2021 में कैसे करें आईएएस की तैयारी? सीखें खुद IAS टॉपर्स से

Rating:
4.4
(30)
IAS Preparation

यूपी एससी की परीक्षाओं को भारत की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक माना जाता है इसलिए इसकी तैयारी भी कठिन होती है। हर वर्ष लाखों की तादाद में उम्मीदवार अपने ज्ञान, समर्पण और उत्साह से देश की सेवा का मौका पाने के लिए इस परीक्षा में शामिल होते हैं। विस्तृत नोट से लेकर विशेषज्ञों के मार्गदर्शन तक यूपी एससी की तैयारी कर रहे उम्मीदवारों की तैयारी किट में सब कुछ शामिल होना चाहिए। पर क्या आपको ये पता है कि इन परीक्षाओं में कौन सी बातें सबसे ज्यादा काम आती हैं? वो हैं यूनीक स्टडी  प्लान या रणनीति। इस ब्लॉग में हम कुछ ऐसे कारगर सुझाव देंगे जो आईएएस की तैयारी के लिए आपकी मदद करेंगे। साथ ही यूपी एससी पास कर चुके उम्मीदवारों के सुझाव भी यहां शामिल हैं जो आपको ये बताएँगे कि इस तरह की तैयारी में क्या करना चाहिए और क्या नहीं।

सिविल सर्विस एग्जाम यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन द्वारा संचालित किए जाते हैं। इस परीक्षा के तीन चरण होते हैं, प्रशासनिक सेवा अधिकारी बनने का सपना पूरा करने के लिए इन सभी चरणों को पास करना अनिवार्य है। ये चरण हैं, प्रिलिम्स, मेन्स और पर्सनल इंटरव्यू। प्रिलिम्स और मेन्स लिखित परीक्षाएं होती हैं जिनमें सब्जेक्टिव और ऑब्जेक्टिव प्रश्न शामिल होते हैं।

आईएएस की तैयारीकुछ मूल्यवान सुझाव

यहां कुछ लाभकारी सुझाव हैं जो आपको आईएएस की तैयारी में मदद कर सकते हैं।

कड़ी मेहनत और समर्पण

यूपी एससी की तैयारी कर रहे उम्मीदवारों को अपने लक्ष्य के प्रति समर्पित होने और कड़े प्रयासों की आवश्यकता है। अगर आपने सीएसई के लिए हिम्मत जुटाई है, तो हमें लगता है कि आईएएस अधिकारी बनने के आपके मार्ग में पड़ने वाले हर प्रकार के अवरोधों को पार करने की क्षमता भी आप में होगी।

सिलेबस जानें

तैयारियाँ करने से पहले जरूरी है कि आप एक बार सभी विषयों का पूरा सिलेबस जान लें। सिलेबस में हुए हर नए बदलाव को जानें साथ ही कभी भी जरूरत पड़ने के लिए उसकी सोफ्ट या हार्ड कॉपी अपने पास रखें। प्रिलिम्स और मेन्स के सिलेबस के जरूरी बिंदु आप एक पेपर में लिख कर अपने स्टडी टेबल पर चिप का सकते हैं।

समय सारणी बनाएं

पूर्व निर्धारित समय के अनुसार काम करना आपको आगे तक फायदा देगा। आपको शुरुआत खुद के लिए समय सारणी तैयार करने से करनी होगी, साथ ही जरूरी है कि उस तय समय में आप पूरी ईमानदारी के साथ तैयारी में जुटे। इससे आप दिन में कई विषय पढ़ पाएंगे। साथ ही खुद पर अधिक सख़्ती भी न करें, इसलिए फिजिकल और रेजुविनेटिंग ऐक्टिविटी के लिए भी समय निकालें।

मूल सिद्धांतों को मजबूत करें

यूपीएससी के उच्च स्तरीय सिद्धांतों को समझने के लिए जरूरी है कि आपकी मूल जानकारी अच्छी हो यानि एनसीईआरटी किताबों में दिया ज्ञान आपको अच्छे से आता हो। मजबूत नींव आपको विषयों की विस्तृत तैयारी करने में मदद करेगी जो यूपीएससी परीक्षाओं में सफल होने के लिए बेहद जरूरी है।

क्विक नोट्स और प्लेस कार्ड्स तैयार करें

अपने आईएएस की तैयारी में आप कई विषयों को पढ़ेंगे, नए विषयों को पढ़ने के साथ ही पुराने विषयों को याद रखने की जरूरत भी है। विषयों के हस्तलिखित नोट्स आपको उन्हें लम्बे समय तक याद रखने में मदद करेंगे। पढ़ाई के नीरस तरीके को बदलकर उसे रोचक बनाने के लिए आप सवालों के प्लेसकार्ड्स बना सकते हैं। कार्ड में दिए सवालों के जवाब आप अपने दोस्तों को दे सकते हैं।

सबसे ज़्यादा तनख्वाह वाली सरकारी नौकरियाँ

देश दुनिया की जानकारी रखें

एक काबिल आईएएस अधिकारी की तरह ही आपको भी दुनिया भर की सभी ताज़ा खबरों की जानकारी होना जरूरी है। दोनों ही परीक्षाओं में करेंट अफेयर्स का बेहद महत्व होता है। वहीं पर्सनल इंटरव्यू के लिए आस पड़ोस और विश्व भर के राजनैतिक, ऐतिहासिक, सामाजिक और आर्थिक जगत में होने वाली हलचल की जानकारी होना आवश्यक है। आप प्रतिष्ठित न्यूज़ चैनल की मदद ले सकते हैं जिनमें होने वाली बहस आपको ये जानकारियाँ देंगी। इस काम के लिए आप ऐप का इस्तेमाल भी कर सकते हैं।

अखबार पढ़ें

आईएएस बनने की आपकी तैयारी में अखबार का पढ़ना बहुत जरूरी है। यह न सिर्फ आपको दिनों दिन होने वाली देश, विदेश की घटनाओं से अवगत कराएगा बल्कि आपके शब्दकोश, औपचारिक लेखन शैली को भी समृद्ध करेगा। इसलिए जरूरी है कि आप कम से कम रोज एक घंटा अखबार पढ़ें। इसके साथ ही आपने जिन नए शब्दों को पढ़ा और सीखा है उनका एक जर्नल बनाकर रखें।

मॉक टेस्ट और पिछले वर्षों के प्रश्न पत्र एक बार आपने यूपीएससी के सिलेबस की जटिलताओं को समझ और सुलझा लिया है अब वक्त है कि आप अधिक से अधिक मॉक टेस्ट पर ध्यान दें। क्योंकि इनके लिए खास समय निर्धारित होता है इसलिए बेहतर है कि आप खुद की निर्धारित समय सीमा में इन्हें पूरा करने की आदत विकसित कर लें। मॉक टेस्ट की तैयारी के बाद पिछले वर्षों के यूपीएससी प्रश्न पत्रों का अभ्यास करना होगा। कम से कम पिछले पांच-छह वर्षों के प्रश्न पत्रों को समयसीमा के अंदर पूरा करने का अभ्यास करें। मॉक टेस्ट और पिछले वर्षों के प्रश्न पत्र सॉल्व करना आपको व्यवहारिक रूप से यूपीएससी परीक्षा देने के लिए तैयार करेगा।

कोचिंग के बिना आईएएस की तैयारी

हमारे देश में आईएएस परीक्षा काफी महत्वपूर्ण परीक्षा मानी जाती है, इसके लिए अक्सर छात्र कोचिंग करना पसंद करते है। कोचिंग करने से उनको लगता है कि वे आसानी से इस परीक्षा को पास कर लेगे। लेकिन सही मायनों में इस परीक्षा को पास करने के लिए कोचिंग की नहीं बल्कि एक लक्ष्य निर्धारण के साथ समय सीमा और धैर्य-लगन सहित कठिन परीश्रम आदि के माध्यम की जरूरत होती है जिसके बाद ही इस परीक्षा को पास किया जा सकता हैं।  वहीं आईएएस परीक्षा की तैयारी के लिए छात्र को कोचिंग पर ज्यादा विश्वास होता है, इसलिए वह सबसे पहला काम शहर की सबसे महंगी कोचिंग से जुड़ने को ही सफल होने का मंत्र मान लेता है। जबकि आईएएस की तैयारी षुरू करने वाले अभ्यर्थी की पहली योजना यह नहीं होना चाहिए। आईएएस की तैयारी आप घर पर रहकर भी आपको सफल बना सकती है।

घर पर कैसे करें आईएएस की तैयारी?

वैसे तो किसी भी परीक्षा के लिए कोई समय निर्धारण नहीं कर सकता, लेकिन छात्रों को 18 महीने की अथक परिश्रम से उस समय सीमा तक पहुंच सकता है। इसके साथ अभ्यर्थी को करंट अफेयर्स सहित अन्य समसामायिक घटनाओं पर अपनी अच्छी नजर रखनी होगी। क्योंकि आईएएस की परीक्षा के लक्ष्य को तीन प्रयासों को पार कर ही प्राप्त किया जा सकता है, जिसमें प्रथम प्रयास जिसे प्री एग्जाम कहते हैं, उसमें करंट अफेयर्स और विषय से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। अगर छात्र के पास 60 दिन भी बचे हैं, तो भी सही रणनीति एवं कठिन परीश्रम से लक्ष्य को भेदना नामुमकिन नहीं है।

10वीं के बाद आईएएस की तैयारी कैसे करे?

10 वीं के बाद हालांकि आईपीएस परीक्षा नहीं दी जा सकती लेकिन आप नीचे दी गयी टिप्स के द्वारा 10 वीं से ही आईएएस बनने की तैयारी शुरू कर सकते है।

  • सबसे पहले एग्जाम की पूरी जानकारी होना जरूरी है।
  • एग्जाम में आने वाले सिलेबस को समझे ।
  • रणनीति और अध्ययन की सामग्री को इकट्ठा करें ।
  • एकाग्रता के साथ पढ़ाई करें।
  • पढ़ाई के साथ ही साथ लेखन करना भी जरूरी है ।
  • बार-बार मोक टेस्ट दीजिए
  • रोज़ाना न्यूज़ पेपर और मैगज़ीन पढ़े।

12वीं के बाद आईएएस की तैयारी कैसे करें

सिविल सर्विस एग्जाम के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो आपके पास कम से कम बैचलर की डिग्री होनी चाहिए। इस एग्जाम के लिए मिनिमम परसेंटेज की कोई शर्त नहीं है। यानी अगर आप ग्रैजुएशन कर चुके हैं तो आप परीक्षा में बैठ सकते हैं। वैसे इसके लिए आप उस समय भी आवेदन कर सकते हैं जब फाइनल इयर में हों।

आईएएस की तैयारी के लिए बुक्स

  1. एम. लक्ष्मीकांत (राजनीति)
  2. नितिन सिंघानिया (कल्चर) की लिखी किताब इंडियन आर्ट एंड कल्चर
  3. गोह चेंग लेओंग (भूगोल) की लिखी सर्टिफिकेट फिजिकल एंड ह्यूमन जियोग्राफी  
  4. ऑक्सफोर्ड पब्लिशर्स द्वारा ऑक्सफोर्ड स्कूल एटलस (भूगोल)
  5. रमेश सिंह (अर्थव्यवस्था) की लिखी इंडियन इकोनॉमी
  6. राजीव अहीर (आधुनिक भारत) की लिखी ब्रीफ हिस्ट्री ऑफ माडर्न इंडिया

ऑनलाइन आईएएस कोचिंग प्लेटफॉर्म

वैसे तो आईएएस की ऑनलाइन और ऑफलाइन कोचिंग काफी सारी है जिनसे पढ़ने वाले काफी छात्रों ने यह परीक्षा पास की है। लेकिन कोरोना महामारी के चलते इस समय पूरे देश में लॉकडाउन का दौर चल रहा हैं। ऐसे में हम आपको कुछ ऐसे बेहतरीन ऐप्स के बारें में बताने वाले है जिनके जरिए आप घर बैठे ऑनलाइन आईएएस कोचिंग इन हिंदी मध्यम आसानी से कर सकते हैं। ये है 5 सबसे बेहतरीन यूपीएससी की ऑनलाइन कोचिंग ऐप्स।

1. सिविल्सडेली (Civilsdaily)

सिविल्सडेली मोबाईल एप, UPSC IAS उम्मीदवारों के लिए UPSC IAS परीक्षा को पास करने के लिए आवश्यक अध्ययन सामग्री उपलब्ध करने में अग्रसर है। सिविल्सडेली मोबाईल एप, कर्रेंट अफेयर्स तथा मुख्य समाचार अपडेट के लिए जाना जाता है। इसके अलावा सिविल्सडेली मोबाईल एप रोजाना न्यूज़कार्ड प्रकाषित करता है तथा न्यूज़कार्ड में उन बिन्दुओं पर विशेष ध्यान दिया जाता है जो कि IAS परीक्षा की दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण है। दैनिक न्यूज़ कार्ड एक नयी पहल है जिससे की IAS उम्मीदवारों को रोज़ कर्रेंट अफेयर्स के टॉपिक्स दिए जाते हैं।

2. आईएएसबाबा (IASbaba)

IASbaba का विज़न है- ” दूरस्थ स्थानों पर रह रहे IAS उम्मीदवारों के लिए UPSC IAS में रैंक 1 प्राप्त कने के लिए अवसर प्रदान करना”। IASbaba, IIT/IIMs जैसी प्रतिष्ठित भारतीय शिक्षा संस्थानों के पूर्व छात्र द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में एक पहल है जो IAS/IPS जैसी प्रतिष्ठित सेवाओं की चाह रखने वाले उम्मीदवारों के लिए गुणात्मक और स्मार्ट अध्ययन करने के लिए प्रेरित तथा मदद करता है। IASbaba अपने द्वारा प्रस्तुत मोक्क टेस्ट में All India रैंक प्रदान करता हैं जो की IAS की तैयारी का एक एक महत्वपूर्ण अंग है। All India रैंक, IAS अभ्यर्थियों में नयी उर्जा का संचार करती है तथा तैयारी को सही दिशा प्रदान करती है।

3. दि हिन्दू (The Hindu)

The Hindu भारत का एक प्रमुख समाचार पत्र है जो कि IAS परीक्षा की दृष्टि से कर्रेंट अफेयर्स की तैयारी के लिए विशेष माना जाता है। अक्सर, IAS उम्मीदवारों को यह सलाह दी जाती है कि वह रोजाना The Hindu समाचार पत्र अवश्य पढ़ें। The Hindu का मोबाईल एप भी उपलब्ध है जो कि एक IAS उम्मीदवार आसानी से IAS परीक्षा की तैयारी के दौरान उपयोग कर सकते है। दि हिंदू में दी गई खबरों और सूचनाओं की विश्वसनीयता IAS की तैयारी के लिए देश में किसी अन्य दैनिक समाचार पत्र की तुलना में काफी ज्यादा है। IAS उम्मीदवारों को दैनिक आधार पर द हिंदू समाचार पत्र से विज्ञान, प्रौद्योगिकी, पर्यावरण और स्वास्थ्य जैसे अन्य महत्वपूर्ण क्षेत्रों की संपादकीयों को अवश्य पढ़ना चाहिए।

रेलवे परीक्षा 2021- पात्रता, परीक्षा पैटर्न, अनुसूचीऔर चयन प्रक्रिया

आईएएस की तैयारी2019 के रैंक होल्डर्स से सीखें

अब हम यूपीएससी के 2019 के रैंक होल्डर्स के जीवन के बारे में जानेंगे और उनसे कुछ मार्गदर्शन प्राप्त करेंगे जो हमें यूपीएससी परीक्षाओं में सफल रहने में मदद करेंगे।

प्रतिभा वर्मा  (ऑल इंडिया रैंक 3)

‘मॉक इंटरव्यू ने प्रभाव पूर्ण ढंग से नए दृष्टिकोण प्राप्त करने में मेरी मदद की। इससे मुझे मेरी पर्सनैलिटी के कई पहेलुओं में मौजूद कमियों को सुधारने का मौका मिला।‘

‘मैं यही कहूं गी कि जब प्रिलिम्स की बात हो तो लगातार अभ्यास की जरूरत पड़ती है। प्रिलिम्स से पहले मैंने करीब 30 से 40 अधिक प्रैक्टिस शीट्स तैयार की थीं। प्रश्न के प्रकार को समझना बेहद जरूरी है और इस काम के लिए मॉक टेस्ट सबसे आसान तरीका है।‘

अभिषेक सर्राफ  (ऑल इंडिया रैंक 8)

‘दुनिया में प्रत्येक शिक्षण की अपनी भूमिका है। तभी मैंने अन्य विषयों के बारे में सीखना शुरू किया।‘

‘प्रत्येक पेपर और प्रत्येक विषय को समर्पित समय में संतुलन होना जरूरी है। मैंने अपने पहले प्रयास के दौरान लगातार 7 से 8 महीनों तक उत्तर लिखने का कड़ा प्रयास किया। परीक्षा करने के दौरान मैनें तय नियमों और समय सीमा का पालन किया जिससे मैं परीक्षा पास करने के लिए सुनिश्चित हो सकूँ।‘

संजीदा मोहपात्रा  (ऑल इंडिया रैंक 10)

‘मेरे जीवन का लक्ष्य अपने करियर के माध्यम से कम से कम 100 लोगों को सकारात्मक रूप से प्रभावित करना है और वो मेरे पास आकर कहें कि मैं उनमें सुधार ला सकी।‘

संजीदा आईएएस की तैयारी के साथ दिन में पांच घंटे काम भी करती थीं। अधिक घंटों की पढ़ाई से ज्यादा उनका ध्यान गुणवत्ता युक्त पढ़ाई पर था। वो कहती हैं, ‘अगले हफ्ते मैं जो पाठ्यक्रम पूरा करने की योजना बना रही हूं उसके लिए मुझे हर रविवार के लिए एक शेड्यूल चाहिए था। मैं दावे से कह सकती हूं कि साप्ताहिक और मासिक शेड्यूल नें मेरी मदद की।‘

आयकर अधिकारी कैसे बनें?

उम्मीद हैं, हमारी आईएएस की तैयारी से जुड़ी टिप्स की मदद से आप अब इस परीक्षा को पास करने के लिए तैयार हैं। यूपीएससी में वैकल्पिक विषयों में से किसी एक में अपनी प्रवीणता साबित करना अनिवार्य है और चुने हुए विषय में परास्नातक कोर्स आपको दोहरा लाभ पहुंचा सकता है। Leverage Edu में आप हमारे एक्सपर्ट्स से संपर्क कर सकते हैं और वो उपयुक्त कोर्स और विश्वविद्यालय चुनने में आपकी मदद करेंगे।

Loading comments...

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.

+91
Talk to an expert for FREE

You May Also Like

GK in Hindi
Read More

230+ GK in Hindi

कई प्रतियोगी परीक्षाओं में तथा विभिन्न कक्षाओं के विज्ञान के पाठ्यक्रम में General Knowledge Questions in Hindi पूछे…