पायलट कैसे बने?

1 minute read
6.6K views
10 shares

बचपन से लोगों के बहुत से सपने होते हैं कोई डॉक्टर बनना चाहते हैं कोई इंजीनियर तो कोई टीचर तो कोई पायलट, लेकिन उनको यह नहीं पता होता कि वह कैसे अपने सपने तक पहुंच सकते है। अपने सपने को पूरा करने के लिए लोगों के पास पूरी जानकारी नहीं होती जिससे उनके सपने अधूरे रह जाते हैं हमारे आज के ब्लॉग में आपको Pilot Kaise Bane और इसमें कितना समय लगता है आदि की जानकारी दी जाएगी। 

पायलट कैसे बनें?

अगर आप का भी सपना पायलट बन कर आसमान की ऊंचाइयों को छूना है तो आप हमारे हमारे ब्लॉक को लास्ट तक जरूर पढ़ें।इस ब्लॉग में आपको Pilot Kaise Bane इसके बारे में संपूर्ण जानकारी दी जाएगी। पायलट बनना कई युवक-युवतियों का सपना होता है लेकिन ज्ञान के अभाव के कारण वे अपने सपने को पूरा नहीं कर पाते हैं और इसमें अपना करियर बनाने में असमर्थ रहते हैं पायलट बनने के लिए आपको सही ज्ञान और दिशा का पता होना आवश्यक है जिससे कि आप अपने पायलट बनने के सपने को पूरा कर सकें। 

जानिए विश्व के सबसे पुराने ‘जैन धर्म’ के बारे में

पायलट बनने के लिए क्या करें? 

अगर आप अपना करियर पायलट के रूप में देखते हैं तो आपको उसकी नॉलेज होना बहुत जरूरी है कि पायलट बनने के लिए क्या करना होता है किस तरह की पढ़ाई करके आप पायलट बन सकते हैं। पायलट बनने के लिए आपको सबसे पहले 10th क्लास अच्छे अंको से पास करनी होगी। पायलट बनने के लिए आपको तैयारी 11th क्लास से ही स्टार्ट करनी होगी। पायलट बनने के लिए आपको फिजिक्स,केमिस्ट्री और मैथ्स यह तीनों सब्जेक्ट अनिवार्य रूप से करनी होगी।11वीं कक्षा में साइंस सब्जेक्ट चूस करके पी.सी.एम(PCM) से 11th और 12th क्लास को पास करके और साथ ही साथ आपको इंग्लिश अच्छे से बोलनी आनी चाहिए इसका मतलब यह है कि आपकी इंग्लिश में कमान बहुत अच्छी होनी चाहिए।

  • 10th क्लास पास करें। 
  • 11वीं क्लास में साइंस स्ट्रीम को चुने। 
  • साइंस स्ट्रीम में PCM विषय चुनकर 12th क्लास पास करें। 
  • 12वीं क्लास कम से कम 50℅ अंको के साथ पास करें। 
  • अपनी इंग्लिश भाषा को मजबूत करें। 

पायलट बनने के लिए टिप्स

  • बैचलर्स डिग्री प्राप्त करें
  • उड़ान का अनुभव प्राप्त करें
  • पायलट लाइसेंस के लिए अप्लाई करे
  • अतिरिक्त प्रशिक्षण और परीक्षण पूरा करें
  • एक एयरलाइन पायलट के रूप में एडवांस रहे 
  • बारहवीं की परीक्षा के साथ प्रवेश की तैयारी करें।
  • स्टूडेंट पायलट लाइसेंस के लिए आवेदन करें।
  • प्राइवेट पायलट लाइसेंस के लिए आवेदन करें।
  • कमर्शियल पायलट लाइसेंस के लिए आवेदन करें।

पायलट बनने के लिए कौन सी पढ़ाई करनी होती है? 

12वीं क्लास पास करने के बाद आपको पायलट प्रवेश परीक्षा देनी होती है जो बच्चे 12वीं क्लास के बाद पायलट बनाना चाहते हैं  उन्हें सही मार्गदर्शन की आवश्यकता होती हैं क्योंकि 12वीं कक्षा पास करने के साथ ही आप पायलट प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं और साथ ही आर्म्ड फोर्सेज सेंट्रल मेडिकल इस्टैब्लिशमेंट से मेडिकल सर्टिफिकेट होना जरूरी है। पायलट बनने के लिए आपको पायलट प्रवेश परीक्षा को क्लियर करना होता है जिसके निम्न चरण होते है-

  1. लिखित परीक्षा(written test) 
  2. मेडिकल परीक्षा(Medical examination) 
  3. साक्षात्कार(interview)

SSC क्या है? Exams, Dates, Application and Results

पायलट बनने में कितना समय लगता है?

अगर पायलट बनाना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले किसी फ्लाइंग क्लब में एडमिशन लेना होगा,जो डायरेक्टरेट जनरल ऑफ़ सिविल (DGCA), गवर्नमेंट ऑफ इंडिया द्वारा मान्यता प्राप्त हो, इसके साथ ही आपको स्टूडेंट पायलट लाइसेंस के लिए अप्लाई करना होता है और एंट्रेंस एग्जाम पास करना होगा, उसके बाद आपको ट्रेनिंग पूरी करनी होगी।इंडिया में आपको पायलट बनने के लिए 2 से 3 साल का समय लगता है क्योंकि हमारे यहाँ संसाधनों की कमी है और अगर आप विदेश जाकर पायलट बनना चाहते हैं 1 साल में पायलट बन सकते हैं। 

पायलट बनने के लिए क्या योग्यता

अगर आपको पायलट बनना है  तो आपको एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया को फुल फील करना जरूरी होता है तभी आप पायलट बन सकते हैं पायलट बनने के लिए योग्यता निम्नानुसार है-

  • कैंडिडेट को भारतीय नागरिक होना चाहिये। 
  •  आपका दसवीं पास करना जरूरी है। 
  • और 12th क्लास फिजिक्स,केमिस्ट्री, गणित के साथ न्यूनतम 50℅ अंकों से  पास करना जरूरी है। 
  • आपको इंग्लिश बोलना अच्छे से आना चाहिए। 
  • आपकी ऊंचाई कम से कम 5 फीट होनी चाहिए। 
  • आपकी उम्र कम से कम 16 वर्ष और अधिकतम 32 वर्ष होनी चाहिए। 
  • आपको किसी भी तरह की कोई गंभीर बीमारी नहीं होनी चाहिए। 
  • आपकी आंखों का विजन एकदम सही होने चाहिए। 

इसके अलावा आपको पायलट बनने के लिए कोर्स भी ज्वाइन कर सकते है।

12 वीं के बाद पायलट कैसे बने ?

किसी भी एविएशन कोर्स में नामांकन करने के लिए, आपको संस्थान या अकादमी द्वारा निर्धारित योग्यता को पूरा करना होगा। भारत में 12वीं के बाद पायलट बनने के लिए पात्रता आवश्यकताएं सूचीबद्ध हैं:

  • ट्रेनिंग शुरू करने के लिए आपकी उम्र 17 साल से कम नहीं होनी चाहिए।
  • आपने 10+2 में 50% अंक प्राप्त होने चाहिए  जो संस्थान की आवश्यकता के अनुसार भिन्न हो सकते हैं।
  • आपने इंटरमीडिएट स्तर पर अंग्रेजी के साथ MPC विषयों [गणित, भौतिकी और रसायन विज्ञान] का अध्ययन किया होना चाहिए।
  • यदि आप एक गैर-विज्ञान के छात्र हैं, तो आप राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयी शिक्षा संस्थान के माध्यम से या संबंधित राज्य बोर्ड से एक निजी उम्मीदवार के रूप में आवश्यक विषयों को कर सकते है।
  • आपको आवश्यक अधिकारियों द्वारा जारी एक चिकित्सा प्रमाण पत्र की आवश्यकता होगी।

सैलरी

कुछ लोग कमर्शियल पायलट बनना चाहते हैं क्योंकि इंडिया में इनकी सैलरी बहुत अच्छी होती है और इसे बेस्ट जोब भी माना जाता है। अगर आप कमर्शियल पायलट बनना चाहते हैं तो आपको  SPL की ट्रेनिंग पूरी करनी होगी जिसमे आपको कई एग्जाम देने होते हैं इन सब के बाद एक कमर्शियल पायलट बन जाते हैं,जिनकी काफी अच्छी सैलरी होती है जो लगभग 80 हजार-2 लाख प्रतिमाह होती है जो चलकर 3 से 5 लाख प्रतिमाह हो जाती है। भारत में कमर्शियल पायलट 1.5- 2 लाख का मासिक वेतन अर्जित कर सकता है। दूसरी ओर, यदि आप भारतीय वायु सेना का मार्ग चुन रहे हैं, तो आपका वार्षिक पैकेज लगभग 5-8 लाख प्रति वर्ष हो सकता है।

करियर विकल्प

पायलट के क्षेत्र में करियर विकल्प की विस्तृत जानकारी नीचे दी गई है:

एयरलाइन पायलट

एक पायलट वह होता है जो दुनिया भर में अधिक दूरी पर यात्रियों और कार्गो को एक निश्चित समय पर ले जाने के लिए एयरलाइन को उड़ाने में शामिल होता है। यह पायलटों के लिए नंबर वन करियर माना जाता है। एक वाणिज्यिक पायलट यात्रियों और कार्गो को कम दूरी पर ले जाने के लिए क्षेत्रीय एयरलाइन को उड़ाने में शामिल होता है। युवा उम्मीदवार इस करियर को पसंद करते हैं क्योंकि इसमें रात भर की कम यात्राओं की आवश्यकता होती है और यह आपको घर के करीब रखेगा। 

कॉर्पोरेट पायलट

एक कॉर्पोरेट पायलट निजी उद्यमों या व्यक्तियों के लिए छोटे कॉर्पोरेट टर्बोप्रॉप और जेट उड़ाने में शामिल होता है ताकि कॉर्पोरेट अधिकारियों की बैठकों में यात्रा में सहायता की जा सके।

लड़ाकू पायलट

लड़ाकू पायलट को एक सैन्य पायलट के रूप में भी जाना जाता है, आपको वायु सेना या सेना के लिए काम करने, सैन्य विमान उड़ाने और सैन्य कार्गो और सवारों के परिवहन के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा। लड़ाकू पायलट हवाई युद्ध में भी शामिल होते हैं।

चार्टर पायलट

विशिष्ट गंतव्यों के लिए यात्रियों को उड़ाने वाले पायलट को चार्टर पायलट के रूप में जाना जाता है, इसे “एयर टैक्सी” भी कहा जाता है। आप अपनी निजी चार्टर कंपनी संचालित कर सकते हैं या अन्य चार्टर एयरलाइनों के लिए काम कर सकते हैं।

एयर फाॅर्स पायलट कैसे बनें?

भारतीय एयरफोर्स में पायलट बनने का सपना कई युवाओं का होता है। एक एयरफोर्स पायलट को काफी जटिल ट्रेनिंग से गुज़रना पड़ता है। इन्हे Fighter Jet के साथ आक्रमण के लिए ट्रेनिंग भी दी जाती है। Air Force पायलट बनने के लिए योग्यता कमर्शियल पायलट के बराबर ही होती है।

एयर फाॅर्स पायलट के प्रकार

भारतीय वायुसेना (एयरफोर्स) में पायलट बनने के चार तरीके है।

  • NDA (National Defence Academy)
  • CDSE (Combined Defence Service Exam)
  • SSCE (Short Service Commission Entry)
  • NCC (National Cadet Corps)

ग्रेजुएशन के बाद पायलट बनने के लिए और इनमें प्रवेश पाने के लिए प्रवेश परीक्षा पास करना ज़रूरी है यह एक कठिन परीक्षा होती है जो UPSC द्वारा आयोजित कराई जाती है। इसकी ट्रेनिंग 3 वर्ष की होती है ट्रेनिंग के पश्चात उम्मीदवार परमानेंट कमीशन ऑफिसर के रूप में इंडियन एयरफोर्स स्टेशन में पायलट के तौर पर नियुक्ति पाता है।

पायलट बनने में कितना खर्चा होता है?

दोस्तों पायलट बनना महंगा होता है क्योंकि इसका खर्च आपको स्वयं ही उठाना पड़ता है।दोस्तों पायलट बनने में बहुत खर्च होता है इसकी पढ़ाई काफी महंगी होती है, इसका खर्च कम से कम 20 से 25 लाख होता है। इसका खर्च इसपर निर्भर करता है कि आपने किस प्रशिक्षण संस्थान में एडमिशन लिया है। अगर आप कम पैसों में पायलट बनना चाहते हैं तो आपको पहले इंडियन एयरफोर्स जॉइन करनी होगी। 

हेलिकॉप्टर पायलट कैसे बने?

हेलीकॉप्टर पायलट बनने के लिए कैंडिडेट को आईजीआरयूए (IGRUA)  एंट्रेंस एग्जामिनेशन को पास करना होता है जिसको इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान अकैडमी परीक्षा भी कहा जाता है। यह परीक्षा डीजीसीए (DGCA) यानी डायरेक्टरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन गवर्नमेंट ऑफ इंडिया (Directorate General of Civil Aviation Government of India) के द्वारा कंडक्ट करवाई जाती है। इस लिखित परीक्षा में पास होने वाले कैंडिडेट को मेडिकल टेस्ट दिया जाता है तो उसके बाद उसे मेडिकल टेस्ट के लिए बुलाया जाता है और फिर इंटरव्यू के लिए आमंत्रित किया जाता है। सफलतापूर्वक परीक्षा को पास करने वाले उम्मीदवारों को हेलीकॉप्टर पायलट बनने के कोर्स में दाखिला मिल जाता है। ‌

हेलीकॉप्टर पायलट के लिए योग्यता

  • उम्मीदवार ने बारहवीं कक्षा फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ जैसे विषयों के साथ पास की हो।
  • कैंडिडेट के 12वीं में मिनिमम 50% मार्क्स आने चाहिए।
  • छात्र को अंग्रेजी भाषा का ज्ञान होना जरूरी है। ‌

आयु सीमा

  • अगर कैंडिडेट स्टूडेंट पायलट लाइसेंस पाना चाहता है तो उसके लिए उसकी आयु मिनिमम 16 साल तक होनी जरूरी है।
  • इसी प्रकार प्राइवेट पायलट लाइसेंस पाने के लिए कैंडिडेट की उम्र 17 साल तक होना आवश्यक है।
  • कमर्शियल पायलट लाइसेंस के लिए कैंडिडेट की उम्र 18 साल तक होनी चाहिए।

भारत में पायलट ट्रेनिंग सेंटर

  • एशियाटिक इंटरनेशनल एविएशन एकेडमी, इंदौर
  • ब्लू डायमंड एविएशन, पुणे
  • एक्यूमेन स्कूल ऑफ पायलट ट्रेनिंग, दिल्ली
  • इंटरनेशनल स्कूल ऑफ एविएशन, नई दिल्ली
  • इंडियन एविएशन एकेडमी, मुंबई

सूर्यकांत त्रिपाठी

बेस्ट भारतीय कॉलेज

भारत में ये कुछ स्मान्यता प्राप्त कॉलेज, विश्वविद्यालय और अकादमियां हैं जो एक पेशेवर पायलट के रूप में आपके करियर के निर्माण के लिए आवश्यक मूलभूत और तकनीकी कौशल प्रदान करती हैं:

  • इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान अकादमी
  • बॉम्बे फ्लाइंग क्लब
  • राजीव गांधी एकेडमी ऑफ एविएशन टेक्नोलॉजी 
  • मध्य प्रदेश फ्लाइंग क्लब
  • राष्ट्रीय उड़ान प्रशिक्षण संस्थान
  • अहमदाबाद एविएशन एंड एरोनॉटिक्स लिमिटेड
  • सीएई ऑक्सफोर्ड एविएशन अकादमी
  • इंडिगो कैडेट प्रशिक्षण कार्यक्रम 
  • सरकारी विमानन प्रशिक्षण संस्थान
  • पुडुचेरी ठाकुर कॉलेज ऑफ एविएशन
  • गवर्नमेंट फ्लाइंग क्लब 
  • ओरिएंट फ्लाइंग स्कूल
  • उड्डयन और विमानन सुरक्षा संस्थान 

पायलट बनने के लिए स्किल्स

  • मजबूत तकनीकी कौशल
  • आलोचनात्मक सोच और निर्णय लेना
  • स्थितिजन्य और पर्यावरण जागरूकता
  • अच्छा संचार कौशल
  • अत्यधिक केंद्रित और अनुशासित व्यक्तित्व
  • उत्कृष्टता के लिए निरंतर प्रयासरत
  • उच्च स्तरीय लचीलापन
  • मानसिक स्थिरता और शारीरिक फिटनेस
  • टीम वर्क की अच्छी समझ
  • अंतर्निहित या सीखा नेतृत्व गुणवत्ता

प्रमुख भर्तीकर्ता

एक बार जब आप सही शिक्षा पूरी कर लेते हैं और आवश्यक प्रमाणन या लाइसेंस प्राप्त कर लेते हैं, तो एक पायलट के रूप में आपका आकर्षक करियर शुरू हो जाता है। तो आइए इस क्षेत्र के कुछ प्रमुख नियोक्ताओं (employers) पर एक नजर डालते हैं-

  • Air India
  • IndiGo
  • Air Asia
  • Spice Jet
  • Air India Charters Ltd
  • Alliance Air
  • India Jet Airways
  • Air Costa

पूछे जाने वाले प्रश्न

पायलट बनने के लिए मुझे 12वीं के बाद क्या करना चाहिए?

पायलट बनने के लिए ये हैं 12वीं के बाद टॉप कोर्स:
1. कमर्शियल पायलट ट्रेनिंग
2. एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग में बीटेक
3. ग्राउंड स्टाफ में डिप्लोमा और केबिन क्रू ट्रेनिंग
4. एविएशन में बीएससी

क्या हम 12वीं के बाद पायलट बन सकते हैं?

हां, विज्ञान में पायलट प्रशिक्षण के लिए न्यूनतम मानदंड 10+2 है और पायलट प्रशिक्षण पाठ्यक्रमों के लिए न्यूनतम आयु 17 वर्ष है।

पायलट के लिए कौन सा विषय सबसे अच्छा है

एक पायलट के रूप में करियर बनाने के लिए, आपके पास 10+2 में मुख्य विषयों के रूप में भौतिकी और गणित होना चाहिए।

पायलट कोर्स की फीस कितनी है?

पायलट प्रशिक्षण पाठ्यक्रमों की औसत फीस पाठ्यक्रम के प्रकार और अवधि के आधार पर कहीं न कहीं 15 लाख से 50 लाख तक होती है।

उम्मीद है आपको इस ब्लॉग के माध्यम से पायलट कैसे बने के बारे में सभी मत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हो गई है। यदि आप विदेश में पढ़ाई करना चाहते हैं तो तो हमारे Leverage Edu एक्सपर्ट्स के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन 1800 572 000 पर कॉल कर बुक करें। 

Loading comments...
15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert