नेटवर्किंग कोर्स करके दें अपने करियर को उड़ान

2 minute read
586 views
Leverage-Edu-Default-Blog

टेक्नोलॉजी के विकास करने से गैजेट्स भी काफी एडवांस्ड हो गए हैं। एक क्लिक से सारी जानकारी कुछ ही सेकण्ड्स में में ट्रांसफर हो जाती है। इसमें सबसे अहम भूमिका है कम्प्यूटर नेट्वर्किंग की। इसलिए आज के समय में यह फील्ड युवाओं के लिए बेहतरीन करियर विकल्प बन के उभरा है। IT कंपनियों में नेटवर्किंग कोर्स किए हुए व्यक्तियों को प्रेफर किया जाता है। यह एक ऐसा फील्ड हैं, जिसमें विशेषज्ञता हासिल करने के बाद नौकरी के लिए ज्यादा इंतजार नहीं करना पड़ता है। चलिए जानते हैं networking course in Hindi के बारे में विस्तार से।

यह भी पढ़ें : BSc IT (Information Technology)

नेटवर्किंग कोर्स क्या है?

किसी भी कंप्यूटर को एक दूसरे से जोड़ने की प्रक्रिया को नेटवर्किंग कहते हैं, जिसमें इंटरनेट का भी अहम रोल है। इसके माध्‍यम से कंप्यूटर जानकारियां साझा करते हैं। नेटवर्किंग के माध्‍यम से आज एक जगह बैठकर जानकारियां हासिल करने के अलावा लोगों से बातचीत व कार्यालय, बैंक, भुगतान, संगीत, वीडियो, गेमिंग जैसे सभी कार्य कर सकते हैं। आज के समय में बड़ी-बड़ी कॉर्पोरेट कंपनियां नेटवर्किंग की मदद से लाखों रुपए की बचत कर रही हैं। वहीं कम्प्यूटर नेट्वर्किंग की वजह से डेटा, दस्तावेज़ स्टोर्ड उपकरण की शिपिंग और ट्रैवेलिंग पर निर्भरता कम हुई है।

नेटवर्किंग कोर्स क्यों करें? 

नेटवर्किंग कोर्स करने के कई फायदे हैं, जो इस प्रकार हैं: 

  1. नेटवर्किंग आने या सीखने के लिए मैथ्स की ज़रूरत नहीं होती है। इसके लिए बेसिक लॉजिक और कनेक्शंस आने चाहिएं।
  2. IT और नेटवर्किंग में जॉब्स लोकप्रिय हैं। The U.S. Department of Labor अनुसार 2014 से 2024 तक नेटवर्क और कंप्यूटर सिस्टम एडमिनिस्ट्रेटर्स के एम्प्लॉयमेंट में 31% की हाइक होगी।
  3. 1997 से लेकर अब तक 170 देशों में 6.9 मिलियन (69 लाख) से अधिक छात्रों ने नेटवर्किंग अकादमी कोर्सेज में हिस्सा लिया है।

स्किल्स

Networking course in Hindi के लिए किन-किन महत्वपूर्ण स्किल्स का होना आवश्यक है, यह नीचे बताया गया है-

  • कंप्यूटर नेटवर्क सुरक्षा का परिचय
  • लेयर्स
  • वायरलेस नेटवर्क कमियां
  • वायरलेस नेटवर्क
  • क्लाउड कंप्यूटिंग
  • कंप्यूटर नेटवर्क
  • प्रोटोकॉल
  • आईएसओ / ओएसआई मॉडल
  • फ़ायरवॉल और सुरक्षा कौशल
  • अच्छा संचार कौशल

नेटवर्किंग कोर्स की लिस्ट

Networking course in Hindi करते वक़्त छात्रों के पास कौन-कौन से कोर्सेज उपलब्ध हैं। जिन्हें वह नेटवर्किंग फील्ड में अपना भविष्य बनाने के लिए चुन सकते हैं, वे इस प्रकार हैं: 

बैचलर्स कोर्सेज

यहां कुछ अंडरग्रेजुएट कोर्सेज की लिस्ट दी गई है, जो कुछ इस प्रकार हैं:

मास्टर्स कोर्सेज

यहां कुछ पोस्ट ग्रेजुएट/मास्टर्स कोर्सेज की लिस्ट दी गई है, जो कुछ इस प्रकार हैं:

डिप्लोमा कोर्सेज 

यहां कुछ डिप्लोमा कोर्सेज  की लिस्ट दी गई है, जो कुछ इस प्रकार हैं:

  1. Advanced diploma in computer systems technology networking fast track
  2. Diploma in computer systems technician
  3. Diploma in computer science technology- Network management
  4. Diploma in computer systems technician – networking (CSTN)
  5. Diploma in computer science 
  6. NQA diploma in IT networking level 5
  7. Accredited Computer technician networking Specialist program, diploma
  8. Diploma in network engineer
  9. Diploma In networking

आप AI Course Finder की मदद से अपने पसंद के कोर्सेज और उससे सम्बंधित टॉप यूनिवर्सिटी का चयन कर सकते हैं।

नेटवर्किंग कोर्स के लिए दुनिया की टॉप यूनिवर्सिटीज

Networking Course in Hindi ऑफर करने वाली दुनिया की टॉप यूनिवर्सिटीज की लिस्ट इस प्रकार है:

  1. ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय
  2. स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय
  3. हार्वर्ड विश्वविद्यालय
  4. कैलिफोर्निया इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी – Caltech
  5. मैसाचुसेट्स इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एमआईटी)
  6. कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय
  7. यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया, बर्केले
  8. येल विश्वविद्यालय
  9. प्रिंसटन विश्वविद्यालय
  10. शिकागो विश्वविद्यालय
  11. इंपीरियल कॉलेज लंदन
  12. जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय
  13. पेनसिल्वेनिया यूनिवर्सिटी
  14. ईटीएच ज्यूरिख – स्विस फेडरल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी
  15. कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय, लॉस एंजिल्स (यूसीएलए)
  16. कोलम्बिया विश्वविद्यालय
  17. टोरंटो विश्वविद्यालय
  18. ड्यूक विश्वविद्यालय
  19. कॉर्नेल विश्वविद्यालय
  20. मिशिगन यूनिवर्सिटी

आप UniConnect के जरिए विश्व के पहले और सबसे बड़े ऑनलाइन विश्वविद्यालय फेयर का हिस्सा बनने का मौका पा सकते हैं, जहाँ आप अपनी पसंद के विश्वविद्यालय के प्रतिनिधि से सीधा संपर्क कर सकते हैं।

नेटवर्किंग कोर्स के लिए टॉप भारतीय यूनिवर्सिटीज

Networking courses in Hindi ऑफर करने वाली टॉप भारतीय यूनिवर्सिटीज के नाम इस प्रकार हैं:

  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, मद्रास
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ साइंस
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, बॉम्बे
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, दिल्ली
  • जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी
  • बनारस हिंदू विश्वविद्यालय
  • कलकत्ता विश्वविद्यालय
  • मणिपाल अकेडमी ऑफ़ हायर एजुकेशन
  • दिल्ली विश्वविद्यालय
  • बिरला इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी एंड साइंस
  • होमी भाभा नेशनल इंस्टिट्यूट
  • केरल विश्वविद्यालय
  • महात्मा गांधी विश्वविद्यालय
  • गुजरात विश्वविद्यालय
  • अमृता विश्व विद्यापीठम

योग्यता

विदेश में पढ़ाई करने के लिए योग्यता कुछ इस प्रकार है:

  1. बैचलर्स प्रोग्राम में प्रवेश लेने के लिए छात्रों के पास 12वीं में न्यूनतम 60% अंक होने आवश्यक हैं।
  2. मास्टर्स के लिए छात्रों के पास बैचलर्स डिग्री में हर सेमेस्टर में 50% या उससे अधिक अंक होने चाहिए। 
  3. विदेश में नेटवर्किंग कोर्स करने के लिए अंग्रेजी प्रवीणता परीक्षा जैसे कि TOEFL / IELTS or PTE के अंक अनिवार्य हैं।
  4. GRE के अंक भी अनिवार्य हैं।

क्या आप IELTS/TOEFL/SAT/GRE में अच्छे अंक प्राप्त करना चाहते हैं? आज ही इन एग्जाम की बेहतरीन तैयारी के लिए Leverage Live पर रजिस्टर करें और अच्छे स्कोर प्राप्त करें।

आवेदन प्रक्रिया

Networking courses in Hindi में एडमिशन लेने के लिए भारतीय यूनिवर्सिटीज द्वारा आवेदन प्रक्रिया नीचे मौजूद है-

  • सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  • यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूजरनेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  • फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  • अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  • इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  • यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

आवदेन प्रक्रिया से सम्बन्धित जानकारी और मदद के लिए Leverage Edu के एक्सपर्ट्स से 1800 572 000 पर संपर्क करें

विदेशी विश्वविद्यालय के लिए आवेदन प्रक्रिया

Networking courses in Hindi में विदेशी विश्वविद्यालय के लिए आवेदन प्रक्रिया नीचे दी गई है-

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप हमारे AI Course Finder की सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • हमारे एक्सपर्ट्स से कॉन्टैक्ट के पश्चात वे हमारे कॉमन डैशबोर्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से कई विश्वविद्यालयों की आपकी आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेजों जैसे SOP, निबंध (essay), सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टेस्ट स्कोर जैसे IELTSTOEFLSATACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTS, TOEFLPTEGMAT, GRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप हमारी Leverage Live कक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीजा और छात्रवृत्ति / छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे । 
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लेटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है।

आवश्यक दस्तावेज़

B pharm course details in Hindi में एडमिशन लेने के लिए नीचे दिए गए दस्तावेज होने आवश्यक हैं-

  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • पासपोर्ट फोटोकॉपी
  • सभी आधिकारिक शैक्षणिक ट्रांसक्रिप्ट और ग्रेड कार्ड
  • निबंध (यदि आवश्यक हो)
  • पोर्टफोलियो (यदि आवश्यक हो)
  • सीवी / रिज्यूमे 
  • अंग्रेजी भाषा कुशलता परीक्षा के अंक
  • सिफारिश पत्र या LOR
  • स्टेटमेंट ऑफ़ पर्पस (SOP)
  • बैंक विवरण

छात्र वीजा प्रोसेस में Leverage Edu विशेषज्ञ आपकी हर सम्भव मदद करेंगे।

करियर अवसर

Networking Course in Hindi करने के बाद नौकरी के क्या-क्या अवसर होते हैं, वह नीचे बताए गए हैं-

  • आईटी हेल्प डेस्क तकनीशियन
  • जूनियर/एसोसिएट नेटवर्क इंजीनियर
  • नेटवर्क एडमिन
  • सिस्टम इंजीनियर
  • साइबर सिक्योरिटी एनालिस्ट
  • एसोसिएट सेल्स स्पेशलिस्ट
  • एसोसिएट अकाउंट मैनेजर
  • एप्लीकेशन इंजीनियर
  • टेस्ट इंजीनियर
  • कंप्यूटर विजन प्रोग्रामर/डेवलपर्स
  • बिज़नेस ट्रांसफॉर्मेशन स्पेशलिस्ट
  • नई तकनीक मैनेजर
  • हेड ऑफ़ कनेक्टेड स्मार्ट सिटीज
  • टेक्नोलॉजी एनालिस्ट
  • IoT प्रोपोज़ल मैनेजर
  • लेक्चरर
  • डेटा एनालिस्ट
  • टेक्निकल एनालिस्ट
  • एसोसिएट कंसल्टेंट
  • इंटरएक्टिव सिस्टम स्पेशलिस्ट
  • सपोर्ट पार्टनर

टॉप रिक्रूटर्स

यहां छात्रों के लिए नेटवर्किंग कोर्स करने के बाद ग्रेजुएट्स को रिक्रूट करने वाली कंपनियों की लिस्ट दी गई है-

  • Google
  • Flipkart
  • Accenture
  • Amazon 
  • Mind tree 
  • Mahindra tech 
  • Cognizant
  • HCL
  • Capgemini
  • Ericsson
  • Tata Consultancy Services
  • Wipro
  • Infotech
  • IBM

सैलरी 

Pay scale के अनुसार नेटवर्किंग कोर्स करने के बाद एक फ्रेशर को  भारत में INR 5-10 लाख और विदेश में INR 20-45 लाख तक सालाना सैलरी मिल सकती हैं।

FAQs

नेटवर्किंग कोर्स क्या है?

किसी भी कंप्यूटर को एक दूसरे से जोड़ने की प्रक्रिया को नेटवर्किंग कहते हैं, जिसमें इंटरनेट का भी अहम रोल है। इसके माध्‍यम से कंप्यूटर जानकारियां साझा करते हैं।

नेटवर्किंग कोर्सेज के लिए स्किल्स क्या होनी चाहिए?

महत्वपूर्ण स्किल्स नीचे दी गई हैं-
1. कंप्यूटर नेटवर्क सुरक्षा का परिचय
2. लेयर्स
3. वायरलेस नेटवर्क कमियां
4. वायरलेस नेटवर्क
5. क्लाउड कंप्यूटिंग

नेटवर्किंग कोर्स के लिए दुनिया की टॉप यूनिवर्सिटीज कौन सी हैं?

नेटवर्किंग कोर्स के लिए दुनिया की टॉप यूनिवर्सिटीज की लिस्ट इस प्रकार है:
1. ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय
2. स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय
3. हार्वर्ड विश्वविद्यालय
4. कैलिफोर्निया प्रौद्योगिकी संस्थान – Caltech
5. मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एमआईटी)

हमें उम्मीद है, कि आपको Networking courses in Hindi का यह ब्लॉग पसंद आया होगा। यदि आप नेटवर्किंग या कंप्यूटर इंडस्ट्री से जुड़े कोई भी कोर्स विदेश में करना चाहते हैं तो आज ही Leverage Edu एक्सपर्ट्स को 1800 572 000 पर कॉल करके 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करें।  

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today. IT
Talk to an expert