BDO कैसे बनें?

1 minute read
1.7K views
BDO Kaise Bane

हर छात्र और उनके माता–पिता का सपना होता है कि उनका लड़का/लड़की एक सरकारी पद पर नियुक्त हो। ऐसे ही सरकारी पदों में से एक पद BDO का भी होता है। जिसके लिए छात्रों को अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी करने के बाद BDO के एंट्रेंस एग्जाम के लिए आवेदन कर सकते हैं। इस ब्लॉग में BDO kaise bane के बारे में बताया गया है।

Check Out: रेलवे परीक्षा 2021- पात्रता, परीक्षा पैटर्न, अनुसूचीऔर चयन प्रक्रिया

BDO क्या है?

एक BDO ऑफिसर वह होता है जिसे अपने क्षेत्र या खंड का विकास अधिकारी भी कहा जाता है और उसकी यह जिम्मेदारी होती है कि उसे अपने क्षेत्र के हर विकास कार्यों पर कड़ी नजर रखनी होती है । सरकार द्वारा जारी किए गए विकास के हर कार्य को करवाने की भी जिम्मेदारी इनकी होती है और आप इनका महत्व इसी बात से समझ सकते हैं कि इनके अनुमति के बिना इनके क्षेत्र में कोई भी विकास का काम नहीं होता।

BDO फुल फॉर्म

BDO का फुल फॉर्म – “Block Development Officer”, ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर को हिन्दी में “खंड विकास अधिकारी” कहा जाता है।

Check Out: सबसे ज़्यादा तनख्वाह वाली सरकारी नौकरियाँ

BDO के लिए योग्यता

BDO ऑफिसर बनने के लिए सामान्य योग्यता नीचे दी गई है:

  • BDO ऑफिसर बनने के लिए सबसे पहले बारहवीं कक्षा किसी भी स्ट्रीम में उत्तीर्ण करें।
  • किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी विषय में ग्रेजुएशन पास हो।
  • ग्रेजुएशन डिग्री अनिवार्य है, ग्रेजुएशन के बिना आप BDO ऑफिसर नहीं बन सकते हैं।

Check Out : SSC क्या है? Exams, Dates, Application and Results

BDO ऑफिसर के लिए आयु सीमा क्या होती है?

खंड विकास अधिकारी बनने के लिए आपकी न्यूनतम आयु 21 वर्ष होनी चाहिए, और अधिकतम आयु 40 वर्ष होनी चाहिए। अगर आप आरक्षित श्रेणी के अंतर्गत आते है, तो आपको आयु में विशेष छूट दी जाती है।

  • यदि आप OBC श्रेणी में आते हैं, तो आपको एक्स्ट्रा तीन साल की छूट मिलती है। OBC श्रेणी का छात्र 21 वर्ष से लेकर 43 वर्ष तक बीडीओ का एग्जाम दे सकता है।
  • यदि आप SC/ST श्रेणी में आते हैं, तो आप 21 से 45 वर्ष तक इस पद के लिए योग्य होंगे।

Check Out: NTPC Previous Year Paper

BDO ऑफिसर का कार्य

BDO ऑफिसर के सामान्य कार्य नीचे सूचीबद्ध है:

  • BDO ऑफिसर का मुख्य काम होता है कि अथॉरिटी और दूसरे अधिकारियों द्वारा स्वीकृत की गई योजनाओं को सही से किया जा रहा है या नहीं इसकी जांच पड़ताल करना।
  • BDO पंचायत समिति फंड से पैसा ग्राम पंचायतों के लिए देते हैं और सुनिश्चित करते हैं कि किस ग्राम पंचायत को कितना बजट दिया जाएगा।
  • पंचायत समिति के द्वारा दिये गए सभी दस्तावेज और लेटर को चेक करके उस पर साइन करने का काम भी बीडीओ ही करता हैं।
  • BDO ऑफिसर को अगर लगता है कि किसी पंचायत समिति ने पैसों का दुरपयोग किया है, तो भी बीडीओ कोई सख्त कार्रवाई करने में सक्षम होता है।
  • BDO ग्राम पंचायतों में होने वाले विभिन्न कार्यों को देखता है कि वो निश्चित समय सीमा के अंदर हो रहे हैं या नहीं?

BDO पद के लिए सिलेक्शन प्रोसेस

खंड विकास अधिकारी के पद का चयन रिटन एग्जाम और इंटरव्यू के माध्यम से किया जाता है | लिखित परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद ही आवेदक को साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है|

प्रारंभिक परीक्षा

  • आवेदक के लिए लोक सेवा आयोग के द्वारा परीक्षा का आयोजन किया जाता है | इस परीक्षा में 2 पेपर होते है |
  • प्रत्येक पेपर की समयावधि 2 घंटे होती है | जिसमें जनरल स्टडीज से सम्बंधित प्रश्न पूछे जाते हैं|
  • पहले पेपर में 150 प्रश्न पूछे जाते हैं, 200 अंको का प्रश्नपत्र होता है |
  • दूसरे पेपर में 100 प्रश्न पूछे जाते है ये भी 200 अंको का होता है | इसमें CST से सम्बंधित प्रश्न पूछे जाते है |

प्रारंभिक परीक्षा के लिए सिलेबस (1 पेपर जनरल स्टडीज)

सामान्य विज्ञान, तार्किक प्रश्न और गणित के विषय के प्रश्न परीक्षा में पूछे जाते हैं| 

  • देश–विदेश की घटनाएं
  • वर्त्तमान घटनाएं
  • विश्व के भूगोल और इतिहास से सम्बंधित प्रश्न
  • राजनीति, प्रशासन
  • राजनीतिक प्रणाली
  • पंचायती राज
  • सार्वजनिक नीति
  • जनसांख्यिकी
  • सामाजिक क्षेत्र की पहल
  • पर्यावरण पारिस्थितिकी
  •  जैव-विविधता
  • आर्थिक और सामाजिक विकास-सतत विकास
  •  गरीबी आदि से सम्बंधित प्रश्न

प्रारंभिक परीक्षा के लिए सिलेबस (2 पेपर)

  • समस्या सुलझाना एवं निर्णय लेने से सम्बंधित प्रश्न
  • हाई स्कूल स्तर पर सामान्य अंग्रेजी
  • हाई स्कूल स्तर पर सामान्य हिंदी
  • हाई स्कूल स्तर पर सामान्य गणित
  • मानसिक क्षमता से सम्बंधित प्रश्न
  • तर्क और विश्लेषणात्मक क्षमता से सम्बंधित प्रश्न

मुख्य परीक्षा

जब अभ्यर्थी प्रारंभिक परीक्षा में सफल हो जाता हैं, तब उसके बाद ही अभ्यर्थी मुख्य परीक्षा में प्रवेश लेता है। मुख्य परीक्षा में केवल वही उम्मीदवार भाग लेते हैं जो प्रारंभिक परीक्षा में सफल घोषित हो चुके होते हैं। मुख्य परीक्षा को पास करने के लिए आपको काफी मेहनत करनी होती है। यह परीक्षा भी लिखित रूप में होती है | इस परीक्षा में चार प्रश्नपत्र होते हैं, अभ्यर्थी द्वारा चुनें गए दो वैकल्पिक विषयों के चार प्रश्नपत्र होते है, इसमें अनिवार्य प्रश्नपत्र में सामान्य हिंदी और निबंध के लिए 150-150 अंक के दो प्रश्नपत्र होते है और सामान्य अध्ययन के दो प्रश्नपत्र 200-200 अंकों के होते है दोनों प्रश्नपत्रों में वस्तुनिष्ठ प्रकार के प्रश्न पूछे जाते है |

1 – पेपर में प्राचीन, मध्यकालीन, आधुनिक भारत के इतिहास,भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन, भारतीय संस्कृति, जनसंख्या, पर्यावरण और शहरीकरण, भारत की भूगोल और इसके प्राकृतिक संसाधन, भारतीय कृषि, व्यापार, वाणिज्य  आदि से सम्बंधित प्रश्न पूछे जाते है |

2- पेपर में भारतीय राजनीति, भारतीय अर्थव्यवस्था,सामान्य विज्ञान, सामान्य मानसिक क्षमता, सांख्यिकीय विश्लेषण, आलेख और आरेख और भारतीय राजनीति से संबंधित, भारतीय संविधान में राजनीतिक व्यवस्था से सम्बंधित प्रश्न पूछें जाते है|

इंटरव्यू

जब अभ्यर्थी प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा दोनों में सफल घोषित हो जाता है तो फिर उसे  साक्षात्कार के लिए  बुलाया जाता है| साक्षात्कार में अधिकारियों के द्वारा प्रश्न पूछे जाते हैं, इसमें अधिकतम 100 नंबर के सवाल पूछे जाते है जिसमें अभ्यर्थी की योग्यता और तर्क शक्ति का अनुमान लगाया जाता है। आपके प्रदर्शन के अनुसार अधिकारियों के द्वारा चयन किया जाता है। इसके बाद लोक सेवा आयोग द्वारा एक सूची तैयार की जाती है। सूची के अनुसार चुने गए अभ्यर्थी को खंड विकास अधिकारी पद पर नियुक्त किया जाता है ।

BDO ऑफिसर कैसे बनें? 

BDO ऑफिसर कैसे बने इसके लिए स्टेप बाय स्टेप प्रक्रिया नीचे दी गई है:

  • बीडीओ ऑफिसर बनने के लिए सबसे पहले आप ग्रेजुएशन पास करें।
  • उसके बाद राज्य लोक सेवा आयोग (PSC) द्वारा आयोगित प्रशासनिक सेवा परीक्षा के लिए आवेदन करें।
  • प्रति वर्ष सभी राज्य लोक सेवा आयोग सिविल सेवा परीक्षा के लिए सूचना निकालती है।
  • सिविल सर्विस एग्जाम के लिए आवेदन करें।
  • BDO ऑफिसर पोस्ट की भर्ती के लिए पब्लिक सर्विस कमीशन तीन चरणों में परीक्षा आयोजित करती है-प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा और साक्षात्कार। आवेदक को तीनों परीक्षाओं को उत्तीर्ण करना होगा।
  • परीक्षा पास करने के बाद मेरिट लिस्ट जारी होती है।
  • जिनका नाम मेरिट में होता है, उनका चयन BDO ऑफिसर के लिए होता है।

BOD एग्जाम सिलेबस

BOD एग्जाम के लिए सिलेबस नीचे दिया गया है:

विषय प्रश्नों की संख्या अंक
सामान्य/ आर्थिक जागरूकता 50 प्रश्न 50 अंक
सामान्य अंग्रेजी 40 प्रश्न 40 अंक
रिजनिंग एवं कंप्यूटर योग्यता 50 प्रश्न 60 अंक
प्रोफेशनल ज्ञान- मार्केटिंग 50 प्रश्न 50 अंक

ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर सैलरी

एक BDO ऑफिसर की सैलरी कम से कम 9,300/- से 34,800/ तक होती है लेकिन यह हर राज्य मे अलग-अलग होती है।

FAQ

BDO क्या होता है?

बीडीओ खंड विकास अधिकारी होता है। BDO को एक ब्लॉक की गतिविधियों और विकास के लिए एक अधिकारी के रूप में नामित किया जाता है।

BDO की फुल फॉर्म क्या होती है?

BDO की फुल फॉर्म ब्लॉक डेवेलपमेंट ऑफिसर ( Block Development Officer ) होती है।

BDO क्या काम करता है?

बीडीओ अपने ब्लॉक में चल रही गतिविधियों और विकास कार्यों की निगरानी करता है| इसके अलावा भी बीडीओ के कुछ कार्य होते हैं जिनकी सूची आपको इस ब्लॉग में मिल जाएगी|

आशा करते हैं कि BDO kaise bane इस का उत्तर आपको इस ब्लॉग में मिल गया होगा। यदि आप विदेश में पढ़ना चाहते हैं तो आज ही 1800 572 000 पर कॉल करके Leverage Edu एक्सपर्ट्स के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करें।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

4 comments
    1. आपका आभार, ऐसे ही हमारी वेबसाइट पर बने रहिये।

    1. आपका धन्यवाद, ऐसे ही हमारी वेबसाइट पर बने रहिए।

    1. आपका आभार, ऐसे ही हमारी वेबसाइट पर बने रहिये।

    1. आपका धन्यवाद, ऐसे ही हमारी वेबसाइट पर बने रहिए।

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert