इन्वेस्टमेंट बैंकर कैसे बनें?

1 minute read
976 views
10 shares
Investment Banker Kaise Bane

अगर आपको बैंकिंग या फाइनेंस सेक्टर में दिलचस्पी है, तो आपके लिए इन्वेस्टमेंट बैंकर की जॉब एक अच्छा करियर हो सकती है। इन्वेस्टमेंट बैंकिंग में करियर बनाने के लिए आपके पास बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन या फाइनेंस में बैचलर्स डिग्री होना जरूरी है। अधिकतर कंपनियां उन छात्रों को महत्ता देती है, जो मास्टर डिग्री भी कर चुके हैं। आप इसके बारे में अधिक जानना चाहते हैं कि investment banker kaise bane तो हमारा यह ब्लॉग पूरा जरूर पढ़ें।

इन्वेस्टमेंट बैंकर कौन होते हैं?

किसी भी सरकारी तथा प्राइवेट कंपनियों में इन्वेस्टमेंट बैंकर की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। इन्हें कंपनी से जुड़े वित्तीय लेनदेन, परीक्षण विकास, फंड ऋण रोक, आर्थिक संशोधन कंपनी पूंजी संबंधी समस्याओं को हल करना होता है। इन्वेस्टमेंट बैंकर को ग्राहक को लोन दिलाने से लेकर निवेश करने तक की प्रक्रिया में सहयोग करना पड़ता है। इन्वेस्टमेंट बैंकर को अपनी टीम के साथ मिलकर कंपनी की फाइनेंसियल प्रोफाइल भी बनानी पड़ती है। यह कंपनी के वित्तीय मामलों को लेकर ज्यादा से ज्यादा लोन फंड के लिए क्लाइंट के साथ मीटिंग भी करते है, इन सब से अलावा इनकी कुछ और भी ज़िम्मेदारी होती है जिन पर इन्हे ध्यान देना पड़ता है।

Check Out : सबसे ज़्यादा तनख्वाह वाली सरकारी नौकरियाँ

इन्वेस्टमेंट बैंकर क्या करते हैं?

इन्वेस्टमेंट बैंकर की मुख्य जिम्मेदारी अपने ग्राहकों को निवेश पर सूचित करना और उन निवेशों को बढ़ावा देने में मदद करना है। उनकी मुख्य भूमिका ब्रोकर्स और एडवाइजर के बीच एक ब्रिज के रूप में कार्य करना है, जिससे ग्राहकों की जरूरतों के समाधान का आश्वासन दिया जा सके। इन्वेस्टमेंट बैंकर की कुछ प्रमुख भूमिकाएं और जिम्मेदारियां नीचे दी गई है  

  • ग्राहकों के लिए लेनदेन को बनाए रखने के लिए सलाहकार और व्यापार प्रबंधकों के बीच संपर्क के रूप में कार्य करता है।
  • अनुकूल नियमों और शर्तों पर बातचीत करने के लिए लोन स्ट्रक्चर, डील और कॉर्पोरेट फाइनेंस ग्रुप के साथ इंटरफ़ेस को जोड़ना सुनिश्चित करता है।
  • इक्विटी और फिक्स्ड इनकम प्राप्त करने के लिए इक्विटी कैपिटल मार्केट या डेब्ट कैपिटल मार्केट का विश्लेषण करके बाजार की स्थितियों का रिकॉर्ड रखना।
  • कैपिटल मार्केट में न्यू डील्स स्थापित करने के लिए इन्वेस्टमेंट बैंकर अलायन्स और अधिग्रहण में काम करते हैं।
  • पूंजी निर्माण, मूल्यांकन और जोखिम प्रबंधन में एडवाइजर के रूप में काम करके एसेट्स, सिक्योरिटीज और कर्रेंसी में ट्रांज़ैक्शन को मैनेज करने का काम करता है।
  • इंस्टीटूशनल इन्वेस्टर्स को विशिष्ट बांड्स और सिक्योरिटीज के बारे में जानकारी देना।

इन्वेस्टमेंट बैंकर के कार्य

इन्वेस्टमेंट के क्षेत्र में ज्यादातर नंबरों का खेल होता है, इसलिए एक अच्छा फाइनेंसियल एडवाइजर बनने के लिए आपको मैथमेटिक्स की अच्छी समझ होनी चाहिए। एक अच्छा फाइनेंसियल एडवाइजर वही होता है, जो बाजार के अनुसार अपने ग्राहकों को इन्वेस्ट करने की सही सलाह देता है, जिससे उन्हें ज्यादा से ज्यादा रिटर्न मिल सके। यह अपने ग्राहकों को अलग-अलग प्रकार की सर्विस जैसे कि इन्वेस्टमेंट मैनेजमेंट, इनकम टैक्स डिप्रेशन, प्रिपरेशन रियल इन्वेस्टमेंट प्लानिंग के रूप में अपनी सेवाएं देते हैं।

अगर आपका बैंकिंग के क्षेत्र में अच्छा इंटरेस्ट है, तो आप इस क्षेत्र में अपने कदम बढ़ा सकते हैं। फाइनेंसियल एडवाइजर अपने ग्राहकों को सही जगह पर इन्वेस्ट करने की सलाह देते हैं। वह अपने ग्राहकों को इन्वेस्टमेंट लाइफ इन्स्योरेन्स सेविंग प्लान इत्यादि के बारे में समय के अनुसार सही सलाह देते है। जिसकी वजह से ग्राहकों को ज्यादा से ज्यादा मुनाफा हो ।

  • वैल्यूएशन एनालिसिस
  • कैपिटल स्टॉकर्स
  • एनालाइजिंग ट्रांजेक्शन
  • क्रिएटिंग फाइनेंसियल मॉडल
  • प्रेपरिंग प्रेजेंटेशन फॉर क्लाइंट मीटिंग
  • कैपिटल मार्केट एक्टिविटीज

इन्वेस्टमेंट बैंकर बनने के लिए योग्यता

इन्वेस्टमेंट बैंकर बनने के लिए सामान्य योग्यता नीचे दी गई है:

  • इस क्षेत्र में अच्छा करियर बनाने के लिए आप अपनी 12वीं की परीक्षा गणित या कॉमर्स विषय के साथ पास करें।
  • एक सफल इन्वेस्टमेंट बैंकर बनने के लिए फाइनेंस, इकोनॉमिक्स या बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन से ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त करें।
  • भारत में इन्वेस्टमेंट बैंकर बनने के लिए बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन में मास्टर डिग्री, एमबीए, फाइनेंस, सीए, कॉस्ट एंड मैनेजमेंट अकाउंटेंसी , कंपनी सेक्रेटरी या सीएफए की डिग्री होना अनिवार्य है।
  • विदेश की अधिकतर यूनिवर्सिटीज बैचलर्स के लिए SAT और मास्टर्स कोर्सेज के लिए GMAT/GRE स्कोर की मांग करते हैं।
  • विदेश की यूनिवर्सिटीज में एडमिशन के लिए IELTS या TOEFL टेस्ट स्कोर, अंग्रेजी प्रोफिशिएंसी के प्रमाण के रूप में ज़रूरी होते हैं। जिसमे IELTS स्कोर 7 या उससे अधिक और TOEFL स्कोर 100 या उससे अधिक होना चाहिए।
  • एमबीए या कुछ अन्य कोर्सेज के लिए यूनिवर्सिटीज 2 से 3 साल के कार्य अनुभव की भी मांग करती है।
  • विदेश यूनिवर्सिटीज में पढ़ने के लिए SOP, LOR, सीवी/रिज्यूमे और पोर्टफोलियो भी जमा करने की जरूरत होती है।

इन्वेस्टमेंट बैंकर बनने के लिए कोर्स

इन्वेस्टमेंट बैंकर बनने के लिए किये जाने वाले कोर्स की जानकारी नीचे दी गई है:

  • MBA in Finance
  • MS in Finance
  • Master’s Degree in Financial Engineering
  • Post Graduate Diploma in Banking and Finance
  • Advance Diploma in Banking and Finance
  • Masters in Commodity Finance
  • Chartered Accountant
  • MIB ( Master of International Business )
  • PG Diploma in Global Investment
  • Diploma in Investment Banking and Equity Research
  • UG Program in Portfolio Management and Investment Banking

इन्वेस्टमेंट बैंकर कैसे बनें?

इन्वेस्टमेंट बैंकर कैसे बनें इसकी प्रक्रिया नीचे दी गई है:

  • स्टेप 1: इन्वेस्टमेंट बैंकर बनने के लिए सबसे पहले कॉमर्स स्ट्रीम से अपनी 12वीं की पढ़ाई पूरी करें।
  • स्टेप 2: फाइनेंस, इकोनॉमिक्स या बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन से ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त करें।
  • स्टेप 3: इन्वेस्टमेंट बैंकर बनने के लिए तीसरी स्टेप में बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन में मास्टर डिग्री, एमबीए, फाइनेंस, सीए, कॉस्ट एंड मैनेजमेंट अकाउंटेंसी , कंपनी सेक्रेटरी या सीएफए की डिग्री प्राप्त करें।
  • स्टेप 4: किसी कम्पनी में इन्वेस्टमेंट बैंकर की पोस्ट के लिए जॉब के लिए करें और कार्य अनुभव प्राप्त करें।

स्किल्स

आपकी मैथमेटिक्स में अच्छी पकड़ होना जरूरी है, ताकि निवेश से जुड़ी मैथमेटिकल कैलकुलेशन के लाभ के बारे में आसानी से समझ सके और अपनी बात दुसरो को समझा सके। इन्वेस्टमेंट कंसलटेंट बनने के लिए इंटर पर्सनल कम्युनिकेशन स्किल होना बेहद जरूरी है, उन्हें ऑफिस में कई तरह के लोगों से बातचीत कर डाटा जुटाना पड़ता है इसलिए उन्हें बाहरी व्यवहार में निपुण और प्रभावी होना चाहिए।

  • एक अच्छा इन्वेस्टमेंट कंसलटेंट बनने के लिए आपके पास अच्छी कम्युनिकेशन स्किल होना बेहद जरूरी है, ताकि आप दूसरों की बातें अच्छे से समझ सके और अपनी बात उन तक सही तरीके से पंहुचा सके।
  • इन्वेस्टमेंट कंसलटेंट बनने का सपना देखने वालों को बिज़नेस और सेल्स का अच्छा ज्ञान होना चाहिए ताकि वे अपने क्लाइंट को आर्थिक लक्ष्यों का ज्ञान आसानी से समझा सके।
  • इस क्षेत्र में बहुत आगे तक जाने के लिए आपको मार्केट की नॉलेज होनी भी बहुत जरूरी है , क्योंकि मार्केट में समय समय पर उतार चढ़ाव आते रहते है। जिसकी वजह से आपको पता रहता है की अब इन्वेस्ट करने के लिए कौन सी जगह सबसे अच्छे रहेगी।

टॉप विदेशी यूनिवर्सिटीज

इन्वेस्टमेंट बैंकिंग कोर्सेज के लिए विदेश की टॉप यूनिवर्सिटीज की लिस्ट इस प्रकार है:

  1. पेनसिल्वेनिया यूनिवर्सिटी
  2. न्यूयॉर्क विश्वविद्यालय
  3. ऐन अर्बोरो में मिशिगन विश्वविद्यालय
  4. हार्वर्ड विश्वविद्यालय
  5. कॉर्नेल विश्वविद्यालय
  6. प्रिंसटन विश्वविद्यालय
  7. कोलम्बिया विश्वविद्यालय
  8. बोस्टन विश्वविद्यालय
  9. सिंगापुर का राष्ट्रीय विश्वविद्यालय
  10. लंदन बिजनेस स्कूल

टॉप भारतीय यूनिवर्सिटीज

इन्वेस्टमेंट बैंकिंग कोर्सेज के लिए टॉप भारतीय यूनिवर्सिटीज की लिस्ट इस प्रकार है:

  1. भारतीय प्रबंधन संस्थान, बैंगलोर
  2.  इंडियन कॉलेज ऑफ बिजनेस, हैदराबाद
  3.  भारथिअर विश्वविद्यालय, कोयंबटूर
  4.  भारतीय प्रबंधन संस्थान अहमदाबाद, अहमदाबाद
  5.  भारतीय प्रबंधन संस्थान, कोझीकोड
  6. माइका, अहमदाबाद
  7. स्कूल ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज, दिल्ली
  8. शहीद सुखदेव कॉलेज ऑफ बिजनेस स्टडीज, दिल्ली विश्वविद्यालय
  9. केशव महाविद्यालय
  10. दिल्ली विश्वविद्यालय
  11. लाला लाजपत राय कॉलेज ऑफ कम्युनिकेशन एंड इकोनॉमिक्स, मुंबई

आवेदन प्रक्रिया 

विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है–

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप AI Course Finder की सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • एक्सपर्ट्स से कॉन्टैक्ट के पश्चात वे कॉमन डैशबोर्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से कई विश्वविद्यालयों की आपकी आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेजों जैसे SOP, निबंध (essay), सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टेस्ट स्कोर जैसे IELTS, TOEFL, SAT, ACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTS, TOEFL, PTE, GMAT, GRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप Leverage Live कक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीजा और छात्रवृत्ति / छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे । 
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लेटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है। 

भारत के विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया, इस प्रकार है–

  1. सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  2. यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूजर नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  3. फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  4. अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  5. इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  6. यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

आवश्यक दस्तावेज 

कुछ जरूरी दस्तावेजों की लिस्ट नीचे दी गई हैं–

जॉब प्रोफाइल

कुछ टॉप जॉब प्रोफ़ाइल नीचे दी गई है:

  • फाइनेंसियल एनालिस्ट
  • बैंक मैनेजर
  • रिसर्च एनालिस्ट
  • मुख्य वित्तीय अधिकारी
  • बिज़नेस एनालिस्ट
  • इक्विटी रिसर्च एनालिस्ट
  • अकाउंट मैनेजर
  • रिलेशनशिप मैनेजर

इंवेस्टमेंट बैंकर सैलरी

इस क्षेत्र में शुरुआती समय में 35 से 40 हजार प्रति महीने सैलरी दी जाती है, जबकि कार्य अनुभव बढ़ जाने के बाद  आप 60 से 70 हजार रुपए प्रति महीने कमा सकते है। इस क्षेत्र में अच्छा अनुभव प्राप्त करने वाले को मल्टी नेशनल कंपनी में इंवेस्टमेंट बैंकर की सैलरी 1 लाख से ज्यादा की सैलरी पैकेज मिल सकता है।

FAQ

इंवेस्टमेंट बैंकर कैसे बनें?

इन्वेस्टमेंट बैंकिंग में कैरियर बनाने के लिए आपके पास बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन या फिर फाइनेंस में बैचलर डिग्री होना जरूरी होता है। ज्यदातर कंपनियां उन स्टूडेंट्स को वरीयता देती हैं, जो इस सेक्टर में मास्टर डिग्री कर चुके होते हैं। हालांकि बैचलर डिग्री बालों के लिए भी काफी ज्यादा रोजगार की संभावनाएं हैं।

इंवेस्टमेंट बैंकर की सैलरी कितनी होती है?

एक इंवेस्टमेंट बैंकर की शुरुआती समय में 35 से 40 हजार प्रति महीने सैलरी होती है, जो कार्य अनुभव के साथ बढ़कर 60 से 70 हजार रुपए प्रति महीने हो सकती है।

इंवेस्टमेंट बैंकर कौन होते हैं?

इंवेस्टमेंट बैंकर कंपनी से जुड़े वित्तीय लेनदेन, परीक्षण विकास, फंड ऋण रोक, आर्थिक संशोधन कंपनी पूंजी संबंधी समस्याओं को हल करना होता है। इन्वेस्टमेंट बैंकर को ग्राहक को लोन दिलाने से लेकर निवेश करने तक की प्रक्रिया में सहयोग करना पड़ता है।

आशा करते हैं कि आपको investment banker kaise bane का ब्लॉग अच्छा लगा होगा। अगर आप भी विदेश में इन्वेस्टमेंट बैंकर बनने के लिए पढ़ाई करना चाहते हैं, तो हमारे Leverage Edu एक्सपर्ट को 1800 572 000 पर कॉल कर आज ही 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करें। 

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert