कंप्यूटर कोर्सेज

2 minute read
5.5K views
10 shares
Leverage Edu Default Blog Cover

आज का युग कम्प्यूटर का युग है और हम यदि यह कहे कि कम्प्यूटर के बिना हमारी जिंदगी अधूरी है तो किसी हद तक यह सही ही होगा। आज हर काम कंप्यूटर या टेक्नोलॉजी के जरिए होता है। डिजिटल इंडिया का दौर होने से कंप्यूटर और टेक्नोलॉजी का यूज दिन-ब-दिन बढ़ता ही जा रहा है। हम हमारे चारों ओर देखें तो टेक्नोलॉजी और कंप्यूटर इन दो चीजों का बहुत महत्व है। चाहे फिर स्कूल, कॉलेज में एडमिशन लेना हो, जॉब के लिए हो या कोई ऑनलाइन फॉर्म भरना है सभी में कंप्यूटर की आवश्यकता है। कोरोना वायरस के चलते कंप्यूटर का उपयोग और बढ़ता जा रहा है तथा कंप्यूटर से संबंधित वैकेंसी निकलती जा रही है। इसी को देखते हुए आज यह महत्वपूर्ण ब्लॉग Computer Course in Hindi, कंप्यूटर कोर्स , फ्री कंप्यूटर कोर्स , 12 वीं के बाद कंप्यूटर कोर्स की सूची आपके लिए लाए हैं।

टॉप कंप्यूटर कोर्सेज

कंप्यूटर के टॉप कोर्सेज की सूची नीचे दी गई है, जिनमें छात्र एडमिशन ले सकते हैं:

  • बेसिक कम्प्यूटर कोर्स (Introduction to Computers – Hindi
  • एक्सेल का बेसिक कोर्स – Microsoft Excel Basic & Advanced Hindi
  • एम एस वर्ड का बेसिक कोर्स – Microsoft Word Basic & Advanced Hindi
  • डीटीपी कोर्स (DTP Course) – Desk Top Publishing Course in Hindi 
  • साइबर सुरक्षा और एथिकल हैकिंग कोर्स(Cyber security and Ethical Hacking)
  • प्रोग्रामिंग लैंग्वेज कोर्स – Programming Languages Courses
  • वेब डिजाइनिंग कोर्स  – Web Designing Courses
  • एनीमेशन और मल्टीमीडिया कोर्स ANIMATION & MULTIMEDIA Courses
  • कंप्यूटर विज्ञान में डिप्लोमा (Diploma in Computer Science)
  • डाटा एंट्री ऑपरेटर कोर्स (Data entry operator Course  )
  • कम्प्यूटरीकृत लेखा कोर्स (COMPUTERIZED ACCOUNTING)
  • कम्प्यूटर एडेड डिजाइन और ड्राइंग कोर्स (CADD (COMPUTER AIDED DESIGN AND DRAWING Course )
  • डिजिटल मार्केटिंग कोर्स (Digital marketing Course)
  • सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन कोर्स – Search engine optimization Course

वेब डिजाइनिंग

वेब डिजाइनिंग में वेब का मतलब होता है वेबसाइट वेब डिजाइनिंग कोर्स में आपको वेबसाइट बनाना, वेबसाइट को मैनेज करना वेबसाइट के लिए डेटाबेस बनाना आदि सिखाया जाता है। वेब डिजाइनिंग का कोर्स करने के बाद आप अच्छी जॉब पा सकते हैं।परंतु उसके लिए आपको अच्छी प्रैक्टिस की आवश्यकता होगी। वेब डिजाइनिंग के दो पार्ट्स होते हैं एक फ्रंटेंड वेब डिजाइनिंग दूसरा बैकऐंड वेब डिजाइनिंग। यह कोर्स कंप्यूटर साइंस में डिप्लोमा करके, बीसीए कोर्स करके, भी करके या बीटेक करके भी कर सकते हैं।इस कोर्स में आप अपनी स्किल्स को जितना बढ़ाएंगे उतना ही अच्छी और ज्यादा सैलरी वाली जॉब मिल पाएगी। वेब डेवलपमेंट का कोर्स करने के लिए आपको Html, Javascript और Css की नॉलेज होना आवश्यक है। यह कोर्स ऑनलाइन भी किया जा सकता है।

वीएफएक्स एंड एनीमेशन

आजकल कार्टूंस, वीडियो गेम्स, 3D मूवीस आदि का प्रचलन बहुत ज्यादा हो गया है। वीएफएक्स और एनिमेशन का प्रयोग आजकल मूवीस तथा वीडियोस में भी किया जाता है। इसके द्वारा चित्रों को भव्य रुप दिया जाता है। कई टेलीविजन शो में स्टेज परफॉर्मेंस के वक्त भी एनिमेशन का प्रयोग किया जाता है इसके द्वारा परफॉर्मेंस, फिल्म, गानो, कार्टूंस आदि में चार चांद लग जाते हैं। कई मूवीस में इमारतों और लोगों की जगह एनिमेशन का ही प्रयोग किया जाता है और हमें लगता है कि वह रियल है। इस कोर्स को करने के लिए 10th और 12th में 50% से ज्यादा नंबर से उत्तीर्ण होना आवश्यक है तथा इसके लिए एंट्रेंस एग्जाम तथा इंटरव्यू भी लिया जाता है। इस कोर्स को करने के बाद एनिमेटर, आर्ट डायरेक्टर, फिल्म और वीडियो एडिटर तथा 3D एनिमेटर की जॉब कर सकते हैं। यह जॉब आपकी प्रैक्टिस और आपकी स्किल पर डिपेंड होती है। यह ऑनलाइन भी सीखा जा सकता है।

Computer Courses details in English

टैली

टैली का आविष्कार Tally Solutions Pvt. Ltd. द्वारा किया गया था। कई जॉब में टेली का कोर्स अनिवार्य होता है। टेली कोर्स एकाउंटिंग से संबंधित होता है। आजकल कई मॉल, शोरूम्स तथा होटल में पक्का बिल दिया जाता है। यह बिल टैली के सॉफ्टवेयर के द्वारा बनाया जाता है तथा जिसने टैली का कोर्स किया होता है जॉब को करता है। टैली का कोर्स 12 तथा ग्रेजुएशन के बाद भी किया जा सकता है। टैली का कोर्स कंप्यूटर साइंस में डिप्लोमा या डिग्री करके भी किया जा सकता है। इसे सीखने में ज्यादा समय की आवश्यकता नहीं होती कुछ महीनों में ही हम इसे सीख सकते हैं तथा जो लोग ज्यादा फीस नहीं दे सकते तथा उन्हें जॉब करनी होती है वह इस कोर्स को कर सकते हैं क्योंकि इसकी फीस जागता नहीं होती है। टैली सीखाने के कई वीडियोस ऑनलाइन भी उपलब्ध है।तथा ऑनलाइन भी इस कोर्स को सीखा जा सकता है।

माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस एंड टाइपिंग कोर्स

माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस कंप्यूटर का बेसिक होता है। इसमें माइक्रोसॉफ्ट वर्ड, माइक्रोसॉफ्ट ऍक्सेल, माइक्रोसॉफ्ट पावरप्वाइण्ट, माइक्रोसॉफ्ट एक्सेस, माइक्रोसॉफ्ट आउटलुक आदि आते हैं। इसमें डॉक्यूमेंट को आसानी से लिखा जा सकता है इसके साथ-साथ इसमें कई सारे टूल्स होते हैं जिसकी सहायता से डॉक्यूमेंट को एडिट बैकग्राउंड चेंज, पूरी बुक भी टाइप कर सकते हैं। यह कोर्स करने के लिए सिर्फ आपको हिंदी इंग्लिश का सही ज्ञान होना चाहिए। इसे 5th से 12th तक का स्टूडेंट सीख सकता है। तथा इसके बाद भी चाहे वह किसी भी स्ट्रीम से हो यह कोर्स कर सकता है। इसके साथ-साथ हिंदी इंग्लिश की टाइपिंग सीखकर प्राइवेट जॉब कर सकते हैं तथा कई गवर्नमेंट जॉब ऐसी आती है जिनमें टाइपिंग कोर्स अनिवार्य माना जाता है उसके लिए भी आप आवेदन कर सकते हैं।

जानिए कॉमर्स के बाद भी आप कौनसे कंप्यूटर कोर्स कर सकते हैं- Computer Courses After 12th Commerce

साइबर सिक्योरिटी कोर्स

बढ़ते हुए कंप्यूटर का उपयोग तथा टेक्नोलॉजी के बढ़ने के साथ-साथ साइबर क्राइम भी तेजी से बढ़ रहा है। हमारे डाटा को सुरक्षित रखने के लिए साइबर सिक्योरिटी की टीम होती है जो हमारे डाटा को सुरक्षित रखने का काम करती है। साइबर सिक्योरिटी कोर्स यदि हम सर्टिफिकेट के लिए करते हैं तो ट्वेल्थ में गणित केमिस्ट्री फिजिक्स होना आवश्यक है तथा मान्यता प्राप्त बोर्ड से उत्तीर्ण होना चाहिए। परंतु यदि हम साबर सिक्योरिटी कोर्स डिग्री के लिए करते हैं तो हमें इसके लिए प्रवेश परीक्षा देना आवश्यक है। जैसे- जेईईमेन, जेईटी, नीट आदि। साइबर सिक्योरिटी कोर्स में बीए, बीएससी, बीसीए, बीटेक, आईटी आदि डिग्री कोर्स कर सकते हैं।

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग यह एक डिग्री कोर्स होता है। तथा इसके साथ-साथ डिप्लोमा इन कंप्यूटर साइंस में भी यह सब्जेक्ट होता है। सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग से तात्पर्य है कि ऐसे इंजीनियर जो सॉफ्टवेयर को यूजर की जरूरत के अनुसार बनाते हैं तथा विकसित करते हैं सॉफ्टवेयर इंजीनियर कहलाते हैं। तथा सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए हमें सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग का कोर्स करना होता है और यदि हम अपनी अच्छी प्रैक्टिस और मेहनत इसमें देते हैं और अपनी स्किल्स को डेवलप कर लेते हैं तो उसमें लाखों रुपए का पैकेज भी मिलता है। सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में सॉफ्टवेयर तथा एप्लीकेशन से जुड़ी छोटी से बड़ी सारी बात सिखाई जाती है। यदि आप भी सॉफ्टवेयर बनाना चाहते हैं,और एक अच्छी नौकरी पाना चाहते हैं तो आपको सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग का कोर्स करना आवश्यक है।

डिप्लोमा इन आईटी एंड कंप्यूटर साइंस

डिप्लोमा इन आईटी एंड कंप्यूटर साइंस 1 अंडर ग्रेजुएट कोर्स होता है। इस कोर्स को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10वीं तथा 12वीं के बाद किया जा सकता है। इसके साथ-साथ यदि आपने 12वीं किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से pcm (फिजिक्स, केमेस्ट्री,मैथ) से की है तो आपको सेकंड ईयर में डायरेक्ट एडमिशन भी मिल सकता है। हालांकि डिप्लोमा कोर्स करने के बाद डिग्री कोर्स कर सकते हैं जिसमें अच्छा पैकेज मिलता है परंतु डिप्लोमा इन कंप्यूटर साइंस एंड आईटी करने के बाद भी अच्छी जॉब लग सकती है। डिप्लोमा इन कंप्यूटर साइंस में हर वर्ष में 10-10 सब्जेक्ट होते हैं। जीने का ढंग से पढ़ लिया जाए तथा कोडिंग में अपनी पकड़ बना ली जाए तो अच्छी जॉब पा सकते हैं। डिप्लोमा इन कंप्यूटर साइंस एंड आईटी में आयु की कोई सीमा नहीं होती।आप कभी भी यह कोर्स कर सकते हैं।

हार्डवेयर मेंटेनेंस

Computer Course in Hindi के अभी तक के ब्लॉग में आपने देखा कि कंप्यूटर का उपयोग कितना बढ़ता जा रहा है। कंप्यूटर भी क्योंकि एक मशीन है तो मशीन को भी मेंटेनेंस की जरूरत होती है क्योंकि हम अपना काम तो कर लेते हैं लेकिन कंप्यूटर को सही तरीके से मेंटेन नहीं कर पाते हैं इसलिए हार्डवेयर मेंटेनेंस एक कोर्स होता है जिसमें कंप्यूटर या कंप्यूटर से संबंधित सभी हार्डवेयर को सुरक्षित रखना तथा देखरेख रखना और उससे जुड़ी सभी चीजें सिखाई जाती है। कई सरकारी विभागों तथा निजी विभागों में हार्डवेयर टेक्नीशियन की जरूरत होती है जो हार्डवेयर को मेंटेन तथा कई कंप्यूटर्स को जोड़ने का काम करता है।इस कोर्स को 10वीं 12वीं के बाद भी किया जा सकता है।

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स

आज का दौर डिजिटल इंडिया का दौर हो गया है आजकल सभी ऑफलाइन के बजाय ऑनलाइन चीजें खरीदने और पढ़ने के शौकीन होते हैं तथा यह बहुत आसान भी होता है। इसी के साथ साथ डिजिटल मार्केटर की जरूरत भी बहुत बढ़ गई है।डिजिटल मार्केटर बनने के लिए हमें डिजिटल मार्केटिंग कोर्स करना आवश्यक है। डिजिटल मार्केटिंग कोर्स करने के बाद हम निजी या स्वयं भी एडवरटाइजिंग, यूट्यूब तथा अन्य के जरिए पैसे कमा सकते हैं। डिजिटल मार्केटिंग कोर्स में कई कोर्स शामिल है जैसे सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन, डिस्पले एडवरटाइजिंग, सर्च इंजन मार्केटिंग तथा सोशल मीडिया मार्केटिंग आदि। इस कोर्स को करके हम घर बैठे भी पैसे कमा सकते हैं परंतु उसमें स्किल्स और मेहनत की आवश्यकता होगी। यह सर्टिफिकेट कोर्स भी है हम 3 से 6 महीने का कोर्स करके भी डिजिटल मार्केटिंग का सर्टिफिकेट प्राप्त कर सकते हैं। या कोर्स ऑनलाइन भी किया जा सकता है।

यदि आप पर्सनालिटी को डेवलप करना चाहते हैं तो देखना ना भूलें- Personality Development Tips in Hindi

कंप्यूटर नेटवर्किंग

नेटवर्किंग से आशय है कि एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में डाटा को भेजना। आजकल ऑनलाइन ट्रांजैक्शन का जमाना है तथा हम ऑनलाइन कई एप्स के जरिए डाटा को भेजते हैं। तो उस डाटा को सुरक्षित रखने और सुरक्षित रूप से भेजने के लिए कई विभागों में कंप्यूटर नेटवर्किंग का कोर्स किए हुए उम्मीदवार की आवश्यकता होती है।कम्प्यूटर नेटवर्किंग का कोर्स करने के बाद नेटवर्क इंजीनियर, नेटवर्क सिक्योरिटी एक्सपर्ट, नेटवर्क एडमिनिस्ट्रेटर, डेस्कटॉप सपोर्ट इंजीनियर, टीम लीडर टेक्निकल हेड, टेक्निकल सपोर्ट इंजीनियर, सिस्टम एनालाइजर आदि बन सकते हैं। कंप्यूटर नेटवर्किंग का कोर्स 12वीं के बाद भी कर सकते हैं।

यदि आप अपने अध्यापक की प्रिय स्टूडेंट बनना चाहते हैं तो देखिए 10 महत्वपूर्ण जानकारियां- अच्छे विद्यार्थी के 10 गुण

फोटोशॉप

फोटोशॉप अडोब कंपनी द्वारा शुरू किया गया फोटो एडिटर सॉफ्टवेयर है। सोशल मीडिया, मूवीस तथा बढ़ते हुए चित्र के प्रयोग से चित्रों को एडिट करना ब्राइटनेस चेंज करना क्रॉप करना तथा फोटोशॉप टूल का उपयोग करके अलग-अलग तरह से चित्र को एडिट करना आदि सब फोटोशॉप के अंदर ही आता है। यह कोर्स 12वीं के बाद किया जा सकता है। यदि आपको एडिटिंग करना अच्छा लगता है और आप इसी में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो यह आपके लिए बहुत अच्छा कंप्यूटर कोर्स है।यह कोर्स कई इंस्टिट्यूट द्वारा ऑनलाइन भी सिखाया जाता है।

100 Motivational Quotes in Hindi

बीटेक (B.tech)

बीटेक को बैचलर ऑफ इंजीनियरिंग भी कहा जाता है। यह कोर्स एक डिग्री कोर्स होता है। इस कोर्स में वह स्टूडेंट एडमिशन ले सकते हैं जिन्होंने किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं कक्षा गणित विषय के साथ 60% के साथ उत्तीर्ण की हो। बारहवीं कक्षा के बाद एडमिशन लेने पर यह कोर्स 4 साल का होता है। तथा यदि कंप्यूटर साइंस से डिप्लोमा करके इसमें एडमिशन लेते हैं तो यह 3 साल का होता है। क्योंकि यहां एक डिग्री कोर्स है इसलिए इसमें सरकारी तथा निजी दोनों क्षेत्रों में बड़े-बड़े पैकेज के साथ जॉब मिल सकती है।

2021 के इंजीनियरिंग एंट्रेंस एग्जाम

बीसीए (BCA)

बीसीए का पूरा नाम बैचलर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन है। बीसीए का  कोर्स 3 साल का होता है। इस कोर्स में वेब डिजाइनिंग, एप्लीकेशन डेवलपमेंट, प्रोग्रामिंग लैंग्वेज तथा बेसिक सिखाया जाता है।इस कोर्स को 12वीं के बाद किया जा सकता है। इसके लिए 12वीं 45% तथा अंग्रेजी में 50% से ज्यादा अंक होने चाहिए। इस कोर्स को करने के बाद जॉब लग सकती है।

BCA: Bachelor of Computer Applications

कंप्यूटर साइंस में बी.ए.

क्या आपको पहले से पता था कि कंप्यूटर साइंस में बीए हो सकती है। यदि नहीं पता था तो अब जान लीजिए की कंप्यूटर साइंस में भी B.A हो सकती है। यह 3 साल का स्नातक कोर्स होता है। यह कोर्स कंप्यूटर की गणितीय तथा theoretical फाउंडेशन पर जोर देता है। क्योंकि यह एक ग्रेजुएशन कोर्स है इसलिए यह 12वीं कक्षा के बाद किया जा सकता है।

एडमिशन तथा जॉब के लिए सेल्फ इंट्रोडक्शन देना आवश्यक है तो देखिए-

Self introduction in Hindi

कंप्यूटर साइंस में बीएससी

कंप्यूटर साइंस से बीएससी तथा कंप्यूटर साइंस में बी.ए एक तरह से दोनों ही स्नातक कोर्स है परंतु कंप्यूटर साइंस से बीएससी करने के लिए 12वीं कक्षा में PCM (फिजिक्स केमेस्ट्री मैथ्स) 50% परसेंट उत्तीर्ण इन होना आवश्यक है। यह 3 साल का कोर्स होता है। Computer Course in Hindi के इस ब्लॉग में जानते है कुछ अन्य कोर्स के बारे में।

कंप्यूटर कोर्स करने के बाद हमें कंपनी में इंटरव्यू देना पड़ता है तो जानिए क्या है वह इंटरव्यू महत्वपूर्ण प्रश्न –

Common Interview Questions in Hindi

ग्राफिक डिजाइनिंग

ग्राफिक डिजाइनिंग कोर्स अपनी कला को प्रदर्शित करने का एक माध्यम है। यह कोर्स आपकी क्रिएटिविटी को बताता है। ग्राफिक डिजाइनिंग कोर्स में टेक्स्ट और ग्राफिक की मदद से टेक्स्ट और इमेज को क्रिएटिव और यूनिक बनाया जाता है। ग्राफिक डिजाइनिंग सीखना उतना मुश्किल नहीं होता बस यह आपकी क्रिएटिविटी पर डिपेंड करता है। ग्राफिक डिजाइनिंग कोर्स करने के बाद कई कंपनी,न्यूज़ चैनल, एडवरटाइजिंग आदि में आपकी जरूरत होती है। ग्राफिक डिजाइनिंग में ब्रोशर, लोगो, न्यूज़लेटर,पोस्टर विभिन्न  सॉफ्टवेयर की मदद से बनाए जाते हैं। इसमें आप अपना करियर बना सकते हैं।इसे ऑनलाइन भी सीखा जा सकता है यह उतना मुश्किल नहीं होता है।

पढ़िए महान लोगों के द्वारा कहे गए उद्धरण-Education Quotes in Hindi

एंड्रॉयड एप डेवलपमेंट

आज की दुनिया में हर व्यक्ति के पास एंड्राइड होता है तथा वह रोज एक नए ऐप का इस्तेमाल करता है। इसी को देखते हुए आज की दुनिया में एंड्रॉयड एप डेवलपमेंट एक बेहतर करियर विकल्प आपके लिए हो सकता है। इसमें आप करियर बना सकते हैं। एंड्रॉयड एप डेवलपमेंट का कोर्स करने के बाद छोटी से बड़ी अनेक जॉब्स आपके लिए होती है। यह कोर्स अभी बहुत प्रचलन में है। इस कोर्स को करने के लिए 12वीं कक्षा में फिजिक्स केमिस्ट्री मैथ होना चाहिए तथा आपको प्रोग्रामिंग लैंग्वेज तथा कंप्यूटर के बेसिक की अच्छी समझ होनी चाहिए।प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सीखने के लिए आप ऊपर बताए गए बीटेक, डिप्लोमा इन कंप्यूटर साइंस आदि कोर्स कर सकते हैं। इस कोर्स को कई इंस्टीट्यूट द्वारा ऑनलाइन भी कराया जाता है।

बेसिक कंप्यूटर कोर्सेज

बेसिक कंप्यूटर कोर्स लिस्ट नीचे दी गयी है-

फ्री कंप्यूटर कोर्स

ये वे फ्री कंप्यूटर कोर्स है जिन्हे आप कुछ फ्री सॉफ्टवेयर, इंटरनेट और डेस्कटॉप के माध्यम से सीख सकते है-

  • MS office
  • Adobe Photoshop
  • CorelDraw
  • Tally
  • Web designing course
  • Hardware and Networking
  • Typing course

12 वीं के बाद कंप्यूटर कोर्स की सूची

12वीं कॉमर्स के बाद कंप्यूटर कोर्स

आईटी क्षेत्र वर्तमान में दुनिया भर में सबसे अधिक मांग वाले उद्योगों में से एक है। समकालीन दुनिया में कंप्यूटर की आवश्यकता ने दुनिया भर में कई कंप्यूटर-आधारित पाठ्यक्रमों को जन्म दिया है जिससे रोजगार के अवसरों में वृद्धि हुई है। एक कॉमर्स स्ट्रीम के छात्र को कंप्यूटर सीखने पर केंद्रित पाठ्यक्रम में दाखिला लेने के लिए अपनी शैक्षिक पृष्ठभूमि के बारे में चिंता करने की ज़रूरत नहीं है। चूंकि हर क्षेत्र अब डिजीटल हो गया है, ऐसे पेशेवर जिनके पास कंप्यूटर और उनके अनुप्रयोगों दोनों का आवश्यक ज्ञान है आईटी कंपनियों और अन्य क्षेत्रों में उनकी मांग अधिक है।

Check Out: TCP/IP Model In Hindi

12वीं कला के बाद कंप्यूटर पाठ्यक्रम

12वीं आर्ट्स के बाद कंप्यूटर कोर्स करना चाहते हैं? यहाँ 12 वीं कला के बाद शीर्ष कंप्यूटर पाठ्यक्रम हैं:

  • 3डी एनिमेशन में डिप्लोमा
  • ग्राफिक डिजाइनिंग में डिप्लोमा
  • डिजिटल फिल्म निर्माण में डिप्लोमा
  • वेब डिजाइनिंग में डिप्लोमा
  • विजुअल इफेक्ट्स और एनिमेशन में डिप्लोमा
  • डिजिटल मार्केटिंग में डिप्लोमा
  • मल्टीमीडिया में डिप्लोमा

बिना मैथ्स के कॉमर्स के बाद 12 वीं के बाद कंप्यूटर कोर्स की सूची

बिना मैथ्स के कॉमर्स की पढ़ाई करने वालों के लिए 12वीं के बाद कई कंप्यूटर कोर्स हैं। गणित के बिना १२वीं वाणिज्य के बाद कंप्यूटर पाठ्यक्रमों की पूरी सूची यहां दी गई है:

  • ग्राफिक डिजाइनिंग में डिप्लोमा
  • बैचलर ऑफ कॉमर्स (बीकॉम)
  • विदेश व्यापार स्नातक (बीएफटी)
  • बैचलर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (बीबीए)
  • बीबीए एलएलबी या बीए एलएलबी
  • 3डी एनिमेशन कोर्स
  • डिजिटल मार्केटिंग में बीकॉम/बीबीए

Check Out: OSI Model in Hindi

12वीं कॉमर्स के बाद शॉर्ट टर्म कंप्यूटर कोर्स

शॉर्ट टर्म कोर्स एक हफ्ते के कोर्स से लेकर एक साल के कोर्स हो सकते हैं। यहां 12वीं कॉमर्स के बाद शॉर्ट टर्म कंप्यूटर कोर्स की सूची दी गई है, जिसे आप कर सकते हैं:

  1. वेब डिजाइनिंग में सर्टिफिकेट कोर्स
  2. पीसी असेंबली और रखरखाव में सर्टिफिकेट कोर्स Certificate
  3. नेटवर्क एडमिनिस्ट्रेटर में सर्टिफिकेट कोर्स
  4. 3D क्रिएटिव डिज़ाइन का परिचय
  5. सी भाषा के माध्यम से प्रोग्रामिंग में सर्टिफिकेट कोर्स
  6. C++ . में प्रोग्रामिंग में सर्टिफिकेट कोर्स
  7. हार्डवेयर प्रबंधन में एडवांस डिप्लोमा
  8. ई-कॉमर्स डिजाइन में सर्टिफिकेट कोर्स

12 वीं वाणिज्य के बाद उच्च वेतन वाले कंप्यूटर कोर्सेज

  1. BCA
  2. B.Com
  3. Sage 50 Accounts and Payroll Diploma 
  4. Graphic Designing 
  5. 3D Animation & VFX
  6. Diploma in Office Automation 
  7. Data Entry Operator Course
  8. Diploma in Office Automation
  9. Digital Marketing
  10. Graphic Designing
  11. Cloud Computing Professional

कंप्यूटर कोर्स बुक्स इन हिंदी

  1. ऑल इन वन कंप्यूटर कोर्स

Buy – Amazon link

2. कंप्यूटर अवधारणाओं पर सीसीसी कोर्स

Buy- Amazon link

3.कम्पलीट बुक ऑफ़ कंप्यूटर इन हिंदी (ल्यूसेंट)

Buy- Amazon link

4. रैपिडेक्स कंप्यूटर कोर्स

कंप्यूटर कोर्स

Buy- Amazon link

5. CCC (कोर्स ऑन कंप्यूटर कॉन्सेप्ट)

कंप्यूटर कोर्स

Buy- Amazon link

6. डीसीए एडीसीए हिंदी और अंग्रेजी में

कंप्यूटर कोर्स

Buy- Amazon link

7. सुपर स्पीड कंप्यूटर कोर्स

कंप्यूटर कोर्स

Buy- Amazon link

8. टच टाइपिंग कोर्स: बेन कीबोर्ड मास्टर

फ्री कंप्यूटर कोर्स

Buy- Amazon link

Check it: Components Of Computer in Hindi

टॉप यूनिवर्सिटीज

विश्वविद्यालयों से बुनियादी कंप्यूटर कोर्स जो न केवल गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करते हैं बल्कि एक स्वस्थ अध्ययन वातावरण भी प्रदान करते हैं की सूची जो व्यक्ति के संपूर्ण विकास में मदद करती है। नीचे कुछ शैक्षणिक संस्थान की सूची दी गई है जो उन छात्रों के लिए नींव और मार्ग कार्यक्रम प्रदान करते हैं जो इस क्षेत्र में आवश्यक ज्ञान प्राप्त करना चाहते हैं: 

पात्रता मापदंड

इस पाठ्यक्रम का अध्ययन करने के इच्छुक उम्मीदवारों को विश्वविद्यालयों द्वारा निर्धारित कुछ मानकों को पूरा करना होगा जो पाठ्यक्रम को आगे बढ़ाने में उनकी योग्यता और योग्यता का परीक्षण करते हैं। हालांकि पूर्वापेक्षाएँ एक विश्वविद्यालय से दूसरे विश्वविद्यालय में भिन्न हो सकती हैं , नीचे कुछ सामान्य मानदंड दिए गए हैं जिन्हें आपको आवेदन करते समय ध्यान में रखना चाहिए:

  • आपने किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से अपना 10+2 पूरा किया होगा और विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों द्वारा आवश्यक न्यूनतम प्रतिशत प्राप्त किया होगा। 
  • आपको SAT परीक्षा और अधिनियम जैसे वैश्विक परीक्षण करने की आवश्यकता है जो विषय-विशिष्ट ज्ञान और योग्यता कौशल का परीक्षण करने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं। 
  • अंग्रेजी में संवाद करने की अपनी क्षमता का प्रदर्शन करने के लिए आपको IELTS, TOEFL जैसे अंग्रेजी दक्षता परीक्षणों के लिए भी उपस्थित होना होगा ।
  • SOP, LOR और निबंध भी उस प्रोफाइल का एक अनिवार्य हिस्सा हैं जिसका मूल्यांकन विश्वविद्यालय अपने संस्थान में जगह देने से पहले करते हैं।

आवेदन प्रक्रिया

किसी भी कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपको उसकी प्रक्रिया पता होनी चाहिए। भारत और विदेश में कंप्यूटर कोर्स करने के लिए आपको नीचे बतायी गई प्रक्रिया को चरण दर चरण फॉलो करना होगा।

भारत और विदेश में कंप्यूटर कोर्स के लिए आवेदन प्रक्रिया

  • विश्वविद्यालय की ऑफिशियल वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करें। यूके में एडमिशन के लिए आप यूसीएएस वेबसाइट (UCAS) पर जाकर रजिस्ट्रेशन करें। यहाँ से आपको यूजर आईडी और पासवर्ड प्राप्त होंगे।
  • यूजर आईडी से साइन इन करें और कोर्स चुनें जिसे आप चुनना चाहते हैं। 
  • अगली स्टेप में अपनी शैक्षणिक जानकारी भरें।  
  • शैक्षणिक योग्यता के साथ  IELTS, TOEFL, प्रवेश परीक्षा स्कोर, SOP, LOR की जानकारी भरें। 
  • पिछले सालों की नौकरी की जानकारी भरें। 
  • रजिस्ट्रेशन फीस का भुगतान करें।
  • अंत में आवेदन पत्र जमा करें।
  • कुछ यूनिवर्सिटी, सिलेक्शन के बाद वर्चुअल इंटरव्यू के लिए इनवाइट करती हैं।

आवश्यक दस्तावेज

विदेशी कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए नीचे दिए गए डॉक्यूमेंट होने आवश्यक है:

कैरियर की संभावनाओं

कंप्यूटर विज्ञान, एक पाठ्यक्रम के रूप में, आकर्षक है और कैरियर के कई विकल्प उपलब्ध है,जिनके बारे में नीचे बताया गया है:

  • आईटी सलाहकार
  • सूचना प्रणाली प्रबंधक
  • वेब डिजाइनर
  • मल्टीमीडिया प्रोग्रामर
  • सिस्टम डेवलपर
  • डेटाबेस प्रशासक 
  • सॉफ्टवेयर डेवलपर कार्यकारी
  • सलाहकार
  • अनुप्रयोग विश्लेषक

रोजगार क्षेत्र

यहां महत्वपूर्ण रोजगार क्षेत्र हैं जहां आप काम कर सकते हैं:

  • एयरोस्पेस और रक्षा क्षेत्र
  • वित्तीय सेवाएं
  • निर्माण कंपनियां
  • हेल्थकेयर सेक्टर
  • कृषि क्षेत्र
  • खुदरा बिक्री क्षेत्र
  • कॉलेज और विश्वविद्यालय
  • दूरसंचार कंपनियां

सैलरी

नौकरी प्रोफ़ाइल औसत वेतन (INR)
कंप्यूटर इंजीनियर 5.00 एलपीए
कार्यकारी प्रबंधक 4.33 एलपीए
नेटवर्क व्यवस्थापक 4.61 एलपीए
आवेदन सलाहकार 8.98 एलपीए
मोबाइल एप्लिकेशन डेवलपर 5.22 एलपीए

FAQs

कंप्यूटर में कौन सा कोर्स अच्छा होता है?

कंप्यूटर में सभी कोर्स अच्छे होते हैं यह आपकी इच्छा और इसके ऊपर डिपेंड करता है कि आपकी रिक्वायरमेंट क्या है और आपको किस तरह का कोर्स पसंद है।

कंप्यूटर के कौन कौन से कोर्स हैं?

कंप्यूटरमें कई सारे कोर्स होते हैं परंतु कुछ मुख्य कोर्स निम्नलिखित हैं-
BCA
BCom
Sage 50 Accounts and Payroll Diploma 
Graphic Designing 
3D Animation & VFX
Diploma in Office Automation 
Data Entry Operator Course
Diploma in Office Automation
Digital Marketing
Graphic Designing
Cloud Computing Professional
इसके अलावा और भी कई कोर्स ब्लॉग में दिए गए हैं।

डीसीए कोर्स कितने महीने का होता है?

इस कोर्स में 2 सेमेस्टर होते हैं और प्रत्येक 6 महीने से 1 साल का तक का होता है।

डीसीए का फुल फॉर्म क्या होता है?

Diploma in Computer Application

पॉलिटेक्निक कितना साल का होता है?

यह कोर्स 3 साल का होता है ।

आशा है, Computer Course in Hindi (फ्री कंप्यूटर कोर्स) ब्लॉग पसंद आया होगा। Computer Course in Hindi (फ्री कंप्यूटर कोर्स) आपके लिए उपयोगी साबित होगा और यदि आप फ्री कंप्यूटर कोर्स करना चाहते हैं तो आप अपना विकल्प चुनने में Computer Course in Hindi (फ्री कंप्यूटर कोर्स) इस ब्लॉग की मदद ले सकते हैं। यदि आप करियर विकल्प चुनने या अध्ययन संबंधित किसी भी जानकारी के लिए Leverage Edu एक्सपर्ट से संपर्क कर सकते हैं। Computer Course in Hindi (फ्री कंप्यूटर कोर्स) ब्लॉग से संबंधित किसी भी प्रश्न की जानकारी चाहते हैं तो कमेंट सेक्शन में लिखकर बताएं।

Loading comments...
10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert