रोबोटिक्स इंजीनियरिंग में करियर कैसे बनायें?

1 minute read
748 views
10 shares
Leverage Edu Default Blog Cover

रोबोट, ट्रांसफार्मर, रियल स्टील जैसी मूवी हम सभी ने देखी है और मन में यह सवाल भी आया होगा की आखिर रोबोट बनते कैसे हैं। दुनिया जिस तरह से आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस प्रति आकर्षित हो रही है, उसी का परिणाम है रोबोटिक्स। रोबोटिक्स इंजीनियरिंग में छात्रों को डिज़ाइन, कंस्ट्रक्शन, ऑपरेशन और उसे काम में लेना सिखाया जाता हैं। रोबोटिक्स का उद्देश्य ऐसी मशीनों और रोबोट को डिजाइन करना है जो मनुष्यों की सहायता कर सके, इंसानों की जगह ले सकती हो और उनके काम आसान कर सके जैसे- Alexa। यदि आप भी रोबोटिक्स इंजीनियरिंग में अपना करियर बनाना चाहते है और विस्तार में जानना चाहते हैं की रोबोटिक्स इंजीनियरिंग क्या है, तो हमारा यह ब्लॉग पूरा पढ़ें।

रोबोटिक्स इंजीनियरिंग क्या है?

रोबोटिक्स, इंजीनियरिंग की वह शाखा है, जिसमें रोबोट की डिजाइनिंग, नए एप्लीकेशन की मेंटेनेंस, डेवलपमेंट और रिसर्च जैसे काम शामिल किए जाते हैं। वर्तमान समय में रोबोटिक्स तेजी से विकसित होने वाले पेशों में से एक बन चुका है। आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस के साथ अफोर्डेबल और उपयोगी चीजें बनाने में रोबोटिक्स इंजीनियरिंग अहम भूमिका निभाती है। रोबोट ऐसे सभी काम करने में सक्षम होते हैं, जो इंसान के लिए मुश्किल होते हैं या जिन्हें करना उन्हें पसंद नहीं होता है।

रोबोटिक्स की विशेषताएं

रोबोटिक्स, रोबोट बनाने की तकनीक को कहा जाता है। इसके लिये इलेक्ट्रॉनिक्स, मैकेनिक्स और सॉफ्टवेयर के साथ कई अन्य क्षेत्रों में व्यावहारिक ज्ञान की आवश्यकता होती है। इसकी कुछ विषेशताएं भी है जो इसके आकर्षण का कारण रहती है।

  • यह कृत्रिम तरीके से बनाया है।
  • वो अपने आस-पास के वातावरण को समझ सकते हैं और उसके संपर्क में रह सकते हैं। 
  • रोबोट एक स्वयं से चलने वाली मशीन है इसे चलाने के लिए किसी मनुष्य की जरुरत नहीं है। 
  • यह मनुष्य की तरह थकता नहीं है।  

रोबोटिक्स इंजीनियर की स्किल्स

रोबोटिक्स इंजीनियर की आवश्यक स्किल नीचे दी गई है:

  • रोबोटिक्स इंजीनियर को गणित की अच्छी स्किल होनी चाहिए।
  • रोबोटिक्स इंजीनियर के पास टेक्निकल स्किल होनी आवश्यक है।
  • रोबोटिक्स में करियर के लिए लोकप्रिय प्रोग्रामिंग भाषाओं जैसे सी, सी ++, पायथन और जावा के ज्ञान की आवश्यकता होती है, रोबोटिक्स के लिए प्रोग्रामिंग और सॉफ्टवेयर या मोबाइल एप्लिकेशन विकसित करने के लिए प्रोग्रामिंग के बीच कुछ महत्वपूर्ण अंतर हैं, इसलिए आपको उसकी समझ होनी चाहिए।
  • रोबोटिक्स काफी हद तक तकनीकी काम है, लेकिन कुछ सॉफ्ट स्किल्स भी होनी चाहिए जैसे- टीम लीडिंग, कम्युनिकेशन स्किल, क्रिएटिव थिंकिंग आदि।

रोबोटिक्स इंजीनियरिंग के प्रकार

रोबोटिक्स इंजीनियरिंग के निम्न प्रकार है :

माइक्रो-रोबोटिक्स डिज़ाइन एंड कंट्रोल
ऑटोमेशन सिग्नल प्रोसेसिंग
बायो-साइबरनेटिक्स रोबोट मैनिपुलेटर्स
डिजिटल इलेक्ट्रॉनिक्स और माइक्रोप्रोसेसर रोबोट मोशन प्लानिंग
मेडिकल रोबोटिक्स कंप्यूटर इंटीग्रेटेड मैन्युफैक्चरिंग सिस्टम
कम्प्यूटेशनल ज्योमेट्री आर्टिफीसियल इंटेलिजें
कंप्यूटर एडिड मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्रियल रोबोटिक्स

रोबोटिक्स इंजीनियरिंग कोर्सेज  

रोबोटिक्स इंजीनियरिंग के लिए आप डिप्लोमा/सर्टिफिकेट/बैचलर्स/ मास्टर्स/PhD कोर्सेज में एडमिशन ले सकते हैं। इन कोर्सेज की लिस्ट नीचे दी गई है

डिप्लोमा/ सर्टिफिकेट ग्रेजुएट  पोस्ट ग्रेजुएट
Diploma in Electro-Mechanical Engineering Technician –
Automation and Robotics

Graduate Certificate in Engineering – Robotics

Ontario College Graduate Certificate in Robotics and Industrial Automation

Bachelor of Science in Robotics Engineering

Bachelor of Engineering (Mechatronics)

BEng(Hons) Robotics

Bachelor of Engineering (Mechatronics)

 

Master of Science in Robotics Engineering

Master of Engineering
in Robotics and Intelligent Autonomous Systems 

Master of Science in Computing Science – Robotics (Thesis-based) 

MSc Robotics

रोबोटिक्स इंजीनियरिंग का सिलेबस 

सभी कॉलेज आमतौर पर एक समान पाठ्यक्रम का पालन करते हैं। BTech रोबोटिक्स इंजीनियरिंग कोर्सेज का सिलेबस नीचे दिया गया है।

वर्ष 1
सेमेस्टर 1 सेमेस्टर 2
इंजीनियरिंग गणित इंजीनियरिंग गणित
इंजीनियरिंग रसायन विज्ञान इंजीनियरिंग भौतिकी
मैकेनिकल इंजीनियरिंग और कार्यशाला अभ्यास के तत्व यंत्र विज्ञान अभियांत्रिकी
इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग के तत्व इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग के तत्व
कंप्यूटर विज्ञान और इंजीनियरिंग के तत्व इंजीनियरिंग ड्राइंग
व्यावसायिक संचार संविधान, मानवाधिकार और कानून
वर्ष 2
सेमेस्टर 3 सेमेस्टर 4
इंजीनियरिंग गणित इंजीनियरिंग गणित
सामग्री की ताकत एनालॉग और डिजिटल इलेक्ट्रॉनिक्स
मापन, डेटा, अधिग्रहण, और प्रसंस्करण मशीन की गतिशीलता और प्रयोगशाला
रोबोटिक्स और मेक्ट्रोनिक्स का परिचय रोबोटिक्स के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस
विद्युत मशीनें ड्राइव और एक्चुएटर्स अंकीय संकेत प्रक्रिया
वातावरण का अध्ययन रोबोट के लिए द्रव पावर सिस्टम
वर्ष 3
सेमेस्टर 5 सेमेस्टर 6
मशीन तत्वों का डिजाइन रोबोटिक प्रोग्रामिंग और सिमुलेशन
एंबेडेड प्रोसेसर और कंट्रोलर रोबोटिक्स डायनेमिक्स एंड लेबोरेटरी
रोबोट कीनेमेटिक्स और प्रयोगशाला रोबोटिक सिस्टम डिजाइन
कंप्यूटर दृष्टी एप्लाइड कंट्रोल सिस्टम
नियंत्रण प्रणाली डिजिटल इमेज प्रोसेसिंग
इंजीनियरिंग अर्थशास्त्र और लागत अनुमान
वर्ष 4
सेमेस्टर 7 सेमेस्टर 8
प्रोफेशनल कोर ऐच्छिक – 1 प्रोफेशनल कोर ऐच्छिक – 3
प्रोफेशनल कोर ऐच्छिक – 2 कागज प्रस्तुति
कागज प्रस्तुति परियोजना कार्य
परियोजना कार्य
इंटर्नशिप

रोबोटिक्स इंजीनियरिंग के लिए योग्यता

बीटेक रोबोटिक्स इंजीनियरिंग के लिए आवेदन करने के इच्छुक उम्मीदवारों को निम्नलिखित योग्यता को पूरा करना चाहिए:

  • रोबोटिक्स इंजीनियरिंग में बैचलर्स डिग्री प्रोग्राम के लिए ज़रुरी है कि उम्मीदवारों ने किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से PCM (फिजिक्स, केमिस्ट्री, गणित) से 10+2 प्रथम श्रेणी से पास किया हो।
  • भारत में रोबोटिक्स इंजीनियरिंग में बैचलर्स के लिए कुछ कॉलेजों और यूनिवर्सिटीज में JEE mainsJEE Advanced जैसे प्रवेश परीक्षा के स्कोर अनिवार्य हैं। साथ ही कुछ कॉलेज और यूनिवर्सिटीज अपनी स्वयं की प्रवेश परीक्षाएं आयोजित करतीं हैं। विदेश में इन कोर्सेज  के लिए यूनिवर्सिटी द्वारा निर्धारित आवश्यक ग्रेड आवश्यकताओं को पूरा करना जरुरी है, जो हर यूनिवर्सिटी और कोर्स के अनुसार अलग–अलग हो सकती है।
  • रोबोटिक्स इंजीनियरिंग में PG प्रोग्राम के लिए संबंधित क्षेत्र में प्रथम श्रेणी के साथ बैचलर्स डिग्री होना आवाश्यक है। साथ ही कुछ यूनिवर्सिटीज प्रवेश परीक्षा के आधार पर भी एडमिशन स्वीकार करतीं हैं।
  • विदेश की अधिकतर यूनिवर्सिटीज बैचलर्स के लिए SAT और मास्टर्स कोर्सेज के लिए GRE स्कोर की मांग करते हैं।
  • विदेश की यूनिवर्सिटीज में एडमिशन के लिए IELTS या TOEFL टेस्ट स्कोर, अंग्रेजी प्रोफिशिएंसी के प्रमाण के रूप में ज़रूरी होते हैं। जिसमे IELTS स्कोर 7 या उससे अधिक और TOEFL स्कोर 100 या उससे अधिक होना चाहिए।
  • विदेश यूनिवर्सिटीज में पढ़ने के लिए SOPLORसीवी/रिज्यूमे और पोर्टफोलियोभी जमा करने की जरूरत होती है।

विदेशी की टॉप यूनिवर्सिटी

विदेश से रोबोटिक्स इंजीनियरिंग करना भी एक बेहतर विकल्प है। यदि आप चाहे तो स्पेशल रोबोटिक्स की पढ़ाई करने के लिए विदेश भी जा सकते है।  

विश्वविद्यालय  देश
पर्ड्यू विश्वविद्यालय अमेरीका
लिवरपूल विश्वविद्यालय यूके
पश्चिमी विश्वविद्यालय कनाडा 
प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय सिडनी ऑस्ट्रेलिया 
करनेगी मेलों विश्वविद्याल पेंसिल्वेनिया
ससेक्स विश्वविद्यालय यूके
दक्षिण डेनमार्क विश्वविद्यालय डेनमार्क
विनियस गेडिमिनस तकनीकी विश्वविद्यालय लिथुआनिया
मिशिगन यूनिवर्सिटी मिशिगन
मैरीलैंड विश्वविद्यालय संयुक्त राज्य अमेरिका
जॉर्जिया विश्वविद्यालय संयुक्त राज्य अमेरिका
कोलोराडो स्टेट यूनिवर्सिटी संयुक्त राज्य अमेरिका
अल्बर्टा विश्वविद्यालय कनाडा
मेलबर्न विश्वविद्यालय मेलबोर्न
ब्रिस्टल विश्वविद्यालय

भारत में रोबोटिक्स इंजीनियरिंग कॉलेज     

देश में रोबोटिक्स इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने के लिए कुछ प्रमुख संस्थान उपलब्ध है, जहां पर आप आईआईटी-जेईई  एग्जाम के माध्यम से प्रवेश आसानी से ले सकते है:

कॉलेज शहर
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान कानपुर
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान हैदराबाद
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान रुडकि
एमिटी विश्वविद्यालय गुरुग्राम
मणिपाल प्रौद्योगिकी संस्थान (MIT) मणिपाल
बाल विश्वविद्यालय वडोदरा
यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, उस्मानिया यूनिवर्सिटी हैदराबाद
गुरु गोबिंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी दिल्ली
एनआईई मैसूर – नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग मैसूर
पीएसजी कॉलेज ऑफ टेक्नोलॉजी कोयंबटूर
भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान इलाहाबाद (आईआईआईटी इलाहाबाद)

आवेदन प्रक्रिया 

विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है–

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप AI Course Finderकी सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • एक्सपर्ट्स से कॉन्टैक्ट के पश्चात वे कॉमन डैशबोर्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से कई विश्वविद्यालयों की आपकी आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेजों जैसेSOP, निबंध (essay), सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टेस्ट स्कोर जैसेIELTSTOEFLSATACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTSTOEFLPTEGMATGRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप Leverage Liveकक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीजाऔर छात्रवृत्ति / छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे । 
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लेटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है। 

भारत के विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया, इस प्रकार है–

  1. सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  2. यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूजर नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  3. फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  4. अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  5. इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  6. यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

आवश्यक दस्तावेज 

कुछ जरूरी दस्तावेजों की लिस्ट नीचे दी गई हैं–

प्रवेश परीक्षाएं

यहां उन सभी राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त प्रवेश परीक्षाओं की सूची दी गई है जिनका उपयोग भारत और विदेशों के विश्वविद्यालय इंजीनियरिंग डिग्री के लिए छात्रों को प्रवेश देने के लिए करते हैं–

SAT (विदेश में बैचलर्स के लिए) GRE (विदेश में मास्टर्स के लिए)
JEE Mains JEE Advanced
AICET IMU CET
MERI Entrance Exam

शीर्ष भर्तीकर्ता

  • NVIDIA
  • NASA
  • Google
  • Briantech
  • iRobot
  • Diligent Robotics

रोबोटिक्स इंजीनियरिंग में करियर

रोबोटिक्स इंजीनियरिंग की डिग्री करने वाले ह्यूमनॉइड रोबोट प्रोग्रामिंग, निर्माण, परिनियोजन, स्वास्थ्य देखभाल, स्वचालित प्रबंधन और रखरखाव जैसे क्षेत्र में अपना करियर बना सकते हैं। भारत के साथ- साथ भारत के बाहर भी बेहतर भविष्य निर्माण कर सकते हैं। रोबोटिक्स इंजीनियरिंग में नौकरी के कुछ बेहतर विकल्प नीचे दिए गए हैं:

  • रोबोटिक्स विशेषज्ञ
  • रोबोटिक्स तकनीशियन
  • मोबाइल रोबोटिक्स एप्लीकेशन इंजीनियर
  • रोबोटिक्स एप्लीकेशन इंजीनियर
  • लीड रोबोटिक्स सॉफ्टवेयर इंजीनियर

सैलरी

रोबोटिक्स इंजीनियरिंग एक हाई सैलरी प्रोफेशन है। रोबोटिक्स इंजीनियरिंग के बाद आपके पैकेज की शुरुआत प्रति वर्ष 10 लाख रुपये से 20 लाख रुपये प्रति वर्ष के बीच होती है, जो आपके अनुभव के अनुसार बढ़ती रहती है। नीचे कुछ जॉब प्रोफाइल और उनकी सैलरी दी गई है। यह डाटा payscale.com से लिया गया है।

नौकरी प्रोफ़ाइल वेतन
रोबोटिक्स विशेषज्ञ ₹4 से 5 लाख
रोबोटिक्स तकनीशियन ₹5 से 7 लाख
मोबाइल रोबोटिक्स एप्लीकेशन इंजीनियर ₹6 से 10 लाख
रोबोटिक्स एप्लीकेशन इंजीनियर ₹6 से 10 लाख
लीड रोबोटिक्स सॉफ्टवेयर इंजीनियर ₹6 से 7 लाख

FAQ

रोबोटिक्स इंजीनियरिंग करने के बाद किन कंपनियों में जॉब कर सकते है ?

रोबोटिक्स इंजीनियरिंग के बाद TATA, BHEL, BARC, DiFACTO Robotics and Automation, NASA, Tech Mahindra Ltd, Kuka Robotics, ISRO, etc में जॉब के बेहतर अवसर है। 

रोबोटिक्स इंजीनियरिंग करने के लिए IIT का या अन्य कोई एंट्रेंस एग्जाम देना जरुरी है क्या ?

जी हाँ, रोबोटिक्स इंजीनियरिंग करने के लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम देना जरुरी है। 

क्या रोबोटिक्स इंजीनियरिंग एक अच्छा करियर है?

हां, रोबोटिक्स इंजीनियरिंग में करियर बेहद आकर्षक है, रोबोटिक्स इंजीनियर मैन्युफैक्चरिंग, इंजीनियरिंग, गेमिंग, लॉजिस्टिक्स और AI इंडस्ट्री जैसे कई क्षेत्रों में काम कर सकते हैं। 

मैं 12वीं के बाद रोबोटिक्स इंजीनियर कैसे बन सकता हूं?

12वीं के बाद रोबोटिक्स इंजीनियर बनने के लिए छात्र 12वीं साइंस की परीक्षा पास करने के बाद रोबोटिक्स इंजीनियरिंग में बैचलर डिग्री (BTech) के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

रोबोटिक्स इंजीनियरिंग क्या है?

रोबोटिक्स इंजीनियरिंग में रोबोट की डिजाइनिंग, निर्माण और उसकी संचालन तकनीक के विकास पर काम किया जाता है। रोबोट के संचालन के लिए एक कंप्यूटरीकृत नियंत्रण तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है, जो सेंसर और इंफॉर्मेशन प्रोसेसर के तालमेल पर आधारित होता है।

हमें उम्मीद है कि इस ब्लॉग ने आपको रोबोटिक्स इंजीनियरिंग के बारे में सभी सभी जानकारी प्रदान की है। यदि आप विदेश में रोबोटिक्स इंजीनियरिंग की पढ़ाई करना चाहते हैं, तो आज ही Leverage Edu एक्सपर्ट के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन 1800 57 2000 पर कॉल कर बुक करें।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert