ग्राफ़िक डिज़ाइनर कैसे बनें?

2 minute read
1.2K views
graphic designer kaise bane

ग्राफ़िक डिज़ाइनर, विज़ुअल स्टोरीटेलर होते हैं, जो इमेज, वर्ड्स और ग्राफ़िक्स के माध्यम से इनफार्मेशन कम्यूनिकेट करते हैं, साथ ही पोस्टर और प्रोडक्ट पैकेजिंग से लेकर लोगो और एनीमेशन तक सब कुछ डिज़ाइन करते हैं। ग्राफ़िक डिज़ाइनर किसी ब्रांड या कंपनी के मार्केटिंग का एक अहम हिस्सा होते हैं। वर्तमान में ग्राफ़िक डिज़ाइनर की भारी मांग है, इसलिए यह एक लोकप्रिय करियर विकल्प बनता जा रहा है। यदि आप ग्राफ़िक डिज़ाइनर के रूप में करियर बनाना चाहते हैं तो इस ब्लॉग में जानेंगे graphic designer kaise bane।

This Blog Includes:
  1. ग्राफ़िक डिज़ाइनर कौन होते हैं?
  2. ग्राफ़िक डिज़ाइनर की जिम्मेदारियां
  3. ग्राफ़िक डिज़ाइनर के लिए जरूरी स्किल
  4. ग्राफ़िक डिज़ाइनर के प्रकार
  5. ग्राफ़िक डिज़ाइनर कैसे बनें: स्टेप बाय स्टेप गाइड
    1. स्टेप–1 ग्राफ़िक डिज़ाइन के सिद्धांत सीखें।
    2. स्टेप–2 ग्राफ़िक डिजाइनिंग कोर्स चुनें।
    3. स्टेप–3 ग्राफ़िक डिज़ाइन टूल के बारे में सीखें।
    4. स्टेप–4 प्रैक्टिस करें और अपनी स्किल्स में सुधार करें।
    5. स्टेप–5 पोर्टफोलियो बनाएं।
  6. ग्राफ़िक डिज़ाइन कोर्स
  7. योग्यता
  8. ग्राफ़िक डिज़ाइन कोर्सेज के लिए दुनिया की टॉप यूनिवर्सिटीज
  9. ग्राफ़िक डिज़ाइन के लिए भारत की टॉप यूनिवर्सिटीज
  10. आवेदन प्रक्रिया 
  11. आवश्यक दस्तावेज 
  12. एंट्रेंस एग्ज़ाम
  13. ग्राफ़िक डिज़ाइनर की जॉब प्रोफाइल और सैलरी
  14. FAQs

ग्राफ़िक डिज़ाइनर कौन होते हैं?

ग्राफ़िक डिज़ाइनर, ग्राफ़िक डिज़ाइन और ग्राफ़िक आर्ट इंडस्ट्री के प्रोफेशनल होते हैं, जो इमेज, टाइपोग्राफी और मोशन ग्राफ़िक का साथ में उपयोग करके ग्राफ़िक डिज़ाइनिंग करते हैं। एक ग्राफ़िक डिज़ाइनर मुख्य रूप से प्रिंट या इलेक्ट्रॉनिक मीडिया जैसे ब्रोशर और विज्ञापन के लिए ग्राफ़िक बनाते हैं। ग्राफ़िक डिज़ाइनर कभी-कभी टाइपसेटिंग, चित्रण, यूजर इंटरफेस और वेब डिज़ाइन पर भी काम करते हैं।

ग्राफ़िक डिज़ाइनर की जिम्मेदारियां

ग्राफ़िक डिज़ाइनर की कुछ जिम्मेदारियां होती हैं अतः graphic designer kaise bane जानने के लिए आपको उनकी जिम्मेदारियों के बारे में भी जानकारी होनी चाहिए। 

  • इलस्ट्रेशन, फोटो एडिटिंग और लेआउट सॉफ्टवेयर का उपयोग करके डिज़ाइन बनाना।
  • वेबसाइट, लोगो, संकेत, किताबें, पत्रिका कवर, वार्षिक रिपोर्ट, विज्ञापन और सोशल मीडिया पोस्ट के लिए कलर्स, इमेज, टाइपोग्राफी और लेआउट का चयन करना।
  • कस्टमर रिव्यु के लिए ड्राफ्ट तैयार करना और प्राप्त फीडबैक के आधार पर  गलतियों को ठीक करना।
  • किसी प्रोजेक्ट के विभिन्न चरणों जैसे मार्केटिंग, सेल्स और बिज़नेस ऑपरेशन्स में टीम के अन्य सदस्यों का सहयोग करना।
  • पब्लिश होने से पहले डिज़ाइन को रिव्यु करना।

ग्राफ़िक डिज़ाइनर के लिए जरूरी स्किल

एक अच्छे ग्राफ़िक डिज़ाइनर के पास कुछ इनक्रेडिबल स्किल का होना बहुत ही ज़रूरी है। Graphic Designer kaise bane इसके लिए कुछ जरूरी स्किल जो एक ग्राफ़िक डिज़ाइनर के पास होनी चाहिए, इस प्रकार हैं–

  • टेक्निकल स्किल- ग्राफ़िक डिज़ाइनर को ब्रांडिंग, टाइपोग्राफी, UX और UI डिज़ाइन की अच्छी जानकारी होनी चाहिए। साथ ही कुछ सॉफ्टवेयर जैसे adobe illustrator, adobe inDesign, adobe photoshop, adobe after effects और sketch आदि का भी पूर्ण ज्ञान होना चाहिए। ग्राफ़िक डिज़ाइनर को प्रोग्रामिंग लैंग्वेज जैसे HTML और CSS साथ ही वर्डप्रेस की समझ भी होनी जरूरी है।
  • क्रिएटिविटी-ग्राफ़िक डिज़ाइनर को नए और यूनिक आईडिया के साथ काम करने की जरूरत होती है। उन्हें अपने डिज़ाइन के माध्यम से लोगों से कम्यूनिकेट करना होता है। साथ ही उन्हें ऐसी डिज़ाइन बनाने की ज़रूरत होती है जो लोगों को आकर्षित करे, जिसके लिए क्रिएटिव थिंकिंग का होना आवाश्यक है।
  • कम्युनिकेशन स्किल-एक ग्राफ़िक डिज़ाइनर में कम्युनिकेशन स्किल्स का होना बहुत जरूरी है। उन्हें अपने सहयोगी और क्लाइंट को प्रोजेक्ट के बारे में अच्छी तरह से समझाना आना चाहिए। प्रपोजल और प्रेजेंटेशन के लिए उनके पास रिटन और वर्बल कम्युनिकेशन स्किल का होना बेहद ज़रूरी है।
  • टाइम मैनेजमेंट– ग्राफ़िक डिज़ाइनर अक्सर एक साथ कई प्रोजेक्ट पर काम करते हैं। अतः उन्हें टाइम मैनेजमेंट का विशेष ध्यान रखना चाहिए।

ग्राफ़िक डिज़ाइनर के प्रकार

ग्राफ़िक डिज़ाइनर के प्रकार नीचे दिए गए हैं:

  • ब्रांड पहचान और लोगो डिजाइन
  • पैकेजिंग डिजाइन
  • वेब और मोबाइल डिजाइन
  • लेआउट और प्रिंट डिजाइन

ग्राफ़िक डिज़ाइनर कैसे बनें: स्टेप बाय स्टेप गाइड

Graphic designer kaise bane के बारे में समझाने के लिए स्टेप वाइज प्रोसेस नीचे दिया गया हैं, जिसे फॉलो करके आप एक अच्छे ग्राफ़िक डिज़ाइनर के रूप में अपने करियर की शुरूआत कर सकते हैं।

स्टेप–1 ग्राफ़िक डिज़ाइन के सिद्धांत सीखें।

ग्राफ़िक डिज़ाइनर बनने के लिए सबसे पहले आपके पास ग्राफ़िक डिज़ाइन के सिद्धांतों की अच्छी जानकारी होनी चाहिए। ग्राफ़िक डिज़ाइनर को लाइन, कलर, शेप, स्पेस, टेक्सचर टाइपोग्राफी, स्केल जैसे तत्वों पर काम करने की आवश्यकता होती है। ये सभी चीजें एक डिज़ाइन को प्रभावित करते हैं। ग्राफ़िक डिज़ाइनर को इन बेसिक सिद्धांतो की जानकारी होनी जरूरी है।

स्टेप–2 ग्राफ़िक डिजाइनिंग कोर्स चुनें।

यदि आप एक अच्छा ग्राफ़िक डिज़ाइनर बनना चाहते हैं, तो आप ग्राफ़िक डिज़ाइन कोर्सेज अवश्य चुनें। एक ग्राफ़िक डिज़ाइन कोर्स आपकी डिजाइनिंग स्किल को इम्प्रूव करने में आपकी मदद करेगा। ऐसी कई यूनिवर्सिटीज हैं जो ग्राफ़िक डिज़ाइन कोर्स ऑफर करती हैं। आप अपनी रूचि के हिसाब से ऑनलाइन कोर्स या अंडर ग्रेजुएट कोर्स चुन सकते हैं। बैचलर डिग्री के बाद स्पेशलाइजेशन के लिए आप ग्राफ़िक डिज़ाइन में मास्टर डिग्री कोर्स भी कर सकते हैं। यह आपके करियर के लिए काफ़ी अच्छा सिद्ध होगा।

स्टेप–3 ग्राफ़िक डिज़ाइन टूल के बारे में सीखें।

आपको डिजाइनिंग के लिए जरूरी बेसिक सॉफ्टवेयर और अन्य टूल के बारे में पता होना चाहिए। ग्राफ़िक डिज़ाइनर कई तरह के टूल का इस्तेमाल करते हैं। Adobe creative, photoshop, illustrator, indesign जैसे सॉफ्टवेयर टूल के माध्यम से ही अधिकांश डिजाइनिंग का काम किया जा सकता है।

स्टेप–4 प्रैक्टिस करें और अपनी स्किल्स में सुधार करें।

ग्राफ़िक डिज़ाइन के सिद्धांत और टूल का ज्ञान प्राप्त कर लेने के बाद अब यह प्रैक्टिस करने का समय है। अपनी स्किल को विकसित करने और ग्राफ़िक डिज़ाइन सॉफ्टवेयर में महारत हासिल करने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप अपने खुद के डिजाइनिंग प्रोजेक्ट पर काम करें। इसके अलावा एक अन्य विकल्प लोकल नॉन प्रॉफिट या ब्रांड्स के साथ काम करना है इससे आप अधिक प्रैक्टिस कर सकेंगे, साथ ही वास्तविक दुनिया का अनुभव प्राप्त कर सकेंगे।

स्टेप–5 पोर्टफोलियो बनाएं।

किसी भी ग्राफ़िक डिज़ाइनर के लिए एक अच्छा पोर्टफोलियो जरूरी है। आपके पोर्टफोलियो में ऐसे प्रोजेक्ट शामिल हो सकते हैं, जिन्हें आपने किसी कोर्स के लिए पूरा किया है साथ ही पर्सनल या वर्क प्रोजेक्ट भी शामिल हो सकते हैं। क्वांटिटी से ज्यादा क्वालिटी पर ध्यान दें। यह आपके करियर को एक नया आयाम प्रदान करेगा।

ग्राफ़िक डिज़ाइन कोर्स

ग्राफ़िक डिज़ाइन एक क्रिएटिव करियर विकल्प है। ग्राफ़िक डिज़ाइन में करियर बनाने के लिए छात्र के पास adobe illustrator, adobe photoshop, adobe indesign, quarkXpress, coreldraw जैसे डिजाइनिंग सॉफ्टवेयर की अच्छी समझ का होना बहुत ही ज़रूरी है। ऐसे कई डिप्लोमा/सर्टिफिकेट/ ऑनलाइन कोर्सेज और बैचलर डिग्री कोर्स हैं, जिसके जरिए छात्र ग्राफ़िक डिज़ाइन की पढ़ाई कर सकते हैं।

12वीं के बाद आप ग्राफ़िक डिजाइनिंग में सर्टिफिकेट या डिप्लोमा कोर्स कर इस क्षेत्र में कैरियर बना सकते हैं। इसमे सर्टिफिकेट कोर्स से लेकर बैचलर और पीएचडी कोर्स तक उपलब्ध हैं। इन कोर्स की फीस 20 हजार से लेकर लाखों रुपये तक हो सकती है। आजकल अनेक कॉलेज और यूनिवर्सिटी में ग्राफ़िक डिजाइनिंग से संबंधित कोर्स कराये जा रहे हैं।

ऑनलाइन कोर्सेज

  • Graphic Design – Visual and Graphic Design by Allison
  • Envato Tuts+ Illustration and Design Courses
  • Introduction to Graphic Design by Udemy
  • Graphic Design Basics by Skillshare
  • Learn Adobe Photoshop from Scratch by Udemy
  • Adobe Certified Online Graphic Design Course by Shaw Academy
  • Graphic Design Course by MIT OpenCourseware
  • Canva Design School courses
  • Fundamentals of Creative Design by California Institute of Arts
  • Introduction to Typography by California Institute of Arts

सर्टिफिकेट और डिप्लोमा कोर्सेज  

  • Diploma in Web and Graphic Designing
  • Certificate in Arts & Design
  • Certificate in Graphic & Web Design and Development
  • Graduate Certificate in Graphic Design
  • Graduate Certificate in Informational Architecture & Design

बैचलर्स कोर्स  

  • BFA. in Graphic Design
  • B.Des in Graphic Design
  • B.Des in Visual Communication and Graphics
  • B.Sc in Data Visualization
  • BA (Hons) Graphic Design
  • BA (Hons) in Graphic and Communication Design

मास्टर डिग्री कोर्स

  • MA in Graphic Design
  • MA in Communication Design & Information Design Pathway
  • MFA in Graphic Design
  • Master’s in Information Design & Strategy

योग्यता

ग्राफ़िक डिज़ाइन कोर्स करने के लिए सभी यूनिवर्सिटीज और कॉलेजों की कुछ योग्यता होती हैं , जिन्हें हर छात्र को पूरा करने की ज़रूरत है। Graphic Designer kaise bane कुछ सामान्य योग्यता के बारे में जानते हैं–

  • बैचलर्स डिग्री प्रोग्राम के लिए ज़रुरी है कि उम्मीदवारों ने किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10+2 प्रथम श्रेणी से पास किया हो।
  • भारत में कुछ कॉलेजों और यूनिवर्सिटीज एडमिशन के लिए एंट्रेंस एग्जाम आयोजित करवाती हैं। विदेश में इन कोर्सेज के लिए ऐसा कोई स्पेसिफिक एग्जाम नहीं है। यूनिवर्सिटी द्वारा निर्धारित आवश्यक ग्रेड आवश्यकताओं को पूरा करना जरुरी है, जो हर यूनिवर्सिटी और कोर्स के अनुसार अलग–अलग हो सकती है।
  • मास्टर डिग्री प्रोग्राम के लिए संबंधित क्षेत्र में प्रथम श्रेणी के साथ बैचलर्स डिग्री होना आवाश्यक है। साथ ही कुछ यूनिवर्सिटीज प्रवेश परीक्षा के आधार पर भी एडमिशन स्वीकार करतीं हैं।
  • विदेश की अधिकतर यूनिवर्सिटीज बैचलर्स के लिए SAT और मास्टर्स कोर्सेज के लिए GRE स्कोर की मांग करते हैं।
  • विदेश की यूनिवर्सिटीज में एडमिशन के लिए IELTS या TOEFL टेस्ट स्कोर, अंग्रेजी प्रोफिशिएंसी के प्रमाण के रूप में ज़रूरी होते हैं।
  • विदेश यूनिवर्सिटीज में पढ़ने के लिए SOPLORसीवी/रिज्यूमे और पोर्टफोलियोभी जमा करने की जरूरत होती है।

ग्राफ़िक डिज़ाइन कोर्सेज के लिए दुनिया की टॉप यूनिवर्सिटीज

ग्राफ़िक डिज़ाइन कोर्सेज का अध्ययन करने के वर्ल्ड की टॉप यूनिवर्सिटीज की लिस्ट नीचे दी गई है–

विश्वविद्यालय  लोकप्रिय कोर्सेज
पेनसिल्वेनिया यूनिवर्सिटी  Major in Fine Arts, Specialization in Graphic Design, Minor in Fine Arts Master of Fine Arts
फ्लोरिडा विश्वविद्यालय BFA in Graphic Design, MFA in Studio Art with a concentration in Graphic Design
बोस्टन विश्वविद्यालय  BFA in Graphic Design MFA in Graphic Design
करनेगी मेलों विश्वविद्याल  MA in Design, MPS in Design for Interaction, MD in Design for Interaction, PhD in Design Studies
मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एमआईटी)  BFA in Graphic Design MFA in Graphic Design B. DES in Graphic Design, B.D. in Visual Communication and Graphics.
पोलिटेक्निको डी मिलानो BSc in Graphic Design MA in Graphic Design
आल्टो विश्वविद्यालय  BA in Graphic Design BA (Hons) in Graphic and Communication Design
नॉटिंघम ट्रेंट विश्वविद्यालय  BFA in Graphic Design BSc in Data Visualization, BA (Hons) Graphic Design
स्कूल और आर्ट्स इंस्टिट्यूट ऑफ़ शिकागो BFA in Graphic Design, MFA in Graphic Design, Master in Information Design and Strategy
प्रैट संस्थान  BFA in Graphic Design. in Graphic Design, BD in Graphic Design

ग्राफ़िक डिज़ाइन के लिए भारत की टॉप यूनिवर्सिटीज

ग्राफ़िक डिज़ाइन कोर्सेज की पढ़ाई के लिए भारत की टॉप यूनिवर्सिटीज और कॉलेजों की सूची नीचे दी गई है–

  • नेशनल डिजाइनिंग इंस्टिट्यूट
  • प्रशांत विश्वविद्यालय
  • एमआईटी एडीटी विश्वविद्यालय
  • आर्क कॉलेज ऑफ डिजाइन एंड बिजनेस
  • एमएएसी
  • ज़ी इंस्टिट्यूट ऑफ़ क्रिएटिव आर्ट
  • डिजाइन गांव
  • वर्ल्ड यूनिवर्सिटी ऑफ़ डिज़ाइन
  • कॉलेज ऑफ़ आर्ट्स

आवेदन प्रक्रिया 

Graphic Designer kaise bane के लिए विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है–

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप AI Course Finder की सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • एक्सपर्ट्स से कॉन्टैक्ट के पश्चात वे कॉमन डैशबोर्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से कई विश्वविद्यालयों की आपकी आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेजों जैसे SOP, निबंध (essay), सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टेस्ट स्कोर जैसे IELTS, TOEFL, SAT, ACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTS, TOEFL, PTE, GMAT, GRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप Leverage Live कक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीजा और छात्रवृत्ति / छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे । 
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लेटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है। 

भारत के विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया, इस प्रकार है–

  1. सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  2. यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूजर नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  3. फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  4. अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  5. इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  6. यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

आवश्यक दस्तावेज 

Graphic Designer kaise bane के लिए कुछ जरूरी दस्तावेजों की लिस्ट नीचे दी गई हैं–

एंट्रेंस एग्ज़ाम

ग्राफ़िक डिजाइनिंग कोर्स के लिए एंट्रेंस एग्ज़ाम नीचे दिए गए हैं:

  • National Aptitude Test in Architecture (NATA)
  • Common Entrance Exam for Design (CEED)
  • National Institute of Design Entrance Test (NID)
  • Graduate Aptitude Test in Engineering (GATE)
  • NIFT Entrance Exam

ग्राफ़िक डिज़ाइनर की जॉब प्रोफाइल और सैलरी

मार्केटिंग, एडवरटाइजिंग, पब्लिशिंग, हेल्थ केयर और डिजिटल कम्युनिकेशन सहित विभिन्न क्षेत्रों में कई प्रोजेक्ट्स पर प्रोफेशनल ग्राफ़िक डिज़ाइनर की आवश्यकता होती है। एक ग्राफ़िक डिज़ाइनर की औसत सैलरी 2 लाख से 6 लाख तक सालाना होती है। आइए नीचे दिए गए टेबल के माध्यम से ग्राफ़िक डिज़ाइनर के कुछ जॉब प्रोफाइल और उनकी औसत सैलरी के बारे में जानते हैं। 

नौकरी प्रोफ़ाइल मासिक वेतन (INR में)       
ग्राफिक डिजाइनर   30,055
लोगो डिजाइनर   29,500
पैकेजिंग डिजाइनर   31,000
वेब डिजाइनर   35,000
मल्टीमीडिया डिजाइनर   30,000
ऐड डिजाइनर   29,800
पब्लिकेशन डिजाइनर   28,050
कला निर्देशक   37,000
यूआई डिजाइनर   35,000
यूएक्स डिजाइनर   40,000

FAQs

क्या भारत में ग्राफ़िक डिजाइनिंग एक अच्छा करियर है?

भारत में ग्राफ़िक डिजाइनिंग युवाओं के बीच सबसे लोकप्रिय चॉइस में से एक है। भारत में ग्राफ़िक डिजाइनिंग के बाद नौकरी के कई अवसर हैं। एक अच्छी सैलरी के साथ यह एक बेहतरीन करियर विकल्प है।

क्या ग्राफ़िक डिज़ाइनर बनना कठिन है?

ग्राफ़िक डिज़ाइनर बनना कठिन नहीं है, इसके लिए क्रिएटिव थिंकिंग, आर्ट और डिज़ाइन में इंटरेस्ट, टाइम और डेडिकेशन की आवश्यकता होती है। अतः मेहनत और लगन के साथ आप एक अच्छे ग्राफ़िक डिज़ाइनर बन सकते हैं।

क्या ग्राफ़िक डिज़ाइनर बनने के लिए डिग्री की जरूरत है?

अधिकांश एंट्री लेवल और एडवांस्ड ग्राफ़िक डिज़ाइनर पोजीशन के लिए, आपको किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी या कॉलेज से कम से कम बैचलर्स डिग्री की आवश्यकता होगी। 

भारत के प्रसिद्ध ग्राफ़िक डिज़ाइनर कौन हैं?

भारत के कुछ प्रसिद्ध ग्राफ़िक डिज़ाइनर की लिस्ट नीचे दी गई है–
आरके जोशी
सुजाता केशवानी
दशरथ पटेल
ओरिजित सेन
शेखर गुरेरा
सतीश गुजराली
सादिक हुसैन
सत्यजीत राय

ग्राफ़िक डिजाइनिंग क्या है?

ग्राफिक डिजाइन प्रोफेशनल और अकादमिक अनुशासन है। जिसमें लोगो डिजाइनिंग, पेज डिजाइनिंग, वेब डिजाइनिंग आदि शामिल है।

हम आशा करते हैं कि अब आप जान गए होंगे graphic designer kaise bane। यदि आप ग्राफ़िक डिजाइनिंग की पढ़ाई विदेश से करना चाहते हैं तो आज ही 1800572000 नंबर पर कॉल करके हमारे Leverage Edu के एक्सपर्ट के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन बुक कीजिए और बेहतर मार्गदर्शन पाइए।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today. How-To guides
Talk to an expert