ब्रांड मैनेजर कैसे बनें?

1 minute read
376 views
Brand Manager Kaise Bane

क्या आप ब्रांड नीतियों को तैयार करने के तरीके पर काम करने में रुचि रखते हैं? उस मामले में एक ब्रांड मैनेजर बनने में आपकी रुचि हो सकती है क्योंकि एक ब्रांड मैनेजर की नौकरी की भूमिका और कर्तव्य आपकी रुचियों को पूरा कर सकते हैं। यह करियर उन लोगों के लिए है जो एक ब्रांड के लिए काम करने और सही रणनीतियों का उपयोग करके एक ब्रांड छवि बनाने के लिए गठबंधन कर रहे हैं। Brand Manager Kaise Bane के इस ब्लॉग से आप इस पद के बारे में विस्तार से जान सकेंगे।

पद का नाम ब्रांड मैनेजर
स्किल्स -बेहतरीन कम्युनिकेशन स्किल्स
-निर्णय लेने का कौशल
-समस्या समाधान करने की कुशलताएं
-रणनीतिक सोच का कौशल
कोर्सेज -BBA
-BMS
-Diploma in Brand Management
-MBA
टॉप विदेशी यूनिवर्सिटीज स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय
पेंसिल्वेनिया यूनिवर्सिटी
टोरंटो विश्वविद्यालय
ब्रुनेल विश्वविद्यालय

कौन होते हैं ब्रांड मैनेजर?

Brand Manager Kaise Bane जानने के साथ-साथ यह जानना भी आवश्यक है कि एक ब्रांड मेनेजर वह होता है जो किसी कंपनी के लिए ब्रांड रणनीति तैयार करता है। उनकी मुख्य जिम्मेदारियों में से एक ग्राहकों के साथ कंपनी के संचार को सुनिश्चित करना है और इसलिए, ग्राहक-कंपनी संबंधों को परिभाषित करने में भूमिका अत्यंत महत्वपूर्ण है। इसके अलावा ब्रांड मैनेजर, एक कंपनी के लिए प्रभावी मार्केटिंग रणनीतियां भी तैयार करते हैं, जो विज्ञापन और संचार से लेकर स्टाइलिंग और मार्केटिंग तक होती है। उन्हें कंपनी द्वारा इस्तेेमाल किए जाने वाले उत्पादों और सेवाओं के बारे में पर्याप्त जानकारी होनी चाहिए।

ब्रांड मैनेजर्स के प्रकार

ब्रांड मैनेजमेंट विभागों में एक हायरार्की होती है जिसका पालन किया जाता है। एक एग्जीक्यूटिव से डायरेक्टर तक के सभी पद इस प्रकार हैं,

  • ब्रांड एग्जीक्यूटिव: एक ब्रांड एग्जीक्यूटिव वह होता है जो प्रतियोगिता पर रिसर्च करने, ब्रांड कम्युनिकेशन और प्रमोशन आदि पर काम करने का प्रभारी होता है। ब्रांड एग्जीक्यूटिव आमतौर पर क्रिएटिव टीम और फाइनेंस टीमों के बीच संपर्क के रूप में कार्य करते हैं। ब्रांड एग्जीक्यूटिव औसत सालाना वेतन INR 2.91 लाख होता है।
  • सीनियर ब्रांड एनालिस्ट: सीनियर ब्रांड एनालिस्ट मूल रूप से ब्रांड एक्जीक्यूटिव का प्रमोटेड वर्ज़न है। ब्रांड मैनेजमेंट के लिए विभिन्न रणनीतियों को विकसित करने के लिए सीनियर ब्रांड एनालिस्ट मुख्य रूप से जिम्मेदार हैं। वे रणनीतियों को एग्जीक्यूट करने के प्रभारी भी हैं। वे विभिन्न अभियानों पर काम करने के लिए एनालिटिक्स का उपयोग करते हैं। ब्रांड विश्लेषक औसत सालाना वेतन INR 4.85 लाख होता है।ब्रांड मैनेजर: ब्रांड मैनेजर किसी कंपनी की ब्रांड इमेज के लिए जिम्मेदार होता है। वे यह सुनिश्चित करने के लिए ज़िम्मेदार हैं कि ब्रांड इमेज हमेशा पॉइंट पर है। वे तय करते हैं कि ब्रांड कैसा दिखना है, क्या संप्रेषित किया जाना है, प्रोडक्ट डेवलपमेंट, मूल्य निर्धारण, प्रचार, बजट आदि।
  • लक्ज़री ब्रांड मैनेजर: लक्ज़री ब्रांड मैनेजर भारत में प्रीमियम ब्रांडों की संचार और पोजिशनिंग रणनीतियों को बनाए रखने के लिए जिम्मेदार हैं। वे बाजार अनुसंधान के संचालन के लिए जिम्मेदार हैं और उत्पाद और सेवाओं की कीमत और लाभप्रदता निर्धारित करते हैं। वे मौजूदा ब्रांडों के नाम के साथ आने के लिए जिम्मेदार हैं और विभिन्न ब्रांडों के लॉन्च की निगरानी भी करते हैं।
  • R एंड D मैनेजर: रिसर्च एंड डेवलपमेंट मैनेजर नए उत्पादों और सेवाओं के विकास और लॉन्चिंग के लिए जिम्मेदार है। लॉन्च करने के अलावा वे उत्पादों के परीक्षण और एक साथ बदलाव करने के प्रभारी भी हैं जो कंपनी को उसके लाभ के मामले में लाभान्वित करेंगे। इस पद के लिए औसत सालाना वेतन INR 11.73 लाख होता है।
  • हेड ऑफ मार्केटिंग: हेड ऑफ मार्केटिंग पूरे विभाग के टॉप पर मैनेजर होता है। उन्हें ग्राहकों को सही ब्रांड इमेज संप्रेषित करने का काम सौंपा गया है। वे सभी मार्केटिंग अभियानों की ब्रांडिंग, प्रचार और विज्ञापन की देखरेख करते हैं। इस भूमिका के लिए औसत वेतन INR 24 लाख है।

ब्रांड मैनेजर बनने के लाभ

ब्रांड मैनेजमेंट एक ऐसा करियर है जो शुरुआती लोगों के लिए डराने वाला लग सकता है। हालांकि, इस क्षेत्र में आनंद लेने के लिए कई लाभ हैं। ऐसे ही कुछ फायदे इस प्रकार हैं।

  • वेतन: ब्रांड मैनेजमेंट आज की डेट में एक मांग वाला क्षेत्र है। हालांकि, वेतन समान रूप से आकर्षक है। इस क्षेत्र में विकास की अपार संभावनाएं हैं। ब्रांड मैनेजर के लिए औसत वेतन, अनुभव के बगैर INR 9.41 लाख होता है। उच्चतम सालाना वेतन INR 17 लाख होता है।
  • नौकरी की सुरक्षा: जब उम्मीदवार किसी भी क्षेत्र में अनुभव अर्जित करते हैं, तो नौकरी की सुरक्षा कोई समस्या नहीं है। प्रभावशाली पोर्टफोलियो और वर्षों के कार्य अनुभव वाले ब्रांड प्रबंधकों की बहुत मांग है। इसमें 20 से अधिक वर्षों के अनुभव वाले उम्मीदवार सालाना INR 16 लाख तक कमाते हैं।
  • करियर पर सकारात्मक प्रभाव: ब्रांड मैनेजमेंट एक ऐसा क्षेत्र है जिसमें बहुत अधिक रचनात्मकता की आवश्यकता होती है। ब्रांड मैनेजर ब्रांड को अपनी छवि बढ़ाने और एक मजबूत ग्राहक बेस बनाने में मदद कर रहे हैं। जैसे-जैसे कोई अधिक से अधिक परियोजनाओं को संभालता है, उनकी विश्वसनीयता में भी सुधार होता है।
  • उच्च अध्ययन: शिक्षा के सभी स्तरों पर ब्रांड मैनेजमेंट की पेशकश की जाती है। जो उम्मीदवार काम कर रहे हैं, उनके लिए शॉर्ट टर्म सर्टिफिकेट और डिप्लोमा कोर्स हैं। फुल टाइम डिग्री में मार्केटिंग विशेषज्ञता में प्रबंधन कोर्सेज शामिल हैं। डॉक्टरेट की डिग्री हासिल करने के लिए इस क्षेत्र में अपार शोध क्षमता भी है।
  • अनोखा अनुभव: ब्रांड मैनेजमेंट अपनी नौकरी की जिम्मेदारियों के पहलू में एक अनोखा करियर है। मैनेजर को रोमांचक आयोजनों की यात्रा करने, टॉप ब्रांडों के हायर-अप से मिलने, छूट और मुफ्त आदि जैसे वेजेस प्राप्त करने का मौका मिलता है।

ब्रांड मैनेजर बनने के लिए स्किल्स

एक ब्रांड मैनेजर बनने के लिए उम्मीदवार के पास निम्नलिखित स्किल्स होनी चाहिए-

  • बेहतरीन कम्युनिकेशन स्किल्स
  • निर्णय लेने का कौशल
  • समस्या समाधान करने की कुशलताएं
  • रणनीतिक सोच का कौशल
  • क्रॉस-फंक्शनल रूप से काम करने की क्षमता
  • परियोजना प्रबंधन में जरूरी अनुभव

काम और जिम्मेदारियां

Brand manager kaise bane जानने के लिए इनके काम और जिम्मेदारियां भी पता होनी चाहिए, जो नीचे दी गई हैं-

  • रिसर्च आवश्यकताओं की पहचान करना।
  • रिसर्च अध्ययन और परियोजनाओं का पालन।
  • ब्रांड बजट की स्थापना और उसका रखरखाव करना।
  • अवसरों की पहचान करने के लिए रिसर्च का विश्लेषण करना।
  • बाजार के रुझानों और प्रतिस्पर्धी गतिविधियों पर अप टू डेट रहना।
  • विभिन्न प्रकार के मीडिया का उपयोग करके ब्रांड संचार रणनीति को परिभाषित और प्रबंधित करना।
  • ब्रांड नैरेटिव के विकास और अपने संदेश का मालिक होना।

ब्रांड मैनेजर बनने के लिए स्टेप बाय स्टेप गाइड

Brand manager kaise bane जानने के लिए नीचे स्टेप बाय स्टेप गाइड दी गई है-

  • बैचलर्स की डिग्री प्राप्त करें: अधिकांश ब्रांड प्रबंधक पदों के लिए कम से कम बैचलर्स डिग्री की आवश्यकता होती है। एक ब्रांड मैनेजर के रूप में करियर बनाने के लिए सामान्य डिग्री में मार्केटिंग, कम्युनिकेशन और व्यवसाय प्रशासन शामिल हैं। कुछ ब्रांड पेशेवर भी मास्टर डिग्री या उच्चतर प्राप्त करेंगे।
  • अनुभव प्राप्त करें: या तो कॉलेज में रहते हुए या बैचलर्स के बाद, आपको मार्केटिंग और/या ब्रांड प्रबंधन क्षेत्र में जितना संभव हो उतना अनुभव प्राप्त करना चाहिए। व्यवसाय, मार्केटिंग और ब्रांडिंग में कई इंटर्नशिप कार्यक्रम और अवसर उपलब्ध हैं। आप एंट्री-लेवल मार्केटिंग या ब्रांडिंग की स्थिति में भी काम कर सकते हैं या दोस्तों और परिवार के लिए प्रो-फ्री ब्रांडिंग/मार्केटिंग सेवाएं प्रदान कर सकते हैं।
  • सर्टिफाइड बनिए: द सोसाइटी ऑफ मार्केटिंग एग्जीक्यूटिव इंटरनेशनल और द एसोसिएशन ऑफ इंटरनेशनल प्रोडक्ट मार्केटिंग एंड मैनेजमेंट जैसे संगठन ब्रांड प्रबंधकों के लिए सर्टिफिकेशन प्रदान करते हैं। सर्टिफिकेशन धारण करने से आप संभावित नियोक्ताओं की प्रायोरिटी में आ सकते हैं।

लोकप्रिय कोर्सेज

Brand manager kaise bane जानने के लिए निम्नलिखित लोकप्रिय कोर्सेज की लिस्ट दी जा रही है, जहाँ से वह इस फील्ड के बारे में नॉलेज ले सकते हैं-

बैचलर्स मास्टर्स
Bachelor of Business Administration (BBA) MBA
Bachelor of Management Studies (BMS) Post Graduate Diploma in Management
Bachelor of Business Studies (BBS) Diploma in Brand Management
Bachelor of Mass Media (BMM)

आप AI Course Finder की मदद से अपने पसंद के कोर्सेज और उससे सम्बंधित टॉप यूनिवर्सिटी का चयन कर सकते हैं।

विदेश में टॉप MBA कॉलेज

Brand manager kaise bane जानने के लिए नीचे विदेश में टॉप MBA कॉलेज टेबल दी गई है-

यूनिवर्सिटी देश
स्टैनफोर्ड ग्रेजुएट, स्कूल ऑफ बिजनेस, स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी अमेरिका
पेन्सिलवेनिया विश्वविद्यालय के व्हार्टन स्कूल अमेरिका
मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एमआईटी) अमेरिका
हार्वर्ड बिज़नेस स्कूल अमेरिका
एचईसी पेरिस फ्रांस
INSEAD सिंगापुर और फ्रांस
लंदन बिजनेस स्कूल इंग्लैंड
कोलंबिया बिजनेस स्कूल अमेरिका
सेनेका कॉलेज कनाडा
टोरंटो विश्वविद्यालय कनाडा
जॉर्ज वाशिंगटन विश्वविद्यालय अमेरिका
ब्रुनेल विश्वविद्यालय यूके
ग्लूस्टरशायर विश्वविद्यालय यूके
दक्षिण ऑस्ट्रेलिया विश्वविद्यालय ऑस्ट्रेलिया
RMIT ऑस्ट्रेलिया

आप UniConnect के जरिए विश्व के पहले और सबसे बड़े ऑनलाइन विश्वविद्यालय मेले का हिस्सा बनने का मौका पा सकते हैं, जहाँ आप अपनी पसंद के विश्वविद्यालय के प्रतिनिधि से सीधा संपर्क कर सकेंगे।

भारत में टॉप MBA Colleges

Brand manager kaise bane जानने के लिए नीचे भारत में टॉप MBA कॉलेज टेबल दी गई है-

यूनिवर्सिटी स्थान
इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस हैदराबाद
भारतीय प्रबंधन संस्थान देशभर में 20 IIM हैं
XLRI देशभर में 6 XLRI हैं
एसपी जैन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड रिसर्च मुंबई
भारतीय विदेश व्यापार संस्थान दिल्ली
आईआईटी से एमबीए देशभर में 7 IIT हैं
नरसी मोंजी इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज मुंबई

योग्यता

Brand manager kaise bane जानने के लिए योग्यता का जानना भी आवश्यक है, जो कि नीचे दी गई है-

  • बैचलर्स करने के लिए कैंडिडेट का किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से बारहवीं (कोई भी विषय) उत्तीर्ण होना ज़रूरी है।
  • मास्टर्स करने के लिए कैंडिडेट का किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से बैचलर्स (मार्केटिंग, बिज़नेस या संबंधित क्षेत्र) उत्तीर्ण किया होना ज़रूरी है।
  • पीएचडी करने के लिए कैंडिडेट का किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से मास्टर्स (प्रेफ़ेरबली MBA) उत्तीर्ण किया होना ज़रूरी है।
  • कई यूनिवर्सिटी छात्रों से 3-5 साल के अनुभव की अपेक्षा करती हैं।
  • विदेश में पढ़ने के लिए इंग्लिश लैंग्वेज टेस्ट जैसे IELTS, TOEFL के अंक अनिवार्य हैं।
  • GRE/GMAT के अंक भी ज़रूरी हैं।

क्या आप IELTS/TOEFL/SAT/GRE में अच्छे अंक प्राप्त करना चाहते हैं? आज ही इन एक्साम्स की बेहतरीन तैयारी के लिए Leverage Live पर register करें और अच्छे अंक प्राप्त करें।

आवेदन प्रक्रिया

भारतीय यूनिवर्सिटीज द्वारा आवेदन प्रक्रिया नीचे मौजूद है-

  • सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  • यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूजरनेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  • फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  • अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  • इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  • यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

विदेशी विश्वविद्यालय के लिए आवेदन प्रक्रिया

कैंडिडेट को विदेशी विश्वविद्यालय में आवदेन करने के लिए नीचे दी गई प्रक्रिया को पूरा करना होगा:

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप हमारे AI Course Finder की सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • हमारे एक्सपर्ट्स से कॉन्टैक्ट के पश्चात वे हमारे कॉमन डैशबोर्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से कई विश्वविद्यालयों की आपकी आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेजों जैसे SOP, निबंध (essay), सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टेस्ट स्कोर जैसे IELTS, TOEFL, SAT, ACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTS, TOEFL, PTE, GMAT, GRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप हमारी Leverage Live कक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीजा और छात्रवृत्ति / छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे । 
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लेटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है।

आवदेन प्रक्रिया से सम्बन्धित जानकारी और मदद के लिए Leverage Edu के एक्सपर्ट्स से 1800572000 पर संपर्क करें

आवश्यक दस्तावेज 

विदेशी विश्वविद्यालय में एडमिशन लेने के लिए नीचे दिए गए डॉक्यूमेंट होने आवश्यक है:

छात्र वीजा पाने के लिए भी Leverage Edu  विशेषज्ञ आपकी हर सम्भव मदद करेंगे।

बेस्ट किताबें

निम्नलिखित कुछ पुस्तकें हैं, जिनसे उम्मीदवार ब्रांड मैनेजमेंट पर अपनी नॉलेज का विस्तार कर सकता है, जैसे कि-

  1. Kellogg on Branding, Tim Calkins
  2. Brands in Glass Houses, Dechay Watts
  3. Online Brand Communities, Francisco J.Martinez Lopez
  4. Brand Hijack, Alex Wipperfurth

स्कोप और सैलरी

ब्रांड मैनेजमेंट में डिग्री लेने के बाद, नौकरियों के बहुत सारे ऑप्शन हैं, लेकिन उम्मीदवारों को एक ऐसी कंपनी चुननी चाहिए जो उनके नौकरी की मांग के अनुकूल हो। एक ब्रांड मैनेजर के रूप में वेतन उम्मीदवारों के पद और डेजिग्नेशन पर निर्भर करता है। भारत में, ब्रांड प्रबंधकों के लिए शुरुआती वेतन 2-4 (लाख/सालाना) है। हालांकि, अनुभव के साथ, वार्षिक सीटीसी 25-30 सालाना (लाख/सालाना) तक चला जाता है। वहीँ ब्रांड मैनेजर के लिए यह पद भी इस प्रकार हैं:

  1. असिस्टेंट ब्रांड मैनेजर
  2. ब्रांड मैनेजर
  3. सीनियर ब्रांड मैनेजर
  4. मार्केट एनालिस्ट
  5. मार्केटिंग डायरेक्टर

FAQs

कौन होता है ब्रांड मैनेजर?

ब्रांड मैनेजर वह होता है जो किसी कंपनी के लिए ब्रांड रणनीति तैयार करता है। वहीं उनकी मुख्य जिम्मेदारियों में से एक ग्राहकों के साथ कंपनी के संचार को सुनिश्चित करना है और इसलिए, ग्राहक-कंपनी संबंधों को परिभाषित करने में भूमिका अत्यंत महत्वपूर्ण है।

ब्रांड मैनेजर के काम और जिम्मेदारियां क्या-क्या होती हैं?

ब्रांड मैनेजर के काम और जिम्मेदारियां इस प्रकार होती हैं- रिसर्च आवश्यकताओं की पहचान करना, रिसर्च अध्ययन और परियोजनाओं का पालन, ब्रांड बजट की स्थापना और उसका रखरखाव करना आदि।

ब्रांड मैनेजर बनने के लिए कौन सी स्किल्स अनिवार्य हैं?

ब्रांड मैनेजर बनने के लिए नीचे दी गई स्किल्स अनिवार्य हैं- बेहतरीन कम्युनिकेशन स्किल्स, निर्णय लेने का कौशल, समस्या समाधान करने की कुशलताएं आदि।

इस ब्लॉग से आपको Brand Manager Kaise Bane से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारियां मिल गयी होगी। यदि आप विदेश में पढ़ना चाहते हैं तो आप आज ही हमारे Leverage Edu एक्सपर्ट्स से सलाह ले सकते हैं, वे आपको एक उचित मार्गदर्शन प्रदान करेंगे। 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करने के लिए हमें 1800 572 000 पर कॉल करें।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert