बीएससी नर्सिंग का सिलेबस क्या है?

1 minute read
1.5K views
10 shares
Leverage Edu Default Blog Cover

Business today की रिपोर्ट के अनुसार 2026 तक 4.6 मिलियन नर्सों की मांग है। ऐसे में बढ़ती मांगों और सफल करियर के लिए लाखों युवा इस क्षेत्र में आना चाहते हैं। नर्स के रूप में करियर बनाने के लिए छात्रों के लिए बीएससी नर्सिंग एक लोकप्रिय डिग्री प्रोग्राम है। इस कोर्स के माध्यम से, छात्र मेडिकल क्षेत्र में क्रिटिकल स्किल्स और मेडिकेशन की डीप नॉलेज हासिल करेंगे जो उनके बेहतर करियर के लिए बहुत ही जरूरी है। यदि आप बीएससी नर्सिंग करना चाहते हैं, तो आपको इसके सिलेबस के बारे में जानना भी आवश्यक है। इस कोर्स में आपकी रूचि और जानकारी को बढ़ाने के लिए आइए इस ब्लॉग में BSc Nursing syllabus in Hindi के बारे में विस्तार से बताया गया हैं। 

पाठ्यक्रम बीएससी नर्सिंग
अवधि 3- 4 साल
पाठ्यक्रम शुल्क 50,000- 5,00,000 वार्षिक
योग्यता न्यूनतम 50% के साथ 10+2 उत्तीर्ण
बीएससी नर्सिंग वेतन 20000- 500000 प्रति वर्ष
चयन प्रक्रिया मेरिट / प्रवेश आधारित
लोकप्रिय विश्वविद्यालय  किंग्स कॉलेज लंदन
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टोरंटो
सिडनी यूनिवर्सिटी ऑफ़ सिडनी

बीएससी नर्सिंग के बारे में

बीएससी नर्सिंग एक अंडरग्रेजुएट कोर्स है, जिसकी अवधि 4 वर्ष की होती है। किसी भी मान्यता प्राप्त इंस्टीटूशन और यूनिवर्सिटी में आप इस कोर्स को कर सकते हैं। इस कोर्स के बाद आवेदक आसानी से नर्स के रूप में अपने करियर की शुरुआत कर सकते हैं। इसमें छात्रों को स्वास्थ्य, रोग प्रबंधन आदि प्रक्रियाओं के बारे में शिक्षा और ट्रेनिंग दी जाती है। यह प्रोग्राम नर्सिंग क्षेत्र की विभिन्न दक्षताओं में महारत हासिल करने पर केंद्रित है।

बीएससी नर्सिंग में शामिल विषय

BSc Nursing syllabus in Hindi में कई विषय हैं, जो इस प्रकार हैं :

  • शरीर रचना
  • समाज शास्त्र
  • पोषण
  • शरीर क्रिया विज्ञान
  • जीव रसायन
  • पैथोलॉजी और जेनेटिक्स
  • मेडिकल-सर्जिकल नर्सिंग
  • सामुदायिक स्वास्थ्य नर्सिंग
  • कीटाणु-विज्ञान
  • बाल स्वास्थ्य नर्सिंग
  • मानसिक स्वास्थ्य नर्सिंग
  • मिडवाइफरी और प्रसूति नर्सिंग
  • संचार और शैक्षिक प्रौद्योगिकी नर्सिंग
  • फाउंडेशन नर्सिंग
  • नर्सिंग के अनुसंधान और सांख्यिकी प्रबंधन
  • सेवाएं और शिक्षा

बीएससी नर्सिंग सिलेबस: प्रथम वर्ष

विषयों  बीएससी नर्सिंग पाठ्यक्रम (प्रथम वर्ष)
शरीर क्रिया विज्ञान  रक्त कार्डियो वैस्कुलर सिस्टम की संरचना और कार्य
उत्सर्जन प्रणाली
अंतःसेक्रेटरी और मेटाबॉलिक
शरीर रचना  कंकाल और संयुक्त प्रणाली
श्वसन प्रणाली
पेशी प्रणाली
पाचन तंत्र 
पोषण और डायटेटिक्स  खाना पकाने के विभिन्न तरीके और शरीर पर उनका प्रभाव
भोजन का अर्थ, पोषण और आहार विज्ञान
कैलोरी की गणना के तरीके
सामान्य आहार के चिकित्सीय अनुकूलन 
जीव रसायन  अमीनो एसिड
कार्बोहाइड्रेट का परिचय और वर्गीकरण
न्यूक्लिक एसिड
एंजाइमों का अपचय, प्रकृति और कार्य 

बीएससी नर्सिंग सिलेबस : द्वितीय वर्ष 

विषयों  बीएससी नर्सिंग पाठ्यक्रम (द्वितीय वर्ष) 
मनोरोग नर्सिंग मनोचिकित्सा नर्सिंग के सिद्धांत और अनुप्रयोग
व्यवहार, विकार, आक्रामकता, आदि के अनुसार नर्सिंग दृष्टिकोण
कीमोथेरेपी, मनोचिकित्सा, व्यावसायिक चिकित्सा, आदि में भूमिका।
मनोरोग संबंधी आपात स्थिति 
मेडिकल-सर्जिकल नर्सिंग  शरीर को गतिशील संतुलन बनाए रखना
एनजाइना, उच्च रक्तचाप, आदि के रोगियों के चिकित्सा और शल्य चिकित्सा नर्सिंग प्रबंधन।
आर्थोपेडिक नर्सिंग और तकनीकों के सिद्धांत
ईएनटी (कान, नाक और गले) नर्सिंग
ऑपरेशन थियेटर तकनीक  उपकरणों की नसबंदी
संज्ञाहरण के प्रकार
ऑपरेशन से पहले, बाद में और दौरान रोगियों की देखभाल कैसे करें
उपकरणों को जानना
स्वास्थ्य शिक्षा  स्वास्थ्य शिक्षा की अवधारणा, दायरा, सीमाएं और लाभ
स्वास्थ्य संचार और शिक्षण
ऑडियो-विजुअल एड्स
स्वास्थ्य शिक्षा के तरीके
कीटाणु-विज्ञान जीवाणुओं की आकृति विज्ञान और वर्गीकरण जीवाणुओं के विकास को प्रभावित करने वाले कारक और स्थितियां प्रतिरक्षा और प्रतिरक्षण प्रक्रिया सीरोलॉजिकल परीक्षण और उनके संबंधित रोग 
उन्नत प्रक्रियाएं  रक्त परीक्षण काठ का वायु अध्ययन इलेक्ट्रोकार्डियोग्राफी एंजियो कार्डियोग्राफी 

बीएससी नर्सिंग सिलेबस: तृतीय वर्ष

विषयों  बीएससी नर्सिंग पाठ्यक्रम (चौथा पाठ्यक्रम)
सार्वजनिक स्वास्थ्य नर्सिंग और स्वास्थ्य प्रशासन  सामुदायिक चिकित्सा और सामुदायिक नर्सिंग
संगठन और स्वास्थ्य सेवाओं के प्रशासन का इतिहास सामुदायिक स्वास्थ्य सिद्धांतों और सार्वजनिक स्वास्थ्य की अवधारणाओं 
में महामारी विज्ञान की भूमिका
मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य  बच्चों और वयस्कों के लिए पोषण संबंधी आवश्यकताएँ
मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य देखभाल का विकास चाइल्डकेअर परिवार कल्याण कार्यक्रमों 
को प्रभावित करने वाले सामाजिक-आर्थिक कारक
समाजशास्त्र और सामाजिक चिकित्सा  समाज और व्यक्ति
की सामाजिक संरचना शहर और देश: सामाजिक और आर्थिक विरोधाभास
मानव संबंध
नर्सिंग में समाजशास्त्र का महत्व 
नर्सिंग और व्यावसायिक समायोजन में रुझान  लोकप्रिय नर्सिंग कार्यक्रम
नर्सिंग पेशे के विकास में प्रसिद्ध अंतरराष्ट्रीय संगठनों की भूमिका
नर्सिंग पंजीकरण और कानून
परिवार नियोजन में नर्स की भूमिका

बीएससी नर्सिंग सिलेबस: चौथा वर्ष

विषयों  बीएससी नर्सिंग पाठ्यक्रम (चौथा पाठ्यक्रम)
दाई का काम और प्रसूति नर्सिंग शरीर रचना विज्ञान और शरीर क्रिया विज्ञान
भ्रूणविज्ञान
प्रसव के लिए तैयारी
श्रम का शरीर विज्ञान
नर्सिंग सेवाओं, प्रशासन और पर्यवेक्षण के सिद्धांत  औपचारिक और अनौपचारिक संगठनात्मक संरचना चिकित्सा के प्राथमिक सिद्धांत
पर्यवेक्षण के दर्शन
एमसीएच सेवाओं के चिकित्सा-कानूनी पहलू
अनुसंधान और सांख्यिकी का परिचय  माप के प्रकार, रेखांकन प्रस्तुत
करने के तरीके कंप्यूटर विज्ञान का परिचय
माइक्रोसॉफ्ट विंडो
डेटाबेस का परिचय 
अंग्रेजी (या कोई अन्य विदेशी भाषा)  कॉलेज / विश्वविद्यालय द्वारा निर्धारित साहित्य पुस्तक
निबंध, पत्र लेखन
व्याकरण विषय जैसे भाषण, लेख, प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष, मुहावरे आदि। 

योग्यता

बीएससी नर्सिंग करने के लिए कुछ योग्यता को पूरा करना ज़रूरी है। 

  • कैंडिडेट को 10+2 PCB विषय के साथ मान्यता प्राप्त बोर्ड से पूरा करना ज़रूरी है। 
  • विदेश में बीएससी नर्सिंग की पढ़ाई करने के लिए IELTS/ PTE या TOEFL जैसे इंग्लिश प्रोफिसिएंसी टेस्ट स्कोर भी आवश्यक हैं।
  • आपके आवेदन के साथ SAT या ACT स्कोर भी जमा करने होंगे। 
  • विदेश में कुछ यूनिवर्सिटी 1-2 साल का कार्य अनुभव भी मांगती है। 

विदेश में बीएससी नर्सिंग के लिए टॉप यूनिवर्सिटीज   

बीएससी नर्सिंग के लिए विदेश की टॉप यूनिवर्सिटीज की लिस्ट यहाँ दी गई है:

विश्वविद्यालयों जगह
पेनसिल्वेनिया यूनिवर्सिटी यूएस
किंग्स कॉलेज लंदन यूके
मैनचेस्टर विश्वविद्यालय यूके
टोरंटो विश्वविद्यालय कनाडा
जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय यूएस
साउथेम्प्टन विश्वविद्यालय यूके
प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय सिडनी ऑस्ट्रेलिया
मिशिगन यूनिवर्सिटी यूएस
सिडनी विश्वविद्यालय ऑस्ट्रेलिया

भारत में बीएससी नर्सिंग के लिए टॉप कॉलेज  

यदि आप भारत में ही इस कोर्स को करना चाहते हैं तो टॉप यूनिवर्सिटीज की लिस्ट नीचे दी गई है:

  • सीएमसी वेल्लोर
  • मद्रास मेडिकल कॉलेज
  • जीजीएसआईपीयू
  • जीएमसी अमृतसर
  • क्ले विश्वविद्यालय
  • निम्स विश्वविद्यालय जयपुर
  • चितकारा विश्वविद्यालय
  • सिक्किम मणिपाल विश्वविद्यालय
  • आईटीएम विश्वविद्यालय
  • अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान दिल्ली

बीएससी नर्सिंग के बाद एडवांस कोर्स

बीएससी नर्सिंग के बाद एडवांस कोर्स की लिस्ट नीचे दी गई है :-

  • M.Sc. (नर्सिंग)
  • M.Phil.(नर्सिंग)
  • Ph.D.. (नर्सिंग)

आवेदन प्रक्रिया

किसी भी कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपको उसकी प्रक्रिया पता होनी चाहिए। भारत और विदेश में एडमिशन लेने के लिए आपको नीचे बताई गई प्रक्रिया को चरण दर चरण फॉलो करना होगा:

भारत और विदेश में एडमिशन लेने के लिए आवेदन प्रक्रिया:

  • विश्वविद्यालय की ऑफिशियल वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करें। यूके में एडमिशन के लिए आप यूसीएएस वेबसाइट (UCAS) पर जाकर रजिस्ट्रेशन करें। यहाँ से आपको यूजर आईडी और पासवर्ड प्राप्त होंगे।
  • यूजर आईडी से साइन इन करें और कोर्स चुनें जिसे आप चुनना चाहते हैं। 
  • अगली स्टेप में अपनी शैक्षणिक जानकारी भरें।  
  • शैक्षणिक योग्यता के साथ  IELTS, TOEFL, प्रवेश परीक्षा स्कोर, SOP, LOR की जानकारी भरें। 
  • पिछले सालों की नौकरी की जानकारी भरें। 
  • रजिस्ट्रेशन फीस का भुगतान करें।
  • अंत में आवेदन पत्र जमा करें।
  • कुछ यूनिवर्सिटी, सिलेक्शन के बाद वर्चुअल इंटरव्यू के लिए इनवाइट करती हैं।

आवश्यक दस्तावेज़

यदि आप विदेश में एडमिशन के लिए आवेदन करना चाहते हैं, तो आपको इन सभी दस्तावेजों को पहले से तैयार रखना होगा:

जॉब प्रोफ़ाइल

BSc Nursing Syllabus in Hindi जानने के बाद जानिये बीएससी नर्सिंग के बाद मिलने वाली जॉब प्रोफ़ाइलस :-

  • घर की देखभाल
  • नर्स प्रबंधक
  • स्टाफ नर्स
  • जूनियर मनोरोग नर्स
  • मेडिकल कोडिंग
  • नर्स और रोगी शिक्षक
  • नर्सिंग ट्यूटर
  • नर्स – नर्सरी स्कूल
  • नर्सिंग शिक्षक
  • नर्सिंग सहयोगी
  • वार्ड नर्स और संक्रमण नियंत्रण नर्स
  • लाइसेंस प्राप्त प्रैक्टिकल नर्स (एलपीएन)
  • पंजीकृत प्रैक्टिकल नर्स (आरपीएन)
  • जराचिकित्सा और सेवानिवृत्ति नर्स

प्रमुख रोजगार क्षेत्र

ऐसे कई रोज़गार क्षेत्र हैं जिनमें आप बीएससी नर्सिंग होने के बाद काम कर सकते हैं। 

  • क्लिनिक
  • सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र
  • अस्पताल
  • रक्षा सेवाएं
  • चिकित्सक कार्यालय
  • स्कूलों
  • सुधारात्मक स्वास्थ्य सुविधाएं
  • कुशल नर्सिंग सुविधाएं

सैलरी

बीएससी नर्सिंग का कोर्स पूरा करके नौकरी करने वाले फ्रेशर्स की शुरुआती सैलरी औसतन 7000 से 15000 तक के बीच हो सकती है। शुरुआत में यह रकम थोड़ी कम लग सकती है लेकिन समय के साथ इस में वृद्धि भी होती है। नौकरी करने के 2 से 3 साल के बाद अनुभव बढ़ने पर वेतन 20,000 से 30,000 के बीच तक जा सकता है।

FAQs

बीएससी नर्सिंग कितने साल का कोर्स है?

बीएससी नर्सिंग चार साल का कोर्स है।

बीएससी नर्सिंग के बाद क्या करें?

नर्सिंग में बैचलर्स करने के बाद आप साइकोलॉजी, हॉस्पिटल मैनेजमेंट, पब्लिक हेल्थ और सोशल वर्क जैसे क्षेत्रों में अपना करियर निर्माण कर सकती हैं। या आगे मास्टर डिग्री कर आगे की पढ़ाई कर सकते हैं।

बीएससी नर्सिंग की सैलरी कितनी है?

बीएससी नर्सिंग का कोर्स पूरा करके नौकरी करने वाले फ्रेशर्स की शुरुआती सैलरी औसतन 7000 से 15000 तक के बीच हो सकती है। शुरुआत में यह रकम थोड़ी कम लग सकती है लेकिन समय के साथ इस में वृद्धि भी होती है। नौकरी करने के 2 से 3 साल के बाद अनुभव बढ़ने पर वेतन 20,000 से 30,000 के बीच तक जा सकता है।

उम्मीद है, BSc syllabus in Hindi से जुड़े सभी सवालों के जवाब इस ब्लॉग मिल गए होंगे। यदि आप बीएससी नर्सिंग की पढ़ाई विदेश से करना चाहते है, तो आज ही 30 मिनट का फ्री सेशन 1800 572 000 पर कॉल करें और Leverage Edu एक्सपर्ट से बेहतर मार्गदर्शन पायें। 

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert