एमडी और एमबीबीएस क्या अंतर है?

1 minute read
31 views
Leverage-Edu-Default-Blog

मेडिकल की फील्ड में कईं बेहतरीन कोर्सेज और डिग्रीज मौजूद हैं जिनमें से एक चुनकर आप अपना करियर मेडिकल क्षेत्र में बना सकते हैं। हालांकि यह बात सच है कि इसमें पढ़ाई और ट्रेनिंग दोनों की काफी टफ होती हैं। लेकिन अगर आप सच में बेहतरीन करियर की उम्मीद करते हैं और मेडिकल में अच्छा करना चाहते हैं तो आप मेहनत के साथ अपना लक्ष्य हासिल कर सकते हैं। ऐसे ही कोर्सेज में एमडी और एमबीबीएस मौजूद हैं जो मेडिकल की फील्ड के बेहतरीन कोर्सेज में से एक माने जाते हैं। लेकिन इन दोनों में क्या अंतर है? बेहतर जानकारी के लिए हमारे इस ब्लॉग को आखिर तक पढ़ें।

एमडी और एमबीबीएस में अंतर

एमडी और एमबीबीएस का अंतर हमेशा से एक डिस्कशन का टॉपिक रहा है। आइए बेसिक्स से शुरू करते हैं। एमडी और एमबीबीएस में अंतर जान्ने के लिए नीचे दिए गए टेबल को ध्यान से पढ़ें :-

एमडी  एमबीबीएस 
एमडी एक पोस्टग्रेजुएशन मेडिकल कोर्स है जो उन कैंडिडेट्स को ऑफर किया जाता है जो मेडिकल फील्ड में अंडरग्रेजुएट हों। इसमें एमबीबीएस की विभिन्न स्पेशलाइज़ेशनस भी शामिल हैं एमबीबीएस कोर्स मुख्यतः एक अंडरग्रेजुएट कोर्स है जो आप अपनी बारहवीं के बाद करते है। इसे मेडिकल स्टूडेंट्स चुनते है जो मूल रूप से सर्जरी और मेडिसिन को अपना करियर बनाना चाहते हैं।

एमडी और एमबीबीएस में एडमिशन लेने के लिए आप किसी भी प्राइवेट, गवर्नमेंट या सेंट्रल यूनिवर्सिटी या इंस्टिट्यूट को चुन सकते हैं। यह एडमिशंस आपके NEET और NEET PG स्कोर्स पर निर्भर करता है। एमडी और एमबीबीएस का अंतर एक ज़रूरी डिसकशन का विषय है जिसके बारे में सही जानकारी होना आवश्यक है। 

एमबीबीएस क्या है? 

एमबीबीएस (बैचलर ऑफ मेडिसिन एंड बैचलर ऑफ सर्जरी) एक प्रोफेशनल बैचलर्स डिग्री है, जो छात्रों को चिकित्सा के क्षेत्र में भविष्य के लिए तैयार करने पर फोकस्ड है। एमबीबीएस को लैटिन में Medicinae Baccalaureus Baccalaureus Chirurgiae कहा जाता है। जैसा कि नाम से पता चलता है, ये दो अलग-अलग डिग्री हैं जो एक डिसिप्लिन में इंटीग्रेटेड होती हैं और व्यवहार में एक साथ प्रस्तुत की जाती हैं। इस कोर्स की अवधि 5.5 साल है जिसमें एक साल की इंटर्नशिप भी शामिल है। यह एक बैचलर्स मेडिकल प्रोग्राम है, जो छात्रों को डॉक्टर या सर्जन बनने के अपने लक्ष्यों को आगे बढ़ाने की अनुमति देता है। 

एमबीबीएस स्पेशलाइजेशन

चिकित्सा के क्षेत्र में, दुनिया भर के चिकित्सकों की भारी मांग है। मेडिकल स्कूलों द्वारा पेश की जाने वाली सबसे लोकप्रिय और ट्रेंडिंग एमबीबीएस स्पेशलाइजेशन की लिस्ट नीचे दी गई है–

एमबीबीएस के लिए टॉप यूनिवर्सिटीज़

एमबीबीएस के लिए भारत और विदेश की टॉप यूनिवर्सिटीज नीचे दी गई हैं-

विदेश की टॉप यूनिवर्सिटीज 

विदेश में MBBS की पढ़ाई करने के लिए आप निम्नलिखित यूनिवर्सिटीज में एडमिशन लें सकते हैं-

यूनिवर्सिटीज QS वर्ल्ड रैंकिंग्स 2022
ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय 2
स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय 3
हावर्ड यूनिवर्सिटी 5
मेसाचुसेट्स इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी 1
कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय 3
येल विश्वविद्यालय 14
शिकागो विश्वविद्यालय 10
इंपीरियल कॉलेज लंदन 7
जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय 25

भारत की टॉप यूनिवर्सिटीज 

2022 के लिए NIRF रेटिंग के अनुसार, भारत में एमबीबीएस करने के लिए शीर्ष चिकित्सा संस्थानों का उल्लेख नीचे किया गया है-

महाविद्यालय  मेडिकल रैंकिंगNIRF 2022 स्थान 
ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज  1 नई दिल्ली 
पोस्टग्रेजुएट इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च   2 चंडीगढ़
क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज, वेल्लोर  3 वेल्लोर
नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ मेंटल हेल्थ एंड न्यूरोसाइंस  4 बैंगलोर
संजय गांधी पोस्टग्रेजुएट इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज  5 लखनऊ
अमृता विश्व विद्यापीठम 6 कोयंबटूर
बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी  7 वाराणसी
जवाहरलाल इंस्टिट्यूट ऑफ पोस्टग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च   8 पुदुचेरी
किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी 9 लखनऊ
कस्तूरबा मेडिकल कॉलेज, मणिपाली 10 मणिपाल

योग्यता

एमबीबीएस आवेदन की आवश्यकताएं उस देश और विश्वविद्यालय के आधार पर भिन्न होती हैं, जिसमें आप आवेदन करना चाहते हैं। निम्नलिखित कुछ सामान्य पात्रता आवश्यकताएं हैं जो उम्मीदवारों को एमबीबीएस करने के लिए पूरी करना जरूरी है–

  • एमबीबीएस के लिए ज़रुरी है कि छात्र ने अपनी 12वीं की पढ़ाई PCB (भौतिकी, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान) से पूरी की हो।
  • छात्र ने 12वीं कक्षा अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी या कॉलेज द्वारा प्रवेश के लिए निर्धारित न्यूनतम 50% अंक के साथ उत्तीर्ण की हो।
  • भारत में एमबीबीएस कोर्स करने के इच्छुक छात्रों को NEET UG की परीक्षा क्लियर करने की ज़रूरत होती है। कई विश्वविद्यालय या कॉलेज अपनी स्वयं की प्रवेश परीक्षा आयोजित करते हैं, जिनमें आवश्यक अंकों को प्राप्त करके ही छात्रों उस कॉलेज या यूनिवर्सिटी में MBBS कोर्स करने के लिए सक्षम होंगे।
  • विदेश में एमबीबीएस के लिए प्रवेश परीक्षा जैसे NEET, MCAT (ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका, कनाडा के लिए), UKCAT, BMAT, GAMSAT (UK के लिए) आदि के स्कोर जरूरी होते हैं।
  • विदेश के विश्वविद्यालयों में एडमिशन के लिए भाषा प्रवीणता के रूप में IELTS/ TOEFL/ PTE टेस्ट अंक ज़रूरी होते हैं। 
  • विदेश विश्वविद्यालयों में एडमिशन के लिए SOP, LOR और CV/Resume जैसे दस्तावेजों की भी आवश्यकता होती है।
  • उम्मीदवारों की एमबीबीएस एडमिशन पाने के लिए न्यूनतम आयु 17 वर्ष होनी चाहिए। एमबीबीएस प्रवेश के लिए ऊपरी आयु सीमा 25 वर्ष है।

एमबीबीएस के बाद करियर

आप एमबीबीएस पूरा करने के बाद निम्नलिखित रूप में काम कर सकते है। यहाँ एमबीबीएस में आपको सैलरी के बारे में बताया गया है-

जॉब प्रोफाइल्स औसत सालाना सैलरी (INR)
वेटेरिनारियंस 73-75 लाख
रजिस्टर्ड नर्स 55-58 लाख
डेंटिस्ट 1.21-1.23 करोड़
फिजिशियन और सर्जन  1.53-1.70 करोड़
एक्सरसाइज फिजियोलॉजिस्ट  37-38 लाख
मेडिकल प्रोफेसर और लेक्चरर  50-52 लाख
रिसर्चर 1.10-1.20 करोड़
साइंटिस्ट 1.20-1.24 करोड़
होम हेल्थ और पर्सनल केयर 20-30 लाख
काउंसलर 71-75 लाख

एमडी क्या है? 

जब हम एमडी और एमबीबीएस की तुलना करते हैं तो यह जानना ज़रूरी है कि एमडी यानि डॉक्टर ऑफ़ मेडिसिन मेडिकल साइंस कोर्सेज का सबसे पॉपुलर पोस्टग्रेजुएशन कोर्स माना गया है। इसकी अवधि आम तौर पर तीन से चार साल रहती है। इसके सिलेबस की बात की जाए तो आपको मेडिकल कॉलेजेस के अनुसार  बदलाव देखने को मिल सकते हैं। तो अगर आप अपनी एमबीबीएस पूरी कर चुके हैं और अपनी नॉलेज मेडिकल की फील्ड में बढ़ाना चाहते हैं तो आप एमडी में एक स्पेशलाइज़ेशन चुनकर एमडी प्रोग्राम ज्वाइन कर सकते हैं। दुनिया में ऐसी भी कुछ कंट्रीज़ हैं जो आपकी एमडी डिग्री को एक पीएचडी के समान वैल्यू देते हैं। 

एमडी स्पेशलाइजेशन

एमडी डिग्री के लिए निम्नलिखित स्पेशलाइज़ेशन मौजूद हैं-

  • पैथोलॉजी 
  • माइक्रोबॉयोलॉजी 
  • डर्मटोलॉजी एंड वेनेरोलॉजी 
  • बायोफिज़िक्स 
  • एनस्थेसिओलॉजी 
  • पेडियाट्रिक 
  • न्यूक्लियर मेडिसिन 
  • फार्माकोलॉजी 
  • एनाटोमी 
  • आब्सटेट्रिक्स एंड गाइनेकोलॉजी  
  • फॉरेंसिक मेडिसिन एंड टॉक्सिकोलॉजी 
  • फिज़िओलॉजी 
  • बायोकेमिस्ट्री 
  • एनाटॉमी 
  • बायोफिज़िक्स 
  • पोथल्मोलॉजी 
  • साइकिएट्री 
  • रेडिओथेरेपी 
  • फिज़िकल मेडिसिन एंड रिहैबिलिटेशन (PMS)

एमडी के लिए टॉप यूनिवर्सिटीज़

एमडी के लिए भारत और विदेश की टॉप यूनिवर्सिटीज नीचे दी गई हैं :-

विदेश की टॉप यूनिवर्सिटीज 

विदेश में एमडी की पढ़ाई करने के लिए आप निम्नलिखित यूनिवर्सिटीज में एडमिशन लें सकते हैं-

भारत की टॉप यूनिवर्सिटीज 

भारत के शीर्ष चिकित्सा संस्थानों का उल्लेख नीचे किया गया है-

  • ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंसेज (AIIMS), नई दिल्ली 
  • पोस्ट ग्रेजुएशन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च (PGIMER), चंडीगढ़ 
  • क्रिस्चियन मेडिकल कॉलेज (CMC), वेलोर 
  • संजय गाँधी पोस्टग्रेजुएट इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंसेज (SGPGIMS), लखनऊ 
  • बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी (BHU), वाराणसी 
  • कस्तूरबा मेडिकल कॉलेज (KMS), मणिपाल 
  • जवाहरलाल इंस्टिट्यूट ऑफ़ पोस्ट ग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च (JIPMER), पॉन्डिचेरी 
  • इंस्टिट्यूट ऑफ़ लिवर एंड बिलियरी साइंसेज (ILBS), नई दिल्ली 

योग्यता

 एमडी के लिए नीचे योग्यता दी गई है-

  • विदेशी संस्थानों में ज़्यादातर एमडी कोर्स आपको 2-3 साल की अवधि का मिल सकता है, जिसमें क्लिनिकल इंटर्नशिप भी शामिल है। 
  • ज़्यादातर विदेशी कॉलेज आपके एजुकेशनल एलिजिबिलिटी और पर्सनल डिटेल के आधार पर एप्लीकेंट्स का चयन करते हैं, साथ ही एमबीबीएस की डिग्री और विभिन्न एंट्रेंस एग्जाम में भी बेहतर प्रदर्शन जरूरी है। 
  • कनाडा और यूएसए में MCAT, यूके में UCAT स्कोर की मांग की जाती है। आपको अपने NEET स्कोर्स के साथ UCAT या MCAT स्कोर भी जमा करने होंगे।
  • यदि आप किसी अंग्रेजी भाषी देश में एमडी करना चाहते हैं तो आपको IELTS, TOEFL आदि के स्कोर भाषा प्रवीणता के रूप में जमा करने होते हैं। वहीं यदि आप यह कोर्स एक गैर-अंग्रेजी भाषी देश में करने का लक्ष्य बना रहे हैं, तो आपको उनकी भाषा सीखने के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर करना होता है। 
  • थ्योरिटिकल सेमेस्टर के दौरान यह कोई मुद्दा नहीं है, लेकिन जब आपको अपने कार्यक्रम के चौथे सेमेस्टर के दौरान इंटर्नशिप करना होता है, तो आपसे उस देश की मूल भाषा में कम्युनिकेट करने की उम्मीद की जाएगी। 

भारत में अनिवार्य योग्यताएं 

  • वह एक भारतीय नागरिक होना चाहिए। भारत के प्रवासी नागरिक (ओसीआई) और भारतीय मूल के व्यक्ति (पीआईओ) भी प्रवेश परीक्षा देने के लिए योग्य हैं।
  • उम्मीदवारों को एमसीआई द्वारा मान्यता प्राप्त संस्थान से अपनी एमबीबीएस की डिग्री पूरी करनी होगी।
  • आवेदक की आयु कम से कम 21 वर्ष होनी चाहिए।
  • प्रवेश परीक्षा के लिए उपस्थित होना और NEET PG उत्तीर्ण करने के लिए NEET एमडी कटऑफ मीट करना अनिवार्य है।

एमडी के बाद करियर

MD की डिग्री के बाद कैंडिडेट्स के पास विकल्पों के नाम पर काफी ऑप्शंस मौजूद होंगे। आप पब्लिक और प्राइवेट दोनों ही सेक्टर्स में काफी बेहतर जॉब्स पा सकते हैं। इसके साथ साथ आपको मेडिकल इंस्टीट्यूट्स/कॉलेजेस, मेडिकल सेगमेंट्स जैसे नर्सिंग होम्स और क्लिनिक्स में भी नौकरी मिल सकती है। अपनी मास्टर्स के बाद आप चाहें तो यूनिवर्सिटीज एज्युकेटर्स और रिसर्चर्स के रूप में भी अपना करियर बना सकते हैं। इसके अलावा अगर आप नौकरी करने के इच्छुक नहीं हैं तो आप अपना काम भी शुरू कर सकते हैं और अपनी प्रैक्टिस जारी रख सकते हैं। 

FAQs

डॉक्टर की सबसे बड़ी डिग्री कौन सी है?

डॉक्टर कैसे बनें- नीट एग्जाम के तहत आने वाले कोर्सेज-
1. एमबीबीएस (बैचलर ऑफ मेडिसिन, बैचलर ऑफ सर्जरी)
2. बीडीएस (बैचलर ऑफ डेंटल सर्जरी)
3. बीएएमएस (बैचलर ऑफ आयुर्वेदिक मेडिसिन एंड सर्जरी)
4. बीएचएमएस (बैचलर ऑफ होम्योपैथिक मेडिसिन एंड सर्जरी)
5. बीयूएमएस (बैचलर ऑफ यूनानी मेडिसिन एंड सर्जरी)

डॉक्टर कितने प्रकार के होते हैं?

डॉक्टर के प्रकार नीचे दिए गए हैं :-
1. General Physician. यह एक सामान्य डॉक्‍टर होता है।
2. Cardiologist (दिल का डॉक्‍टर) ये दिल के डॉक्‍टर होते हैं।
3. Dentist (दांत के डॉक्‍टर) यह दांत का डॉक्‍टर होता है।
4. Physiatrists
5. Allergist (एलर्जी का डॉक्‍टर)
6. Audiologist (कान का डॉक्‍टर)
7. An aesthesiologists
8. Dermatologist (त्‍वचा का डॉक्‍टर)

मेडिकल में सबसे अच्छा कोर्स कौन सा है?

12 वीं PCB के बाद NEET के बिना उच्च वेतन वाले कोर्स:-

कोर्सेज
औसत सालाना पैकेज
बीएससी फोरेंसिक साइंस
$56,750 (INR 41.72 लाख)
बीएससी पैरामेडिकल टेक्नोलॉजी
$79,000 (INR 58.08 लाख)
बीएससी ऑप्टोमेट्री
$1.15 लाख (INR 84.73 लाख)
बीएससी चिकित्सा इमेजिंग प्रौद्योगिकी में
$84,000 (INR 61.75 लाख)

हम आशा करते हैं कि अब आप जान गए होंगे कि एमडी और एमबीबीएस अंतर क्या है? अगर आप एमडी या एमबीबीएस कोर्स करना चाहते हैं और साथ ही एक उचित मार्गदर्शन चाहते हैं तो आज ही 1800572000 पर कॉल करके हमारे Leverage Edu के एक्सपर्ट्स के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन बुक कीजिए।

प्रातिक्रिया दे

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today. MBBS
Talk to an expert