चार्टर्ड अकाउंटेंट कैसे बनें?

2 minute read
1.3K views
10 shares
Leverage Edu Default Blog Cover

फाइनेंस और व्यापार के क्षेत्र में देश-विदेश हमेशा से तरक्की कर रहे हैं। बढ़ती अर्थव्यवस्था ही देश की तरक्की तय करती है। चार्टेड अकाउंटेंट (CA) देश की सबसे प्रतिष्ठित नौकरियों में से एक है। वहीं कॉमर्स स्ट्रीम में यह सबसे लोकप्रिय कोर्सेज में से एक है। वहीं इसकी कम फीस होने के कारण इसकी पढ़ाई देश का कोई भी छात्र कर सकता है। क्या आप फाइनेंस के क्षेत्र में करियर बनाना चाहते हैं और सोच रहे हैं कि Chartered Accountant कैसे बनें तो चलिए हम आपको इसके बारे में विस्तार से बताते हैं।

चार्टर्ड एकाउंटेंसी क्या होती है? 

चार्टर्ड एकाउंटेंसी एक बिज़नेस एरिया है, जो आम भाषा में किसी भी आर्गेनाइजेशन और बिज़नेस यूनिट के लिए फाइनेंसियल एकाउंटिंग और टैक्स मैनेजमेंट का कार्य करते हैं। चार्टर्ड अकाउंटेंट वर्ल्ड क्लास प्रोफ़ेशनल डिग्री है, जो दुनिया भर में सर्टिफाइड एकाउंटिंग प्रोफ़ेशनल को दिया जाता है। CA किसी भी आर्गेनाइजेशन में बहुत सारी ज़िम्मेदारियां निभाते हैं, जैसे कि लागू हुए मैनेजमेंट एकाउंटिंग, फाइनेंसियल एकाउंटिंग या रिपोर्टिंग, एकाउंटिंग या इंस्युरेन्स आदि। भारत में चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने के लिए आपको इंस्टिट्यूट ऑफ़ चार्टर्ड अकाउंटेंट ऑफ़ इंडिया (ICAI) द्वारा CA कोर्स पूरा करना होगा।

Check out: 12वीं के बाद CA का कोर्स कैसे करें?

भारत में CA कोर्स

चार्टर्ड अकाउंटेंट के प्रेस्टीजियस सर्टिफिकेट को पाने के लिए CA कोर्स को पूरा करना अनिवार्य है। इस कोर्स में लगभग 5 वर्ष का समय लगता है और जिसका उद्देश्य अकाउंट और अकाउंट इंडस्ट्री में आपकी पकड़ मजबूत करने में मदद करना होता है। ये चार मुख्य चरणों में विभाजित है जैसे CA Foundation or CPT, CA IPCC, आर्टिकलशिप, CA फाइनल।

CA की स्किल्स

एक सफल और अच्छा CA बनने के लिए आपके पास कुछ स्किल का होना है जरुरी है, जिनके बारे में निचे बताया गया है:

  • एक चार्टर्ड एकाउंटेंट के पास अच्छी एनालिटिकल स्किल का होना बहुत जरुरी है।
  • सफल सीए में अच्छी वैचारिक समझ होनी चाहिए।
  • अच्छी टीमवर्क स्किल का होना जरुरी है।
  • CA के पास टेक्निकल स्किल होनी चाहिए।
  • कमर्शियल अवेयरनेस होनी चाहिए।
  • लॉ में होने वाले नए बदलाव के बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए।

CA कोर्स क्यों करें?

12वीं के बाद CA का कोर्स क्यों करें इसके कुछ पॉइंट नीचे दिए गए हैं?

  • जिनकी रूचि एकाउंट्स, ऑडिटिंग, कॉर्पोरेट फाइनेंस, टैक्सेशन, प्रोजेक्शन, फाइनेंसियल एनालिसिस आदि में है, वे लोग CA कोर्स कर सकते हैं।
  • अगर आप नौकरी के शुरुवात में ही अच्छी सैलरी चाहते हैं तो CA एक अच्छा प्रोफेशन हैं। इस में खास बात यह भी हैं की आप अगर नौकरी नहीं भी करना चाहते तो खुद प्रैक्टिस कर सकते हैं।
  • CA कोर्स के बाद आप कंपनी में चीफ अकाउंटेंट, चीफ फाइनेंसियल ऑफिसर (CFO) के पद पर कार्य कर सकते हैं।
  • CA देश की सबसे प्रतिष्ठित नौकरियों में से एक है।

कोर्स अवधि

Chartered accountant कैसे बनें के लिए कोर्स और उनकी अवधि कुछ इस प्रकार हैं-

कोर्स अवधि
सीए फाउंडेशन 4 महीने
सीए फाउंडेशन रिजल्ट की प्रतीक्षा 2 महीने
सीए इंटरमीडिएट 8 महीने
सीए इंटरमीडिएट रिजल्ट की प्रतीक्षा (इसी बीच ITT और OT पूरा करें) 2.5 महीने
आर्टिकलशिप ट्रेनिंग (आखिर के 6 महीने में C.A. फाइनल का एग्जाम लिखना होता है) 3 साल

जब आप सभी एग्जाम पहले एटेम्पट में ही पुरे कर लेते हैं तब 12वीं के बाद CA कोर्स की अवधि 4.5 साल हो सकती है। ITTऔर OT की अवधि 4 हफ्ते होती है। 

योग्यता

Chartered accountant कैसे बनें के लिए आवश्यक योग्यता इस प्रकार हैं।

  • आपने 10वीं के बाद की पढ़ाई कॉमर्स स्ट्रीम से पूरी की हो।
  • 12वीं में कम से कम 50% अंक प्राप्त किए हों।
  • यदि आप 12वीं के बाद CA नहीं करते हैं, तो आप अपनी ग्रेजुएशन के बाद CA के लिए रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।

CA का काम क्या होता है?

एक चार्टेड अकाउंटेंट के कार्य नीचे दिए हैं।

  1. बजट और फाइनेंस मैनेज करना।
  2. फाइनेंसियल ऑडिट करनाा।
  3. व्यापर सम्बन्धी और वित्तीय सलाह प्रदान करना।
  4. एकाउंटिंग रिकॉर्ड को अच्छे से मैनेज करना।
  5. क्लाइंट से संपर्क करना और एनालिसिस लेना।

चार्टर्ड अकाउंटेंट कैसे बनें?

चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने के लिए छात्रों को CA फाउंडेशन कोर्स, CA इंटरमीडिएट कोर्स और CA फाइनल कोर्स को पास करना होता है। Chartered Accountant कैसे बनें के लिए गाइड नीचे दी गई है:

CA फाउंडेशन कोर्स

इस पद के लिए इच्छुक कैंडिडेट्स को 12th पास करने के बाद CA फाउंडेशन कोर्स की तैयारी करनी होती है। इस कोर्स को पहले CPT भी कहा जाता था, जिसमें कैंडिडेट से CA के लिए एंट्रेंस टेस्ट कराया जाता था। उस समय इस कोर्स को करने के लिए कैंडिडेट को 10th के बाद ही रजिस्ट्रेशन करना होता था। लेकिन अब इसे CA फाउंडेशन कोर्स के नाम जाना जाता है, इसे करने के लिए आवेदक को 12वीं के बाद रजिस्ट्रेशन करना पड़ता है। यह परीक्षा हर वर्ष मई और नवंबर में आयोजित होती है।

CA इंटरमीडिएट कोर्स

CA फाउंडेशन को क्रैक कर लेने वाले कैंडिडेट के लिए दूसरा चरण CA इंटरमीडिएट कोर्स होता है। इसमें कैंडिडेट CA फाउंडेशन या ग्रेजुएशन के बाद डायरेक्ट आवेदन कर सकते हैं। किसी भी स्ट्रीम से ग्रेजुएशन या पोस्ट ग्रेजुएशन करने वाले कैंडिडेट्स को CA फाउंडेशन करना ज़रूरी नहीं होता है, लेकिन इसके लिए कैंडिडेट्स को ग्रेजुएशन/पोस्ट ग्रेजुएशन में कॉमर्स स्ट्रीम में मिनिमम 55% और अन्य स्ट्रीम में 60% मार्क्स लाना बेहद ज़रूरी है।

आर्टिकलशिप

CA IPCC या इंटरमीडिएट कोर्स करने के बाद आपको किसी CA के अंतरगर्त या अपनी 3 साल की आर्टिकलशिप पूरी करनी होगी। यहाँ आपको टैक्स रिटर्न से लेकर ऑडिटिंग तक का प्रैक्टिकल नॉलेज मिलता है। यहाँ आपको CA के कार्य और जिम्मेदारियों के बारे में पता चलेगा।

CA फाइनल

कैंडिडेट जब CA इंटरमीडिएट को पास कर लेते हैं और अपनी आर्टिकलशिप पूरी कर लेते हैं या ट्रेनिंग पूरी करने से 6 महीने पहले CA फाइनल के लिए अप्लाई कर सकते हैं। यह CA बनने का अंतिम चरण होता है, जिसे पास करने के बाद कैंडिडेट को CA पद के लिए लिए अप्पोइंट कर लिया जाता है।

CA कोर्स में पढ़ाए जाने वाले विषय

CA कोर्स में एकाउंटिंग, कंपनी लॉ, बिज़नेस, टैक्सेशन, कॉर्पोरेट लॉ आदि के बारे में पढ़ाया जाता है। CA कोर्स पैटर्न और पढ़ाए जाने वाले विषयों के बारे में नीचे बताया गया है:

CA फाउंडेशन एग्जामिनेशन- 1st राउंड

CA फाउंडेशन में 4 पेपर होते हैं। ये सभी पेपर 3 घंटे के होते हैं। सभी पेपर 100 नंबर के होते हैं। एग्जाम पास करने के लिए इन सभी पेपरों में कम से कम 40% अंक लाने होते हैं और साथ ही साथ सभी पेपर में मिलाकर 50% अंक लाना जरुरी होता है।  

  • पेपर 1: प्रिंसिपल्स एंड प्रैक्टिसेज ऑफ़ एकाउंटिंग (100 अंक )
  • पेपर 2 (A): बिज़नेस मैथेमेटिक्स (60 अंक )
  • पेपर 2(B): स्टेटिस्टिक्स (40 अंक )
  • पेपर 3(A): मर्केंटाइल लॉ (60 अंक )
  • पेपर 3(B): जनरल इंग्लिश (40 अंक )
  • पेपर 4: बिज़नेस इकोनॉमिक्स (60 अंक )
  • पेपर 4(B): बिज़नेस एंड कमर्शियल नॉलेज (40 अंक )

CA इंटरमीडिएट एग्जामिनेशन- 2nd राउंड

फाउंडेशन कोर्स पास करने के बाद आपको इंटरमीडिएट कोर्स के लिए रजिस्टर करना पड़ता है। यदि आपने किसी भी स्ट्रीम से ग्रेजुएशन या पोस्ट ग्रेजुएशन किया है तो आपको CA फाउंडेशन करने की जरुरत नहीं है पर इसके लिए न्यूनतम अंक प्राप्त करना आवश्यक है। इसके लिए आपको ग्रेजुएशन/पोस्ट ग्रेजुएशन में कॉमर्स स्ट्रीम में कम से कम 55% और अन्य स्ट्रीम में 60% अंक लाना महत्वपूर्ण है। 

CA इंटरमीडिएट में हमें 8 पेपर देने होते हैं और सभी पेपर 100 अंक के होते है। एग्जाम पास करने के लिए इन सभी पेपर में हमें फाउंडेशन की तरह कम से कम 40% अंक लाना आवश्यक है और सभी पेपरों में कुल मिलाकर 50% अंक लाना आवश्यक है।

ग्रुप I

ग्रुप I में पूछे जाने वाले पेपर इस प्रकार हैं।

  • पेपर 1: एकाउंटिंग (100 अंक )
  • पेपर 2: कॉर्पोरेट लॉ और अन्य लॉ (100 अंक )
  • पार्ट I: कंपनी लॉ (60 अंक )
  • पार्ट II: अन्य लॉ (40 अंक )
  • पेपर 3: कॉस्ट एंड मैनेजमेंट एकाउंटिंग (100 अंक )
  • पेपर 4: टैक्सेशन (100 अंक )
  • सेक्शन A: इनकम टैक्स लॉ (60 अंक )
  • सेक्शन B: इनडायरेक्ट टैक्स (40 अंक )

ग्रुप II

ग्रुप II में पूछे जाने वाले पेपर इस प्रकार हैं।

  • पेपर 5: एडवांस्ड एकाउंटिंग (100 अंक )
  • पेपर 6: ऑडिटिंग और आश्वाशन (100 अंक )
  • पेपर 7: एंटरप्राइज इंफॉर्मेशन सिस्टम्स एंड स्ट्रैटेजिक मैनेजमेंट (100 अंक )
  • सेक्शन A: एंटरप्राइज इंफॉर्मेशन सिस्टम्स (50 अंक )
  • सेक्शन B: स्ट्रेटेजिक मैनेजमेंट (50 अंक )
  • पेपर 8: फाइनेंसियल मैनेजमेंट और इकोनॉमिक्स फॉर फाइनेंस (100 अंक )
  • सेक्शन A: फाइनेंसियल मैनेजमेंट (60 अंक )
  • सेक्शन B: इकोनॉमिक्स फॉर फाइनेंस (40 अंक )

CA फाइनल एग्जामिनेशन- 3rd और अंतिम राउंड  

CA फाइनल कोर्स के लिए एक बार रजिस्टर करने के बाद यह 5 साल के लिए मान्य रहता है | यदि आप 5 साल में इसे पास नहीं कर पाते हैं तो आपको इसके लिए दोबारा रजिस्टर करना होता है। फाइनल कोर्स की रजिस्ट्रेशन फीस 32,300 रूपये हैं। CA फाइनल एग्जाम में इंटरमीडिएट की तरह ही 8 पेपर होते है और पास करने के लिए सभी पेपरों में कम से कम 40 % और सभी विषयों में 50% अंक लाने पड़ते हैं।

ग्रुप I

ग्रुप I में पूछे जाने वाले पेपर इस प्रकार हैं।

  • पेपर 1: फाइनेंसियल रिपोर्टिंग
  • पेपर 2: स्ट्रेटेजिक फाइनेंसियल मैनेजमेंट
  • पेपर 3: एडवांस्ड ऑडिटिंग और प्रोफेशनल एथिक्स
  • पेपर 4: कॉर्पोरेट एंड अलाइड लॉ
  • पेपर 5: एडवांस्ड मैनेजमेंट एकाउंटिंग
  • पेपर 6: इनफार्मेशन सिस्टम कण्ट्रोल एंड ऑडिट
  • पेपर 7: डायरेक्ट टैक्स लॉ
  • पेपर 8: इनडायरेक्ट टैक्स लॉ

ग्रुप II

ग्रुप II में पूछे जाने वाले पेपर इस प्रकार हैं।

  • स्ट्रेटेजिक कॉस्ट मैनेजमेंट एंड परफॉरमेंस मूल्यांकन
  • डायरेक्ट टैक्स लॉ एंड इंटरनेशनल टैक्सेशन
  • इनडायरेक्ट टैक्स लॉ
  • ऐच्छिक-
    • रिस्क मैनेजमेंट
    • फाइनेंशियल सर्विस एंड कैपिटल मार्केट
    • इंटरनेशनल टैक्सेशन
    • इकोनॉमिक्स लॉ
    • ग्लोबल फाइनेंशियल रिपोर्टिंग स्टैण्डर्ड
    • मल्टीडिसिप्लिनरी केस स्टडी

CA फाइनल एग्जाम पास करने के बाद आपको ICAI में रजिस्टर करना पड़ता है। रजिस्ट्रेशन करने के बाद आप रेजिस्टर्ड चार्टेड अकाउंटेंट बन जाते है।

CA कोर्स की फीस

आमतौर पर CA कोर्स की फीस तीन भाग में डिवाइडेड रहती है –

CA फाउंडेशन

CA फाउंडेशन की फीस को नीचे दिए गए टेबल में विस्तार से समझाया गया हैं –

क्रमांक   फीस की जानकारी  फीस रूपए में (भारतीय छात्र)
1. फाउंडेशन प्रॉस्पेक्ट्स कॉस्ट 200 रुपये
2. CA फाउंडेशन रजिस्ट्रेशन फीस 9,000 रुपये
3. CA फाउंडेशन रजिस्ट्रेशन फॉर्म फीस   200 रुपये
4. सब्सक्रिप्शन फीस फॉर मेंबर्स जर्नल (वैकल्पिक) 200 रुपये
कुल 9,600 रुपये

CA इंटरमीडिएट  

CA इंटरमीडिएट की फीस कुछ इस प्रकार हैं –

क्रमांक फीस की जानकारी फीस (भारतीय छात्र)
1. CA इंटरमीडिएट रजिस्ट्रेशन फीस   15,000 रुपये
2. स्टूडेंट्स एक्टिविटी फीस फॉर CA इंटरमीडिएट 2,000 रुपये
3. CA इंटरमीडिएट रजिस्ट्रेशन फीस एज एन आर्टिकल असिस्टेंट 1,000 रुपये
कुल 18,000 रुपये

CA फाइनल  

CA फाइनल की फीस कुछ इस प्रकार हैं –

क्रमांक फीस की जानकारी फीस (भारतीय छात्र)
1. CA फाइनल फीस रजिस्ट्रेशन 22,000 रुपये

विदेश में CA के लिए टॉप इंस्टीटूशन

चार्टर्ड अकाउंटेंसी इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (आईसीएआई) द्वारा पेश किया जाने वाला एक कोर्स है। इसी तरह CA की पेशकश करने के लिए विभिन्न देशों के अपने संस्थान हैं, जिनके बारे में नीचे बताया गया है:

  • इंस्टिट्यूट ऑफ़ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स ऑफ़ इंग्लैंड एंड वेल्स
  • अमेरिकन इंस्टीट्यूट ऑफ़ सर्टिफाइड पब्लिक अकाउंटेंट्स
  • कैनेडियन इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स
  • इंस्टिट्यूट ऑफ़ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स ऑफ़ स्कॉटलैंड
  • इंस्टिट्यूट ऑफ़ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स ऑफ़ आयरलैंड
  • इंस्टिट्यूट ऑफ़ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स ऑफ़ ऑस्ट्रेलिया

विदेश में CA लिए योग्यता

अलग-अलग देशों में CA के रूप में योग्यता प्राप्त करने के लिए अलग-अलग मानदंड होते हैं। लेकिन एक ऐसी एजेंसी है जिसने दुनिया भर में CA के लिए कोर्स को जन्रलाइज़्ड किया है। इस एजेंसी को ACCA के नाम से जाना जाता है। ACCA सर्टिफिकेट आपको दुनिया के लगभग किसी भी देश में CA का अभ्यास करने की अनुमति देता है।

  • आपने 10वीं के बाद की पढ़ाई कॉमर्स स्ट्रीम से पूरी की हो।
  • 12वीं में कम से कम 50% अंक प्राप्त किए हों।
  • यदि आप 12वीं के बाद CA नहीं करते हैं, तो आप अपनी ग्रेजुएशन के बाद CA के लिए रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।
  • ACCA एकाउंटेंट के रूप में विचार करने के लिए आपको इन 3 योग्यता की आवश्यकता है: परीक्षा, प्रैक्टिकल अनुभव और एक एथिक मॉड्यूल। इस सर्टिफिकेट को प्राप्त करने के इच्छुक छात्रों को कुल 14 पेपर पास करने होंगे। क्वालिफिकेशन प्राप्त करने से पहले उन्हें तीन साल का कार्य अनुभव पूरा करना होगा।

ACCA के दुनिया के 170 विभिन्न देशों में 147,000 से अधिक सदस्य और 424,000 छात्र हैं। 

CA की सैलरी

एक CA की सैलरी उनके स्किल और अनुभव पर निर्भर करती है। आमतौर पर हमारे देश में CA की सैलरी 6 लाख रुपये से लेकर औसतन 30 लाख रुपये सलाना तक होती है। पिछले कुछ सालों के आकड़ों के हिसाब से एक CA की औसतन सैलरी 8 लाख रुपये सलाना है। कई ऐसे छात्र हैं जो 2-3 सालों का अनुभव लेना पसंद करते हैं ताकि आगे जीवन में बेहतर ग्रोथ कर सकें।

FAQs

CA की सैलरी कितनी होती है?

भारत में एक CA की औसत सैलरी 6-7 लाख से 30 लाख के बीच में होता है। भारत में एक सर्टिफाइड CA की सैलरी की कोई सीमा नहीं है, CA की सैलरी उसके कार्य अनुभव पर निर्भर करती है।

भारत में कितने CA हैं?

फरवरी 2020 की एक रिपोर्ट के अनुसार भारत में तकरीबन 3 लाख CA हैं जिनमें से औसत 1.5 लाख CA फुल टाइम प्रैक्टिस कर रहे हैं।

इंस्टिट्यूट ऑफ़ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स इन इंडिया की स्थापना किस वर्ष हुई थी?

इंस्टिट्यूट ऑफ़ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स इन इंडिया की स्थापना जुलाई 1st, 1949 को हुई थी।

CA का काम क्या होता है?

CA का काम फाइनैशियल एकाउंटिंग तैयार करना, फाइनैशियल एडवाइस देना, ऑडिट अकाउंट का एनालिसिस करना और टैक्स से संबंधित काम करना होता है। टैक्स के भुगतान के एकाउंट्स भी CA ही देखते हैं।

क्या भारतीय CA विदेश में काम कर सकते हैं?

भारतीय CA विदेशों में काम कर सकते हैं, क्योंकि ICAI ने दुनिया भर के विभिन्न देशों के साथ MoUs पर साइन किए हैं। इस वजह से CA विभिन्न देशों में काम कर सकते हैं।

CA बनने के लिए कौनसा विषय लेना चाहिए?

CA बनने के लिए आपको 10वीं के बाद कॉमर्स स्ट्रीम लेनी चाहिए और उसी में अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी करनी चाहिए। कॉमर्स स्ट्रीम के विषय CA में पढ़ाए जाने वाले विषयों के समान ही है, तो इससे आपको CA के विषयों को समझने में आसानी होगी।

CA का कोर्स कितने साल का होता है?

सामान्यत: CA का कोर्स 6 से 7 साल का समय लगता है। यदि आपका एग्ज़ाम पहले चांस में क्लियर नहीं होता है, तो आपको 8 से 9 साल लग सकते हैं।

CA का क्या काम होता है?

CA फाइनेंसियल एकाउंट्स, फाइनेंसियल एक्टिविटीज या उनसे जुड़े अन्य कार्यों को समझ कर बेहतर तरीके से उसको मैनेज करता है। CA एक फाइनेंसियल एडवाइजर हैं, जो लोगों को टैक्स, बिज़नेस अकाउंट और फाइनेंस से जुड़ी सलाह देते हैं। CA कोर्स को करने में लगभग 5 वर्ष का समय लगता है और जिसका उद्देश्य अकाउंट और अकाउंट इंडस्ट्री में आपकी पकड़ मजबूत करने में मदद करना होता है।

CA की फीस कितनी होती है?

CA की फीस अलग़-अलग़ स्टेप के अनुसार अलग़ होती है, जिसकी जानकारी नीचे दी गई है।

आशा करते हैं कि Chartered accountant कैसे बनें के इस ब्लॉग से आपको जानकारी मिली होगी। यदि आप विदेश में पढ़ाई करना चाहते हैं तो हमारे Leverage Edu के एक्सपर्ट से 1800 572 000 पर कॉन्टेक्ट कर आज ही 30 मिनट का फ्री सेशन बुक कीजिए।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

2 comments
  1. Article mai bahut accha se samjhaya hai aapne ki CA kaise bane…. foreign m job kaise mil skti h accounatnt ko plzzz batayega jarur

  1. Article mai bahut accha se samjhaya hai aapne ki CA kaise bane…. foreign m job kaise mil skti h accounatnt ko plzzz batayega jarur

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert