बैंक मैनेजर कैसे बनें?

1 minute read
1.2K views
Leverage Edu Default Blog Cover

भारत में 34 राष्ट्रीय बैंक हैं, जिनमें से 12 सरकारी और 22 प्राइवेट बैंक्स हैं। बैंक की जॉब भारत में सबसे लोकप्रिय नौकरियों में से एक है। इसके पीछे एक वजह यह भी है कि इसमें सैलरी अन्य प्रोफेशन के मुकाबले ज्यादा है। बैंक मैनेजर सही मायने में बैंक को लीड करते हैं और यह सुनिश्चित करते हैं रोज़ का ऑपरेशन्स बिना रुके काम बनते रहें। आइए विस्तार से जानते हैं कि bank manager kaise bane।

This Blog Includes:
  1. बैंक मैनेजर कौन होते हैं?
  2. काम और जिम्मेदारियां
  3. आवश्यक कौशल
  4. बैंक मैनेजर के प्रकार
  5. बैंकिंग कोर्सेज
  6. बैंक मैनेजर बनने के लिए स्टेप बाय स्टेप गाइड
  7. सरकारी बैंक में नौकरी कैसे मिलेगी?
  8. प्राइवेट बैंक में नौकरी कैसे मिलेगी?
  9. बैंक मैनेजर बनने के लिए एग्जाम फॉर्म
  10. बैंक मैनेजर बनने के लिए तैयारी कैसे करें?
    1. परीक्षा पैटर्न
    2. प्रीलिम्स परीक्षा
    3. मेंस परीक्षा
    4. इंटरव्यू
    5. ग्रूप डिस्कशन (GD)
  11. विदेश की टॉप यूनिवर्सिटीज
  12. बैंक मैनेजर कोर्स के लिए योग्यता
  13. करियर स्कोप
  14. बैंक मैनेजर प्रमोशन और करियर ग्रोथ
  15. बैंक मैनेजर को मिलने वाले अलाउंस और अन्य भत्ते
  16. भारत में सरकारी बैंकों की लिस्ट
  17. भारत में निजी (प्राइवेट) बैंकों की लिस्ट
  18. बैंक मैनेजर की सैलरी
  19. विदेश में बैंक मैनेजर कैसे बनें?
    1. यूके
    2. अमेरिका
    3. कनाडा
    4. ऑस्ट्रेलिया
  20. FAQs

ये भी पढ़ें : इंटरव्यू की तैयारी कैसे करें?

बैंक मैनेजर कौन होते हैं?

बैंक मैनेजर बैंक के ऑपरेशन्स को देखते हैं और उन्हें इम्प्लीमेंट और एक्स्जीक्यूट करते हैं। बैंक मैनेजर एक ब्रांच को लीड करते हैं और उनका पूरे बैंक पर नियंत्रण रहता है। हर एक बैंक की ब्रांच अलग-अलग होती हैं और उनका अपना एक बैंक मैनेजर होता है।

काम और जिम्मेदारियां

Bank manager kaise bane बनने के साथ-साथ इनके काम और इनकी जिम्मेदारियों को जानना आवश्यक है। बैंक मैनेजर बैंक के अनुशासन और बिज़नेस के साथ-साथ अन्य सभी महत्वपूर्ण गतिविधियों को देखते हैं। काम और जिम्मेदारियां इस प्रकार हैं:

  • ग्राहकों के लिए आकर्षक प्रोडक्ट्स और सेवाओं को विकसित करके उन्हें एक्स्जीक्यूट करना।
  • बैंक के कर्मचारियों को उनके दैनिक कार्य के लिए लीड और गाइड करना।
  • यह सुनिश्चित करना कि बैंक रिकॉर्ड और स्टेटमेंट्स ठीक से बने हुए हैं।
  • बैंक की सफलता के लिए रणनीति और ऑपरेशनल लोजिस्टिक्स को विकसित करना।
  • ग्राहकों और अन्य वित्तीय संस्थानों के साथ अच्छे संबंध बनाना।
  • बैंकिंग ऑपरेशन्स से संबंधित अलग-अलग डेटाबेस बनाना और उन्हें विकसित करना।
  • बैंक के लिए वार्षिक संचालन (ऑपरेशन्स) और व्यय (एक्सपेंडिचर) बजट तैयार करना।
  • दिन भर के लेनदेन के हिसाब को सुनिश्चित करते हैं।

आवश्यक कौशल

बैंक मैनेजर बनने के लिए आवश्यक कौशल इस प्रकार हैं:

  • नेतृत्व कौशल
  • जवाबदेही
  • सहयोग और सहयोग
  • सांख्यिकीय विश्लेषण
  • व्यवसाय प्रबंधन कौशल
  • ग्राहक सेवा कौशल

बैंक मैनेजर के प्रकार

Bank manager kaise bane जानने के साथ-साथ यह जानना भी ज़रूरी है कि बैंक मैनेजर कितने प्रकार के होते हैं। नीचे पॉइंट्स की मदद से जानिए-

  • ब्रांच मैनेजर: ब्रांच मैनेजर एक ब्रांच के कार्यकारी (एग्जीक्यूटिव) प्रमुख होते हैं। वह बैंक के सभी कार्यों की देखरेख करने, बैंकिंग विकास के उचित प्रबंधन और उनकी बचत के लिए ग्राहकों की संतुष्टि सुनिश्चित करने के लिए जिम्मेदार है। वे उस शाखा कार्यालय के सभी कार्यों के लिए जिम्मेदार हैं, जिसमें कर्मचारियों को काम पर रखना, ऋणों की स्वीकृति और ऋण की रेखा (LOC), मार्केटिंग, ग्राहक संबंधों की सहायता करना और यह सुनिश्चित करना शामिल है कि शाखा अपने लक्ष्यों और उद्देश्यों को पूरा करती है।
  • सर्विस मैनेजर: सेवा प्रबंधक एक बैंक में सभी सेवाओं को बनाए रखने और ग्राहक सेवाओं को संभालने के लिए जिम्मेदार होते हैं। वे एक ग्राहक को सभी सुविधाएं प्रदान करना और बेहतरी के लिए बनाए गए नियमों और विनियमों को बनाए रखना सुनिश्चित करते हैं। उनकी जिम्मेदारियों में सेवा कार्यों को सौंपना और निर्देशित करना, वर्तमान परियोजनाओं की प्रगति की निगरानी करना और टीम के उद्देश्यों और बिक्री लक्ष्यों को पूरा करने के लिए टीम के सदस्यों का प्रबंधन करना शामिल है। वे अच्छे ग्राहक संबंध बनाए रखने और ग्राहकों को दोहराने को सुनिश्चित करने के लिए ग्राहकों की शिकायतों या चिंताओं को जल्दी और पेशेवर रूप से संबोधित करते हैं। 
  • सीनियर बैंक मैनेजर: सीनियर बैंक मैनेजर बैंक की गतिविधियों, ग्राहकों को प्रदान की जाने वाली समग्र सेवाओं के प्रबंधन के लिए जिम्मेदार होते हैं। वे बैंक की हायरिंग प्रक्रिया और अन्य संबंधित सेवाओं में भी भाग लेते हैं। वरिष्ठ बैंक प्रबंधक बैंक के उद्देश्यों के अनुसार वितरण, ग्राहक सेवा, मानव संसाधन, प्रशासन और बिक्री सहित सभी परिचालन पहलुओं को निर्देशित करता है। वे बैंक कर्मियों के लिए प्रशिक्षण, कोचिंग, विकास और प्रेरणा प्रदान करते हैं। पूर्वानुमान, वित्तीय उद्देश्यों और व्यावसायिक योजनाओं का विकास करना।
  • जूनियर बैंक मैनेजर: जूनियर बैंक मैनेजर वरिष्ठ प्रबंधक के पर्यवेक्षक (सुपरवाइजर) या प्रतिनिधि के रूप में कार्य करता है। वे प्रबंधकीय गतिविधियों के सुचारू संचालन को सुनिश्चित करते हैं और बैंक के कनिष्ठ ग्रेड अधिकारियों के प्रबंधन के लिए जिम्मेदार होते हैं। वे दिन-प्रतिदिन का व्यवसाय चलाते हैं और ग्राहक संबंध बनाने में तेजी से शामिल होते हैं, बिक्री रणनीतियों को बनाए रखने और लक्ष्यों तक पहुंचने में मदद करते हैं।

बैंकिंग कोर्सेज

बैंक मैनेजर बनने के लिए किन-किन कोर्सेज को किया जा सकता है, इनके नाम इस प्रकार हैं:

आप AI Course Finder की मदद से अपने पसंद के कोर्सेज और उससे सम्बंधित टॉप यूनिवर्सिटी का चयन कर सकते हैं।

बैंक मैनेजर बनने के लिए स्टेप बाय स्टेप गाइड

बैंक मैनेजर बनने के लिए स्टेप बाय स्टेप गाइड नीचे दी गई है-

  • बेसिक शिक्षा प्राप्त करें: बैंक मैनेजर बनने के लिए आपके पास कम से कम फाइनेंस या संबंधित विषय में बैचलर्स की डिग्री होनी चाहिए। उदाहरण के लिए, आप बैचलर ऑफ कॉमर्स (B Com) या बैचलर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (BBA) की डिग्री हासिल कर सकते हैं। इन कोर्सेज में प्रवेश पाने के लिए, आपको किसी मान्यता प्राप्त स्कूल बोर्ड जैसे CBSE से न्यूनतम 50% अंकों के साथ 12वीं कक्षा पास करनी होगी। आप कला, विज्ञान या वाणिज्य जैसे किसी भी स्ट्रीम में अपनी 12वीं कक्षा पूरी कर सकते हैं।
  • बैंकिंग में अनुभव प्राप्त करें: अपनी बैचलर्स की डिग्री अर्जित करने के बाद, आप एक प्रवेश स्तर की बैंकिंग नौकरी ले सकते हैं और प्रासंगिक अनुभव प्राप्त कर अंततः बैंक प्रबंधक के पद पर पदोन्नत हो सकते हैं। बैंकिंग नौकरियां निजी और सार्वजनिक दोनों क्षेत्रों के बैंकों में उपलब्ध हैं। इन दोनों क्षेत्रों में भर्ती प्रक्रिया पूरी तरह से अलग है। सार्वजनिक बैंकिंग क्षेत्र में प्रवेश करने के लिए, आपको बैंकिंग कार्मिक चयन संस्थान (IBPS) द्वारा आयोजित भर्ती परीक्षा में बैठना होगा। इस परीक्षा को पास करने पर, आप एक परिवीक्षाधीन अधिकारी (PO), विशेषज्ञ अधिकारी या क्लर्क के रूप में बैंक में नौकरी पा सकते हैं। कई निजी और सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक अपने बैंकों में खुले पदों के लिए भर्ती करते समय आपके IBPS स्कोर पर विचार करते हैं। कम से कम तीन साल के प्रासंगिक अनुभव के बाद, आप बैंक मैनेजर बन सकते हैं।
  • मास्टर डिग्री प्राप्त करें: बैंक मैनेजर बनने का दूसरा तरीका किसी प्रतिष्ठित कॉलेज से फाइनेंस या बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में मास्टर डिग्री पूरी करना है। कुछ बैंकों, ज्यादातर निजी बैंकों ने इन कॉलेजों के साथ गठजोड़ किया है। वे अक्सर देश के शीर्ष कॉलेजों से सीधे बैंक प्रबंधक पदों के लिए उम्मीदवारों का चयन करने के लिए कैंपस इंटरव्यू आयोजित करते हैं।

ये भी पढ़ें : ऐसे करे बैंक एग्ज़ाम की तैयारी

सरकारी बैंक में नौकरी कैसे मिलेगी?

अगर आप सरकारी बैंक में नौकरी करना चाहते है तो आपको बैंकिंग कार्मिक चयन संस्थान (IBPS) की परीक्षा को उत्तीर्ण करना होगा। परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद सरकारी बैंक में नौकरी पा सकते हैं। लेकिन बैंक अपने हिसाब से परीक्षा तैयार करता है।

प्राइवेट बैंक में नौकरी कैसे मिलेगी?

यदि आप प्राइवेट बैंक में नौकरी करना चाहते हैं तो आपको PO प्रोग्राम (परिवीक्षाधीन अधिकारी प्रोग्राम) ज्वाइन करना होगा। यह प्रोग्राम प्राइवेट बैंक और सिक्किम मणिपाल साथ में चलाते हैं। प्रोग्राम अवधि की समाप्ति के बाद, कैंडिडेट्स को विभिन्न बैंकों के लिए चुना जाता है। इन बैंकों के अलावा एक और बैंक है जिसे सहकारी बैंक (को-ऑपरेटिव बैंक) कहते हैं। को-ऑपरेटिव बैंक में मैनेजर, सहायक मैनेजर का चयन लिखित और इंटरव्यू के दौरान किया जाता है।

बैंक मैनेजर बनने के लिए एग्जाम फॉर्म

बैंक मैनेजर बनने के लिए भविष्य में आने वाली भारतियों को ध्यान में रखना होता है। जब भर्ती आती हैं तो उसके लिए आवेदन करना होगा। हर बैंक के लिए अलग-अलग भर्तियां निकलती हैं। प्राइवेट बैंकों में मैनेजर बनना आसान है। इसमें सिलेक्शन होने के बाद सीधे अपने दस्तावेज जमा करवाना होता हैं।

बैंक मैनेजर बनने के लिए तैयारी कैसे करें?

Bank manager kaise bane जानने के साथ-साथ इसकी तैयारी कैसे करें ये जानना भी आवश्यक है, जो इस प्रकार है:

परीक्षा पैटर्न

सरकारी बैंकों में भर्तियां आमतौर पर तीन चरण की भर्ती प्रक्रिया में की जाती है। पहले दो चरणों में लिखित टेस्ट होता है, जिसे प्री और मेंस कहा जाता है; और अंतिम पड़ाव इंटरव्यू का होता है। उम्मीदवारों की शॉर्टलिस्टिंग प्रत्येक चरण- प्री, मेंस और इंटरव्यू में की जाती है। अंतिम मेरिट लिस्ट और इंटरव्यू में अंकों के बेस पर तैयार की जाती है (वेटेज: 80% लिखित टेस्ट & 20% इंटरव्यू की होती है)।

प्रीलिम्स परीक्षा

यह परीक्षा का पहला चरण होता है। इसमें छात्र सामान्य ज्ञान और करंट अफेयर्स, सामान्य इंग्लिश, गणित, लॉजिकल रीजनिंग से संबंधित प्रश्नों को हल करते हैं। यह लिखित परीक्षा होती है। यदि आप इस टेस्ट को सफलतापूर्वक पूरा करते हैं, तो आपको मेंस के लिए बुलाया जाएगा।

मेंस परीक्षा

मेंस में छात्रों से तीन अलग-अलग श्रेणियों से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। यह परीक्षा 100 अंकों की होती है। प्री टेस्ट की तुलना में अधिक ध्यान देने की ज़रूरत है क्योंकि इसमें नेगेटिव मार्किंग नहीं होती है।

विषय सवाल
मात्रात्मक रुझान 35
तार्किक विचार 35
अंग्रेजी भाषा 30

इंटरव्यू

बैंक मैनेजर पोस्ट के लिए इंटरव्यू तीसरा चरण होता है। यह तब ही मुमकिन है जब आप प्रीलिम्स और मेंस दोनों परीक्षाओं में उत्तीर्ण होते हैं। इंटरव्यू क्रैक करने के लिए सामान्य ज्ञान, तार्किक तर्क पर ध्यान देने की ज़रूरत है। राजनीति, सामाजिक, भारतीय अर्थव्यवस्था, व्यापार, बाजार, कृषि, वित्त, पुरस्कार, भारत का संविधान, मीडिया, खेल, भारतीय रिजर्व बैंक और बैंकिंग से संबंधित इवेंट्स और गतिविधियों के बारे में जुड़े प्रश्न पूछें जाते है।

ग्रूप डिस्कशन (GD)

इन तीन परीक्षाओं को उत्तीर्ण करने के बाद, चौथा और अंतिम चरण होता है ग्रूप डिस्कशन (GD)। जिसमें एक विषय दिया जाएगा और आपको अपने विचारों को एक्सप्रेस करना होगा। इन विचारों के माध्यम से आपकी योग्यता का मूल्यांकन किया जाता है जिसके बाद आपको बैंक मैनेजर के पद के लिए चुना जाता है।

ये भी पढ़ें : सबसे ज़्यादा तनख्वाह वाली सरकारी नौकरियाँ

विदेश की टॉप यूनिवर्सिटीज

दुनिया की टॉप यूनिवर्सिटीज जो बैंक मैनेजमेंट कोर्सेज ऑफर करती हैं, उनके नाम इस प्रकार हैं:

यूनिवर्सिटीज क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2022
मैसाचुसेट्स की तकनीकी संस्था 1
ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय 2
कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय =3
इंपीरियल कॉलेज लंदन 7
शिकागो विश्वविद्यालय 10
ग्लासगो विश्वविद्यालय 73
लीड्स विश्वविद्यालय 92
डंडी विश्वविद्यालय =322
बांगोर विश्वविद्यालय 601-650
प्रिटोरिया विश्वविद्यालय 601-650

आप UniConnect के जरिए विश्व के पहले और सबसे बड़े ऑनलाइन विश्वविद्यालय मेले का हिस्सा बनने का मौका पा सकते हैं, जहाँ आप अपनी पसंद के विश्वविद्यालय के प्रतिनिधि से सीधा संपर्क कर सकेंगे।

बैंक मैनेजर कोर्स के लिए योग्यता

बैंक मैनेजर बनने के लिए उम्मीदवार के पास कुछ योग्यता होनी चाहिए, जैसे कि –

  • उम्मीदवार को बैंक मैनेजर बनने के लिए भारतीय नागरिक होना चाहिए।
  • बैंक मैनेजर बनने के लिए उम्मीदवार की उम्र 20 वर्ष से 30 वर्ष तक ही होनी चाहिए।
  • बैंक मैनेजर बनने के लिए उम्मीदवार को कंप्यूटर की बुनियादी नॉलेज और टैली उपयोग करना आना चाहिए।
  • एकाउंटिंग से सम्बंधित जानकारी होनी चाहिए।
  • बैंक मैनेजर की पोस्ट के लिए मैनेजमेंट की पोस्ट का होना ज़रूरी है इसीलिए उम्मीदवार के पास MBA या PGDM की डिग्री होनी चाहिए।
  • बैंक मैनेजर की पोस्ट के लिए उम्मीदवार को सरकारी बैंकों में IBPS की परीक्षा उत्तीर्ण करनी होती है तथा इसके लिए उम्मीदवार का 60% अंकों के साथ बैचलर्स में उत्तीर्ण होना ज़रूरी है।
  • प्राइवेट बैंकों में बैंक मैनेजर बनने के लिए भी उम्मीदवारों को PO प्रोग्राम को ज्वाइन करना ज़रूरी होता जिसमें कि 21 से 30 वर्ष तक के ग्रेजुएट उम्मीदवार 55% अंकों के साथ इस पोस्ट के लिए योग्य बन सकते हैं। वहीं, SC/ST और OBC के उम्मीदवारों को 5 और 3 साल तक की छूट प्रदान की जाती है।

क्या आप IELTS/TOEFL/SAT/GRE में अच्छे अंक प्राप्त करना चाहते हैं? आज ही इन एक्साम्स की बेहतरीन तैयारी के लिए Leverage Live पर रजिस्टर करें और अच्छे अंक प्राप्त करें।

करियर स्कोप

बैंकिंग सेक्टर हमेशा से ही बहुत से छात्रों का एक पसंदीदा क्षेत्र रहा है। ऐसा इसलिए है कि पैसा किसी भी देश की इकॉनमी को चलाता है, बैंकिंग इस पैसे को पूरे देश के साथ-साथ दुनिया भर में प्रसारित करने का काम करती है। भारतीय इकॉनमी विकसित हो रही है और जिसकी वजह से कई विदेशी बैंक और कम्पनियाँ भी भारत में आ रही हैं और अपनी ब्रांचेज बढ़ा रही हैं।

भारतीय बैंकों को आगे बढ़ने के लिए कुशल लोगों की बहुत आवश्यकता है। बैंकिंग सेक्टर में अफसर लेवल पर प्रमोशन काफी तेजी से होता है जिससे की आपको मिलने वाली सैलरी भी काफी तेजी से बढ़ती है अन्य क्षेत्रों के मुकाबले। इसलिए अगर आप बैंक मैनेजर बनने का सोच रहे हैं तो आपको अवश्य ही इस करियर विकल्प की तरफ जाना चाहिए।

बैंक मैनेजर प्रमोशन और करियर ग्रोथ

बैंकिंग क्षेत्र में वृद्धि काफी तेजी से होती है। प्रमोशन के लिए आपको इंटरनल परीक्षाएं और इंटरव्यू से गुजरना पड़ता है। नीचे जॉब रोल्स के नाम दिए गए हैं-

  • मिलने वाली पोजीशन: मध्य प्रबंधन ग्रेड –  स्केल II: मैनेजर
  • प्रमोशन I: मध्य प्रबंधन ग्रेड – स्केल III: सीनियर मैनेजर
  • प्रमोशन II: सीनियर मध्य प्रबंधन ग्रेड – स्केल IV: चीफ मैनेजर
  • प्रमोशन III: सीनियर मध्य प्रबंधन ग्रेड – स्केल V: असिस्टेंट जनरल मैनेजर
  • प्रमोशन IV: टॉप मध्य प्रबंधन – ग्रेड VI: डिप्टी जनरल मैनेजर
  • प्रमोशन V: टॉप मध्य प्रबंधन – स्केल VII: जनरल मैनेजर
  • प्रमोशन VI: एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर (ED)
  • प्रमोशन VII: चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर (CMD)

बैंक मैनेजर को मिलने वाले अलाउंस और अन्य भत्ते

Bank manager kaise bane जानने के साथ-साथ यह जानना भी ज़रूरी है कि कितने अलाउंस और अन्य भत्ते इन्हें मिलते हैं, जो इस प्रकार हैं:

  • डियरनेस अलाउंस (DA)
  • हाउस रेंट अलाउंस (HRA)
  • स्पेशल अलाउंस
  • सिटी कम्पेन्सेटरी अलाउंस (CCA)
  • लीज्ड एकोमोडेशन
  • यात्रा भत्ता
  • चिकित्सकीय सहायता
  • अख़बार रीइंबर्समेंट
  • सफाई सामग्री एक्सपेंसेस
  • मनोरंजन एक्सपेंसेस
  • टेलीफोन एक्सपेंसेस
  • नई पेंशन योजना
  • पेट्रोल अलाउंस

भारत में सरकारी बैंकों की लिस्ट

भारत के सरकारी बैंकों की लिस्ट इस प्रकार है:

  • Bank of Baroda
  • Bank of India
  • Bank of Maharashtra
  • Canara Bank
  • Central Bank of India
  • Indian Bank
  • Indian Overseas Bank
  • Punjab National Bank
  • Punjab & Sind Bank
  • Union Bank of India
  • UCO Bank
  • State Bank of India

भारत में निजी (प्राइवेट) बैंकों की लिस्ट

भारत के निजी (प्राइवेट) बैंकों की लिस्ट इस प्रकार है:

  • Axis Bank
  • HDFC Bank
  • ICICI Bank
  • IndusInd Bank
  • RBL Bank
  • YES Bank
  • Citibank
  • HSBC
  • Kotak Mahindra Bank Ltd
  • Federal Bank

बैंक मैनेजर की सैलरी

Glassdoor.co.in के मुताबिक एक सरकारी बैंक मैनेजर की राष्ट्रीय सालाना औसत सैलरी INR 60,245-75,000 प्रति महीने और प्राइवेट बैंक मैनेजर की INR 81-90,000 होती है। वहीं यूके में बैंक मैनेजर की राष्ट्रीय सालाना औसत सैलरी GBP 38,567 (INR 38.56 लाख) और अमेरिका में USD 72,650 (INR 54.48 लाख) होती है।

विदेश में बैंक मैनेजर कैसे बनें?

विदेश में bank manager kaise bane यह जानने के लिए नीचे दिए गए पॉइंट्स को समझिए-

यूके

यूके में बैंक मैनेजर बनने के लिए नीचे जानकारी दी गई है-

यूके में टॉप यूनिवर्सिटीज

यूके में बैंक मैनेजर बनने के लिए टॉप यूनिवर्सिटीज के नाम इस प्रकार हैं:

यूके की यूनिवर्सिटीज में योग्यता

यूके में बैंक मैनेजर बनने के लिए नीचे पॉइंट्स दिए गए हैं-

  • यूके में, ग्रेड 9 से 4 में 4 या 5 GCSE के रूप में बैचलर्स की डिग्री होनी चाहिए या अन्य समकक्ष विषयों में गणित, अर्थशास्त्र और सांख्यिकी शामिल हैं।
  • छात्रों की गणित, अर्थशास्त्र और गणना में एक मजबूत पृष्ठभूमि है और उन्हें वित्तीय कंपनियों में कार्य अनुभव होना चाहिए।
  • यूके में पढ़ने के लिए इंग्लिश लैंग्वेज टेस्ट जैसे IELTS, TOEFL, PTE के अंक अनिवार्य हैं।
  • GRE/GMAT के अंक भी अनिवार्य हैं।

अमेरिका

अमेरिका में बैंक मैनेजर बनने के लिए नीचे जानकारी दी गई है-

अमेरिका में टॉप यूनिवर्सिटीज

अमेरिका में बैंक मैनेजर बनने के लिए टॉप यूनिवर्सिटीज के नाम इस प्रकार हैं:

अमेरिका की टॉप यूनिवर्सिटीज में योग्यता

अमेरिका में बैंक मैनेजर बनने के लिए नीचे योग्यता दी गई है-

  • उम्मीदवारों को बैचलर्स या मास्टर्स डिग्री (3 वर्ष) या पीएचडी (5 वर्ष) एक प्रमाणित अमेरिकी संस्थान से गणित, वित्त, लेखा या सांख्यिकी (स्टेटिस्टिक्स) जैसे प्रासंगिक अनुशासन में करने की ज़रूरत है।
  • अमेरिका में पढ़ने के लिए इंग्लिश लैंग्वेज टेस्ट जैसे IELTS, TOEFL, PTE के अंक अनिवार्य हैं।
  • GRE/GMAT के अंक भी अनिवार्य हैं।

कनाडा

कनाडा में बैंक मैनेजर बनने के लिए नीचे जानकारी दी गई है-

कनाडा में टॉप यूनिवर्सिटीज

कनाडा में बैंक मैनेजर बनने के लिए टॉप यूनिवर्सिटीज के नाम इस प्रकार हैं:

कनाडा की टॉप यूनिवर्सिटीज में योग्यता

कनाडा में बैंक मैनेजर बनने के लिए नीचे योग्यता दी गई है-

  • उम्मीदवारों को एक कनाडाई विश्वविद्यालय से प्रशासन, वित्त या प्रबंधन विज्ञान के किसी भी प्रासंगिक क्षेत्र में बैचलर्स की डिग्री पूरी करने की आवश्यकता है, फिर उन्हें प्रबंधन के एक प्रांतीय संघ द्वारा लाइसेंस प्राप्त करने की आवश्यकता है।
  • कनाडा में पढ़ने के लिए इंग्लिश लैंग्वेज टेस्ट जैसे IELTS, TOEFL, PTE के अंक अनिवार्य हैं।
  • GRE/GMAT के अंक भी अनिवार्य हैं।

ऑस्ट्रेलिया

ऑस्ट्रेलिया में बैंक मैनेजर बनने के लिए नीचे जानकारी दी गई है-

ऑस्ट्रेलिया में टॉप यूनिवर्सिटीज

ऑस्ट्रेलिया में बैंक मैनेजर बनने के लिए टॉप यूनिवर्सिटीज के नाम इस प्रकार हैं:

ऑस्ट्रेलिया की टॉप यूनिवर्सिटीज में योग्यता

ऑस्ट्रेलिया में बैंक मैनेजर बनने के लिए नीचे योग्यता दी गई है-

  • उम्मीदवारों को बैचलर्स या मास्टर्स डिग्री (3 वर्ष) या पीएचडी (5 वर्ष) प्रबंधन के एक प्रासंगिक अनुशासन में जैसे बैचलर ऑफ एप्लाइड बिजनेस इन मार्केटिंग, फाइनेंस कोर्स, और इसी तरह कोर्स करने की ज़रूरत होती है।
  • ऑस्ट्रेलिया में पढ़ने के लिए इंग्लिश लैंग्वेज टेस्ट जैसे IELTS, TOEFL, PTE के अंक अनिवार्य हैं।
  • GRE/GMAT के अंक भी अनिवार्य हैं।

FAQs

12वीं के बाद बैंक मैनेजर कैसे बनें?

बैंक मैनेजर बनने के लिए गाइड इस प्रकार है:
1. राज्य शिक्षा बोर्ड से 12वीं परीक्षा उत्तीर्ण करें।
2. 12वीं पास करने के बाद विज्ञान, वाणिज्य या फिर आर्ट्स स्ट्रीम में बैचलर्स डिग्री पूरी करें।
3. बैंक की PO परीक्षा के लिए अपीयर हों।
4. PO परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद इंटरव्यू होता है, तो उसके लिए तैयारी करें।
5. इंटरव्यू क्रैक करने के बाद बैंक PO ट्रेनिंग शुरू होती है।
6. PO ट्रेनिंग पूरी करने के बाद असिस्टेंट मैनेजर लगते हैं और फिर उसके बाद बैंक मैनेजर बना जाता है।

भारत में बैंक मैनेजर की सैलरी हर महीने कितनी होती है?

Glassdoor.co.in के मुताबिक एक बैंक मैनेजर की राष्ट्रीय सालाना औसत सैलरी 60,245 रुपये प्रति महीने होती है।

एक बैंक मैनेजर क्या करता है?

एक बैंक ब्रांच मैनेजर लोकल बैंक ब्रांच के ऑपरेशन, एडमिनिस्ट्रेशन, मार्केटिंग, ट्रेनिंग, लेंडिंग और सिक्योरिटी के कामों को संभालते हैं। बैंक मैनेजर क्लाइंट्स को उम्दा सर्विस प्रदान करने के लिए टैलेर्स, प्रोडक्ट स्पेसलिस्ट और अन्य बैंक ऑफिसरों की अपनी टीम की निगरानी के लिए जिम्मेदार हैं।

बैंक मैनेजर बनने के लिए कौन सी डिग्री सबसे बेस्ट होती है?

कैंडिडेट्स के पास बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन/कॉमर्स/फाइनेंस या किसी अन्य प्रासंगिक/समकक्ष क्षेत्र में बैचलर्स डिग्री होनी चाहिए।

रिटायरमेंट के बाद पब्लिक सेक्टर के बैंक मैनेजरों को कितनी पेंशन मिलती है?

Livemint.com के अनुसार एक पब्लिक सेक्टर के बैंक मैनेजर को अब 32,000 रुपये महीने का मूल वेतन (बेसिक पे) मिलता है और इसका लगभग 27% महंगाई भत्ता (डियरनेस अलाउंस) के रूप में मिलता है।

आशा करते हैं कि bank manager kaise bane के इस ब्लॉग से आपको जानकारी मिली होगी। यदि आप विदेश में बैंक मैनेजमेंट कोर्स करना चाहते हैं तो हमारे Leverage Edu के एक्सपर्ट्स से 1800 572 000 पर कॉल कर आज ही 30 मिनट का फ्री सेशन बुक कीजिए।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert