बीएससी जूलॉजी के बाद कौनसा कोर्स करना है बेहतर?

2 minute read
733 views
BSc Zoology ke baad kya kare

बीएससी जूलॉजी में जानवरों की स्टडी करायी जाती है, जिसमें उनका व्यवहार, संरचना, जीव विज्ञान, जीवन शैली शामिल है। लेकिन यहाँ सवाल यह आता है कि BSc Zoology ke baad kya kare । बीएससी जूलॉजी के बाद आप जैव प्रौद्योगिकी, फार्मा प्रबंधन, डेयरी प्रबंधन, नैदानिक अनुसंधान जैसे विषय में मास्टर डिग्री भी कर सकते हैं। यदि बीएससी जूलॉजी के बाद किये जाने वाले कोर्सेज के बारे में विस्तार में जानना चाहते हैं, तो हमारा यह ब्लॉग पूरा जरूर पढ़ें।  

बीएससी जूलॉजी क्या है?

बीएससी जूलॉजी एक 3 साल का अंडरग्रेजुएट प्रोग्राम है जो बायोलॉजिकल ओशनोग्राफी, कॉम्पिटिटिव फिजियोलॉजी, इकोलॉजी, डेवलपमेंटल एंड सेल बायोलॉजी, वर्टेब्रेट एंड इनवर्टेब्रेट जूलॉजी, पैरासिटोलॉजी आदि के क्षेत्र में उन्नत अध्ययन और अनुसंधान को शामिल करता है। फिजियोलॉजी से लेकर बायोमैकेनिक्स और सिस्टमेटिक तक। क्रांति, इसमें जैव रासायनिक आनुवंशिकी, जैविक नियंत्रण और अनुसंधान के अन्य विशेष क्षेत्रों से संबंधित विभिन्न विषयों का अध्ययन शामिल है। पाठ्यक्रम में आकृति विज्ञान, भ्रूणविज्ञान, इम्यूनोलॉजी, पारिस्थितिकी और विभिन्न अन्य पाठ्यक्रमों का अध्ययन शामिल है जो आपकी डिग्री की अवधि में बनते हैं। आपको कई क्षेत्रों में आगे की संभावनाओं के लिए तैयार करने के लिए, पाठ्यक्रम आपको नियमित व्यावहारिक सत्र, सिद्धांत-आधारित पेपर और नियमित बाहरी दौरों में शामिल करता है ताकि छात्रों को बाहरी दुनिया को जीतने के लिए व्यावहारिक अनुभव प्राप्त करने में मदद मिल सके। 

बीएससी जूलॉजी के बाद मास्टर डिग्री कोर्सेज

BSc Zoology ke baad kya kare यह अहम सवाल है, तो आपको बता दें बीएससी जूलॉजी के बाद आपके पास मास्टर कार्यक्रम, ग्रेजुएट डिप्लोमा और प्रमाणपत्र कोर्स करने का विकल्प होता है। इन कोर्सेज में जैव रसायन, जैव सूचना विज्ञान और जैव प्रौद्योगिकी जैसे विषय शामिल है। बीएससी जूलॉजी के बाद कुछ लोकप्रिय एमएससी कोर्सेज नीचे दिए गए हैं 

एमएससी जूलॉजी

BSc Zoology ke baad kya kare जब ये सवाल छात्र के मन में आता है तब M.Sc. Zoology उनके द्वारा सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाला कोर्स है। M.Sc. Zoology जानवरों के बारे में अध्ययन करने के लिए 2 साल की मास्टर डिग्री है। इस कोर्स में आपको जानवरों की जीव विज्ञान, व्यवहार और संरचना के बारे में गहन अध्ययन कराया जाता है। M.Sc. Zoology करने के लिए आपके पास चिकित्सा विज्ञान, संबद्ध विज्ञान, जैव विज्ञान और जीवन विज्ञान विशेषज्ञता में बैचलर डिग्री होनी चाहिए। M.Sc. Zoology में एडमिशन या तो योग्यता के आधार पर या यूनिवर्सिटी स्तर पर होने वाली एंट्रेंस एग्जाम के आधार पर होता है। आपके पास चिकित्सा विज्ञान, संबद्ध विज्ञान, जैव विज्ञान और जीवन विज्ञान विशेषज्ञता में बैचलर डिग्री होनी चाहिए। M.Sc. Zoology में  जीव विज्ञान, आनुवंशिकी, वर्गीकरण और विकास जैसे विषय पढ़ाये जाते हैं। M.Sc. Zoology के बाद आप शोधकर्ता, शिक्षक, प्रोफेसर, प्राणी विज्ञानी, चिड़ियाघर पशु कल्याण के रूप में काम कर सकते हैं। 

एमएससी बायोटेक्नोलॉजी

Master of Science (M.Sc.) in Biotechnology एक पोस्टग्रेजुएट कोर्स है। यह दो साल का कोर्स है, जिसे 4 सेमेस्टर में बांटा गया है। जैव प्रौद्योगिकी अनुप्रयुक्त विज्ञान है, जो बायोप्रोसेस इंजीनियरिंग, चिकित्सा और प्रौद्योगिकी से सम्बंधित है। M.Sc. Biotechnology मेंछात्रों को बायोलॉजिकल सिस्टम का उपयोग करके ह्यूमन के लिए उपयोगी प्रोडक्ट बनाने के बारे में सिखाया जाता है। M.Sc. Biotechnology करने के बाद आप हेल्थ केयर और फार्मा के क्षेत्र में आसानी से जॉब पा सकते हैं। 

एमएससी इन लाइफ साइंसेज

M.Sc. Life Science 2 साल का पोस्टग्रेजुएट डिग्री कोर्स है, जो लिविंग ऑर्गैनिस्म जैसे- वनस्पति विज्ञान, प्राणी विज्ञान, सूक्ष्म जीव विज्ञान, शरीर विज्ञान और जैव रसायन से सम्बन्धित हैं। M.Sc. Life Science में जैव रसायन, पारिस्थितिकी, पशु विविधता, अर्थशास्त्र और नृवंशविज्ञान, जैव सांख्यिकी जैसे विषय पढ़ाये जाते हैं। M.Sc. Life Science के बाद आप फार्मास्युटिकल उद्योग, प्रयोगशाला प्रौद्योगिकी, आनुवंशिक इंजीनियरिंग, सामग्री विज्ञान के क्षेत्र में नौकरी कर सकते हैं। 

एमएससी माइक्रोबायोलॉजी

माइक्रोबायोलॉजी को सूक्ष्मजीवों के नाम से भी जाना जाता है। इस कोर्स में एककोशिकीय या एकल-कोशिका, बहुकोशिकीय या एक कोशिका कॉलोनी और किसी भी प्रकार की सूक्ष्मजीव उचित कोशिका जिनकी शरीर में कमी हो के बारे में पढ़ाया जाता है। माइक्रोबायोलॉजी एक विशाल विषय है जिसमें वायरोलॉजी, पैरासिटोलॉजी, माइकोलॉजी और बैक्टीरियोलॉजी जैसे उप-विषय शामिल है। सरल शब्दों में माइक्रोबायोलॉजी सभी लिविंग ऑर्गनिज़मस का अध्ययन है जो इतने छोटे हैं कि वे नग्न आंखों के लिए अदृश्य हैं। सूक्ष्मजीव जीवन रक्षक दवाएं बनाने, जैव ईंधन के निर्माण, प्रदूषण को साफ करने और खाने-पीने की चीज़ें बनाने में भी उपयोगी है। 

एमएससी बायोइंफॉर्मेटिक्स

M.Sc. Bioinformatics साइंस स्ट्रीम में दो साल की मास्टर डिग्री है, जो मेडिसिन और मॉडर्न बायोलॉजी के डाटा मैनेजमेंट से संबंधित है। M.Sc. Bioinformatics करने के बाद आप डेटाबेस प्रोग्रामर, कम्प्यूटेशनल बायोलॉजिस्ट, लेक्चरर, नेटवर्क एडमिनिस्ट्रेटर, रिसर्च साइंटिस्ट और बायोइनफॉरमैटिक्स सॉफ्टवेयर डेवलपर के रूप में काम कर सकते हैं। 

एमएससी ऑनर्स बॉटनी

बॉटनी, वनस्पति विज्ञान का अध्ययन है, जिसे पादप जीव विज्ञान और पादप विज्ञान के नाम से भी जाना जाता है। M.Sc. Botany दो साल की मास्टर डिग्री है। वनस्पति विज्ञान, कृषि, बागवानी, वानिकी और पर्यावरण विज्ञान से सम्बंधित है।  M.Sc. Botany की डिग्री को 4 सेमेस्टर में विभाजित किया गया है। सेमेस्टर I, सेमेस्टर II और सेमेस्टर III में कोर पेपर शामिल होते हैं और एक छात्र को ओपन इलेक्टिव कोर्स का चयन करना होगा जो दूसरे विभाग द्वारा ऑफर किया जाता है। 

आप AI Course Finder की मदद से अपनी profile के अनुसार सही university और अपनी पसंद का course चुन सकते हैं।

बीएससी जूलॉजी के बाद पैरामेडिकल कोर्स

यदि आप यह सोच रहें हैं की BSc Zoology ke baad kya kare, तो आप बीएससी जूलॉजी के बाद पैरामेडिकल कोर्स का चुनाव कर सकते हैं। नीचे कुछ लोकप्रिय पैरामेडिकल कोर्स की लिस्ट दी गई है:

  • M.Sc. In Pediatric Nursing
  • Masters of Physiotherapy in Neurology
  • M.Sc. in Audiology and Speech Therapy
  • M.Sc. in Optometry
  • M.Sc. in Anesthesia Technology
  • M.Sc. in Operation Theatre Technology. 
  • M.Sc. in Anesthesia Technology

बीएससी जूलॉजी के बाद मेडिकल कोर्सेज

यदि आप यह सोच रहें हैं की BSc Zoology ke baad kya kare, तो आप बीएससी जूलॉजी के बाद मेडिकल कोर्सेज का चुनाव कर सकते हैं। नीचे कुछ लोकप्रिय मेडिकल कोर्स की सूची दी गई है:

  • M.Sc. (Hons.) Botany
  • M.Sc. (Hons.) Microbiology
  • M.Sc. Medical Lab Technology
  • M.Sc. Medical Imaging Technology
  • M.Sc. Medical Lab Technology

बीएससी जूलॉजी के बाद पीजी डिप्लोमा कोर्सेज

यदि आप यह सोच रहें हैं की BSc Zoology ke baad kya kare, तो आप बीएससी जूलॉजी के बाद पीजी डिप्लोमा कोर्सेज का चुनाव कर सकते हैं। नीचे कुछ लोकप्रिय पीजी डिप्लोमा कोर्सेज की सूची दी गई है:

  • Post Graduate Diploma in Advanced Wildlife Management
  • Post Graduate Diploma in Animal Welfare 
  • Post Graduate Diploma in Veterinary Science
  • Postgraduate Diploma in Primatology and Conservation
  • Postgraduate Diploma in Environmental Management

विदेश में टॉप यूनिवर्सिटीज

यदि आप विदेश जाकर बीएससी जूलॉजी के बाद की पढ़ाई करना चाहते हैं, तो विदेश की कुछ टॉप यूनिवर्सिटीज की सूची यहाँ दी गई है:

भारत की टॉप यूनिवर्सिटी

बीएससी जूलॉजी के बाद मास्टर कार्यक्रम, ग्रेजुएट डिप्लोमा और प्रमाणपत्र कोर्स कराने वाली कई यूनिवर्सिटीज हैं। कुछ टॉप यूनिवर्सिटीज की लिस्ट नीचे दी गई है 

  • कुमाऊं विश्वविद्यालय
  • शूलिनी विश्वविद्यालय
  • बिरला इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, रांची
  • बायो इंफॉर्मेटिक्स सेंटर (बीसी), पुडुचेरी
  • सेंट एलॉयसियस इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी
  • डिब्रूगढ़ यूनिवर्सिटी इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी
  • एनआईटी राउरकेला
  • मणिपाल विश्वविद्यालय

आप UniConnect के जरिए विश्व के पहले और सबसे बड़े ऑनलाइन विश्वविद्यालय मेले का हिस्सा बनने का मौका पा सकते हैं, जहाँ आप अपनी पसंद के विश्वविद्यालय के प्रतिनिधि से सीधा संपर्क कर सकेंगे।

योग्यता

बीएससी जूलॉजी के बाद कोर्सेज के लिए सामान्य योग्यता मानदंड नीचे दिया गया है:

  • बीएससी जूलॉजी के बाद कोर्सेज के लिए, आपने किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से MPC विषयों या BiPC विषयों के साथ 10+2 किया हो। 
  • बीएससी जूलॉजी के बाद मास्टर्स के लिए आवश्यक अंकों के साथ बैचलर्स की डिग्री होना जरूरी है। 
  • पीएचडी के लिए मास्टर्स की डिग्री होना अनिवार्य है। 
  • कभी-कभी न्यूनतम GPA की आवश्यकता होती है। 
  • इंग्लिश लैंग्वेज प्रोफिशिएंसी टेस्ट जैसे : IELTS/TOEFL/PTE के स्कोर
  • किसी यूनिवर्सिटी में बैचलर्स के लिए SAT/ACT की मांग भी की जा सकती है। 
  • मास्टर्स के लिए GRE व मैनेजमेंट कोर्स के लिए GMAT स्कोर की मांग भी की जा सकती है।

आवेदन प्रक्रिया

किसी भी कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपको उसकी प्रक्रिया पता होनी चाहिए। भारत और विदेश में जूलॉजी कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपको नीचे बतायी गई प्रक्रिया को चरण दर चरण फॉलो करना होगा।

भारत और विदेश में जूलॉजी कोर्स के लिए आवेदन प्रक्रिया

  • विश्वविद्यालय की ऑफिशियल वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करें। यूके में एडमिशन के लिए आप यूसीएएस वेबसाइट (UCAS) पर जाकर रजिस्ट्रेशन करें। यहाँ से आपको यूजर आईडी और पासवर्ड प्राप्त होंगे।
  • यूजर आईडी से साइन इन करें और कोर्स चुनें जिसे आप चुनना चाहते हैं। 
  • अगली स्टेप में अपनी शैक्षणिक जानकारी भरें।  
  • शैक्षणिक योग्यता के साथ  IELTS, TOEFL, प्रवेश परीक्षा स्कोर, SOP, LOR की जानकारी भरें। 
  • पिछले सालों की नौकरी की जानकारी भरें। 
  • रजिस्ट्रेशन फीस का भुगतान करें।
  • अंत में आवेदन पत्र जमा करें।
  • कुछ यूनिवर्सिटी, सिलेक्शन के बाद वर्चुअल इंटरव्यू के लिए इनवाइट करती हैं।

आवश्यक दस्तावेज़

कुछ जरूरी दस्तावेजों की लिस्ट नीचे दी गई हैं–

बीएससी जूलॉजी के बाद सरकारी नौकरी

बीएससी जूलॉजी के बाद सरकारी नौकरी की सूची नीचे दी गई है 

  • रिसर्च ऑफ़िसर
  • फॉरेस्ट ऑफ़िसर
  • प्रोजेक्ट मैनेजर
  • लैब असिस्टेंट
  • एसोसिएट प्रोफेसर
  • एंटोमोलॉजिस्ट
  • इन्फॉर्मेशन ऑफ़िसर
  • टेक्निकल ऑफ़िसर
  • मेडिकल ऑफ़िसर

नीचे शीर्ष सरकारी संगठन की सूची दी गई है जहाँ आप बीएससी जूलॉजी के बाद जॉब कर सकते हैं 

बीएससी जूलॉजी के बाद जॉब और सैलरी  

बीएससी जूलॉजी के बाद आप विभिन्न क्षेत्रों में नौकरी कर सकते हैं। Payscale के अनुसार नीचे कुछ टॉप जॉब प्रोफाइल और उनकी सैलरी दी गई है:

जॉब प्रोफ़ाइल अनुमानित सालाना सैलरी
हाइ स्कूल टीचर INR 1.28 लाख-7.10 लाख
असिस्टेंट लेक्चरर, पोस्ट सेकेंडरी/हायर एजुकेशन INR 1.73-10 लाख
करिकुलम डेवलपर INR 2.09 लाख-9.31 लाख
रिसर्च एसोसिएट INR 2.16 लाख-9.14 लाख
असिस्टेंट प्रॉपर्टी मैनेजर INR 2.11 लाख-9.51 लाख
बिजनेस डेवलपमेंट मैनेजर INR 1.42 लाख-4.64 लाख
कंटेंट मार्केटिंग मैनेजर INR 7.45 लाख-20 लाख

FAQs

क्या मैं बीएससी जूलॉजी के बाद एमबीबीएस कर सकता हूं?

जी हां, आप बीएससी जूलॉजी पूरा करने के बाद एमबीबीएस कर सकते हैं। एमबीबीएस के लिए अप्लाई करने से पहले आपको आयु सीमा चेक कर लेनी चाहिए।  

बीएससी जूलॉजी के बाद कौन-कौन से जॉब ऑप्शन उपलब्ध है?

बीएससी जूलॉजी के बाद आप सरकारी और निजी दोनों क्षेत्रों में जॉब कर सकते हैं :
प्रोजेक्ट मैनेजर
लैब असिस्टेंट
एसोसिएट प्रोफेसर
एंटोमोलॉजिस्ट
एनवायरनमेंट कंसलटेंट
रिसर्च साइंटिस्ट
मरीन बायोलॉजिस्ट
व्याख्याता/प्रोफेसर

बीएससी जूलॉजी के बाद टॉप कोर्सेज कौनसे हैं?

बीएससी जूलॉजी के बाद टॉप कोर्सेज-
1. M.Sc. Zoology
2. M.Sc. (Hons) Botany
3. M.Sc. Bioinformatics
4. M.Sc. Microbiology
5. M.Sc. in Life Science
6. M.Sc. Biotechnology

उम्मीद है कि आपको इस ब्लॉग से BSc Zoology ke baad kya kare के बारे में पूरी जानकारी मिली होगी। यदि आप भी विदेश में बीएससी जूलॉजी या उसके बाद की पढ़ाई करना चाहते हैं, तो Leverage Edu एक्सपर्ट के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन 1800 572 000 पर कॉल करके बुक करें।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

2 comments
    1. नहीं, आप बीएससी जूलॉजी (ऑनर्स) पूरा करने के बाद एमएससी नर्सिंग नहीं कर सकते। उम्मीदवार को किसी भी स्टेट नर्सिंग पंजीकरण परिषद से खुद को पंजीकृत नर्स होने की ज़रूरत है।

    1. नहीं, आप बीएससी जूलॉजी (ऑनर्स) पूरा करने के बाद एमएससी नर्सिंग नहीं कर सकते। उम्मीदवार को किसी भी स्टेट नर्सिंग पंजीकरण परिषद से खुद को पंजीकृत नर्स होने की ज़रूरत है।

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today. Zoology
Talk to an expert