कंपनी सेक्रेटरी कैसे बनें?

1 minute read
1.3K views
Leverage Edu Default Blog Cover

कम्पनी सेक्रेटरी निजी क्षेत्र की कम्पनियों तथा सार्वजनिक क्षेत्र के संस्थान का एक उच्च पद है। आजकल कॉर्पोरेट वर्ल्ड एक कंपनी सेक्रेटरी CEO, CFO और मैनेजिंग डायरेक्टर के साथ की मैनेजीरियल पर्सनल के रूप में पहचाने जाने के द्वारा इस आधारहीन धारणा को मात देता है। Company Secretary Kaise Bane के बारे में विस्तार से जानने के लिए यह ब्लॉग पूरा पढ़ें।

कंपनी सेक्रेटरी कौन होते हैं?

एक कंपनी सेक्रेटरी, लीगल एक्सपर्ट या कंपनी के कुशल एडमिनिस्ट्रेशन को सुनिश्चित करने के लिए एककंप्लायंस ऑफ़िसर है। वे कॉर्पोरेट और सिक्योरिटी लॉ के एक्सपर्ट हैं, जो स्टटूटोरी और लीगल कंप्लायंस और अधिकारियों के निर्णय लो लागु करते हैं। 

इसके अलावा, वे बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टर के चीफ एडवाइजर के रूप में कार्य करते हैं, जो फाइनेंसियल रिपोर्ट बनाने, बिज़नेस करने, कॉर्पोरेट स्ट्रेटेजी विकसित करने, कॉन्फ्लिक्ट ऑफ़ इंटरेस्ट वाली स्थितियों से निपटने आदि के तरीके सुझाते हैं। Company Secretary Kaise Bane के तरीके को समझने के लिए, यह एक कंपनी में उनकी जिम्मेदारियों से परिचित होना आवश्यक है।

यह भी पढ़ें: चार्टर्ड अकाउंटेंट कैसे बनें?

कंपनी सेक्रेटरी के कार्य व जिम्मेदारियां

कंपनी सेक्रेटरी एक बहु विषयक प्रोफ़ेशन है, जो निम्नलिखित कार्यों की सूची प्रदान करता है। कंपनी सेक्रेटरी के कार्य व जिम्मेदारियों की सूची नीचे दी गई है:

  • कंपनी सेक्रेटरी बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टर्स को असिस्ट करते हैं और इसके साथ विशेष सलाह भी देते हैं।
  • यह चीफ एडमिनिस्ट्रेटिव अफसर के तौर पर कार्य करते हैं, जहाँ वें कंपनी प्रशासन की गतिविधियों का ध्यान रखते है।
  • कंपनी सेक्रेटरी कंपनी के कानूनी और गोपनीय दस्तावेज़ों को सुरक्षित रखते है।
  • वह कॉर्पोरेट मीटिंग्स प्रमुख रूप से बोर्ड मीटिंग पर विचार विमर्श करना, बोर्ड मीटिंग आयोजन करना, क्लाइंट को संभालना, गवर्नमेंट और प्राइवेट प्रतिनिधि मंडल के मुलाकातों की देख रख इत्यादि करते हैं।
  • कंपनी सेक्रेटरी एक लीगल एडवाइजर, कॉर्पोरेट प्लानर के तौर पर कार्य करते है और कंपनी को किसी भी लीगल मैटर संबंधी क्षेत्रों में असिस्ट करते हैं।
  • कंपनी सेक्रेटरी एक कॉर्पोरेट पालिसी मेकर के तौर पर कार्य करते है और शार्ट टर्म लॉन्ग टर्म कॉर्पोरेट पॉलिसीस को एक साथ हैंडल करते हैं।
  • उनकी मुख्य ज़िम्मेदारी होती है क्लाइंट और कॉर्पोरेट इवेंट्स को मैनेज करना।
  • कंपनी सेक्रेटरी को मैनेजमेंट और फाइनेंस का प्रचुर मात्रा में ज्ञान होता है वह कंपनी के डायरेक्टर को सभी ज़रूरी जानकारी प्रदान करते है।

यह भी पढ़ें: सीए-फाउंडेशन 2022

कंपनी सेक्रेटरी कोर्स सिलेबस

एक बार जब आप 10+2 पूरी कर लेते हैं, तो आप कंपनी सेक्रेटरी कोर्स कर सकते हैं। CS का कोर्स तीन वर्ष का है, यह कोर्स 3 चरणों में पूरा होता है। Company Secretary Kaise Bane के लिए सिलेबस नीचे बताया गया है:

  1. फाउंडेशन कोर्स
  2. एग्जीक्यूटिव कोर्स
  3. प्रोफ़ेशनल कोर्स

हालांकि, जो छात्र ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद CS कोर्स में शामिल होना चाहते हैं, वे फाउंडेशन कोर्स को छोड़ सकते हैं। CS कोर्स के तीनों चरणों की विस्तृत जानकारी नीचे दी गई है:

1. फाउंडेशन कोर्स (4 पेपर )

CS के फाउंडेशन कोर्स में 4 पेपर होते हैं नीचे आपको चारों पेपर के बारे में बताया जा रहा है, जो आपके लिए ज़रूरी है।

  • बिज़नेस एनवायरनमेंट एंड एंटरप्रेंयूर्शिप
  • बिज़नेस इकोनॉमिक्स
  • बिज़नेस मैनेजमेंट, एथिक्स, लॉ एंड कम्युनिकेशन
  • फंडामेंटल्स ऑफ़ एकाउंटिंग एंड ऑडिटिंग

2. एग्जीक्यूटिव कोर्स (7 पेपर )

CS के एग्जीक्यूटिव कोर्स में 7 पेपर होते हैं, जिनके बारे में नीचे बताया जा रहा है:

ग्रुप 1

  • कंपनी लॉ
  • इकोनॉमिक्स एंड कमर्शियल लॉ
  • टैक्स लॉ एंड प्रैक्टिस
  • कॉस्ट एंड मैनेजमेंट एकाउंटिंग

ग्रुप 2

  • कंपनी एकाउंट्स एंड ऑडिटिंग प्रैक्टिसेज
  • इंडस्ट्रियल लेबर एंड जनरल लॉ
  • कैपिटल मार्केट एंड सिक्योरिटीज लॉ

3. प्रोफ़ेशनल कोर्स (9 पेपर )

CS के प्रोफ़ेशनल प्रोग्राम में 9 पेपर होते हैं, जिनके बारे में नीचे बताया जा रहा है:

ग्रुप 1

  • एडवांस्ड कंपनी लॉ एंड प्रैक्टिस
  • कॉर्पोरेट रिस्ट्रक्चरिंग, वैल्यूएशन एंड इन्सॉल्वेंसी
  • सेक्रेटेरियल ऑडिट, ड्यू डिलिजेंस एंड कंप्लायंस मैनेजमेंट

ग्रुप 2

  • फाइनेंशियल, ट्रेज़री एंड फोरेक्स मैनेजमेंट
  • एथिक्स, गवर्नेंस एंड सस्टेनेबिलिटी
  • इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी एंड सिस्टम्स ऑडिट

ग्रुप 3

  • एडवांस्ड टैक्स लॉ एंड प्रैक्टिस
  • ड्राफ्टिंग, अपीयरेंस एंड प्लीडिंग
  • ऐच्छिक (आप 5 में से 1 विषय चुन सकते हैं)   
    • बैंकिंग लॉ एंड प्रैक्टिस
    • इन्शुरन्स लॉ एंड प्रैक्टिस
    • कैपिटल, कमोडिटी एंड मनी मार्केट
    • इंटेलेक्चुअल बिज़नेस- लॉ एंड प्रैक्टिस
    • इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट- लॉ एंड प्रैक्टिस

यह भी पढ़ें: CA IPCC

कंपनी सेक्रेटरी कैसे बनें?

एक महत्वाकांक्षी कंपनी सेक्रेटरी उम्मीदवार के लिए तीन चरणों को पूरा करना होता है। तीन चरणों में फाउंडेशन, इंटरमीडिएट और फाइनल कोर्स के लिए अप्लाई करना हैं। Company Secretary Kaise Bane के लिए स्टेप बाय स्टेप प्रोसेस नीचे दी गई है:

  • अपनी 12वीं तक की स्कूली शिक्षा कॉमर्स स्ट्रीम से पूरी करनी होगी।
  • 12वीं कक्षा पूरी करने के बाद छात्रों को इंस्टिट्यूट ऑफ़ कंपनी सेक्रेटरीज ऑफ़ इंडिया में फाउंडेशन कोर्स के लिए आवेदन करना होगा। यह कोर्स आठ महीने की अवधि का होता है। प्रवेश के तीन साल के भीतर कोर्स को पास करना आवश्यक है।
  • एक बार जब छात्र ICSI फाउंडेशन कोर्स पूरा कर लेते हैं तो आप ICSI इंटरमीडिएट कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं।
  • ICSI इंटरमीडिएट कोर्स पास करने के बाद छात्र ICSI के अंतिम चरण में एनरोलमेंट के लिए पात्र हैं, जो कि CS बनने की प्रक्रिया में अंतिम स्टेप है।
  • अगला कदम ट्रेनिंग पूरी करना है। कोर्स के अंतिम स्तर को पूरा करने के बाद छात्रों को शार्ट टर्म ट्रेनिंग से गुजरना चाहिए।
  • इंटरमीडिएट लेवल के दौरान और अंतिम स्तर के बाद ट्रेनिंग द्वारा प्राप्त प्रैक्टिकल नॉलेज ICSI की एसोसिएट मैम्बरशिप प्राप्त करने में मदद करती है।
  • एक बार छात्रों का सफल प्रशिक्षण पूरा हो जाने के बाद, वे एसोसिएट कंपनी सेक्रेटरी बनने के योग्य हो जाते हैं।
  • कंपनी सेक्रेटरी के करियर का मुख्य मार्ग तभी शुरू होता है, जब वे एसोसिएट कंपनी सेक्रेटरी के रूप में योग्य होते हैं।

योग्यता

Company Secretary Kaise Bane के लिए आवश्यक योग्यता इस प्रकार हैं।

  • आपने 10वीं के बाद की पढ़ाई कॉमर्स स्ट्रीम से पूरी की हो।
  • 12वीं में कम से कम 50% अंक प्राप्त किए हों।
  • यदि आप 12वीं के बाद छात्र को इंस्टिट्यूट ऑफ़ कंपनी सेक्रेटरीज ऑफ़ इंडिया में फाउंडेशन कोर्स के लिए रजिस्ट्रेशन करना होगा।

CS एग्ज़ाम के लिए कट ऑफ़ डेट्स

CS एग्ज़ाम हर साल दिसंबर और जून में ICSI द्वारा आयोजित की जाती है। CS बनने का लक्ष्य रखने वाले उम्मीदवारों को इस परीक्षा की नींव के साथ-साथ एग्जीक्यूटिव स्तर पर सूचना प्राप्त करने की आवश्यकता होती है। यहां हर साल CS एग्ज़ाम दिसंबर और जून के लिए संभावित कटऑफ तिथियां दी गई हैं। Company Secretary Kaise Bane में जानते हैं उन डेट्स के बारे में:

स्तर दिसंबर परीक्षा जून परीक्षा
फाउंडेशन मार्च 31 30 सितंबर
एग्जीक्यूटिव 28 फरवरी (दोनों ग्रुप)31 मई (एकल ग्रुप) 31 अगस्त (दोनों ग्रुप ) 30 नवंबर (एकल ग्रुप )

CS कोर्स के लिए आवश्यक दस्तावेज़

यदि आप कंपनी सेक्रेटरी बनने के बारे में सोच रहे हैं, तो CS कोर्स के लिए आवेदन करने के लिए आवश्यक दस्तावेज़ों की सूची नीचे दी गई है।

  1. लेटेस्ट फोटोग्राफ़
  2. सिग्नेचर
  3. डेट ऑफ़ बर्थ प्रमाण के लिए सेकेंडरी स्कूल सर्टिफिकेट
  4. हायर सेकंडरी सर्टिफिकेट एग्ज़ाम मार्कशीट
  5. BCom, MCom और CA डिग्री की कॉपी
  6. मेडिकल सर्टिफिकेट
  7. कास्ट सर्टिफिकेट फॉर SC/ST/OBC
  8. आधार कार्ड, PAN कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस या पासपोर्ट

यह भी पढ़ें: बेस्ट स्टॉक ट्रेडिंग कोर्सेज

एग्ज़ाम फीस

CS कोर्स में प्रवेश पूरे वर्ष छात्रों के लिए खुला रहता है और परीक्षाएं वर्ष में दो बार होती हैं। उम्मीदवारों को कोर्स को 3 चरणों में पूरा करना होता है। छात्र को प्रत्येक पेपर में न्यूनतम 40% अंक लाने होते हैं। इस कोर्स की फीस तीनों चरणों के अनुसार अलग-अलग है जिनके बारे में नीचे बताया गया है:

Foundational Programme: 1200 रूपये
Executive Programme: 1200 रूपये ( पर ग्रुप )
Professional Programme: 1200 रूपये ( पर ग्रुप )

CS कोर्स से जुड़ी ज़रूरी बातें

इंस्टिट्यूट ऑफ़ कंपनी सेक्रेटरीज ऑफ़ इंडिया (ICSI) और विभिन्न देशों में CS प्रोग्राम को नियंत्रित करने वाले अन्य मान्यता प्राप्त इंस्टिट्यूट, इंग्लिश को शिक्षा के मुख्य माध्यम के रूप में उपयोग करते हैं। हालांकि, भारत में केंद्र और राज्य सरकारों की बढ़ती मांग के साथ, CS प्रोग्राम के लिए हिंदी और अन्य क्षेत्रीय भाषाओं को महत्व दिया जाता है। Company Secretary Kaise Bane से जुड़ी कुछ ज़रूरी बातें नीचे बताई गई है:

  • Student Induction Program (SIP): एग्जीक्यूटिव कोर्स के लिए रजिस्ट्रेशन के 6 महीने के अंदर छात्रों को 7 दिनों के SIP में शामिल होना ज़रूरी है।
  • Computer Training Program: एग्जीक्यूटिव प्रोग्राम एग्जामिनेशन में शामिल होने के लिए एनरोलमेंट प्राप्त करने के लिए 70 घंटे के कंप्यूटर ट्रेनिंग प्रोग्राम की आवश्यकता होती है।
  • Executive Development Program: छात्र 15 महीने के कार्यकाल के दौरान किसी भी समय कार्यकारी कार्यक्रम की परीक्षा पूरी करने के बाद EDP के 8 दिन पूरे कर सकते हैं।
  • Professional Development Program: छात्र 15 महीने के कार्यकाल के दौरान किसी भी समय एग्जीक्यूटिव कोर्स पास करने के बाद 24 घंटे का PDP ट्रेनिंग पूरा कर सकते हैं।
  • 15 Months Training: एग्जीक्यूटिव प्रोग्राम एग्जामिनेशन पास करने और 8 दिन का EDP पूरा करने के बाद 15 महीने की ट्रेनिंग करनी होगी।
  • 3 months Training: उन छात्रों के लिए जिन्होंने प्रोफ़ेशनल प्रोग्राम एग्जामिनेशन पास की है और जिन्होंने 12 महीने का ट्रेनिंग प्रोग्राम नहीं किया है। साथ ही 15 महीने की ट्रेनिंग पूरी करने वालों को 3 महीने की ट्रेनिंग की आवश्यकता नहीं है।
  • Professional Program examination: प्रोफेशनल प्रोग्राम एग्जामिनेशन पास करने और SIP, EDP और 15 मंथ ट्रैनिंग पूरा करने के बाद स्टॉक एक्सचेंज, फाइनेंसियल एंड बैंकिंग इंस्टीटूशन, रजिस्ट्रार ऑफ़ कम्पनीज (ROC) और मैनेजमेंट कंसल्टेंसी फर्म जैसी स्पेशलाइज्ड एजेंसी में अतिरिक्त 15 दिनों की ट्रेनिंग करनी होगी।
  • Management Skills Orientation Program (MSOP): प्रोफेशनल प्रोग्राम, EDP और 15 मंथ ट्रेनिंग को पूरा करने के बाद 15 दिनों की अवधि के लिए MSOP के लिए जा सकते हैं।

CS किस कंपनी को रखना आवश्यक है?

किसी कंपनी में CS की नियुक्ति के लिए अनिवार्य आवश्यकता नीचे दी गई है:

  • ऑल लिस्टेड कंपनी
  • ऑल पब्लिक कंपनी जिनका पेड अप शेयर कैपिटल 5 करोड़ से 10 करोड़ के बीच हो।
  • ऑल प्राइवेट कंपनी जिनका पेड अप शेयर कैपिटल 5 करोड़ से 10 करोड़ के बीच हो।

क्या भारत में CS कोर्स करने के बाद विदेश में काम कर सकते हैं?

ग्लोबलाइजेशन के बढ़ते स्तर के साथ, विभिन्न देशों की कंपनी, CS की भर्ती कर रहीं हैं। भारत प्रमुख रूप से यूके, सिंगापुर, थाईलैंड, मलेशिया, ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों के साथ एक आपसी समझौता कर रहा है और कई अन्य CS प्रोफ़ेशनल्स के साथ जुड़ रहा है।

विदेश में CS के लिए करियर स्कोप

भारत के अलावा कई देश ऐसे भी हैं जहाँ कंपनी सेक्रेटरी की जरूरत रहती है। नीचे दिए गए लिस्ट में आप इन देशों के बारे में जान सकते हैं।

यूनाइटेड किंगडम

ICSI ने ICSA, UK के साथ एक मेमोरेंडम ऑफ़ अंडरस्टैंडिंग (MoU) में प्रवेश किया है। यह मेमोरेंडम दोनों संगठनों के बीच अधिक से अधिक संपर्क को प्रोत्साहित करने और  CS प्रोग्राम को अधिक पहुँच में बनाने की अनुमति देने के उद्देश्य से दोनों देशों के कंपनी सचिवों को मान्यता देता है। ICSA को UK, रिपब्लिक ऑफ़ आयरलैंड, क्राउन डिपेंडेंसी, द कैरेबियन, द मिडिल ईस्ट, मॉरीशस, श्रीलंका और सब- सहारन उप सहारा अफ्रीका में पेशेवरों को नियंत्रित करने वाले चार्टर्ड गवर्नेंस इंस्टिट्यूट के रूप में जाना जाता है।

ऑस्ट्रेलिया

गवर्नेंस इंस्टिट्यूट ऑफ़ ऑस्ट्रेलिया ICSI जैसे तुलनीय CS कोर्सेज प्रदान करता है जहां आपको चार्टर्ड सेक्रेटरी ऑस्ट्रेलिया की सदस्यता मिल सकती है और परिणामस्वरूप आपकी पसंद की नौकरी मिल सकती है। ऑस्ट्रेलिया में  कंपनी सेक्रेटरी को गवर्नेंस प्रोफ़ेशनल के रूप में जाना जाता है। वास्तव में ऑस्ट्रेलिया में कंपनियां गैर-योग्य उम्मीदवारों को नियुक्त करती हैं और ICSA मैम्बरशिप प्राप्त करने के लिए धन भी प्रदान करती हैं।

सिंगापुर

सिंगापुर एसोसिएशन ऑफ़ द इंस्टिट्यूट ऑफ़ चार्टर्ड सेक्रेटरीज एंड एडमिनिस्ट्रेटर्स (SAICSA) का सिस्टम ऑफ़ ट्रेनिंग चार्टर्ड सेक्रेटरीज के प्रशिक्षण की एक प्रणाली का समर्थन करता है। वास्तव में, सिंगापुर में प्रत्येक कंपनी के लिए अप्पॉइंट के बाद पहले 6 महीनों के भीतर एक कंपनी सेक्रेटरी नियुक्त करना अनिवार्य है।

कंपनी सेक्रेटरी बनने के लिए खास बुक्स

नीचे कुछ महत्वपूर्ण पुस्तकों का उल्लेख किया गया है जो Company Secretary Kaise Bane इसमें आपकी मदद करेंगी:

बुक Buy Here
Tax Laws and Practice By Sangeet Kedia Buy Here
Company Law By Sangeet Kedia Buy Here
Taxman Company Accounts and Auditing by NS Zad Buy Here
Cost and Management Accounting by NS Zad Buy Here
CS Executive Company Law by NS Zad Buy Here
Economic and Commercial Laws by Tejpal Seth Buy Here

यह भी पढ़ें: IFS ऑफिसर कैसे बने?

सैलरी

एक कंपनी सेक्रेटरी की औसत शुरुआती सैलरी 3 से 5 लाख रुपए सालाना है। यदि आपके पास अच्छा अनुभव है, तो आपकी सालाना सैलरी 10 से 12 लाख रुपए हो सकती है।

FAQ

CS कोर्स किसके द्वारा कराया जाता है?

CS कोर्स इंस्टिट्यूट ऑफ़ कंपनी सेक्रेटरीज ऑफ़ इंडिया द्वारा कराया जाता है।

CS कितने वर्ष का कोर्स है?

CS 3 वर्ष का कोर्स है, जिसे तीन चरणों में बांटा गया है।

कंपनी सेक्रेटरी कोर्स के लिए क्या योग्यता चाहिए?

कंपनी सेक्रेटरी कोर्स के लिए आवेदक के पास 12वीं तक की स्कूली शिक्षा और बैचलर डिग्री होनी आवश्यक है।

कंपनी सेक्रेटरी का वेतन कितना होता है?

एक कंपनी सेक्रेटरी की औसत शुरुआती सैलरी 3 से 5 लाख रुपए सालाना है। यदि आपके पास अच्छा अनुभव है, तो आपकी सालाना सैलरी 10 से 12 लाख रुपए हो सकती है।

उम्मीद है, इस ब्लॉग में आपको Company Secretary Kaise Bane के बारे में सभी आवश्यक जानकारी मिल गई होगी। के इस सवाल का उत्तर दे दिया होगा। यदि आप भी विदेश में पढ़ाई करना चाहते हैं, तो आज ही 1800 572 000 पर कॉल करके हमारे Leverage Edu के विशेषज्ञों के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करें। वे आपको उचित मार्गदर्शन के साथ ऊपर दी गई सभी सुविधाएं प्रदान करने में मदद करेंगे।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert