12वीं के बाद भारत से फ्री में विदेश में पढ़ाई

1 minute read
68 views
विदेश में पढ़ने से बढ़ती है एशिया लिटरेसी
Freepik

12वीं पास करने के बाद उच्च अध्ययन करना चाहते हैं। लेकिन कुछ ही छात्र अपने सपने को साकार कर पाते हैं क्योंकि विदेश में पढ़ाई करना एक बड़ी फाइनेंसियल कमिटमेंट है और हर कोई विदेश में पढ़ाई का खर्च नहीं उठा पाता है। यदि आप सोच रहे हैं कि 12वीं के बाद फ्री में विदेश में पढ़ाई कैसे करें या 12वीं के बाद भारत से फ्री में विदेश में पढ़ाई कर सकते हैं? तो हाँ आप कर सकते हैं। कई भारतीय छात्र मुफ्त में या सस्ती कीमत पर पढ़ाई करने के लिए विदेश जाते हैं। पर कैसे? 12वीं के बाद भारत से फ्री में विदेश में पढ़ाई कैसे करें, यह जानने के लिए यह ब्लॉग पढ़ें।

विदेश में पढ़ाई क्यों करें?

आपको विदेश में पढ़ाई क्यों करनी चाहिए इसके लिए नीचे दिए गए पॉइंट्स को पढ़ें:

  • विदेश में पढ़ाई का विकल्प चुनने से आप दुनिया को एक्सप्लोर कर सकते हैं। 
  • वहां आपको नए देशों को पूरी तरह से नई गतिविधियों और रिवाजों को एक्सपीरियंस करने का अवसर मिलेगा। 
  • आप जब दुनिया को एक्सप्लोर करते हैं, तो आपकी यात्रा आपको हर तरह के लोगों के साथ बातचीत करने में मदद करती है, जिससे आपके सोचने का दायरा अलग-अलग हो जाता है। 
  • यह विदेश में पढ़ाई करने के शीर्ष लाभ में से एक है। आप विदेश में बेहतर करियर विकल्प भी चुन सकते हैं। 
  • विदेश की कई यूनिवर्सिटीज़ है जो बेहतर कोर्स के साथ-साथ छात्रवृत्तियां भी देती हैं। 
  • विदेश की यूनिवर्सिटीज़ बेहतरीन शिक्षा पर फोकस करती हैं।

क्या जानना है ज़रूरी 

यहां कुछ प्रमुख कारक दिए गए हैं जो भारत से मुफ्त में 12वीं के बाद विदेश यात्रा में आपके अध्ययन में योगदान दे सकते हैं:

  • कम खर्चे वाले देश को खर्च के मैनेजमेंट के रूप में चुनना विदेशों में अंतरराष्ट्रीय छात्रों के लिए एक मुश्किल काम है।
  • अपनी पिछली योग्यताओं के लिए रिलेवेंट कोर्स चुनें। यह आपको अपने अध्ययन के संबंधित क्षेत्र में छात्र वीज़ा और फाइनेंसियल सहायता प्राप्त करने में मदद करेगा।
  • विदेश में अध्ययन के लिए आवश्यक परीक्षणों में उच्च स्कोर करने का प्रयास करें जैसे कि लैंग्वेज प्रोफिशिएंसी टेस्टिंग और GMAT या GRE  जैसे स्टैंडर्डाइज्ड टेस्टिंग।
  • अच्छे अंक होने से आपको विभिन्न देशों में छात्रवृत्ति प्राप्त करने में मदद मिल सकती है।

विदेश में फ्री में कहां पढ़ाई करें?

विदेश में पढ़ाई करना एक बहुत बड़ी फाइनेंसियल जिम्मेदारी है क्योंकि शिक्षा की लागत लगातार बढ़ती जा रही है। लेकिन वास्तव में कुछ देश ऐसे भी हैं जहां अध्ययन की लागत पूरी तरह से मुफ्त है या सस्ती सीमा पर है। भारत से विदेश में मुफ्त में अध्ययन करना संभव है, लेकिन कई बातों पर विचार करना चाहिए जैसे कि रहने की लागत , छात्र सेवा शुल्क और बहुत कुछ। भारत से मुफ्त में 12वीं के बाद विदेश में पढ़ाई करने के लिए यहां कुछ बेहतरीन देश दिए गए हैं:

जर्मनी

जर्मनी दुनिया के उन कुछ देशों में से एक है जहां आप अपनी राष्ट्रीयता की परवाह किए बिना मुफ्त में अध्ययन कर सकते हैं। भारतीय छात्र जर्मनी में मुफ्त ट्यूशन फीस का लाभ उठाने के लिए सार्वजनिक विश्वविद्यालयों का विकल्प चुन सकते हैं क्योंकि जर्मनी में बहुत सारे सार्वजनिक विश्वविद्यालय हैं जो बिना किसी ट्यूशन फीस के मुफ्त शिक्षा प्रदान करते हैं, लेकिन प्रशासन के लिए हर सेमेस्टर के लिए केवल स्टूडेंट ऐडमिनिस्ट्रेशन फीस sलगता है। यह शुल्क अलग-अलग विश्वविद्यालयों के लिए अलग-अलग है लेकिन जर्मन विश्वविद्यालयों में औसत स्टूडेंट ऐडमिनिस्ट्रेशन फीस EUR 200 – EUR 500 (INR 16-41K) है।

भारतीय छात्रों के लिए प्रवेश आवश्यकताएँ

12वीं के बाद भारतीय छात्रों के लिए जर्मनी में अध्ययन करने के लिए जर्मन और/या इंग्लिश प्रोफिशिएंसी प्रमुख आवश्यकताओं में से एक है। अन्य आवश्यकताओं में GMAT या GRE स्कोर शामिल हैं।

शिक्षा स्तर सामान्य आवश्यकताएँ जर्मन भाषा आवश्यकताएँ अंग्रेजी भाषा  अंग्रेजी भाषा आवश्यकताएँ
अंडर ग्रेजुएट / बैचलर्स डिग्री  न्यूनतम 50% के साथ उच्च माध्यमिक शिक्षा कक्षा बारहवीं का प्रमाण पत्र बी1 स्तर  IELTS- 6.0 कुल मिलाकर
TOEFL आईबीटी- 80 कुल मिलाकर 

जर्मनी में मुफ्त शिक्षा देने वाले विश्वविद्यालय

नीचे सूचीबद्ध जर्मनी में कुछ सर्वश्रेष्ठ सार्वजनिक विश्वविद्यालय हैं जो मुफ्त ट्यूशन या कम छात्र प्रशासन शुल्क प्रदान करते हैं:

रहने की लागत

जर्मनी में रहने की लागत कुछ इस प्रकार है:

पब्लिक यूनिवर्सिटी  EUR 147- 370 (लगभग INR 12,000 – INR 1,30,000 )
प्राइवेट यूनिवर्सिटी EUR 34,524 (लगभग INR 28,00,000)
आवास और उपयोगिताएँ  EUR 230 – 567( लगभग INR 18,000 – INR  46,000)
अपार्टमेंट के लिए किराया (1 बेडरूम) 530 EUR (लगभग INR 42,975)
एकल व्यक्ति के लिए भोजन 10.00 EUR (लगभग INR 811.06)
टैक्सी टैरिफ/किमी  2.00 EUR (लगभग INR 162.24)
प्रति माह उपयोगिताएँ 917 EUR लगभग INR 74,441)

जर्मनी में टॉप कोर्सेज

जर्मनी की टॉप कोर्सेज की लिस्ट नीचे दी गई है:

ऑस्ट्रिया

ऑस्ट्रिया मुफ्त या सस्ती ट्यूशन फीस के लिए क्वालिटी शिक्षा प्रदान करने के लिए जाना जाता है। ऑस्ट्रिया में सार्वजनिक विश्वविद्यालयों में अध्ययन करने के लिए न्यूनतम लागत या कोई शुल्क नहीं है। लेकिन आपकी ट्यूशन फीस आपकी राष्ट्रीयता पर निर्भर करेगी। छात्रों को मुफ्त शिक्षा प्रदान की जाती है, लेकिन अन्य देशों के छात्रों को सालाना लगभग EUR 1,400 – EUR 1,500 (लगभग INR 1-2 लाख) का भुगतान करना पड़ता है। हालाँकि, यदि आप भारत जैसे विकासशील देशों में से एक हैं। आप ऑस्ट्रियाई विश्वविद्यालय में मुफ्त शिक्षण के लिए पात्र होंगे। 

भारतीय छात्रों के लिए प्रवेश आवश्यकताएँ

विभिन्न कोर्सेज और विश्वविद्यालयों के लिए प्रवेश की आवश्यकताएं भिन्न हो सकती हैं लेकिन 12 वीं के बाद भारतीय छात्रों के लिए ऑस्ट्रियाई विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए एक सामान्य मानदंड माध्यमिक विद्यालय परीक्षा या कोई अन्य समकक्ष है। अन्य आवश्यकताओं में अंग्रेजी/जर्मन भाषा टेस्ट स्कोर शामिल हैं। यदि आप जर्मन में एक कोर्सेज का अध्ययन करने जा रहे हैं, तो आपको जर्मन लैंग्वेज प्रोफिशिएंसी सर्टिफिकेट प्रदान करने की आवश्यकता होगी जैसे Deutsch fur Zuwanderer A2/B1।

ऑस्ट्रिया में मुफ्त शिक्षा देने वाले विश्वविद्यालय 

ऑस्ट्रिया में कुछ सार्वजनिक विश्वविद्यालय सूचीबद्ध हैं जो लोकल और भारतीय छात्रों को मुफ्त शिक्षा प्रदान करते हैं:

  • यूनिवर्सिटैट वियेन विएना
  • विश्वविद्यालय इंसब्रुक
  • कार्ल-फ्रैंजेंस-यूनिवर्सिटैट ग्राज़ू
  • जोहान्स केप्लर यूनिवर्सिटी लिंज़ू
  • एल्पेन-एड्रिया-यूनिवर्सिटीएट क्लागेनफ़र्ट
  • यूनिवर्सिटीएट साल्ज़बर्ग
  • डोनौ-विश्वविद्यालय क्रेम्सो
  • एफएच ओबेरोस्टररेइच
  • यूनिवर्सिटैट फर म्यूजिक एंड डार्स्टेलेंडे कुन्स्ट वेइन
  • मोंटानुनिवर्सिटैट लेओबेना

रहने की लागत

ऑस्ट्रिया में रहने की लागत कुछ इस प्रकार है:

ट्युशन शुल्क लगभग €700-€750 (INR 62,917 – INR 67,410) प्रति सेमेस्टर
आवास शुल्क हॉल ऑफ़ रेजिडेंस (छात्रावास): लगभग €250-€450 प्रति माह (INR 22,473 – INR 40,449)
शेयर्ड फ्लैट्स: भिन्न होता है
पर्सनल एक्सपेंसेस  लगभग €300 प्रति माह (INR 26,966)
भोजन €250-€300 (INR 22,473 – INR 26,966) [एक्सक्लूड लग्ज़री फूड आइटम्स, टोबैको प्रोडक्ट्स, आदि]

ऑस्ट्रिया में टॉप कोर्सेज

ऑस्ट्रिया की टॉप कोर्सेज की लिस्ट नीचे दी गई है:

नॉर्वे

नॉर्वे न केवल एक्सीलेंट एजुकेशन सुविधाएं प्रदान करता है बल्कि यह सभी विषयों में भी मुफ्त शिक्षा प्रदान करता है। नॉर्वे में सार्वजनिक विश्वविद्यालय ट्यूशन फीस नहीं बल्कि सेमेस्टर फीस और छात्र सेवा शुल्क लगाते हैं जो प्रति सेमेस्टर 30-EUR 60 (INR 2-4K) के बीच भिन्न हो सकते हैं। 

भारतीय छात्रों के लिए प्रवेश आवश्यकताएँ

नॉर्वेजियन विश्वविद्यालय में प्रवेश पाने के लिए, आपको विश्वविद्यालय द्वारा निर्धारित पात्रता मानदंडों को पूरा करना होगा। भारतीय छात्रों को IELTS या TOEFL जैसे परीक्षणों के माध्यम से अपनी इंग्लिश लैंग्वेज प्रोफिशिएंसी साबित करने की आवश्यकता है। नॉर्वे में पढ़ाई के बारे में सबसे अच्छी बात, ट्यूशन की मुफ्त लागत के अलावा, IELTS और TOEFL के लिए स्कोर आवश्यकताएं हैं। प्रवेश के लिए 5.0 का न्यूनतम स्कोर या 60 का TOEFL स्कोर आवश्यक है। 

नॉर्वे में मुफ्त शिक्षा देने वाले विश्वविद्यालय

नीचे सूचीबद्ध नॉर्वे में कुछ विश्वविद्यालय अंतरराष्ट्रीय छात्रों के लिए अध्ययन की न्यूनतम लागत की पेशकश कर रहे हैं:

रहने की लागत

नॉर्वे में रहने की लागत कुछ इस तरह है जो नीचे दी गई है:

ट्युशन शुल्क 1. अधिकांश सार्वजनिक फंडेड विश्वविद्यालय ट्यूशन फीस नहीं लेते हैं। छात्र संघ शुल्क का भुगतान करने का एकमात्र खर्च होगा या जिसे सेमेस्टर शुल्क भी कहा जाता है जो अलग अलग हो सकता है। यह शुल्क लगभग €30 -€60 ( लगभग INR 2,400- INR 4,800) के बीच हो सकता है।
2. यदि आप नॉर्वे में एक निजी विश्वविद्यालय से अध्ययन करने की योजना बना रहे हैं , तो आपको ग्रेजुएट के लिए €7,000-€9,000 (INR लगभग 5.69 लाख-7.32 लाख) और पोस्टग्रेजुएट कोर्सेज के लिए €9,000- €18,000 (INR लगभग 7.32लाख-INR 14.65 लाख) वार्षिक आधार पर खर्च करना होगा।
निवास स्थान सरकार छात्र आवास पर सब्सिडी प्रदान करती है और इस प्रकार जब आप नॉर्वे में अध्ययन करते हैं तो उचित कीमत पर अच्छे स्टैंडर्ड हाउसिंग  मिल सकते हैं। आपको प्रति माह लगभग €300-€750( INR लगभग 24.409 लाख -INR 61.050 लाख)खर्च करने होंगे ।
अन्य खर्चे कपड़े धोने, स्टेशनरी आदि जैसे अन्य खर्चों को ध्यान में रखते हुए, प्रति माह औसतन € 900- € 1,400 (INR लगभग 73.241 लाख INR-1.13 लाख) के बीच खर्च करने की आवश्यकता होती है। आप जिस शहर में रह रहे हैं, उसके आधार पर यह और भिन्न हो सकता है।
परिवहन स्कैंडिनेवियाई देश में आने-जाने के लिए करोड़ों छात्र सार्वजनिक परिवहन लेना पसंद करते हैं। इसकी कीमत €50-€70 (INR लगभग 4.069 हज़ार-5.695 हज़ार)प्रति माह के बीच कहीं भी हो सकती है [इस पर निर्भर करता है कि आप बाइक से यात्रा करते हैं या टैक्सी से]

नॉर्वे में टॉप कोर्सेज

नॉर्वे की टॉप कोर्सेज कुछ इस प्रकार है:

12वीं के बाद विदेश में मुफ्त में पढ़ाई करने का सबसे अच्छा तरीका 

12वीं के बाद भारत से फ्री में स्कॉलरशिप हासिल करना विदेश में पढ़ाई करने का सबसे अच्छा तरीका माना जाता है। छात्रवृत्ति उन योग्य छात्रों की मदद करने के लिए है जो फाइनेंशियल स्थितियों के कारण विदेश में अध्ययन करने में असमर्थ हैं। यदि आपको छात्रवृत्ति की पेशकश की जाती है, तो आपको ट्यूशन फीस का भुगतान करने की आवश्यकता नहीं है। हालांकि, कुछ स्कॉलरशिप भी हैं जो जीवन यापन का खर्च वहन करने की पेशकश करती हैं। 

छात्रवृत्ति

छात्रवृत्ति प्राप्त करने के लिए पात्रता आवश्यकताएँ भी आपकी पसंद के कोर्सेज/अध्ययन के क्षेत्र के आधार पर अलग-अलग होंगी। अंतरराष्ट्रीय छात्रों के लिए भी कई बाहरी छात्रवृत्तियां उपलब्ध हैं। यहां उन भारतीय छात्रों के लिए स्कॉलरशिप की सूची दी गई है, जो 12वीं के बाद विदेश में मुफ्त में पढ़ाई करना चाहते हैं:

  • Inlaks Scholarships
  • Tata Scholarships
  • The Friedrich Ebert Stiftung Scholarship
  • Erasmus Scholarship Programs in Germany
  • Heinrich Böll Foundation Scholarships in Germany
  • Austrian Government Scholarships

Leverage Edu स्कॉलरशिप

Leverage Edu भारत का सबसे बड़ा विदेश में अध्ययन छात्रवृत्ति है, जो सैकड़ों भारतीय छात्रों को उनकी ट्यूशन फीस, और रहने के खर्च पर छूट के साथ-साथ वीज़ा आवेदनों , टूर और परिसर के खर्च से संबंधित लागत को कम करने में मदद करने के लिए पेश किया जाता है।

FAQs 

ऑस्ट्रिया में अध्ययन के लिए न्यूनतम IELTS आवश्यकताएं क्या हैं?

ऑस्ट्रियाई विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए 6.0 का न्यूनतम स्कोर आवश्यक है।

मैं ऑस्ट्रियाई विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए कब आवेदन कर सकता हूं?

ऑस्ट्रिया में विश्वविद्यालय दो प्रमुख इंटेक प्रदान करते हैं जो शीतकालीन और ग्रीष्मकालीन हैं। 

भारतीय छात्रों के लिए जर्मनी में रहने के लिए सबसे सस्ता शहर कौन सा है?

हैम्बर्ग भारतीय छात्रों के लिए जर्मनी में रहने के लिए सबसे किफायती शहरों में से एक है।

उम्मीद है, 12वीं के बाद भारत से फ्री में विदेश में पढ़ाई और उनसे जुड़ी सभी जानकारियां आपको इस ब्लॉग में मिल गई होंगी। यदि आप विदेश में पढ़ना चाहते हैं तो 1800572000 पर कॉल करके Leverage Edu के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करें।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert