कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियर कैसे बनें?

1 minute read
370 views
Leverage-Edu-Default-Blog

जैसे कि हम सब जानते हैं कि कंप्यूटर एक मशीन है और उसमें जो पार्ट्स होते हैं जैसे मॉनिटर, कीबोर्ड, हार्ड डिस्क, सर्किट बोर्ड्स इन सभी को हार्डवेयर कहते हैं। जब हमारे कंप्यूटर्स के किसी पार्ट में कोई खराबी हो जाती है तो हम ठीक करवाने के लिए कंप्यूटर इंजीनियर के पास जाते हैं। कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियरिंग का कोर्स ऐसा कोर्स है जो छात्रों को बहुत लुभाता है। इस कोर्स में करियर स्कोप भी अधिक है और आकर्षक है। अतः अगर आप भी इस कोर्स को करने के बारे में सोच रहे हैं तो हम आपको इसके बारे में पूरी जानकारी आज देंगे। कंप्यूटर हार्डवेयर कोर्स करने के बाद ही इस क्षेत्र में करियर बनाया जा सकता हैं। 

टॉपिक कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियर
औसत सैलरी 20-50 हजार महीना
औसत शुल्क -सर्टिफिकेट कोर्स – 10-50 हजार
-डिप्लोमा और पीजी डिप्लोमा: 5-30 हजार
-यूजी: 1-3 लाख
-पीजी: 1-5 लाख 
ऑनलाइन कोर्स होता है।
टॉप जॉब  सिस्टम इंजीनियर, डिजाइन इंजीनियर, प्रोजेक्ट इंजीनियर और फील्ड सर्विस इंजीनियर।  

क्यों बने कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियर?

कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियर बनना किसी भी छात्र को क्यों चुनना चाहिए इससे जुड़ी कुछ बातें नीचे दी गई हैं-

  • कंप्यूटर हार्डवेयर, कंप्यूटर साइंस का एक महत्वपूर्ण भाग है। इस क्षेत्र में आवेदन करने वाले उम्मीदवारों को कंप्यूटर हार्डवेयर कोर्स करना चाहिए। इस सेक्टर में कई शॉर्ट और लॉन्ग टर्म कोर्स हैं जिन्हें 12वीं पास करने के बाद किया जाता है।
  • कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन 3 वर्ष, पोस्टग्रेजुएशन 2 वर्ष और डिप्लोमा कोर्स 1 वर्ष का होता है।
  • कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियरिंग आज के समय में युवाओं की पहली पसंद है। इस क्षेत्र में करियर स्कोप बहुत ज्यादा है। आईटी उद्योग में हार्डवेयर और नेटवर्किंग डोमेन सबसे ज्यादा पेड और सबसे तेजी से बढ़ने वाला डोमेन है। 
  • कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियरिंग के क्षेत्र में सर्टिफिकेट कोर्स करने वाले छात्रों के लिए शुरुआत में औसत वेतन 2-3 लाख रुपए सालाना होता है। 
  • एक कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियर की शुरुआती सैलरी लगभग 20 हजार से 50 हजार तक होती है और जैसे-जैसे इस फील्ड में एक्सपीरियंस बढ़ता है वैसे-वैसे सैलरी भी बढ़ती जाती है।

कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियर के लिए स्किल्स

कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियर बनने के लिए क्या स्किल्स होने चाहिए उसके बारे में नीचे बताया गया-

  • कम देखरेख में प्रोडक्टिवली काम करने की क्षमता का होना। 
  • अच्छी बातचीत करने की कला का होना और ग्राहकों को अच्छी सर्विस देना।
  • कंप्यूटर रिपेयरिंग करने के लिए जो भी टूल और टेक्नोलॉजी की आवश्यकता है उसके बारे में अच्छी समझ होना। 
  • इक्विपमेंट की अच्छी समझ होना, उससे जुड़ी समस्या को एनालाइज करना और ठीक करने का ज्ञान होना चाहिए।

कैसे बने कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियर स्टेप बाय स्टेप गाइड

कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियर कैसे बना जा सकता है इसके बारे में नीचे कुछ स्टेप्स में बताया गया है-

  • स्टेप 1: 12वीं के बाद कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियरिंग में डिप्लोमा या डिग्री कोर्स करें – जो छात्र इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में रुचि रखते हैं, वे 12वीं की पढ़ाई पूरी होने के बाद हार्डवेयर इंजीनियरिंग के क्षेत्र में डिप्लोमा या डिग्री कोर्स कर सकते हैं।
  • स्टेप 2 – कोर्स पूरा करने के बाद इंटर्नशिप करें – छात्र डिग्री कोर्स और डिप्लोमा करने के बाद इंटर्नशिप कर सकते है, क्योंकि इंटर्नशिप की सहायता से उन्हें अनुभव प्राप्त होगा जो उनके करियर ग्रोथ के लिए अच्छा है।
  • स्टेट 3 – इस क्षेत्र में मास्टर डिग्री करने के बारे में सोचें – मास्टर्स डिग्री करने के बाद व्यक्ति की सैलरी बढ़ जाती है। कहने का अर्थ यह है कि मास्टर डिग्री करने पर विद्यार्थी को अच्छे पैकेज के साथ अच्छी जॉब प्राप्त होता है।

कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियर बनने के लिए कोर्सेज

नीचे कुछ कोर्स बताए गए हैं जो कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियरिंग के क्षेत्र में किए जा सकते हैं-

 आप  AI Course Finder की सहायता से विदेश में पढ़ाई करने के लिए विभिन्न कोर्स का चयन कर सकते हैं।

कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियर बनने के लिए विदेश के कॉलेज

कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियरिंग का कोर्स करने के लिए कुछ विदेश के कॉलेजेस नीचे दिए गए हैं-

कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियर बनने के लिए भारतीय कॉलेज

कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियरिंग कोर्स के लिए भारतीय कॉलेज की सूची नीचे दी गई है-

  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, बैंगलोर
  • इंटरनेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी, हैदराबाद
  • इंद्रप्रस्थ इंस्टिट्यूट ऑफ़ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी, दिल्ली
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, हैदराबाद
  • बिरला इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी एंड साइंस, पिलानी
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, बॉम्बे
  • एलएनएम इंस्टीट्यूट आफ इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी, जयपुर
  • वेल्लोर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, वेल्लोर
  • नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी,त्रिची 

कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियर बनने के लिए योग्यता

कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियरिंग कोर्स करने के लिए क्या योग्यता होना चाहिए उसके बारे में नीचे बताया गया है-

अंडर ग्रेजुएशन के लिए 

  • कंप्यूटर हार्डवेयर में बैचलर डिग्री के लिए ज़रुरी है कि आवेदक ने किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10+2 अच्छे अंकों से पास किया हो। 
  • भारत में इन कोर्सेज में बैचलर्स के लिए कुछ कॉलेजेस और यूनिवर्सिटी BITSAT, KCET, WBJEE जैसी प्रवेश परीक्षाएं आयोजित करती हैं और विदेश के लिए SAT प्रवेश परीक्षा होती है।
  • विदेश में पढ़ाई करने के लिए IELTS और TOEFL के अंक की आवश्यकता होती है। 

पोस्ट ग्रेजुएशन के लिए

  • कंप्यूटर हार्डवेयर में मास्टर्स डिग्री के लिए यूनिवर्सिटी द्वारा तय किया गया न्यूनतम अंक प्राप्त होना चाहिए। 
  • कुछ मास्टर्स प्रोग्राम में एडमिशन के लिए यूनिवर्सिटी प्रवेश परीक्षा आयोजित करती हैं। 
  • IELTS या TOEFL के स्कोर की आवश्यकता होती है। 
  • विदेश की कुछ यूनिवर्सिटी SAT या GRE स्कोर की मांग करते हैं। 
  • साथ ही SOP,LOR, करिकुलम वाइट  और  पोर्टफोलियो  भी जमा करने होंगे। 

क्या आप IELTS/TOEFL/SAT/GRE में अच्छे अंक प्राप्त करना चाहते हैं? आज ही इन एग्जाम की बेहतरीन तैयारी के लिए Leverage Live पर रजिस्टर करें और अच्छे स्कोर प्राप्त करें।

आवेदन प्रक्रिया

कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियरिंग कोर्स के लिए आवेदन कैसे किया जा सकता है इसके बारे में नीचे बताया गया है-

  • अगर आप विदेश के किसी विश्वविद्यालय में आवेदन करना चाहते हैं तो आवेदन करने के लिए आप Leverage Edu के एक्सपर्ट्स से 1800 572 000 पर संपर्क करके आवेदन प्रक्रिया में सहायता प्राप्त कर सकते हैं।
  • सबसे पहले अपने चुनी हुई यूनिवर्सिटी के ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर रजिस्ट्रेशन करें। 
  • यूनिवर्सिटी की वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन कराने के बाद आपको यूजर नेम और पासवर्ड मिलेगा। 
  • वेबसाइट पर साइनइन करने के बाद कोर्स का चुनाव करें। 
  • अब अपने चुने हुए कोर्सेज के अनुसार मांगे जा रहे दस्तावेज और आवश्यक सूचना को भरें। 
  • सारी जानकारी भरने के बाद फॉर्म को शुल्क के साथ जमा करें। 
  • उम्मीदवार को आवेदन करने के लिए IELTS/TOEFL जैसे प्रवेश परीक्षाओं के अंक की आवश्यकता होती है। 

आवश्यक दस्तावेज़

कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियरिंग कोर्स के लिए नीचे आवश्यक दस्तावेजों की लिस्ट दी गई है-

  • ऑफिशियल एकेडमी ट्रांसक्रिप्ट 
  • LOR,IELTS/TOEFL/GMAT/GRE आदि के अंक। 
  • स्कैन कॉपी ऑफ पासपोर्ट 
  • SOP (स्टेटमेंट ऑफ परपस) 
  • LOR (लेटर आफ रिकमेंडेशन) 
  • करिकुलम वाइटा 

करियर स्कोप

कंप्यूटर हार्डवेयर और नेटवर्किंग कोर्स पूरा करने वाले उम्मीदवार स्टार्ट-अप से लेकर मल्टीनेशनल कंपनियों तक कई उद्योगों में काम कर सकते हैं, क्योंकि सभी फर्मों को प्रशिक्षित व्यक्तियों की आवश्यकता होती है जो तकनीकी और नेटवर्क समस्याओं का समाधान कर सकते हैं। नीचे कुछ जॉब दिए जा रहे हैं –

  • कंप्यूटर एडमिनिस्ट्रेटर
  • कंप्यूटर आईटी टेक्निशियन 
  • सिस्टम इंजीनियर
  • आईटी एडमिनिस्ट्रेटर 
  • कंप्यूटर टेक्निशियन 
  • सिस्टम इंजीनियर 
  • कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियर 
  • टेक्निकल सपोर्ट इंजीनियर 
  • हेल्प डेस्क इंजीनियर

टॉप रिक्रूटर्स

कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियरिंग कोर्स के बाद नीचे टॉप रिक्रूटर्स के नाम दिए हैं-

  • Intel Corporation 
  • Qualcomm
  • Robert Bosch
  • NVIDIA
  • Wipro
  • VVDN Technologies
  • Samsung Electronics

जॉब और सैलरी

कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियरिंग कोर्स करने के बाद नीचे जॉब प्रोफाइल्स और सैलरी की लिस्ट दी गई है-

जॉब  औसत वार्षिक आय (INR में)
राउटर ऑपरेटर  3-3.5 लाख रुपए 
टेक्निकल सपोर्टर एग्जीक्यूटिव 5-5.5 लाख रुपए 
हार्डवेयर एग्जीक्यूटिव 3-3.5 लाख रुपए 
हार्डवेयर कंसलटेंट 3-3.5 लाख रुपए 
नेटवर्क इंजीनियर 4.5-5 लाख रुपए 
सिस्टम इंजीनियर 3.5-4 लाख रुपए 

FAQs

क्या कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियरिंग कोर्स ऑनलाइन किया जा सकता है?

कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियरिंग के कोर्सेज ऑफलाइन के साथ-साथ ऑनलाइन भी किए जा सकते है। 

क्या कंप्यूटर हार्डवेयर कोर्स करने के लिए छात्रवृत्ति मिलती है? 

हां, Coursera जैसी कुछ वेबसाइटें छात्रों को उनके पसंदीदा कोर्स में आगे बढ़ाने के लिए छात्रवृत्ति और वित्तीय सहायता प्रदान करती हैं। यदि बैचलर्स और मास्टर्स के लिए विदेश के विश्वविद्यालय से पढ़ाई करना चाहते हैं तो आप Leverage Edu Scholarships के लिए आवेदन कर सकते हैं। 

कंप्यूटर हार्डवेयर कोर्स की अवधि क्या है? 

उत्तर – इस कोर्स की अवधि इस बात पर निर्भर करती है कि आप किस स्तर का अध्ययन कर रहे हैं। यूजी के लिए 3 साल, पीजी लेवल पर 1-2 साल, डिप्लोमा 6 से 12 महीने और सर्टिफिकेशन के लिए 3-6 महीने का कोर्स होता है। 

आशा करते हैं कि कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियर से जुड़ी सभी जानकारी आपको प्राप्त हो गई होगी। कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियर कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियरिंग का कोर्स अगर आप विदेश के विश्वविद्यालय से करना चाहते हैं तो आप हमारे Leverage Edu के एक्सपर्ट्स से 1800 572 000 पर कॉल कर आज ही 30 मिनट का मुफ्त सेशन बुक करें।

प्रातिक्रिया दे

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today. How-To guides
Talk to an expert