प्रोजेक्ट मैनेजर कैसे बनें?

2 minute read
414 views
प्रोजेक्ट मैनेजर

एक प्रोजेक्ट मैनेजर किसी प्रोजेक्ट के पूरा होने के दौरान उसके विभिन्न पहलुओं की देखरेख के लिए जिम्मेदार होता है। एक प्रोजेक्ट मैनेजर का काम बहुत विविध हो सकता है और यह उद्योग या कम्पनी की आवश्यकताओं पर निर्भर करता है। यदि आप प्रोजेक्ट मैनेजर बनने में रुचि रखते हैं, तो भूमिका और उसके कर्तव्यों के बारे में अधिक जानना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। इस ब्लॉग में आप विस्तार से जानेंगे कि प्रोजेक्ट मैनेजर कैसे बनें।

प्रोजेक्ट मैनेजर किन्हें कहते हैं?

एक प्रोजेक्ट मैनेजर एक प्रोफेशनल होता है जो बजट और शेड्यूल जैसे प्रतिबंधों के भीतर काम करते हुए प्रोजेक्ट्स का आयोजन, योजना और एक्सेक्युशन करता है। प्रोजेक्ट मैनेजर प्रमुख टीमों के प्रभारी होते हैं, लक्ष्यों को परिभाषित करते हैं, स्टेकहोल्डर के साथ कम्युनिकेट करते हैं और एक प्रोजेक्ट के पूरा होने तक उनका संचालन करते हैं। चाहे मार्केटिंग अभियान चलाना हो, भवन बनाना हो, कंप्यूटर सिस्टम विकसित करना हो या कोई नया प्रोडक्ट लॉन्च करना हो, प्रोजेक्ट मैनेजर प्रोजेक्ट की सफलता या विफलता के लिए जिम्मेदार होते है। लगभग हर उद्योग में प्रोजेक्ट मैनेजर की भूमिका की मांग है। 

प्रोजेक्ट मैनेजर के काम

एक प्रोजेक्ट के छह पहलू हो सकते हैं, जैसे कि वर्कस्पेस, सेडुयल, फाइनेंस, रिस्क, क्वालिटी और रिसोर्सेस। एक प्रोजेक्ट मैनेजर की मुख्य जिम्मेदारियों में प्रोजेक्ट्स के इन सभी छह पहलुओं का मैनेजमेंट और देखभाल करना भी शामिल है। यहाँ एक प्रोजेक्ट मैनेजर के कुछ अन्य कर्तव्य दिए गए हैं-

  • वर्क शेड्यूल की योजना बनाना और कर्मचारियों को समर्पित कार्य सौंपना।
  • प्रोजेक्ट एक्सेक्युशन के दौरान होने वाले संभावित जोखिमों की तलाश करना।
  • प्रोजेक्ट प्लानिंग को कई सत्रों में विभाजित करना और उस अनुसार उनका नेतृत्व करना।
  • काम की क्वालिटी रखने पर ध्यान केंद्रित करना।
  • पूरी टीम और व्यक्तिगत टीम के सदस्यों को प्रेरित करना।।
  • प्रोजेक्ट में किसी भी अचानक आवश्यकता को संभालना और परिवर्तनों को मैनेज करना।
  • कर्मचारियों और अपर मैनेजमेंट के बीच एक स्टेज मैनेजर के रूप में कार्य करना।

प्रोजेक्ट मैनेजर बनने के लिए आवश्यक स्किल्स

नीचे दिए गए कौशलों को इम्प्रूव करने से आपको इस क्षेत्र में सफलता की नींव बनाने में मदद मिल सकती है-

  • नेतृत्व: लक्ष्य प्राप्त करने के लिए आपको एक टीम का नेतृत्व करने का काम सौंपा जाएगा, जिसके लिए लीडरशिप क्वालिटी आप के पास होनी चाहिए।
  • संचार: आपको अक्सर टीम के सदस्यों, विक्रेताओं, स्टेकहोल्डर और ग्राहकों के साथ कम्युनिकेट करने की आवश्यकता होगी, इसलिए आपकी कम्युनिकेशन स्किल्स अच्छी होनी चाहिए।
  • क्रिटिकल थिंकिंग: किसी स्थिति का गंभीर रूप से विश्लेषण और मूल्यांकन करने से इश्यू के होने से पहले रोकने में मदद मिलती है।
  • साकारात्मक भावना: सकारात्मक दृष्टिकोण के साथ किसी प्रोजेक्ट को स्वीकार करने से तनाव कम हो सकता है और आपकी टीम को ऊर्जा मिलती है। मुसीबत की घड़ी में भी आपको सकारात्मकता रखते हुए अपनी टीम का हौसला बढ़ाने की आवश्यकता होती है।

प्रोजेक्ट मैनेजर कैसे बनें?

यहां कुछ स्टेप्स दिए गए हैं, जिन्हें फॉलो करके आप एक प्रोजेक्ट मैनेजर के रूप में अपने करियर की शुरुआत कर सकते हैं –

बैचलर्स की डिग्री अर्जित करें

प्रोजेक्ट मैनेजर बनने के इच्छुक अधिकांश व्यक्ति बैचलर्स की डिग्री अर्जित करके शुरुआत करते हैं। अध्ययन के कई क्षेत्र हैं जिन पर आप अपनी बैचलर्स डिग्री चुन सकते हैं, जिसमें सबसे लोकप्रिय बिजनेस मैनेजमेंट है। अन्य संबंधित बड़ी कंपनियों में आप मार्केटिंग, प्रोजेक्ट मैनेजमेंट या उस क्षेत्र में अध्ययन शामिल कर सकते हैं, जिसमें आप काम करने की योजना बना रहे हैं, जैसे इंजीनियरिंग या आईटी।

एक स्पेशलाइजेशन चुनें

एक प्रोजेक्ट मैनेजर कई अलग-अलग उद्योगों में और विभिन्न कंपनियों के लिए काम कर सकता है। यह निर्धारित करना कि आप किस क्षेत्र में काम करना चाहते हैं, आपको प्रोजेक्ट मैनेजर बनने के लिए अगले कदमों को तय करने में मदद मिल सकती है। विशेषज्ञता के सामान्य क्षेत्रों में एनर्जी, इंजीनियरिंग और कंस्ट्रक्शन शामिल हैं।

सर्टिफाइड बनें

प्रोजेक्ट मैनेजमेंट सर्टिफिकेशन हासिल करने से आपको आवेदकों के बीच खड़े होने में मदद मिल सकती है और कुछ प्रोजेक्ट मैनेजर पदों के लिए इसकी आवश्यकता हो सकती है। आप कई प्रकार के सर्टिफिकेट अर्जित कर सकते हैं, जिनमें प्रोजेक्ट मैनेजमेंट में सर्टिफाइड एसोसिएट (सीएपीएम) और प्रोजेक्ट मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट के माध्यम से पेश किए जाने वाले प्रोजेक्ट मैनेजमेंट प्रोफेशनल (पीएमपी) सर्टिफिकेशन शामिल हैं।

अनुभव प्राप्त करें

प्रोजेक्ट मैनेजर के रूप में पद प्राप्त करने का एक महत्वपूर्ण हिस्सा ऑन-द-जॉब अनुभव प्राप्त करना है। एक बार जब आप उस करियर क्षेत्र का निर्णय ले लेते हैं जिसमें आप काम करना चाहते हैं, तो उन पदों की तलाश करें जो आपको उस क्षेत्र में प्रोजेक्ट मैनेजमेंट का अनुभव प्रदान कर सकें। एक बार जब आप प्रमाणित हो जाते हैं, तो आप उच्च स्तरीय प्रोजेक्ट मैनेजमेंट पदों के लिए आवेदन कर सकते हैं।

प्रोजेक्ट मैनेजर बनने के लिए आवश्यक कोर्सेज

कुछ ऐसे कोर्सेज जो प्रोजेक्ट मैनेजमेंट की डीप नॉलेज प्रदान करते हैं, इस प्रकार हैं –

बैचलर्स कोर्सेज

  • Bachelor of Business Administration in Supply Chain Management
  • Bachelor of Business (Event Management)
  • Bachelor of Science in Golf Management
  • Bachelor of Project Management
  • Bachelor of Arts (Music) / Bachelor of Applied Business (Entertainment Management)
  • Bachelor of Science in Hospitality Management – (Sports Venue Management)
  • BA (Hons) Business Management (Project Management)
  • Bachelor of Arts in Planning, Public Policy and Management
  • Bachelor of Science in Hospitality Management – (Food and Beverage Management)
  • Bachelor of Applied Science (Project Management) (Honours)
  • Bachelor of Arts in Environmental Sustainability – Planning and Management
  • Bachelor of Business (Sport and Recreation Management)
  • Bachelor of Applied Management – Project Management
  • Bachelor of Science in Kinesiology – Sport Marketing and Management
  • Bachelor of Applied Management – Operations and Production Management
  • BSc (Hons) Construction Project Management
  • Bachelor of Science in Hospitality Management – (Conference and Event Planning Management)
  • Bachelor of Fine Arts in Stage Management

मास्टर्स कोर्सेज

  • MSc Construction Project Management
  • MSc Mechanical Engineering with Project Management
  • Master of Science in Global Project Management
  • Master of Management (Project Management)
  • Master of Property Development and Project Management
  • Master of Project Management – Business Leadership
  • Master of Applied Project Management (Project Systems)
  • MSc Construction Project Management with Building Information Management
  • Master of Project Management – Enterprise Leadership
  • MSc Commercial Project Management
  • MSc Operations, Project and Supply Chain Management
  • Master of Project Management: Strategic Human Resource Management
  • Master of Science in Project and Infrastructure Management
  • Project Management in the Built Environment – MSc
  • MBA in Project Management

डॉक्टरेट कोर्सेज

  • Doctorate of Project Management – Project Management
  • Doctorate of Business Administration in Business and Management
  • PhD in Project and Supply Chain Management
  • Doctor of Philosophy in Management – Organizational Behavior and Leadership
  • PhD by Published Work Project Management
  • Doctor of Philosophy in Management in Marketing

टॉप ऑनलाइन प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कोर्सेज

प्रोजेक्ट मैनेजमेंट सीखना आपके बिजेनस में मदद कर सकता है और आपके करियर को बढ़ावा दे सकता है। इन क्षमताओं को प्राप्त करने के लिए एक महंगी डिग्री की आवश्यकता नहीं है। ऑनलाइन कई मुफ्त प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कोर्स उपलब्ध हैं जिन्हें आप अपने खाली समय में भी अध्ययन कर सकते हैं –

कोर्स प्रोवाइडर
Introduction to Project Management Udemy
Manage Project Integration Udemy
International Project Management edX
Project Management (Short Course) Oxford Home Study Centre
Fundamentals of Project Planning and Management Coursera
Google Project Management: Professional Certificate Coursera
Diploma in Project Management Alison

दुनिया के टॉप विश्वविद्यालय

प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कोर्सेज के लिए टॉप विश्वविद्यालय इस प्रकार हैं –

भारत की टॉप विश्वविद्यालय

नीचे भारत के कुछ शीर्ष विश्वविद्यालय दिए गए हैं जो टॉप प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कोर्सेज प्रदान कर रहे हैं-

  • आईआईएम इंदौर 
  • आईआईएम रोहतक 
  • आईआईटी, दिल्ली 
  • आईआईबीएम इंस्टीट्यूट ऑफ बिजनेस मैनेजमेंट, हैदराबाद
  • यूनिवर्सिटी ऑफ पेट्रोलियम एंड एनर्जी स्टडीज, देहरादून 
  • नरसी मोंजी इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज, मुंबई
  • अवगमाह बिजनेस स्कूल, बैंगलोर
  • मद्रास क्रिश्चियन कॉलेज, तमिलनाडु 
  • लोयोला इंस्टीट्यूट ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन, चेन्नई
  • आईसीएफएआई फाउंडेशन फॉर हायर एजुकेशन, हैदराबाद
  • इंडियन स्टेटिस्टिकल इंस्टीट्यूट 

पात्रता मानदंड

यदि आप इस क्षेत्र में डिग्री प्राप्त करने के इच्छुक हैं, तो आपको अपने चुने हुए विश्वविद्यालय द्वारा निर्धारित पात्रता मानदंडों को पूरा करना होगा। ये आवश्यकताएं कोर्सेज के स्तर के अनुसार भिन्न होती हैं, जैसे बैचलर, मास्टर या डिप्लोमा। प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कोर्सेज के लिए कुछ सामान्य पात्रता इस प्रकार हैं–

  • प्रोजेक्ट मैनेजमेंट में बैचलर्स डिग्री प्रोग्राम के लिए ज़रुरी है कि उम्मीदवारों ने किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10+2 पास किया हो।
  • भारत में प्रोजेक्ट मैनेजमेंट में बैचलर्स के लिए कुछ कॉलेजों और यूनिवर्सिटीज अपनी स्वयं की प्रवेश परीक्षाएं आयोजित करतीं हैं। विदेश में इन कोर्सेज के लिए यूनिवर्सिटी द्वारा निर्धारित आवश्यक ग्रेड आवश्यकताओं को पूरा करना जरुरी है, जो हर यूनिवर्सिटी और कोर्स के अनुसार अलग-अलग हो सकती है।
  • प्रोजेक्ट मैनेजमेंट में PG प्रोग्राम के लिए संबंधित क्षेत्र में बैचलर्स डिग्री होना आवश्यक है। साथ ही कुछ यूनिवर्सिटीज़ प्रवेश परीक्षा के आधार पर भी एडमिशन स्वीकार करतीं हैं।
  • विदेश की अधिकतर यूनिवर्सिटीज़ बैचलर्स के लिए SAT और मास्टर्स कोर्सेज के लिए GRE या GMAT स्कोर की मांग करते हैं।
  • विदेश की यूनिवर्सिटीज़ में एडमिशन के लिए IELTS या TOEFL टेस्ट स्कोर, अंग्रेजी प्रोफिशिएंसी के प्रूफ के रूप में ज़रूरी होते हैं। 
  • विदेश यूनिवर्सिटीज़ में पढ़ने के लिए SOP, LOR, सीवी/रिज्यूमे और पोर्टफोलियो (कुछ कोर्सेज के लिए) भी जमा करने की जरूरत होती है।।

क्या आप IELTS/TOEFL/SAT/GRE में अच्छे अंक प्राप्त करना चाहते हैं? आज ही इन परीक्षाओं की बेहतरीन तैयारी के लिए Leverage Live पर रजिस्टर करें और अच्छे स्कोर प्राप्त करें।

आवेदन प्रक्रिया

प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कोर्सेज के लिए भारत और विदेशी विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया के बारे में नीचे बताया गया है–

भारतीय विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया

भारत के विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया, इस प्रकार है–

  1. सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  2. यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूजर नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  3. फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  4. अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  5. इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  6. यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

आवश्यक दस्तावेज

कुछ जरूरी दस्तावेजों की लिस्ट नीचे दी गई हैं–

  • आपकी दसवीं या बारहवीं की परीक्षा की मार्कशीट और पास सर्टिफिकेट।
  • जन्म तिथि का प्रमाण।
  • विद्यालय छोड़ने का सर्टिफिकेट
  • ट्रांसफर सर्टिफिकेट
  • डोमिकिले सर्टिफिकेट/रेजिडेंशियल प्रूफ
  • करैक्टर सर्टिफिकेट
  • अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति/अन्य पिछड़ी जातिसर्टिफिकेट
  • विकलांगता का प्रूफ (यदि कोई हो)
  • माइग्रेशन सर्टिफिकेट

विदेश में आवेदन प्रक्रिया

विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है–

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स और यूनिवर्सिटी का चुनाव है। 
  • कोर्स और यूनिवर्सिटी के चुनाव के बाद उस कोर्स के लिए उस यूनिवर्सिटी की पात्रता मानदंड के बारे में रिसर्च करें। 
  • आवश्यक टेस्ट स्कोर और दस्तावेज एकत्र करें।
  • यूनिवर्सिटी की साइट पर जाकर एप्लीकेशन फॉर्म भरें या फिर आप Leverage Edu एक्सपर्ट्स की भी सहायता ले सकते हैं।
  • ऑफर की प्रतीक्षा करें और सिलेक्ट होने पर इंटरव्यू की तैयारी करें। 
  • इंटरव्यू राउंड क्लियर होने के बाद आवश्यक ट्यूशन शुल्क का भुगतान करें और स्कॉलरशिप, छात्रवीजा, एजुकेशन लोन और छात्रावास के लिए आवेदन करें।

एक आकर्षक SOP लिखने से लेकर वीजा एप्लिकेशन तक, कंप्लीट एप्लिकेशन प्रोसेस में मदद के लिए आप Leverage Edu एक्सपर्ट्स की सहायता ले सकते हैं। 

आवश्यक दस्तावेज़

कुछ जरूरी दस्तावेजों की लिस्ट नीचे दी गई हैं–

क्या आप विदेश में पढ़ने के लिए एजुकेशन लोन की तलाश में हैं, तो आज ही Leverage Finance का लाभ उठाएं और अपने कोर्स और विश्वविद्यालय के आधार पर एजुकेशन लोन पाएं।

प्रोजेक्ट मैनेजर के रूप में करियर

प्रोजेक्ट मैनेजर की भूमिकाएँ अलग-अलग जॉब टाइटल लेती हैं- प्रोजेक्ट मैनेजर, डिलीवरी मैनेजर, स्क्रम मैनेजर, एजाइल कोच, प्रोडक्ट मैनेजर। आप जिस देश या क्षेत्र में हैं, उसके आधार पर शीर्षक अलग-अलग हो सकते हैं, लेकिन यह महत्वपूर्ण है कि आप आवश्यकताओं, जिम्मेदारियों और अपनी भूमिका के प्रभाव को समझें ताकि आप सोच-समझकर निर्णय ले सकें। यूएस ब्यूरो ऑफ लेबर स्टैटिस्टिक्स डेटा के विश्लेषण के अनुसार, सबसे बड़ी और सबसे तेज प्रोजेक्ट मैनेजमेंट उन्मुख रोजगार वृद्धि सॉफ्टवेयर विकास में होगी, जिसमें 2019 और 2030 के बीच 14% की अनुमानित वृद्धि निर्धारित की गई है। एक प्रोजेक्ट मैनेजर की वार्षिक सैलरी विभिन्न देशों में इस प्रकार है –

देश  औसत सालाना वेतन (INR में)
भारत 4 से 7 लाख
UK  25-30 लाख
USA 25-40 लाख
कनाडा 20-30 लाख
ऑस्ट्रेलिया 25-40 लाख

FAQs

प्रोजेक्ट मैनेजर किसे कहते हैं?

एक प्रोजेक्ट मैनेजर एक प्रोफेशनल होता है जो बजट और शेड्यूल जैसे प्रतिबंधों के भीतर काम करते हुए प्रोजेक्ट्स का आयोजन, योजना और एक्सेक्यूशन करता है। प्रोजेक्ट मैनेजर प्रमुख टीमों के प्रभारी होते हैं, लक्ष्यों को परिभाषित करते हैं, स्टेकहोल्डर के साथ कम्युनिकेट करते हैं और एक प्रोजेक्ट के पूरा होने तक उनका ऑपरेशन करते हैं।

प्रोजेक्ट मैनेजर की क्या भूमिका होती है?

प्रोजेक्ट मैनेजर की भूमिकाओं में शामिल है- वर्क शेड्यूल की योजना बनाना और कर्मचारियों को समर्पित कार्य सौंपना। प्रोजेक्ट एक्सेक्यूशन के दौरान होने वाले संभावित जोखिमों की तलाश करना। प्रोजेक्ट प्लानिंग को कई सत्रों में विभाजित करना और उस अनुसार उनका नेतृत्व करना।

प्रोजेक्ट मैनेजर के रूप में करियर के क्या स्कोप हैं?

यूएस ब्यूरो ऑफ लेबर स्टैटिस्टिक्स डेटा के विश्लेषण के अनुसार, सबसे बड़ी और सबसे तेज प्रोजेक्ट मैनेजमेंट उन्मुख रोजगार वृद्धि सॉफ्टवेयर विकास में होगी, जिसमें 2019 और 2030 के बीच 14% की अनुमानित वृद्धि निर्धारित की गई है।

प्रोजेक्ट मैनेजमेंट क्या है?

प्रोजेक्ट मैनेजमेंट दी गई बाधाओं के भीतर सभी परियोजना लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए एक टीम के काम का नेतृत्व करने की प्रक्रिया है।

हम आशा करते हैं कि इस ब्लॉग में आप प्रोजेक्ट मैनेजर की सभी भूमिकाओं से वाकिफ हो गए होंगे। यदि आप प्रोजेक्ट मैनेजमेंट से संबंधित कोर्स विदेश से करना चाहते हैं तो आप आज ही हमारे Leverage Edu एक्सपर्ट्स के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करने के लिए हमें 1800 572 000 पर कॉल करें और उचित मार्गदर्शन प्राप्त करें।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today. How-To guides
Talk to an expert