Assistant Professor कौन होते हैं?

Rating:
4.3
(4)
Assistant Professor in Hindi

यदि आप अपनी PhD डिग्री पूरी करने के बाद lectureship का विकल्प चुनना चाहते हैं, तो इस पद को प्राप्त करने की दिशा में पहला कदम assistant professor बनना होता है। कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपकी specialization का क्षेत्र क्या है यदि आपके पास teaching के साथ research कार्य करने की skills है, तो आप educational institute में assistant professor की post के लिए आसानी से आवेदन कर सकते हैं। Assistant professor बनने के लिए छात्रों को सबसे प्रभावी और नए तरीकों से निर्देश देना, daily lecture तैयार करना, प्रशासनिक कार्य करना आदि जैसे कार्यों के लिए खुद को तैयार करना होगा। इस ब्लॉग के माध्यम से जानते हैं assistant professor in Hindi के बारे में।

135+ Common Interview Questions in Hindi

Assistant Professor कौन है?

एक assistant professor in Hindi मूल रूप से junior या intermediate academic rank वाले faculty है जिसे department head द्वारा teaching responsibilities सौंपी जाती हैं। research projects को पूरा करने एवं teaching से परे अन्य scholars की activities में attach होती हैं। यह विश्वविद्यालयों या कॉलेजों में एक newly appointed tenure track हैं जो teaching, research work और administrative tasks को एक साथ पूरा करते हैं।

सबसे ज़्यादा तनख्वाह वाली सरकारी नौकरियाँ

सहायक प्रोफेसर की नौकरी की जिम्मेदारियां

जैसा कि ऊपर बताया गया है, एक assistant professor in Hindi को academic और research काम से जुड़ी बहुत सारी जिम्मेदारियों को निभाना होता है। यहां उन सभी भूमिकाओं और जिम्मेदारियों की एक अलग से सूची है जो एक सहायक प्रोफेसर को करनी होती है।

  • Teaching के नए तरीकों को डिजाइन करना। 
  • Under graduate और post graduate दोनों छात्रों को पढ़ाना जो विशेषज्ञता के अपने field का पीछा कर रहे हैं।
  • Student के लिए दैनिक पाठ और लक्ष्य तैयार करना।
  • छात्रों को उनकी academic progress से अवगत कराना।
  • Research student को उनकी परियोजनाओं में मार्गदर्शन और सलाह देना।
  • Student की प्रगति और गतिविधियों का आकलन, समीक्षा और evaluation करना।
  • Senior professors को उनकी duties और tasks को करने में सहायता करना या उनकी मदद करना।
  • विश्वविद्यालय के शोध कार्यों का प्रकाशन पत्रिकाओं और अकादमिक पुस्तकों में करना।
  • छात्रों को उनके प्रदर्शन को बेहतर बनाने में मदद करने के लिए पेशेवर रसद विकसित करना।
  • विभाग की कार्यात्मक गतिविधियों का समर्थन करना।
  • छात्रों के लिए एक supportive environment का निर्माण करना।
  • विश्वविद्यालय और उसके बाहरी संगठनों के अंदर अन्य सभी विभागों, स्कूलों और इकाइयों के साथ उत्पादक रूप से संवाद करें।  

Self introduction in Hindi

Assistant Professor कैसे बनें?

अब जब आपने assistant professor के रूप में अपना करियर बनाने का फैसला कर लिया है, तो आपको specialization के अपने चुने हुए क्षेत्र में एक proper academic track का पालन करना चाहिए। यदि आप सोच रहे हैं कि assistant professor कैसे बनें, तो नीचे दी गई जानकारी जरुर पढ़ें ।

Assistant Professor Syllabus in Hindi

Assistant Professor कैसे बने और इसके Syllabus के बारे में जानकारी नीचे दी गई है।

  • UGC Net सिलेबस पेपर-1 सभी उम्मीदवारों के लिए पास करना ज़रूरी है। पेपर में एक से दस भाग  है हर भाग  में 5 प्रशन होते है। सिलेबस पेपर -2 ये एक विषय आधारित पेपर होता है ।
  • UGC Net सिलेबस पेपर -1 ये पपेर सामान्य होता इससे शिक्षण योग्यता का आकलन किया जाता है इसमें रीजनिंग, डेरिवेटिव्स , कॉम्प्रिहेंशन और सामान्य ज्ञान का पेपर पूछा जाता हैं ।
  • UGC Net सिलेबस पेपर -2 —इसमें विषय आधारित प्रश्न पूछे जाते है जिन अभ्यर्थियों ने पोस्ट ग्रेजुएशन में वरीयता देते हुए पेपर भरा है उन्हें एक विषय का चयन करना पड़ता है।

Assistant Professor बनने के लिए Undergraduate की डिग्री

अनुसंधान और शिक्षा में एक समृद्ध करियर शुरू करने की दिशा में पहला कदम यह है कि आपको किसी भी विषय में अच्छे प्रतिशत या सीजीपीए के साथ bachelor degree पूरी करने की आवश्यकता है। इसके अलावा, assistant professor पद के लिए उम्मीदवारों की स्क्रीनिंग के लिए, विश्वविद्यालय प्रमुख रूप से मजबूत शैक्षणिक प्रदर्शन वाले लोगों को पसंद करते हैं।

नेवी की तैयारी कैसे करे

Assistant Professor बनने के लिए Post Graduate की डिग्री

Graduate की डिग्री पाने के बाद, students उस specialization का विकल्प चुन सकते हैं जिसमे postgraduate degree करना चाहते हैं। आम तौर पर, विशेषज्ञता का क्षेत्र students के bachelor degree से संबंधित होती है। विशेषज्ञता चुनते समय सावधान रहें क्योंकि यह आपके लिए आजीवन प्रतिबद्धता होगी। यदि आप भारत में असिस्टेंट प्रोफेसर की जॉब प्रोफाइल लेने की योजना बना रहे हैं , तो मास्टर डिग्री हासिल करने के दौरान, students को UGC NET & JRF  जैसी शिक्षण परीक्षाओं की तैयारी भी शुरू कर देनी चाहिए । इसके अलावा, विदेशों में विश्वविद्यालयों में आमतौर पर विशेष प्रवेश परीक्षा नहीं होती है, लेकिन यदि आप विदेश में assistant professor बनने की योजना बना रहे हैं, तो आपको विश्वविद्यालय से ही PhD की डिग्री हासिल करने की आवश्यकता हो सकती है।

Jobs after BSc Agriculture: BSc Agriculture के बाद इन नौकरियों के जरिए बनाए करियर

PhD या डॉक्टरेट डिग्री

मास्टर डिग्री के पूरा होने पर students PhD program में प्रवेश ले सकते हैं। Students को कोर्स के अंत अपनी specialization के अनुसार एक प्रोजेक्ट रिपोर्ट देने की आवश्यकता होती है। Assistant professor के रूप में करियर बनाने के लिए आपको यह सबसे महत्वपूर्ण कदम उठाना होगा। 

Assistant Professor के लिए Eligibility

Assistant Professor के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए आइए देखते है-

  • एक  assistant professor बनने के लिए students के पास बैचलर डिग्री
  • Students को मास्टर डिग्री मे 55% मार्क्स लाना आवश्यक है जो UGC Net परीक्षा लिए भी जरूरी हैं।
  • PhD. करने के बाद 2 साल ट्रेनिंग करनी पड़ती है , जहाँ उन सब्जेक्ट्स के बारे में पढ़ना पड़ता है जिसमे आपने  PhD की है।
  • NET परीक्षा में general और OBC category कैंडिडेट को 55% मार्क्स की जरूरत है।
  • SC/ST को 50% मार्क्स की जरूरत है। अगर आप UGC आधारित UGC NET परीक्षा देना चाहते हैं तो उसमे कोई age limit नहीं है।

PHD कोर्स के लिए टॉप Universities

चूंकि एक सहायक प्रोफेसर बनने के लिए एक पीएचडी डिग्री एक आवश्यक योग्यता है, इसलिए हमने कुछ प्रमुख शैक्षणिक संस्थानों को सूचीबद्ध किया है जो अपने गुणवत्ता वाले डॉक्टरेट डिग्री पाठ्यक्रमों के लिए प्रसिद्ध हैं:

  • Massachusetts Institute of Technology, US
  • Stanford University, US
  • Oxford University, UK
  • Harvard University, US
  • ETH Zurich, Switzerland
  • Cambridge University, UK
  • University of Chicago, US
  • Nanyang Technological University, Singapore
  • University of Edinburgh, UK

Top Indian Universities

भारत में assistant professor बनने यहां कुछ टॉप universities की लिस्ट दी गई हैं जो कुछ इस प्रकार है ।

  • AIIMS Delhi – All India Institute of Medical Sciences New. …
  • SRM University Chennai – SRM Institute of Science and Technology. …
  • JMI New Delhi – Jamia Millia Islamia. …
  • IIT Bombay – Indian Institute of Technology. …
  • LPU Jalandhar – Lovely Professional University.
  • Indian Institute of Technology Madras
  • Indian Institute of Science, Bangalore
  • Banaras Hindu University, Varanasi
  • Calcutta University
  • Manipal Academy of Higher Education-Manipal
  • University of Hyderabad, Hyderabad
  • Aligarh Muslim University, Aligarh
  • Savitribai Phule Pune University
  • University of Delhi
  • Bharathiar University
  • Institute of Chemical Technology
  • Anna University
  • Birla Institute of Technology & Science, Pilani
  • Homi Bhabha National Institute
  • Mysore University
  • Siksha`O`Anusandhan University
  • Kalinga Institute of Industrial Technology
  • Shanmugha Arts Science Technology & Research Academy (SASTRA)

Assistant Professor का काम

असिस्टेंट प्रोफेसर NET का exam clear करके यूनिवर्सिटी में विद्यार्थीयों को शिक्षा देते है साथ ही वो Specialized सब्जेक्ट में रिसर्च करते है और अपना और विद्यार्थियों का ज्ञान बढाता  है।

Jrf Assistant Professor

जूनियर रिसर्च  फ़ेलोशिप  रिसर्च फील्ड के लिए होता है इसके लिए students को UGC Net और JRF दोनों का पेपर पास करना होता है ।

Assistant Professor Salary

Glassdoor और pay scale के अनुसार भारत में एक assistant professor सालाना 5,70,000 रुपये से लेकर 9,00,000 रुपये तक कमा सकता है। वहीं विदेश में UK, USA, Canada, Germany जैसे देशों में एक assistant professor के पद पर आप 12,75,000 रुपये से लेकर 16,25,000 सालाना कमा सकते हैं। Experience के साथ आपके पद और सैलरी में भी बढ़ोतरी होती हैं।

FAQs

क्या कॉलेज में असिस्टेंट प्रोफेसर की डिमांड है?

प्रोफेसर बनने के लिए अपार प्रतिस्पर्धा होने के बावजूद दुनिया के विभिन्न विश्वविद्यालयों में सहायक प्रोफेसरों की मांग अधिक है। सहायक प्रोफेसर अधिक विकसित और शिक्षित अर्थव्यवस्था की दिशा में पहला कदम हैं और इसलिए सहायक प्रोफेसर अभी भी मांग में हैं।

किस क्षेत्र के प्रोफेसर सबसे ज्यादा डिमांड में हैं और ज्यादा कमाते हैं?

दुनिया भर में, कानून के प्रोफेसरों की सबसे अधिक मांग है और वे एक बड़ी रकम कमाते हैं। वे विभिन्न विशेषज्ञताओं को पढ़ाते हैं और दुनिया के विभिन्न देशों में अत्यधिक मांग में हैं। इसके अतिरिक्त, वे सभी क्षेत्रों में सबसे अधिक वेतन पाने वाले प्रोफेसरों में से हैं।

क्या असिस्टेंट प्रोफेसर बनना एक अच्छा करियर विकल्प है?

एक प्रोफेसर बनना अपने आप में आकर्षक चुनौतियों और दैनिक आधार पर नए अनुभवों के सेट के साथ आता है। दुनिया के हर हिस्से में प्रोफेसरों की मांग है, खासकर जब से शिक्षा पर ध्यान केंद्रित किया गया है। यह सबसे अधिक चुने गए व्यवसायों में से एक है और प्रतिस्पर्धी होने के बावजूद, यह तलाशने के अवसरों की दुनिया खोलता है।

एक सहायक प्रोफेसर प्रति सप्ताह कितने घंटे काम करने की उम्मीद कर सकता है?

एक सहायक प्रोफेसर के लिए, उनके द्वारा पढ़ाए जाने वाले स्तर और उनके द्वारा किए गए शोध के आधार पर प्रति सप्ताह काम के घंटे बदल जाएंगे। असिस्टेंट प्रोफेसर बनने के लिए हफ्ते में 3-10 घंटे काम करने पर विचार किया जा सकता है।

क्या असिस्टेंट प्रोफेसर बनने में कई साल लग जाते हैं?

असिस्टेंट प्रोफेसर बनने के लिए बड़ी संख्या में डिग्रियां हासिल करनी पड़ती हैं और इसलिए असिस्टेंट प्रोफेसर बनने में ज्यादा समय लग सकता है। एक पारंपरिक बैचलर डिग्री के बाद उस क्षेत्र में मास्टर और डॉक्टरेट की डिग्री होनी चाहिए जिसमें व्यक्ति अनुसंधान करना चाहता है। सहायक प्रोफेसर बनने के लक्ष्य के साथ अध्ययन की अवधि बढ़ जाती है।

एक असिस्टेंट प्रोफेसर अपनी सैलरी कैसे बढ़ा सकता है ?

 हर साल यूनिवर्सिटी टीचर्स के लिए स्कालरशिप देती है साथ ही इसमे लगातार काम करने पर सैलरी में इजाफा किया जाता है ।

असिस्टेंट प्रोफेसर किस तरह के माहोल में काम करता है ?

असिस्टेंट प्रोफेसर कैंपस में पढ़ाते है और विद्यार्थियों को कई चीजों की रिसर्च पेपर भी लिखवाते है  ।

असिस्टेंट प्रोफेसर की सैलरी कितनी होती ?

असिस्टेंट प्रोफेसर की सैलरी लगभग 57000 – 90000 रुपए होती है।

क्या निजी विश्वविद्यालय में पीएचडी को मान्यता है?

हां पीएचडी को निजी विश्वविद्यालय में मान्यता हैं लेकिन आपकी  रैंक 500 के अंदर आनी चाहिए।

हम आशा करते हैं कि assistant professor in Hindi का यह ब्लॉग पसंद आया होगा है। यदि आप assistant professor बनने की पढ़ाई abroad से करना चाहते हैं तो आज ही 180057200 नंबर पर कॉल करें और हमारे Leverage Edu के experts के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन बुक कीजिए।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.

+91
Talk to an expert for FREE

You May Also Like