बीटेक के बाद क्या करें?

2 minute read
1.4K views
Btech ke baad kya kare

बीटेक (Bachelor of Technology) एक अंडरग्रेजुएट कोर्स है। बीटेक के बाद छात्र सिविल इंजीनियर, मैकेनिकल इंजीनियर, कंप्यूटर इंजीनियर आदि बन सकते हैं। रोज उपयोग में आने वाले मोबाइल और पोर्टेबल चार्जर से लेकर इलेक्टिक वाहन और फैन हों, इन सभी चीज़ों के पीछे इंजीनियर का योगदान है। बीटेक पूरी हो जाने के बाद मन में एक ही सवाल आता है कि BTech ke baad kya kare । बीटेक के बाद हायर एजुकेशन से लेकर नौकरी के अवसर के बारे में सभी जानकारी इस ब्लॉग में दी गई है।

बीटेक के बाद मास्टर्स

कई छात्रों की इच्छा होती है कि वह अपनी ग्रेजुएशन के बाद मास्टर्स करें। चलिए BTech ke baad kya kare में जानते हैं मास्टर्स कोर्सेज के बारे में जिन्हें छात्र चुन सकते हैं ।

MTech/ME

बीटेक के बाद के कोर्स के लिए Mtech/ME  का ही नाम आता है। बैचलर्स के बाद अगर आप अपनी पढ़ाई जारी रख कर अपने प्रोफेशन में मास्टर्स करना चाहते हैं तो Mtech एक सही कोर्स हैं। Mtech की पढ़ाई विदेश में करने के लिए छात्रों को GRE की परीक्षा देनी होगी। 

एमएस

बीटेक के बाद छात्रों के पास दूसरा अच्छा विकल्प एमएस यानी मास्टर ऑफ़ साइंस होता है। इस कोर्स में कई प्रकार के स्पेशलाइजेशन हैं जिन्हें छात्र अपनी स्किल को बेहतर करने के लिए कर सकते हैं। जैसे – 

एमबीए

एमबीए (Masters of Business Administration) , एक 2 साल का मास्टर डिग्री कोर्स होता है। एमबीए कोर्स मैनेजमेंट की फील्ड में स्टूडेंट्स को कई सारे करियर विकल्प प्रदान करता है। इसमें आपको बिज़नेस से जुड़ी जानकारियों के बारे में सिखाया जाता है जैसे- बिजनेस मैनेजमेंट, मार्केटिंग, बिजनेस स्किल्स आदि। अगर आप बीटेक के बाद बिजनेसमैन बनने की इच्छा रखते है तो एमबीए कोर्स में आपको एक बेहतरीन बिजनेसमैन बनने के कई सारे गुण सीखने को मिलते है। विदेश में एमबीए करने के लिए छात्रों को GRE/ GMAT की परीक्षा देनी होती हैं। 

पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन मैनेजमेंट (PGDM)

Post Graduate Diploma in Management(PGDM) एक मैनेजमेंट कोर्स है। PGDM कोर्स काफ़ी हद तक एमबीए के समान ही है, जिसका उद्देश्य केस स्टडीज और सेमिनार के माध्यम से छात्रों को इंडस्ट्री के लिए तैयार करना है। PGDM कोर्स में नीचे दिए गए विषय पढ़ाये जाते हैं :

विश्व रैंकिंग वाले विश्वविद्यालय 

बीटेक के बाद विदेश में मास्टर्स की पढ़ाई करने के लिए यहां नीचे टॉप यूनिवर्सिटीज की लिस्ट दी गई हैं। 

  1. ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय
  2. स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय
  3. हार्वर्ड विश्वविद्यालय
  4. कैलिफोर्निया प्रौद्योगिकी संस्थान – Caltech
  5. मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एमआईटी)
  6. कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय
  7. यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया, बर्केले
  8. येल विश्वविद्यालय
  9. प्रिंसटन विश्वविद्यालय
  10. शिकागो विश्वविद्यालय
  11. इंपीरियल कॉलेज लंदन
  12. जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय
  13. पेनसिल्वेनिया यूनिवर्सिटी
  14. ईटीएच ज्यूरिख – स्विस फेडरल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी
  15. कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय, लॉस एंजिल्स (यूसीएलए)
  16. कोलम्बिया विश्वविद्यालय
  17. टोरंटो विश्वविद्यालय
  18. ड्यूक विश्वविद्यालय
  19. कॉर्नेल विश्वविद्यालय
  20. मिशिगन यूनिवर्सिटी

भारतीय शीर्ष विश्वविद्यालय 

आइए जानते हैं NIRF की रिपोर्ट के अनुसार भारतीय शीर्ष विश्वविद्यालय के बारे में जहां छात्र बीटेक के बाद मास्टर्स करने के लिए प्रवेश ले सकते हैं। 

  1. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान मद्रास
  2. भारतीय विज्ञान संस्थान
  3. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान बॉम्बे
  4. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान दिल्ली
  5. जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय
  6. बनारस हिंदू विश्वविद्यालय
  7. कलकत्ता विश्वविद्यालय
  8. मणिपाल उच्च शिक्षा अकादमी 
  9. दिल्ली विश्वविद्यालय 
  10. बिरला प्रौद्योगिकी और विज्ञान संस्थान
  11. होमी भाभा राष्ट्रीय संस्थान 
  12. केरल विश्वविद्यालय
  13. महात्मा गांधी विश्वविद्यालय
  14. गुजरात विश्वविद्यालय
  15. अमृता विश्व विद्यापीठम

बीटेक के बाद शार्ट टर्म कोर्सेज  

बीटेक के बाद छात्रों के लिए कई शार्ट टर्म कोर्सेज उपलब्ध हैं। जैसे-

  1. Java, python, C, C++, SQL, HTML and other programming languages
  2. Software Testing
  3. Data Visualization Course
  4. Mobile app development Course
  5. DBA-MySQL
  6. VLSI Design

बीटेक के बाद डिप्लोमा/ सर्टिफिकेट कोर्सेज  

आइए जानते बीटेक के बाद डिप्लोमा/ सर्टिफिकेट कोर्सेज के बारे में। 

  1. Advanced certificate course in embedded system design
  2. Certificate in competency in electrical power system protection
  3. Advanced diploma in remote engineering, mechatronics, and robotics
  4. Advanced diploma in mechanical engineering technology
  5. Certificate in advanced industrial automation – chemical engineering
  6. Certificate in chemical engineering and plant design
  7. Certificate in fundamentals of chemical engineering
  8. Certificate in fundamentals of engineering chemistry
  9. Certificate in soil and water chemistry
  10. Certificate in construction project management
  11. Certificate in construction cost estimating and cost control
  12. Certificate in structural and civil engineering concepts
  13. Advanced diploma in civil and structural engineering 
  14. Certificate in principles of motors, variable speed drives, and power electronic components
  15. Certificate in mechatronics and remote engineering – electro-technology
  16. Certificate in fundamental components involved in machinery
  17. Advanced diploma in applied electrical engineering (electrical systems)
  18. Advanced diploma in electrical and instrumentation engineering in mining
  19. Advanced diploma in industrial automation
  20. Advanced diploma in applied electrical engineering (power industry)
  21. Advanced diploma course in industrial automation and system design
  22. Certificate course in digital signal processing
  23. Post graduate diploma in wireless and mobile computing 
  24. Short course on developing industrial internet of things
  25. Certificate in responsive website basics – code with html, CSS, and JavaScript
  26. Certificate in java programming – solving problems with software

बीटेक के बाद गैर तकनीकी और प्रबंधन कोर्सेज

बीटेक के बाद गैर तकनीकी और प्रबंधन कोर्सेज की लिस्ट नीचे दी गई हैं। जिन्हें छात्र अपनी स्किल कोबेहतर करने के लिए कर सकते हैं। 

  1. Tally Course
  2. Digital marketing  
  3. Business Analytics Course
  4. Business Accounting and Taxation Course 
  5. Financial Risk Manager (FRM) Course
  6. Project Management Course

बीटेक के बाद नौकरी के अवसर

बीटेक करने के बाद छात्र कैंपस प्लेसमेंट, व्यापार, सिविल सेवा परीक्षा, रिसर्च करने के अलावा छात्र नीचे दिए गए नौकरी के अवसर भी चुन सकते हैं:

  1. सॉफ्टवेयर डेवलपर
  2. डेटा विश्लेषक
  3. गेम इंजीनियर
  4. डेटाबेस प्रशासक
  5. सॉफ्टवेयर टेस्टिंग इंजीनियर
  6. साइबर सुरक्षा विशेषज्ञ
  7. सरकारी नौकरियों 
  8. वेब डेवलपर 
  9. मोबाइल एप्लिकेशन। डेवलपर
  10. डेटा वैज्ञानिक
  11. मशीन लर्निंग इंजीनियर
  12. पूरी स्टैक बनानेवाला
  13. मल्टीमीडिया प्रोग्रामर
  14. नेटवर्क सुरक्षा इंजीनियर
  15. बिग डेटा इंजीनियर
  16. क्लाउड इंजीनियर
  17. कंप्यूटर और सूचना अनुसंधान वैज्ञानिक
  18. व्यवसाय विकास प्रबंधक
  19. साइबर सुरक्षा सलाहकार
  20. कंप्यूटर नेटवर्क आर्किटेक्ट
  21. उपाध्यक्ष – तकनीकी
  22. मुख्य प्रौद्योगिकी अधिकारी (सीटीओ)
  23. मुख्य सूचना अधिकारी (सीआईओ)

सैलरी

इंजीनियरिंग की व्यापक रेंज और मांग को देखते हुए इंजीनियरों के पास बहुत कुछ कमाने की गुंजाइश है। वेतन एक क्षेत्र से दूसरे क्षेत्र में भिन्न हो सकता है और यह आपकी नौकरी प्रोफ़ाइल और स्थिति पर भी निर्भर करता है। एक एंट्री-लेवल इंजीनियर प्रति वर्ष INR 186K और 460K के बीच कमा सकता है, और जब आप अधिक अनुभव और विशेषज्ञता प्राप्त करते हैं तो यह बढ़ सकता है। अब तक, पेट्रोलियम इंजीनियरिंग, कंप्यूटर इंजीनियरिंग और एयरोस्पेस इंजीनियरिंग भारत में सबसे अधिक वेतन पैकेज वाले हैं। 

BTech ke baad kya kare

FAQs 

बीटेक करने के बाद कितनी सैलरी मिलती हैं? 

बीटेक करने के बाद औसत सैलरी 5,40,000 रुपये – 9,60,000 रुपये सालाना के बीच होती है। आगे नौकरी मेंअनुभव के साथ-साथ सैलरी में भी इजाफा होने लगता है।

क्या मैं बीटेक के बाद करियर चेंज कर सकता हूँ?

जी हाँ, छात्रों के पास कई विकल्प हैं अपने करियर में बदलाव करने के लिए जैसे-
1) एमबीए
2) बैंकिंग नौकरियां
3) हाई स्कूल या विश्वविद्यालय के प्रोफेसर
4) रेलवे
5) कॉर्पोरेट
6) डिजिटल मार्केटिंग
7) इवेंट मैनेजमेंट

विदेश में MTech करने के लिए कौन कौन देश बेस्ट हैं? 

MTech अगर आप विदेश में करना करना चाहते हैं तो यहाँ कुछ बेस्ट कन्ट्रीज की लिस्ट दी गयी हैं।
1 कनाडा
2 यूके
3 यूएसए
4 इटली
5 जर्मनी
6 फ्रांस
7 रूस
8 स्विट्ज़रलैंड
9 डेनमार्क

हमें उम्मीद हैं कि आपको BTech ke baad kya kare से जुड़ी सभी उलझन दूर हो गयी होगी । अगर आप भी विदेश में पढ़ाई करना चाहते है, तो आज ही हमारे Leverage Edu एक्सपर्ट से 1800 572 000 पर कॉल कर 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करें।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert