गयनेकोलॉजिस्ट कैसे बनें?

1 minute read
Gynecologist kaise bane

आयुर्वेद में भारतीय पारंपरिक चिकित्सा प्रणाली के साथ-साथ गायनोकॉलोजी से सम्बंधित कांसेप्ट और टेक्निक्स के बारे में बताया गया है। गायनोकॉलोजी, गयनेकोलॉजिकल बीमारी, फर्टिलिटी, प्रेगनेंसी, कंट्रासेप्शन से संबंधित है। एक गयनेकोलॉजिस्ट के रूप में आप महिलाओं से जुड़ी समस्याओं का इलाज करते हैं। यदि आप भी गयनेकोलॉजिस्ट के रूप में अपना करियर बनाना चाहते हैं और यह जानना चाहते हैं कि Gynecologist kaise bane, तो हमारा यह ब्लॉग पूरा पढ़ें। 

गयनेकोलॉजिस्ट कौन होते हैं?

गायनेकोलॉजी, महिलाओं के प्रजनन प्रणाली से जुड़ी हुई चिकित्सा पद्धति है। गायनेकोलॉजी की पढ़ाई कर स्त्री रोगों का उपचार और निदान करने वाले व्यक्ति स्त्री रोग विशेषज्ञ कहलाते हैं। इसे  “The Science of Women” भी कहा जाता है। रोगों के इलाज की प्रक्रिया में सर्जिकल और मेडिकल प्रोसीजर दोनों प्रक्रियाओं को शामिल किया गया है। एक स्त्री रोग विशेषज्ञ के रूप में आपको तीन बातों की जानकारी होना जरुरी है:

  • प्रसूतिशास्र
  • प्रसव के लिए प्रसूति और गर्भावस्था की प्रक्रिया
  • प्रजनन चिकित्सा

योग्यता

गयनेकोलॉजिस्ट बनने के लिए आपको नीचे दी गई योग्यताओं को पूरा करना होगा:

  • एमबीबीएस में एडमिशन लेने के लिए आपको 10+2 (साइंस +बायोलॉजी), न्यूनतम 50% अंकों के साथ पास करना जरूरी है।
  • भारत में एमबीबीएस की पढ़ाई करने के लिए आपको NEET UG प्रवेश परीक्षा पास करनी होगी। 
  • गायनेकोलॉजी के पोस्ट ग्रेजुएशन प्रोग्राम में एडमिशन लेने के लिए आपके पास 5 साल की एमबीबीएस की डिग्री होनी आवश्यक है। 
  • पीजी कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपको NEET PGएंट्रेंस एग्जाम पास करना होगा। उसके बाद आप M.S. or M.D.प्रोग्राम में एडमिशन ले सकते हैं। 
  • विदेश में गायनेकोलॉजी की पढ़ाई करने के लिए एक अच्छा IELTS/ TOEFLस्कोर अंग्रेजी भाषा की दक्षता के रुप में होना आवश्यक है। 
  • यूके में एमबीबीएस  के लिए आपको UKCAT/ BMAT/GAMSAT/NEET जैसे एंट्रेंस एग्जाम पास करने होंगे। कनाडा में एमबीबीएस के लिए आपको NEET, MCAT एंट्रेंस एग्जाम पास करने अनिवार्य है।
  • अपडेट किया गया रिज्यूमे (professional resume)
  • विदेश में पढ़ाई करने के लिए अंग्रेजी भाषा कुशलता परीक्षा के अंकआवश्यक है। 
  • सिफारिश पत्र या LOR
  • स्टेटमेंट ऑफ़ पर्पस

स्त्री रोग विशेषज्ञ बनने के लिए लोकप्रिय कोर्सेज

स्त्री रोग विशेषज्ञ बनने के लिए आपको बैचलर डिग्री के बाद मास्टर डिग्री करनी आवश्यक है क्योंकि पीजी कोर्स में ही आपको गायनेकोलॉजी को अपने विशेषज्ञता के रूप में चुनना होगा। गायनेकोलॉजी में बैचलर्स और मास्टर्स लेवल के कोर्सेज के बारे में नीचे विस्तार में बताया गया है:

  • MBBS: Bachelor of Medicine and Bachelor of Surgery, 6 साल का कोर्स है, जिसमें 1 साल की इंटर्नशिप भी शामिल है। इस कोर्स  में एडमिशन लेने के लिए आपको 12वीं साइंस+बायो न्यूनतम 50% अंकों के साथ पास करनी होगी।
  • Postgraduate Diploma in Gynecology and Obstetrics: यह दो साल का कोर्स है। इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपके पास एमबीबीएस की डिग्री होनी आवश्यक है। 
  • Master of Surgery (M.S.) in Gynecologyयह भी दो साल का कोर्स है। इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए भी आपके पास एमबीबीएस की डिग्री होनी आवश्यक है। 
  • Diplomate of Medicine (D.N.B.) in Gynecology: यह तीन साल का कोर्स है। इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपके पास एमबीबीएस की डिग्री होनी आवश्यक है।
  • Doctor of Medicine (M.D.) in Gynecology:  यह तीन साल का कोर्स है। इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपके पास एमबीबीएस की डिग्री होनी आवश्यक है। 

इंटर्नशिप प्रोग्राम 

अपनी पांच साल की एमबीबीएस की पढ़ाई पूरी करने के बाद छात्रों को एक साल की इंटर्नशिप करनी होगी। वहीं गायनेकोलॉजी में M.S. या M.D. की पढ़ाई पूरी करने के बाद आपको तीन साल का सीनियर इंटर्नशिप प्रोग्राम पूरा करना आवश्यक है। इंटर्नशिप आपको व्यवहारिक ज्ञान देने में मदद करती है। आप यह इंटर्नशिप किसी भी हॉस्पिटल से या स्वतंत्र रूप से कर सकते हैं। सीनियर इंटर्नशिप में सर्जिकल प्रैक्टिस को शामिल किया जाता है ताकि आप उसका व्यवहारिक ज्ञान प्राप्त कर सकें। 

फीस स्ट्रक्चर 

गायनेकोलॉजी की पढ़ाई करने के लिए देश और विदेश की फीस की जानकारी नीचे दी गयी है:

  • एमबीबीएस के लिए फीस : अगर आप सरकारी कॉलेज से एमबीबीएस की पढ़ाई करते हैं, तो पांच साल की डिग्री के लिए 3 लाख रुपये से 5 लाख रुपये तक फीस होगी। वहीं, यदि आप एक प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन लेते हैं, तो पांच साल की डिग्री की फीस 50 लाख रुपये से लेकर एक करोड़ रुपये तक होती है। विदेश में एमबीबीएस की पढ़ाई करने की लागत सालाना £7509 से £100131 (Rs 7,50,000-Rs 1,00,00,000) तक हो सकती है। यह एक यूनिवर्सिटी से दूसरी यूनिवर्सिटी में अलग हो सकती है। 
  • गायनेकोलॉजी में M.S. या M.D. की फीस : M.S. या M.D. तीन साल का कोर्स है। सरकारी कॉलेज में इसकी लागत 1 लाख रुपये से 1.50 लाख रुपये के बीच है। प्राइवेट कॉलेज में फीस, कॉलेज के अनुसार अलग-अलग रहती है। 

स्त्री रोग विशेषज्ञ बनने के लिए दुनिया के टॉप विश्वविद्यालय 

स्त्री रोग विशेषज्ञ की पढ़ाई कराने वाली दुनिया में कई यूनिवर्सिटीज है, जिनमें से कुछ टॉप यूनिवर्सिटीज की लिस्ट नीचे दी गई है : 

यूनिवर्सिटी  सालाना फीस 
यूनिवर्सिटी ऑफ़ नॉटिंघम  £10,0,131 (Rs 1,00,00,000)
द यूनिवर्सिटी ऑफ़ न्यू साउथ वेल्स  Australian $34,052(Rs 18,00,000)
द यूनिवर्सिटी ऑफ़ ऑकलैंड  New zealand $19,548(Rs 10,00,000)
नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ़ आयरलैंड £24,592(Rs 21,00,000)
यूनिवर्सिटी ऑफ़ ऑक्सफ़ोर्ड  £7,509(Rs 7,50,000)
यूनिवर्सिटी ऑफ़ कैंब्रिज  £8,309(Rs 8,30,000)
यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन  £12,015(Rs 12,00,000)
यूनिवर्सिटी ऑफ़ एडिनबर्घ  £8,010(Rs 8,00,000)
मास्त्रिक्ट यूनिवर्सिटी  £1,522(Rs 1,30,000)
यूनिवर्सिटी ऑफ़ शेफ़ील्ड  £9,312(Rs 9,30,000)

स्त्री रोग विशेषज्ञ बनने के लिए भारत के टॉप कॉलेज 

स्त्री रोग विशेषज्ञ बनने के लिए भारत की टॉप कॉलेजों की लिस्ट नीचे दी गई है :

कॉलेज सालाना फीस
क्रिस्चियन मेडिकल कॉलेज, वेल्लोर  Rs 45,000
आर्म्ड फोर्सेज मेडिकल कॉलेज, पुणे, महाराष्ट्र  Rs 32,000
मौलाना आज़ाद मेडिकल कॉलेज, न्यू दिल्ली  Rs 15,000
किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी, लखनऊ  Rs 90,000
यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ़ मेडिकल साइंसेज, दिल्ली  Rs 40,000
अन्नामलाई यूनिवर्सिटी, तमिलनाडु  Rs 30,000
बी आर अंबेडकर मेडिकल कॉलेज, बैंगलोर Rs 9,00,000
डी वाई पाटिल मेडिकल कॉलेज, मुंबई Rs 5,00,000
इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज बनारस हिंदू विश्वविद्यालय, वाराणसी Rs 20,000
कस्तूरबा मेडिकल कॉलेज, मणिपाली Rs 4,00,000

स्त्री रोग विशेषज्ञ बनने के लिए चरण दर चरण प्रक्रिया  

भारत और विदेश में स्त्री रोग विशेषज्ञ कैसे बनें इसके लिए चरण दर चरण प्रक्रिया नीचे दी गई है:  

  • Step-1 : आपने किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से अपना 10+2 पूरा किया हो। एमबीबीएस की टॉप कॉलेजों में एडमिशन लेने के लिए आपके पास कम से कम 50% अंक होने चाहिए। यदि आप कट ऑफ लिस्ट को पूरा नहीं करते हैं, तो आप एक अच्छे कॉलेज में एडमिशन नहीं पा सकेंगे।
  • Step-2: दूसरा चरण एमबीबीएस प्रोग्राम में एडमिशन लेना है। एमबीबीएस प्रोग्राम में एडमिशन लेने के लिए आपको NEET UG एंट्रेंस एग्जाम पास करना होगा। विदेश में एडमिशन लेने के लिए NEET के अलावा भी कई एंट्रेंस एग्जाम है, जिनके बारे में ऊपर बताया गया है। हर साल NEET एग्जाम का आयोजन किया जाता है, जिसमें हजारों छात्र एग्जाम देते हैं। 
  • Step-3: प्रवेश परीक्षा पास करने के बाद आपकी रैंक के अनुसार आपको कॉलेज में एडमिशन मिलेगा। कॉलेज अलॉट होने के बाद आप एमबीबीएस में एडमिशन की प्रक्रिया को आगे बढ़ा सकते हैं। यह छह साल का कोर्स होता है, जिसमें 1 साल की इंटर्नशिप भी शामिल होती है। 
  • Step-4 : एमबीबीएस की पढ़ाई पूरी करने के बाद आपको NEET-PG एंट्रेंस एग्जाम देना होगा। यह सबसे कठिन एग्जाम माना जाता है। एग्जाम क्लियर करने के बाद ही आप पीजी कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं और स्पेशलाइजेशन चुन सकते हैं। 
  • Step-5: NEET-PG एंट्रेंस एग्जाम पास करने के बाद आप गायनेकोलॉजी के M.S. या M.D. कोर्स में एडमिशन लें। M.S. या M.D. कोर्स में ही आपको स्पेशलाइजेशन चुननी होगी। गायनेकोलॉजी स्पेशलाइजेशन का एक विकल्प है। M.S. या M.D.तीन साल का कोर्स है। डिग्री पूरी करने के बाद आपको किसी हॉस्पिटल में या स्वतंत्र रूप से, तीन साल की इंटर्नशिप सीनियर रेजीडेंसी पूरी करनी होगी।

आवेदन प्रक्रिया 

भारत और विदेश में स्त्री रोग विशेषज्ञ कैसे बनें के लिए आपको नीचे बताई गई प्रक्रिया को चरण दर चरण फॉलो करना होगा। 

  1. रजिस्ट्रेशन: सबसे पहले आपको एंट्रेंस एग्जाम के लिए आवेदन करना होगा। छात्रों को NEET एग्जाम के लिए आवेदन करना होगा। छात्रों को NTA की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर इसके लिए आवेदन करना होगा। 
  2. एंट्रेंस एग्जाम : एंट्रेंस एग्जाम के लिए आवेदन करने के बाद आपको प्रवेश परीक्षा देनी होगी। ये परीक्षा ऑफलाइन मोड में आयोजित की जाती हैं।
  3. मेरिट लिस्ट : एंट्रेंस एग्जाम में प्राप्त अंकों के आधार पर छात्रों का आंकलन किया जाएगा। शॉर्टलिस्ट किए गए छात्रों की एक मेरिट लिस्ट जारी की जाएगी।
  4. काउंसलिंग : शॉर्टलिस्ट किए गए छात्रों को उनकी रैंक के अनुसार कॉलेज अलॉट होगी। इंस्टीटूशन द्वारा छात्रों को काउंसलिंग के लिए बुलाया जायेगा, जहां वे अपनी एमबीबीएस की पढ़ाई कंटिन्यू करेंगे।

यूके में गायनेकोलॉजी की पढ़ाई करने के लिए एप्लीकेशन प्रोसेस 

  • बैचलर डिग्री में एडमिशन लेने के लिए आपको UCAS पोर्टल पर जाकर रजिस्ट्रेशन करना होगा। यहाँ से आपको यूजर आईडी और पासवर्ड प्राप्त होंगे। मास्टर डिग्री में एडमिशन लेने के लिए आपको यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करें। यहाँ से आपको यूजर आईडी और पासवर्ड प्राप्त होंगे। 
  • यूजर आईडी से अकाउंट लॉग इन करें और जानकारी भरें।
  • कोर्स करिकुलम और योग्यता को चेक कर लें। 
  • अपनी यूनिवर्सिटी के एप्लीकेशन फॉर्म पर क्लिक करें। 
  • सबसे पहले आपको ईमेल या फ़ोन नंबर के द्वारा न्यू रजिस्ट्रेशन करना होगा। 
  • अकाउंट वेरिफिकेशन के बाद अकाउंट लॉग इन करके अपनी पर्सनल जानकारी भरें। 
  • अकादमिक जानकारी भरें और आवश्यक दस्तावेजों को अपलोड करें। 
  • अंत में एप्लीकेशन फीस पे करें। 
  • फिर अपना एप्लीकेशन फॉर्म जमा करें।
  • कुछ यूनिवर्सिटी, सिलेक्शन के बाद वर्चुअल इंटरव्यू के लिए आमंत्रित करती हैं।

अन्य देश में एडमिशन लेने के लिए एप्लिकेशन प्रोसेस

  • यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर रजिस्ट्रेशन करें। यहाँ से आपको यूजर आईडी और पासवर्ड प्राप्त होंगे। 
  • यूजर आईडी से साइन इन करें और कोर्स चुनें जिसे आप चुनना चाहते हैं। 
  • अगली स्टेप में अपनी शैक्षणिक जानकारी भरें।  
  • शैक्षणिक योग्यता के साथ IELTSTOEFL, प्रवेश परीक्षा स्कोर, SOPLOR की जानकारी भरें। 
  • पिछले सालों की नौकरी की जानकरी भरें। 
  • रजिस्ट्रेशन फीस का भुगतान करें।
  • अंत में आवेदन पत्र जमा करें। 

स्त्री रोग विशेषज्ञ बनने के बाद करियर और सैलरी 

महिलाओं के पूरे जीवन काल में उन्हें एक बार तो स्त्री रोग विशेषज्ञ की जरूरत पड़ती ही है,जब वह माँ बनती है। उस स्थिति में एक स्त्री रोग विशेषज्ञ ही बच्चा होने तक उसका पूरा उपचार करता है। एक स्त्री रोग विशेषज्ञ की महीने की सैलरी शुरुआत में 30,000 रुपये से 50,000 रुपये तक होती है। लेकिन जैसे-जैसे आपका अनुभव बढ़ेगा आप हर महीने 10 लाख रुपये से तक कमा सकते हैं। यह salary glassdoor.co.in के अनुसार दी गई है।

FAQ 

एमबीबीएस कितने वर्ष का कोर्स है?

एमबीबीएस 6 वर्ष का कोर्स है, जिसमें एक साल की इंटर्नशिप भी शामिल है। 

एक स्त्री रोग विशेषज्ञ बनने में कितना समय लगता है?

एक स्त्री रोग विशेषज्ञ बनने में लगभग 9 साल का समय लगता है। 6 साल कीएमबीबीएस की पढ़ाई और 3 साल की M.S. या M.D. की पढ़ाई पूरी करने के बाद आप स्त्री रोग विशेषज्ञ बनते हैं।  

यूके में कौन से विश्वविद्यालय मेडिकल स्टडी के लिए बेस्ट है?

यूके की यूनिवर्सिटीज मेडिकल स्टडी के लिए प्रसिद्ध है। यूके में चिकित्सा का अध्ययन करने के लिए ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय, कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय, यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन, इंपीरियल कॉलेज लंदन टॉप यूनिवर्सिटीज में आती हैं। 

कनाडा में कौन से विश्वविद्यालय मेडिकल स्टडी के लिए बेस्ट है?

कनाडा में मैनिटोबा विश्वविद्यालय, पश्चिमी ओंटारियो विश्वविद्यालय, क्वीन्स यूनिवर्सिटी, कनाडाई मेनोनाइट विश्वविद्यालय, वाटरलू विश्वविद्यालय मेडिकल की स्टडी करने के लिए टॉप यूनिवर्सिटीज में आती हैं। 

उम्मीद है, कि इस ब्लॉग ने आपको स्त्री रोग विशेषज्ञ कैसे बनें के बारे में पूरी जानकारी प्रदान की है। यदि आप भी विदेश में गायनेकोलॉजी की पढ़ाई करना चाहते हैं तो हमारे Leverage Edu विशेषज्ञ के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन 1800 57 2000 पर कॉल कर बुक करें।

प्रातिक्रिया दे

Required fields are marked *

*

*

2 comments