मैकेनिकल इंजीनियरिंग में बनाएं करियर

Rating:
5
(1)
मैकेनिकल इंजीनियरिंग

Statista.com की 2019 की report के अनुसार भारत में हर साल 7,82,000 students मैकेनिकल इंजीनियरिंग branch में admission लेते हैं। मैकेनिकल इंजीनियर automation engineering, manufacturing engineering, robotics और instrumentation और control engineering के विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञों के साथ काम करते हैं। इस ब्लॉग में आप मैकेनिकल इंजीनियरिंग के बारे में विस्तार से जानेंगे।

मैकेनिकल इंजीनियरिंग में करियर: कोर्स वर्क और ट्रेनिंग

मैकेनिकल इंजीनियरिंग में करियर बनाने से पहले, आपको proposed degree programs का एक overview देना महत्वपूर्ण है। BTech के सबसे लोकप्रिय courses में मैकेनिकल इंजीनियरिंग, Bachelor of Science में BEng degree के साथ मैकेनिकल इंजीनियरिंग में शामिल हैं।

मैकेनिकल इंजीनियरिंग courses engineering, mathematics, physics और chemistry के basic fundamentals के साथ-साथ heat transfer engineering, product design, mechatronics engineering, management आदि जैसे उन्नत विषयों को कवर करता है। Best मैकेनिकल इंजीनियरिंग colleges में course development के multidimensional तरीके को प्रोत्साहित करने के लिए research activities, workshops, industrial placements आदि के लिए innumerable opportunities भी प्रदान करते हैं।

स्किल डेवलपमेंट के ये कोर्स, सफलता की राह करेंगे आसान

मैकेनिकल इंजीनियर क्या करते हैं?

एक mechanical engineer के कार्य नीचे दिए गए हैं।

  • मैकेनिकल इंजीनियर mechanical devices समस्याओं का analysis करते हैं और उन समस्याओं को हल करते हैं।
  • डिवाइस का एक prototype विकसित करते हैं।
  • Prototype के test करते हैं।।
  • Mechanical devices को design या नया स्वरूप देते हैं।
  • Device के लिए blueprint तैयार करते हैं।
  • Test के परिणामों का विश्लेषण और आवश्यकतानुसार design में बदलाव करते हैं।
  • Manufacturing process के लिए काम करते हैं।

Motivational Poems in Hindi

योग्यता (Eligibility)

मैकेनिकल इंजीनियरिंग में सफलतापूर्वक अपना करियर बनाने के लिए professional qualification होना आवश्यक है। इस प्रकार, मैकेनिकल इंजीनियरिंग या किसी अन्य संबंधित क्षेत्र के क्षेत्र में degree होना ज़रूरी है। नीचे eligibilities इस प्रकार हैं।

  • UG Courses के लिए: किसी मान्यता प्राप्त institute से science stream विषयों के साथ 10+2 की औपचारिक शिक्षा 55% अंकों के साथ पूरी की होनी ज़रूरी है।
  • PG Courses के लिए: न्यूनतम 3.0 GPA या equivalent के साथ मैकेनिकल इंजीनियरिंग में BTech या BE जैसी degree 50% अंकों के साथ पूरी की होनी ज़रूरी है।
  • उम्मीदवारों को इस क्षेत्र के postgraduate courses में admission पाने के लिए GRE qualification प्राप्त करने की आवश्यकता है।
  • अगर आप विदेश में mechanical engineering करना चाहते हैं तो अंग्रेजी भाषा प्रवीणता परीक्षा जैसे IELTS, TOEFL, आदि में एक अच्छा स्कोर।
  • LOR and SOP

केंद्रीय विद्यालय एडमिशन

मैकेनिकल इंजीनियरिंग में करियर: Career Path

मैकेनिकल इंजीनियरिंग के graduates या तो manufacturing, systems, production या design की traditional industries में काम कर सकते हैं। वहीं B.Tech के बाद PhD का option भी आप चुन सकते हैं या फिर विश्वविद्यालयों और संगठनों में researcher बन सकते हैं।

इसके अलावा, industry में कुछ वर्षों के अनुभव के बाद, आप senior level की भूमिकाओं में admission लेने के लिए MBA, या master of management studies जैसी advanced degree भी प्राप्त कर सकते हैं। आइए इस क्षेत्र में करियर के विकल्पों पर एक नजर डालते हैं। 

Mechanical Engineering Careers List

Automotive Engineer

मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने के बाद, आप इस क्षेत्र में वाहनों के design, production और development के क्षेत्रों में काम करने का विकल्प चुन सकते हैं। Exhaust, hydraulics, aerodynamics, emissions के systems में सुधार की जिम्मेदारियों को संभालने के साथ-साथ financial और cost management का ध्यान रख सकते हैं।

CLAT की परीक्षा

Aerospace Engineer

एक aerospace engineer के रूप में काम करते हुए आप aircraft, satellites, weapon systems, missiles आदि के design और mechanical systems के निर्माण और सुधार में काम करते हैं। इसके अलावा, कोई भी विमान के specific components में specialization का चयन कर सकता है। Aerospace engineer plane accidents और दुर्घटनाओं की जांच में भी काम करते हैं। इस क्षेत्र में मैकेनिकल इंजीनियरिंग में करियर बनाने के लिए, एक advanced degree के साथ-साथ कुछ वर्षों के उद्योग के अनुभव के combination की आवश्यकता होती है।

E Kalyan Jharkhand Scholarship

Manufacturing Systems Engineer

कई industries में manufacturing process और systems मैकेनिकल इंजीनियरिंग में करियर बनाने के लिए कई तरह के अवसर प्रदान करती हैं। सामान्य कार्यों में शामिल हो सकते हैं, raw material की quality की supervision, ​​efficient production lines, माल की बर्बादी और कई अन्य जिम्मेदारियां होती हैं।

Engineering Consultant

आमतौर पर प्रबंधन में एक वरिष्ठ भूमिका मानी जाती है, इंजीनियरिंग सलाहकार बड़े पैमाने पर परियोजनाओं के प्रभारी होते हैं जिनमें कोर इंजीनियरिंग और प्रबंधकीय कौशल दोनों का भारी उपयोग शामिल होता है। वे project के समय पर और completion सुनिश्चित करने के लिए designers, health and safety experts, manufacturers, production engineers और quality engineers के साथ नियमित रूप से संपर्क करते हैं। मैकेनिकल इंजीनियरिंग के बाद project management में MBA करना भी बेहतर विकल्प माना जाता है।

जियो स्कॉलरशिप (Jio Scholarship)

Nuclear Engineer

एक परमाणु इंजीनियर के रूप में सेवा करते हुए, आप efficiency और stability बनाए रखने के लिए nuclear power plants के design और रखरखाव के लिए काम करते हैं। इसके अलावा, कार्यों में health, safety regulatory standards की supervision, ​​operational problems को हल करना, environmental concerns, आदि शामिल हो सकते हैं। परमाणु इंजीनियर भी अक्सर सरकार के संपर्क में रहते हैं। Nuclear power plants के उचित कामकाज को officials और power management professionals सुनिश्चित करते हैं।

More Options

मैकेनिकल इंजीनियरिंग में आपके लिए अन्य career options इस प्रकार हैं।

  • CAD Technician
  • Instrumentation and Control Engineer
  • Maintenance Engineer
  • Technical Sales Engineer
  • Production Manager

Sitaram Jindal Scholarship (सीताराम जिंदल स्कॉलरशिप)

मैकेनिकल इंजीनियरिंग सब्जेक्ट्स

मैकेनिकल इंजीनियरिंग में पढ़ाए जाने वाले subjects इस प्रकार हैं।

  • Computational Fluid Dynamics and Heat Transfer
  • Computer aided Design of Thermal Systems
  • Fundamentals of Casting and Solidification
  • Industrial Engineering and Operation Research
  • Modeling of Turbulent Combustion
  • Principal of Vibration Control
  • Railroad Vehicle Dynamics
  • Robot Manipulators Dynamics and Control
  • Transition and Turbulence
  • Wave Propagation in Solids

Top Indian Universities

मैकेनिकल इंजीनियरिंग courses offer करनी वाली देश की top 10 universities के नाम नीचे हैं।

Institution Courses & Fees (year/रुपये)
IIT Madras B.Tech 75,116
M.Tech 23,070
IIT Delhi B.Tech 2,20,300
M.Tech 1,32,900
IIT Mumbai B.Tech 2,28,000
M.Tech 32,000
IIT Kharagpur B.Tech 82,070
M.Tech 2,31,500
Kalasalingam Academy of Research and Education B.Tech 1,20,600
M.Tech 80,600
IIT Kanpur B.Tech 2,15,600
M.Tech 2,14,050
IIT Roorkee B.Tech 2,21,700
M.Tech 6,50,000 (Total Fees)
BITS Pilani B.Tech 5,08,475
M.Tech 5,12,775
IIT Guwahati B.Tech 2,19,350
M.Tech 2,01,800
Vellore Institute of Technology B.Tech 1,98,000
M.Tech 1,53,000

Top Foreign Universities

Foreign की top 10 universities के नाम इस प्रकार हैं।

Universities Fees (year/रुपये)
University of Toronto, Canada 35,45,445 (CAD 58,680)
Queen’s University, Canada 25,49,542 (CAD 42,197)
Technical University of Berlin, Germany 19,07,709 (Euro 21,900)
RWTH Aachen University, Germany 10,00,000 (Euro 11,494)
Massachusetts University of Technology, USA 54,87,000 (USD 73,160)
Stanford University, USA 21,11,453 (USD 28,152)
University of Melbourne, Australia 24,09,928 (AUD 42,782)
University of New South Wales, Australia 3,36,290 (AUD 5,970)
Beijing Institute of Technology, China 3,59,281 (RMB 30,600)
Shanghai Jiao Tong University, China 3,33,123 (RMB 28,375)

प्रमुख रोजगार क्षेत्र

एक बार जब आप इस क्षेत्र में program सफलतापूर्वक पूरा कर लेते हैं, तो आप नीचे दिए गए रोजगार क्षेत्रों में पूर्णकालिक नौकरी प्राप्त कर सकते हैं- 

  • Automotive Industry
  • Aerospace Industries
  • Manufacturing Industry
  • Construction and Building services
  • Energy Utilities
  • Biomedical Industry
  • Engineering Consulting
  • Government Entities

Top Recruiters

मैकेनिकल इंजीनियरिंग में करियर शुरू करने के लिए नौकरी के अच्छे अवसर खोजने के लिए, नीचे दिए गए कुछ शीर्ष संगठन हैं जिन्हें आप लक्षित कर सकते हैं- 

  • Tata Group
  • Hindustan Petroleum Corporation Limited
  • Honda Siel Car Division
  • Larsen And Toubro
  • National Aluminum Company Limited
  • Indian Oil Corporation Limited
  • Bosch India
  • Siemens
  • Thermax
  • Oil and Natural Gas Corporation Limited
  • Godrej Group
  • Thyssen Group

मैकेनिकल इंजीनियरिंग गवर्नमेंट जॉब्स

नीचे मैकेनिकल इंजीनियरिंग के लिए government jobs आयोजित करने वाली संस्था/companies की list दी गई है।

  • Indian Railways
  • DRDO
  • NTPC
  • OIL INDIA
  • Airport authority
  • ISRO
  • BHEL
  • Coal India
  • SAIL
  • Aeronautics Limited

MPTAAS – मध्‍यप्रदेश ट्राइबल अफेयर आटोमेशन सिस्‍टम

Job Profiles और Salaries

मैकेनिकल इंजीनियरिंग करने के बाद मिलने वाले job profiles और salaries/सालाना इस प्रकार हैं।

Job Profile Starting Level Salary Mid Level Salary Senior Level Salary
Automotive Engineer 4,00,000 5,20,200 8,20,000
Aerospace Engineering 6,75,000 8,50,000 20,00,000
Mechanical engineer 3,00,000 5,50,000 8,00,000
Maintenance Engineer 2,50,000 4,50,000 5,00,000
Civil Engineer 3,00,000 5,50,000 7,00,000
Instrumentation and Control Engineering 3,00,000 4,50,000 10,00,000

FAQ

मैकेनिकल इंजीनियरिंग में क्या काम होता है?

मैकेनिकल इंजीनियरिंग सबसे पुराने और व्यापक विषयों में से एक इंजीनियरिंग विषय है। यह machines और tools की designing, production और operation के लिए heat और mechanical power के उत्पादन और इस्तेमाल से संबद्ध है।

मैकेनिकल इंजीनियर की सैलरी कितनी होती है?

मैकेनिकल इंजीनियरिंग करने के बाद एक मैकेनिकल इंजीनियर की सैलेरी की बात की जाए तो यह जॉब प्रोफाइल के अनुसार अलग-अलग हो सकती है। पर अनुमानित सैलेरी की बता की जाए तो 18,000 से 50,000 रूपए प्रति महीने से भी अधिक हो सकती है। इसके अलावा मैकेनिकल इंजीनियर के रूप में विदेश में भी कार्य कर सकते हैं।

मैकेनिकल इंजीनियरिंग कोर्स कितने साल का होता है?

10वीं कक्षा के बाद में मैकेनिकल इंजीनियर बनना चाहते हैं तो आपको पॉलिटेक्निक में एडमिशन लेना होगा। जिससे आप 3 साल का डिप्लोमा ले सकेंगे। 3-4 साल की डिग्री हासिल करने के बाद आप एक अच्छे पद पर अच्छी नौकरी मिल सकती है।

मैकेनिकल इंजीनियरिंग कैसे बनें?

Mechanical Engineer बनने के लिए स्टूडेंट PCM subject से 12वीं पास होना चाहिए। इस प्रकार 12वीं के बाद science maths stream का स्टूडेन्ट मैकेनिकल इंजीनियरिंग में B.Tech या diploma course कर मैकेनिकल इंजीनियर बनने का सपना पूरा कर सकता है।

मैकेनिकल इंजीनियरिंग में कितने सब्जेक्ट होते है?

6 महीने का एक सेमेस्टर होता है और एक सेमेस्टर में हमें 5 सब्जेक्ट पढ़ने होते हैं।

आशा करते हैं कि आपको मैकेनिकल इंजीनियरिंग का ब्लॉग अच्छा लगा होगा। यदि आप विदेश में पढ़ना चाहते हैं तो हमारे Leverage Edu के experts से दिए गए number 1800 572 000 पर contact कर आज ही free session बुक कीजिए।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.

+91
Talk to an expert for FREE

You May Also Like

Software Engineering
Read More

Software Engineering in Hindi

Technology के विकसित होने से mobile, laptops, computer आदि भी अधिक advance हो गए हैं। यह सभी devices…
Engineering Entrance Exams
Read More

2021 के इंजीनियरिंग एंट्रेंस एग्जाम

पारंपरिक बी टेक कोर्सेज जैसे मैकेनिकल इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, सिविल इंजीनियरिंग से लेकर आधुनिक इंजीनियरिंग कोर्स जैसे सिस्टम…
TCPIP Model In Hindi
Read More

TCP/IP Model In Hindi

आपने अभी तक कई सारे कंप्यूटर नेटवर्किंग की जानकारी होगी। आज का हमारे ब्लॉग का टॉपिक है TCP/IP…