20 सबसे अच्छी नौकरी वाली डिग्रियां

1 minute read
639 views
10 shares
Achi Naukri Vali Degree

दुनिया भर में जॉब मार्केट में कॉम्पिटिशन इतना ज्यादा है कि नौकरी ढूंढना मुश्किल हो गया है। हर कोई इस बात से परिचित है कि सही नौकरी दिलाने में शिक्षा महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। इसलिए, डिग्री के लिए साइन-अप करने से पहले करियर प्रोफाइल का चयन करना जरूरी है। हमने आपके लिए दुनिया भर में Achi Naukri Vali Degree की एक लिस्ट बनाई है। इस लिस्ट में आपको अपने काम की कुछ जानकारी जरूर मिलेगी।  

मेडिसिन

मेडिसन में डिग्री को सबसे achi naukri vali degree माना गया है। कॉम्पिटिशन चाहे जितना भी हो, लेकिन आंकड़े बताते हैं कि मेडिकल में डिग्री लिए किसी युवा को छह महीने के अंदर नौकरी मिल ही जाती है। मेडिकल टेक्नोलॉजी में विकास से डॉक्टरों और मेडिकल क्षेत्र में दूसरी नौकरियों की मांग तेजी से बढ़ी है। अगर आपने किसी प्रतिष्ठित कॉलेज से मेडिकल की कोई भी डिग्री प्राप्त की हो, तो आपका वेतन अच्छा होना तय है। लेकिन, याद रखें कि दूसरे क्षेत्रों की तुलना में इस क्षेत्र में मुश्किलें कुछ ज्यादा हैं।   इसमें मुकाम हासिल करने के लिए सालों की पढ़ाई जरूरी होती है और हर दिन पूरा दिल लगाकर काम करना होता है।    

ज़रूर पढ़ें: Career in Homeopathy in Hindi

कंप्यूटर साइंस

कंप्यूटर साइंस सबसे achi naukri vali degree में से एक है। टेक्नोलॉजी लगातार हम सभी की जिंदगियों को बदल रही है और समय के साथ यह खुद में भी बदलाव ला रही है।   हमारी अर्थव्यवस्था का हर क्षेत्र किसी न किसी रूप में कंप्यूटर साइंस से प्रभावित होता है। यह हमारे समय के सबसे तेजी से बढ़ते उद्योगों में से एक है। खासकर इस डिजिटल दुनिया में कंप्यूटर साइंस में डिग्री की काफी डिमांड है। बिग डेटा के लगातार विस्तार के कारण मैनेजमेंट इंफॉर्मेशन सिस्टम में विशेषज्ञता के साथ कंप्यूटर विज्ञान की डिग्री की काफी डिमांड है। किसी प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय से सीएस की डिग्री पूरी करना आपको उन ऊंचाइयों तक ले जा सकता है, जिसकी आप आज कल्पना भी नहीं कर सकते। साथ ही, इस सभी उभरती हुई स्टार्ट-अप संस्कृति के साथ सीएस की मांग और भी ज्यादा बढ़ रही है। कई स्टार्ट-अप बिना डिग्री के भी कंप्यूटर साइंस एसोसिएट्स को हायर करते हैं। इसलिए अगर आपकी कंप्यूटर साइंस में थोड़ी भी दिलचस्पी है, तो यह रास्ता आपकी जिंदगी बदल सकता है।   

ज़रूर पढ़ें: Software Engineering in Hindi

फाइनेंस

चाहे कुछ भी हो जाए, हर बिजनेस को अपने पैसे को मैनेज करने के लिए किसी न किसी की जरूरत होती है। यह एक ऐसा क्षेत्र है, जहां नौकरियों की भरमार है। खासकर फाइनेंस मैनेजर और फाइनेंस एनालिस्ट की डिग्री लिए युवा तो बेहद मांग में है और इस मांग के  साल 2026 तक औसतन 20 % बढ़ने की उम्मीद है। इस उद्योग में संभावनाएं काफी ज्यादा हैं और लोग अपने पैसे को मैनेज करने के लिए अमूमन किसी पर भरोसा नहीं करते हैं। तो देर किस बात की, अगर आप एक बढ़िया नौकरी के साथ शानदार सैलरी चाहते हैं, तो बस आपको जरूरत है किसी प्रतिष्ठित संस्थान से अच्छी डिग्री की।

ज़रूर पढ़ें: Investment Banker Kaise Bane

इंजीनियरिंग

इंजीनियरिंग करियर का एक काफी कॉमन ऑप्शन है, लेकिन फिर भी इसकी लोकप्रियता में कमी नहीं आई है।   इंजीनियरिंग को हमेशा से ही achi naukri vali degree माना जाता रहा है। इंजीनियरिंग दरअसल एक व्यापक क्षेत्र है और इसमें मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल, सिविल, सॉफ्टवेयर और कई क्षेत्र शामिल हैं। ये सभी क्षेत्र योग्य उम्मीदवारों को नौकरी के आकर्षक मौका प्रदान करते हैं और इनमें हमेशा डिमांड बनी रहती है। इंजीनियरिंग ग्रेजुएट्स के पास गवर्नमेंट और प्राईवेट दोनों सेक्टर में अच्छी तनख्वाह वाली नौकरी पाने के लिए बहुत सारे मौके हैं।   प्राईवेट सेक्टर में पैसा ज्यादा है, लेकिन यहां नौकरी पाना थोड़ा मुश्किल होता है। इसलिए आपको इस क्षेत्र में ज्यादा पैसे वाली नौकरी पाने के लिए जीतोड़ मेहनत करने की जरूरत है।  

आर्किटेक्चर

आर्किटेक्चर का क्षेत्र स्टूडेंट्स को आर्ट, मैथ्स और साइंस के कई पहलुओं को सिखाता है और उन्हें कई करियर विकल्पों के लिए तैयार करता है।   90% आर्किटेक्चर ग्रेजुएट्स को ग्रेजुएशन के 6 महीने के अंदर नौकरी मिल जाती है।   कई लोग तो खुद का काम शुरू कर देते हैं।   आर्किटेक्चर फर्मों, सरकारी संगठनों, आर्किटेक्ट्स के लिए कंसल्टेंसी फर्मों में हमेशा अवसर होते हैं।   किसी अच्छे संस्थान से आर्किटेक्चर में डिग्री आपको एक बहुत ही शानदार नौकरी आसानी से दिला सकती है।   तो अगर आपको लगता है कि आप अपने दिमाग की टेक्निकल और आर्टिस्टिक खूबियों को मिलाकर उनका उपयोग कर सकते हैं, तो यह क्षेत्र निश्चित ही आपके लिए achi naukri vali degree है।   

एजुकेशन

शिक्षकों के लिए नौकरियां कभी भी कम नहीं हो सकती।   दरअसल, दुनिया भर में शिक्षकों की काफी कमी है और इसीलिए उनकी डिमांड भी ज्यादा है।   चाहे कुछ भी हो जाए, लोग ऑनलाइन या फिर ऑफलाइन पढ़ाई जरूर कर रहे हैं। लेकिन बहुत कम प्रतिशत (Educated) शिक्षक ऐसे हैं, जो वास्तव में शिक्षण-कला की व्यवस्थित पढ़ाई करते हैं।   इसलिए अगर आपको लगता है कि आप स्टूडेंट्स को पढ़ाना पसंद करते हैं, तो आप नौकरी की सुरक्षा और रोजगार की चिंता किए बिना इस क्षेत्र को अपना सकते हैं।   एजुकेशन की डिग्री सबसे achi naukri vali degree मानी जाती है, जिसे कोई भी पा सकता है। यह न केवल achi naukri vali degree है, बल्कि एक स्वस्थ जीवनशैली भी देती है।  

बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन

बिजनेस ग्रेजुएटस के पास अवसरों की कमी नहीं होती।   हर बिजनेस को चीजों को ठीक ढंग से मैनेज करने के लिए योग्य लोगों की जरूरत होती है। बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन वास्तव में एक व्यापक शब्द है और इसमें फाइनेंस, ह्यूमेन रिसोर्स, मार्केटिंग और एडवर्टाइजिंग जैसे कई क्षेत्र शामिल हैं। डिजिटलाइजेशन के साथ डिजिटल मार्केटिंग में कुशल बिजनेस ग्रेजुएट्स की भूमिका भी तेजी से बढ़ रही है। यह देखा गया है कि अन्य डिग्रियों की तुलना में बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन को ज्यादा achi naukri vali degree माना जाता है। तो अगर आप लगातार आने वाली चुनौतियों से घबराते नहीं हैं और उन्हें कुशलता से हल कर लेते हैं, तो यह क्षेत्र आपके लिए हो सकता है।  

ज़रूर पढ़ें: जानिए मार्केटिंग क्या है!

इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी

कंप्यूटर साइंस के उलट इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी कंप्यूटर के हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर दोनों से संबंधित क्षेत्र हैं।   इन उपकरणों का उपयोग डेटा साझा करने और इन्फॉर्मेशन को सहेज कर रखने के लिए किया जाता है। इसमें कंप्यूटर आधारित इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी का अध्ययन, डिजाइन, विकास शामिल हैं।   किसी भी अन्य क्षेत्र की तुलना में इस क्षेत्र में तेजी से से नौकरियां बढ़ रही हैं और कंप्यूटर साइंस की तरह यह क्षेत्र भी तेजी से विकसित हो रहा है। जाहिर है कि इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी भी एक काफी achi naukri vali degree है।   

साइकोलॉजी

साइकोलॉजी की डिग्री स्टूडेंट्स के लिए कई तरह के करियर की राहें खोलती है। साइकोलॉजी की कई फील्ड होती हैं, जैसे हेल्थ साइकोलॉजी, क्लीनिकल साइकोलॉजी, स्पोर्ट्स साइकोलॉजी, फोरेंसिक साइकोलॉजी इत्यादि।   इस क्षेत्र में शोध के भी बहुत अवसर उपलब्ध हैं। जैसे-जैसे लोग भावनात्मक स्तर पर एक-दूसरे से दूर होते जा रहे हैं, साइकोलॉजिस्ट की मांग साल 2028 तक तेजी से बढ़ने की उम्मीद है। खासकर इंडस्ट्रियल साइकोलॉजी, स्कूल साइकोलॉजी और क्लीनिकल साइकोलॉजी के क्षेत्र में है। यह दुनिया की सबसे achi naukri vali degree में शुमार होती है। अगर आपको भी लगता है कि आप दूसरे की भावनाएं समझ सकते हैं, उनकी मदद करना चाहते हैं, तो इससे बेहतर डिग्री आपके लिए कोई नहीं हो सकती।  

लॉ

लॉ की डिग्री भी स्टूडेंट्स को ढेर सारे अवसर प्रदान करती है। इस डिग्री को पाने के बाद आपके पास कोर्ट में वकील बनने का विकल्प है या आप कॉर्पोरेट फर्मों में काम कर सकते हैं। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि हर साल कितने लोग लॉ ग्रेजुएट होते हैं, ध्यान रखने वाली बात यह है कि इन सबके बाद भी योग्य वकीलों की हमेशा कमी रहती है।   यह बताता है कि काबिल वकीलों का प्रतिशत बहुत कम है। इसलिए अगर आपको लगता है कि आपको अलग-अलग लोगों से निपटना और बातचीत करना पसंद है, तो यह आपके लिए शानदार करियर ऑप्शन हो सकता है। वैसे भी लॉ की डिग्री, achi naukri vali degree मानी जाती है।  

ज़रूर पढ़ें: लॉ करने की सोच रहे हैं तो जान ले LLB का पूरा Syllabus

चार्टर्ड एकाउंटेंट

चार्टर्ड एकाउंटेंट अपने कर्मचारियों और कस्टमर के अकाउंट (खातों) को संभालते हैं। वे कंपनी को अकाउंट, टैक्स और फाइनेंस संबंधी सलाह भी देते हैं। उनके कार्य में टैक्स रिटर्न, फाइनेंशियल दस्तावेजों का ऑडिट, फाइनेंशियल रिपोर्ट तैयार करना एवं उनका मूल्यांकन करना, इन्वेस्टमेंट का रिकॉर्ड रखना आदि शामिल है। औसत सैलरी: INR 6-7 लाख प्रति वर्ष

मार्केटिंग मैनेजर

एक मार्केटिंग मैनेजर से कंपनी के प्रोडक्ट की मार्केटिंग से जुड़े मैनेजमेंट की उम्मीद की जाती है। वे बिजनेस को प्लान, एस्टिमेट और प्रमोट करने का काम करते हैं। मार्केटिंग मैनेजर जिस फर्म में काम कर रहे होते हैं उसकी बिक्री और बाजार में प्रेजेंस को बढ़ाने के लिए विज्ञापन और पब्लिक रिलेशन की मदद लेते हैं। औसत सैलरी – शुरुआती INR 6-7 लाख प्रति वर्ष और अनुभव साथ 22 लाख प्रति वर्ष तक हो सकती है।

ह्यूमन रिसोर्स मैनेजर

ह्यूमन रिसोर्स मैनेजर फर्म के कर्मचारियों के लिए ऐसी प्रबंधन नीति की योजना बनाता है जिससे वे कंपनी के मुनाफे को बढ़ाने के लिए काम करें और फर्म की आवश्यक मांगों को पूरा कर सकें। ह्यूमन रिसोर्स मैनेजर नए कर्मचारियों को लेने के लिए वैकेंसी निकालता है और इंटरव्यू लेता है, कर्मचारियों के हितों के लिए योजनाओं व इंप्लाई बेनिफिट प्रोग्राम्स संबंधित मामले देखता है। औसत सैलरी – 6-7 लाख प्रति वर्ष और अनुभव के आधार पर 12-15 लाख प्रति वर्ष

चार्टर्ड फाइनेंशियल एनालिस्ट

चार्टर्ड फाइनेंशियल एनालिस्ट रिटर्न और रिस्क एनालिसिस, डेटा कलेक्शन, फाइनेंशियल मॉडल तैयार करने जैसे काम करते हैं। किसी भी संस्था के लिए वे अकाउंट बनाने और फाइनेंशियल योजनाओं को देखने का काम करते हैं। औसत सैलरी – 12 लाख प्रति वर्ष

सर्टिफाइड पब्लिक अकाउंटेंट

सर्टिफाइड पब्लिक अकाउंटेंट का काम प्राथमिक स्तर पर कॉरपोरेशन, क्लाइंट और सरकार के लिए एकाउंटिंग, रिपोर्टिंग, टैक्स और ऑडिटिंग प्रक्रिया को देखना होता है। वो सही फाइनेंशियल निर्णय के लिए जरूरी और दूरदर्शी सलाह देते हैं। इसके लिए फाइनेंस एंड कॉरपोरेट मैनेजमेंट में गहन अनुभव और एकाउंटिंग, कर नीतियों और वैधानिक संशोधनों का ज्ञान होना आवश्यक है। औसत सैलरी – 7-9 लाख प्रति वर्ष

एक्टुअरी

एक्टुअरी वह होता है जो अनदेखी घटनाओं और जोखिमों के फाइनेंशियल रिजल्ट का आंकलन कर उनकी गणना करता है। इन व्यक्तियों के पास गणित, स्टैटिस्टिक्स, अर्थशास्त्र के साथ रिस्क से संबंधित बीमा इंडस्ट्री तक पहुंच के बारे में गहरी रिसर्च और जानकारी होती है। एक्टुअरी बिजनेस के फाइनेंशियल जोखिमों के प्रबंधन जैसे हॉस्पिटल, बैंक आदि के लिए काम करते हैं। औसत सैलरी – 10-14 लाख प्रति वर्ष

कॉस्ट अकाउंटेंट

कॉस्ट अकाउंटेंट कंपनी के बजट बनाने, प्रदर्शन का मूल्यांकन, कॉस्ट और एसेट मैनेजमेंट के लिए उत्तरदायी होता है। कार्यकारी दल का हिस्सा होने के कारण ये प्रोफेशनल कंपनी के फाइनेंशियल बर्बादी को कम करने, उत्पादों और अन्य खर्चों का विश्लेषण करने और लाभ कमाने के रास्ते निकालने का काम करते हैं। वे टैक्स प्राधिकरण, स्टॉक होल्डर, लेनदारों और नियामक प्राधिकरण के लिए फाइनेंशियल रिपोर्ट बनाते हैं। औसत सैलरी – 4 लाख प्रति वर्ष

बिजनेस अकाउंटिंग एंड टैक्सेशन एकाउंटेंट

प्रोफेशनल बिजनेस एकाउंटेंट केवल टैक्सेशन और फाइनेंस में काम करते हैं। उनके पास एक्सेल और रिपोर्टिंग स्किल के साथ ही प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष टैक्सेशन की पूरी जानकारी होनी चाहिए। ये अकाउंट, एमआईएस, टैक्सेशन, अनुपालन और रिपोर्टिंग के क्षेत्र में काम करते हैं। उनके पास एकाउंटिंग सॉफ्टवेयर और एप्लिकेशन जैसे टैली, क्विकबुक, एसएपी और एडवांस एक्सेल का उच्च स्तरीय ज्ञान होता है। औसत सैलरी – 6-7 लाख प्रति वर्ष

रिटेल मैनेजर

रिटेल मैनेजर स्टोर के कार्यचालन को बनाए रखता है। वे लगातार उपभोक्ताओं के सम्पर्क में रहता है और कर्मचारियों व उनकी जरूरतों की देखभाल करता है। वे निश्चित प्रोफेशनल शर्तों पर हाइपर मार्केट और सुपर मार्केट के प्रबंधन और व्यवस्थापन का कार्य करते हैं। औसत सैलरी – 5-6 लाख प्रति वर्ष

कंपनी सचिव या सीएस

कंपनी सचिव या सीएस किसी भी संगठन के विनियामक और वैधानिक जरूरतों के पालन से संबंधित कुशल प्रशासन को सुनिश्चित करता है। यह मुख्य रूप से प्रबंधन और जोखिम उठाने वाले धारकों के बीच मध्यस्थ का काम करता है। कंपनी सचिव पर किसी कॉरपोरेशन के टैक्स संबंधित कर्तव्य, जोखिम धारकों के भेदों को खोलने और वार्षिक या तिमाही कमाई और अकाउंट की जानकारी का उत्तरदायित्व होता है। औसत सैलरी – 6-7 लाख प्रति वर्ष

फ्लाइट अटेंडेंट

अक्सर ऐसा माना जाता है है कि हवाई जहाज में कोई भी नौकरी कर अच्छी तनख्वा पा सकता है, जो कि काफी हद तक सही भी है। 12वीं पास करने के बाद आप एक फ्लाइट अटेंडेंट आसानी से बन सकते हैं, बशर्ते आपका संचार (कम्युनिकेशन) कौशल अच्छा हो। फ्लाइट अटेंडेंट की सैलरी उनके अनुभव पर निर्भर करती है। एक फ्रेशर को शुरुआत में 20 हजार से 25 हजार रुपए तक मासिक सैलरी मिलती है। एक दो साल काम करने के बाद उनकी तनख्वा डबल हो जाती है। इतना ही नहीं एक फ्लाइट अटेंडेंट को विदेशों में घूमने का मौका भी मिलता है।

FAQs

अच्छी नौकरी वाली डिग्री कौन सी हैं?

अच्छी नौकरी वाली डिग्री इस प्रकार हैं: फ्लाइट अटेंडेंट, कंपनी सचिव या सीएस, रिटेल मैनेजर, कॉस्ट अकाउंटेंट, कॉस्ट अकाउंटेंट आदि।

विदेश में अच्छी नौकरी वाली डिग्री कौन सी हैं?

विदेश में अच्छी नौकरी वाली डिग्री इस प्रकार हैं: डाटा साइंटिस्ट, बिग डाटा इंजीनियर, मार्केटिंग मैनेजर आदि।

आशा करते हैं कि आपको Achi Naukri Vali Degree के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी मिली होगी। यदि आप विदेश में पढ़ाई करना चाहते हैं तो आज ही हमारे Leverage Edu एक्सपर्ट्स को 1800572000 पर कॉल करें और 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करें।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert