Software Engineering in Hindi

Rating:
4.3
(32)
Software Engineering

Technology के विकसित होने से mobile, laptops, computer आदि भी अधिक advance हो गए हैं। यह सभी devices software से चलती हैं जिन्हें एक software engineer develop करता है। क्या आप software engineer बनना चाहते हैं? software engineering in Hindi में आप जानेंगे इस ब्लॉग से संबंधित जानकारी।

भाषा अनुवादक कैसे बने

Software Engineering क्या हैं?

Software engineering एक प्रकार का computer engineering कोर्स होता है जो दो शब्दों software और engineering से मिलकर बना है। दूसरे शब्दों में कहें तो सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग IT की एक branch है जिसमें विभिन्न प्रकार की software designing, deployment, Maintaining, testing, programing आदि के बारे में सिखाया जाता है। इसमें कई प्रकार की programming languages का use होता है जिसमें HTML, JAVA, PHP, C/C++, Python शामिल हैं। एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए आपको इन सभी programing languages की knowledge होना बहुत जरूरी है।

Software engineer वह होता है जो user की requirement के अनुसार विभिन्न programing languages में coding करके एक software develop करता है। उसकी testing करके उसे maintain करता है। Software engineer बनने के लिए इन सब programming languages की जानकारी होना बहुत जरूरी है। Programming languages को सीखना बहुत मुश्किल नहीं होता है। Software engineer बनने के लिए languages सीखना बेहद important है क्योंकि इसके बिना software engineer नहीं बना जा सकता है।

Software Engineering की Importance

नीचे आपके लिए software engineering in Hindi में उसकी importance बताई जा रही है।

  • बड़े softwares को manage और उसके रख-रखाव करने के लिए।
  • बेहतर और ज्यादा scalability के लिए।
  • Cost management करने के लिए, इसके लिए सही process को follow करना बहुत ज़रूरी होता है।
  • Software का dynamic nature हमेशा बदलता रहता है और उसमें समय के अनुसार update करने की आवश्यकता होती है। 
  • बेहतर और advanced quality management के लिए।

Software Engineering के लाभ

नीचे आपके लिए Software engineering in Hindi में लाभ इस प्रकार हैं।

  • यह बड़े software की complexities को कम करता है। बड़ा software हमेशा थोड़ा complicated और challenge भरा होता है। Software engineering के द्वारा बड़े projects की complexities को कम किया जा सकता है। जिससे छोटी problems को आसानी से solve किया जा सकता है।
  • Software की मदद से projects को handle करना आसान होता है। बड़े projects को पूरा करने में बहुत समय लगता है और इसके लिए बहुत planning करनी पड़ती है। अगर हम software engineering के methods को follow करते हैं तो बड़े projects को आसानी से संभाला जा सकता है।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बनें: Step by Step Guide 

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए नीचे step by step guide दी गई है जो आपके सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के सपने को पूरा करेगी । 

स्कूल स्तर से शुरू करें

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने की शुरुआत स्कूली स्तर से ही की जाती है। 10वीं बोर्ड के बाद science stream के लिए opt करना पड़ता है। आपको यह सुनिश्चित करना चाहिए कि विज्ञान विषयों में पढ़ाए जाने वाले सभी बुनियादी विषयों पर आपकी अच्छी पकड़ हो, क्योंकि स्कूल के बाद इस क्षेत्र में higher education की डिग्री हासिल करने के योग्य होने के लिए यह आवश्यक है। साथ ही, आपको विज्ञान विषयों में अच्छे अंकों की आवश्यकता होगी ताकि आप अपनी आगे की पढ़ाई के लिए सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालयों में से एक में अध्ययन करने की न्यूनतम आवश्यकताओं को पूरा कर सकें।

Bachelor’s Degree प्राप्त करें

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने की दिशा में सबसे महत्वपूर्ण कदम इस क्षेत्र या संबंधित क्षेत्र में स्नातक की डिग्री प्राप्त करना है। चूंकि सभी विश्वविद्यालय सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में bachelor’s degree प्रदान नहीं करते हैं, इसलिए computer science में स्नातक के लिए जाना एक अच्छा विचार है, क्योंकि यह computer science के तहत एक विशेष क्षेत्र है। Computer science में bachelor’s 4 साल की अवधि का होता है और इसमें उन सभी आवश्यक विषयों को शामिल किया जाएगा जो आपको एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए मास्टर करने की आवश्यकता है।

आप संबंधित क्षेत्र में डिप्लोमा करके भी एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर बन सकते हैं, bachelor’s degree प्राप्त करना एक अच्छा विचार है क्योंकि शीर्ष कंपनियां अक्सर कम से कम स्नातक की डिग्री रखने वाले उम्मीदवारों को काम पर रखना पसंद करती हैं।

Internship

Internship में अपनी skills को practice में लाने में मदद कर सकती है। जब आप अपनी undergraduate degree प्राप्त कर रहे हों या इसे पूरा करने के बाद भी internship के अधिक से अधिक अवसरों का लाभ उठाना सुनिश्चित करें। ये internship आपको एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर द्वारा किए जाने वाले विभिन्न कार्यों की बहुत आवश्यक समझ प्रदान करेगी और आपके भविष्य के प्रयासों में सफलता प्राप्त करने में आपकी सहायता करेगी।

Skills को Update करें

कंप्यूटर विज्ञान में bachelor’s degree आपको एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के योग्य बनाती है, आपको न केवल अन्य उम्मीदवारों पर लाभ प्राप्त करने के लिए, बल्कि विभिन्न नौकरी पदों के लिए खुद को तैयार करने के लिए अपने कौशल को उन्नत करने की आवश्यकता है। विभिन्न प्रोग्रामिंग भाषाओं जैसे कि Python, C++, Java आदि को सीखना आपको दूसरों पर प्रतिस्पर्धा में बढ़त दिला सकता है।

अपनी skills को विकसित करने का एक और तरीका है कि आप नए सॉफ्टवेयर बनाने में अपना हाथ आजमाएं – इससे आप अपने ज्ञान को व्यावहारिक उपयोग में ला सकेंगे। इसके अलावा, आप आगे नौकरी के अवसरों को खोलने के लिए सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में master’s का विकल्प भी चुन सकते हैं।

Job के लिए Apply करें

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने की दिशा में अंतिम और सबसे महत्वपूर्ण कदम नौकरियों के लिए आवेदन शुरू करना है। सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग नौकरी के लिए आदर्श उम्मीदवार के रूप में माने जाने के लिए आपको अपने सभी skills और experience को उजागर करते हुए एक आदर्श फिर से शुरू करना होगा। शुरू में आपको एक छोटी कंपनी में नौकरी करनी पड़ सकती है, लेकिन जैसे-जैसे आप अनुभव और अपने कौशल का निर्माण करते रहेंगे, आप जल्द ही अपनी सपनों की कंपनी में एक पद पाने के लिए उठ सकते हैं।

IAS Kaise Bane

Skills Required

तेजी से बदलते उद्योग में बने रहने और दूसरों पर बढ़त हासिल करने के लिए, software engineers को अपनी techniques और soft skills को तेज करना चाहिए। निम्नलिखित कुछ soft skills हैं जो आपके करियर को बढ़ा सकते हैं।

  • Problem solving
  • Multitasking
  • Good communication skills
  • Active listener
  • Management
  • Attention to details

12th के बाद सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स

Software engineering कोर्सेस् में एडमिशन लेने के लिए आपको बारहवीं क्लास साइंस स्ट्रीम से पास करना होगा जिसमें आपके फिजिक्स(Physics), केमेस्ट्री(Chemistry), मैथ्स (Maths)और कंप्यूटर साइंस(Computer Science) होनी चाहिए। Software engineering in Hindi में जानिए 12th के बाद आगे के courses के बारे में।

  1. CS Diploma
  2. IT  
  3. BCA
  4. B.Tech  
  5. M.Tech  
  6. ME 
  7. B.Sc 
  8. MSc
  9. PhD 

Fashion Designer Kaise Bane

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग मे कौन कौन से Subjects होते हैं? 

Software engineering एक प्रोफारेशनल डिग्री कोर्स है  जिसमें कई तरह के विषय पढ़ाए जाते हैं तो आइए जानते हैं कि सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग मे किस किस विषय को पढ़ाया जाता है और इसमे  कितने सब्जेक्ट होते हैं-

Software Development Approaches

  • Introduction
  • Evolving roll of software
  • Software Characteristics
  • Software Applications

Software Design Process

  • What is meant by software engineering? 
  • Definitions of software engineering
  • The serial and linear Development Model
  • Iterative Development model
  • The incremental development model
  • The parallel or concurrent development model 
  • Hacking

Software Reliability 

  • Introduction
  • Software Reliability Metrics
  • Programming for Reliability
  • Fault Avoidance 
  • Fault Tolerance
  • Software Reuse

Software Design Principles 

  • System Model – Data flow model, semantic data model, object model, inheritance model, object aggregation, data dictionary
  • Software Design – Design process, design methods, design description, design strategies, design quality
  • Architectural Design -System structure, repository model, control models, modular decomposition, domain specific architecture

Object Oriented Design

  • Object Oriented Design-Object, object classes and inheritance, object identification, object oriented design example, object aggregation
  • Service Usage
  • Object Interface Design – Design evolution
  • Dataflow Design
  • Structure composition

 An Assessment of Process Lifecycle Model

  • Overview of the assessment of process
  • The dimension of time
  • The Need for business model in software engineering 
  • Classic Invalid Assumptions: first assumption- internal or external drivers
  • Second assumption- software or business process
  •  third assumption- processes or project 
  • Fourth assumption-process Centred or architecture centered

Configuration Management

  • Introduction
  • Change Management 
  • Version and Release Management
  • Version Identification
  • Software Maintenance 
  • The Maintenance Process
  • Maintenance Cost

Software Testing Techniques

  • Software Testing Fundamentals 
  • Testing Principles 
  • White Box Testing
  • Control Structure Testing
  • Black Box Testing

Software Testing Assurance

  • Introduction 
  • Black Box Testing
  • Validation Testing
  • Validation Test Criteria
  • Test Plan 
  • Test Strategies
  • Principles of Testing

Software Testing Strategies

  • Introduction Organizer for Software Testing 
  • Software Testing Strategy
  • Unit Testing
  • Top Down Integration
  • Bottom up Integration

People and Software Engineering

  • Traditional Software Engineering
  • The Importance of People in Problem Solving Process
  • The People Factors
  • The Customer Factor

Software Technology and Problem Solving

  • Software Technology as Enabling Business Tool 
  • The E- Business Revolution

Case Study

  • Introduction
  • System Requirement 
  • Architectural Alternative

DM कैसे बनें?

सॉफ्टवेयर इंजीनियर के कार्य

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए आपको computer programing languages जैसे C, C++, JAVA, Python, CSS, Php आदि की knowledge होना जरूरी है क्योंकि एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर इनकी सहायता से ही software developer करता है। 

एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर के निम्नलिखित कार्य होते हैं-

  1. एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर का मुख्य कार्य programming करना। 
  2. सॉफ्टवेयर develop करना। 
  3. Mobile apps बनाना। 
  4. Laptop और computer के लिए सॉफ्टवेयर बनाना। 
  5. Apps व programs को develop करने मे आने वाली परेशानियों को सॉल्व करना। 
  6. Software की टेस्टिंग करना। 
  7. Software को maintain रखना। 
  8. User की requirement के अनुसार software बनना। 

टीमवर्क का महत्व क्या है?

Curriculum

यहाँ कंप्यूटर विज्ञान इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम के कुछ महत्वपूर्ण विषय दिए गए हैं :

Logic Circuits  Business Data Processing  Applied Physics 
Computer Programing   Core Mathematics  Operating Systems 
Engineering Mechanics  Basic Electricity and Electronics  Engineering Mechanics 
Applied Chemistry Engineering Drawing  Discrete Structure
Computer Methodologies and Algorithms  C-Programming  Computer Organizations 
Computer Networks and Communications  Digital Signal Processing  Data Communications 

Career in Homeopathy in Hindi

Software Engineering Courses

Level  Courses 
Diploma  Diploma of Network and Software
Bachelors  BSc Software Engineering for Business
BEng Network and Software Engineering
BE/BTech/Bachelor of
Software Engineering
BSc Computer Science
(Software Engineering)
Masters  MSc Advanced Software Technology 
MSc/MEng Software Engineering
PGCert/PGDip Software Engineering

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के लिए टॉप कॉलेज

भारत में 200 से ज्यादा software engineering colleges हैं, जिससे हर साल हजारों से ज्यादा software engineers pass out होकर software industry में कदम रखते हैं। इन engineering colleges में bachelors, masters और diploma की डिग्री उपलब्ध हैं। Software engineering in Hindi में नीचे देश के top 10 colleges के नाम इस प्रकार हैं।

  1. Netaji Subhas Institute of Technology (DIT) , New Delhi
  2. Indian Institute of Technology,Madras
  3. Indian Institute of Technology,Indore
  4. Indian Institute of Technology,Guwahati
  5. National Institute of Technology(NIT) , Durgapur
  6. Birla Institute of Technology and Science, Pilani
  7. Indian Institute of Technology,Roorkee
  8. RV College of Engineering, Bangalore
  9. Indian Institute of Science & Technology, Hyderabad
  10. The Oxford College of Science,Bangalore

Top Foreign Colleges

Software engineering in Hindi में यह रहे top foreign institutes के नाम।

करियर के विकल्प

आइए इस क्षेत्र में नौकरी के कुछ अवसरों पर एक नज़र डालें। स्नातकों के पास नौकरी के ढेर सारे अवसर हैं, खासकर क्योंकि यह हर दिन नए और बेहतर सॉफ्टवेयर और ऐप्स की आवश्यकता के कारण तेजी से बढ़ता हुआ उद्योग है। यहां कुछ नौकरी के पद दिए गए हैं जिन्हें आप चुन सकते हैं:

  • Software engineer
  • Software Architect
  • Software expert 
  • Chief technical officer
  • Software trainee developer
  • Cyber security manager
  • Software developer
  • Sales manager
  • Video game designer
  • Programmer

सॉफ्टवेयर इंजीनियर की सैलरी

Software engineers in Hindi में salaries इस प्रकार हैं।

  • एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर की सैलरी कंपनियों पर निर्भर करती है कि आपको किन-किन technology और computer languages की knowledge है।
  • एक software engineer की शुरुआती salary कम से कम 20-40 हजार रुपए प्रति महीना होती है, Delhi और Bangalore में एक सॉफ्टवेयर इंजीनीयर को 45 से 50 हजार रुपए प्रति महीना मिलते हैं।
  • उसके बाद एक एक्सपर्ट सॉफ्टवेयर इंजीनियर को 70-80 लाख रुपए प्रतिवर्ष सैलरी मिलती है।
  • अगर आप किसी multinational कंपनी जैसे Google में कम कर रहे हैं तो आप की सैलरी 1 करोड़ रुपए प्रतिवर्ष तक भी हो सकती है। 

FAQs

Engineer बनने के लिए कौन सी पढ़ाई करनी पड़ती है?

Engineer बनने के लिए सबसे ज्यादा जरुरी है की आपने कक्षा 12वीं की पढ़ाई science stream में की हो, क्योंकि science stream के छात्र ही engineering college में दाखिला ले सकते हैं। India में engineering के लिए IIT, BIT, NIT जैसे कई बड़े मान्यताप्राप्त colleges हैं जो engineering के लिए दाखिला प्रदान करते हैं।

Software engineer बनने में कितना खर्चा होता है?

Software engineer course के लिए खर्च universities पर निर्भर करता है, वैसे यह प्रति वर्ष 50,000 से लेकर 3,00,000 रुपये तक होता है।

Software engineering कोर्स कितने साल का होता है?

Software engineering course के लिए आपको Computer science में graduation करनी होती है जो 4 वर्ष की होती है।

Software development कैसे काम करता है?

Software developers कंप्यूटर या विनिर्माण के लिए काम करते हैं। ऑपरेटिंग सिस्टम बनाने में उनकी प्रमुख भूमिका होती है, जैसे कि कंप्यूटर प्रोग्राम डिजाइन करना, सॉफ्टवेयर बनाना, सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट करना आदि। सॉफ्टवेयर डेवलपर का काम एक अच्छा सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट करना होता है।

Software engineering क्या है?

Software engineering का अर्थ एक ऐसी इंजीनियरिंग से है जिसमें कंप्यूटर सिस्टम तथा किसी अन्य इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस के लिए सॉफ्टवेयर का निर्माण किया जाता है। दूसरे शब्दों में कहें तो “सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग एक प्रक्रिया है जिसमें user की जरूरतों को analyze किया जाता है और इन जरूरतों के आधार पर software को बनाया जाता है।

आशा है कि इस ब्लॉग से आपको Software engineering in Hindi के बारे में जानकारी हासिल हुई होगी। अगर आपको विदेश में पढ़ाई करनी है तो हमारे Leverage Edu के experts से दिए गए number 1800 572 000 पर contact कर आज ही free session बुक कीजिए।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

2 comments

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.

+91
Talk to an expert for FREE

You May Also Like

नीट के बिना Medical Courses
Read More

नीट के बिना Medical Courses

ऐसे भी कई मेडिकल और पैरामेडिकल कोर्स उपलब्ध हैं, जिनमें प्रवेश के लिए NEET की आवश्यकता नहीं होती।…