बीटेक के बाद एमबीए करने के फायदे

2 minute read
456 views
Btech ke baad MBA

क्या आप जानते है गूगल के मास्टरमाइंड और CEO सुंदर पिचाई ने यूनिवर्सिटी ऑफ़ पेनसिलवेनिया से एमबीए किया है। बीटेक करने के बाद मैनेजमेंट कोर्सेज करना चाहते हैं ? तो, मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन सबसे अच्छा विकल्प हो सकता है। एमबीए तेजी से एक लोकप्रिय कोर्स के रूप में उभरा है। आइए इस ब्लॉग में कुछ कारणों पर एक नज़र डालते हैं कि क्यों Btech ke baad MBA छात्रों लिए एक आदर्श विकल्प हो सकता है। 

एमबीए कोर्स क्या है?

मास्टर ऑफ़ बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन 2 वर्ष का मास्टर्स डिग्री का कोर्स है जिसे 6-6 महीने के 4 सेमेस्टर में बांटा गया है। इस कोर्स में व्यवसाय कौशल, व्यवसाय प्रबंधन, विपणन कौशल आदि के बारे में पढ़ाया जाता है। MBA के पहले साल में छात्रों को मैनेजमेंट के विषय पढ़ाए जाते हैं और दूसरे साल में आपके द्वारा चुने गए विशेष विषय पढ़ाए जाते हैं। MBA में कला, विज्ञान, वाणिज्य किसी भी स्ट्रीम के छात्र एडमिशन ले सकते हैं। पार्ट टाइम, ऑनलाइन के साथ-साथ डिस्टेंस शिक्षा कार्यक्रम के रूप में एमबीए एक प्रसिद्ध डिग्री है जिसे प्रत्येक कॉमर्स का छात्र अपने करियर की यात्रा में कम से कम एक बार प्राप्त करने की इच्छा रखता है। आप एक पूर्ण 2 वर्षीय कार्यक्रम के अलावा 1 वर्षीय एमबीए का विकल्प चुन सकते हैं और इस डिग्री के लिए प्रवेश प्रक्रिया और समय सीमा के बारे में अधिक पढ़ने के लिए, एमबीए प्रवेश पर हमारा विशेष ब्लॉग देखें। एमबीए ग्रेजुएट का वेतन उनकी विशेषज्ञता और बिजनेस स्कूल पर निर्भर करता है। हालांकि, भारत में, हम अनुमान लगा सकते हैं कि एक नए एमबीए ग्रेजुएट का औसत वेतन लगभग 9-12 लाख प्रति वर्ष हो सकता है।

बीटेक के बाद एमबीए करने के फायदे

Btech ke baad MBA करने के कई सारे फायदे है जो आपका एमबीए की तरफ ध्यान आकर्षित करेंगे। 

  • एमबीए डिग्री को अंतरराष्ट्रीय मान्यता प्राप्त है। 
  • यह आपको टेक्निकल और मैनेजमेंट में एक्सपर्ट बनाएगा।
  • टॉप ग्लोबल ब्रांड्स के साथ काम करने का मौका मिलेगा।
  • अच्छी सैलरी वाली नौकरी
  • यह पर्सनालिटी डेवलपमेंट की की है। 
  • कई सारे करियर के अवसर। 

यह भी पढ़ें: MBA के बाद PhD क्यों करें?

एमबीए के प्रकार

Btech ke baad MBA के कुछ प्रकार होते है। जिनमें से छात्र अपने समय और इच्छा के अनुसार एमबीए कोर्स चुन सकते हैं। 

  • फुल टाइम एमबीए
  • पार्ट टाइम एमबीए
  • एग्जीक्यूटिव एमबीए
  • कॉरेस्पोंडेंस एमबीए
  • ऑनलाइन एमबीए

MBA कोर्स में स्पेशलाइजेशन

Masters of business administration नाम से पता चलता है की यह बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन में कराई जाने वाली मास्टर डिग्री है। इसमें आपको कई तरह के विषय के बारे में पढ़ाया जाता है जैसे कि लेखांकन, अनुप्रयुक्त सांख्यिकी, व्यापार संचार, व्यापार कानून आदि। नीचे MBA स्पेशलाइजेशन की लिस्ट दी गई है-  

  • फाइनेंस  
  • मार्केटिंग  
  • ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट   
  • इंटरनेशनल बिज़नेस  
  • इन्फॉर्मेशन मैनेजमेंट  
  • ऑपरेशन मैनेजमेंट  
  • फाइनेंस एंड एकाउंटिंग
  • कंप्यूटर एप्लीकेशन
  • एन्त्रेप्रेंयूर्शीप
  • बिज़नेस कम्युनिकेशन
  • बिज़नेस एनालिटिक्स
  • इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी
  • इकोनॉमिक्स एंड सोशल साइंस
  • प्रोडक्शन एंड ऑपरेशन्स मैनेजमेंट
  • इंटरनेशनल बिज़नेस
  • बिज़नेस इकोनॉमिक्स
  • रिटेल मैनेजमेंट
  • पब्लिक पॉलिसी
  • फॉरेस्ट मैनेजमेंट
  • सप्लाई चैन मैनेजमेंट
  • टेलीकॉम
  • एग्रीकल्चर एंड फ़ूड बिज़नेस

एमबीए सिलेबस

एमबीए सिलेबस नीचे दिया गया है-

एमबीए एचआर

  • फंडामेंटल्स ऑफ HR मैनेजमेंट
  • सर्विस सेक्टर में HRM
  • मैनेजिंग रिडंडेंसी
  • परफॉरमेंस मैनेजमेंट 

एमबीए IT

  • मैनेजमेंट में कंप्यूटर एप्लिकेशंस
  • बिग डेटा
  • डेटा माइनिंग

एमबीए मार्केटिंग

  • ह्यूमन रिसोर्स
  • बिज़नेस मैनेजमेंट
  • मार्केटिंग मैनेजमेंट
  • कंज्यूमर बिहेवियर

एमबीए फाइनेंस

  • फाइनेंशियल रिपोर्टिंग
  • मैनेजरियल एकाउंटिंग
  • पोर्टफोलियो मैनेजमेंट
  • फाइनेंशियल रिस्क मैनेजमेंट

एमबीए कोर्सेज

एमबीए में कई सारे सेक्शन है जिनमें से छात्र अपनी इच्छा अनुसार कोर्स चुन सकते हैं:

MBA in Marketing MBA in Logistics MBA in Insurance 
MBA in Insurance & Risk Management MBA Operations MBA in Product Management
MBA Healthcare Management MBA in International Business MBA in Logistics and Supply Chain Management
MBA in Banking MBA in Interior Designing MBA in Airport Management
MBA in Information Technology MBA in Aviation Management MBA in Agribusiness
MBA in Pharmaceutical Management  MBA in Power Management MBA in Material Management
MBA in Media Management MBA in Data Analytics MBA in Agriculture
MBA in Energy Management MBA in Communication MBA in HR

इंजीनियरिंग के बाद एमबीए कैसे करें?

अब जब आपने इंजीनियरिंग के बाद एमबीए करने का मन बना लिया है, तो नीचे दिए गए पॉइंट्स से जानिए इंजीनियरिंग के बाद एमबीए कैसे करें :

  1. एमबीए प्रवेश परीक्षा क्रैक करें – पहला कदम प्रवेश परीक्षा का चयन करना है। एमबीए में प्रवेश के लिए आवेदक अक्सर CAT के लिए उपस्थित होते हैं, भारत में अन्य एमबीए प्रवेश परीक्षा XAT, CET, MET और SNAP हैं। विदेशों में शीर्ष बिजनेस स्कूलों में प्रवेश के लिए आपको GMAT और GRE के लिए उपस्थित होना होगा
  2. स्पेशलाइजेशन का चयन – एमबीए केवल ट्रेडिशनल मैनेजमेंट कोर्सेज तक ही सीमित नहीं है, ऐसे बहुत से स्पेशलाइजेशन हैं जिन्हें आप चुन सकते हैं। ऑपरेशन मैनेजमेंट, मार्केटिंग, लॉजिस्टिक, इंटरनेशनल बिज़नेस आदि लोकप्रिय विकल्पों में से हैं।
  3. विश्वविद्यालय का चयन- उन विश्वविद्यालयों की जाँच करें जिस पाठ्यक्रम को छात्र आगे बढ़ाना चाहते हैं और साथ ही योग्यता की जाँच करें।
  4. इंटरव्यू – प्रवेश परीक्षा के बाद कुछ विश्वविद्यालय व्यक्तिगत साक्षात्कार के लिए आवेदकों को बुलाते हैं।  
  5. कार्य अनुभव – कुछ विश्वविद्यालय विशेष रूप से विदेशों में एमबीए कॉलेज कार्य अनुभव वाले आवेदकों को अधिक प्रेफरेंस देते हैं। अगर आपके पास दो-तीन साल का कार्य अनुभव है। प्रवेश के लिए आपको अधिक प्रेफरेंस दी जाएगी।

यह भी पढ़ें: GMAT के बिना UK में MBA कैसे करें

विदेश में लोकप्रिय एमबीए कॉलेज

एमबीए दुनिया भर के छात्रों के बीच एक प्रसिद्ध विकल्प बन गया है और भारत के छात्र दुनिया भर के टॉप विश्वविद्यालयों में प्रवेश पाने की कोशिश कर रहे हैं। एमबीए करने के लिए लोकप्रिय विकल्प कनाडा, यूके और यूएसए हैं। एमबीए की पेशकश करने वाले टॉप विश्वविद्यालयों की लिस्ट यहां दी गई है :

अमेरीका यूके कनाडा
स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय लंदन स्कूल ऑफ बिजनेस टोरंटो विश्वविद्यालय
पेनसिल्वेनिया यूनिवर्सिटी ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय मैकगिल विश्वविद्यालय
मैसाचुसेट्स की तकनीकी संस्था कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय मैरीलैंड विश्वविद्यालय
हार्वर्ड विश्वविद्यालय वारविक विश्वविद्यालय पश्चिमी ओंटारियो
कोलम्बिया विश्वविद्यालय मैनचेस्टर विश्वविद्यालय ब्रिटिश कोलंबिया विश्वविद्यालय
यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया, बर्केले कैस बिजनेस स्कूल अल्बर्टा विश्वविद्यालय
नॉर्थवेस्टर्न यूनिवर्सिटी क्रैनफील्ड यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मैनेजमेंट कॉनकॉर्डिया विश्वविद्यालय
कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय ए डरहम विश्वविद्यालय डलहौजी विश्वविद्यालय
येल विश्वविद्यालय लैंकेस्टर विश्वविद्यालय एचईसी मॉन्ट्रियल

भारत में लोकप्रिय एमबीए कॉलेज  

सही विश्वविद्यालय का चयन करना थोड़ा मुश्किल है क्योंकि दुनिया भर में एमबीए की पेशकश करने वाले कई विश्वविद्यालय हैं। इस प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए हमने Btech ke baad MBA करने के लिए टॉप विश्वविद्यालयों को listed किया है:

  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट, अहमदाबाद
  • एसपी जैन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड रिसर्च, मुंबई
  • इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस, मोहाली
  • जमनालाल बजाज इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज, मुंबई
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट, बैंगलोर
  • फैकल्टी ऑफ़ मैनेजमेंट स्टडीज, दिल्ली विश्वविद्यालय, नई दिल्ली
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट, रायपुर
  • सिम्बायोसिस इंस्टीट्यूट ऑफ इंटरनेशनल बिजनेस, पुणे

MBA के लिए योग्यता

MBA करने के लिए आपके पास नीचे दी गई योग्यता होनी आवश्यक है-

  • कम से कम 12 साल की स्कूली शिक्षा होनी चाहिए।  
  • छात्र किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से किसी भी विषय में ग्रेजुएशन उत्तीर्ण होनी चाहिए। 
  • ग्रेजुएशन में कम से कम 50%अंक होने आवश्यक है।  
  • ग्रेजुएशन के अंतिम वर्ष में पढ़ाई करने वाले छात्र भी MBA के लिए आवेदन कर सकते है, लेकिन निर्धारित समय के अन्दर ग्रेजुएशन डिग्री का सर्टिफिकेट कॉलेज में जमा करना होगा।
  • CAT/GMAT/UPES MET/MAT/NMAT जैसी प्रवेश परीक्षाओं में कम से कम 650 – 690 तक के अंक अच्छे माने जाते हैं, जो होने आवश्यक हैं। विदेश में MBA करने के लिए आपको GMAT/GRE परीक्षाओं में अच्छे अंक लाने होंगे। 

आवेदन प्रक्रिया 

विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है–

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप AI Course Finder की सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • एक्सपर्ट्स से कॉन्टैक्ट के पश्चात वे कॉमन डैशबोर्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से कई विश्वविद्यालयों की आपकी आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेजों जैसे SOP, निबंध, सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टेस्ट स्कोर जैसे IELTS, TOEFL, SAT, ACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTS, TOEFL, PTE, GMAT, GRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप Leverage Live कक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीजा और छात्रवृत्ति/छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे । 
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लेटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है। 

भारत के विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया, इस प्रकार है–

  1. सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  2. यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूजर नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  3. फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  4. अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  5. इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  6. यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

आवश्यक दस्तावेज 

कुछ जरूरी दस्तावेजों की लिस्ट नीचे दी गई हैं–

करियर स्कोप

Btech ke baad MBA करने का सबसे महत्वपूर्ण कारण नौकरी के  सबसे ज्यादा अवसर है जिनमें से छात्र आसानी से नौकरी चुन सकते हैं। आपके द्वारा अपनाई जाने वाली स्पेशलाइजेशन के आधार पर प्रोफाइल भिन्न हो सकते हैं। यहाँ कुछ लोकप्रिय प्रोफाइल की लिस्ट नीचे दी हैं:

  • फाइनेंसियल एनालिस्ट
  • सीनियर मैनेजमेंट पोस्ट इन ह्यूमन रिसोर्स
  • सेल्फ एम्प्लॉयमेंट  
  • ऑपरेशन मैनेजर
  • आईटी मैनेजर या कंसल्टेंट
  • सीनियर प्रोडक्ट मैनेजर
  • व्यापार विश्लेषक
  • डाटा प्रोसेसिंग मैनेजर
  • मुख्य प्रौद्योगिकी अधिकारी

एमबीए करने के बाद करियर इंडस्ट्रीज

एमबीए करने के बाद करियर इंडस्ट्रीज नीचे दी गई हैं-

  • मैन्युफैक्चरिंग
  • कंज्यूमर पैक्ड गुड्स
  • एनर्जी
  • मीडिया
  • हेल्थकेयर
  • रियल एस्टेट

टॉप रिक्रूटर्स

टॉप रिक्रूटर्स की सूची इस प्रकार है:

  • Apple
  • Amazon
  • Facebook
  • Microsoft
  • Bain & Company
  • McKinsey
  • The Boston Consulting Group
  • Deloitte
  • Citigroup
  • Walt Disney
  • JP Morgan
  • PepsiCo
  • Procter & Gamble

सैलरी

इंजीनियरिंग के बाद एमबीए पूरा करने वाले छात्रों के पास बहुत सारे अवसर उपलब्ध हैं। यहाँ कुछ टॉप जॉब प्रोफाइल और उनकी सैलरी दी गयी है :

एमबीए जॉब पोस्ट औसत वेतन प्रति वर्ष (रुपये में)
मार्केटिंग मैनेजर 9 लाख
ऑपरेशन मैनेजर 7.5 लाख
ट्रांसपोर्ट एंड लोगिस्टिक मैनेजर 6 लाख 
रिस्क मैनेजर 10 लाख
सप्लाई चैन मैनेजर 7.5-8.2 लाख
फाइनेंस मैनेजर 9-9.5 लाख
ह्यूमन रिसोर्स मैनेजर 4-5 लाख
आईटी और सिस्टम मैनेजर 7-8 लाख
सेल्स मैनेजर 8-9 लाख

FAQs

बीटेक की फीस कितनी है?

बीटेक की फीस ₹700000 से लेकर ₹800000 तक के बीच होती है।

बीटेक के बाद कौन सा एमबीए सबसे अच्छा है?

एमबीए में कई लोकप्रिय कोर्स जिन्हें बीटेक के बाद किया जा सकता है जिनमें से कुछ निम्न है:
MBA in Marketing
MBA in Insurance & Risk Management
MBA Healthcare Management
MBA in Logistics and Supply Chain Management
MBA in Interior Designing
MBA in Airport Management
MBA in Information Technology
MBA in Aviation Management आदि।

क्या इंजीनियरिंग के बाद एमबीए करना अच्छा है?

हाँ, इंजीनियरिंग के बाद एमबीए करना अच्छा विकल्प हो सकता है। इसके कुछ कारण है:
-एमबीए डिग्री को अंतरराष्ट्रीय मान्यता प्राप्त है। 
-यह आपको टेक्निकल और मैनेजमेंट में एक्सपर्ट बनाएगा।
-टॉप ग्लोबल ब्रांड्स के साथ काम करने का मौका मिलेगा।
-अच्छी सैलरी वाली नौकरी
-यह पर्सनालिटी डेवलपमेंट की की है। 
-कई सारे करियर के अवसर। 

एमबीए के बाद सैलरी कितनी होती है?

एमबीए के बाद औसत सैलरी 10 से 15 लाख सालाना हो सकती है। 

अमेरिका में एमबीए की सैलरी कितनी है?

अमेरिका में एमबीए की सैलरी $90,073 (70 लाख ) सालाना हो सकती है।

बीटेक में कौन सी नौकरी मिलती है?

बीटेक के बाद कुछ लोकप्रिय प्रोफाइल जॉब प्रोफाइल की लिस्ट नीचे दी हैं:
-फाइनेंसियल एनालिस्ट
-सीनियर मैनेजमेंट पोस्ट इन ह्यूमन रिसोर्स
-सेल्फ एम्प्लॉयमेंट  
-ऑपरेशन मैनेजर
-आईटी मैनेजर या कंसल्टेंट
-सीनियर प्रोडक्ट मैनेजर
-व्यापार विश्लेषक
-डाटा प्रोसेसिंग मैनेजर
-मुख्य प्रौद्योगिकी अधिकारी

बीटेक करने के बाद कितनी सैलरी मिलती है?

बीटेक के बाद व्यक्ति 4 लाख से शुरू होकर अधिकतम 20 लाख तक जाती है।

क्या बीटेक के बाद MBA कर सकते हैं?

जी हाँ, आप बीटेक के बाद MBA कर सकते हैं, अधिकत्तर छात्र बीटेक के बाद MBA का ही चयन करते हैं।

उम्मीद है, Btech ke baad MBA करने के फायदे पता चल गए होंगे। यदि आप Btech ke baad MBA विदेश में करना चाहते है तो Leverage Edu के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करें। वे आपकी सही कोर्स और यूनिवर्सिटी चुनने में आपकी मदद करेंगे।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today. MBA
Talk to an expert