MBA के बाद PhD क्यों करें?

Rating:
1.7
(3)
एमबीए के बाद पीएचडी

Study Abroad के लिए अक्सर स्टूड़ेट्स ग्रेजुएशन,मास्टर और फिर,अगर चुने हुई फील्ड में पढ़ाई कर डॉक्टरेट की डिग्री प्राप्त करने का निर्णय लेते हैं। कॉमर्स के विशाल डोमेन की जब बात आती है तो PhD आमतौर पर ऐकडेमिक क्षेत्र में जाने के इच्छुक लोगों द्वारा चुना जाता है। कामकाजी पेशेवर आमतौर पर पीएचडी का विकल्प नहीं चुनते,क्योंकि यह व्यापक समय की मांग करता है और इसलिए भी कि इसका ऐकडेमिक उपयोग अधिक है। इसलिए,यदि आपने हाल ही में मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन किया है,तो PhD करने के सही निर्णय पर पहुँचने के लिए कुछ सोच विचार जरूरी है।इस ब्लॉग का उद्देश्य एमबीए के बाद PhD करने की जरूरत और करियर में आगे बढ़ने में पीएचडी के योगदान का विस्तृत रूप से समझाना है।

भारत में MBA के बाद PhD कैसे करें

भारत में MBA के बाद PhD करना चाहते हैं? एमबीए के बाद PhD के व्यापक लाभ हैं जो आपको मैनज्मन्ट और बिजनेस की दुनिया में प्रतिस्पर्धी बढ़त के साथ-साथ आवश्यक रिसर्च और पेशेवर एक्सपोजर दिलाता है ताकि भारत और विदेशों में आपको उच्च-वेतन वाली मेन जेरी प्रोफाइल मिल सके। भारत में MBA के बाद PhD के बारे में आपको क्या जानना चाहिए:

  • एलिजबिलिटी: पीएचडी के लिए आवेदन देने के लिए 2-साल की MBA डिग्री पूरी करने के साथ-साथ यूजीसी-नेट या गेट परीक्षा पास करनी होगी तभी भारत के टॉप बिजनेस स्कूलों और विश्वविद्यालयों में एडमिशन मिल सकता है।
  • अवधि: भारत में, प्रोग्राम और विश्वविद्यालय के आधार पर 3-5 वर्षों में पीएचडी पूरी कर सकते हैं।
  • आवश्यकताएँ: आपके पास गेट/यूजीसी-नेट/ सीएसआईआर-नेट स्कोर,रिसर्च प्रस्ताव के साथ प्रवेश के अवसरों को बढ़ाने के लिए सिफारिश पत्र और वैकल्पिक कार्य अनुभव,होना चाहिए।

MBA के बाद PhD के लाभ

थियोरेटिकल विषयों में उच्चतम एकेडमिक डिग्री के रूप में,पीएचडी या डॉक्टरेट ऑफ फिलॉसफी उन लोगों के लिए एकदम सही है जो विशिष्ट क्षेत्र में बड़ी गहराई के ज्ञान की इच्छा रखते हैं।एमबीए के बाद पीएचडी करने के बहुत सारे फायदे हैं, जिनमें से कुछ नीचे दिए गए है:

  1. MBA पर प्रतिस्पर्धी बढ़त प्राप्त करें
  2. मास्टर रिसर्च स्किल्स और मेथडोलॉजी
  3. ऐकडेमिक क्षेत्र की ओर झुकाव
  4. प्रोफेसर बनने का मौका
  5. बिजनेस स्कूल में अकदमीशियन बनें

MBA के बाद PhD के कोर्स

  • मैनज्मन्ट में पीएचडी
  • ऑर्गनज़ैशनल बिहेव्यर/मैनज्मन्ट में पीएचडी
  • बिहेवियरल फाइनेंस में पीएचडी
  • एप्लाइड स्टैटिस्टिक्स में पीएचडी
  • इन्फोर्मेशन टेक्नोलॉजी/डाटा एनालिटिक्स में पीएचडी
  • मार्केट एनालिसिस एंड रिसर्च में पीएचडी

MBA के बाद टॉप PhD कोर्स

पीएचडी की औसत अवधि लगभग 5-7 साल है जहाँ पहला वर्ष अधिक थियोरेटिकल है लेकिन दूसरे वर्ष की शुरुआत से,आप अपनी पसंद के अनुसार विशेषज्ञताएं चुन सकते हैं।बिजनेस और मैनेजमेंट में,विशेष पीएचडी कोर्स की सारणी है जिसमें से कोई भी आप चुन सकते हैं।एमबीए के बाद पीएचडी के लिए टॉप विशेषज्ञताएं हैं:

  • उद्यमिता में पीएचडी
  • कॉमर्स में पीएचडी
  • अकाउंटिंग में पीएचडी
  • मैनज्मन्ट में पीएचडी
  • अर्थशास्त्र में पीएचडी
  • कमर्शियल कानून में पीएचडी
  • मानव संसाधन मैनज्मन्ट में पीएचडी
  • ऑपरेशनल रिसर्च में पीएचडी
  • मार्केटिंग में पीएचडी
  • हेल्थकेयर और मैनज्मन्ट में पीएचडी
  • ऑर्गनज़ैशनल बिहेव्यर में पीएचडी
  • फाइनेंस में पीएचडी
  • केमिस्ट्री में पीएचडी
  • कंप्यूटर साइंस में     पीएचडी
  • कानून में पीएचडी
  • आईटी में पीएचडी
  • इंजीनियरिंग में पीएचडी
  • राजनीति विज्ञान में पीएचडी
  • शिक्षा में पीएचडी
  • स्टेटिस्टिक्स में पीएचडी
  • साइकोलॉजी में पीएचडी

Eligibility

हालांकि विशिष्ट आवश्यकताएं एक विश्वविद्यालय से दूसरे विश्वविद्यालय में अलग हो सकती हैं, MBA या अन्य किसी ग्रेजुएशन प्रोग्राम के बाद पीएचडी के लिए कुछ सामान्य मानदंड हैं जिन्हें हर उम्मीदवार को पूरा करने की आवश्यकता है।प्रथम आवश्यकता संबंधित डिसिप्लिन में (किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से) मास्टर डिग्री की है जिसमें डॉक्टरेट की डिग्री के लिए आवेदन कर रहे है,यदि आप बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में पीएचडी के लिए आवेदन कर रहे हैं,तो MBA,एमआईएम जैसे ग्रेजुएशन कोर्स को पूरा करने की आवश्यकता है। इनके साथ,आपको नीचे दिए गए दस्तावेज जमा करने होंगे:

  • भारतीय विश्वविद्यालयों के लिए गेट/सीएसआईआर-नेट/यूजीसी-नेट स्कोर
  • रिसर्च प्रस्ताव
  • सिफारिश पत्र (ऐकडेमिक और/या पेशेवर)
  • विदेश में एमबीए के बाद पीएचडी करने के लिए जीआरई, अंग्रेजी दक्षता  
  • परीक्षा स्कोर जैसे आईईएलटीएस,टोफेल,आदि और एसओपी और लोर्स 
    • अप्डेटेड रिज्यूम या सीवी
    • ऐकडेमिक ट्रांसक्रिप्ट्स

विदेश में MBA के बाद PhD के लिए टॉप यूनिवर्सिटीज

दुनिया भर में कई प्रसिद्ध बिजनेस स्कूल और विश्वविद्यालय बिजनेस,कॉमर्स और मैनज्मन्ट के विभिन्न क्षेत्रों में विशेष पीएचडी प्रोग्राम प्रदान करते हैं।आपके रिसर्च में मदद करने के लिए,हमने कुछ प्रमुख ऐकडेमिक इन्स्टिटूशन की सूची बनाई है जो उनके प्रस्तावित विशेष कोर्स के लिए एमबीए के बाद पीएचडी करने के इच्छुक लोगों के बीच अंतरराष्ट्रीय स्तर पर लोकप्रिय हैं:

Harvard University, US Pacific States University, US
Technical University of Munich, Germany INSEAD, France
Robert Gordon University, UK University of Wales, UK
Southern Illinois University, US ISEG, Portugal
Taylor’s University, Malaysia Heidelberg University, Germany
Alliant International University University of California- Berkeley

विदेश में MBA के बाद PhD के लिए Admission प्रक्रिया

यदि आप विदेश से एमबीए के बाद पीएचडी करना चाहते हैं तो नीचे दिए गए पॉइंट आपको आवेदन प्रक्रिया और प्रवेश परीक्षा में गाइड कर देंगे: 

  1. विदेशी विश्वविद्यालयों के लिए आवेदन प्रक्रिया भारतीय विश्वविद्यालयों से बहुत अलग है।विदेश से एमबीए के बाद पीएचडी करने के लिए कोई प्रवेश परीक्षा देने की जरूरत नहीं है,बल्कि आपको जीमैट/जीआरई स्कोर जमा देने की जरूरत है। 
  1. यदि आप विदेश में पीएचडी करना चाहते हैं तो लोर्स,एसओपी और पिछले प्रोजेक्ट और रिसर्च कार्य बहुत जरूरी हैं।वे आपके प्रोफ़ाइल को मजबूत बनाते हैं और चयन होने की संभावनाओं को बढ़ाते हैं। 
  1. अधिकांश विश्वविद्यालयों में पीएचडी प्रोग्राम के लिए 3-5% स्वीकृति दर है। इसलिए,आवेदन को मजबूत बनाना आवश्यक है,यदि आपको इस बारे में मदद की आवश्यकता है,तो leverage Edu विशेषज्ञों से संपर्क करें।
  1. पीएचडी कोर्स करिकुलम एक ही रहता है,आपको अपनी थीसिस पर काम करने और प्रदान की गई अवधि में उसे जमा करने की आवश्यकता है ताकि आप एमबीए के बाद पीएचडी पूरी कर सकें।

Distance MBA के बाद PhD

हां,डिस्टेंस एमबीए के बाद पीएचडी के लिए आवेदन करना संभव है लेकिन अगर आपका लक्ष्य डॉक्टरेट कोर्स करना है तो आपको यूजीसी-मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी या कॉलेज से एमबीए करना चाहिए।डिस्टेंस एमबीए के बाद पीएचडी के लिए आवेदन करने के लिए,आपको अपने एमबीए के वैध ट्रांसक्रिप्ट और मार्कशीट जमा करने पड़ेंगे इसलिए एमबीए की पढ़ाई करने से पहले इन्स्टिटूशन के सर्टिफिकेशन की जांच करना आवश्यक है।

PhD करने के लिए टॉप देश

कई स्टडी डेस्टिनेशन जैसे ब्रिटेन,अमेरिका,ऑस्ट्रेलिया और कनाडा अपने रिसर्च डॉक्टरेट कोर्स के लिए प्रसिद्ध है इसलिए पीएचडी करने के लिए सही देश का चयन करने का महत्वपूर्ण निर्णय आपको सोच-समझकर कर लेना चाहिए।आइए एमबीए के बाद पीएचडी करने के लिए टॉप देशों और उनके लोकप्रिय रिसर्च विश्वविद्यालयों पर नज़र डालें:

UK में PhD

  • ब्रैडफोर्ड विश्वविद्यालय
  • लंदन के एसओएएस विश्वविद्यालय
  • कार्डिफ मेट्रोपॉलिटन विश्वविद्यालय
  • बर्मिंघम विश्वविद्यालय
  • क्वीन यूनिवर्सिटी बेलफास्ट
  • केंट विश्वविद्यालय
  • हल्ट इंटरनेशनल बिजनेस स्कूल

USA में PhD

अपने स्टेम कोर्स के साथ-साथ टॉप- रैंक वाले बिजनेस स्कूलों के लिए लोकप्रिय,यूएसए में पीएचडी के लिए टॉप विश्वविद्यालय हैं:

  • हार्वर्ड विश्वविद्यालय
  • स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय
  • कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय, बर्कले
  • कोलंबिया विश्वविद्यालय
  • विस्कॉन्सिन विश्वविद्यालय
  • कॉर्नेल विश्वविद्यालय
  • केलॉग स्कूल ऑफ मैनेजमेंट

Canada में PhD

Canada PhD कोर्स के लिए एक और प्रसिद्ध डेस्टिनेशन है और बिजनेस और मैनेजमेंट में कई विशेषज्ञता प्रदान करता है।यहाँ Canada में PhD के लिए लोकप्रिय विश्वविद्यालय दिए गए हैं:

  • टोरंटो विश्वविद्यालय
  • ब्रिटिश कोलंबिया विश्वविद्यालय
  • मैकगिल विश्वविद्यालय
  • मैकमास्टर विश्वविद्यालय
  • मॉन्ट्रियल विश्वविद्यालय
  • अल्बर्टा विश्वविद्यालय
  • इटावा विश्वविद्यालय
  • कैलगरी विश्वविद्यालय 

Australia में PhD

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कीवी की भूमि को रिसर्च शिक्षा और उच्च-रैंक उद्यमशील कोर्सों पर ध्यान केंद्रित करने के लिए सराहा जाता है।Australia में PhD के लिए टॉप विश्वविद्यालय नीचे दिए गए हैं:

  • क्वींसलैंड विश्वविद्यालय 
  • पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया विश्वविद्यालय 
  • वोलोंगोंग विश्वविद्यालय 
  • क्वींसलैंड विश्वविद्यालय ऑफ टेक्नोलॉजी 
  • स्विनबर्न विश्वविद्यालय ऑफ टेकनोलॉजी
  • तस्मानिया विश्वविद्यालय 
  • सिडनी विश्वविद्यालय

New Zealand में PhD

अगर आप एमबीए पूरा करने के बाद किफायती पीएचडी कोर्स की तलाश कर रहे हैं तो न्यूजीलैंड आपके लिए सबसे अच्छी जगह है।न्यूजीलैंड में पीएचडी के लिए लोकप्रिय विश्वविद्यालयों पर एक नज़र डालें:

  • ओटागो विश्वविद्यालय
  • कैंटरबरी विश्वविद्यालय
  • लिंकन विश्वविद्यालय
  • ऑकलैंड विश्वविद्यालय
  • विक्टोरिया यूनिवर्सिटी ऑफ वाशिंगटन

भारत में टॉप पीएचडी कॉलेज

  • फैकल्टी ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज, दिल्ली विश्वविद्यालय
  • बनारस हिंदू विश्वविद्यालय
  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज (आईआईएम)
  •   इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (आईआईटी)
  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, कोलकाता

करियर Scope

पीएचडी की प्रसिद्ध एकेडमिक डिग्री को अपनी योग्यता की सूची में जोड़ने के बाद,आप हजारों करियर अवसर का लाभ उठा सकेंगे।चूंकि बिजनेस-संबंधित डिसिप्लिन में डॉक्टरेट की डिग्री आपको बिजनेस क्षेत्र में व्यावहारिक कौशल प्रदान करती है,इससे आप डेटा एनालिसिस,बिजनेस प्रवृत्तियों और ऑर्गन नेशनल समस्याओं के ज्ञान से लैस होंगे।इसके अलावा,आप रिसर्च के तरीकों जैसे इकोनोमेट्रिक्स,प्रायोगिक तरीके,फील्ड स्टडीज,मॉडलिंग आदि में कुशल होंगे।इसलिए,एमबीए के बाद पीएचडी के साथ,आप न सिर्फ एकेडमिक प्रोफाइल के लिए परफेक्ट कैंडिडेट होंगे बल्कि आप कॉर्पोरेट जगत के भरपूर संभावनाओं का भी लाभ उठा सकते हैं। टॉप नौकरी प्रोफाइल जो एमबीए के बाद पीएचडी करके आप कर सकते हैं:

  • रिसर्च एनालिस्ट
  • बिजनेस एनालिस्ट
  • मैनज्मन्ट कंसल्टेंट 
  • बिजनेस डेवलपमेंट कंसल्टेंट
  • उद्यमकर्ता
  • प्रोफेसर/लेक्चरर
  • अकदमीशियन 
  • मुख्य फाइनैन्शियल अधिकारी (सीएफओ)
  • मुख्य इग्ज़ेक्यटिव अधिकारी (सीईओ)

भारत में एमबीए के बाद पीएचडी का वेतन सालाना 7 लाख से 17 लाख के बीच है,जो इस बात पर निर्भर करता है कि आप कॉर्पोरेट क्षेत्र में काम करते हैं या ऐकडेमिक डोमेन में लेक्चरर या अकदमीशियन के रूप में काम करते हैं।हमने नीचे ग्रेजुएशन के साथ मैनज्मन्ट और कॉमर्स से संबंधित विशेषज्ञताओं में पीएचडी के लिए प्रमुख रोजगार क्षेत्र स्पष्ट किया है:

शिक्षा

पीएचडी के बाद सबसे लोकप्रिय करियर पथ प्रोफेसर बनने का है।अधिकांश छात्र बिजनेस या मैनज्मन्ट में पीएचडी,ऐकडेमिक में करियर बनाने के लिए करते हैं।इसके अलावा,ज्यादातर रिसर्च यूनिवर्सिटी पीएचडी को बिजनेस स्कूल के प्रोफेसर के तौर पर हायर करना पसंद करती हैं।यदि आप प्रतिष्ठित ऐकडेमिक संस्थान या विशेष रूप से आइवी लीग स्कूलों का हिस्सा बनना चाहते हैं,तो आपको निश्चित रूप से एमबीए के बाद पीएचडी करना चाहिए क्योंकि इस संयोजन और कुछ वर्षों के पेशेवर अनुभव के साथ आप विश्वविद्यालय के प्रोफेसर या बिजनेस स्कूल में लेक्चरर के आदर्श उम्मीदवार बन सकते हैं। रफ स्टटिस्टिकल विवरण देने से,लगभग 80% बिजनेस ग्रेजुएट बिजनेस स्कूलों में फैकल्टी सदस्य बन जाते हैं,और लगभग 20% इंडस्ट्री में नौकरियां लेते हैं।

रिसर्च 

पीएचडी काफी डेटा-चालित डिग्री है और इसमें व्यापक एनालिसिस और गहन मूल्यांकन शामिल है क्योंकि यह रिसर्च थीसिस को अपने वृद्धिशील तत्व के रूप में प्रस्तुत करता है।यदि आप रिसर्च में करियर आगे बढ़ाने की योजना बना रहे हैं,तो एमबीए केवल पेशेवर मार्ग है,लेकिन पीएचडी के संयोजन के साथ आपको कॉर्पोरेट और रिसर्च दोनों दुनिया का ज्ञान मिल सकता है।इन दोनों क्षेत्रों का स्वाद प्राप्त कर,आप बहुमुखी कौशल सेट के साथ रिसर्च क्षेत्र में प्रवेश कर सकते हैं जो बेहद उपयोगी साबित होगा पाथ-ब्रेकिंग केस स्टडीज करने में। यह योगदान कमर्शियल इंडस्ट्री को नए प्रकाश में लाने की क्षमता रखता है।

कॉर्परेट क्षेत्र

आम मिथ के रूप में,आपको बताया जा सकता है कि पेशेवर दुनिया में डॉक्टरेट की डिग्री का कोई फायदा नहीं है,लेकिन इसका बिल्कुल विपरीत है क्योंकि पीएचडी आपको उपयुक्त बिजनेस कौशल सिखाता है ताकि आप बिजनेस कंसल्टेंट और एनालिस्ट की भूमिका में फिट हो सके।कई डॉक्टरेट विद्वान आगे चलकर प्रोफेसर या रिसर्च कर्ता बनते हैं,उनका केवल एक छोटा सा हिस्सा इंडस्ट्री की ओर बढ़ता है।जैसा कि यह डिग्री उम्मीदवारों को पीएचडी प्राप्त करने की समझ के साथ थियोरेटिकल और अद्वितीय तरीकों से एनालिसिस करने का ज्ञान प्रदान करती है,जो जब एमबीए के दौरान प्राप्त व्यावहारिक प्रशिक्षण के साथ जोड़ा जाता है,तो ज्ञान के अद्भुत बॉडी को जन्म देता है।आप उद्यमी वेंचर के साथ-साथ एसईसी,जेपी मॉर्गन चेस, मैकिन्से और मॉर्गन स्टेनली जैसी कंपनियों में विभिन्न संभावनाओं को एक्सप्लोर कर सकते हैं,जो पीएचडी को अक्सर हायर करने के लिए जाने जाते हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

1. क्या मैं एमबीए के बाद पीएचडी कर सकता हूँ?

एमबीए की डिग्री वाला कोई भी व्यक्ति पीएचडी कर सकता है।दरअसल,एमबीए के बाद पीएचडी करना अच्छा आइडिया है अगर आप एकेडमिक्स या रिसर्च के क्षेत्र को एक्सप्लोर करने में दिलचस्पी रखते हैं और आप कॉर्पोरेट सेक्टर में कंसल्टिंग फर्म्स में भी मौका तलाश सकते हैं। इसके अलावा, कोलंबिया यूनिवर्सिटी,येल यूनिवर्सिटी,हार्वर्ड यूनिवर्सिटी,आईएनएस एडी,लंदन बिजनेस स्कूल जैसे टॉप बी-स्कूलों में ज्यादातर प्रोफेसर पीएचडी डिग्री वाले हैं।इसलिए,यदि आप दुनिया के टॉप बिजनेस स्कूलों में पढ़ाना चाहते हैं,तो एमबीए के बाद पीएचडी की पढ़ाई करना अच्छा निर्णय है।

2. पीएचडी कितने साल की होती है?

पीएचडी की सही अवधि विशेषज्ञता के साथ-साथ विश्वविद्यालय पर निर्भर करता है,और इस तथ्य पर भी कि यह अंश-कालिक या पूर्णकालिक है,और अन्य कारक भी हैं।एमबीए के बाद पीएचडी करने में आमतौर पर 4-5 साल लगते हैं जो कि विभिन्न कारकों पर निर्भर करता है,चाहे यह आपका चुना हुआ कोर्स हो या संस्थान,इसे पूरा होने में 3 साल से कम और 7-8 साल तक का लंबा समय लग सकता है।

3. क्या मैं एमबीए के बाद साइकोलॉजी में पीएचडी कर सकता हूँ?

हाँ।एमबीए के बाद आप साइकोलॉजी में पीएचडी कर सकते हैं।हालांकि,एमबीए के बाद साइकोलॉजी में पीएचडी के लिए क्वालीफाई करने के लिए आपको एमबीए डिसिप्लिन में 55% मार्क्स की जरूरत होगी ।

4. क्या बिजनेस में पीएचडी लाभदायक है?

बिजनेस में पीएचडी को अक्सर डीबीए (डॉक्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन) के नाम से जाना जाता है जिसे आमतौर पर एमबीए की अगली कड़ी माना जाता है और यह मैनज्मन्ट डिग्री का उच्चतम रूप है।बिजनेस या संबंधित विशेषज्ञताओं में डॉक्टरेट से आपको कमर्शियल क्षेत्र में बढ़ी हुई अंतर्दृष्टि प्रदान होगी जिसके बाद आप बिजनेस एनालिस्ट से लेकर कंसल्टेंट तक उच्च-स्तर के करियर प्रोफाइल को लक्षित कर सकते हैं या आप ऐकडेमिक पद ले सकते हैं जो एक और फायदेमंद मार्ग है।

5. क्या एमबीए पीएचडी के लिए एलिजिबल हैं?

पीएचडी के लिए आवश्यक शर्त यह है कि आपके पास मास्टर डिग्री हो और जिस शैक्षणिक संस्थान में आवेदन कर रहे हैं,उसके द्वारा निर्दिष्ट न्यूनतम अंक हो।एमबीए के साथ,आप कॉमर्स- संबंधित डिसिप्लिन में पीएचडी करने के लिए एलिजिबल हैं,जबकि अन्य डोमेन में डॉक्टरेट का चयन विशेष विश्वविद्यालय द्वारा प्रदान किए गए मानदंडों पर निर्भर करता है।

6. क्या मैं डिस्टेंस एमबीए के बाद पीएचडी कर सकता हूँ?

इस प्रश्न का उत्तर नीचे दिए गए पॉइंट में अच्छी तरह से समझाया गया है:

हाँ,आप डिस्टेंस एमबीए के बाद पीएचडी कर सकते हैं।
आपकी डिग्री यूजीसी से मान्यता प्राप्त संस्थान से होनी चाहिए।
आवेदन प्रक्रिया नियमित डिग्री धारकों के समान होती है।
सुनिश्चित करें कि आप सभी एलिजबिलिटी आवश्यकताओं को पूरा करें।
कुछ विश्वविद्यालय नियमित एमबीए डिग्री वाले उम्मीदवारों को पसंद करते हैं।

उम्मीद है कि आपको MBA के बाद PhD का ब्लॉग पसंद आया होगा ।अगर आप डॉक्टरेट की डिग्री करने की योजना बना रहे हैं और आपको इसके बारे में अधिक जानकारी नहीं है,तो 30 मिनट के फ्री सेशन आप हमारी Leverage Edu की टीम के एक्सपर्ट्स के साथ बुक कर सकते हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

3 comments

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.

+91
Talk to an expert for FREE

You May Also Like

PHD लोक प्रशासन
Read More

Public Administration में PhD

PhD भारत में एक ऐसा कोर्स है जिसे करने के बाद आप ऐसी post को संभालते हैं जो…