म्यूज़िक जर्नलिस्ट कैसे बने?

1 minute read
302 views
music journalist kaise bane

 म्यूज़िक इंडस्ट्री कुछ ऐसी इंडस्ट्रीज में शामिल है जिसमें कभी गिरावट नहीं आती है? इस क्षेत्र में अपना करियर बनाने के लिए आपके पास ढेरों अवसर हैं। ऐसा ही म्यूज़िक इंडस्ट्री में पत्रकारिता में जुड़ा करियर है, म्यूज़िक जर्नलिस्ट का। क्या आप भी जानना चाहते हैं कि music journalist kaise bane तो हमारा ब्लॉग आपको टॉप कोर्सेज से लेकर यूनिवर्सिटीज आदि सब की जानकारी देगा।

म्यूजिक जर्नलिस्ट कौन होते हैं? 

 म्यूज़िक जर्नलिस्ट एक म्यूज़िक एक्सपर्ट राइटर होते हैं। म्यूजिक जर्नलिस्ट भी पत्रकार ही होता है जो  म्यूज़िक इंडस्ट्री में दर्शकों के लिए, किसी म्यूजिशियन की बातें या दर्शकों द्वारा पूछे गए सवालों के जवाब, म्यूजिशियन या  म्यूज़िक कंपोजर और  म्यूज़िक इंडस्ट्री से जुड़ी हर खबर के लिए पत्रकारिता करते हैं।

म्यूज़िक इंडस्ट्री से जुड़े लोगों का इंटरव्यू लेना, अपने विचारों को व्यक्त करना, म्यूजिक से जुड़े तथ्यों को सामने लाना यही एक  म्यूज़िक जर्नलिस्ट की परिभाषा है। अक्सर लोगों का सवाल होता है कि music journalist kaise bane या उनका क्या काम होता है, तो आप  म्यूज़िक जर्नलिस्ट बन कर ब्लॉगर के रूप में स्वतंत्र रूप से काम कर सकते हैं या मीडिया आर्गेनाइजेशन, समाचार पत्र, मैगज़ीन या ऑनलाइन वेबसाइट के साथ काम कर सकते हैं।  

 म्यूज़िक जर्नलिस्ट के कार्य

एक  म्यूज़िक जर्नलिस्ट बनने के बाद आपके कंधों पर कई जिम्मेदारी और कार्यभार आ जाते हैं। आइए जानते हैं एक  म्यूज़िक जर्नलिस्ट क्या करता हैं? 

  • एक  म्यूज़िक जर्नलिस्ट रिसर्च कर सही सूचना इकठ्ठी करता है। 
  •  म्यूज़िक जर्नलिस्ट किसी भी म्यूजिक के रिलीज़ होने से पहले या बाद तक एक समीक्षक का काम भी करता है। 
  •  म्यूज़िक जर्नलिस्ट रेडियो प्रोग्राम भी होस्ट करता हैं। 
  •  म्यूज़िकइंडस्ट्री से जुड़े लोगों का इंटरव्यू लेता है।
  • डिजिटल जर्नलिज्म से जुड़े म्यूजिक को तैयार करना। 
  •  म्यूज़िक पब्लिशिंग इंडस्ट्री के कार्यों को संभालना। 
  •  म्यूज़िक ब्लॉग या अन्य फ्रीलान्स वेबसाइट पर ऑनलाइन जॉब के कई अवसर हैं। एक पब्लिकेशन के रूप में काम करने से पहले कई म्यूजिक जर्नलिस्ट कुछ समय के लिए फ्रीलांसर के रूप में काम करते हैं।
  •  म्यूज़िक जर्नलिस्ट स्टोरीज लिखने में काफी समय व्यतीत करता है। 
  •  म्यूज़िक जर्नलिस्ट भी कभी-कभी रिकार्ड्स रिलीज़ पार्टीज और म्यूजिक प्रोग्राम में भाग लेते हैं। 

 म्यूज़िक जर्नलिस्ट बनने के लिए स्किल

किसी भी क्षेत्र में काम करने के लिए आपके पास कुछ स्किल्स होनी आवश्यक होती हैं। आइए जानते है एक अच्छा music journalist kaise bane में इन स्किल के बारे में।

  • स्पीकिंग  
  • रीडिंग कॉम्प्रिहेंशन
  • एक्टिव लिसनिंग
  • सोशल बोधगम्यता
  • टाइम मैनेजमेंट
  • काम्प्लेक्स प्रॉब्लम सॉल्विंग
  • जजमेंट एंड डिसीजन मेकिंग
  • राइटिंग
  • मॉनिटरिंग  
  • नेगोसिएशन
  • पर्सुएशन
  • कंप्यूटर एंड इलेक्ट्रॉनिक्स नॉलेज
  • टेलीकम्यूनिकेशन
  • डिजिटल स्किल  

 म्यूज़िक जर्नलिस्ट कोर्सेज

म्यूज़िक जर्नलिस्ट बनने के लिए कुछ टॉप कोर्स नीचे दिए गए हैं:

इस कोर्स में आप क्या सीखेंगे?

म्यूज़िक जर्नलिज्म के तीन साल कोर्स में आपको फोटोग्राफी, पत्रकारिता, म्यूज़िक संबंधित कुछ सिखने को मिलेगा, जिनमें से कुछ चीज़ें बताई गई है:

  • म्यूज़िक जर्नलिज्म के लिए प्रोफेशनल, संपादकीय फॉर्मेट (टेक्स्ट, फोटो, ऑडियो, वीडियो, सोशल मीडिया) आदि के बारे में सिखाया जाता है।
  • कहानी के विचार और उन्हें कैसे पहचानें के बारे में सिखाया जाता है।
  • साक्षात्कार कैसे करना है के बारे में सिखाया जाता है।
  • किसी म्यूज़िक का रिव्यु कैसे करना है।
  • संपादकीय आउटपुट पर सहयोग कैसे करना है, के बारे में सिखाया जाता है।
  • कमीशनिंग संपादकों को विचार कैसे प्रस्तुत करें।
  • क्लाइंट के संक्षिप्त विवरण में कैसे काम करें।
  • कमीशनिंग एडिटर कैसे बनें।
  • मीडिया कानून क्या है।
  • पत्रकारिता नैतिकता क्या है।
  • म्यूज़िक जर्नलिज्म की हिस्ट्री, वर्तमान में होने वाली घटनाओं के बारे में बताया जाता है।
  • रिसर्च कैसे करें

म्यूज़िक जर्नलिस्ट बनने के लिए योग्यता

किसी भी इंडस्ट्री में अपना करियर बनाने के लिए निर्धारित योग्यता होती हैं जिन्हें आपको पूरा करना होता है। आइए जानते हैं आपको  म्यूज़िक जर्नलिस्ट बनने के लिए किन-किन क्वालिफिकेशन की जरूरत पड़ती है। 

  • आप 10+2  किसी भी स्ट्रीम से कर सकते हैं, चाहे आर्ट्स, कॉमर्स या साइंस उसमें आपके 50% से अधिक अंक होने चाहिए। 
  • अगर आप मास्टर डिग्री करना चाहते हैं तो आपको बैचलर डिग्री में जर्नलिज्म और कम्युनिकेशन स्पेशलाइजेशन होनी आवश्यक है। 
  • विदेश की यूनिवर्सिटीज में एडमिशन के लिए IELTS स्कोर 6.5 और TOEFL स्कोर 90 या उससे अधिक होना जरूरी है।
  • साथ ही विदेशी यूनिवर्सिटीज SOPLOR  की मांग करते हैं।
  • जर्नलिज्म में मास्टर डिग्री के लिए कुछ विदेशी यूनिवर्सिटीज GRE स्कोर की भी मांग करते हैं।

 म्यूज़िक जर्नलिस्ट कैसे बने- स्टेप बाय स्टेप गाइड  

 म्यूज़िक जर्नलिज्म एक ऐसा प्रोफेशन है जिसमें आपको संगीत से जुड़ी हर कला,  म्यूज़िक कल्चर के हर पहलू की नॉलेज होनी आवश्यक है। आइए जानते हैं एक music journalist kaise bane और क्या क्या स्टेप्स हैं, जिन्हें जानना महत्वपूर्ण है। 

  • किसी भी इंडस्ट्री में शुरुआत करने के लिए एक प्रोफेशनल डिग्री की आवश्यकता होती है। वैसे ही सबसे पहले आप किसी भी मान्यता प्राप्त कॉलेज या प्रसिद्ध यूनिवर्सिटी से जर्नलिज्म और कम्युनिकेशन में  म्यूज़िक जर्नलिज्म स्पेशलाइजेशन की डिग्री प्राप्त करें। 
  •  म्यूज़िक इंडस्ट्री से जुड़ी ख़बरों पर अपना रिव्यु लिखना शुरू करें।
  • आप किसी भी न्यूज़ या पब्लिकेशन में इंटर्नशिप करना शुरू करें ताकि आपको अनुभव प्राप्त हो। 
  • आप अपना ब्लॉग या व्लॉग (video blogging) शुरू कर सकते हैं। 
  • आर्टिकल जो पब्लिश होते हैं उन्हें रोजाना फॉलो करें।  
  •  म्यूज़िक से जुड़ी हर ख़बर के बारे में जागरूक रहें। 
  • अपनी लिखने की स्किल में सुधार करते रहें। 
  • अपने आप को किसी  म्यूज़िक या जर्नलिज्म इंडस्ट्री में एनरोल करें।
  • अपने लिखे आर्टिकल या व्लॉग वीडियो सैंपल अलग-अलग जर्नलिज्म क्षेत्र से जुड़ी कम्पनीज में दें।
  • जर्नलिज्म क्षेत्र में अपने संपर्क को बढ़ाएं। 
  • एडिटिंग का काम करें या इस क्षेत्र में इंटर्नशिप या फ्रीलांसिंग शुरू करें।
  • कई कंपनियां होती हैं जिनका आपकी कॉलेज या यूनिवर्सिटी के साथ टाई अप होता है, जो प्लेसमेंट आयोजित करवाती हैं। आप इन सुविधाओं का लाभ उठा सकते हैं। 

दुनिया की टॉप यूनिवर्सिटीज

दुनिया की टॉप यूनिवर्सिटीज की सूची नीचे दी गई है:

भारत की टॉप यूनिवर्सिटीज

अपने भविष्य को एक सही आकार और उड़ान देने के लिए आपको यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेना होता है, जिससे आप उस क्षेत्र के बारे में गहराई से जान सकें।  म्यूज़िक जर्नलिस्ट बनने के लिए जानते है भारत में कौन कौन सी यूनिवर्सिटीज हैं जो  म्यूज़िक जर्नलिज्म कोर्सेज ऑफर करती हैं। 

  • LPU जालंधर
  • दिल्ली विश्वविद्यालय
  • सिम्बायोसिस इंस्टीट्यूट ऑफ मीडिया एंड कम्युनिकेशन
  • एमएसयू बड़ौदा – महाराजा सयाजीराव यूनिवर्सिटी ऑफ बड़ौदा
  • बीएचयू वाराणसी – बनारस हिंदू विश्वविद्यालय
  • सावित्रीबाई फुले पुणे विश्वविद्यालय
  • अन्नामलाई विश्वविद्यालय, अन्नामलाई नगर
  • मुंबई विश्वविद्यालय
  • भारतीय जन संचार संस्थान
  • संचार के जेवियर संस्थान
  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ जर्नलिज्म एंड न्यू मीडिया
  • एमिटी स्कूल ऑफ कम्युनिकेशन
  • जयपुर राष्ट्रीय विश्वविद्यालय
  • बनारस हिंदू विश्वविद्यालय
  • पंजाब विश्वविद्यालय

आवेदन प्रक्रिया 

विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है–

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप AI Course Finderकी सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • एक्सपर्ट्स से कॉन्टैक्ट के पश्चात वे कॉमन डैशबोर्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से कई विश्वविद्यालयों की आपकी आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेजों जैसेSOP, निबंध (essay), सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टेस्ट स्कोर जैसेIELTSTOEFLSATACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTSTOEFLPTEGMATGRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप Leverage Liveकक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीजाऔर छात्रवृत्ति / छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे । 
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लेटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है। 

भारत के विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया, इस प्रकार है–

  1. सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  2. यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूजर नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  3. फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  4. अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  5. इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  6. यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

आवश्यक दस्तावेज 

कुछ जरूरी दस्तावेजों की लिस्ट नीचे दी गई हैं–

टॉप म्यूज़िक जर्नलिस्ट

भारत के टॉप म्यूज़िक जर्नलिस्ट:

  • एन पट्टाभिरामण
  • कल्कि सदाशिवम
  • कबीर सुमन
  • वर्षा भोसले
  • पंकज मिश्रा
  • आर के लक्ष्मण
  • नीलेश मिश्रा
  • अरविंद अडिगा

दुनिया के टॉप म्यूज़िक जर्नलिस्ट

  • ग्रेग कोट, कोहोस्ट, साउंड ओपिनियन्स
  • जिम फ्यूसिली, म्यूजिक क्रिटिक, द वॉल स्ट्रीट जर्नल
  • जॉन कारमेनिका, संगीत समीक्षक, द न्यूयॉर्क टाइम्स
  • जॉन पारेलेस, म्यूजिक क्रिटिक, द न्यूयॉर्क टाइम्स
  • नैट चिनेन, म्यूजिक क्रिटिक, जैज़टाइम्स
  • क्रिस रिचर्ड्स, म्यूजिक क्रिटिक, द वाशिंगटन पोस्ट
  • एलन कोज़िन, म्यूज़िक क्रिटिक, द वॉल स्ट्रीट जर्नल
  • ह्यूग मैकइंटायर, म्यूजिक क्रिटिक, फोर्ब्स

जॉब प्रोफाइल और सैलरी

जर्नलिज्म की पढ़ाई करने के बाद आपके मन में एक सवाल जरूर उठता होगा कि म्यूज़िक जर्नलिस्ट बनने के बाद कितनी सैलरी मिलेगी। जैसे-जैसे आप इस क्षेत्र में स्किल विकसित कर लेते हैं और अनुभव के साथ सालाना 10 से 15 लाख रुपये तक आपको सैलरी मिल सकती है।

जॉब प्रोफ़ाइल  वार्षिक औसत वेतन (वार्षिक)
संगीत ब्लॉगर 2- 4 लाख रुपये 
संगीत व्लॉगर  3- 5 लाख रुपये 
संगीत फोटोग्राफर  4- 5 लाख रुपये 
संगीत समीक्षक 5- 6 लाख रुपये 
संगीत शोधकर्ता  5-10 लाख रुपये 
संगीत रिपोर्टर 5- 6 लाख रुपये 

FAQ’s 

म्यूज़िक जर्नलिस्ट बनने के लिए कौन सी डिग्री चाहिए? 

अगर आप अपना करियर म्यूज़िक जर्नलिस्ट के रूप में बनाना चाहते हैं तो आपको मास कम्युनिकेशन, जर्नलिज्म या मीडिया से जुड़ी स्पेशलाइजेशन करनी होगी। 

म्यूज़िक जर्नलिज्म की डिग्री कितने वर्षो की होती है? 

आपको म्यूज़िक जर्नलिस्ट की डिग्री पूरी करने के लिए 4 वर्ष का समय लगेगा। 

कितने प्रकार के म्यूज़िक जर्नलिस्ट होते हैं? 

म्यूज़िक जर्नलिस्ट कई प्रकार के होते हैं और हर जर्नलिस्ट की अलग अलग भूमिका होती है। अलग अलग म्यूज़िक जर्नलिस्ट की लिस्ट कुछ इस प्रकार है। 
संगीत ब्लॉगर
संगीत व्लॉगर
संगीत फोटोग्राफर
संगीत समीक्षक (साक्षात्कारकर्ता)
संगीत इतिहासकार (शोधकर्ता)
संगीत पत्रकार (रिपोर्टर)

म्यूज़िक जर्नलिज्म कोर्सेज की फीस कितनी होती है?

म्यूज़िक जर्नलिज्म करने के लिए यूनिवर्सिटी फीस अलग अलग शहरों पर निर्भर करती है आमतौर पर किसी भी यूनिवर्सिटी में 2 लाख रुपये से लेकर 6 लाख रुपये सालाना तक आपको अंडर ग्रेजुएट डिग्री के लिए लग सकते हैं। पोस्टग्रेजुएट के लिए 6 लाख से लेकर 11 लाख रुपये आपको फीस भरनी होती है। 

अगर आपको विदेश से पढ़ाई कर म्यूज़िक जर्नलिस्ट बनना है तो उसका सालाना खर्चा कितना आता है?

आपको अगर विदेश में पढ़ाई करनी है म्यूज़िक जर्नलिस्ट कोर्स के लिए तो आपको 25 लाख से 90 लाख रुपये खर्च करने होंगे और वहां रहने की कॉस्ट आपके जीवन शैली पर भी निर्भर करेगा। 

आशा करते हैं आपको Music journalist kaise baneका ब्लॉग अच्छा लगा होगा। अगर आप विदेश में पढ़ाई करना चाहते है, तो आप आज ही हमारे Leverage Edu के एक्सपर्ट से दिए गए नंबर 1800 572 000 पर कॉन्टेक्ट कर फ्री सेशन बुक कीजिए। 

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today. Music
Talk to an expert