लॉ करने की सोच रहे हैं तो जान लें LLB का पूरा सिलेबस

2 minute read
2.8K views
10 shares
Leverage Edu Default Blog Cover

वर्तमान में LLB डिग्री की काफी डिमांड है। LLB एक मल्टी बहु-विषयक डिग्री कोर्स है, जिसकी अवधि 3 साल होती है। इसके अंतर्गत इकोनॉमिक्स, हिस्ट्री, पॉलिटिकल साइंस, ह्यूमन राइट्स आदि जैसे विभिन्न विषयों की पढ़ाई शामिल है। LLB में एसोसिएट से लेकर सीनियर एडवोकेट तक की जॉब प्रोफाइल अच्छी सैलरी के साथ उपलब्ध हैं। आइए ब्लॉग में विस्तार से जानते हैं LLB syllabus in Hindi के बारे में।

कोर्स का नाम LLB
स्किल्स -व्यापारिक जागरूकता
-केस पर नज़र बनाए रखना
-समय प्रबंधन
-संचार कौशल
स्पेशलाइजेशन -राजनीतिक विज्ञान
-कानूनी तरीके
-मुकदमे की पैरवी
-विधिशास्त्र
टॉप विदेशी यूनिवर्सिटीज स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी
कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय
ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय
शिकागो विश्वविद्यालय
प्रवेश परीक्षाएं CLAT
AILET
-LSAT
-DU एंट्रेंस

LLB क्‍या होता है?

Bachelor of Laws (LLB) तीन साल का अंडरग्रेजुएट कोर्स है। इसमें 6 सेमेस्टर होते हैं 4 अलग-अलग प्रकार के लॉ को स्वतंत्र रूप से कवर करने वाले लेजिस्लेटिव लॉ की पढ़ाई से संबंधित है। यह कोर्स छात्रों को कॉर्पोरेट, लेजिस्लेटिव, बिज़नेस और अन्य विभिन्न प्रकार के कानून को दुनिया से परिचित कराता है। इस क्षेत्र में नौकरी के कुछ अवसर लीगल एडवाइजर, लॉयर, पब्लिक प्रासीक्यूटर आदि होते हैं।

LLB कोर्स क्यों करें?

LLB कोर्स क्यों करना चाहिए, इस तथ्य को साबित करने के लिए एक नहीं बल्कि असंख्य कारण हैं। आपके संदर्भ के लिए उनमें से कुछ नीचे दिए गए हैं,

  • कई करियर विकल्प: वकील बनने के अलावा, लॉ ग्रेजुएट्स विभिन्न क्षेत्रों जैसे मीडिया और कानून, शिक्षा, वाणिज्य और उद्योग, सामाजिक कार्यराजनीति और बहुत कुछ के लिए बेहतरीन उम्मीदवार हैं।
  • वित्तीय स्थिरता: कानून की डिग्री प्राप्त करना तुरंत सफलता या अच्छे सैलरी पैकेज की गारंटी नहीं दे सकता है। यह प्रोफेशनल योग्यता आपको नौकरी की सुरक्षा और बिना वेतन वाले लोगों की तुलना में उच्च वेतन का आनंद लेने की अनुमति देती है।
  • मास्टर क्रिटिकल थिंकिंग, स्ट्रॉन्ग रीजनिंग और एनालिटिकल स्किल्स: लॉ की पढ़ाई करने से प्राप्त ज्ञान और कौशल छात्रों को जटिल परिस्थितियों या समस्याओं के दोनों पक्षों को एनालाइज करने और मजबूत तर्क और महत्वपूर्ण सोच के आधार पर सर्वोत्तम समाधान तैयार करने की सुविधा प्रदान करते हैं।
  • सम्मान और प्रतिष्ठा: कई लॉ ग्रेजुएट्स विभिन्न उद्योगों में सफल हो जाते हैं और कुछ विश्व नेता बन जाते हैं जिन्हें अत्यधिक सम्मानित किया जाता है।

LLB के प्रकार

LLB क्या है जानने के साथ-साथ नीचे जानिए इस कोर्स के प्रकार-

LLB के प्रकार कोर्स अवधि
BBA LLB 5 वर्ष
BA LLB 5 वर्ष
BSc LLB 5 वर्ष

स्किल्स

LLB क्या है जानने के साथ-साथ स्किल्स को जानना आवश्यक है, जो इस प्रकार हैं:

  • व्यापारिक जागरूकता
  • केस पर नज़र बनाए रखना
  • समय प्रबंधन
  • संचार कौशल
  • शैक्षणिक क्षमता
  • कानूनी अनुसंधान और विश्लेषण
  • आत्मविश्वास और रेसिलिएंस
  • धैर्य बनाए रखना

LLB कैसे करें?

देश-विदेश में LLB की पढ़ाई कैसे करें के बारे में एक सामान्य प्रक्रिया स्टेप बाय स्टेप नीचे बताई गई है:

  • स्टेप 1: लॉ की पढ़ाई करने के लिए 12वीं पास होना जरुरी है।
  • स्टेप 2:LLB करने के लिए आप किसी भी स्ट्रीम में 12वीं कर सकते है। यदि आप आर्ट्स स्ट्रीम में पढ़ते हैं तो ज़्यादा फ़ायदा होगा, क्योंकि इस स्ट्रीम में लॉ के बारे में बहुत कुछ पढ़ाया जाता है।
  • स्टेप ३: इसके बाद आपको 12वीं के लॉ कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए CLAT 2022 एंट्रेंस एग्जाम देना होगा।
  • स्टेप 4: भारत में LLB एंट्रेंस एग्ज़ाम Common Law Admission Test (CLAT) का आयोजन नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी और इंस्टीटूशन में एडमिशन के लिए किया जाता है। इस परीक्षा में पास होने के बाद आप लॉ कॉलेज में एडमिशन ले सकते है, जो 5 साल का कोर्स होता है।
  • स्टेप 5: इस एंट्रेंस एग्ज़ाम में एक कॉमन टेस्ट होता है, जिसमें आपसे इंग्लिश, नेशनल लॉ, रीज़निंग, लीगल एप्टीटुड, मैथ्स और जनरल अवेयरनेस के प्रश्न पूछे जाते है।
  • स्टेप 6: लॉ में अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद आप एक वकील बन सकते हैं
  • स्टेप 7: किसी विषय में विशेषज्ञता प्राप्त करने के लिए आप इसमें मास्टर्स भी कर सकते हैं।

लॉ के अंतर्गत स्पेशलाइजेशन

लॉ के अंतर्गत कई स्पेशलाइजेशन आते हैं जैसे कि :-

  • क्रिमिनल लॉ
  • कॉरपोरेट लॉ
  • पेटेंट अटॉर्नी
  • साइबर लॉ
  • फैमिली लॉ
  • बैंकिंग लॉ
  • टैक्स लॉ

LLB कोर्स सिलेबस  

LLB सिलेबस में आर्ट्स के विषयों की एक विस्तृत रेंज शामिल है। छात्रों की लगातार मांग ने LLB को सबसे अधिक मांग वाली डिग्री में से एक बना दिया है। नीचे सेमेस्टर के अनुसार सिलेबस दिया गया है:

सेमेस्टर 1 सेमेस्टर 2
लेबर लॉ फॅमिली लॉ II
फैमिली लॉ I लॉ ऑफ़ टोर्ट एंड कंस्यूमर प्रोटेक्शन एक्ट
क्राइम कोंस्टीटूशनल लॉ
वीमेन और लॉ प्रोफेशनल एथिक्स
सेमेस्टर 3 सेमेस्टर 4
लॉ ऑफ़ एविडेंस विधिशास्त्र
ह्यूमन राइट एन्ड इंटरनेशनल लॉ प्रैक्टिकल ट्रेनिंग- लीगल ऐड
एनवायर्नमेंटल लॉ प्रॉपर्टी लॉ इन्क्लूडिंग द ट्रांसफर ऑफ़ प्रॉपर्टी एक्ट
आर्बिट्रेशन, कॉंसिलिएशन एंड अल्टरनेटिव इंटरनेशनल इकोनॉमिक्स लॉ
सेमेस्टर 5 सेमेस्टर 6
सिविल प्रोसीजर कोड (CPC) कोड ऑफ़ क्रिमिनल प्रोसीजर
इंटरप्रिटेशन ऑफ़ लॉ कंपनी लॉ
लीगल राइटिंग प्रैक्टिकल ट्रेनिंग- मूट कोर्ट
लैंड लॉ इन्क्लूडिंग सीलिंग एंड अदर लोकल लॉ प्रैक्टिकल ट्रेनिंग II- ड्राफ्टिंग
एडमिनिस्ट्रेटिव लॉ क्रिमिनोलॉजी

LLB में पढ़ाए जाने वाले सामान्य विषय

लॉ में बैचलर्स डिग्री प्राप्त करने के दौरान, आप दुनिया में विभिन्न प्रकार के कानून और विभिन्न लीगल सिस्टम के कॉन्टेक्स्ट में रिसर्च करेंगे LLB में पढ़ाए जाने वाले कुछ विषयों की सूची नीचे दी गई है:

  • क्रिमिनल लॉ
  • कॉरपोरेट लॉ
  • पेटेंट अटॉर्नी
  • साइबर लॉ
  • फैमिली लॉ
  • बैंकिंग लॉ
  • टैक्स लॉ
  • एनवायर्नमेंटल लॉ
  • इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी लॉ
  • ह्यूमन राइट्स
  • कोंस्टीटूशनल लॉ
  • लीगल फिलॉसोफी
  • कॉन्ट्रैक्ट्स
  • लीगल साइकोलॉजी
  • लीगल राइटिंग एंड रिसर्च
  • प्राइवेट एंड पब्लिक इंटरनेशनल लॉ
  • इंटरनेशनल लॉ
  • लेबर लॉ एंड एम्प्लॉयमेंट लॉ
  • लॉ ऑन बैंकिंग एंड इंस्युरेन्स
  • एडवोकेसी एंड कम्युनिकेशन स्किल टोर्ट्स
  • पोलिटिकल साइंस
  • एनर्जी एंड लैंड लॉ
  • पॉवर्टी एंड डेवलपमेंट
  • फैमिली लॉ
  • पेनोलॉजी एंड विक्टिमोलॉजी
  • सोशोलॉजी

LLB की लोकप्रिय बुक्स

नीचे LLB सिलेबस के अंतर्गत आने वाली बुक्स इस प्रकार हैं:

किताबें Buy Link
Anson’s Law of Contract – Ansons Buy Here
Law of Torts – RK Bangia Buy Here
Criminal Law – PSA Pillai  Buy Here
Indian Contract and Specific Relief Act – Pollock, Mulla Buy Here
Legal Aptitude and Legal Reasoning for CLAT and LLB Exams – AP Bhardwaj Buy Here
Outline of Indian Legal and Constitutional History – Mahabir Prashad Jain Buy Here
Jurisprudence and Legal Theories of Eastern Book Company – VD Mahajan Buy Here
Constitutional Law of India: An Important Note – Bhim Rao Ambedkar Buy Here
Nature of Judicial Process – Benjamin N Cardozo Buy Here

LLB के लिए एंट्रेंस एग्ज़ाम

नीचे LLB के लिए भारत में आयोजित होने वाले लॉ एंट्रेंस एग्ज़ाम इस प्रकार हैं:

ये LLB एंट्रेंस एग्ज़ाम मुख्य रूप से लीगल एप्टीटुड, इंग्लिश कॉम्प्रिहेंशन, मैथ्स, जनरल नॉलेज एंड करंट अफेयर्स पर केंद्रित है।

दुनिया की टॉप यूनिवर्सिटीज़

LLB से संबंधित कोर्स ऑफर करने वाली यूनिवर्सिटीज़ के नाम इस प्रकार हैं:

LLB के लिए टॉप भारतीय कॉलेज

भारत में LLB के लिए बेहतरीन शिक्षा प्रदान करने वाले लॉ कॉलेजों की सूची नीचे दी गई है:

  • नेशनल लॉ स्कूल ऑफ इंडिया यूनिवर्सिटी (एनएलएस), बैंगलोर
  • नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली
  • पारुल विश्वविद्यालय, वडोदरा
  • NALSAR यूनिवर्सिटी ऑफ़ लॉ, हैदराबाद
  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी), खड़गपुर
  • पश्चिम बंगाल राष्ट्रीय न्यायिक विज्ञान विश्वविद्यालय (एनयूजेएस), कोलकाता
  • सिम्बायोसिस लॉ स्कूल (एसएलएस), पुणे
  • विधि संकाय जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय, नई दिल्ली
  • गुजरात नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी, गांधी नगर
  • प्रेस्टीज इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड रिसर्च (पीआईएमआर), इंदौर

योग्यता

LLB कोर्स में एडमिशन लेने के लिए कुछ सामान्य योग्यता नीचे दी गई है:

  • छात्रों के पास 10+2 में न्यूनतम 55% से 60% होने आवश्यक है। 
  • हाई स्कूल और सीनियर सेकेंडरी स्कूल की ऑफिसियल मार्कशीट। 
  • बैचलर डिग्री के लिए होने वाले एंट्रेंस एग्जाम में अच्छा स्कोर प्राप्त करना होगा है। 
  • मास्टर डिग्री के लिए आपके पास LLB, BA LLB में ग्रेजुएशन की डिग्री होनी चाहिए।
  • भारत की कई यूनिवर्सिटीज़ और कॉलेज LLB के लिए एंट्रेंस एग्ज़ाम आयोजित करते हैं। जैसे CLAT, AILET, LSAT, SLAT आदि।
  • विदेश में LLB के लिए LNAT/LSAT के स्कोर ज़रूरी होते है। 
  • विदेश में LLB कोर्स की पढ़ाई करने के लिए कुछ यूनिवर्सिटी, 1-2 साल के वर्क एक्सपीरियंस की भी मांग करती है। 
  • एक अच्छा IELTS/TOEFL स्कोर की आवश्यकता होती है। 
  • सिफारिश पत्र या LOR
  • स्टेटमेंट ऑफ़ पर्पस 
  • रिज्यूमे 

आवेदन प्रक्रिया 

विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है–

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप AI Course Finder की सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • एक्सपर्ट्स से कॉन्टैक्ट के पश्चात वे कॉमन डैशबोर्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से कई विश्वविद्यालयों की आपकी आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेजों जैसे SOP, निबंध, सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टेस्ट स्कोर जैसे IELTS, TOEFL, SAT, ACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTS, TOEFL, PTE, GMAT, GRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप Leverage Live कक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीज़ा और छात्रवृत्ति / छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे । 
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लेटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है। 

भारत के विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया, इस प्रकार है–

  • सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  • यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूजर नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  • फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  • अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  • इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  • यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

आवश्यक दस्तावेज 

कुछ जरूरी दस्तावेजों की लिस्ट नीचे दी गई हैं–

LLB करने के बाद जॉब प्रोफाइल

LLB करने के बाद लोकप्रिय जॉब प्रोफाइल नीचे दी गई है:

  • ट्रस्टी
  • नोटरी
  • वकील
  • सॉलिसिटर
  • मजिस्ट्रेट
  • कानून विशेषज्ञ
  • लॉ रिपोर्टर
  • क़ानूनी सलाहकार
  • महान्यायवादी
  • सार्वजानिक अभियोक्ता
  • उप-मजिस्ट्रेट
  • शिक्षक और व्याख्याता
  • जिला एवं सत्र न्यायाधीश

टॉप कंपनियां

वकीलों को विभिन्न प्रकार के उद्योगों में नौकरी की कई संभावनाएं मिल सकती हैं। निम्नलिखित कुछ शीर्ष उद्योग हैं जो वकीलों या कानूनी सलाहकारों की भर्ती करते हैं:

  • इंजीनियरिंग फर्म
  • सूचना प्रौद्योगिकी कंपनियां
  • विश्वविद्यालय और कॉलेज
  • कॉर्पोरेट व्यवसाय
  • बहुराष्ट्रीय कंपनियां
  • वित्त कंपनियां
  • सलाहकारी फर्में
  • मीडिया और मनोरंजन घर
  • राजनीतिक दलों

LLB करने के बाद सैलरी

निजी प्रैक्टिस में शामिल एक वकील की वित्तीय सफलता उसके अनुभव और व्यक्तिगत ज्ञान पर निर्भर करती है। जहां तक कॉरपोरेट सेक्टर के कानूनी सलाहकारों का सवाल है कि उन्हें हर महीने 50,000 रुपये तक सैलरी मिल सकती हैं और वे जिस कंपनी के लिए काम कर रहे हैं उसके सीईओ के बराबर पहुंच सकते हैं। सरकारी वकील की सैलरी भी प्रथम श्रेणी के अधिकारी के बराबर होती हैं।

FAQs

LLB का फुल फॉर्म क्या है?

LLB  का फुल फॉर्म Bachelor of Legislative Law या Legum Baccalaureus होता है।

क्या मैं LLB के बाद विदेश में नौकरी कर सकता हूं?

जी हां! भारत में LLB की डिग्री करने के बाद आप विदेश में काम कर सकते हैं। हालांकि, आपको उस कंट्री की संबंधित बार कॉउंसिल द्वारा आयोजित परीक्षा क्लियर करनी होगी।

क्या UK की LLB डिग्री भारत में मान्य है?

हां! द बार Bar कॉउन्सिल ऑफ़ इंडिया 45 यूके यूनिवर्सिटीज़ की LLB डिग्री को मान्यता देता है, जहां से LLB के बाद आप अपनी प्रैक्टिस भारत में कर सकते हैं।

SLAT एग्ज़ाम क्या है?

SLAT का फुल फॉर्म Symbiosis Law Admission Test (SLAT) है। यह 4 सिम्बायोसिस लॉ स्कूल SLS पुणे, SLS नोएडा, SLS हैदराबाद और SLS नागपुर में LLB के लिए एक कॉमन एंट्रेंस एग्ज़ाम है।

क्या LLB में एक अच्छा करियर है?

LLB डिग्री की आजकल काफी मांग है। LLB डिग्री के साथ एक अच्छी जॉब प्रोफाइल और सैलरी के ढेरों विकल्प मौजूद है। यह युवाओं में काफी लोकप्रिय स्टडी विकल्प बनता जा रहा है।

हम आशा करते हैं कि आप LLB syllabus in Hindi और इससे जुड़ी सारी जानकारी इस ब्लॉग में मिल गई होगी। यदि आप LLB कोर्स विदेश से करने के इच्छुक है और एक अच्छी गाइडलाइन की तलाश में हैं तो आज ही 1800572000 पर कॉल करें और हमारे Leverage Edu के एक्सपर्ट के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन बुक कीजिए।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

8 comments
    1. सौम्या जी, एलएलबी एक इंटीग्रेटेड प्रोग्राम है, आप या तो संबंधित क्षेत्र में अपनी बैचलर्स की डिग्री पूरी कर सकते हैं और फिर एलएलबी का विकल्प चुन सकते हैं या सीधे 12 वीं के बाद बीए एलएलबी या बीबीए एलएलबी जैसे कोर्स कर सकते हैं।

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert