फिल्म एडिटर कैसे बनें?

1 minute read
29 views
फिल्म एडिटर कैसे बनें

फिल्म की एडिटिंग किसी भी फिल्म निर्माण के लिए उसकी पोस्ट प्रोडक्शन प्रक्रिया का एक रचनात्मक और तकनीकी हिस्सा होता है। आज की तकनीकी दुनिया मे भी फिल्म एडिटिंग किसी भी फिल्म निर्माण के लिए बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा है। फिल्मों के इतिहास में शुरुआती फिल्में जो बनाई जाती थी वह बहुत ही छोटी होती थी। फिल्मों की एडिटिंग शुरू से ही जरूरी रही है तथा एडिटर उस प्रत्येक संभव वस्तु का प्रयास करते थे जिससे की फिल्म लोगों को पसंद आ जाए। फिल्मों में शुरुआत में एडिटिंग के रूप में सड़कों पर लोगों को दिखाना या फिर ट्रेन के सफर को दिखाना, इससे अधिक एडिटिंग उस समय संभव नहीं थी। जितनी फिल्म कैमरे में उपस्थित रहती थी उतनी ही फिल्म स्क्रीन पर चलती थी। इसलिए पहले फिल्में एक ही शॉट पर निर्भर हुआ करती थीं। एक से अधिक शॉट वाली फिल्म पहली बार रॉबर्ट डब्लू पॉल के द्वारा 1898 में बनी थी। आज के इस ब्लॉग में हम आपको फिल्म एडिटर कैसे बनें इस बारे में बताने जा रहे हैं। 

फिल्म एडिटर कौन होते हैं?

किसी भी फिल्म के लिए शूट हुई छोटी–छोटी वीडियो के अलग-अलग शॉट्स को एक ही शॉट में मिलाकर एक पूरी संपूर्ण लंबी अवधि की फिल्म को बनाने वाले लोगों को फिल्म एडिटर कहा जाता है। सामान्य भाषा में कहें तो, फिल्म को एडिट करने वाले को फिल्म एडिटर कहा जाता है। फिल्म एडिटर सबसे पहले उस फिल्म के लिए शूट किए गए रॉ फुटेज को एकत्र करता है, उन्हें एक कहानी की तरह शुरू से अंत तक एक दूसरे के पीछे सीक्वेंस में जमाता है, इस प्रकार एक संपूर्ण मोशन पिक्चर बनती है। फिल्म एडिटिंग को हमेशा इनविजिबल आर्ट के रूप में जाना जाता है, क्योंकि प्रत्येक व्यक्ति उस फिल्म के एक्टर डायरेक्टर तथा सिंगर को याद रखता है। 

फिल्म एडिटर कोर्स क्यों चुनें?

फिल्म एडिटिंग सीखना आपके लिए बहुत ही फायदेमंद साबित हो सकता है। आप आर्थिक रूप से तो मजबूत होंगे ही तथा व्यक्तिगत रूप से भी मजबूत होंगे, क्योंकि फिल्म एडिटिंग को एक बहुत ही अच्छी जॉब माना जाता है। फिल्म एडिटिंग का अच्छा कौशल होने कि वजह से आप किसी भी अच्छी फिल्म का हिस्सा होंगे तथा राइटर के द्वारा लिखी गई फिल्म की कहानी को आप और भी अच्छे तरीके से लोगों तक पहुंचा सकते हैं। कुछ महत्वपूर्ण कारण–

  • फिल्म एडिटिंग आपके लिए एक प्रोफेशनल अपॉर्चुनिटी होती है जिसमें आप किसी बड़ी टीम का हिस्सा होते हैं। 
  • फिल्म एडिटर के तौर पर कार्य आपको एक बहुत ही क्रिएटिव आउटलेट प्रदान करता है, इसमें आप अपनी क्रिएटिविटी के द्वारा लोगों तक अच्छा संदेश पहुंचा सकते हैं। 
  • वीडियो एडिटिंग एक बढ़ता हुआ क्षेत्र है इसमें आपको अच्छा सैलरी पैकेज मिलता है तथा आपके हुनर एवं स्किल्स किस वजह से आपके कार्य की मांग हमेशा बनी रहेगी। 
  • फिल्म एडिटरों की बढ़ती मांग यह भी एक मुख्य कारण है। US ब्यूरो ऑफ़ लेबर स्टैटिस्टिक्स का यह कहना है आने वाले समय न केवल फिल्मों के कारण बल्कि अन्य स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म्स के कारण, फिल्म एडिटरों की मांग बढ़ने वाली है। 

यह भी पढ़ें: ये हैं यूके के बेस्ट फिल्म स्कूल्स

फिल्म एडिटर के मुख्य कार्य

जैसा कि हमने आपको बताया फिल्म एडिटिंग एक इनविजिबल आर्ट है, किसी भी फिल्म को देखने वाले लोग उसके एडीटरों को नही जानते हैं। लेकिन उस फिल्म के एडिटर का अपने कार्य में कुशल होना बहुत ही आवश्यक है, उसका सबसे मुख्य कार्य फिल्म में दिए गए संदेश को लोगों तक पहुंचाना। जब इसका अच्छी तरह से अभ्यास किया जाता है तो दर्शक इसे पसंद भी करते हैं। फिल्म एडिटर अपना अधिकांश कार्य फिल्म की पोस्ट प्रोडक्शन के दौरान करते हैं। लेकिन कई बार वे प्री प्रोडक्शन और प्रोडक्शन के दौरान भी कुछ कार्य का हिस्सा होते हैं। फिल्म एडिटर किसी भी फिल्म को प्रभावी ढंग से एडिट करने के लिए कई प्रकार के कार्य करते हैं। फिल्म एडिटिंग दलों के द्वारा सामान्य रूप से किया जाने वाले कार्य-

  • फिल्म एडिटर को सबसे पहले उस फिल्म के स्क्रिप्ट, उसकी शॉट लिस्ट (छोटे–छोटे शॉट्स), फुटेज इन सभी चीजों का एक बार रिव्यू करना चाहिए। 
  • फिल्म के डायरेक्टर से मिलकर फिल्म के द्वारा जो संदेश देने की कोशिश की जा रही है उसके बारे में चर्चा करना। 
  • फिल्म की शूटिंग के दौरान उसकी लोकेशन पर जाके उसमें हिस्सा लेकर फिल्म की शूटिंग को ऑब्जर्व करना। 
  • पोस्ट प्रोडक्शन के दौरान उस रॉ फुटेज से फिल्म के लिए सबसे जरूरी मनोरंजक, सबसे ओवर ड्रमेटिक तथा सबसे अधिक प्रभाव डालने वाले फुटेज का चयन करना। 
  • जिस साउंड। म्यूज़िक या सीन की आवश्यकता नही हो उसे हटाना। 
  • जितनी फिल्म एडिट हो चुकी है उसे एक बार पुनः देखना तथा एरर्स को हटाने के बाद उसे डायरेक्टर तथा निर्माता दिखाने के लिए तैयार करना। 
  • डायरेक्टर तथा प्रोड्यूसर की सलाह के बाद फिल्म को रिलीज के लिए अंतिम चरण के लिए तैयार करना। 
  • वॉइस को सीन के अनुसार सेट करना। साथ में इस बात का ख्याल रखना कि वॉइस और सीन की टाइमिंग एक ही हो। 

यह भी पढ़ें: फिल्ममेकर कैसे बनें?

फिल्म एडिटर का कार्य सीखने के लिए स्किल्स 

किसी भी फिल्म के निर्माण में एडिटर की जिम्मेदारी मुख्य है। एक अच्छे फिल्म एडिटर में टेक्निकल तथा आर्टिस्टिक स्किल दोनो का होना जरूरी है अतः उस फिल्म में जो स्किल्स एक फिल्म एडिटर के पास होनी चाहिए वो इस प्रकार हैं –

  • फिल्म एडिटर को एडिटिंग के लिए Avid Media Composer, Final Cut Pro, Adobe After effects जैसे सभी प्रकार के सॉफ्टवेयर का प्रयोग करना अच्छे तरीके से आता हो। 
  • एक अच्छे फिल्म एडिटर में क्रिटिकल थिंकिंग होनी आवश्यक है, क्योंकि इसी के कारण वह फिल्म की एडिटिंग बेहतर तरीके से कर पाएगा। 
  • फिल्म एडिटर को समय पर अपना प्रोजेक्ट पूरा करने के लिए अच्छा टाइम मैनेजमेंट आना चाहिए। 
  • एडिटर के पास लोगों को सुनने की स्किल आवश्यक है उसे यह समझ में आना चाहिए की डायरेक्टर की क्या आवश्यकता है। 
  • फिल्म एडिटर को एक अच्छा कम्युनिकेटर होना चाहिए।

प्रसिद्ध फिल्म एडिटिंग सॉफ्टवेयर

वे सॉफ्टवेयर जो फिल्मों के एडिटिंग के लिए अधिकतर प्रयोग में लिए जाते हैं इस प्रकार हैं–

  • Adobe Premiere Pro
  • Final Cut Pro
  • Avid Media Composer
  • Autodesk Maya
  • The Foundry Nuke
  • Fusion 17 
  • Adobe After Effects
  • Lightworks
  • DaVinci Resolve 17
  • Vegas Pro
  • ZBrush
  • Houdini
  • Boris FX Mocha Pro
  • Pixer’s RenderMan
  • Foundry Modo

फिल्म एडिटर बनने के लिए स्टेप बाय स्टेप गाइड 

फिल्म एडिटर कैसे बनें? इसके लिए फिल्म एडिटिंग में कई एडिटर के पास में बैचलर्स डिग्री होती है लेकिन इस डिग्री की अधिक आवश्यकता नहीं होती है। किसी भी फिल्म एडिटर को एडिटिंग में एक अच्छा करियर स्थापित करना है, तो उसे औपचारिक रूप से फिल्म एडिटिंग के लिए ट्रेनिंग लेना जरूरी है। फिल्म एडिटर बनने वाले लोगों को वीडियो ग्राफी, वीडियो एडिटिंग एवं फिल्म एडिटिंग के सिद्धांत सिखाने वाले प्रोग्राम में हिस्सा लेना चाहिए। फिल्म एडिटर कैसे बनें के लिए स्टेप बाय स्टेप गाइड नीचे दी गई है:

  • स्टेप 1: बैचलर डिग्री पूरी करें: आप फिल्म एडिटर बनने के लिए किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से अपनी बैचलर डिग्री की पढ़ाई पूरी कर सकते हैं। कई सारी ऐसी देशी तथा विदेशी यूनिवर्सिटीज़ हैं, जो फिल्म एडिटिंग के लिए कोर्स ऑफर करती हैं। 
  • स्टेप 1: अपने कार्य का अनुभव प्राप्त करें: फिल्म इंडस्ट्री में कार्य करके अनुभव प्राप्त करने से भी कई प्रकार के लाभ मिल सकते हैं। कई फिल्म एडिटर अपनी पढ़ाई के साथ–साथ फिल्म एडिटिंग के लिए इंटर्नशिप करते हैं, फिल्म के प्रोडक्शन में असिस्टेंट के तौर पर कार्य करते हैं। 
  • स्टेप 3: फिल्म प्रोडक्शन में हिस्सा लें: ग्रेजुएशन पूरी होने के बाद भी कई फिल्म एडिटर दूसरे फिल्म एडिटर के साथ मिलकर फिल्म प्रोडक्शन में हिस्सा लेते हैं, जहां से वे फिल्म एडिटिंग के कार्य को अच्छी तरह से समझ पाए। 
  • स्टेप 4: फिल्म एडिटिंग प्रोजेक्ट लें: किसी भी फिल्म के प्रोडक्शन में छोटे स्तर से शुरुआत करना एक उचित कार्य होगा। आपकी मेहनत को देखकर आपको किसी फिल्म के प्रोडक्शन में कार्य प्राप्त हो सकता है। कई ऐसे लोग हैं जो फिल्म एडिटर बनने से पहले कई साल तक फिल्म इंडस्ट्री में कार्य करता हैं। 

कुछ प्रमुख फिल्म एडिटर कोर्सेज

पूरे विश्व में फिल्म एडिटिंग के लिए बहुत से कोर्स उपलब्ध हैं, उनमें से कुछ कोर्स नीचे दिए गए हैं –

  • Bachelor of arts in film and television production
  • Bachelor of film and television Technology
  • Bachelor of fine Arts
  • Diploma in film editing
  • Diploma in visual arts
  • Diploma in digital video editing
  • Diploma in animation and VFX
  • Certificate course in editing Technology
  • Certificate courses in visual effects editing
  • Certificate courses in colour correction and sound

फिल्म एडिटर बनने के लिए बेस्ट फॉरेन यूनिवर्सिटीज़

विश्व में ऐसी कई सारी यूनिवर्सिटीज़ हैं जो गुणवत्ता वाले फिल्म कोर्सेज उपलब्ध कराती है। यूनिवर्सिटी विद्यार्थियों को टेक्निकल शिक्षा से लेकर सभी प्रकार की शिक्षा उपलब्ध कराती है जिसकी उन्हें फिल्म एडिटर के रूप में आवश्यकता है–

यूनिवर्सिटी लोकेशन
यूनिवर्सिटी फॉर द क्रिएटिव आर्ट्स यूके 
रिवेंस बोर्न यूनिवर्सिटी लंदन यूके
FAMU फिल्म एंड टीवी स्कूल ऑफ द एकेडमी ऑफ परफॉर्मिंग आर्ट्स चेक रिपब्लिक
यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ वेल्स यूके
लंदन साउथ बैंक यूनिवर्सिटी यूके
कॉलेज ऑफ लेक कंट्री अमेरिका
मैट फिल्म स्कूल यूके
वाटकिंस कॉलेज ऑफ आर्ट, डिजाइन एंड फिल्म अमेरिका
हॉन्गकॉन्ग एकेडमी फॉर परफॉर्मिंग आर्ट्स हॉन्ग कॉन्ग
कोलंबिया कॉलेज हॉलीवुड अमेरिका
ऑस्ट्रेलियन कॉलेज ऑफ इनफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी ऑस्ट्रेलिया
द यूनिवर्सिटी ऑफ द आर्ट्स अमेरिका
न्यू यॉर्क यूनिवर्सिटी  अमेरिका
चेपमेन यूनिवर्सिटी अमेरिका
बोस्टन यूनिवर्सिटी अमेरिका 
आर्ट सेंटर कॉलेज ऑफ डिजाइन अमेरिका
यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया इन बर्कले अमेरिका
यूनिवर्सिटी ऑफ सेंट्रल फ्लोरिडा अमेरिका
सिटी कॉलेज ऑफ न्यू यॉर्क  अमेरिका
यूनिवर्सिटी ऑफ साउदर्न केलिफोर्निया अमेरिका

फिल्म एडिटर बनने के लिए बेस्ट भारतीय यूनिवर्सिटीज़

इंडियन फिल्म इंडस्ट्री भी बहुत बड़ी है बॉलीवुड में विश्व में सबसे ज्यादा फिल्में बनती हैं, कई ऐसे भारतीय कॉलेज है, जो विद्यार्थियों को बहुत ही गुणवत्ता वाले फिल्म एडिटिंग के कोर्सेज उपलब्ध करवाते हैं। फिल्म एडिटिंग कोर्सेज के लिए भारतीय कॉलेज कुछ इस प्रकार हैं–

इंस्टीट्यूट लोकेशन कोर्स
सत्यजीत रे फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टिट्यूट  कोलकाता Post graduate degree program in cinema
फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया  पुणे  Post graduate degree course in video editing
मुंबई डिजिटल फिल्म्स एकेडमी मुंबई Cinematography
वीडियो एडिटिंग इंस्टिट्यूट  दिल्ली ऑडियो और वीडियो एडिटिंग में सर्टिफिकेट कोर्स और डिप्लोमा जैसे विभिन्न कोर्सेज 
डिजिटल एकेडमी द फिल्म स्कूल मुंबई स्क्रीनप्ले और वीडियो एडिटिंग, स्क्रीनप्ले राइटिंग और साउंड रिकॉर्डिंग जैसे कई कोर्स

योग्यता 

विदेश के शीर्ष विश्वविद्यालयों से किसी कोर्स को करने के लिए, आपको कुछ पात्रता शर्तों को पूरा करना होगा। हालांकि योग्यता मानदंड एक विश्वविद्यालय से दूसरे विश्वविद्यालय में भिन्न हो सकते हैं, यहां कुछ सामान्य शर्तें दी हैं:

  • आवेदक का बारहवीं मे परिणाम 50% से अधिक होना अनिवार्य हैं।
  • मास्टर्स डिग्री कोर्स के लिए जरूरी है कि उम्मीदवार ने किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या कॉलेज से बैचलर्स डिग्री प्राप्त की हो।
  • मास्टर्स कोर्स में एडमिशन के लिए कुछ विश्वविद्यालय प्रवेश परीक्षा आयोजित करते हैं इसके बाद ही आप इन कोर्सेस के लिए पात्र हो सकते हैं। ऑस्ट्रेलिया की कुछ यूनिवर्सिटीज में मास्टर्स के लिए GRE स्कोर की अवश्यकता होती है।
  • साथ ही विदेश के लिए आपको ऊपर दी गई आवश्यकताओं के साथ IELTS या TOEFL स्कोर की भी आवश्यकता होती है।
  • विदेश के विश्वविद्यालयों में एडमिशन के लिए SOP, LOR, CV/रिज्यूमे  और पोर्टफोलियो  भी जमा करने होंगे।

क्या आप IELTS/TOEFL/SAT/GRE में अच्छे अंक प्राप्त करना चाहते हैं? आज ही इन टेस्ट की बेहतरीन तैयारी के लिए Leverage Live पर रजिस्टर करें और अच्छे अंक प्राप्त करें।

आवेदन प्रक्रिया

फिल्म एडिटर कैसे बनें के लिए आवेदन नीचे दी गई प्रक्रिया को पूरा करना होगा:

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप हमारे AI Course Finder की सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेजों जैसे SOP, निबंध, सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टेस्ट स्कोर जैसे IELTS, TOEFL, SAT, ACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTS, TOEFL, PTE, GMAT, GRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप हमारी Leverage Live कक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज़ जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीजा और छात्रवृत्ति/छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे । 
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लेटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है। 

आवदेन प्रक्रिया से सम्बन्धित जानकारी और मदद के लिए Leverage Edu के एक्सपर्ट्स से 1800 572 000 पर संपर्क करें।

आवश्यक दस्तावेज़

विदेश की यूनिवर्सिटीज़ में एडमिशन लेने के लिए नीचे दिए गए डॉक्यूमेंट होने आवश्यक है:

छात्र वीजा पाने के लिए भी हमारे Leverage Edu  विशेषज्ञ आपकी हर सम्भव मदद करेंगे।

फिल्म एडिटर कोर्स के बाद जॉब स्कॉप

फिल्म एडिटर के कोर्स के साथ साथ आप किसी भी जगह से एडिटिंग या उससे संबंधित विषय में इंटर्नशिप कर सकते हैं। आप अपनी पढ़ाई के पूरा होने के बाद इंडस्ट्री में कुछ समय तक असिस्टेंट फिल्म एडिटर के रूप में काम कर सकते हैं। कई सारे ऐसे एडिटर हैं जो दूसरों पर निर्भर ना होकर खुद से फ्रीलांसर के तौर पे कार्य शुरू कर देते हैं। आजकल ऐसे कई प्लेटफार्म है जहां आप अपने टैलेंट का प्रदर्शन कर सकते हैं। फिल्म एडिटर कोर्स को करने के बाद करियर सेक्टर नीचे दिए गए है:

  • प्रोडक्शन डिपार्टमेंट
  • डायरेक्शन डिपार्टमेंट
  • कास्टिंग डिपार्टमेंट
  • स्क्रिप्ट डिपार्टमेंट
  • लोकेशन डिपार्टमेंट
  • कैमरा डिपार्टमेंट
  • साउंड डिपार्टमेंट
  • आर्ट डिपार्टमेंट
  • मेकअप डिपार्टमेंट
  • पोस्ट प्रोडक्शन डिपार्टमेंट 

फिल्म एडिटर की सैलरी

फिल्म एडिटर की सैलरी उसके अनुभव के आधार पर होती है। यदि आप फ्रीलांसर के तौर पर कार्य करते हैं तो आप कॉन्ट्रैक्ट के बेस पर कार्य करते हैं। इंडियन फिल्म एडिटर की एवरेज सैलरी INR 3 से 4 लाख रुपए सलाना तक होती है। 

प्रसिद्ध भारतीय फिल्म एडिटर

कुछ प्रसिद्ध भारतीय फिल्म एडिटर इस प्रकार हैं –

  • ए श्रीकर प्रसाद
  • आरती बजाज
  • दीपा भाटिया 
  • रेनू सलूजा
  • नम्रता राव
  • बी लेनिन
  • अमित पवार
  • अभिजीत कोटके
  • शिमित अमीन
  • संयुक्ता काजा

प्रसिद्ध विदेशी फिल्म एडिटर

कुछ विदेशी फिल्म एडिटर की सूची इस प्रकार है–

  • थेल्मा शूनमेकर
  • मिशेल खेन
  • वाल्टर मर्च
  • जेम्स कैमरन
  • मार्गरेट बूथ
  • जॉर्ज लूकस
  • पॉल हीर्ष
  • विलियम गोल्डनबर्ग
  • क्रिस लेबोंजन
  • क्रैग मैके

FAQs

क्या फिल्म एडिटर के पास एडिटिंग के साथ कोई दूसरा कैरियर ऑप्शन है?

हां, कई सारे फिल्म एडिटर हैं जो एडिटिंग के साथ साथ फिल्मों में डायरेक्टर के स्थान पर भी काम करने लग जाते हैं। 

क्या फिल्म एडिटर को फिल्म के सेट पर उपस्थित रहना पड़ता है?

हां, फिल्म की प्री प्रोडक्शन के लिए एडिटर को शूटिंग के दौरान भी जाना पड़ता है। 

फिल्म एडिटर बनने के लिए सबसे आसान रास्ता क्या है?

फिल्म एडिटर कैसे बनें? यदि आपको फिल्म एडिटर बनना है, तो आपको कुछ वर्षों तक फिल्म इंडस्ट्री में काम करके अनुभव प्राप्त करना होगा, इसके साथ साथ आपको किसी इंस्टीट्यूट से एडिटिंग में डिप्लोमा या डिग्री प्राप्त करनी होगी।

उम्मीद है, आपको फिल्म एडिटर कैसे बनें इस विषय के संदर्भ में हमारा यह ब्लॉग पसंद आया होगा। यदी आप भी किसी यूनिवर्सिटी से एडिटिंग के बारे में अध्ययन प्राप्त करना चाहते हैं, तो आज ही 1800 572 000 पर कॉल करके हमारे Leverage Edu  के एक्सपर्ट्स के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करें। वे एक उचित मार्गदर्शन के साथ आवेदन प्रक्रिया में भी आपकी मदद करेंगे।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert