फिल्ममेकर कैसे बनें?

1 minute read
796 views
Filmmaker Kaise Bane

फ़िल्में हमारे जीवन और समाज के लिए एक आइना होती हैं। यह कहीं न कहीं कैसे न कैसे हमें प्रभावित करती हैं। फिल्मों से हमारे जीवन में पड़ने वाले प्रभाव के लिए बस अभिनेता/अभिनेत्री ही जिम्मेदार नहीं होता बल्कि उसको बनाने वाला/वाली फिल्मकार होते हैं। एक फिल्ममेकर के लिए उसकी क्रिएटिविटी उसके जीवन से भी अहमियत रखती हैं। तो आइए, Filmmaker Kaise Bane के इस ब्लॉग में जानिए फिल्ममेकर बनने के तरीके।

This Blog Includes:
  1. किसे कहते हैं फिल्ममेकर?
  2. आवश्यक स्किल 
  3. फिल्ममेकर बनने के लिए क्वालिफिकेशन
  4. फिल्ममेकर बनने के लिए कोर्स
  5. विदेश में टॉप फिल्म इंस्टीट्यूट
    1. अमेरिकन फिल्म इंस्टीट्यूट (AFI), अमेरिका
    2. टोरंटो फिल्म स्कूल (Toronto Film Institute), कनाडा
    3. लंदन फिल्म इंस्टिट्यूट, इंग्लैंड
    4. अकादमी ऑफ़ परफोर्मिंग आर्ट्स फिल्म एंड टीवी स्कूल, चेक रिपब्लिक
    5. बीजिंग फिल्म अकादमी, चीन
  6. फिल्ममेकर बनने के लिए भारतीय इंस्टीट्यूट की लिस्ट
    1. फिल्म एंड टेलीविज़न इंस्टीट्यूट ऑफ़ इंडिया (FTII), पुणे
    2. व्हिसलिंग वुड्स इंटरनेशनल, मुंबई
    3. सत्यजीत राय फिल्म एंड टेलीविज़न इंस्टीट्यूट, कोलकाता 
    4. सरकारी फिल्म एंड टेलीविज़न इंस्टीट्यूट, कर्नाटक
    5. एमजीआर सरकारी फिल्म एंड टेलीविज़न ट्रेंनिंग इंस्टीट्यूट, चेन्नई
    6. रमेश सिप्पी अकादमी ऑफ़ सिनेमा एंड एंटरटेनमेंट, मुंबई
    7. AAFT, नॉएडा
  7. फिल्ममेकर की सैलरी
  8. FAQ

यह भी पढ़ें: Singer Kaise Bane (सिंगर कैसे बने)

किसे कहते हैं फिल्ममेकर?

एक सच्चा फिल्ममेकर उसे कहते हैं जो दिन के 24 घंटे क्रिएटिविटी में डुबकी लगाकर फिल्म निर्देशन करता है। यह सिर्फ फिल्म निर्देशन तक ही सीमित नहीं होता बल्कि यह एड फिल्म डायरेक्शन, टीवी सीरियल या वेब सीरियल डायरेक्शन भी करते हैं। फिल्ममेकर एक उस लीडर की तरह होता है जो फिल्म से जुड़ी हर चीज़ को गाइड करता है, जैसे फिल्म यूनिट, स्क्रिप्ट ठीक है कि नहीं, एक्टर को सीन समझाना आदि।

  • एक फिल्ममेकर का काम होता है अपनी कलात्मक खूबी से फिल्म या किसी भी चीज़ में उसे एक नया आयाम दे। फिल्ममेकर राइटर का काम भी करता है। एक्टर जब किसी सीन में फंस जाता है तो वह डायरेक्टर का काम होता है उसे उस दुविधा से उबारना।
  • किसे क्या रोल देना है यहकाम भी फिल्ममेकर ही करता है।
  • जहाँ फिल्म या सीन फिल्माना अगर स्टूडियो से बाहर फिल्माना है, तो कहाँ फिल्माना है उसके लिए जगह का चयन आदि।
  • प्रोडूसर के साथ सहयोग बनाना भी फिल्ममेकर का ही काम होता है।
  • फिल्म की एडिटिंग मतलब फिल्म में सीन रहेगा या कौन सा सीन नहीं रहेगा, इसमें भी डायरेक्टर जरूरत होती है।
  • एक डायरेक्टर के नीचे कुछ असिस्टेंट डायरेक्टर भी काम करते है। डायरेक्टर की यह पूरी टीम मिलकर Film से जुड़े पहलु पर काम करती है। फिल्ममेकर बनने से पहले आपको बतौर असिस्टेंट डायरेक्टर काम करना होगा। इसके लिए शुरूआत आपको पहले असिस्टेंट डायरेक्टर से ही करनी होगी।

Check it: Fashion Designer Kaise Bane

आवश्यक स्किल 

फिल्ममेकिंग स्कील उन कार्यों को करने की क्षमता है जो एक फिल्म को कुशल तरीके से बनाने के लिए आवश्यक हैं।

  • फिल्ममेकर में सिनेमैटोग्राफी स्किल्स होनी चाहिए, तभी वह बेहतरीन काम कर सकता है। 
  • स्क्रीन राइटिंग स्किल्स होनी चाहिए। 
  • एक फिल्ममेकर फिल्ममेकिंग इक्विपमेंट एक्सपर्ट होना चाहिए। 
  • कैमरा और लेंस, लाइट्स और रिफ्लेक्टर, बूम माइक और लव माइक सहित माइक्रोफ़ोन, ग्रीन स्क्रीन, मोशन कैप्चर की समझ होनी चाहिए। 
  • एडिटिंग और फिल्म निर्माण सॉफ्टवेयर की समझ होनी चाहिए।

फिल्ममेकर बनने के लिए क्वालिफिकेशन

फिल्ममेकर बनने के लिए क्वालिफिकेशन की जरूरत नहीं होती है। Filmmaker Kaise Bane के लिए आपको फिल्मों के बारे में काफी कुछ पता होना चाहिए। भारत में कई सारे ऐसे इंस्टिट्यूट भी हैं जो लोगो को फिल्ममेकिंग का कोर्स करवाते हैं। जिससे फिल्ममेकिंग के बारे में आप परिचित हो सकें। यहां पर आपको डिप्लोमा करवाया जाता है। बाद में फिर आप किसी डायरेक्टर के साथ असिस्टेंट डायरेक्टर के रूप में काम शुरू करते हैं।

Check it: स्किल डेवलपमेंट के ये कोर्स, सफलता की राह करेंगे आसान

फिल्ममेकर बनने के लिए कोर्स

  • बीए (BA) डायरेक्शन
  • एडवांस्ड डिप्लोमा इन फिल्म डायरेक्शन (Advanced Diploma in Film Direction)
  • सर्टिफिकेट कोर्स इन फिल्म डायरेक्शन (Certificate Course in Film Direction)
  • पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन फिल्म डायरेक्शन (Post Graduate Diploma in Film Direction)
  • फिल्म डायरेक्शन (Film Dimension And Packaging)
  • प्रोसेसिंग एंड प्रिंटिंग
  • फिल्म फॉर मोशन पिक्चर
  • शूटिंग फॉर्मेट
  • डिजिटल फिल्ममेकिंग के प्रकार
  • मास कॉम्युनिकेशन

Check it: IAS Kaise Bane?

विदेश में टॉप फिल्म इंस्टीट्यूट

फिल्ममेकर बनने के लिए दुनिया के तो कॉलेजों की सूची नीचे दी गई है :

अमेरिकन फिल्म इंस्टीट्यूट (AFI), अमेरिका

Filmmaker Kaise Bane में अब हम आपको विश्व के सबसे बेस्ट फिल्म इंस्टीट्यूट और स्कूल्स के बारे में बताएंगे, जहाँ से आप इनके बारे में विस्तार से जान सकें। इस प्रसिद्द इंस्टीट्यूट की स्थापना 1967 में की गई थी, यह फिल्ममेकिंग के लिहाज से दुनिया के बेस्ट इंस्टीट्यूट में शुमार है। इसके छात्र रह चुके हैं फिल्ममेकर डैरेन एरोनोफ्सकी, वॉली फिस्टर, जानू कैमिन्सकी, आदि। यहाँ पढ़ने की एक साल की फीस करीब 45 लाख रूपये है। यहाँ आपको सिखाया जाएगा – 

  • सिनेमेटोग्राफी
  • डायरेक्शन
  • फिल्म एडिटिंग
  • प्रोडक्शन
  • प्रोडक्शन डिज़ाइन
  • स्क्रीनराइटिंग

टोरंटो फिल्म स्कूल (Toronto Film Institute), कनाडा

कनाडा को वैश्विक मीडिया उद्योग का हिस्सा होने के लिए एक प्रतिष्ठा प्राप्त है। यहाँ फिल्ममेकिंग के साथ फैशन डिजाइनिंग, गेम डेवलपमेंट, ग्राफिक्स डिजाइन भी पढ़ाया जाता है। संस्था में पेश किया जाने वाला 18 महीने का फिल्ममेकिंग का कोर्स कराया जाता है। यहाँ एक साल की फीस करीब 19 लाख रूपये है।

लंदन फिल्म इंस्टिट्यूट, इंग्लैंड

इसकी स्थापना 1956 में गिल्मोर रोबर्ट्स ने की थी। यहाँ फिल्ममेकिंग सीखने दुनिया भर से लोग आते हैं। यहाँ फिल्ममेकिंग, स्क्रीनराइटिंग और अंतरराष्ट्रीय फिल्म बिज़नस में मास्टर प्रोग्राम भी कराया जाता है। यहाँ हर वर्ष 180 फ़िल्में बनती हैं। यहाँ फिल्ममेकिंग में मास्टर प्रोग्राम की फीस हर वर्ष करीब 60 लाख रूपये है। 

अकादमी ऑफ़ परफोर्मिंग आर्ट्स फिल्म एंड टीवी स्कूल, चेक रिपब्लिक

इस फिल्म स्कूल की स्थापना 1946 में हुई थी. यह यूरोप का सबसे लोकप्रिय फिल्म स्कूल भी है। यहाँ आपको फिल्ममेकिंग की उच्च शिक्षा दी जाती है। यहाँ फिल्म, डायरेक्शन, प्रोडक्शन, स्क्रीनराइटिंग, सिनेमेटोग्राफी आदि के विभाग हैं जो क्वालिटी शिक्षा देते हैं। यहाँ हर वर्ष की फीस करीब 34 लाख रूपये है।

बीजिंग फिल्म अकादमी, चीन

यह एशिया के साथ-साथ दुनिया के टॉप फिल्म अकादमी में से एक है। इसकी स्थापना 1950 में हुई थी। यहाँ फिल्म प्रोग्राम से संबंधित कोर्स की हर वर्ष की फीस करीब 6 लाख रूपये है।

फिल्ममेकर बनने के लिए भारतीय इंस्टीट्यूट की लिस्ट

फिल्ममेकर बनने के लिए भारत के तो कॉलेजों की सूची नीचे दी गई है :

फिल्म एंड टेलीविज़न इंस्टीट्यूट ऑफ़ इंडिया (FTII), पुणे

एफटीआईआई की स्थापना भारत सरकार द्वारा 1960 में हुई थी, इस इंस्टिट्यूट को देश में फिल्ममेकिंग और एक्टिंग के लिए बेस्ट माना जाता है। यहाँ के कुछ प्रतिष्ठित एक्टर और फिल्ममेकर हैं के नाम इस प्रकार हैं – ओम पूरी, नसीरुद्दीन शाह, शबाना आज़मी, मणि कौल, टॉम आल्टर, राजकुमार राव, श्रीराम राघवन (फिल्ममेकर), राजू हिरानी (फिल्ममेकर) और कमाल स्वरुप (फिल्ममेकर आदि)

  • यहाँ 3 वर्ष के पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा में डायरेक्शन के लिए एक वर्ष की फीस 1 लाख 29 हज़ार रूपये है।
  • 1 वर्ष के पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा में डायरेक्शन के लिए एक वर्ष की फीस 1 लाख 29 हज़ार रूपये है।

व्हिसलिंग वुड्स इंटरनेशनल, मुंबई

फिल्म निर्माता और निर्देशक सुभाष घई ने इसकी स्थापना 2006 में की थी। यह देश के शीर्ष फिल्म स्कूल्स में आता है।

सत्यजीत राय फिल्म एंड टेलीविज़न इंस्टीट्यूट, कोलकाता 

इसकी स्थापना 1995 में की गई थी. इसका वर्तमान में डायरेक्टर अमरेश चक्रबर्ती हैं। यह देश के प्रमुख फिल्म इंस्टीट्यूट में अपनी उपस्थिति दर्ज करवाता है।

सरकारी फिल्म एंड टेलीविज़न इंस्टीट्यूट, कर्नाटक

इस इंस्टीट्यूट की स्थापना 1943 में हुई थी। यह भी देश के प्रमुख फिल्म इंस्टीट्यूट में आता है। गोविंद निहलानी जैसे प्रसिद्द फिल्म डायरेक्टर इसके छात्र रह चुके हैं।

एमजीआर सरकारी फिल्म एंड टेलीविज़न ट्रेंनिंग इंस्टीट्यूट, चेन्नई

इसकी स्थापना 1945 में हुई थी। यह तमिल नाडु का प्रमुख इंस्टीट्यूट है। इसमें से कई एक्टर और डायरेक्टर निकले हैं।

रमेश सिप्पी अकादमी ऑफ़ सिनेमा एंड एंटरटेनमेंट, मुंबई

इसकी स्थापना बॉलीवुड के दिग्गज फिल्म डायरेक्टर रमेश सिप्पी ने 2017 में की थी। यह एक प्राइवेट इंस्टीट्यूट है। जहाँ कई छात्र एक्टर या डायरेक्टर बनने के लिए पढ़ते हैं।

AAFT, नॉएडा

एशियन अकादमी ऑफ़ फिल्म एंड टेलीविज़न की स्थापना 1990 में हुई थी। इसके चांसलर हैं संदीप मारवाह। यह देश के लोकप्रिय फिल्म इंस्टीट्यूट में आता है। फिल्म डायरेक्टर लव रंजन और अभिनेता किंशुक महाजन इसके छात्र रह चुके हैं।

CheckOut: ये हैं दिग्गज़ क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी का सफरनामा

फिल्ममेकर की सैलरी

फिल्म डायरेक्शन में कैरियर बनाने के लिए आप डिप्लोमा इन फ़िल्म एंड टीवी डायरेक्शन, पीजी डिप्लोमा इन फ़िल्म डायरेक्शन कर सकते हैं। आप बीएससी इन सिनेमा कोर्स भी कर सकते हैं। मास कॉम्युनिकेशन और फ़िल्म प्रोडक्शन कोर्स करके भी आसांनी से फ़िल्म डायरेक्टर बन सकते हैं। Filmmaker Kaise Bane में फिल्ममेकर की सैलरी किसी नौकरी वाली सैलरी की तरह बंधी नहीं होती। यह आपके प्रोजेक्ट पर निर्भर करती है। बड़े प्रोडक्शन हाउस की फिल्म होगी तो सैलरी भी उसी हिसाब से होगी। आमतौर पर यह फिल्ममेकर की सैलरी 1-2 लाख रूपये महीना होती है।  

Check Out: मिलिए लवलीना बोरगोहेन से, भारत की चमकती बॉक्सिंग स्टार

FAQ

फिल्म निर्माता बनने के लिए क्या योग्यताएं चाहिए?

जबकि फिल्म निर्माता बनने के लिए कोई औपचारिक आवश्यकता नहीं है, फिल्म और टेलीविजन निर्माण में बैचलर्स डिग्री की आवश्यकता होती है क्योंकि यह आपको इस क्षेत्र में काम करने के लिए आवश्यक कई कौशल हासिल करने का अवसर प्रदान करेगा, साथ ही परियोजनाओं के साथ अनुभव प्राप्त करेगा और उद्योग संपर्क स्थापित करना।

डायरेक्टर का क्या काम होता है?

फिल्म डायरेक्टर फिल्म का निर्देशन करता है। हम टीवी पर जो भी सीरियल, एड्स या शो देखते है उनका निर्देशन भी एक डायरेक्टर ही करता है। डायरेक्टर किसी भी मूवी का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा होता है।

सबसे बड़ा फिल्म निर्माता देश कौन है?

दुनिया का सबसे बड़ा फिल्म निर्माता देश भारत है।

उम्मीद है, कि इस ब्लॉग में आपको Filmmaker Kaise Bane के बारे में सभी जानकारी मिल गई होगी। यदि आप विदेश में फिल्म मेकिंग की पढ़ाई करना चाहते हैं, तो हमारे Leverage Edu एक्सपर्ट्स के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन 1800 572 000 पर कॉल कर बुक करें।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

2 comments
15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert