले भारतीय थे ।

हर साल कितने आईएएस बनते है?

IAS परिणामों का विश्लेषण करने के बाद, यह स्पष्ट है कि हर साल भारतीय प्रशासनिक सेवाओं में 180 उम्मीदवारों का चयन किया जाता है।

आईएएस की तैयारी कब से शुरू करें?

आईएएस के लिए तैयारी शुरू करने के लिए कोई विशेष उम्र निर्धारित नहीं होती है। लेकिन IAS परीक्षा में बैठने के लिए न्यूनतम आयु 21 वर्ष है। 

आईएएस की सैलरी क्या होती है?

7वें वेतन आयोग के मुताबिक, IAS ऑफिसर की बेसिक सैलरी INR 56,100 प्रति महीना होती है।

आशा करते हैं कि इस ब्लॉग से आपको IAS kaise bane के बारे में जानकारी हासिल हुई होगी। यदि आप विदेश में पढ़ना चाहते हैं तो हमारे Leverage Edu के एक्सपर्ट्स से 1800 572 000 पर कॉल कर आज ही 30 मिनट का फ्री सेशन बुक कीजिए।

Loading comments...
15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert