कैसे करें LLB?

1 minute read
1.3K views
10 shares
LLB course details in Hindi

LLB का अंग्रेजी में नाम बैचलर ऑफ लॉ है तथा लैटिन भाषा में “लेगम बेकालयुरेस” एलएलबी का संक्षिप्त नाम है। LLB course details in Hindi यानी एलएलबी कानून से संबंधित पढ़ाई होती है। LLB कर के छात्र कानूनी क्षेत्रों से संबंधित हो जाते हैं। जो-जो छात्र LLB पूरा कर लेते हैं वह बार काउंसलिंग ऑफ इंडिया (BCI) में स्वयं को पंजीकृत करने के बाद कानून का अभ्यास कर सकते हैं। आइए LLB course details in Hindi के बारे में और विस्तार से जानते हैं।

LLB क्या होता है?

एलएलबी की फुल फॉर्म बैचलर ऑफ़ लॉस (Bachelor of Laws) होती है। एलएलबी एक अंडरग्रेजुएट डिग्री है जिसे कानून नियमों और विनियमों का एक समूह है जिसके अंदर कोई भी समाज या देश चलता है यानि कि संचालित होता है। बैचलर ऑफ लॉ एक अंडरग्रेजुएट डिग्री है जिसे कानून में पाठ्यक्रम या कार्यक्रम के लिए सम्मानित किया जाता है।

महत्वपूर्ण जानकारियां

LLB के बारे में कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां नीचे दी गई है –

  • औसत वेतन INR 3 लाख-1 करोड़ प्रतिवर्ष है।
  • LLB कोर्स 3 साल का होता है तथा इसे 6 सेमेस्टर में बांटा गया है।
  • किसी भी स्नातक डिग्री के बाद एलएलबी 3 साल का कोर्स होता है।
  • स्नातक में न्यूनतम 45% अंकों के साथ उत्तीर्ण होना आवश्यक है।
  • एल.एल.बी करने के लिए यह आवश्यक नहीं है कि ट्वेल्थ में कोई निश्चित सब्जेक्ट लिया जाए यह किसी यह किसी भी सब्जेक्ट को लेकर जैसे पीसीएम,पीसीबी, आर्ट्स या कॉमर्स किसी भी सब्जेक्ट के बाद यही किया जा सकता है परंतु यदि किसी छात्र ने प्रारंभ से लॉ करने का सोच रखा है तो उसे आर्ट्स लेना चाहिए।
  • यदि कई छात्र बीकॉम/बीए/ बीएससी/बीटेक के बाद लॉ करने की इच्छुक है तो वह यह कोर्स कर सकते हैं।
  • लो का कोर्स 5 साल का भी होता है परंतु उसे करने के छात्र कम इच्छुक होते हैं फिर भी प्रत्येक क्षेत्र में बेहतर परिप्रेक्ष्य के लिए 3 साल का ही वह कोर्ट चयन करते हैं।
  • एल.एल.बी के बाद एल एल एम भी कुछ छात्र करते हैं। यह एलएलबी के बाद की पढ़ाई होती है।
  • जो छात्र 5 साल के अध्ययन का चयन करते हैं उन्हें 5 साल के अध्ययन के बाद इंटीग्रेटेड लॉ डिग्री दी जाती है यह बीए एल.एल.बी, बीबी.ए.एलएल.बी., बी.कॉम. एलएल.बी,आदि में किया जाता है।
  • b.a. एल.एल.बी में 10 सेमेस्टर होते हैं यह ट्वेल्थ लेवल के बाद किया जाता है इसकी फुल कोर्स फीस Rs.2,30000 है।
  • एल.एल.बी में 6 सेमेस्टर होते हैं और यह कोर्स स्टार्टिंग के बाद किया जाता है इसकी फुल कोर्स फीस Rs.1,38000 है।

विदेश की टॉप यूनिवर्सिटीज

विदेश की टॉप यूनिवर्सिटीज नीचे दी गई हैं-

यूनिवर्सिटीज सालाना ट्यूशन फीस
स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी, यूएस यूएसडी 60,000 (INR 45 लाख)
कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय, ब्रिटेन जीबीपी 33,000 (INR 33 लाख)
ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय, ब्रिटेन जीबीपी 37,850 (INR 37.85 लाख)
शिकागो विश्वविद्यालय, यू.एस यूएसडी 58,266 (INR 43.70 लाख)
येल विश्वविद्यालय, यू.एस. यूएसडी 45,330 (INR 34 लाख)
ड्यूक यूनिवर्सिटी, यूएस यूएसडी 41,000 (INR 30.75 लाख)
न्यूयॉर्क विश्वविद्यालय, यूएस यूएसडी 47,000 (INR 35.25 लाख)
यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन, यूके जीबीपी 42,000 (INR 42 लाख)
हार्वर्ड विश्वविद्यालय, यूएस यूएसडी 67,720 (INR 50.79 लाख)
लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स एंड पॉलिटिकल साइंस जीबीपी 22,690 (22.69 लाख)

भारतीय लॉ यूनिवर्सिटीज

भारत की लॉ यूनिवर्सिटीज के नाम इस प्रकार हैं:

यूनिवर्सिटीज सालाना फीस (INR)
नेशनल लॉ स्कूल ऑफ इंडिया यूनिवर्सिटी 2,13,975
नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी 1,63,000
चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी 1,20,000
नालसर यूनिवर्सिटी आफ लॉ 2,42,000
कलिंंगा यूनिवर्सिटी 1,30,250

LLB के लिए स्पेशलाइजेशन

LLB की पढ़ाई करने के लिए स्पेशलाइजेशन जानना आवश्यक है। पढ़ाई में आपकी सहायता करने के लिए LLB स्पेशलाइजेशन नीचे दी गई है-

  • राजनीतिक विज्ञान 
  • कानूनी तरीके 
  • मुकदमे की पैरवी 
  • विधिशास्त्र 
  • ठेके 
  • साक्ष्य का कानून
  • बौद्धिक संपदा कानून
  • कराधान का कानून
  • बैंकिंग कानून
  • अपराध
  • कानूनी लेखन
  • मानवाअधिकार और अंतरराष्ट्रीय कानून
  • पर्यावरण कानून
  • पारिवारिक कानून
  • प्रशासनिक कानून

जरूर पढ़ें: PhD in Law

संपूर्ण सिलेबस

LLB में पढ़ाये जाने वाले विषय जो आपके अध्ययन के लिए आवश्यक है नीचे दिए गए हैं-

एल.एल.बी प्रथम सेमेस्टर

  • श्रम कानून 
  • परिवार कानून -१ 
  • अपराध
  • अनुबंध का नियम -१
  • वैकल्पिक कागजात (कोई भी)
  • विश्वास
  • महिला और कानून
  • अपराध
  • अंतर्राष्ट्रीय अर्थशास्त्र कानून

एल.एल.बी द्वितीय सेमेस्टर

  • परिवार कानून -२
  • टॉर्च एंड कंज्यूमर प्रोटक्शन एक्ट का कानून
  • संवैधानिक कानून
  • व्यावसायिक नैतिकता

एल.एल.बी तृतीय सेमेस्टर

  • साक्ष्य का कानून
  • मध्यस्थता, सुलह और वैकल्पिक
  • मानवाधिकार अंतरराष्ट्रीय कानून
  • पर्यावरण कानून

एल.एल.बी चतुर्थ सेमेस्टर

  • संपत्ति कानून सहित संपत्ति कानून का हस्तांतरण
  • विधिशास्त्र
  • व्यवहारिक प्रशिक्षण -कानूनी सहायता
  • अनुबंध -२ का नियम
  • वैकल्पिक कागजात कोई भी
  • तुलनात्मक कानून 
  • बीमा का कानून 
  • कानूनों का टकराव
  • बौद्धिक संपदा कानून

एल.एल.बी पंचम सेमेस्टर

  • नागरिक प्रक्रिया संहिता सीपीसी
  • विधियों की व्याख्या
  • कानूनी लेखन
  • सीलिंग और अन्य स्थानीय कानूनों सहित भूमि कानून
  • प्रशासनिक कानून

एल.एल.बी षष्ट सेमेस्टर

  • आपराधिक प्रक्रिया संहिता
  • कंपनी लॉ
  • प्रैक्टिकल ट्रेनिंग मूट कोर्ट
  • व्यावहारिक प्रशिक्षण प्रारूपण
  • वैकल्पिक कागजात (कोई भी)
  • निवेश और प्रतिभूति कानून
  • कराधान का कानून
  • सहकारी कानून
  • परक्राम्य लिखित अधिनियम सहित बैंकिंग कानून

प्रवेश परीक्षाएं

LLB के लिए प्रवेश परीक्षा देना आवश्यक है, जो अलग-अलग यूनिवर्सिटी द्वारा आयोजित की जाती है। जिनमें से कुछ प्रवेश परीक्षाएं दी गई हैं:

  • CLAT
  • AILET
  • LSAT
  • DU इंट्रेंस 
  • AIBE
  • ILSAT
  • ILI CAT

LLB के लिए एलिजिबिलिटी

LLB course details in Hindi के लिए नीचे एलिजिबिलिटी दी गई है:

  • LLB कोर्स को आगे बढ़ाने के इच्छुक बारहवीं कक्षा में किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड में (किसी भी स्ट्रीम) में कम से कम 45% अंक प्राप्त करने चाहिए। एलएलबी छात्रों को पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए आवश्यक प्रवेश परीक्षा भी उत्तीर्ण करने की आवश्यकता है।
  • एलएलबी करने के लिए छात्रों के पास 12वीं उत्तीण करने का सर्टिफिकेट होना चाहिए। अगर आप 12वीं के बाद LLB की पढ़ाई करना चाहते हैं जो 5 पांच साल के लिए होता है।
  • अगर छात्र एलएलबी की तीन साल का पढाई करना चाहते हैं तो उनके पास ग्रेजुएट की डिग्री होनी जरुरी है
  • भारत में LLB करने के लिए कोई उम्र सीमा तय नहीं है।
  • विदेश में पढ़ने के लिए इंग्लिश लैंग्वेज टेस्ट जैसे IELTS/TOEFL/PTE के अंक।
  • लॉ प्रोग्राम में एडमिशन लेने के लिए लॉ नेशनल एप्टीट्यूड टेस्ट (LNAT) एग्जाम के अंकों की ज़रूरी होती है।

लॉ में करियर

LLB की पढ़ाई के बाद आप कौन से करियर का चयन कर सकते हैं उसकी सूची नीचे दी गई है-

  • कनिष्ठ न्यायिक सहायक
  • सहायक न्यायालय सचिव
  • सहायक अभियोजन
  • क्लर्क
  • अन्य लॉ संबंधित पद
  • उप‌ विधिक प्रबंधक
  • कानूनी सलाहकार
  • बोर्ड में विधिक अधिकारी
  • वरिष्ठ विधि अधिकारी
  • लीगल जनरल मैनेजर
  • लीगल एडवाइजर
  •  लीगल चीफ जनरल मैनेजर
  • वरिष्ठ कानूनी अधिकारी
  • लीगल अफसर
  • सपथ आयुक्त
  • फौजदारी अधिवक्ता
  • सिविल अधिवक्ता
  • पारिवारिक अधिवक्ता
  • बीमा अधिवक्ता
  • बैंक अधिवक्ता
  • लॉ डिपार्टमेंट
  • ऑफिस क्लर्क
  • लेक्चरर
  • क्लेम मैनेजर

FAQs

प्रश्न 1: LLB की फीस कितनी होती है?

उत्तर: सरकारी कॉलेज में llb कोर्स ki fees ₹1लाख-₹2लाख तक होती है जबकि प्राइवेट कॉलेज में एलएलबी कोर्स की फीस ₹3लाख- ₹6लाख तक हो सकती है।

प्रश्न 2: एलएलबी में कौन कौन से सब्जेक्ट होते हैं?

उत्तर: एलएलबी में यह निम्नलिखित सब्जेक्ट होते हैं
क्रिमिनल लॉ (Criminal Law)
साइबर लॉ (Cyber Law)
बैंकिंग लॉ (Banking Law)
कॉरपोरेट लॉ (Corporate Law)
टेक्स लॉ (Tex Law)
फैमिली लॉ (Family Law)
पेटेंट अटॉर्नी (Patent Attorney)

प्रश्न 3: वकील बनने के लिए कितनी उम्र होनी चाहिए?

उत्तर: बीसीआई के नियमों के मुताबिक पांच वर्षीय पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए अधिकतम आयु 20 वर्ष और तीन वर्षीय एलएलबी पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए अधिकतम आयु सीमा 30 वर्ष निर्धारित की गई है।

प्रश्न 4: एलएलबी कब की जाती है?

उत्तर: 12वीं के बाद एलएलबी करने और ग्रेजुएशन के बाद एलएलबी करने में बस इतना ही फर्क है कि 12वीं के बाद पास होती है और ग्रेजुएशन के बाद 3 साल का कोर्स करना होता है।

प्रश्न 5: एलएलबी कितने साल का होता है?

उत्तर: LLB कोर्स दो तरह के होते है : एक होता है 5 साल का कोर्स और दूसरा होता है 3 साल का कोर्स अगर आप 12वीं पास करने के बाद सीधा लॉ की पढाई करना चाहते है तो इसके लिए आपको 5 साल पढना होगा।

उम्मीद है, LLB course details in Hindi के बारे में महत्वपूर्ण जानकारियां इस ब्लॉग में मिल गई होंगी। यदि आप विदेश में LLB करना चाहते हैं तो आज ही 1800 572 000 पर कॉल करके Leverage Edu एक्सपर्ट के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करें। 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

6 comments
10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert