कॉपीराइटर कैसे बनें?

2 minute read
547 views
copywriter kaise bane

कॉपीराइटिंग एक दिलचस्प करियर विकल्प है, जो अच्छी कमाई के लिए पर्याप्त अवसर प्रदान करता है। कई उद्योगों को कॉपीराइटर्स की आवश्यकता होती है, इसलिए इस क्षेत्र के पेशेवर हमेशा उच्च मांग में रहते हैं। यदि आप एक कॉपीराइटर बनना चाहते हैं, तो कौशल का एक विशिष्ट सेट विकसित करना और नौकरी के लिए खुद को प्रशिक्षित करना महत्वपूर्ण है। आइए विस्तार से जानते हैं कि copywriter kaise bane।

कोर्स का नाम कॉपीराइटिंग
कॉपीराइटर के प्रकार -मार्केटिंग कॉपीराइटर
-क्रिएटिव कॉपीराइटर
-इन्टरप्रेटर कॉपीराइटर
-डिजिटल कॉपीराइटर
कोर्सेज -Bachelor of Journalism and Mass Communication
-BA in Journalism-BA in English Literature
-MA in English Literature
-MA in Journalism
विदेशी यूनिवर्सिटीज ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी
कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी
हार्वर्ड यूनिवर्सिटी
यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया, बर्केले
स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी
टॉप रिक्रूटर्स -P&G
-Times of India
-The Indian Express
-Splendid Digital Solutions
This Blog Includes:
  1. कॉपीराइटर किसे कहते हैं?
  2. कॉपीराइटर के प्रकार
  3. कॉपीराइटर बनने के लाभ
  4. कॉपीराइटर बनने के लिए जरूरी कौशल
  5. कॉपीराइटर कैसे बनें?
    1. 1. शैक्षणिक योग्यता अर्जित करें।
    2. 2. कॉपीराइटिंग की मूल बातें समझें।
    3. 3. अपने कौशल का विकास करें।
    4. 4. अपनी रूचियों को पहचानें।
    5. 5. एक पोर्टफोलियो बनाएं। 
    6. 6. कॉपीराइटिंग जॉब के लिए अप्लाई करें।
  6. ऑनलाइन कॉपीराइटिंग कोर्सेस
  7. कॉपीराइटिंग संबंधित कुछ प्रमुख कोर्सेस
  8. विदेश में टॉप विश्वविद्यालय
  9. भारत में टॉप विश्वविद्यालय
  10. योग्यता
  11. आवेदन प्रक्रिया
    1. यूके के लिए आवेदन प्रक्रिया
  12. आवश्यक दस्तावेज
  13. कॉपीराइटर बनने के लिए पुस्तकें और अध्ययन सामग्री
  14. कॉपीराइटर के लिए रोजगार के अवसर
  15. कॉपीराइटर के लिए टॉप भर्ती कंपनियां 
  16. कॉपीराइटर का वेतन
  17. FAQs

कॉपीराइटर किसे कहते हैं?

एक कॉपीराइटर इंटरनेट के लिए रचनात्मक और अट्रैक्टिव कॉपी लिखता है। इसके अलावा वे रचनात्मक कंटेंट की जांच, योजना और उत्पादन करते हैं। इन प्रतियों का मुख्य उद्देश्य वस्तुओं और सेवाओं के बारे में शिक्षित करना, संलग्न करना और विज्ञापन देना है। विज्ञापन, नारे, ब्लॉग पोस्ट, ईमेल, बिक्री पत्र (sales letter), श्वेत पत्र (White papers),भाषण और स्क्रिप्ट लिखना उनकी भूमिका का हिस्सा हैं। कॉपी राइटिंग में ब्रेनस्टॉर्मिंग और स्टोरीबोर्डिंग कॉन्सेप्ट शामिल हैं। 

कॉपीराइटर के प्रकार

Copywriter kaise bane जानने के लिए पहले आपको उनके प्रकारों के बारे में भी जानना चाहिए। नीचे रचनात्मक क्षमता और गुणों के आधार पर कॉपीराइटर्स के प्रकारों के बारे में बताया गया है–

  • मार्केटिंग कॉपीराइटर: मार्केटिंग कॉपीराइटर, विज्ञापन लिखने और उपभोक्ता की जरूरतों को पूरा करने में मदद करने के लिए मार्केटिंग ट्रेंड्स का उपयोग करते हैं।  मार्केटिंग कॉपीराइटर के पास बहुत अच्छा मार्केटिंग ज्ञान होता है और वे जनता को प्रभावित करना जानते हैं। वे मुख्य रूप से होर्डिंग और ऑनलाइन विज्ञापनों में उपयोग होने वाले टेक्स्ट तैयार करते हैं।
  • क्रिएटिव कॉपीराइटर: क्रिएटिव कॉपीराइटर के पास कहानी को संक्षिप्त, चुटीले,  स्नैपी (तड़क– भड़क) और यादगार तरीके से बताने की क्षमता होती है जो लोगों की नज़रों में आसानी से आ सकती है। उनका मुख्य फोकस एक ब्रांड बनाना होता है और उनका काम मुख्य रूप से विज्ञापन-आधारित है।
  • इन्टरप्रेटर कॉपीराइटर: व्याख्याकार कॉपीराइटर का काम किसी प्रोडक्ट या टेक्नोलॉजी में निवेश के लिए तार्किक और तर्कसंगत (logical and rational) मामले को प्रस्तुत करना होता है। वे मुख्य रूप से उत्पाद/डेमो स्क्रिप्ट पर काम करते हैं।
  • डिजिटल कॉपीराइटर: एक डिजिटल कॉपीराइटर मुख्य रूप से ऑन-पेज नेविगेशन, सोशल मीडिया कॉपी, बटन कॉपी आदि पर काम करता है।
  • SEO कॉपीराइटर: SEO कॉपीराइटर, मुख्य रूप से ऐसा कंटेंट बनाते हैं जो उनके कंटेंट या प्रोडक्ट को Google जैसे सर्च इंजन परिणामों में उच्च रैंकिंग की ओर ले जाए। वे सर्च इंजन में क्लाइंट के प्रोडक्ट को ऊपर लाकर ऑप्टिमाइज़ेशन बनाने के लिए विज्ञापनों या लेखों में कीवर्ड डालते हैं।  
  • तकनीकी कॉपीराइटर: तकनीकी या टेक्निकल कॉपीराइटर वे होते हैं जिन्हें किसी विशिष्ट क्षेत्र या उद्योग के बारे में जानकारी होती है। वे मुख्य रूप से प्रौद्योगिकी और स्वास्थ्य सेवा क्षेत्रों में पाए जाते हैं।

कॉपीराइटर बनने के लाभ

कॉपीराइटर बनने के लाभ नीचे दिए गए हैं – 

  • काम के घंटे: कॉपी राइटिंग को फ्रीलांसिंग के रूप में भी किया जा सकता है जो काम के फ्लेक्सिबल घंटे प्रदान करता है।
  • घर से काम करने का अवसर: कॉपी राइटिंग अक्सर दूर से या घर से की जा सकती है, तब भी जब आप किसी कंपनी के लिए काम करते हैं। यह आपको अपनी सुविधानुसार काम करने की स्वतंत्रता प्रदान करता है और आपको अपनी क्षमता और उत्पादकता बढ़ाने में मदद करता है।
  • रचनात्मक होने की स्वतंत्रता: कॉपी राइटिंग लेखन का एक रूप है, इसलिए आपको अपने रचनात्मक पक्ष का पता लगाने और उसे व्यक्त करने की स्वतंत्रता है। चूंकि नौकरी के लिए भी रिसर्च की आवश्यकता होती है, यह आपको नई चीजें सीखने और अपनी क्षमता में सुधार करने की अनुमति देता है।
  • उचित वेतन: एक कॉपीराइटर की नौकरी विज्ञापन क्षेत्र में सबसे अधिक भुगतान वाली नौकरियों में से एक है। यहां तक ​​कि शुरुआती भी औसतन INR 2.5 लाख कमा सकते हैं। कुछ कंपनियां उन कर्मचारियों को INR 20 लाख तक का भुगतान भी कर सकती हैं जिनके पास लगभग 10 वर्षों का कार्य अनुभव है।

कॉपीराइटर बनने के लिए जरूरी कौशल

Copywriter kaise bane जानने के साथ ही आपको कॉपीराइटरबनने के लिए कुछ ज़रुरी कौशल के बारे में भी पता होना चाहिए। चाहे आप एक एजेंसी, कॉर्पोरेट या स्वतंत्र लेखक हों, ये कुछ केंद्रीय गुण हैं जो आपको अपने करियर में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए जरूरी है:

  • लेखन कला: कॉपीराइटिंग का कार्य एक पुनरावर्ती प्रक्रिया (iterative process) है, अतः कॉपीराइटर में एक रचनात्मक लेखन कला का होना जरूरी है। जरूरी नहीं कि आप शुरू से ही एक कुशल लेखक हों, लेकिन दैनिक अभ्यास करने से आपको अपने लेखन कौशल को निखारने और समय के साथ सुधार करने में मदद मिल सकती है।
  • छोटी–छोटी चीज़ों पर ध्यान: आपको वस्तुनिष्ठ (ऑब्जेक्टिव) दृष्टिकोण से अपने काम का मूल्यांकन करने में सक्षम होना चाहिए। आपको संभावित गलतियों के लिए अपने काम को स्कैन करना होगा, सही व्याकरण, वर्तनी और विराम चिह्न की प्रैक्टिस करनी होगी। गुणवत्ता के लिए प्रूफरीडिंग करनी होगा।
  • संचार कौशल: संचार कौशल, दूसरों को पूरी तरह और स्पष्ट रूप से समझने में हमारी मदद करता है। अपने ग्राहकों को ध्यान से सुनना, उनकी दृष्टि की व्याख्या (vision interpretation) करना और उनके इच्छित उद्देश्य के लिए लिखना कॉपीराइटर के कामों में शामिल है। इन सभी के लिए उत्कृष्ट मौखिक और लिखित संचार कौशल की आवश्यकता होती है।
  • रचनात्मकता: चीजों को नए नजरिए से देखने में सक्षम होना एक अनोखा कौशल है। आपके ग्राहक, विशिष्ट दर्शकों के लिए कंटेंट को आकर्षक बनाने के लिए आपकी रचनात्मकता पर भरोसा करते हैं। कॉपीराइटर बनने के लिए क्लाइंट के निर्देशों का पालन करते हुए कॉपीराइटिंग के लिए रचनात्मकता भी आवश्यक है।

कॉपीराइटर कैसे बनें?

Copywriter kaise bane जानने के लिए नीचे दिए गए स्टेप्स का पालन करें–

1. शैक्षणिक योग्यता अर्जित करें।

कॉपीराइटर बनने के लिए किसी औपचारिक शैक्षणिक योग्यता का होना जरूरी नहीं है। हालांकि, कुछ एजेंसियां ​​और क्लाइंट ऐसे उम्मीदवारों को काम पर रखने पर जोर देते हैं जिन्होंने कम से कम बैचलर्स डिग्री पूरी कर ली हो। चूंकि कॉपी राइटिंग एक प्रतिस्पर्धी क्षेत्र है, नियोक्ता ऐसे उम्मीदवारों को काम पर रखना पसंद करते हैं जिन्होंने मार्केटिंग, जर्नलिज्म, जनसंचार या साहित्य (mass communication or literature) में प्रोफेशनल कोर्स पूरा किया है।

2. कॉपीराइटिंग की मूल बातें समझें।

आप नौकरियों के लिए आवेदन करने से पहले कॉपीराइटिंग में शामिल कार्यप्रवाहों (workflows) को सीखने पर विचार जरूर करें। इस क्षेत्र में सफल होने के लिए आपको मानव मनोविज्ञान और अपने पाठकों की जरूरतों की अच्छी समझ होनी चाहिए। अपनी व्यक्तिगत लेखन शैली और रचनात्मकता को शामिल करते हुए, आपको ग्राहक के निर्देशों और आवश्यकताओं को अत्यधिक प्राथमिकता देनी चाहिए।

3. अपने कौशल का विकास करें।

कॉपीराइटर अपने ग्राहकों द्वारा निर्धारित कुछ मानकों और दिशानिर्देशों का पालन करते हुए विशिष्ट उद्देश्यों के लिए रीडिंग कंटेंट बनाते हैं। इसे प्रभावी ढंग से करने में सक्षम होने के लिए, आप अपने कौशल को विकसित कीजिए। अपनी त्रुटियों को खोजकर उनमें सुधार कीजिए। 

4. अपनी रूचियों को पहचानें।

एक कॉपीराइटर के रूप में, आपके पास विज्ञापन और उत्पाद विवरण (Product Details) से लेकर शैक्षणिक पाठ और तकनीकी दस्तावेजों तक विभिन्न प्रकार के कंटेंट लिखने का विकल्प होता है। यह जानना महत्वपूर्ण है कि आप किस प्रकार के लेखन में रुचि रखते हैं। यह स्टेप आपको उपयुक्त लेखन नमूने और एक प्रभावी पोर्टफोलियो तैयार करने में मदद कर सकता है।

5. एक पोर्टफोलियो बनाएं। 

अधिकांश नियोक्ता यह मूल्यांकन करने के लिए आपके काम के सैंपल्स देखना चाहते हैं कि क्या आप इस जॉब रोल के लिए उपयुक्त हो सकते हैं या नहीं। एक बार जब आप अपनी लेखन रूचि की पहचान कर लेते हैं, तो कुछ राइटिंग सैंपल्स तैयार करें जो उस विशेष डोमेन में आपकी विशेषज्ञता को उजागर करते हैं। संभावित नियोक्ताओं और ग्राहकों को प्रस्तुत करने के लिए अपने राइटिंग सैंपल्स को एक पोर्टफोलियो के रूप में इकट्ठा करें। 

6. कॉपीराइटिंग जॉब के लिए अप्लाई करें।

किसी ग्राहक या नियोक्ता की आवश्यकताओं का मूल्यांकन करने पर विचार करें और नौकरी के लिए आवेदन करने से पहले नौकरी के विवरण को विस्तार से पढ़ें। अपने पोर्टफोलियो को अपडेट करें। यदि आप कॉपीराइटिंग के भीतर कई डोमेन/उद्योगों में रुचि रखते हैं, तो आप अपने वर्क सैंपल्स को वर्गीकृत करने के लिए अलग-अलग पोर्टफोलियो बनाने पर विचार कर सकते हैं।

ऑनलाइन कॉपीराइटिंग कोर्सेस

डिग्री और डिप्लोमा पाठ्यक्रमों के अलावा, छात्र विभिन्न ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफॉर्म्स द्वारा पेश की जाने वाले ऑनलाइन कोर्सेस के लिए आवेदन कर सकते हैं। Skillshare, Coursera और Udemy आदि ऐसे प्लेटफॉर्म हैं जो ऐसे कई कोर्सेस प्रदान करते हैं। आप इन कोर्सेस के जरिए कॉपीराइटिंग संबंधित मूल बातें सीख सकते हैं और अपने कॉपीराइटिंग कौशल को बढ़ाना सकते हैं। नीचे कुछ प्रमुख कोर्सेस दिए गए हैं–

कोर्स प्लेटफॉर्म
How to Write a Web Copy Skillshare
Social Media Copywriting Masterclass Skillshare
Copywriting Basics for Successful Sales Skillshare
Web Design and Copywriting Skillshare
The Complete Copywriting Course Skillshare
Copywriting Secrets Udemy
Modern Copywriting Udemy
The Strategy of Copywriting Coursera
Creative Writing Coursera

कॉपीराइटिंग संबंधित कुछ प्रमुख कोर्सेस

कॉपीराइटिंग का कोई विशेष कोर्स नहीं है। आप अंग्रेजी, पत्रकारिता, विज्ञापन या मार्केटिंग में डिग्री हासिल कर सकते हैं। ये कोर्सेस व्याकरण, लेखन कौशल, संपादन कौशल, वाक्य निर्माण और रिसर्च कौशल सीखने के लिए आपकी मदद कर सकते हैं। कुछ निश्चित डिग्री पाठ्यक्रम हैं जिन्हें छात्र महान कॉपीराइटर बनने के लिए चुन सकते हैं। कुछ प्रमुख कोर्सेस की लिस्ट नीचे दी गई है–

आप AI Course Finder की मदद से अपनी प्रोफाइल के अनुसार सही यूनिवर्सिटी और अपनी पसंद का कोर्स चुन सकते हैं।

विदेश में टॉप विश्वविद्यालय

विदेश के टॉप विश्वविद्यालयों की सूची नीचे दी गई है–

आप UniConnect के जरिए विश्व के पहले और सबसे बड़े ऑनलाइन विश्वविद्यालय मेले का हिस्सा बनने का मौका पा सकते हैं, जहाँ आप अपनी पसंद के विश्वविद्यालय के प्रतिनिधि से सीधा संपर्क कर सकेंगे।

भारत में टॉप विश्वविद्यालय

भारत में कॉपीराइटिंग संबंधित कोर्सेस के लिए टॉप विश्वविद्यालयों की  लिस्ट नीचे दी गई है–

  • सिम्बायोसिस इंस्टीट्यूट ऑफ मीडिया एंड कम्युनिकेशन, पुणे
  • मीडिया और कला के एएएफटी विश्वविद्यालय
  • क्राइस्ट कॉलेज, बैंगलोर
  • दिल्ली कला और वाणिज्य विश्वविद्यालय, पुणे
  • एमिटी यूनिवर्सिटी, मुंबई
  • कमला नेहरू विश्वविद्यालय, नई दिल्ली
  • मद्रास इंस्टिट्यूट कॉलेज
  • सावित्री बाई फुले विश्वविद्यालय, पुणे
  • किशनचंद चेल्लाराम कॉलेज
  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ जर्नलिज्म एंड न्यू मीडिया, बैंगलोर

योग्यता

कॉपीराइटिंग संबंधित कोर्सेस के लिए सामान्य योग्यताओं के बारे में नीचे बताया गया है–

  • बैचलर्स कोर्सेस में प्रवेश लेने के लिए जरूरी है कि उम्मीदवार ने किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से किसी भी स्ट्रीम में 12वीं पूरा किया हो। 
  • कुछ कॉलेज और विश्वविद्यालय प्रवेश परीक्षा भी आयोजित करते हैं। विदेश में बैचलर्स के लिए SAT या ACT स्कोर्स की मांग की जाती है।
  • मास्टर्स कोर्सेस के लिए जरूरी है कि उम्मीदवार ने किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या कॉलेज से किसी भी स्ट्रीम में बैचलर्स डिग्री प्राप्त की हो।
  • मास्टर्स कोर्सेस में एडमिशन के लिए कुछ विश्वविद्यालय प्रवेश परीक्षा आयोजित करते हैं इसके बाद ही आप इन कोर्सेस के लिए पात्र हो सकते हैं। विदेश की कुछ यूनिवर्सिटीज में मास्टर्स के लिए GRE स्कोर की अवश्यकता होती है।
  • साथ ही विदेश के लिए आपको ऊपर दी गई आवश्यकताओं के साथ IELTS या TOEFL स्कोर की भी आवश्यकता होती है।
  • विदेश के विश्वविद्यालयों में एडमिशन के लिए SOP, LOR, CV/रिज्यूमे  और पोर्टफोलियो  भी जमा करने होंगे।

क्या आपको IELTS या TOEFL की तैयारी में दिक्कत आ रही है? तो आज ही Leverage Live पर register करें और अच्छे score प्राप्त करें।

आवेदन प्रक्रिया

Copywriter Kaise Bane जानने के लिए नीचे आवेदन प्रक्रिया दी गई है:

  • कैंडिडेट को 12 साल की बेसिक एजुकेशन पूरी करनी होगी। 12th (किसी भी स्ट्रीम) pass करना आवश्यक है।
  • इस कोर्स करने के लिए सबसे पहले प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन करना होगा। छात्र, राष्ट्रीय लेवल की परीक्षा जैसे IPU CET, DUET, SET,MET आदि के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • छात्रों को परीक्षा ऑनलाइन या ऑफलाइन मोड के माध्यम से देनी होगी।
  • प्रवेश परीक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर छात्रों का विश्लेषण किया जाएगा। शॉर्टलिस्ट किए गए छात्रों की एक मेरिट लिस्ट जारी की जाएगी।
  • कुछ कॉलेज ग्रुप डिस्कशन (GD) और पर्सनल इंटरव्यू के जरिए भी एडमिशन प्रदान करते हैं।

यूके के लिए आवेदन प्रक्रिया

बैचलर्स डिग्री में एडमिशन लेने के लिए आपको UCAS पोर्टल पर जाकर रजिस्ट्रेशन करना होगा। यहाँ से आपको यूजर आईडी और पासवर्ड प्राप्त होंगे। वहीं मास्टर्स में एडमिशन लेने के लिए आपको यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करना होगा। फिर वहीं से ही छात्रों को यूजर आईडी और पासवर्ड मिलेंगे।

  • यूजर आईडी से अकाउंट साइन इन करें और डिटेल्स भरें।
  • कोर्स करिकुलम और जरूरी योग्यता को चेक कर लें।
  • अपनी यूनिवर्सिटी के एप्लीकेशन फॉर्म पर क्लिक करें।
  • सबसे पहले आपको ईमेल या फ़ोन नंबर के द्वारा न्यू रजिस्ट्रेशन करना होगा।
  • अकाउंट वेरिफिकेशन के बाद अकाउंट लोग-इन करके पर्सनल डिटेल्स (नाम, जेंडर, पिता का नाम, माता का नाम, जन्म की तिथि) भरें।
  • अकादमिक डिटेल्स भरें और आवश्यक डाक्यूमेंट्स को अपलोड करें।
  • अंत में एप्लीकेशन फीस का भुगतान करें।
  • फिर अपना एप्लीकेशन फॉर्म जमा करें।
  • कुछ यूनिवर्सिटीज, सिलेक्शन के बाद वर्चुअल इंटरव्यू के लिए आमंत्रित करतीं हैं।

आवदेन प्रक्रिया से सम्बन्धित जानकारी और मदद के लिए Leverage Edu के एक्सपर्ट्स से 1800572000 पर संपर्क करें

आवश्यक दस्तावेज

नीचे दिए गए आवश्यक दस्तावेज इस प्रकार हैं:

छात्र वीजा पाने के लिए भी Leverage Edu विशेषज्ञ आपकी हर सम्भव मदद करेंगे।

कॉपीराइटर बनने के लिए पुस्तकें और अध्ययन सामग्री

अपने आप को एक सफल कॉपीराइटर स्थापित करने के लिए दिलचस्प कॉपी और लोगों की नज़रों में आने वाले विज्ञापनों को बनाने की क्षमता होनी चाहिए।  इसलिए यह अनुशंसा की जाती है कि इच्छुक कॉपीराइटर अपना करियर स्थापित करने के लिए विज्ञापन पुस्तकों और अध्ययन सामग्री का अध्ययन करें।  कॉपीराइटर के रूप में करियर बनाने में आपकी मदद करने के लिए कुछ लोकप्रिय किताबें और अध्ययन सामग्री नीचे सूचीबद्ध हैं:

किताब लेखक (द्वारा लिखित) लिंक
Everybody Writes Ann Handley खरीदने के लिए यहां क्लिक करें।
Write Good or Die Scott Nicholson खरीदने के लिए यहां क्लिक करें।
The Content Strategy Toolkit: Methods, Guidelines and Templates for Getting Content Right Meghan Casey खरीदने के लिए यहां क्लिक करें।
The Adweek Copywriting Handbook  Joseph Sugarman खरीदने के लिए यहां क्लिक करें।
Copywriting Secrets Jim Edwards खरीदने के लिए यहां क्लिक करें।
How to Write Better Copy Steve Harrison खरीदने के लिए यहां क्लिक करें।
Copywriting: The Definitive Beginner’s Guide Adam Richards खरीदने के लिए यहां क्लिक करें।
The Copywriter’s Handbook Robert W. Bly खरीदने के लिए यहां क्लिक करें।

कॉपीराइटर के लिए रोजगार के अवसर

कॉपीराइटर के लिए रोजगार के अवसर विभिन्न क्षेत्रों में मिल सकते हैं।  यह एक बहुत बड़ा उद्योग है और इच्छुक उम्मीदवार नीचे सूचीबद्ध क्षेत्रों में नौकरियां पा सकते हैं–

  • विज्ञापन एजेंसियां
  • विज्ञापन/पीआर फर्म
  • वाणिज्यिक (commercial) रेडियो या TV
  • बहुराष्ट्रीय विज्ञापन फर्म
  • मुद्रण माध्यम
  • रिसर्च मार्केट

कॉपीराइटर के लिए टॉप भर्ती कंपनियां 

कॉपीराइटर के लिए शीर्ष भर्ती कंपनियां विज्ञापन एजेंसियों से लेकर प्रकाशन गृहों से लेकर पीआर फर्मों से लेकर रेडियो तक हैं। कॉपीराइटर की भर्ती करने वाली शीर्ष कंपनियां इस प्रकार हैं–

  • P&G
  • Time of India
  • The Indian Express
  • Splendid Digital Solutions
  • Zee Telefilms
  • O&M
  • MBL-CRG
  • Lowe Lintas
  • Rediffusion

कॉपीराइटर का वेतन

एक कॉपीराइटर का वेतन कई कारकों जैसे आर्गेनाइजेशन, कंपनी, पेशेवर और शैक्षणिक अनुभव, रचनात्मक ज्ञान, स्थान से निर्धारित होता है। एक जूनियर कॉपीराइटर का वेतन 20,000 रुपये से 23,000 रुपये प्रति माह के बीच है। Payscale के अनुसार देशों के आधार पर कॉपीराइटर की वेतन सीमा इस प्रकार है–

जॉब लेवल  भारत में वेतन (INR में) UK में वार्षिक वेतन (INR में) USA में वेतन(INR में)
प्रारंभिक 2.50 – 3 लाख 10-15 लाख 10-25 लाख
मिड लेवल 3 – 5 लाख 15-20 लाख 25-40 लाख
सीनियर लेवल 5 – 8 लाख 20-30 लाख 40-50 लाख

FAQs

कॉपीराइटिंग क्या है?

कॉपीराइटिंग को एक प्रोफेशनल पेशा या तरीका कह सकते है जिसमें विज्ञापन के लिए ईमेल मार्केटिंग, टेक्स्ट, सेल्स पिच, वेब कंटेंट और ब्लॉग पोस्ट लिख कर ब्रांड के प्रति जागरूकता और प्रोडक्ट सेल को बढ़ाने पर जोर दिया जाता है।

कॉपीराइटर कौन हैं?

एक कॉपीराइटर इंटरनेट के लिए रचनात्मक और सम्मोहक प्रतियां लिखता है। वे रचनात्मक कंटेंट की जांच, योजना और उत्पादन करते हैं। इन प्रतियों का मुख्य उद्देश्य वस्तुओं और सेवाओं के बारे में शिक्षित करना, संलग्न करना और विज्ञापन देना है।

कॉपीराइटर के लिए टॉप भारतीय भर्ती कंपनी कौन सी हैं?

कॉपीराइटर के लिए टॉप भारतीय भर्ती कंपनी–
1. P&G
2. Time of India
3. The Indian Express
4. Splendid Digital Solutions
5. Zee Telefilms
6. O&M

कॉपीराइटर बनने के लिए कौन सा कोर्स करना चाहिए?

कॉपीराइटिंग का कोई विशेष कोर्स नहीं है। आप अंग्रेजी, पत्रकारिता, विज्ञापन या मार्केटिंग में डिग्री हासिल कर सकते हैं। ये कोर्सेस व्याकरण, लेखन कौशल, संपादन कौशल, वाक्य निर्माण और रिसर्च कौशल सीखने के लिए आपकी मदद कर सकते हैं।

हम आशा करते हैं कि अब आप जान गए होंगे कि copywriter kaise bane। यदि आप कॉपीराइटिंग संबंधित कोर्स की पढ़ाई विदेश में करना चाहते हैं तो आज ही हमारे Leverage Edu के एक्सपर्ट्स से संपर्क करें वे आपको एक उचित मार्गदर्शन प्रदान करेंगे। 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करने के लिए हमें 1800572000 पर कॉल करें।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert