क्वालिटी एजुकेशन क्या है?

1 minute read
3.9K views
Quality Education in Hindi

पिछली कुछ सदियों में हमारे समाज ने जो भी प्रगति की है, उसकी वजह शिक्षा है। शिक्षा समाज का आधार होती है। यह सुधारों को जन्म देती है और नए विचारों (Innovations) के लिए रास्ता करती है। समाज में क्वालिटी एजुकेशन के महत्व को कमतर नहीं आंका जा सकता। यही वजह है कि महान शख्सियतों ने एक सभ्य समाज में इसके महत्व पर विस्तार से लिखा है। शिक्षा की बदौलत ही मनुष्य ब्रह्मांड की विशालता और परमाणुओं में इसके अस्तित्व के रहस्य का पता लगा सका है। अगर शिक्षा न होती, तो  गुरुत्वाकर्षण (Gravity), संज्ञानात्मक असंगति (Cognitive Dissonance), लेजर से होने वाले ऑपरेशन और लाखों अन्य ऐसे कॉन्सेप्ट्स मौजूद न होते। 21वीं सदी में कई ऐसे देश हैं, जो quality education in Hindi की दौड़ में पिछड़ रहे हैं।

Check out: CBSE Class 10 Hindi Syllabus

क्वालिटी एजुकेशन क्या है

बेल्जियम स्थित संगठन एजुकेशन इंटरनेशनल (ईआई), क्वालिटी एजुकेशन को परिभाषित करते हुए कहता है कि यह लिंग, नस्ल, जातीयता, सामाजिक आर्थिक स्थिति या भौगोलिक स्थिति की परवाह किए बिना प्रत्येक छात्र के सामाजिक, भावनात्मक, मानसिक, शारीरिक और संज्ञानात्मक विकास (Cognitive Development) पर केंद्रित होती है। सामान्य भाषा में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा आधुनिक समाज की मांग हैं और चाहे कोई भी क्षेत्र हो गुणवत्ता की मांग हर जगह होती हैं। यह बच्चे को केवल परीक्षाओं के लिए नहीं, बल्कि पूरी जिंदगी के लिए तैयार करता है। 2012 में, संयुक्त राष्ट्र (UN) ने पहली बार अपने सतत विकास लक्ष्यों Sustainable Development Goals-SDG). में ‘क्वालिटी एजुकेशन’ को शामिल किया। इसके अलावा, आधुनिक समय में शिक्षा टेक्नोलॉजी से काफी प्रभावित है। इस टेक्नोलॉजी ने छात्रों के लिए शिक्षा को पाना आसान बनाया है। क्वालिटी एजुकेशन न केवल एक छात्र को नौकरी के लिए तैयार करती है, बल्कि वह व्यक्ति के समग्र व्यक्तित्व का भी विकास करती है। बच्चों के मामले में, इसका उद्देश्य उनकी पूर्ण परवरिश करना है, जिसके तहत उन्हें एक स्वस्थ जीवन शैली जीने में मदद करने के लिए पाठ्यक्रम (Curriculum) के एक हिस्से के रूप में मूल्य और नैतिकता सिखाए जाते हैं।

Check out : Bade Bhai Sahab Class 10

क्वालिटी एजुकेशन गुणवत्तापूर्ण शिक्षा की अवधारणा

गुणवत्तापूर्ण शिक्षा का मतलब ऐसी शिक्षा से हैं जो अपने निर्माण के उद्देश्यों के अच्छी तरह समझती हो और आपके लिए फायदेमंद है। अगर आधुनिक युग की बात की जाएं तो किसी भी देश की शिक्षा को गुणवत्तापूर्ण कहना गलत होगा। वर्तमान की शिक्षा अपने उद्देश्यों की प्राप्ति करने में असफल रही हैं। क्वालिटी एजुकेशन शिक्षा में प्रायः उसी शिक्षा का समावेश होता हैं। जो शिक्षा शिक्षण-अधिगम में छात्रों की रुचि एवं क्षमताओं को समझे एवं समाज की आवश्यकताओं की पूर्ति करें और छात्रों को जीवनदान देने योग्य बनाये।

क्वालिटी एजुकेशन पर UN के विचार

संयुक्त राष्ट्र एक अधिक उज्ज्वल और समृद्ध भविष्य के लिए शिक्षा के महत्व को समझता है और इसलिए उसका मानना है कि केवल एजुकेशन नहीं, बल्कि क्वालिटी एजुकेशन पर ध्यान दिया जाना चाहिए। अपने सतत विकास लक्ष्यों (Sustainable Development Goals)  में, संयुक्त राष्ट्र ने 2030 तक ‘दुनिया में बदलाव लाने के लिए गुणवत्तापूर्ण शिक्षा को एक प्रमुख लक्ष्य के रूप में पहचाना है। गुणवत्तापूर्ण शिक्षा से, संयुक्त राष्ट्र का तात्पर्य सभी के लिए समान और मानक शिक्षा है जो आजीवन सीखने और ज्ञान की प्राप्ति को बढ़ावा दे। समावेशिता और समानता (Inclusivity and Equitability) गुणवत्तापूर्ण शिक्षा की नींव है न कि ऊंची साक्षरता दर। शिक्षा को समझने और इसे दुनिया को बदलने का साधन बनाने के लिए यह एक क्रांतिकारी दृष्टिकोण है।

Check out: मैं क्यों लिखता हूं Class 10th Solutions

यह क्यों महत्वपूर्ण है ?

हम सभी इस बात से वाकिफ हैं कि तकनीकी कैसे शिक्षा का चेहरा बदल रही है। न केवल शिक्षा प्राप्त करने का तरीका बदल गया है बल्कि छात्रों को पढ़ाने के तरीकों का भी विकास हुआ है। पहले, शिक्षा एकतरफा ज्यादा थी, लेकिन आजकल, शिक्षक छात्रों को कक्षाओं में सूचना के दो-तरफा प्रवाह को बनाए रखने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। संयुक्त राष्ट्र ने वैश्विक स्तर पर कई समस्याओं की पहचान की है, जिनका अगर समाधान नहीं किया गया तो गंभीर समस्याएं हो सकती हैं। ऐसे मुद्दों से निपटने के लिए नेताओं और अनुभवी पेशेवरों की जरूरत बढ़ गई है जो अपने-अपने क्षेत्रों में माहिर हों। छात्रों के बीच प्रभावपूर्ण नेतृत्व और शक्ति को प्रोत्साहित करने के लिए, शिक्षण प्रथाओं के एक परिष्कृत तरीके को ढूंढना जरूरी हो गया है। लेटेस्ट टेक्नोलॉजी के युग में, दुनिया में कहीं से भी जानकारी प्राप्त की जा सकती है। भले ही क्वालिटी एजुकेशन प्रदान करने के लिए एक छात्र के व्यक्तित्व को आकार देने के लिए बहुत प्रयासों की आवश्यकता होती है, लेकिन नई तकनीकों के आगमन के साथ, कोई छात्र आवश्यक संसाधनों से बस एक क्लिक दूर होता है। एक शैक्षणिक संस्थान से सैकड़ों मील दूर बैठे हुए, छात्र संस्थान से ऑनलाइन कक्षाएं ले सकते हैं, ऑनलाइन करियर परामर्श का लाभ उठा सकते हैं, और नि:शुल्क ऑनलाइन पुस्तकालयों से संसाधनों का भरपूर उपयोग कर सकते हैं।

गुणवत्तापूर्ण शिक्षा का उद्देश्य

अपराधों की बढ़ती संख्या, युद्ध, बीमारी का प्रकोप, भारी आर्थिक मंदी, जलवायु परिवर्तन, और कई अन्य कारकों ने दुनिया भर के समाजों में अप्रत्याशित परिवर्तन किए हैं। इसके कारण, दुनिया भर के शिक्षाविद और विकासात्मक संगठन क्वालिटी एजुकेशन और इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए लोगों को एकजुट करने की जरूरत पर जोर दे रहे हैं। अपने समुदाय के लोगों के एक छोटे समूह को शिक्षित करने से लेकर बड़े वैश्विक मुद्दों के बारे में जागरूकता फैलाने तक, शिक्षित लोग इन लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए कई तरह से काम कर सकते हैं। नई विधियों के निर्माण के अलावा,  शिक्षा में ड्रामा और आर्ट के उपयोग के परंपरागत तरीके भी अच्छे परिणाम दे सकते हैं और शैक्षिक प्रक्रिया को समृद्ध बनाने में मदद कर सकते हैं।

Check out: दसवीं बोर्ड परीक्षा की तैयारी कैसे करें

क्वालिटी एजुकेशन के लक्ष्य

दुनिया भर में क्वालिटी एजुकेशन प्रदान करने के लिए हर कोई अपने तरीके से भाग ले सकता है। इस खंड में UN ने 2030 के लिए कुछ लक्ष्य निर्धारित किए हैं:

  • 2030 तक, सुनिश्चित करें कि प्रभावी ढंग से सीखने के लिए लड़कियों और लड़कों के लिए मुफ्त प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षा की व्यवस्था हो।
  • 2030 तक, सुनिश्चित करें कि लड़कियों और लड़कों दोनों की गुणवत्तापूर्ण शुरुआती विकास और पूर्व-प्राथमिक शिक्षा तक पहुंच हो।
  • सस्ती और गुणवत्तापूर्ण तकनीकी, व्यावसायिक और तृतीयक शिक्षा तक समान पहुंच सुनिश्चित करना।
  • रोजगार और एंटरप्रैन्योरशिप के लिए जरूरी कौशल रखने वाले युवाओं और वयस्कों दोनों की संख्या में वृद्धि करना।
  • शिक्षा में हर तरह के भेदभाव को दूर करना।
  • सार्वभौमिक साक्षरता को सुनिश्चित किया जाना।
  • सतत विकास और वैश्विक नागरिकता के लिए शिक्षा सुनिश्चित करना।
  • समावेशी और सुरक्षित स्कूलों का निर्माण और विकास सुनिश्चित करना।
  • विकासशील देशों के लिए उच्च शिक्षा के लिए छात्रवृत्ति सुविधा का विस्तार करना।
  • विकासशील देशों में योग्य शिक्षकों की आपूर्ति बढ़ाना

क्वालिटी एजुकेशन को ऐसे दे बढ़ावा

निम्नांकित तरीकों से आप दुनिया भर में क्वालिटी एजुकेशन को बढ़ावा दे सकते हैं:

  • एक चैरिटी खोजें जो गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए काम करे, दान करें या अन्य तरीकों से मदद करे।
  • जिन पुस्तकों का आप उपयोग कर चुके हैं, उन्हें उन लोगों को दान करें जिन्हें उनकी जरूरत है।
  • प्रचार करें और मुफ्त ऑनलाइन पाठ्यक्रम लें
  • स्थानीय स्कूलों का दौरा करें, देखें कि उन्हें किस तरह के सामान की जरूरत है और उन्हें इसे उपलब्ध कराने के लिए एक अभियान शुरू करें।
  • छोटे बच्चों का मार्गदर्शन करें और गृहकार्य या परियोजनाओं में उनकी मदद करें

क्वालिटी एजुकेशन के विभिन्न आयाम

यहां क्वालिटी एजुकेशन के कुछ महत्वपूर्ण आयाम दिए गए हैं, जिन्हें हर संगठन को पूरा करना चाहिए:

  • समता
  • स्थायित्वपूर्णता
  • प्रासंगिकता
  • संतुलित दृष्टिकोण
  • पढ़ाई के ऐसे ढंग जो बच्चों को अच्छे लगें
  • जो पढ़ाया गया है, उसके नतीजों पर ध्यान देना

Check out: ऐसे करें बोर्ड परीक्षा की तैयारी

विश्व भर में फैली क्वालिटी एजुकेशन की व्यवस्थाएं (Quality Education Systems around the World)

हर देश की अपनी एक अनूठी शिक्षा प्रणाली होती है लेकिन उनमें से कुछ इतनी दिलचस्प और बेहतर ढंग से संचालित होती हैं कि वे दुनिया में क्वालिटी एजुकेशन के बहुत करीब हैं। नीचे कुछ शीर्ष देश दिए गए हैं जहाँ सर्वोत्तम गुणवत्ता वाली शिक्षा प्रणाली मौजूद है:

एक अच्छे शिक्षक की विशेषता

एक अच्छे शिक्षक में बहुत- सी विशेषताएं होती हैं, जिनमें से कुछ निम्नलिखित हैं : 

  • एक अच्छा शिक्षक संवाद करने में अच्छा होना चाहिए। उसे न केवल यह जानना चाहिए कि छात्रों के साथ कैसे संवाद करना है, बल्कि वह अन्य शिक्षकों और स्कूल अधिकारियों के साथ संवाद में निपुण होता है, खासकर जब छात्रों की समस्याओं को साझा करने की बात आती है।
  • एक अच्छा शिक्षक एक अच्छा श्रोता होता है। उसे छात्रों की बात सुनना और उनकी जरूरतों को जानना चाहिए।
  • एक अच्छे शिक्षक को बदलते समय के अनुसार खुद को बदलना आना चाहिए, खासकर ऐसे समय में जब स्कूल ऑनलाइन हो रहे हैं।
  • अच्छे शिक्षक अपने छात्रों के साथ सहानुभूतिपूर्ण और धैर्यवान होते हैं और समझते हैं कि वे क्या महसूस कर रहे हैं और उनकी जरूरतें क्या हैं।

क्वालिटी एजुकेशन पर निबंध – 300 शब्द

प्रस्तावना

शिक्षा एक ऐसा वरदान है अगर यह मिल जाए तो ज़िन्दगी संवर जाती है। शिक्षा हमें अन्य जीवित प्राणियों से अलग दर्शाती है। यह मनुष्य को पृथ्वी का सबसे बुद्धिमान और चतुर प्राणी बनाती है। यह मनुष्यों को सक्षम बनाती है और उन्हें जीवन की चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार करती है।

क्या है शिक्षा?

शिक्षा शब्द संस्कृत के ‘शिक्ष’ से लिया गया है, जिसका अर्थ “सीखना या सिखाना” होता है। यानि जिस प्रकिया द्वारा अध्ययन और अध्यापन होता है, उसे शिक्षा कहते हैं।

शिक्षा की अद्भुत परिभाषाएं

  • गीता में “सा विद्या विमुक्ते” का वर्णन है जिसका अर्थ “शिक्षा या विद्या वही है, जो हमें बंधनों से मुक्त करे और हमारा हर पहलु पर विस्तार करे।” होता है। 
  • टैगोर के अनुसार, “हमारी शिक्षा स्वार्थ पर आधारित, परीक्षा पास करने के संकीर्ण मक़सद से प्रेरित, यथाशीघ्र नौकरी पाने का जरिया बनकर रह गई है जो एक कठिन और विदेशी भाषा में साझा की जा रही है। इसके कारण हमें नियमों, परिभाषाओं, तथ्यों और विचारों को बचपन से रटना की दिशा में धकेल दिया है। यह न तो हमें वक़्त देती है और न ही प्रेरित करती है ताकि हम ठहरकर सोच सकें और सीखे हुए को आत्मसात कर सकें।”
  • राष्ट्रपिता गांधी के अनुसार, “सच्ची शिक्षा वह है जो बच्चों के आध्यात्मिक, बौद्धिक और शारीरिक पहलुओं को उभारती है और प्रेरित करती है। इस तरीके से हम सार के रूप में कह सकते हैं कि उनके मुताबिक़ शिक्षा का अर्थ सर्वांगीण विकास था।”
  • अरस्तु (Aristotle) के अनुसार, “शिक्षा मनुष्य की शक्तियों का विकास करती है, विशेष रूप से मानसिक शक्तियों का विकास करती है ताकि वह परम सत्य, शिव एवम सुंदर का चिंतन करने योग्य बन सके।”

उपसंहार

शिक्षा को बेहतर और आसान बनाने के लिए देश में शैक्षिक जागरूकता फैलाने की जरूरत है। लेकिन, शिक्षा के महत्व का विश्लेषण किए बिना यह अधूरा है। शिक्षा पर सबका अधिकार है, इसलिए सबको शिक्षा को आगे बढ़ाने की ज़िम्मेदारी उठानी पड़ेगी।

 Check out: पत्र लेखन उदाहरण कक्षा 6, 7, 8, 9 और 10 के लिए

क्वोट्स

क्वालिटी एजुकेशन पर आपके सामने पेश किये जा रहे हैं दुनिया के कुछ लोकप्रिय लोगों के 10 कोट्स जिन्हें पढ़कर आपको क्वालिटी एजुकेशन क्यों ज़रूरी है इसके बारे में मालूम चलेगा।

“ज्ञान में एक निवेश सबसे अच्छा ब्याज देता है।”

Benjamin Franklin

“शिक्षा भविष्य का पासपोर्ट है, कल के लिए जो आज इसकी तैयारी करते हैं।”

Malcolm X

“शिक्षा सबसे अच्छी मित्र है। एक शिक्षित व्यक्ति का हर जगह सम्मान किया जाता है। शिक्षा सुंदरता और युवाओं को हरा देती है।”

Chanakya

“अगर लोग मूर्खतापूर्ण काम नहीं करते, तो बुद्धिमान कुछ भी नहीं करेंगे।”

Ludwig Wittgenstein

“शिक्षा अपने आप को या अपने आत्मविश्वास को खोए बिना लगभग कुछ भी सुनने की क्षमता है।”

Robert Frost

“वे मुझे रोक नहीं सकते। मैं अपनी शिक्षा प्राप्त करूंगा, अगर यह घर, स्कूल, या कहीं भी हो।”

Malala Yousafzai

“शिक्षा का लक्ष्य ज्ञान की उन्नति और सत्य का प्रसार है।”

John F. Kennedy

“एक पढ़ा-लिखा दिमाग हमेशा जवाब से ज्यादा सवाल करता है।”

Helen Keller

“केवल एक चीज जो मेरी शिक्षा में हस्तक्षेप करती है, वह है मेरी शिक्षा।”

Albert Einstein

“गरीब वह शिष्य होता है जो अपने गुरु से आगे नहीं बढ़ता।”

Leonardo da Vinci

Check out: 100+ Education Quotes हिंदी में

FAQ

प्रश्न 1: गुणात्मक शिक्षा क्या है pdf?

उत्तर: गुणात्मक शिक्षा का अर्थ है विद्यार्थी का चहुँमुखी विकास। कौशल विकास का अर्थ है शिक्षक द्वारा विद्यालय में ऐसा वातावरण तैयार करना, जिसमें बच्चे अपने अनुभवों के आधार पर शिक्षक के सहयोग से ज्ञान का सृजन कर सकें।

प्रश्न 2: 3 गुणवत्ता युक्त शिक्षा से क्या अभिप्राय है?

उत्तर: आसान शब्दों में, “गुणवत्तापूर्ण शिक्षा का मतलब ऐसी शिक्षा है जो हर बच्चे के काम आये। इसके साथ ही हर बच्चे की क्षमताओं के संपूर्ण विकास में समान रूप से उपयोगी हो।

प्रश्न 3: गुणात्मक अधिगम के क्या संकेत है?

उत्तर: गुणात्मक शोधकर्ताओं का उद्देश्य मानवीय व्यवहार और ऐसे व्यवहार को शासित करने वाले कारणों को गहराई से समझना है। गुणात्मक विधि निर्णय के न केवल क्या, कहां, कब की छानबीन करती है, बल्कि क्यों और कैसे को खोजती है।

प्रश्न 4: शैक्षिक गुणवत्ता क्या है?

उत्तर: एक अच्छी शैक्षिक गुणवत्ता तब होती है जब प्रक्रियाएं व्यक्ति और समाज की जरूरतों को सामान्य रूप से पूरा करती हैं । यह प्राप्त किया जाता है यदि संसाधन पर्याप्त हैं और उचित रूप से उपयोग किए जाते हैं ताकि शिक्षा समान और प्रभावी हो।

प्रश्न 5: गुणात्मक मापन क्या है?

उत्तर: गुणात्मक मापन के नाम से ही पता चलता है कि किसी वस्तु, मनुष्य अथवा क्रिया के गुणों के आधार पर उसका मापन करना। किसी वस्तु, व्यक्ति या क्रिया के गुणों को केवल देखा और समझा जा सकता है। अतः इसे किसी निश्चित इकाई अंकों में नहीं मापा जा सकता।

विकासशील देश में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा में सुधार कैसे करें

विकासशील देश में शिक्षा की गुणवत्ता में वृद्धि करने के लिए जरूरी हैं कि पाठ्यक्रम का निर्माण छात्रों के स्तर के अनुसार एवं समाज की आवश्यकताओं के अनुसार किया जाए।

उम्मीद है, कि आपको हमारा आज का ब्लॉग quality education in Hindi अच्छा लगा होगा। यदि आप विदेश में पढ़ाई करना चाहते हैं, तो हमारे Leverage Edu एक्सपर्ट्स के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन 1800 572 000 पर कॉल कर बुक करें।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert