नर्स कैसे बनें?

1 minute read
782 views
nurse kaise bane

किसी भी हॉस्पिटल या नर्सिंग होम में नर्स की आवश्यकता होती हैं और यह बहुत ही सम्मानजनक पद है। नर्स बनने के लिए इंसान के अन्दर सेवा भाव के साथ साथ धैर्य और साहस होना भी बहुत जरूरी है । नर्स मरीजों की निस्वार्थ भाव से सेवा करते है, मेडिकल इक्विपमेंट को ऑपरेट करते हैं, मरीज का हेल्थ रिकॉर्ड रखती है और भी कई भूमिकाएं हैं जो ये निभाती हैं। अगर आप भी नर्स बनना चाहते हैं और आपके मन में भी यह प्रश्न है कि nurse kaise bane तो हमारे इस ब्लॉग को पूरा ध्यान से जरूर पढ़े। 

नर्स कौन होते हैं?

नर्स वह व्यक्ति होता है जिसे बीमार या घायल लोगों की देखभाल करने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है। मरीजों को ठीक करने, उन्हें फिट और स्वस्थ रखने के लिए नर्सें डॉक्टरों और अन्य स्वास्थ्य देखभाल कर्मियों के साथ काम करते हैं। नर्सिंग एक डॉक्टर की तरह एक पेशा है, लेकिन एक नर्स के लिए प्रशिक्षण अलग है। नर्स के रूप में लाइसेंस प्राप्त करने से पहले नर्स तीन से पांच साल या उससे अधिक समय तक प्रशिक्षण ले सकते हैं। नर्सें अस्पतालों में, डॉक्टर के दफ्तरों में और समुदाय में काम करती हैं।

नर्स क्या करते हैं? 

एक नर्स की प्राथमिक भूमिका मरीज़ों की देखभाल करना और स्वास्थ्य और बीमारी पर चल रहे इलाज की प्रोग्रेस रिपोर्ट तैयार करना होता है। हालांकि, नर्स की कई अन्य जिम्मेदारियां हैं जो एक नर्स की भूमिका का हिस्सा बनती हैं, जिनमें निम्न शामिल हैं। 

  • रोगी की देखभाल की योजना बनाने के लिए डॉक्टर्स की टीम के साथ सहयोग करना। 
  • रोगी के स्वास्थ्य की निगरानी कर रिकॉर्ड को तैयार करना ।
  • दवाओं और उपचारों को मैनेज करना। 
  • चिकित्सा उपकरण संचालित करना। 
  • डायग्नोस्टिक टेस्ट करना। 
  • रोगियों को बीमारियों से लड़ने एवं जागरुक बनने में शिक्षित करना। 
  • रोगियों को सहायता और सलाह प्रदान करना। 

नर्स बनने के लिए योग्यता  

Nurse kaise bane ये जानने के लिए योग्यता के बारे में पता होना जरूरी है, जो नीचे दिया गया है:

  1. छात्रों को 10+2 किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से साइंस स्ट्रीम से पास करनी होगी। 
  2. बैचलर्स प्रोग्राम में प्रवेश लेने के लिए छात्रों के पास 12th में न्यूनतम 60% होने आवश्यक हैं ।
  3. मास्टर डिग्री के लिए छात्रों के पास बैचलर्स डिग्री में हर सेमेस्टर में 55% या उससे अधिक अंक होने चाहिए। 
  4. NEET स्कोर यह विदेशों में भी स्वीकार किया जाता हैं। 
  5. विदेश की अधिकतर यूनिवर्सिटीज बैचलर्स के लिए SAT और मास्टर्स कोर्सेज के लिए GRE स्कोर की मांग करते हैं।
  6. विदेश की यूनिवर्सिटीज में एडमिशन के लिए IELTS या TOEFL टेस्ट स्कोर, अंग्रेजी प्रोफिशिएंसी के प्रमाण के रूप में ज़रूरी होते हैं। जिसमे IELTS स्कोर 7 या उससे अधिक और TOEFL स्कोर 100 या उससे अधिक होना चाहिए।
  7. विदेश यूनिवर्सिटीज में पढ़ने के लिए SOP, LOR, सीवी/रिज्यूमे और पोर्टफोलियो भी जमा करने की जरूरत होती है।

नर्स के प्रकार

भूमिका या क्षेत्र के अनुसार नर्स कई प्रकार के होते हैं:

  • रजिस्टर्ड नर्स
  • लाइसेंस्ड प्रैक्टिकल नर्स  
  • ट्रेवल नर्स  
  • क्लीनिकल नर्स स्पेशलिस्ट
  • इंटेंसिव केयर यूनिट (ICU) रजिस्टर्ड नर्स
  • ऑपरेटिंग रूम नर्स (OR)
  • होम हेल्थ नर्स
  • नर्स प्रैक्टिशनर

नर्स बनने के स्टेप बाय स्टेप गाइड

नीचे nurse kaise bane के लिए स्टेप बाय स्टेप गाइड दी गई हैं, जो छात्रों को अपना करियर बनाने में अवश्य मदद करेगी। 

स्टेप 1: बेसिक एजुकेशन   

कई छात्रों की इच्छा होती है कि वह अपना भविष्य मेडिकल में बनाए, तो उन्हें सबसे पहले 10+2 PCB के साथ अपनी शिक्षा पूर्ण करनी होगी ।

स्टेप 2: एंट्रेंस एग्जाम  

छात्रों को बैचलर्स डिग्री में प्रवेश लेने से पहले NEET की परीक्षा देनी होगी अगर विदेश में पढ़ना चाहते हैं तो फॉरेन मेडिकल ग्रेजुएट स्क्रीनिंग परीक्षा देना होगा । हालांकि NEET भी विदेश की यूनिवर्सिटीज में स्वीकार की जाती हैं । 

स्टेप 3: बैचलर्स डिग्री हासिल करना

मीडियल एंट्रेंस एग्जाम देने के बाद छात्र अपनी इच्छा अनुसार किसी भी प्रसिद्ध यूनिवर्सिटी में प्रवेश लेने के बाद 4-5 का बैचलर्स या डिप्लोमा प्रोग्राम पूरा करना होगा। 

स्टेप 4: मास्टर्स कम्पलीट करें 

कई छात्रों की इच्छा होती है कि वह आगे की हायर एजुकेशन पूरी करें तो उनके पास मास्टर्स प्रोग्राम के कई विकल्प उपलब्ध हैं। मास्टर्स प्रोग्राम आपके रिज्यूमे की वैल्यू बढ़ाने का भी काम करती हैं जो अच्छी नौकरी पाने में मददगार साबित होता है। 

स्टेप 5: अच्छी नौकरी ढूँढे 

अपनी शिक्षा पूर्ण करने के बाद हर छात्र की इच्छा होती है कि वह एक अच्छी नौकरी करें। छात्रों के पास सरकारी एवं प्राइवेट संस्था में काम करने का विकल्प होता हैं।

नर्स बनने के लिए कोर्सेज

Nurse kaise bane में जानते हैं छात्रों के पास कौन कौन से कोर्सेज उपलब्ध हैं, जिन्हें वह नर्सिंग के क्षेत्र में अपना भविष्य बनाने के लिए चुन सकते हैं। 

डिप्लोमा कोर्स  

यहां कुछ पोस्ट डिप्लोमा कोर्सेज की लिस्ट दी गई हैं, जो कुछ इस प्रकार है:

  1. Diploma in nursing
  2. Diploma in GNM (General Nursing and Midwifery)
  3. Auxiliary nursing and midwifery (ANM)

बैचलर्स डिग्री कोर्सेज

यहां कुछ अंडरग्रेजुएट कोर्सेज की लिस्ट दी गई हैं, जो कुछ इस प्रकार है:

  1. BSc Nursing
  2. Bachelor’s in Nursing and Midwifery
  3. Bachelor’s in Medical Rehabilitation and Nursing Care
  4. Bachelor of Nursing/Bachelor of Psychological Science

मास्टर्स कोर्सेज  

यहां कुछ पोस्ट अंडरग्रेजुएट कोर्सेज की लिस्ट दी गई हैं, जो कुछ इस प्रकार है:

  1. MSc in Nursing
  2. Masters in Nursing in Critical and Emergency Care
  3. Master of Advanced Clinical Nursing
  4. Master’s in Medical Rehabilitation and Healthcare Management
  5. Masters in Mental Health Nursing
  6. MSc in Public Health Nursing
  7. Master of Nursing (Research)
  8. Master of Nursing (Perioperative Nursing)

दुनिया की टॉप रैंक यूनिवर्सिटीज

विदेश में पढ़ाई करने के लिए यहां विश्वप्रसिद्ध यूनिवर्सिटीज की लिस्ट दी गई हैं:

  1. किंग्स कॉलेज लंदन 
  2. मैनचेस्टर विश्वविद्यालय
  3. एडिनबर्ग विश्वविद्यालय
  4. नॉटिंघम विश्वविद्यालय
  5. ग्लासगो विश्वविद्यालय
  6. येल विश्वविद्यालय 
  7. पेनसिल्वेनिया यूनिवर्सिटी 
  8. मिशिगन स्टेट विश्वविद्यालय 
  9. वाशिंगटन विश्वविद्यालय 
  10. विक्टोरिया विश्वविद्यालय 
  11. जेम्स कुक यूनिवर्सिटी 
  12. ला ट्रोब विश्वविद्यालय 
  13. पश्चिमी सिडनी विश्वविद्यालय 
  14. मिशिगन स्टेट विश्वविद्यालय 
  15. शेफ़ील्ड हॉलम विश्वविद्यालय
  16. सेक्रेड हार्ट यूनिवर्सिटी
  17. ओटावा विश्वविद्यालय
  18. स्ट्रेथक्लाइड विश्वविद्यालय 
  19. यूनिवर्सिटी कॉलेज बर्मिंघम 
  20. विक्टोरिया यूनिवर्सिटी ऑफ वेलिंगटन 
  21. रायर्सन विश्वविद्यालय
  22. साउथेम्प्टन विश्वविद्यालय 
  23. चेस्टर विश्वविद्यालय

भारत की टॉप टॉप रैंक यूनिवर्सिटीज  

टॉप भारतीय मेडिकल यूनिवर्सिटीज की लिस्ट दी गई हैं:

  1. अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान
  2. पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च
  3. क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज
  4. राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य और तंत्रिका विज्ञान संस्थान, बैंगलोर
  5. संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान
  6. अमृता विश्व विद्यापीठम
  7. बनारस हिंदू विश्वविद्यालय
  8. कस्तूरबा मेडिकल कॉलेज, मणिपाली
  9. किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी
  10. श्री चित्रा तिरुनल इंस्टीट्यूट फॉर मेडिकल साइंसेज एंड टेक्नोलॉजी

आवेदन प्रक्रिया 

विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है–

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप AI Course Finder की सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • एक्सपर्ट्स से कॉन्टैक्ट के पश्चात वे कॉमन डैशबोर्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से कई विश्वविद्यालयों की आपकी आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेजों जैसे SOP, निबंध (essay), सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टेस्ट स्कोर जैसे IELTS, TOEFL, SAT, ACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTS, TOEFL, PTE, GMAT, GRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप Leverage Live कक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीजा और छात्रवृत्ति / छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे । 
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लेटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है। 

भारत के विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया, इस प्रकार है–

  1. सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  2. यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूजर नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  3. फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  4. अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  5. इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  6. यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

आवश्यक दस्तावेज 

कुछ जरूरी दस्तावेजों की लिस्ट नीचे दी गई हैं–

करियर सेक्टर

छात्रों के पास नर्सिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद नीचे करियर अवसर के लिए कुछ सेक्टर की लिस्ट दी गई हैं :

  1. निजी अस्पताल 
  2. सरकारी अस्पताल
  3. निजी क्लीनिक 
  4. सरकारी नर्सिंग होम
  5. सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र
  6. पुनर्वास केंद्र 
  7. ग्रामीण स्वास्थ्य देखभाल केंद्र
  8. शैक्षणिक संस्थान 
  9. कॉर्पोरेट संगठन 

नर्स बनने के बाद सैलरी 

Payscale के अनुसार नर्सिंग कोर्स करने के बाद एक फ्रेशर को सालाना मिलने वाली सैलरी नीचे टेबल में दी गई हैं। 

पोस्ट नाम  वेतन प्रति वर्ष 
क्लिनिकल नर्स 6-8 लाख 
सूचना विज्ञान नर्स विशेषज्ञ 5-7 लाख 
डायलिसिस नर्स 5-12 लाख 
नर्स मिडवाइफ 6-10 लाख 
नर्स एनेस्थेटिस्ट 4-7 लाख 
परिवार नर्स व्यवसायी  7-9 लाख 

FAQs 

नर्स बनने के लिए कौनसी पढ़ाई करनी होती होती हैं। 

नर्स बनने के लिए छात्र नीचे दिए गए कोर्स कर सकते हैं:
1. BSc Nursing
2. Bachelor’s in Nursing and Midwifery
3. Bachelor’s in Medical Rehabilitation and Nursing Care
4. Bachelor of Nursing/Bachelor of Psychological Science

नर्स बनने के लिए कौनसी एंट्रेंस परीक्षा देनी होती हैं। 

अगर कोई छात्र नर्स का कोर्स करना चाहता है तो उसे NEET की परीक्षा देनी होगी। 

बीएससी करने के बाद मास्टर्स करना जरूरी हैं? 

जी नहीं, बैचलर्स के बाद मास्टर्स करना जरूरी नहीं हैं अगर आप चाहें तो मास्टर्स कर सकते हैं।

यूके में बीएससी करने के लिए बेस्ट यूनिवर्सिटी कौनसी हैं? 

यह नीचे बीएससी के लिए यूके की बेस्ट यूनिवर्सिटीज की लिस्ट दी गई हैं।
किंग्स कॉलेज लंदन 
मैनचेस्टर विश्वविद्यालय
एडिनबर्ग विश्वविद्यालय
नॉटिंघम विश्वविद्यालय
ग्लासगो विश्वविद्यालय

हमें उम्मीद है, nurse kaise bane के बारे में आपको सभी महत्वपूर्ण जानकारी मिल गई होगी। यदि आप मेडिकल फील्ड से जुड़े कोई भी कोर्स विदेश में करना चाहते हैं तो आज ही Leverage Edu एक्सपर्ट्स को 1800 572 000 पर कॉल करके 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करें।  

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert