12th के बाद साइंटिस्ट कैसे बनें?

1 minute read
204 views
विदेश में पढ़ने से बढ़ती है एशिया लिटरेसी
Freepik

हमारे आस-पास जो कुछ भी होता है उसके पीछे साइंटिस्ट कारण ढूंढते हैं, वे कैसे और क्यों इन सभी सवालों के जवाब दे देते हैं – पृथ्वी अपनी धुरी पर कैसे घूमती है? तितली का जन्म कैसे होता है? हम मंगल और उससे आगे के लिए एक अंतरिक्ष यान कैसे भेजते हैं? आकाश नीला क्यों है? ये सभी उत्तर साइंटिस्टो के वर्षों के अध्ययन और शोध से आते हैं, पर क्या आप जानते हैं 12th के बाद से ही वे निरन्तर अध्ययन करते हैं जिससे वे आगे चलकर वैज्ञानिक बन पाते हैं, दिलचस्प है ना। क्या आप जानना चाहते हैं कि 12th ke baad Scientist kaise bane तो आइए इस ब्लॉग में हम आपको पूरी जानकारी दें।

प्रॉफेशन साइंटिस्ट
योग्यता 10+2
प्रवेश परीक्षा SAT, IELTS/TOEFL(विदेश में)
प्रवेश प्रक्रिया प्रवेश परीक्षा / योग्यता-आधारित
औसत वार्षिक आय 6-8 लाख
कोर्स के बाद रोजगार के अवसर अनुसंधान वैज्ञानिक
वैज्ञानिकप्रयोगशाला
-तकनीशिय
मनोवैज्ञानिक
-कृषि वैज्ञानिक

साइंटिस्ट कौन होता है?

साइंटिस्ट यानी वैज्ञानिक इसका अर्थ होता है कि एक ऐसा व्यक्ति जो विज्ञान का अध्ययन कर रहा है तथा उसे प्राकृतिक और भौतिक विज्ञान में किसी एक या एक से अधिक विषयों का कुशल ज्ञान है। यदि कोई भी व्यक्ति जो अपने ज्ञान के अर्जन करने के लिए निरंतर और एक सही पद्दति के अनुसार लगा हुआ है, तो उसे हम साइंटिस्ट कहेंगे। विलियम वहीवेल द्वारा वैज्ञानिक शब्द दिया गया था। साइंटिस्ट बनने के लिए कोई भी प्रकार की आयु सीमा निर्धारित नहीं की गई है। साइंटिस्ट का मतलब ही है कि नई-नई चीजों का खोज करना या उन पर रिसर्च करना, विज्ञान के क्षेत्र में नई नई चीजें जानकारी इकट्ठा करना। विज्ञान का एक बहुत बड़ा क्षेत्र है और इसमें विभिन्न प्रकार के विभाग है। उन सभी विभाग में अलग-अलग साइंटिस्ट अपनी और से रिसर्च करते हैं और नई-नई चीजों की खोज करते हैं।

साइंटिस्ट बनने के लिए स्किल्स

साइंटिस्ट बनने के लिए नीचे कुछ आवश्यक स्किल्स दी गई है:

  • विज्ञान में रुचि- विज्ञान में रुचि होने से अपने लक्ष्य को और सपनों को पूरा आसानी से किया जा सकता है।
  • प्रैक्टिकल नॉलेज- किताबी ज्ञान के साथ-साथ प्रैक्टिकल नॉलेज होना बहुत ही जरूरी है। वैज्ञानिक बनने के लिए अलग-अलग और नई-नई चीजों का संशोधन करना होता है, उसकी खोज करनी होती है। अगर आपने प्रैक्टिकल नॉलेज होगा तो आप नए-नए प्रयोग कर सकते हैं।
  • लगन- सिर्फ वैज्ञानिकों में ही नहीं परंतु जीवन में किसी भी लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए उसमें लगन होना बहुत ही जरूरी है। अपने लक्ष्य को पाने के लिए, सभी तरह के प्रयास करें। वैज्ञानिक बनने के लिए अपने अंदर एक जुनून होना बहुत ही अनिवार्य है, लक्ष्य को पाने के लिए तब तक मेहनत करें जब तक अपनी मंजिल को नहीं पा लेते।
  • भाषा- अपनी मातृभाषा के अलावा अन्य भाषा में भी ज्ञान होना उतना ही जरूरी है। अगर आपके पास अन्य भाषाओं का ज्ञान होगा तो आप दूसरे देश के साइंटिस्ट के बारे में भी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं साथ ही आपको उसके बारे में जानने में कठिनाइयां नहीं होगी। आप उसके बारे में अच्छे से और आसानी से समझ सकते हैं।
  • कारण खोजें- किसी भी चीज ,वस्तु, मशीन के पीछे का कारण खोजें। उदाहरण के लिए मान लीजिए आपके सामने पंखा घूम रहा है। इसके पीछे का कारण खोजें , पता लगाने की कोशिश करें कि पंखा कैसे घूम रहा है। इसके बारे में जानकारी प्राप्त करें शायद आप कुछ ऐसी खोज कर ले जिसके बारे में आज तक किसी ने की ना हो।
  • रिसर्च को पढ़ें- हमारे देश में कहीं सारे देश-विदेश के महान वैज्ञानिक रिसर्च करके गए हैं। उनके रिसर्च के बारे में पढ़ें, रिसर्च के बारे में पढ़ने से आपको लक्ष्य को प्राप्त करने में काफी ज्यादा मदद होगी साथी आपको नई जानकारी भी मिलेगी।

दसवीं क्लास के बाद क्या करें?

साइंटिस्ट बनने के लिए दसवीं क्लास के बाद विज्ञान विषय को चुनें। इसमें भौतिकी विज्ञान, रसायन विज्ञान, गणित और भौतिकी विज्ञान, रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान के दो चयन होता है। इन सभी विषयों को आप को मजबूत करना पड़ेगा और साथ ही इनमें बहुत ही अच्छी नॉलेज रखनी पड़ेगी।

12th ke baad Scientist kaise bane?

  • स्टेप 1: 10th के बाद साइंस सब्जेक्ट लें, अगर आपको वैज्ञानिक बनना हैं तो आपको इसके लिए पहला कदम यही उठाना होगा।
  • स्टेप 2: 12th में जीव विज्ञान भौतिकी विज्ञान, रसायन विज्ञान, गणित जैसे विषयों का चयन करना होगातथा इसमें आपको कम से कम 60% अंक प्राप्त करने होंगे।
  • स्टेप 3: 12th के बाद आपको ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल करनी होती है, जिसमें आप Msc, M Phil, PhD, Engineering कर सकते हैं।
  • स्टेप 4:  ग्रेजुएशन की डिग्री के लिए आप भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र इसरो से 4 साल का बी टेक का कोर्स व अन्य कोर्स में आवदेन कर सकते हैं, इसके अलावा अगर आपने M.Tech कर रखा है जिसमें आपका बैकग्राउंड फिजिक्स और मैथ है तो आप सीधे इस में काम करने के लिए अप्लाई भी कर सकते है।
  • इसरो,आईआईटी, एनआईटी और दूसरे नामी सरकारी और प्राइवेट संस्थानों से भी आप ग्रैजुएट इंजीनियर में आवदेन कर सकते हैं इसीलिए बेहतर यही होगा कि डिग्री पूरी करने के लिए आप ऐसे कोर्स करें, जो आपको इस फील्ड के लिए सबसे ज्यादा फायदे दें सकें।

साइंटिस्ट बनने के लिए कोर्स

साइंटिस्ट बनने के लिए आप नीचे दिए कोर्सेस में डिग्री हासिल कर सकते हैं:

  • एयरोस्पेस इंजीनियरिंग
  • रेडियो इंजीनियरिंग
  • खगोल विज्ञान और खगोल भौतिक
  • वायुमंडलीय विज्ञान
  • रसायन विज्ञान
  • जलवायु विज्ञान और जलवायु विज्ञान
  • केमिकल इंजीनियरिंग
  • इंजीनियरिंग फिजिक्स
  • कम्प्यूटेशनल भौतिकी
  • पृथ्वी विज्ञान
  • पर्यावर्णीय विज्ञान
  • इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग

इन सभी कोर्सेस में आप डिग्री ले सकते हैं तथा मास्टर डिग्री करके आप अपने बेसिक को मजबूत कर सकते हैं और अपने नॉलेज को ज्यादा बढ़ा सकते हैं। मास्टर डिग्री प्राप्त करने के बाद आप पीएचडी के लिए भी आवेदन कर सकते हैं फिर विभिन्न अनुसंधान संस्थान, लैब्स के लिए भी अप्लाई कर सकते हैं।

आप AI Course Finder की मदद से अपने पसंद के कोर्सेज और उससे सम्बंधित टॉप यूनिवर्सिटी का चयन कर सकते हैं।

साइंटिस्ट बनने के लिए विदेश के प्रमुख विश्वविद्यालय

साइंटिस्ट बनने के लिए विदेश की टॉप यूनिवर्सिटीज की लिस्ट नीचे दी गई है–

विदेश में रहने का खर्च अपने रहन-सहन के अनुसार जानने के लिए आप Cost of Living Calculator का उपयोग कर सकते हैं।

साइंटिस्ट बनने के लिए प्रमुख भारतीय यूनिवर्सिटी 

भारत में साइंटिस्ट बनने के लिए के लिए कुछ टॉप यूनिवर्सिटीज की सूची नीचे दी गई हैं–

  • भारतीय विज्ञान संस्थान, बैंगलोर
  • भारतीय अंतरिक्ष विज्ञान और प्रौद्योगिकी संस्थान, तिरुवनंतपुरम
  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, बॉम्बे
  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, कानपुर
  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, मद्रास
  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, खड़गपुर
  • भारतीय खगोल भौतिकी संस्थान, बैंगलोर
  • इंटर-यूनिवर्सिटी सेंटर फॉर एस्ट्रोनॉमी एंड एस्ट्रोफिजिक्स, पुणे
  • रेडियो खगोल विज्ञान के लिए राष्ट्रीय केंद्र, पुणे
  • भारतीय अंतरिक्ष विज्ञान और प्रौद्योगिकी संस्थान, केरल

आप UniConnect के जरिए विश्व के पहले और सबसे बड़े ऑनलाइन विश्वविद्यालय मेले का हिस्सा बनने का मौका पा सकते हैं, जहाँ आप अपनी पसंद के विश्वविद्यालय के प्रतिनिधि से सीधा संपर्क कर सकेंगे।

साइंटिस्ट्स बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता

साइंटिस्ट बनने के लिए आपको नीचे दी गई शैक्षणिक योग्यता को पूरा करना होगा :

  • साइंटिस्ट बनने के लिए दसवीं के बाद जीव विज्ञान भौतिकी विज्ञान, रसायन विज्ञान, गणित विषयों का चयन करना होता है, तथा इसमें आपको कम से कम 60% अंक प्राप्त करने होते हैं।
  • उसके बाद ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल करनी होती है, जिसमें आप Msc, M Phil, PhD, भी कर सकते हैं।
  • भारत में साइंटिस्ट बनने के लिए लिए कुछ कॉलेज अपनी प्रवेश परीक्षाएं आयोजित करते हैं। (जैसे JEE, GATE और IISER आदि) जिसके आधार पर छात्रों का चयन किया जाता है। विदेश के कुछ यूनिवर्सिटी के लिए ACT, SAT आदि के स्कोर जरूरी होते हैं।
  • विदेश में ऊपर दी गई रिक्वायरमेंट्स के साथ IELTS या TOEFL टेस्ट स्कोर ज़रूरी होते हैं।
  • साथ ही विदेशी यूनिवर्सिटीों में आवेदन के लिए SOP, LOR और CV/Resume तथा Portfolio की भी ज़रूरत होती है।

क्या आप IELTS/TOEFL/SAT/GRE में अच्छे अंक प्राप्त करना चाहते हैं? आज ही इन एग्जाम्स की बेहतरीन तैयारी के लिए Leverage Live पर रजिस्टर करें और अच्छे अंक प्राप्त करें।

आवेदन प्रक्रिया

भारतीय यूनिवर्सिटीज द्वारा आवेदन प्रक्रिया नीचे मौजूद है-

  • सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  • यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूजर नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  • फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  • अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  • इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  • यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

विदेशी विश्वविद्यालय के लिए आवेदन प्रक्रिया

कैंडिडेट को आवदेन करने के लिए नीचे दी गई प्रक्रिया को पूरा करना होगा:

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप हमारे AI Course Finder की सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • हमारे एक्सपर्ट्स से कॉन्टैक्ट के पश्चात वे हमारे कॉमन डैशबोर्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से कई विश्वविद्यालयों की आपकी आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेजों जैसे SOP, निबंध (essay), सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टेस्ट स्कोर जैसे IELTS, TOEFL, SAT, ACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTS, TOEFL, PTE, GMAT, GRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप हमारी Leverage Live कक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीजा और छात्रवृत्ति / छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे । 
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लेटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है। 

आवदेन प्रक्रिया से सम्बन्धित जानकारी और मदद के लिए Leverage Edu के एक्सपर्ट्स से 1800572000 पर संपर्क करें

आवश्यक दस्तावेज 

विदेशी विश्वविद्यालय में एडमिशन लेने के लिए नीचे दिए गए डॉक्यूमेंट होने आवश्यक है:

छात्र वीजा पाने के लिए भी हमारे Leverage Edu  विशेषज्ञ आपकी हर सम्भव मदद करेंगे।

साइंटिस्ट बनने के लिए परीक्षा

साइंटिस्ट बनने के लिए आपको भारत में, छात्रों को प्रवेश परीक्षा के माध्यम से प्रवेश दिया जाता है जो राष्ट्रीय, राज्य या विश्वविद्यालय स्तर पर आयोजित की जाती हैं। कुछ कॉलेज योग्यता परीक्षा की योग्यता सूची के आधार पर भी प्रवेश देते हैं। तथा प्रवेश के लिए शॉर्टलिस्ट होने के बाद, कुछ कॉलेज अंतिम प्रवेश के लिए समूह चर्चा और इंटरव्यू जैसे दौर भी आयोजित करते हैं। आप अपनी पसंद के अनुसार विभिन्न प्रवेश परीक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) में प्रवेश के लिए, आपको जेईई मेन और जेईई एडवांस परीक्षा को उत्तीर्ण करना होगा।

नीचे प्रवेश के लिए विभिन्न प्रवेश परीक्षाओं की एक सूची दी गई है :

  • JEE (Joint Entrance Exam) Main
  • JEE  Advanced
  • GATE (Graduate Aptitude Test in Engineering)
  • IISER Aptitude Test

ध्यान दें: विदेश में साइंटिस्ट कोर्स के लिए एंट्रेंस टेस्ट की आवश्यकता नहीं होती है।

विश्वविद्यालयों के एंट्रेंस एग्जाम की पूर्ण प्रकिया को समझने के लिए आप हमारे Leverage Edu के एक्सपर्ट्स से निःशुल्क 1800572000 पर संपर्क कर सकते हैं।

साइंटिस्ट के लिए करियर विकल्प (जॉब प्रोफाइल्स)

सरकारी और निजी संगठनों दोनों में वैज्ञानिकों के लिए नौकरी के भरपूर अवसर हैं। एक शोध डिग्री के साथ, आप भारत के साथ-साथ विदेशों में भी नौकरी पा सकते हैं। नीचे कुछ जॉब प्रोफाइल दी गई है :

  • पुरातत्वविद
  • खगोलविद
  • जीव वैज्ञानिक
  • पृथ्वी वैज्ञानिक
  • खाद्य वैज्ञानिक
  • सैन्य वैज्ञानिक
  • अर्थशास्त्रियों
  • संचार वैज्ञानिक
  • क्रिमिनोलॉजिस्ट
  • तंत्रिका वैज्ञानिक
  • कृषिविद
  • भूवैज्ञानिकों
  • कंप्यूटर वैज्ञानिक

साइंटिस्ट की सैलरी क्या होती है?

काफी लोगों को यह जानने की की उत्सुकता होती है कि इसरो में काम कर रहे वैज्ञानिकों की सैलरी कितनी होती है, तो नीचे कुछ साइंटिस्ट की सैलरी Payscale के अनुसार दी गई हैं :

रोजगार के अवसर INR में वार्षिक वेतन
रिसर्च साइंटिस्ट 2-4 लाख
फॉरेंसिक साइंटिस्ट 3-5 लाख
एनालिटिकल केमिस्ट 3-6 लाख
साइंस राइटर 2-5 लाख
टॉक्सिकोलॉजिस्ट 3-6 लाख
क्लिनिकल साइंटिस्ट 2-5 लाख
साइंटिफिक लेबोरटरी टेक्नीशियन 3-5 लाख
फिजिसिस्ट 3-6 लाख
बॉटनिस्ट 3.5-7 लाख
माइक्रोबायोलॉजिस्ट 4.5-8 लाख
साइकोलोजिस्ट 2-4 लाख
मैथेमैटिशियन 3-6 लाख
एग्रीकल्चरल साइंटिस्ट 2-7 लाख

इसरो साइंटिस्ट बनने के लिए क्या करें?

इसरो भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र संगठन है, इसका हेड क्वार्टर कर्नाटक के बेंगलुरु में है। हमारे देश के जितने भी स्पेस के प्रोग्राम और अतिरिक्त स्थलीय अनुसंधान होते हैं उन सभी के जिम्मेदार इसरो होता है। एक संगठन को चलाने के लिए उन्हें अच्छे दिमाग वाले वैज्ञानिक और इंजीनियरिंग की जरूरत होती है। यदि आप इसरो साइंटिस्ट बनना चाहते हैं तो आपको इसरो की परीक्षा पास करनी होगी।

इसरो साइंटिस्ट की परीक्षा कैसे पास करें व उसका पूरा प्रोसेस

इसरो साइंटिस्ट की परीक्षा कैसे पास करें व उसका पूरा प्रोसेस

  • CRB (ISRO Centralised Recruitment Bangalore) द्वारा आयोजित परीक्षा में बैठना होगा और एग्जाम पास करनी होगी। यह परीक्षा आप कॉलेज की पढ़ाई पूरी करने के बाद दे सकते हैं। 
  • यदि छात्र इंजीनियरिंग से नाता रखता है उसे एग्जाम में उसी अनुसार सवाल पूछे जाते हैं। छात्र को अपने इंजीनियरिंग करियर में कम से कम 60% या उससे अधिक नंबर लाने अनिवार्य है।
  • यदि उम्मीदवार  M Tech की डिग्री कर रहा है और वह छात्रा सीधा वैज्ञानिक जॉब के लिए अप्लाई कर सकता है।

सिलेक्शन के लिए दो प्रोसेस होते हैं:

  • रिटन एग्जाम 
  • इंटरव्यू 

यह दोनों प्रोसेस क्लियर करने के बाद, इसरो में जूनियर रिसर्च फेलो, वैज्ञानिक या इंजीनियरिंग के तौर पर अपॉइंटमेंट दिया जाता है। इसके अंदर वैज्ञानिक अलग-अलग रूप से शोध करते हैं ,इसके अंदर स्क्रीनिंग प्रोसेस बहुत कठिन होती है। साइंटिस्ट बनने के लिए उम्मीदवार के अंदर ज्ञान, प्रोजेक्ट टेबल माइंड, बेस्ट नॉलेज और शांत स्वभाव होना बहुत ही आवश्यक है इसलिए पढ़ाई में भरपूर ध्यान दें, प्रैक्टिकल की तरफ ज्यादा ध्यान दें तथा विज्ञान में लगाव रखेंगे तो आप इसरो की परीक्षा आसानी से पास कर लेंगे।

आप Leverage Finance की मदद से विदेश में पढ़ाई करने के लिए अपने कोर्स और विश्वविद्यालय के अनुसार एजुकेशन लोन भी पा सकते हैं।

FAQs

क्या वैज्ञानिक एक अच्छा करियर विकल्प है?

यदि आप वास्तव में अपने अध्ययन के क्षेत्र में रुचि रखते हैं और आपके पास सही कौशल है, तो निश्चित रूप से, हाँ।

नासा में साइंटिस्ट कैसे बने?

स्पेस साइंस में कैरियर बनाने के लिए बीटेक या बीएससी इन स्पेस साइंस कोर्स करने की जरूरत पड़ेगी। इसके बाद ही आप स्पेस साइंटिस्ट के तौर पर इस फील्ड में कैरियर बना सकते हैं। स्पेस कोर्स के लिए स्टूडेंट्स को पीसीएम सब्जेक्ट से 12वीं पास होना जरूरी होता है।

मैं डेटा साइंटिस्ट कैसे बन सकता हूँ?

डेटा साइंटिस्ट बनने के लिए आपके पास कोडिंग स्किल्स, स्टैटिस्टिकल स्किल्स, मशीन लर्निंग की समझ आदि के साथ मैथमेटिकल स्टैटिस्टिक्स में M.Sc डिग्री होनी चाहिए।

12th ke baad Scientist kaise bane ?

स्टेप 1: 10th के बाद साइंस सब्जेक्ट लें, अगर आपको वैज्ञानिक बनना हैं तो आपको इसके लिए पहला कदम यही उठाना होगा।
स्टेप 2: 12th में जीव विज्ञान भौतिकी विज्ञान, रसायन विज्ञान, गणित जैसे विषयों का चयन करना होगातथा इसमें आपको कम से कम 60% अंक प्राप्त करने होंगे।
स्टेप 3: 12th के बाद आपको ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल करनी होती है, जिसमें आप Msc, M Phil, PhD, Engineering कर सकते हैं।
स्टेप 4:  ग्रेजुएशन की डिग्री के लिए आप भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र इसरो से 4 साल का बी टेक का कोर्स व अन्य कोर्स में आवदेन कर सकते हैं, इसके अलावा अगर आपने M.Tech कर रखा है जिसमें आपका बैकग्राउंड फिजिक्स और मैथ है तो आप सीधे इस में काम करने के लिए अप्लाई भी कर सकते है।

हमें उम्मीद है कि इस ब्लॉग से आपको 12th ke baad scientist kaise bane की पूरी जानकारी मिल गई होगी लेकिन यदि आपके पास  साइंटिस्ट कैसे बने से संबंधित कोई अन्य प्रश्न हैं, तो आज ही 1800 572 000 पर कॉल करके हमारे Leverage Edu के एक्सपर्ट्स के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करें।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert