Public Administration क्या होता है?

Rating:
4.5
(12)
PHD लोक प्रशासन

प्रशासन का वह हिस्सा जो common man के लाभ के लिए होता है, लोक प्रशासन कहलाता है। लोक प्रशासन (public administration) का समाज में होना बहुत ज़रूरी है। यह किसी भी देश की democracy के ज़िंदा होने का एहसास कराता है। आइए जानते हैं public administration in Hindi के बारे में विस्तार से।

लोक प्रशासन क्या है?

लोक प्रशासन को समझने के लिए पहले प्रशासन को समझना ज़रूरी हैं क्योंकि प्रशासन के साथ ‘लोक’ शब्द जुड़कर यह उसे लोक प्रशासन या सार्वजनिक प्रशासन बना देता हैं। लोक प्रशासन दो शब्दों ‘लोक’ व ‘प्रशासन’ से मिलकर बना होता है जिसमें लोक का अर्थ जनता और प्रशासन का अर्थ शासन करने से है। 

लोक प्रशासन एक अनुशासन है जिसका अर्थ जनसेवा होता है, इसका प्रमुख उद्देश्य सेवा है। किसी भी देश में लोक प्रशासन के उद्देश्य वहां के processes, political systems तथा national constitution में express rule के principals पर based होते हैं। लोक प्रशासन का संबंध सामान्य तौर पर general और public policies से होता है। Public administration के अर्थ को समझाने के लिए अलग-अलग scholars ने अपनी अपनी definitions दी है जिनमें काफी variations हैं।

Public Administration की Definitions

लोक प्रशासन की विभिन्न definitions इस प्रकार हैं:

  • L.D.White के अनुसार– सभी कार्य जिनका उद्देश्य public policy को लागू करना है वे सभी लोक प्रशासन के अंतर्गत आते हैं। लोक प्रशासन में वे सभी क्रियाएँ आती है जिनका उद्देश्य public policies को लागू करना या पूर्ति करना होता है। 
  • Woodrow Wilson के अनुसार– Policies को sorted और detail में लागू करना ही लोक प्रशासन का कार्य है।  जिस प्रकार राजनीति का संबंध policy making से होता है ठीक उसी प्रकार प्रशासन का संबंधित policy implications से होता है। 
  • Goodnow के अनुसार- लोक प्रशासन state के interests के implications का प्रतीक होता है। 
  • Deemok के अनुसार- Law enforcement ही लोक प्रशासन है अर्थात competent authorities द्वारा घोषित public policies को लागू करना तथा उन policies को पूरा करना है लोक प्रशासन कहलाता है। 
  • Martian Deemok के अनुसार- Marshal के अनुसार प्रशासन की क्या नीति है और उसे कैसे अमल में लाना है इन दोनों से ही संबंधित है। 
  • Saiman के अनुसार- Saiman के अनुसार national और local government की executive branches की गतिविधियां लोक प्रशासन के अंतर्गत आती है। 
  • M.F.Marks के अनुसार- लोक प्रशासन में अपने विस्तृत अर्थ से संबंधित सभी public policies आती है । 
  • Nigro के अनुसार- लोक प्रशासन ही public policies के creator हैं। 
  • Harvey Walker के अनुसार “कानून को functional form प्रदान करने के लिए सरकार जो कार्य करती है, वही प्रशासन है।”
  • Willoughby के अनुसार, “प्रशासन का कार्य वास्तव में सरकार के administrative organ द्वारा घोषित और judiciary द्वारा बनाए गए law को प्रशासित करने से allied है।”
  • Percy Queen के अनुसार “लोक प्रशासन सरकार के कार्यों से संबंधित होता है, चाहे वे केन्द्र द्वारा edited हों अथवा local body द्वारा।”

MP Sharma ने scholars की इन परिभाषाओं को 4 classes में बांटा है-

  • 1st Class: इसमें Leonard D. White की definition को रखा गया है। 
  • 2nd Class: Martian की definition को इस में रखा गया है जिसके अनुसार प्रशासन को सिर्फ कार्य करवाने तक limited करता है। 
  • 3rd Class: इसमें Luther Gulick की definition को रखा है जिसके अनुसार प्रशासन को कार्य करवाने वाले managerial class तक limited रखता है लेकिन वह यह भी मानते हैं कि administrative proceedings executive के बाहर अन्य body में भी होती है। 
  • 4th Class: इसमें Deemok और Fifner की परिभाषा को रखा गया हैं। 

Public Administration in Hindi की विशेषताएं

प्रत्येक देश के प्रशासन की अपनी कुछ विशेषताएं होती है जिसके base पर उसका administration operate किया जाता है, जो इस प्रकार हैं-

  1. लोक प्रशासन की प्रमुख विशेषता customer immunity है। 
  2. यह politics और लोक प्रशासन के अंतर को unreal मानता है और दोनों के integration पर force देता है।
  3. इसका main aim social justice की प्राप्ति है। 
  4. यह public के Wellness और Programs के प्रति dedicated है। 
  5. यह decentralization का समर्थन करता है। 
  6. लोक प्रशासन का slogan है-“Price neutrality and efficiency”। 
  7. Public administration price neutrality को को नहीं मानता है, इसके पीछे कारण यह है कि प्रशासन में Policy making, policy implementation, policy evaluation always ethics का आधार होता है। 
  8. यह positive और idealistic है और यह directly से जनता के प्रति responsible है। 
  9. यह change में विश्वास रखता है तथा social problems के प्रति संवेदनशील होता है। 
  10. लोक प्रशासन का संबंध public policy making से है लोक प्रशासन वह है जिसके द्वारा सरकार के उद्देश्य एवं लक्ष्य की प्राप्ति की जाती है। 

Principles

लोक प्रशासन के कुछ important principles इस प्रकार हैं:

  1. Political direction theory
  2. Theory of public accountability
  3. Theory of social necessity
  4. theory of efficiency
  5. Organization theory 
  6. Theory of public relations
  7. Theory Of Development and Process 

Fields

लोक प्रशासन के field के संबंध में general view present किए गए हैं-

  1. Narrow view 
  2. Broad view
  3. Public welfare approach
  4. Modern outlook
  5. Posdcorb approach
  6. Pocock approach
  1. Narrow view- Narrow view के समर्थक scholars लोक प्रशासन के work area सरकार की executive council तक ही सीमित मानते हैं। इस view के main supporter Luther Gulick एवं Saiman हैं। लोक प्रशासन के क्षेत्र में यह Narrow view, broad view की मुकाबला ज्यादा माना जाता है। 
  2. व्यापक दृष्टिकोण- Broad view रखने वाले scholars के अनुसार लोक प्रशासन के क्षेत्र में सरकार के तीन Department executive, judiciary और legislature के कार्य involve किए जाते हैं इसके समर्थन में scholar Willoughby Marks Negro और LD White शामिल है। अन्य scholars के अनुसार broad view के base पर लोक प्रशासन का study practical है।
  3. Public welfare approach- इस view के अनुसार modern administration public welfare है इसे idealistic view भी कहा जाता है public welfare state में लोक प्रशासन व्यक्ति के all round development के कार्यों को संपन्न किया जाता है।
  4. Modern outlook- Modern times में लोक प्रशासन के क्षेत्र नए-नए subjects included होते जा रहे हैं।उदाहरण के लिए judiciary executive legislature वह करने लोक प्रशासन के यह subjects शामिल हैं: legal, political, social, defense, educational, imperial, financial, local government। 
  5. Posdcorb approach- Lyndall Urwick और Henri Fayol आदि scholars ने सबसे पहले posdcorb approach अपनाई थी। लेकिन इसे systematic way से present Luther Gulick ने किया, जिसमें उन्होंने लोक प्रशासन के work areas में आने वाले 7 कार्यों को English के 7 words के माध्यम से present किया जो नीचे मौजूद हैं:

P- Planning योजना बनाना
O- Organizing  संगठन स्थापित करना
S- Staffing कर्मचारियों की व्यवस्था करना
D- Directing निर्देशन करना
Co- Co-ordination समन्वय स्थापित करना
R- Reporting प्रतिवेदन प्रस्तुत करना
B- Budgeting बजट तैयार करना

6. Pocock approach- Henri Fayol ने Pocock approach के आधार पर इस view के अनुसार लोक प्रशासन के क्षेत्र में निम्नलिखित कार्य आते हैं। 

P- Planning नियोजन करना
O- Organizing संगठन बनाना
C- Commanding आदेश देना
Co- Co-ordination समन्वय करनारखन या तालमेल बैठाना
C- Controlling नियंत्रण रखना

लोक प्रशासन का Nature

लोक प्रशासन के scholars ने लोक प्रशासन के nature को दो अलग-अलग तरीकों से express किया है- holistic approach और managerial approach।

Holistic Approach

लोक प्रशासन managerial technical, clerical और दिये गए कार्यो का कुल contribution है। लोक प्रशासन उन सभी activities का inclusion करता है जो दिए गए targets को प्राप्त करने के लिए की जाती हैं। L.D. White, Marshall Dimock इसी को मानते हैं । जिसके अनुसार प्रशासन संबंधित expression के subject matter पर निर्भर करता है, यह एक क्षेत्र से दूसरे क्षेत्र में अलग होता है।

Managerial Approach

इसमें, लोक प्रशासन में केवल managerial activities शामिल होती हैं। Technical, clerical activities इसमें शामिल नहीं होतीं जो non-managerial activities हैं। Luther Gulick कहते हैं- ”Administration is concerned with completing the works with the fulfillment of a specified goal.”

Importance

Public administration in Hindi में importance नीचे दी गई है, जो इस प्रकार प्रकार है:

  • Administration की importance ancient time में भी थी जब socialization का process के एक inner element के रूप में प्रशासन की स्थापना और विकास होता रहता था। 
  • लोक प्रशासन हर state का एक ज़रूरी part है चाहे वह socialist या capitalist या totalitarian हो , इनमें से हर में इसकी भूमिका अधिक importance की है क्योंकि state philosophy हर system में individualist की जगह community, interventional है और regulator से public interest हो गया है।
  • विकसित होती societies में एक महत्वपूर्ण आवश्यकता systematic administration और उस में continuous growth होती है यह वृद्धि एक सीमा तक आकार में भी होती है।
  • आज भी society में सबसे अधिक कार्य responsibility के weight से लोक प्रशासन दबा हुआ है और प्रत्येक व्यक्ति/समुदाय को अपनी आवश्यकता के fulfillment का sole source/option यहीं नजर आता है तो इसके पीछे राज्य की यह भावना है जो पूरे समाज को happy, fulfilling और peaceful life जीने की oath उठाए हुए हैं। 
  • Industrialization urbanization population में वृद्धि यह कुछ अन्य कारण है जो राज्य और प्रशासन के कार्यों में भारी बढ़ोतरी का कारण है। 
  • M. Marx’s के अनुसार बड़ी सरकारों को अपने बड़े activities को पूरा करने के लिए बड़े resources की आवश्यकता होती है अर्थात एक comprehensive उद्देश्य को आकार देने वाली administrative machine। 
  • माना जाता है कि पहले राज्य और उसका प्रशासन police form का था जो public welfare के स्थान पर state funded concept से afflicted था। 
  • प्रशासन का कार्य न सिर्फ material benefits को सभी तक पहुंचाना है बल्कि उनकी constant supply को भी सुनिश्चित करना है LD White के अनुसार प्रशासन modern life की आशा और अच्छी जिंदगी का साधन है। 
  • Teed ने प्रशासन को moral act और प्रशासक को ethical agent इसीलिए कहा है। समाज में immorality, misconduct आदि बढ़ता जा रहा है ऐसे समय प्रशासन को Ethics, virtue state/society को सुनिश्चित करने के लिए कदम उठाने है। 
  • Democracy आज विश्व में अधिक trend वाली governance system हैं, जो USA और Western European देशों में यह काफी ज्यादा trend में है।यही इसका प्रचार प्रसार अनेक देशों में हुआ। Abraham Lincoln’s famous definition “Democracy is the rule of the people, by the people, for the people.”

Courses

Public Administration in Hindi में universities नीचे दिए गए courses offer करती हैं-

Courses Duration
BA in Public Administration 3 years
MA in Public Administration 2 years
PhD in Public Administration 2-4 years
Diploma in Public Administration 1 year
PG Diploma 1 year
Certificate in Public Administration 6 months – 1 year 

प्रशासन और लोक प्रशासन में अंतर ?

प्रशासन और लोक प्रशासन के बीच कुछ basic अंतर हैं, प्रशासन के दो प्रकारों के बीच महत्वपूर्ण अंतर नीचे मौजूद हैं:

  • लोक प्रशासन में political direction होती है। लोक प्रशासन में administrators को उन आदेशों को पूरा करना होता है जो उन्हें अपने स्वयं के options के साथ मिलते हैं। 
  • लोक प्रशासन का उद्देश्य सेवा है जबकि प्रशासन का उद्देश्य profit earn करना होता है। प्रशासन कभी भी एक काम नहीं करता जो लाभ नहीं देता । 
  • प्रशासन में धन की आय खर्च से अधिक है क्योंकि common public से इस तरह के धन को निकालने का प्रयास किया जाता है। लोक प्रशासन अधिक broad है। यह लोगों की विभिन्न प्रकार की जरूरतों से संबंधित है।
  • लोक प्रशासन की जिम्मेदारी जनता की है इसे public, press और political parties के criticism का सामना करना पड़ता है जबकि प्रशासन के पास public के प्रति कोई बड़ी जिम्मेदारी नहीं होती। 
  • लोक प्रशासन में सरकार की ही monopoly होती है और private parties को इसके साथ competition करने की अनुमति नहीं देता है। लेकिन प्रशासन में कोई monopoly नहीं होता। प्रशासन में कई व्यक्ति या संगठन एक ही चीज़ की supply करने या same जरूरतों को पूरा करने के लिए एक-दूसरे के साथ competition करते हैं।

Top Abroad Universities

दुनिया की top universities जो public administration courses offer करती हैं, उनके नाम इस प्रकार हैं:

Universities Tuition Fees
Michigan State University USD 44,226 (33,16,950)
University of Wisconsin USD 25,876 (19,40,700)
University of North Carolina USD 18,548 (13,91,000)
Ulster University GBP 18,480 (19,03,440)
University of Surrey GBP 17,990 (18,52,970)
University of Canberra AUD 28,700 (15,49,800)
University of Queensland AUD 34,208 (18,47,232)
Virginia Tech USD 30,867 (23,15,100)
Charles Darwin University AUD 29,265 (15,80,333)
University of Essex GBP 20,350 (20,96,500)

Top Indian Universities

India की top universities जो public administration courses offer करती हैं, उनके नाम इस प्रकार हैं:

Universities Annual Fees (रुपयों में/per year)
Loyola University, Chennai 14,400
St. Xaviers College, Mumbai 5,400
IIT Kanpur 64,500
Banasthali Vidyapith, Jaipur 77,500
Jyoti Nivas College, Bangalore 20,500
KISS – Kalinga Institute of Social Sciences, Bhubaneswar 1,37,000
Institute for Excellence in Higher Education, Bhopal 18,800
Jaipur National University 38,000
University of Lucknow 42,000 (Total Fees)
Hislop College 34,000

Public Administration की Preparation के लिए Best Books

नीचे public administration in Hindi के लिए यह यह कुछ best books के नाम-

Book Names Buy Link
Public Administration MA IGNOU Complete study Material In Hindi For IAS NET Entrance Buy Here
Lok Prashasan Buy Here
Sahitya Bhawan Lok Prashasan book Buy Here
Handwritten Class notes Public Administration Buy Here
JPSC Mains Paper – IV, Indian Constitution, Polity, Public Administration Buy Here

FAQs

लोक प्रशासन की main specialization क्या है?

लोक प्रशासन की main specialization customer immunity है। यह politicsऔर लोक प्रशासन (public administration) के अंतर को नहीं मानता है और दोनों के integration पर ज़ोर देता है। इसका main aim social justice को बढ़ावा देना है

लोक प्रशासन और निजी प्रशासन क्या हैं?

लोक प्रशासन का उद्देश्य public की सेवा करना है। लोक हित’ का उद्देश्य ही लोक प्रशासन का मुख्य उद्देश्य होता है, जबकि निजी प्रशासन में personal या एक community विशेष के interest देखे जाते हैं।

नया लोक प्रशासन कब से शुरू माना जाता है?

नए लोक प्रशासन की शुरुआत 1967 के ‘हनी प्रतिवेदन’ (Honey Report) से मानी जाती है।

दुनिया में public administration की शुरुआत किसने की थी?

दुनिया में public administration की शुरुआत ex American president Woodrow Wilson ने की थी।

आशा करते हैं कि इस ब्लॉग से आपको public administration in Hindi की जानकारी मिली होगी। यदि आप विदेश में public administration course करना चाहते हैं तो हमारे Leverage Edu के experts से 1800 572 000 पर call करके आज ही 30 minutes का free session बुक कीजिए।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

3 comments

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.

+91
Talk to an expert for FREE