फाइनेंस में BBA कैसे करें?

1 minute read
762 views
Leverage Edu Default Blog Cover

12वीं के बाद कई सारे छात्रों के मन में अपने करियर को लेकर सवाल आता है कि आखिर किस फील्ड में कोर्स करना या डिप्लोमा, डिग्री लेने से उन्हें अच्छी नौकरी मिलेगी। इसी दुविधा को दूर करने के लिए आज हम उन छात्रों के बारे में बात करेंगे जिनका इंटरेस्ट सबसे ज्यादा कमर्स, इकोनॉमिक्स, उद्यमिता या फाइनेंस में है। इस ब्लॉग के माध्यम से हम इन सभी फील्ड में जाने वाले छात्रों को बताएगें कि Finance me BBA Kaise Kare। इसके अलावा ब्लॉग में हम करियर स्कोप से लेकर फाइनेंस के बेस्ट कॉलेजों के बारे में भी बताएंगे। तो चलिए जानते हैं Finance me BBA Kaise Kare के बारे में विस्तार से।

पर्टिकुलर विवरण
कोर्स BBA Finance
डिग्री लेवल बैचलर्स
अवधि 3 वर्ष
कुल सेमेस्टर्स 6 (2 सेमेस्टर प्रति वर्ष)
योग्यता 12 उत्तीर्ण (कुछ कॉलेजों के लिए प्रवेश परीक्षा)
औसत सालाना कोर्स फीस INR 2-5 लाख
औसत सालाना सैलरी INR 2.5-10 लाख

Check out : 12th के बाद Banking Course

BBA फाइनेंस क्या है?

BBA फाइनेंस (Bachelor of Business Administration in Finance) फाइनेंशियल मैनेजमेंट में स्पेशलिस्ट तीन साल का डिग्री कोर्स होता है। इस डिग्री कोर्स का मुख्य उद्देश्य छात्रों के बीच वित्तीय समझ विकसित करना और वित्तीय समस्याओं से निपटने के लिए और इससे जुड़े स्किल का निर्माण करना है। किसी भी व्यवसाय को शुरू करना, और इसे पेशेवर रूप से चलाना एक बहुत बड़ा काम है। और यहां बिजनेस एडमिनिस्ट्रेटर की भूमिका अहम हो जाती है। कई कंपनियां, सरकारी हों या प्राइवेट, एक अच्छे बिजनेस प्रशासक की तलाश में हमेशा रहती हैं जो उनके व्यवसाय को ठीक से आगे बढ़ा सके। बीबीए फाइनेंस कोर्स के दौरान आपके द्वारा पढ़ाए गए विभिन्न विषय आपको किसी भी व्यवसाय को ठीक से समझने और चलाने का ज्ञान और समझ देते हैं। कोर्स के 3 वर्षों के दौरान, छात्रों को सिखाया जाता है कि अलग- अलग प्रकार के व्यवसाय कैसे प्रबंधित करें। यह बैचलर कोर्स आज काफी फेमस है, और कई छात्रों को इस कोर्स को करने के बाद अच्छी नौकरी और अच्छा पैकेज भी मिल रहा है।

BBA स्पेशलाइजेशन

BBA में वैसे कई सारी फील्ड्स है जिनमें आप स्पेशलाइजेशन ले सकते हैं। बीबीए एक कोर्स के रूप में उम्मीदवारों को केवल मैनेजमेंट क्षेत्र तक ही सीमित नहीं करता है। बल्कि यह उम्मीदवारों को एक विशेष विशेषज्ञता से संबंधित प्रशासनिक तकनीकों और रणनीतियों के साथ कौशल प्रदान करता है। इस कोर्स के जरिए, उम्मीदवार कई प्रकार के संगठनों में महत्वपूर्ण प्रबंधकीय स्तर की भूमिकाओं के बारे में जान सकते हैं। इन स्पेशलाइजेशन के अलावा, कुछ विश्वविद्यालय हैं जो बीबीए-एमबीए इंटीग्रेटेड कोर्स प्रदान करते हैं। नीचे विशेषज्ञताएं अधिकांश क्षेत्रों को कवर करती हैं और उम्मीदवारों को नौकरी के व्यापक अवसर प्रदान करती हैं। नीचे स्पेशलाइजेशन दी गई हैं-

International Business Human Resource  Information and Technology Finance  Banking and Insurance 
Marketing  Integrated Marketing Communications Travel and Tourism Management  Hospitality and Hotel Management  Event Management 
Foreign Trade Airport Management Sports Management  International Business Aviation  Management 

आप AI Course Finder की मदद से अपनी प्रोफाइल के अनुसार सही यूनिवर्सिटी और अपनी पसंद का कोर्स चुन सकते हैं।

विश्व में BBA फाइनेंस के बेस्ट कॉलेज

Finance me BBA Kaise Kare इसके लिए बेस्ट कॉलेज देश के साथ साथ विदेशों में भी है जहाँ से आप बीबीए करने केे बाद अपना करियर बना सकते हैं। नीचे दिए गए लिस्ट को देखकर आप विदेशों के इन कॉलेजों में एडमिशन के लिए अप्लाई कर सकते हैं-

आप UniConnect के जरिए विश्व के पहले और सबसे बड़े ऑनलाइन विश्वविद्यालय फेयर का हिस्सा बनने का मौका पा सकते हैं, जहाँ आप अपनी पसंद के विश्वविद्यालय के प्रतिनिधि से सीधा संपर्क कर सकते हैं।

BBA फाइनेंस में भारत के बेस्ट कॉलेज

Finance me BBA Kaise Kare जानने के साथ-साथ भारत में इस कोर्स को प्रदान करने वाले कॉलेजों के नाम इस प्रकार हैं:

  • शैलेश जे मेहता स्कूल ऑफ मैनेजमेंट (एसजेएमएसओएम) (आईआईटी बॉम्बे का हिस्सा)
  • मद्रास क्रिश्चियन कॉलेज
  • माउंट कार्मेल कॉलेज, बैंगलोर
  • क्वांटम विश्वविद्यालय, रुड़की
  • शहीद सुखदेव कॉलेज ऑफ बिजनेस स्टडीज, दिल्ली विश्वविद्यालय
  • केशव महाविद्यालय, दिल्ली विश्वविद्यालय
  • अनिल सुरेंद्र मोदी स्कूल ऑफ कॉमर्स, एनएमआईएमएस यूनिवर्सिटी, मुंबई
  • महाराजा सूरजमल संस्थान, (जीजीएस-आईपीयू), दिल्ली
  • एमिटी बिजनेस स्कूल, नोएडा
  • बिट्सोम, बिट्स स्कूल ऑफ मैनेजमेंट, मुंबई
  • क्राइस्ट यूनिवर्सिटी, बैंगलोर
  • एथिराज कॉलेज फॉर विमेन, चेन्नई
  • लाला लाजपत राय कॉलेज ऑफ कम्युनिकेशन एंड इकोनॉमिक्स, मुंबई

BBA फाइनेंस के लिए योग्यता

Finance me BBA Kaise Kare जानने के साथ-साथ यह जानना भी आवश्यक है कि इस कोर्स के लिए योग्यता के क्या स्टैण्डर्ड हैं, जो नीचे दिए गए हैं-

  • कैंडिडेट का किसी भीं मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं कॉमर्स विषय में उत्तीर्ण करना अनिवार्य है।
  • विदेश में पढ़ने के लिए इंग्लिश लैंग्वेज टेस्ट जैसे IELTS, TOEFL के अंक भी अनिवार्य हैं।

क्या आप IELTS/TOEFL/SAT/GRE में अच्छे अंक प्राप्त करना चाहते हैं? आज ही इन एग्जाम की बेहतरीन तैयारी के लिए Leverage Live पर रजिस्टर करें और अच्छे स्कोर प्राप्त करें।

भारत में BBA फाइनेंस के लिए एडमिशन प्रक्रिया

बीबीए कोर्स में दो तरह से कोई भी छात्र एडमिशन ले सकता है, जैसे-

  1. 12वीं के बाद एडमिशन
  2. प्रवेश परीक्षा के बाद एडमिशन

बीबीए कोर्स के लिए एडमिशन

  • भारत में ऐसे कई बीबीए कॉलेज हैं जहां आपको अपने 12वीं के अंक के आधार पर सीधे प्रवेश मिल जाएगा।
  • अधिकांश ऐसे कॉलेज आपसे बारहवीं में 40 प्रतिशत से ऊपर प्रतिशत की डिमांड कर सकते हैं।
  • लेकिन कुछ अच्छे कॉलेज भी हैं जो आपसे 12 वीं में अच्छे नंबर या प्रतिशत की डिमांड कर सकते हैं।
  • कुछ बीबीए के टॉप कॉलेज ऐसे भी हैं जहां आपको प्रवेश के लिए 12वीं में प्रथम श्रेणी से पास होना ज़रूरी होता है।
  • कुछ कॉलेज ऐसे हैं जहाँ प्रवेश परीक्षा नहीं होता हैं, लेकिन एंट्री से पहले आपको इंटरव्यू देना जरूरी होता है।

प्रवेश परीक्षा के बाद एडमिशन

भारत में टॉप प्राइवेट और सरकारी कॉलेज हैं, जिसमें आपको एंट्री के लिए एक अलग से प्रवेश परीक्षा देनी होती है। इस परीक्षा के स्कोर के बाद ही आपको आपकी रैंक के हिसाब से कॉलेज में एंट्री मिलती है। वहीं कुछ टॉप कॉलेज में एडमिशन के लिए आपको प्रवेश परीक्षा के साथ इंटरव्यू और ग्रुप डिस्कशन जैसी पास करना होता है। इसी के आधार पर आपके स्कोर के अनुसार ही टॉप कॉलेजों में एडमिशन दिया जाता है।

Check out: 12वीं के बाद फॉरेंसिक साइंस

भारत की टॉप BBA प्रवेश परीक्षाएं

भारत में वैसे तो कई कोर्स करने के लिए कई सारे प्रवेश परीक्षाएं करवाई जाती हैं, जो भी इसमें अच्छे अंक पाता है उसको इसमेंं उसी हिसाब से टॉप कॉलेजों में एडमिशन मिलता है। ऐसे ही भारत में BBA के प्रवेश परीक्षाएं जिनमें सबसे ज्यादा छात्र इस एग्जाम को देते हैंं।

UGAT

ऑल इंडिया मैनेजमेंट एसोसिएशन (AIMA), स्नातक प्रबंधन पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए हर साल अंडर ग्रेजुएट एप्टीट्यूड टेस्ट (UGAT) आयोजित करता है, जैसे- BBA, BBM, BHM, BCA और B. Com, आदि कोर्स। इस प्रवेश परीक्षा के माध्यम से, आपको भारत के शीर्ष प्रबंधन कॉलेजों में स्नातक पाठ्यक्रमों में प्रवेश मिलेगा। कुछ टॉप कॉलेज –

  • अमृत ​​मोदी स्कूल ऑफ मैनेजमेंट, अहमदाबाद
  • ओपी जिंदल ग्लोबल यूनिवर्सिटी, सोनीपत
  • एसआरएम विश्वविद्यालय, चेन्नई
  • केआईआईटी स्कूल ऑफ मैनेजमेंट, भुवनेश्वर
  • ICFAI विश्वविद्यालय

AUMAT

Alliance Undergraduate Management Aptitude Test (एलायंस अंडरग्रेजुएट मैनेजमेंट एप्टीट्यूड टेस्ट) का आयोजन अलायन्स यूनिवर्सिटी द्वारा अंडरग्रेजुएट कोर्सेज में एड्मिशन के लिए किया जाता है। इस परीक्षा के जरिए, आप एलायंस विश्वविद्यालय में बीबीए और बीसीए कोर्स में प्रवेश ले सकते हैं।

NPAT

12 वीं के बाद प्रोग्राम के लिए नेशनल टेस्ट, नरसी मोनजी इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज (NMIMS) द्वारा आयोजित एक राष्ट्रीय स्तर की प्रवेश परीक्षा है। इस प्रवेश परीक्षा के माध्यम से, आप NMIMS में स्नातक और एकीकृत पाठ्यक्रमों में प्रवेश ले सकते हैं।

IPMAT

Integrated Program in Management Aptitude Test भारतीय प्रबंधन संस्थान इंदौर (IIM) द्वारा आयोजित किया जाता है। इस प्रवेश परीक्षा के माध्यम से, आप आईआईएम, इंदौर में 5 साल के एकीकृत प्रबंधन कार्यक्रम में प्रवेश ले सकते हैं।

BHU UET

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय स्नातक प्रवेश परीक्षा का आयोजन बनारस हिंदू विश्वविद्यालय द्वारा बैचलर्स कोर्सेज में प्रवेश के लिए किया जाता है, जैसे- बीबीए, बीसीए, बीए और बी कॉम। इस प्रवेश परीक्षा के माध्यम से, आप केवल बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में प्रवेश पा सकते हैं।

SPJAT

एसपी जैन विश्वविद्यालय द्वारा एसपी जैन एप्टीट्यूड टेस्ट अंडर ग्रेजुएट प्रोग्राम में प्रवेश के लिए आयोजित किया जाता है। इस प्रवेश परीक्षा के माध्यम से, आप एसपी जैन विश्वविद्यालय में बीबीए पाठ्यक्रम में प्रवेश ले सकते हैं।

Check out: Commerce Students के लिए 15 Highest Salary Jobs

BBA फाइनेंस सिलेबस

BBA फाइनेंस में पढ़ाया जाने वाला पूरा कोर्स कॉलेज के आधार पर अलग-अलग हो सकता है। नीचे सामान्य सब्जेक्ट की एक लिस्ट दी गई हैं जो इस कोर्स में पढ़ने के दौरान कवर किए जाते हैं। प्रत्येक सेमेस्टर के लिए अपने विषयों की ज्यादा समझ प्राप्त करने के लिए, कोई भी उस कॉलेज की आधिकारिक वेबसाइट पर जांच कर सकता है जिसे वे आगे बढ़ाना चाहते हैं। इसके साथ ही मुख्य विषयों के अलावा, ऐसे सब्जेक्ट भी हैं जिन्हें छात्र चुन सकते हैं। कोर्स में किसी व्यक्ति के हितों के आधार पर फाइनेंशियल प्रोजेक्ट्स, रिसर्च पेपर, थीसिस लिखना या इंटर्नशिप करना भी शामिल किया गया हैं।

  • बुनियादी लेखांकन
  • व्यावसायिक संपर्क
  • व्यापारिक वातावरण
  • व्यापार कानून
  • व्यापार गणित
  • व्यावसायिक आंकड़े
  • कंपनी की रणनीति
  • डेटाबेस सिस्टम
  • उद्यमिता
  • वित्तीय प्रबंधन
  • मानव संसाधन प्रबंधन
  • प्रबंधन में सूचना प्रौद्योगिकी
  • तार्किक प्रबंधन
  • मैक्रो इकोनॉमिक्स
  • प्रबंधन सिद्धांत और व्यवहार
  • विपणन प्रबंधन
  • व्यष्‍टि अर्थशास्त्र
  • संचालन प्रबंधन
  • संगठन व्यवहार
  • उत्पादन और संचालन प्रबंधन
  • व्यापार के लिए अनुसंधान के तरीके
  • प्रबंधकों के लिए सांख्यिकी

BBA फाइनेंस की फीस

BBA फाइनेंस कोर्स के लिए आवश्यक शुल्क उस कॉलेज पर निर्भर करता है जिससे आप पढ़ना चाहते हैं। भारत में बीबीए फाइनेंस को आगे बढ़ाने के लिए औसत कोर्स फीस INR 2-5 लाख के बीच हो सकती है, जबकि विदेशों में यह लगभग INR 10-40 लाख के आस-पास हो सकती है। वहीं इसके अलावा अगर आप इस कोर्स को विदेश से करते है तो फीस के साथ आपको अलग-अलग कॉलेज के हिसाब से इंफ्रास्ट्रक्चर और कॉलेज फैकल्टी के अलग से रूपय खर्च करने पड़ सकते हैं।

BBA फाइनेंस के बाद जॉब के विकल्प

BBA फाइनेंस के बाद, आपके पास कई अच्छे करियर विकल्प होते है जिसमें आप आगे MBA या फिर अन्य कोर्स कर सकते हैं, या फिर आप एक अच्छी कंपनी में अच्छी नौकरी के लिए जा सकते हैं या अपना खुद का व्यवसाय भी शुरू कर सकते हैं। इसके अलावा कुछ ऐसी जॉब्स भी है जो BBA फाइनेंस करने के बाद बेस्ट करियर विकल्प हो सकते हैं।

  • फाइनेंशियल मैनेजर/एनालिस्ट
  • बिज़नेस एनालिस्ट
  • क्रेडिट एनालिस्ट
  • ऑपरेशन मैनेजर
  • एकाउंटिंग मैनेजर
  • रिस्क और इंश्योरेंस मैनेजर
  • कोषाध्यक्ष
  • फाइनेंस मैनेजर
  • कैश मैनेजर
  • फाइनेंस डायरेक्टर
  • फाइनेंशियल एडवाइजर
  • फाइनेंस एसोसिएट्स
  • पोर्टफोलियो मैनेजर
  • चीफ इंवेस्टमेंट अफसर
  • इन्वेस्टमेंट सेल्स ट्रेडर्स
  • इन्वेस्टमेंट बैंकर
  • डेटा साइंटिस्ट
  • ब्लॉकचैन एक्सपर्ट

Check out: 10th Commerce ke Baad Career

फाइनेंस में BBA के बाद सैलरी

Finance me BBA Kaise Kare इसके बाद जॉब करने वाले लोगों की सैलरी उनके स्कोर, एक्सपीरियंस, जॉब प्रोफाइल और अन्य चीजों को देखकर ही तय किया जाता है। एक औसतन BBA फाइनेंस ग्रेजुएट के लिए शुरुआती वेतन लगभग INR 4.5-5 लाख के बीच होगा। यह INR 2.5-10 लाख तक भी अलग-अलग तरीके से हो सकता है। छात्र अपने वेतन पैकेज को बढ़ाने के लिए अपने जोखिम को बढ़ा सकते हैं और साथ ही एमबीए जैसी उच्च शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं।

FAQs

वित्त में बीबीए कठिन?

कोर्स कम्प्रेहैन्सिव है और अन्य बैचलर्स डिग्री की तुलना में कठिन लग सकता है, लेकिन किसी व्यक्ति की रुचियों और क्षमताओं के आधार पर, यह कठिन नहीं होगा। जो लोग वित्तीय और व्यावसायिक क्षेत्र में रुचि रखते हैं, उन्हें निश्चित रूप से इसे आगे बढ़ाना चाहिए क्योंकि यह उनके हितों के लिए पूरी तरह से फिट होगा और उन्हें आवश्यक कौशल से लैस करेगा।

क्या आपको बीबीए के लिए गणित की आवश्यकता है?

कोर्स में गणित एक महत्वपूर्ण विषय है, हालांकि, कुछ कॉलेजों में प्रवेश के लिए कक्षा 12 वीं में गणित होना अनिवार्य नहीं है।

बीबीए और बीबीए फाइनेंस में क्या अंतर है?

बीबीए प्रबंधन और उद्यमिता पर केंद्रित एक कोर्स प्रदान करता है जबकि बीबीए फाइनेंस छात्रों को भविष्य के वित्तीय पेशेवर बनने की इच्छा रखने वालों के लिए वित्तीय क्षेत्र की अपनी समझ को बढ़ाने की अनुमति देता है। वित्त के विभिन्न पहलू जैसे निवेश, वित्तीय इंजीनियरिंग, पोर्टफोलियो प्रबंधन, कॉर्पोरेट फाइनेंस आदि इसके अंतर्गत आते हैं।

उम्मीद है कि इस ब्लॉग से आपको पता चला होगा कि Finance me BBA Kaise Kare। यदि आप विदेश में फाइनेंस में करना चाहते हैं तो हमारे Leverage Edu के एक्सपर्ट्स से 1800 572 000 पर कॉल कर आज ही 30 मिनट का फ्री सेशन बुक कीजिए।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert